GLIBS
16-10-2020
Video: कोरोना संकट: चंडी माता के दरबार में इस नवरात्रि नहीं होगी श्रद्धालुओं की भीड़...  

महासमुन्द। वैश्विक महामारी कोरोना के चलते इस वर्ष महासमुन्द जिले के बागबाहरा ब्लॉक के ग्राम घुंचापाली स्थित मां चंडी मंदिर दरबार में श्रद्धालुओं की भीड़ नहीं लगेगी। राज्य शासन और जिला प्रशासन के आदेशानुसार चंडी मंदिर के समिति प्रबंधन ने 17 अक्टूबर से शुरू होने वाले कुवार नवरात्रि के लिए मंदिर परिसर के आगे लगने वाले मेले के आयोजन को बंद कर दिया है। छत्तीसगढ़ प्रदेश सहित अन्य राज्यों से आने वाले श्रद्धालु इस वर्ष शायद ही माता चंड़ी के दर्शन कर पाएंगे। पिछले 7 महीने के लॉक डाउन और कोरोना के चलते श्रद्धालुओं का आना जाना यहां कम हो गया है और कई लोग बेरोजगार हो गये है। कोरोना के चलते लगातार मंदिर में श्रध्दालुओं की संख्या में कमी आई है। मंदिर परिसर में पहुंचने वाले भालू भी श्रद्धालुओं के ना पहुंचने से बड़े शांत हो गये है। माता चंडी मंदिर के खूबसूरती और तब बड़ जाती है जब यहां पहुंचने वाले भालू सैकड़ो के भीड़ में मंदिर परिसर में घूम-घूम कर श्रद्धालुओं के हाथ से प्रसाद खाते है। यह नाजारा देखने ही सैकड़ों लोग चंड़ी मंदिर पहुंचते थे। चंडी मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष नीलकंठ चन्द्राकर ने जानकारी दी है कि इस वर्ष दूर दराज और अन्य प्रांत से पहुंचने वाले श्रद्धालुओं को यहां आने से मना करा दिया गया है ताकि मंदिर परिसर में भीड़ ना बड़े। मंदिर परिसर में इस वर्ष आसपास के जो श्रद्धालु माता के दर्शन के लिए पहुंचेगें उन्हें तभी माता के दर्शन करने का अवसर मिल सकेगा जब वह मास्क और सैनिटाइजर का उपयोग करेंगे। साथ ही मंदिर परिसर में पहुंचने वाले श्रद्धालुओं को सोशल डिस्टेंसिंग और फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा।

ट्रस्टी इस बात का ध्यान रखेगें के मंदिर में भीड़ ना हो। इसके लिए ट्रस्ट के कर्मचारी श्रद्धालुओं के मंदिर परिसर में पहुंचने तक और नियमों का पालन कराने के लिए ध्यान रखेंगे। मंदिर परिसर में हर साल की तरह इस वर्ष लाखों लोगों के लिए जो भंडारे की व्यवस्था की जा रही थी उस भंडारे को भी बंद कर दिया गया है। श्रद्धालुओं के रूकने के लिए जो स्थान है उसे भी बंद रखा जायेगा। इस वर्ष की नवरात्रि में माता के हवन पूजन और विशेष आरती में बाहर से आने वाले श्रद्धालु भाग नहीं ले सकेंगे। पूरे नवरात्रि तक माता की विधि विधान से पूजा अर्चना की जायेगी।  बागबाहरा के घुचापाली में स्थित मां चंडी पहाड़ो के बीच विराजमान है। यहां की सुन्दरता देखते ही बनती है। ऊंचे पहाड़ और यहां की हरयाली अति सुन्दर है। मां चंडी मंदिर पहुंचने से पहले इन पहाड़ों के बीच बने रास्ते से होकर आपको गुजरना होता है। चैत्र नवरात्रि में इस क्षेत्र में इतनी हरियाली होती है कि आसपास का नजारा श्रद्धालुओं को अपनी तरफ सम्मोहित करता है। पहाड़ों के ऊपर विराजमान मां चंडी की प्रतिमा लगभग साढ़े 27 फीट है। माता चंड़ी मंदिर में वैसे तो 12 माह श्रद्धालुओं का आना जाना लगा रहा है। नवरात्रि के वक्त यहां लाखों की तादात में लोग अपने परिवार सहित पहुंचते है। नवरात्रि के वक्त यहां भंडारा होता है इस भंडारे में रोजाना लगभग 10 से 12 हजार लोग भोजन करते है। इस भोजन कक्ष में लगभग एक साथ 12 सौ लोग भोजन कर सकते हैं। लेकिन इस भंडारे के आयोजन को इस वर्ष नहीं किया जा रहा है।

25-07-2020
Video : आज रात से बसना, बागबाहरा, महासमुन्द में 7 दिन रहेगा लॉक डाउन

महासमुंद। जिले में कोराना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामले को देखते हुए कलेक्टर कार्तिकेया गोयल ने 25 जुलाई की रात से लॉकडाउन की घोषणा की है। उन्होंने प्रेसवार्ता में लॉक डाउन को लेकर तमाम जानकारियां दी। कलेक्टर ने बताया की शनिवार 25 जुलाई की मध्य रात्रि से महासमुंद नगर पालिका सहित बागबाहरा नगर पालिका और बसना नगर पंचायत के सीमा क्षेत्र में पूर्णतया तालाबंदी (लॉक डाउन) शुरू हो गई। यह लॉक डाउन 31 जुलाई की मध्य रात्रि तक प्रभावशील रहेगा। कलेक्टर कार्तिकेया गोयल और पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल कुमार ठाकुर ने बात को पुन: दोहराते हुए कहा कि यह लॉक डाउन केवल महासंमुद, बागबाहरा और बसना नगरीय सीमा क्षेत्र में लागू होगा। लॉक डाउन में किराना व राशन दुकानों को भी छूट नहीं मिलेगी। नियम तोड़ने वालों पर सख्त कानूनी कार्रवाई की जायेगी।

17-07-2020
महासमुंद में 595 मिलीमीटर औसत बारिश, बागबाहरा में सर्वाधिक 

रायपुर/महासमुंद। चालू मानसून के दौरान विगत एक जून से आज 17 जुलाई तक 595 मिलीमीटर औसत वर्षा जिले में रिकार्ड की गई है। इस दौरान सबसे ज्यादा 741.6 मिलीमीटर बारिश बागबाहरा तहसील में हुई है। कार्यालय कलेक्टर भू-अभिलेख नियंत्रण कक्ष से प्राप्त जानकारी के अनुसार बसना तहसील में 697 मिलीमीटर, सरायपाली में 679 मिलीमीटर, महासमुंद में 484 मिलीमीटर और पिथौरा में सबसे कम 374 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई। बता दें कि जिले की सभी पांच तहसीलों में मानसून की संभावित औसत वर्षा सबसे अधिक बसना तहसील में 1268.7 मिलीमीटर महासमुंद की 1265.8 मिलीमीटर सरायपाली की 1225.6 मिलीमीटर पिथौरा की 1172.8 मिलीमीटर और सबसे कम बागबाहरा तहसील की 1026.9 मिलीमीटर है। इस प्रकार मानसून के दौरान जिले की औसत वर्षा 1192 मिलीमीटर है।

13-07-2020
महासमुंद में अब तक 579.6 मिमी औसत बारिश दर्ज

महासमुंद। जिले में अब तक 579.6 मि.मी. औसत बारिश दर्ज की गई है। भू-अभिलेख कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार जिले में आज 18.1 मिमी की औसत वर्षा दर्ज की गई। आज पांचों तहसीलवार वर्षा में महासमुंद तहसील में 5.1 मि.मी., पिथौरा तहसील में 2.4 मि.मी., बागबाहरा तहसील में 3.1 मि.मी., सरायपाली तहसील में 46.2 मि.मी. एवं बसना तहसील में 33.5 मि.मी बारिश दर्ज की गई है।

10-07-2020
बागबाहरा में एसपी ने की स्पंदन अभियान की शुरुआत

महासमुन्द। पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल कुमार ठाकुर द्वारा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मेघा टेंभुरकर एवं रक्षित निरीक्षक नीतिश आर नायर के साथ शुक्रवार को बागबाहरा अनुविभाग में पुलिस मुख्यालय में स्पंदन अभियान की शुरूआत की गई।  इस अभियान के तहत बागबाहरा में परेड का आयोजन किया गया। पुलिस अधीक्षक द्वारा परेड एवं वेपन ड्रिल का निरीक्षण कर परेड में सम्मिलित जवानों के उत्साहवर्द्धन के लिए अच्छे ड्रिल एवं वेशभूषा पर उन्हें इनाम से पुरस्कृत किया गया तथा परेड में सम्मिलित अधिकारी, कर्मचारियों को राज्य पुलिस के गठन का संकेत, प्रतीक चिन्ह को उनके बायें बाजू में लगाया गया। परेड में अनुविभाग क्षेत्र के एसडीओपी बागबाहरा लितेश सिंह, थाना प्रभारी बागबाहरा ऊनि स्वराज त्रिपाठी, प्रशिक्षु उप पुलिस अधीक्षक थाना प्रभारी कोमाखान तिलेश्वर यादव, थाना प्रभारी तेन्दुकोना कमला पुसाम एवं बागबाहरा अनुविभाग के पुलिस अधिकारी, कर्मचारी सम्मिलित हुए। पुलिस अधीक्षक ने कर्मचारियों कि  समस्या सुनी गई। उपरांत वन महोत्सव के अवसर पर आज पुलिस लाईन परसदा महासमुंद में पौधा रोपण किया गया। पुलिस अधीक्षक एवं उपस्थित सभी अधिकारी, कर्मचारियों द्वारा एक-एक पौधा  लगाकर पौधक्षारोपण किया गया। इस प्रकार कुल 250 पौधों का पौधरोपण सभी पुलिस अधिकारी, कर्मचारी द्वारा किया गया।


 

10-07-2020
महासमुंद जिले में अब तक दर्ज हो चुकी 548.9 मि.मी वर्षा 

रायपुर। महासमुंद जिले में अब तक 548.9 मि.मी. औसत बारिश दर्ज की गई है। भू-अभिलेख कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार जिले में आज 20.7 मिमी की औसत वर्षा दर्ज की गई। आज पॉचों तहसीलवार वर्षा में महासमुंद तहसील में 2.2 मि.मी., पिथौरा तहसील में 10.2 मि.मी., बागबाहरा तहसील में 8.3 मि.मी., सरायपाली तहसील में 76.6 मि.मी. एवं बसना तहसील में 6.0 मि.मी बारिश दर्ज की गई है।

08-07-2020
भतीजे ने चाची की कुल्हाड़ी मारकर की हत्या, खून से लथपथ तड़पती रही पर किसी ने नहीं की मदद

रायपुर/महासमुंद। बागबाहरा के कोमाखान थाना क्षेत्र में अधेड़ भतीजे ने अपनी 65 वर्षीय चाची की कुल्हाड़ी मारकर हत्या कर मौके से फरार हो गया। मिली जानकारी के मुताबिक ग्राम नवाडीह निवासी आरोपी हेमलाल सेन सुबह 6 से साढ़े 6 बजे के बीच कुल्हाड़ी लेकर अपनी चाची के घर पहुंचा और कुल्हाड़ी मारकर उन्हें गंभीर रूप से घायल करने के बाद मौके से फरार हो गया। चीख पुकार सुनकर घर के भीतर काम कर रही बहु बाहर पहुंची तो देखा कि सास खून से लथपथ जमीन पर पड़ी है। बहु ने ग्रामीणों से मदद की गुहार लगाई लेकिन हेमलाल के हाथ में कुल्हाड़ी देखकर किसी ने भी उसे पकड़ने का साहस नहीं दिखाया।

24-05-2020
परेश बागबाहरा ने कहा, मजदूरों पर डाक्यूमेंट्री बना कर कांग्रेस कर रही ड्रामेबाजी

महासमुन्द। भाजपा नेता एवं पूर्व विधायक परेश बागबाहरा ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी  द्वारा मजदूरों को लेकर बनाई डाक्यूमेंट्री को ड्रामेबाजी बताया। मजदूरों को हथियार बना कर वे वीडियोवार कर मजदूरों के प्रति हमदर्दी जताने की जगह अपनी पार्टी की राजनैतिक मार्केटिंग कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इससे पहले भी छत्तीसगढ़ की बेटी कलावती के साथ कांग्रेस पार्टी ने एक डाक्यूमेट्री बनाई थी, उसके बाद कलावती के भविष्य का क्या हुआ ये पूरा छत्तीसगढ जानता है। इसी प्रकार राहुल गांधी  ने अपने सिर पर झउहाॅ उठाकर फोटोसेशन किया और कहा कि मैंं मजदूर हूं। 1947 की आजादी के बाद, इस देश में  करीब 61 साल तक एक छत्र राज करने वाली कांग्रेस पार्टी की कनफ्यूज्ड इकानामिक पालिसी का ही दुष्परिणाम है कि आज देश का 75 प्रतिशत आबादी, प्रवासी एवं खस्ता हाल खेतिहर मजदूरों वाला गरीब भारत का निर्माण कर दिया है।

उन्होंने कहा कि राहुल गांधी को अलग-अलग ऐंगल में कैमरे लगाकर, मजदूरोें की पीड़ा की फिल्म बनाने की बजाय राजस्थान, पंजाब, छत्तीसगढ और महाराष्ट्र के प्रवासी मजदूरों को उनके घरों में भेजने की व्यवस्था करनी चाहिए थी,जिसमें कांग्रेस पूरी तरह असफल रही है। अब अपनी असफलता को छुपाने के लिए राहुल गांधी का कोरोना की इस गंभीर महामारी के बीच वीडियो बनाना अत्यन्त गैरजिम्मेदाराना है। कोविड 19 की इस महामारी में केन्द्र शासन ने मार्च के आखिरी सप्ताह मे ही 1 लाख 75 हजार करोड़ रुपये मजदूरों की सहायता के लिए राज्य सरकारों को आवंटित कर दिया थे एवं 29 हजार करोड़ रुपये का स्टेट डिजास्टर रिलीफ फण्ड भी उपलब्ध करा दिया था, ताकि राज्य सरकारें प्रवासी मजदूरों के लिए टेम्परेरी हाउसींग, भोजन, कपडे तथा अन्य आवश्यक वस्तुओं की व्यवस्था करें। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने न सिर्फ मजदूरों के लिए मुफ्त राशन आवंटित किया बल्कि कुल एक लाख करोड़ रुपये मनरेगा (रोजगार गारन्टी) के लिए नगद राशि भी उपलब्ध कराया है।

21-05-2020
परेश बागबाहरा ने की मांग, मजदूरों के खाते में कांग्रेस जमा कराएं 7500 रुपए

महासमुन्द। पूर्व खल्लारी विधायक परेश बागबाहरा ने प्रदेश की कांग्रेस सरकार से मजदूरों के खाते मे तुरंत कांग्रेस की न्याय योजना के अंर्तगत 7500 रुपये जमा कराये जाने की मांग की है। जैसा कि उनके पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी चाहते हैं
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रति आभार व्यक्त करते हुए परेश बागबाहरा ने कहा कि पूरे देश सहित छत्तीसगढ़ में भी मनरेगा के कार्यो को तेजी से खुलवाया है। इसके लिए करोडों रुपये भिजवा दिया है,जिसके कारण श्रमिकों के घर नगदी रुपये पहुंच रहा है। प्रवासी मजदूरों को मुफ्त राशन देने तथा पूरे देश के चाहे संगठित मजदूर या असंगठित मजदूरों को एक जैसी न्यूनतम मजदूरी बढाई गई। उन्होंने प्रधानमंत्री को देश के लगभग 12 करोड़, असंगठित मजदूरों को उनके नियोक्तओं (एम्पलायर) के द्वारा श्रम नियुक्ति पत्र दिए जाने को श्रम जगत का एक बहुप्रतिक्षित मांग को पूरा करने के लिए भी बधाई दी।

14-05-2020
डीजीपी ने किया बागबाहरा थाने का आकस्मिक निरीक्षण

रायपुर। डीजीपी डीएम अवस्थी ने गुरुवार को महासमुंद के बागबाहरा थाने का निरीक्षण किया। इसके साथ ही उन्होंने एसडीओपी कार्यालय और थाने में बाल उद्यान का उद्घघाटन किया। डीएम अवस्थी ने थाना प्रभारी आञ्जनेय वार्ष्णेय प्रशिक्षु आईपीएस के तीन माह के कार्यकाल की समीक्षा की। उन्होंने अपराधों की विवेचना और निराकरण पर संतुष्टि व्यक्त की। इस अवसर पर आईजी रायपुर डॉ आनंद छाबड़ा, एसपी महासमुंद प्रफुल्ल ठाकुर उपस्थित रहे।

13-03-2020
रवि गोड़ की मौत पर परिजनों ने जताया संदेह, उच्चस्तरीय जांच की मांग

महासमुन्द। पटेवा थाना इलाके के छिलपावन के तालाब में विगत जनवरी में एक युवक की लाश तालाब में मिली थी। मृतक रवि कुमार गोंड़ के परिजनों ने मामले को संदेहास्पद बताये हुए पुलिस अधीक्षक जितेन्द्र शुक्ला से मिलकर उच्च स्तरीय जांच की मांग की है। परिजनों ने पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंप में कहा कि मृतक 12 जनवरी को गांव के ही एक युवक के साथ बागबाहरा जाने के लिए घर से निकला था। उसकी लाश 16 जनवरी को छिलपावन के तालाब में मिली थी। परिजनों का कहना है कि जब रवि कुमार गोड़ अपने दोस्त अनुरोध गोड़ के साथ बागबाहरा गया था तो वह छिलपवान के तालाब तक कैसे पहुंचा। मामले पर संदेह जाहिर करते हुए पुलिस अधीक्षक से निषपक्ष जांच की मांग की गई है। गौरतलब है कि ग्राम बनपचरी निवारी पोखन धु्रव, रोहित ध्रुव ने बताया कि रवि कुमार गोड़ 12 जनवरी को गांव के ही अपने मित्र अनुरोध ध्रुव के साथ घर से आरी में धार कराने का कह निकला था।

अनुरोध ध्रुव शाम के वक्त मृतक रवि गोड़ के घर पहुंचकर उसके परिजनों को बताता है कि बागबाहरा से वापस लौटने के दौरान रवि उसके छोड़कर शराब पीने चला गया। कुछ देर बाद रवि को फोन किया तो किसी दूसरे ने मोबाइल उठाया और रवि के छिलपावन तालाब के पास नशे में पड़े होने की जानकारी मिली। वापस गांव आकर अनुरोध ने रवि के परिजनों को जानकारी दी और उसे लेने सबके साथ गया। लेकिन रवि वहां नहीं मिला। रवि के नहीं मिलने पर परिजनों ने पुलिस में शिकायत करने जा रहे थे लेकिन अनुरोध ने रोक लिया। इसके बाद 16 जनवरी को रवि की लाश तालाब में मिली। 

परिजनों का मानना है कि यदि रवि 12 जनवरी को ही तालाब में डूब गया था तो उसकी लाश 4 दिन बाद पानी से कैसे बाहर आती है। पानी में डूबने के बाद लाश ज्यादा से ज्यादा 24 घंटा अंदर रह सकती है उसके बाद वह पानी की सतह पर आ जाती है लेकिन रवि के साथ ऐसा नहीं हुआ। परिजनों का आरोप है कि रवि की मौत दुर्घटना नहीं साजिश के तहत उसकी हत्या हुई है। उन्होंने पुलिस अधीक्षक से मिलकर उच्च स्तरीय जांच की मांग की है। मामले में पटेवा थाना प्रभारी लेखराम ठाकुर का कहना है कि पीएम रिपोर्ट में डाक्टरों ने जानकारी दी है कि रवि गोड़ की मौत पानी में डूबने से हुई है। बावजूद इसके परिजनों को मामले में संदेह है तो मामले की जांच की जायेगी।

27-12-2019
कोमाखान पुलिस ने जब्त किया 325 कट्टा अवैध धान

महासमुन्द। पुलिस अधीक्षक के निर्देशानुसार एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक एसडीओपी बागबाहरा के मार्ग निर्देशन में शुक्रवार को अवैध धान संग्रहण की सूचना पर धान कोचिया सुंदर सिंह दीवान पिता आनंद सिंह दीवान उम्र 71 वर्ष साकिन झिटकी थाना कोमाखान के यहां छापामार कार्यवाही की। जहां से 325 कट्टा अवैध धान जब्तकर वैधानिक कार्रवाई हेतु मंडी सचिव बागबाहरा को सुपुर्द किया गया।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804