GLIBS
01-08-2020
26 करोड़ की लागत से बनेगा हज हाउस, भूपेश बघेल ने कहा- हाजियों की परेशानी कम करने समाज के लोगों की मेहनत रंग लाई

रायपुर। हर मुस्लिम के लिए हज यात्रा जीवन का अभूतपूर्व पल होता है। कोरोना के कारण इस वर्ष हज यात्रा भी प्रभावित हुई है। उन्होंने कहा कि वे केन्द्र सरकार से मांग करेंगे कि वर्ष 2021 की हज यात्रा में पहले से चयनित छत्तीसगढ़ के हज यात्रियों को मौका दिया जाए। उन्होंने कहा कि वे हज कमेटी ऑफ इंडिया से छत्तीसगढ़ को मिलने वाली 5 करोड़ रुपए की शेष राशि प्राप्त करने के लिए भी पहल करेंगे। उक्त बातें मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ हज हाऊस के शिलान्यास पर कही। मुख्यमंत्री बघेल ने ईद-उल-अजहा के मौके पर वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए छत्तीसगढ़ हज हाऊस का शिलान्यास किया। हज हाऊस का निर्माण लगभग 26 करोड़ रुपए की लागत से तीन एकड़ भूमि में किया जाएगा। पांच मंजिला इस भवन में हज यात्रियों के लिए सभी सुविधाएं उपलब्ध होंगी। भवन का निर्माण मंदिर हसौद रोड एयरपोर्ट के पास नवा रायपुर अटल नगर में किया जाएगा।

भूपेश बघेल ने मुस्लिम समाज के लोगों को ईद-उल-अजहा की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि आज छत्तीसगढ़ के लोगों के लिए दोहरी खुशी का मौका है। पूरी दुनिया के साथ छत्तीसगढ़ में भी ईद का पर्व मनाया जा रहा है और आज छत्तीसगढ़ हज हाउस का शिलान्यास हुआ है। हाजियों की परेशानी कम करने के लिए समाज के लोगों की मेहनत रंग लाई और हज हाउस के निर्माण की लंबे अरसे से की जा रही मांग पूरी हुई है। मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने मुस्लिम समाज के लोगों को ईद की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ के हज यात्रियों को पहले नागपुर जाना पड़ता था। हज हाउस के निर्माण के बाद यही उनके लिए सारी सुविधाएं उपलब्ध हो जाएंगी। मंत्री मोहम्मद अकबर ने कहा कि हज यात्रियों की सुविधा के लिए छत्तीसगढ़ से ही उड़ान शुरू करने के लिए प्रयास किया जाएगा।

उन्होंने मुस्लिम समाज को हज हाउस की सौगात देने के लिए समाज की ओर से मुख्यमंत्री का शुक्रिया अदा किया। इस मौके पर नवा रायपुर कार्यक्रम स्थल में राज्य वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष सलाम रिजवी, छत्तीसगढ़ राज्य पाठ्य-पुस्तक निगम के अध्यक्ष शैलेष नितिन त्रिवेदी, छत्तीसगढ़ राज्य खनिज विकास निगम के अध्यक्ष गिरीश देवांगन, छत्तीसगढ़ राज्य खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति निगम के अध्यक्ष रामगोपाल अग्रवाल, राज्य अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष महेन्द्र छाबड़ा, छत्तीगढ़ खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड के अध्यक्ष राजेन्द्र तिवारी, नगर निगम रायपुर के महापौर एजाज ढेबर सहित मुस्लिम समाज के गणमान्य नागरिक व उपस्थित थे।

01-08-2020
प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति ने देशवासियों को दी ईद-उल-अजहा की मुबारकबाद

नई दिल्ली। देशभर में आज यानी शनिवार को वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संकट के बीच  ईद-उल-अजहा मनाई जा रही है। बकरीद के पर्व पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत देश के कई दिग्गज हस्तियों ने मुबारकबाद दी है। राष्ट्रपति कोविंद ने जहां अपने संदेश में इस त्यौहार का महत्व समझाते हुए सभी से कोविड-19 की रोकथाम के लिए गाइडलाइंस का पालन करने की अपील की। वहीं प्रधानमंत्री ने दुआ मांगी कि भाईचारे और दया की भावना और बढ़े। कोरोना वायरस के मद्देनजर दिल्ली की जामा मस्जिद समेत अन्य मस्जिदों में ईद-उल-अजहा की नमाज सोशल डिस्टेंसिंग के साथ पढ़ी गई। कई जगह लोगों से अपील की गई थी कि वे अपने घर पर नमाज पढ़ें।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट कर मुबारकबाद दी। राष्ट्रपति ने तीन भाषाओं हिंदी, अंग्रेजी के साथ-साथ उर्दू में भी ट्वीट किया। राष्ट्रपति ने कहा, "ईद मुबारक। ईद-उल-अजहा का त्यौहार आपसी भाईचारे और त्याग की भावना का प्रतीक है तथा लोगों को सभी के हितों के लिए काम करने की प्रेरणा देता है। आइए इस मुबारक मौके पर हम अपनी खुशियों को जरूरतमंद लोगों से साझा करें और कोविड-19 की रोकथाम के लिए सभी दिशानिर्देशों का पालन करें।"

वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया कि ईद मुबारक, ई-उल-अजहा पर बधाई। यह दिन हमें एक न्यायपूर्ण, सामंजस्यपूर्ण और समावेशी समाज बनाने के लिए प्रेरित करता है। इससे प्रेरणा लेकर भाईचारे और करुणा की भावना को आगे बढ़ाया जा सकता है।

12-08-2019
ईद के मद्देनजर जम्मू-कश्मीर में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था

नई दिल्ली। देशभर में सोमवार को ईद की खुशियां मनाई जा रही है। जम्मू कश्मीर में ईद-उल-अजहा के मद्देनजर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी की गई है। ईद पर नमाज के दौरान कड़ी सुरक्षा रहेगी। ईद के मद्देनजर 300 टेलिफोन बूथ भी बनाए गए हैं, जिसके जरिये आम लोग अपने रिश्तेदारों से बात कर सकेंगे। इससे पहले राज्य में छुट्टी के दिन बैंक और एटीएम भी खुले रहे। कश्मीर घाटी में ईद से पहले पिछले दो दिन धारा 144 में ढील दी गई थी, जिस दौरान लोगों ने खरीदारी की। दुकानें सजीं और लोगों की चहलपहल भी बाजारों में दिखने लगी, लेकिन कल दोपहर बाद हालात खराब होने की आशंका में धारा 144 फिर से लागू कर दी गई। इस बीच ईद को देखते हुए प्रशासन ने अपनी ओर से लोगों की सुविधा के लिए कई खास इंतजाम करने का दावा किया है। वहीं कल जम्मू-कश्मीर पुलिस ने अंतरराष्ट्रीय मीडिया में आई उन खबरों का भी खंडन किया था, जिनमें पिछले दिनों कश्मीर घाटी में हिंसा की बात कही गई थी।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804