GLIBS
02-08-2020
लॉक डाउन में अवैध तरीके से शराब बेचते थे पति-पत्नी, पुलिस ने घर से किया गिरफ्तार

गुंडरदेही। नगर पंचायत गुंडरदेही के बस स्टैंड के पीछे अवैध तरीके से शराब बेचने के आरोप में पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया। आरोपी पति पत्नी लॉक डाउन का फायदा उठाकर शराब बेच रहे थे। गुंडरदेही थाना पुलिस ने शिकायत के आधार पर दबिश देकर आरोपी निरंजन नाग और उसकी पत्नी उषा को गिरफ्तार किया। मामले में आगे की कार्रवाई की जा रही है।

शब्बीर रिजवी की रिपोर्ट

13-06-2020
डेढ़ साल की बच्ची के साथ फंदे पर लटकती मिली पति-पत्नी की लाश, आत्महत्या का अंदेशा

कोरबा। दीपका थाना क्षेत्र अंतर्गत गांधीनगर में एक ह्रदय विदारक घटना सामने आई है। यहाँ रहने वाले एक निजी कंपनी में कार्यरत अशोक कुमार रात्रे, पत्नी रागनी रात्रे और पुत्री कुमारी एशि रात्रे की लाश फंदे में लटकी मिली है। घटना की सूचना मिलने पर पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं। मामले की जांच की जा रही है। जांच के बाद ही स्पष्ट होगा कि मामला क्या है। प्रथम दृष्टया पुलिस का मानना है कि पति ने पहले अपनी पत्नी और बच्चे की हत्या की और फिर वह खुद फांसी के फंदे पर लटक गया। परिवारिक विवाद की बात भी सामने आई है।

11-06-2020
पति-पत्नी क्वारेंटाइन सेंटर से फरार, पुलिस ने किया मामला दर्ज

महासमुंद। ओडिशा से आए पति-पत्नी क्वारेंटाइन सेंटर से भाग निकले। इसका खुलासा तब हुआ जब पंचायत प्रतिनिधि क्वारेंटाइन सेंटर पहुंचे। इसकी शिकायत होने के बाद दोनों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। मिली जानकारी के अनुसार ग्राम कोमा में डिगेश्वर कुर्रे पिता बाबुलाल कुर्रे उम्र 22 वर्ष एवं नीलम कुर्रे पति डिगेश्वर कुर्रे उम्र 20 वर्ष निवासी कोमा ओड़िशा से आने के कारण कोरोना वायरस से होने वाले संक्रमण एवं महामारी की रोकथाम व ग्रामीणों की सुरक्षा के लिए क्वारेन्टाइन सेंटर शासकीय मिडिल स्कूल कोमा में क्वारेंटाइन में रखा गया था। लेकिन निर्धारित अवधि को पूरा करने से पहले दोनों भाग निकले। ग्राम पंचायत प्रतिनिधि सविता गोस्वामी सरपंच, जती निषाद पंच, लाला राम पंच, रोजगार सहायिका सुभाषिणी सोनी, दुबेलाल कोटवार, राधा बाई दीवान पंच, मितानीन टोमिन दीवान आदि के समक्ष क्वारंटाइन सेंटर का ताला खोलकर देखा गया तो दोनों के भागने का खुलासा हुआ। इसके बाद इसकी शिकायत थाने में की गई। पुलिस ने दोनों के खिलाफ धारा 188, 269, 270, 34 का मामला दर्ज किया है।

27-04-2020
पति-पत्नी खेल रहे थे लूडो, लगातार हारने पर गुस्साए पति ने कर दी पत्नी की पिटाई

वडोदरा। लूडो में लगातार अपनी पत्नी से हारने पर गुस्साए पति ने उसकी बेरहमी से पिटाई कर दी। इसमें 24 वर्षीय महिला को रीढ़ की हड्डी में गंभीर चोट लगी और उसे फौरन अस्पताल में भर्ती कराया गया। मामला गुजरात के वडोदरा का है। यहां लॉक डाउन के दौरान पति और पत्नी लूडो खेल रहे थे। खबर के अनुसार लूडो खेल में महिला ने अपने पति को तीन से चार बार लगातार हरा दिया। इससे गुस्साए पति ने उसके साथ कहासुनी शुरू कर दी, जो देखते ही देखते बढ़ गई। इसके बाद उसने उसे बेरहमी से पीटना शुरू कर दिया और पिटाई से महिला को रीढ़ की हड्डी में गंभीर चोट लग गई। 181 अभयम हेल्पलाइन के काउंसलरों के अनुसार, महिला अपने घर में बच्चों को ट्यूशन पढ़ती है।

काउंसलर ने बताया कि इलाज के बाद महिला अपने पति के घर जाने बजाय अपने माता-पिता के घर चली गई। परियोजना समन्वयक चंद्रकांत मकवाना ने कहा कि हमारे काउंसलरों ने महिला को पुलिस में मामला दर्ज करवाने या मामले को रफा-दफा करने का विकल्प दिया। इस मामले में पति ने महिला से माफी मांग ली है और उसने भी मामला दर्ज नहीं करवाने का फैसला किया है। काउंसलर ने महिला के पति को चेतावनी दी कि शारीरिक प्रताड़ना एक अपराध है और अगर वह ऐसा करता है तो गिरफ्तार भी हो सकता है। उन्होंने कहा कि वह इस बात को समझ गया और उसने अपनी पत्नी से माफी मांग ली। पत्नी भी मायके से पति के घर लौटने के लिए राजी हो गई है।

22-04-2020
लॉक डाउन के दौरान पति-पत्नी के बीच सखी सेंटर ने कराई सुलह, अब तक 623 प्रकरणों का हो चुका है निराकरण

कोंडागांव। विगत दिनों लॉक डाउन के दौरान संपूर्ण देश मे बन्द दरवाजों के पीछे होने वाले अपराधों में लगातार इजाफा देखने को मिला है। ऐसे में सखी सेंटर्स ऐसी महिलाओं की मदद के लिए बढ़ चढ़ कर आगे आये हैं। ऐसा ही एक वाक्या विगत दिनों कोण्डागांव के सखी सेंटर में आया जब एक महिला को उंसके पति ने छोटी बातों पर हुई कहासुनी को लेकर घर से बच्चे के साथ निकल दिया। ऐसी विषम परिस्थिति में महिला को अपने परिजनों के पास जाने के लिए लॉक डाउन में कोई परिवहन का साधन भी प्राप्त नही हुआ। असहाय अवस्था मे वह सखी सेंटर के दरवाजे पर पहुंची जहां उसे आश्रय मिला। जहां पहुँचने पर सर्वप्रथम सखी सेंटर के कर्मचारियों ने कोविड-19 से बचने के लिए सरकार द्वारा दिये गए निर्देश का पालन करते हुए उसे हाँथ धूला कर मास्क पहना कर अंदर लाया। महिला की आप बीती सुनने के बाद सखी सेंटर प्रमुख रीता चालकी ने तुरन्त इसकी सूचना कोण्डागांव थाना प्रमुख को दी साथ ही महिला एवं बच्चे के लिए स्वल्पाहार का इंतेजाम किया गया। फिर महिला के पति से मोबाइल कॉल पर सखी सेंटर प्रमुख द्वारा बात की गयी और पति ने कॉउंसलिंग के बाद महिला के साथ रहने में सहमति जताई। महिला को उंसके बच्चे और सखी सेंटर स्टाफ के साथ कोण्डागांव कोतवाली पुलिस की सहायता से उसके घर तक ले जाया गया। जहाँ पर पुलिस ने पति को समझाइश भी दी एवं सहभागी रूप से जीवन यापन करने की सलाह भी दी। ज्ञात हो कि इस संकट की स्थिति में भी सखी सेंटर इस प्रकार की मजबूर एवं असहाय महिलाओं के लिए अनवतर खुला हुआ है, जहां घरेलू हिंसा एवं प्रताड़ित सभी महिलाओं महिलाओं को संरक्षण एवं आश्रय मिल रहा है। अब तक लाॅकडाउन में सखी केन्द्र में कुल 4 प्रकरण आये है, जिसमें 2 घरेलू हिंसा एवं 2 कोण्डागांव थाने से आश्रय के लिए लाए गए थे।

कोरोना वायरस से सुरक्षा के लिए दिए जा रहे जरूरी किट 

सखी सेंटर प्रमुख ने बताया कि कोरोना महामारी के प्रकोप के चलते संरक्षण में रह रही महिलाओं को सुरक्षा के लिए सैनिटाइजर, मास्क, बेसिक, दवाइयां और आवश्यकता अनुसार उपयोगी किट प्रदान किए जा रहे हैं। सखी केन्द्र के कर्मचारी लगातार लाॅकडाउन का पालन करते हुए, सोशल डिस्टेंस का ध्यान रखते हुए ही कार्यरत हैं।

अब तक 623 प्रकरणों का हुआ है निराकरण 

सखी वन स्टाॅप सेंटर की स्थापना केंद्र प्रायोजित योजना के अंतर्गत कोण्डागांव में वर्ष 2017 में हुई थी। तब से वर्तमान वर्ष तक यहां कुल 664 प्रकरणों को दर्ज किए गए, इसमें से 623 प्रकरणों का निराकरण किया जा चुका है, अब तक कुल 257 महिलाओं एवं बालिकाओं को आश्रय दिया जा चुका है।

23-03-2020
पति-पत्नी के ​बीच हुआ विवाद, पत्नी ने लगाई फांसी

रायपुर/बिलासपुर। बिलासपुर के सरकंडा क्षेत्र में अशोकनगर निवासी महिला ने शनिवार की देर रात फांसी लगाकर खुदखुशी कर ली। बता दें कि अशोक नगर निवासी सरिता जगत गृहिणी थी। शनिवार को किसी बात को लेकर सरिता के पति विनोद और उसके बीच विवाद हो गया। विवाद के बाद रात में कमरे का दरवाजा बंद कर सो गई। इस दौरान रात में सरिता ने कमरे में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। घटना की सूचना पर सरकंडा पुलिस मर्ग कायम कर जांच कर रही है।

30-11-2019
पति-पत्नी झुलसे आग में, गंभीर हालत में रेफर किया गया जिला अस्पताल

धमतरी। सिहावा क्षेत्र में रहने वाले पति-पत्नी भोजन बनाते वक्त आग में झुलस गए। दोनों घायलों को गंभीर अवस्था में इलाज के लिए नगरी अस्पताल ने जाया गया। जहां से प्राथमिक उपचार के बाद घायल दंपति को बेहतर इलाज के लिए धमतरी जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। फिलहाल दोनों की स्थिति खतरे से बाहर बताई जा रही है। मिली जानकारी के अनुसार, घटना सिहावा थाना क्षेत्र के ग्राम घठुला डीहीपारा का है, जहाँ हर रोज की तरह शाम को परिवार के लिए भोजन बनाने के लिए चूल्हा चलाते वक्त निर्मला विश्व बुरी तरह से आग में झुलस गई। रसोई में आग की लपटो से घिरी मां को देखकर बेटी चिल्लाने लगी और आवाज सुनकर दुसरे कमरे में टीवी देख रहा पति करूणा विश्व दौड़कर पत्नी को बचाने पहुँचा। आग की लपटे बहुत ज्यादा थी जैसे तैसे पति ने अपने पत्नी को बचाया, लेकिन पत्नी को बचाते-बचाते पति करूणा विश्व भी बुरी तरह से झुलस गया। दोनों को तत्काल संजीवनी एक्सप्रेस 108 से नगरी अस्पताल लाया गया। इधर, घटना की जानकारी मिलते ही नगरी अस्पताल में सिहावा एवं नगरी थाना पुलिस पहुंची। जहां चिकित्सकों द्वारा पत्नी-पति का त्वरित उपचार किया गया, लेकिन दोनों की गंभीर हालत को देखते हुए चिकित्सकों ने प्राथमिक उपचार के बाद बेहतर इलाज के लिए जिला अस्पताल धमतरी रेफर कर दिया है। जहां दोनों की स्थिति खतरे से बाहर बताई जा रही है।

16-11-2019
भिलाई छावनी थाना में तीन तलाक का मामला

भिलाई। प्रदेश में तीन तलाक का मामला समाने आया है। भिलाई के छावनी थाना क्षेत्र के अंतर्गत 23 साल की महिला ने अपने पति पर तीन तलाक का आरोप लगाया है। उसने महिला थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है। मिली जानकारी के अनुसार पीड़ित महिला का पति रिजवान खान पहले से ही शादीशुदा था और अपनी पहली पत्नी को तलाक दिए बिना ही दूसरी पत्नी के तौर पर पीड़िता से शादी कर उससे देहज की मांग करता था। मना करने पर मारपीट करता था। इससे परेशान होकर महिला ने इसकी शिकायत महिला थाना में की। इसी सिलसिले में दोनों पति-पत्नी की आपस में फोन में बात हुई और इस दौरान रिजवान ने पीड़िता को तीन बार तलाक बोलकर तलाक दे दिया। महिला की शिकायत पर मामला दर्ज किया गया है।

 

18-09-2018
Housing Allowance: एक संकुल में पदस्थ पति-पत्नी में से किसी एक को ही मिलेगा आवास भत्ता

रायपुर। एक ही संकुल में पदस्थ शिक्षाकर्मी पति-पत्नी में से अब किसी एक को ही मकान किराया भत्ता दिया जाएगा। इस विषय में अभनपुर ब्लॉक के विकास खंड शिक्षा अधिकारी ने आदेश जारी करते हुए सभी प्राचार्य और संकुल समन्वयक को निर्देशित किया है कि आपके विकासखंड में ऐसे कर्मचारी पति-पत्नी जो  एक ही विकासखंड में कार्यरत है तथा दोनों को मकान किराया भत्ता अलग-अलग मिल रहा है उनमें से किसी एक को ही मकान किराया भत्ता की पात्रता है अतः ऐसे शिक्षकों की जानकारी उपलब्ध कराई जाए ताकि उनमें से किसी एक कर्मचारी का मकान किराया भत्ता रोका जा सके।

दरअसल शिक्षाकर्मियों के संविलियन के बाद हर विकासखंड में सैकड़ों की संख्या में कर्मचारियों की गिनती बढ़ गई है, इसके साथ ही उन्हें मिलने वाले लाभ के विषय में भी अब धीरे धीरे स्थिति स्पष्ट होते जा रही हैं। पहले गतिरोधभत्ता को लेकर संशय की स्थिति थी और उसके बाद मकान भत्ता को लेकर, लेकिन अब स्थिति पूरी तरह से क्लियर हो गई है कि संविलियन प्राप्त शिक्षाकर्मियों को गतिरोध भत्ता की पात्रता है और उसी प्रकार यदि पति पत्नी दोनोंएक ही विकासखंड में कार्यरत हैं तो उनमें से किसी एक को ही मकान किराया भत्ता दिया जाएगा और इसी स्थिति को स्पष्ट करते हुए अब अभनपुर विकासखंड के विकास खंड शिक्षा अधिकारी ने यह आदेश जारी किया है।

 

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804