GLIBS
20-02-2021
रायपुर रेलवे स्टेशन में मोबाइल चोर गिरफ्तार, सीसीटीवी निगरानी में आरपीएफ ने पकड़ा

रायपुर। रेलवे स्टेशन रायपुर में मोबाइल चोर को आरपीएफ ने सीसीटीवी निगरानी के दौरान पकड़ा। आरोपी से चोरी का मोबाइल बरामद किया गया है। आरोपी को आगे की कार्रवाई के लिए जीआरपी को सौंपा गया। घटना 17 फरवरी की रात की थी। यात्री रविन्द्र महादु दलवीर ने आरपीएफ को घटना के संबंध में जानकारी दी थी। 

यात्री स्टेशन परिसर में एसबीआई एटीएम के पास सो रहा था। इस दौरान उसका मोबाइल चोरी हो गया था। उसने अपने पास सो रहे एक व्यक्ति पर शक जाहिर किया था। आरपीएफ टास्क टीम ने तुरंत खोज शुरू की। सीसीटीवी फुटेज की स्कैन के दौरान यात्री के बताए विवरण से मेल खाता युवक दिखाई दिया। लगातार सीसीटीवी निगरानी के दौरान 18 फरवरी को शाम साढ़े 6 बजे प्लेटफार्म क्रमांग1 की तरफ  स्टेशन के मुख्य प्रवेश द्वार के पास आरोपी को यात्री की आड़ में देखा गया। आरपीएफ स्टाफ ने तुरंत संदिग्ध को पकड़ा। तलाशी के दौरान उसके कब्जे से मोबाइल बरामद हुआ। आरोपी तनेश्वर प्रसाद (30)सियर जिला बलौदाबाजार का रहने वाला है। आरपीएफ ने आरोपी को जीआरपी को सौंपा। जीआरपी ने यात्री की शिकायत पर आरोपी युवक के खिलाफ आईपीसी की धारा 379 के तहत मामला दर्ज किया है।

14-02-2021
Video: रायपुर रेलवे स्टेशन में टला बड़ा हादसा,आरपीएफ जवानों की सतर्कता से बची महिला की जान

रायपुर। राजधानी के रेलवे स्टेशन में बड़ा हादसा होते-होते टल गया। 13 फरवरी को हुए घटनाक्रम का वीडियो सामने आया है। वीडियो में देखा जा सकता है कि एक महिला चलती ट्रेन में चढ़ने के दौरान फिसलकर गिर गई। प्लेटफार्म गश्त के दौरान आरपीएफ के जवानों ने नजर पड़ते ही दौड़कर महिला को ट्रेन के नीचे जाने से बचा लिया। दरअसल शनिवार को गाड़ी संख्या 02834 अहमदाबाद-हावड़ा स्पेशल एक्सप्रेस के दोपहर 01:35 बजे प्लेटफार्म नंबर एक से रवाना होने के दौरान यह घटना हुई। यात्री दामन साहू अपनी पत्नी और छोटी बच्ची के साथ चलती गाड़ी में दौड़कर चढ़ने का प्रयास किया। यात्री दामन साहू तो दौड़कर ट्रेन में चढ़ गए,बच्ची को भी चलती गाड़ी में चढ़ा लिए, लेकिन उनकी पत्नी चढ़ने की कोशिश में फिसल कर नीचे आ गई। पास ही में उपनिरीक्षक सनातन थनापति मंडल टास्क टीम रेलवे सुरक्षा बल रायपुर और डिटेक्टिव विंग के प्रधान आरक्षक सीएमकेवी दुबे गश्त कर रहे थे। महिला को ट्रेन व प्लेटफार्म के मध्य गिरता देख तत्काल दोनों ने महिला को बचाया।

 

06-02-2021
चलती ट्रेन में चढ़ने की कोशिश कर रहा था दिव्यांग युवक, जवान की सूझ-बूझ से बची जान

रायपुर/मुंबई। आरपीएफ के एक जवान की सूझ-बूझ से दिव्यांग युवक की जान बच गई। घटना के समय दिव्यांग ट्रेन पकड़ने के लिए प्लेटफार्म पर भागने की कोशिश कर रहा था और उसके ट्रेन के नीचे आने का खतरा था। इसी बीच आरपीएफ के जवान ने उसे मौत के मुंह में जाने से बचा लिया। महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले के पनवेल रेलवे स्टेशन पर एक दिव्यांग चलती ट्रेन में चढ़ने की कोशिश कर रहा था। लेकिन पैर में दिक्कत होने की वजह से वह चढ़ नहीं पा रहा था। दिव्यांग को एक यात्री अंदर खींचने की कोशिश भी कर रहा था, लेकिन बार-बार नाकाम हो रहा था। इसी बीच जब आरपीएफ के जवान ने देखा कि वह ट्रेन के नीचे जा रहा तो स्फूर्ति से दौड़कर उसे ट्रेन से दूर किया और उसकी जान बचा ली।

19-01-2021
पटरी पर मिली युवक की सिर कटी लाश, जांच में जुटी पुलिस

कोरबा। रेल लाइन पर मंगलवार को एक अज्ञात व्यक्ति का सिर कटा शव मिला है। मिली जानकारी के अनुसार कुसमुंडा थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम खम्हरिया के पास गुजरे गेवरा कोरबा रेल लाइन में आज सुबह एक व्यक्ति की लाश देखी गई है। इसकी सूचना कुसमुंडा थाना व रेलवे आरपीएफ को दी गई। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और जांच में जुट गई है। फिलहाल मृतक की पहचान नहीं हो पाई है। बताया जा रहा है कि प्रथम दृष्टया में मृतक की ओर से आत्महत्या की दृष्टि से रेल पर लेटना प्रतीत हो रहा है। 

 

18-01-2021
आरपीएफ ने कम्प्यूटर शॉप में मारा छापा, अवैध ई टिकट के साथ आरोपी गिरफ्तार

रायपुर। आरपीएफ की टीम ने दुर्ग की एक कम्प्यूटर दुकान में दबिश दी। मंडल सुरक्षा आयुक्त रायपुर के निर्देश पर हरनाबंधा दुर्ग के एसवी कम्प्यूटर दुकान में जांच की गई। दुकान संचालक शैलेश चंद्राकर(27) को रेलवे के ई टिकट के व्यापार में संलग्न होना पाया। जांच करने पर उसके कम्प्यूटर से अलग—अलग नाम के 11 टिकट पर्सनल यूजर आईडी से बने मिले। उसके पास SI Online Technomart Private Limited एजेंट आईडी है, परन्तु एजेंट आईडी के आड़ में पर्सनल यूजर आईडी Shailub222 से टिकट बनाकर अधिक पैसे लेकर व्यावसाय में संलिप्त पाया गया। आरोपी के कब्जे से सीपीयू, एक मोबाइल, ई टिकट 11 प्रति कीमत 5896.60 जब्त किया गया। सभी टिकटों की यात्रा तिथी पास हो चुकी थी। मौके पर कार्रवाई कर आरोपी को दुर्ग पोस्ट लाया गया। आरोपी के खिलाफ धारा 143 रेल अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया।

 

17-01-2021
आरपीएफ ने ट्रांसपोर्ट नगर की मोबाइल शॉप में मारा छापा,14 ई टिकट सहित सामान जब्त

रायपुर। आरपीएफ की टीम  ने रविवार को ट्रांसपोर्ट नगर स्थित ताज मोबाइल शॉप में दबिश दी। रायपुर पोस्ट प्रभारी निरीक्षक दिवाकर मिश्रा के साथ उप निरीक्षक एसके शुक्ला, प्रधान आरक्षक अभिषेक कुमार और प्रधान आरक्षक एमएस पटेल ने मंडल सुरक्षा आयुक्त के दिशा निर्देश में कार्रवाई की। दुकान के संचालक मोहम्मद असरफ अली (27) के कब्जे से 14ई टिकट, एक सीपीयू और एक मोबाइल जब्त किया गया। आरोपी दो पर्सनल आईडी से ई टिकट बनाना स्वीकार किया। जब्त की गई टिकट की कीमत 7554 रुपए  और अन्य सामानों की कीमत करीब 42000 रुपए आंकी गई है। रायपुर पोस्ट में आरोपी के खिलाफ रेल अधिनियम की धारा 143 के तहत मामला दर्ज किया गया।  

25-12-2020
साउथ बिहार एक्सप्रेस में जहर खुरानी, 4 आरोपी गिरफ्तार

भिलाई। साउथ बिहार ट्रेन में सफर में अकेले यात्रियों को निशाना बना उन्हें बातों में उलझाकर जहर खुरानी की घटना को अंजाम देने वाले चार आरोपियों को आरपीएफ और जीआरपी की संयुक्त टीम ने पकड़ा है। इनके पास से 52600 रुपए नकद, एक पर्स, प्रार्थियों के आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, 6 मोबाइल और नशे की गोलियां और पुड़िया जब्त की गई। जहर खुरानी के आरोप में भिखन मंडल, सुशील मंडल, धरगुज मंडल और विनोद मंडल शामिल हैं। चारों कर्माटांड जामताड़ा झारखंड के रहने वाले हैं। पकड़े गए आरोपियों ने 4 दिसंबर को दुर्ग के ओमप्रकाश चौधरी और 21 दिसंबर को राज गंगापुर के जगत नारायण शर्मा को चाय में नशीली दवा पिलाकर वारदात को अंजाम दिया था। चौधरी ने दुर्ग थाने में और शर्मा ने राज गंगापुर थाने में मामले की रिपोर्ट लिखाई। इसके आधार पर जीआरपी और आरपीएफ के संयुक्त टीम गठित की गई।

इसके बाद आरोपियों को पकड़ने के लिए टास्क फोर्स बनाई गई और आरोपी पकड़े गए। पुलिस ने बताया कि राजेंद्र नगर से दुर्ग आने वाली ट्रेन की टाइमिंग के अनुसार सीसीटीवी फुटेज खंगाला गया। प्रार्थी को बुलाकर आरोपियों की पहचान कराई गई। रिजर्वेशन चार्ट देखा। इसमें आरोपियों की पुष्टि होने के बाद उनकी धरपकड़ की गई। चूंकि आरोपी पटना से बिलासपुर तक आए थे। इस आधार पर बिलासपुर के सारे होटलों में पतासाजी की। उनके नाम और नंबर का मिलान कार्रवाई को अंजाम दिया जा रहा है

 

08-12-2020
टिकट की कालाबाजारी करते रेलवे के चीफ रिजर्वेशन सुपरवाइजर समेत 7 गिरफ्तार, आरपीएफ आईजी की कार्रवाई

रायपुर। बिलासपुर से आई आरपीएफ जोनल हेड टीम ने छापामार कार्रवाई कर चीफ रिजर्वेशन सुपरवाइजर समेत 7 लोगों को गिरफ्तार किया है। दरअसल मामला टिकट की कालाबाजारी का है। बता दें कि यह कार्रवाई आरपीएफ आईजी के निर्देश पर हुई है। मिली जानकारी के मुताबिक रायपुर आरक्षण केंद्र में टिकट की कालाबाजारी की शिकायत आरपीएफ आईजी को मिली थी। वहीं आज बिलासपुर से आई आरपीएफ जोनल हेड टीम की टीम ने दबिश देकर 7 लोगों को टिकट कालाबाजारी करते हुए रंगे हाथों पकड़ा। मामले में आरक्षण सुपरवाइजर सुदीप्तो हाजरा को गिरफ्तार किया है। साथ ही आरक्षण केंद्र में 6 दलाल भी बैठकर टिकट की कलाबाजारी करते हुए पाए गए। फिलहाल आरपीएफ की टीम उनसे पूछताछ कर रही है।

22-10-2020
ट्रेन में हुई जहरखुरानी, लूट ली यात्री की चैन और अंगूठी 

राजनांदगांव। ट्रेन में सफर कर रहे यात्री को बदमाशों ने नशा सुंघाकर लूट की वारदात को अंजाम दिया। यात्री का नाम विरेन्द्र सकलेचा (44) बताया जा रहा है। मिली जानकारी के अनुसार अहमदाबाद से नागपुर के लिए ए 2 बर्थ नम्बर 14 में एक यात्री सफर कर रहा था। नागपुर में वह नहीं उतरा तो घर वालों ने आरपीएफ से संपर्क किया। आरपीएफ ने गोदिया सेक्शन से संपर्क किया। एक जवान ट्रेन में उसकी सीट पर पहुंचा तो देखा यात्री बेहोश अवस्था में था। वह राजनांदगांव स्टेशन पर फोन किया। यात्री के रिश्तेदार एम्बुलेंस लेकर स्टेशन पहुँचे। पुलिस और जीआरपी भी वहा पहुँच गई। यात्री को मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। यात्री की स्थिति सामान्य बताई गई है। यात्री के चाचा डॉ. सकलेचा ने बताया कि मेरा भतीजा जिस बर्थ में था उसके सामने वाली बर्थ में कोई यात्री था, जिसने इसे केला खाने को कहा इसने ले लिया तथा खाने के बाद बेहोश हो गया। उसकी चैन, अंगूठी आदि लूट कर फरार हो गया। आगे कार्यवाही की जा रही है।

14-10-2020
रायपुर रेल मंडल में आरपीएफ का विशेष जागरुकता अभियान,समपार फाटक पर लापरवाही से जा सकती है जान

रायपुर। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के रायपुर रेल मंडल में रेलवे सुरक्षा बल का विशेष जागरुकता अभियान जारी है। अनापेक्षित दुर्घनाओं की रोकथाम के लिए 13 से 17 अक्टूबर तक, 5 दिवसीय विशेष जागरुकता अभियान चलाया जाएगा। इस दौरान रेलवे समपार फाटक बंद होने की स्थिति में लापरवाही पूर्वक पार करने की कोशिश ना करने की समझाइश दी जा रही है। साथ ही इस लापरवाही से जानमाल के नुकसान की समझाइश दी जा रही है। इसके उपरांत भी यदि कोई व्यक्ति लापरवाही पूर्वक रेलवे समपार फाटक को पार करेगा, खोलेगा, तोड़ेगा या बिना गेटकीपर वाले फाटकों को लापरवाही पूर्वक पार करेगा,रेल या रेल यात्रियों की सुरक्षा व संरक्षा को प्रभावित करते हुए खतरा उत्पन्न करेगा, तो ऐसे व्यक्तियों के विरुद्ध रेल अधिनियम के तहत विधिक कार्रवाई की जाएगी। उल्लेखनीय है कि आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में लोग अपने जान-माल की परवाह नहीं करते हुए गंतव्य तक पहुंचने की जल्दबाजी में रेलवे के समपार फाटकों और रेलवे लाइन को लापरवाही पूर्वक पार करते हैं। ऐसे में दुर्घटना का शिकार हो जाते हैं और अपने जान-माल से हाथ धो बैठते हैं। इस प्रकार की घटना की रोकथाम के लिए रेलवे सुरक्षा बल समय समय पर विशेष अभियान चलाकर जागरूक करती है। रायपुर मंडल में लापरवाही पूर्वक वाहन चलाते या पार करते और समपार फाटक तोड़े जाने के वर्ष अप्रैल-2019 से मार्च- 2020 तक 51 केस दर्ज किए गए। 45 लोगों को गिरफ्तार कर रेल अधिनियम के तहत कार्रवाई की गई। इस प्रकार की घटनाओं से रेल और रेल यात्रियों की सुरक्षा व संरक्षा प्रभावित होती है। इससे गंभीर खतरा उत्पन्न होता है।

 

14-10-2020
दो साल के मासूम का अपहरण कर भिंड भागने की फिराक में था घरेलू नौकर

रायपुर/बिलासपुर। आरपीएफ की सतर्कता से अपहरणकर्ता, अपहृत बच्चे के साथ पेंड्रा रोड स्टेशन में पकड़ लिया गया जो भिंड भागने की फिराक में अमरकंटक एक्सप्रेस की प्रतीक्षा कर रहा था। भिंड शेरपुर का रहने वाला कल्लू उर्फ कालीचरण कुशवाहा 2 वर्ष के आर्यन को उसलापुर से किडनैप कर ग्वालियर ले जाने की फिराक में था, जिसकी तलाश में तोरवा पुलिस ने रेलवे पुलिस से मदद मांगी थी। पुलिस से सूचना मिलने के बाद आरपीएफ लगभग सभी स्टेशनों में संदिग्ध की तलाश कर रही थी। इसी बीच पेंड्रा रोड प्लेटफार्म पर एक संदिग्ध व्यक्ति आरपीएफ को देखकर भागने लगा, जिसके बाद आरपीएफ ने घेराबंदी कर उसे पकड़ा, जिसके पास एक 2 साल का बच्चा भी था।

पूछताछ में उस व्यक्ति ने कहा कि यह बच्चा उसकी गर्लफ्रेंड का है। उसने यह भी बताया कि वह इस बच्चे को लेकर उसलापुर से पैदल चलते हुए पेंड्रा रोड स्टेशन तक पहुंचा है, जहां वह अमरकंटक एक्सप्रेस की प्रतीक्षा कर रहा था। उसके पास मौजूद रेलवे टिकट से पता चला कि वह बच्चे को लेकर ग्वालियर जाने की फिराक में था। जब रेलवे पुलिस ने संदिग्ध व्यक्ति के बारे में जानकारी जुटाई तो पता चला कि तोरवा पुलिस जिस अपहरणकर्ता को खोज रही थी वह यही था। सूचना मिलने के बाद तोरवा थाने से एक टीम पेंड्रारोड पहुंची, जिन्हें आरोपी कालीचरण कुशवाह को सौंप दिया गया। वहीं पुलिस ने अपहृत बच्चे आर्यन को भी उससे सुरक्षित बचा लिया। पता चला कि किडनैपर कालू, आर्यन के ही घर में घरेलू नौकर था, जिसने मौका पाकर बच्चे का अपहरण कर लिया था और उसकी मंशा फिरौती में बड़ी रकम हासिल करने की थी, लेकिन आरपीएफ की सतर्कता की वजह से वह अपने मकसद में कामयाब नहीं हो पाया।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804