GLIBS
25-02-2021
25 रुपये महंगा हुआ घरेलू गैस सिलेंडर,फरवरी में तीसरी बार बढ़ाए गए दाम

नई दिल्ली। आम जनता पर आज फिर महंगाई की मार पड़ी है। एक बार फिर घरेलू गैस सिलेंडर के दाम में बढ़ोतरी हुई है। बिना सब्सिडी वाले घरेलू गैस सिलेंडर 25 रुपये महंगा हो गया है। गैस सिलेंडर की कीमतें फरवरी में तीसरी बार सिलेंडर के दाम बढ़ाए गए हैं। इसके पहले 4 फरवरी और 14 फरवरी को दाम बढ़ाए गए थे।
बता दें की आईओसी ने 4 फरवरी को एलपीजी सिलेंडर का रेट 50 रुपये बढ़ाया था, फिर 14 फरवरी को कीमतें 50 रुपये बढ़ीं थी और आज फिर एक बार दाम 25 रुपये प्रति सिलेंडर बढ़ा दिए गए हैं। कुल मिलाकर इस महीने यानी फरवरी महीने में अब तक बिना सब्सिडी वाले घरेलू सिलेंडर के दाम 125 रुपये तक बढ़ चुके हैं।
बता दें कि जनवरी में बिना सब्सिडी वाले रसोई गैस की कीमत 694 रुपये थी। फरवरी की शुरुआत में घरेलू गैस की कीमत में तो बढ़ोतरी नहीं की गई थी और यह अपनी पुरानी कीमत 694 रुपये में ही उपलब्ध हो रही थी। आज से दिल्ली में एलपीजी सिलेंडर का रेट 794 रुपये हो गया है। एलपीजी की कीमतों में वृद्धि ऐसे समय में हुई है, जब भारत में पेट्रोल की कीमतें अबतक के उच्चतम स्तर को छू रही है।

 

  

23-02-2021
शिवरीनारायण में माघी मेला 27 फरवरी से 11 मार्च तक, कोविड-19 के प्रोटोकॉल का करना होगा पालन

जांजगीर चाम्पा। जिला प्रशासन ने नगर पंचायत शिवरीनारायण को माघ मेले के आयोजन की अनुमति दे दी है। मेले के लिए अपर कलेक्टर लीना कोसम को नोडल और अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) जांजगीर को सहायक नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। मेला का आयोजन 27 फरवरी से 11 मार्च तक किया जाएगा। सार्वजनिक स्वास्थ्य की सुरक्षा के लिए मेले में शामिल होने वालों को कोविड-19, प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन करना होगा। माघ पूर्णिमा के पश्चात अन्य दिनों का मेला प्रातः 10 बजे से रात्रि 10 बज तक आयोजन की अनुमति होगी। मेले में चलित सिनेमा की रात्रि 11.30 बजे तक  अनुमति दी गई है। मेले के दौरान केंद्र सरकार, छत्तीसगढ़ शासन एवं जिला प्रशासन द्वारा जारी कोविड-19, के प्रोटोकाल का पालन आयोजन समिति, अधिकारियों, नागरिकों द्वारा करवाया जाएगा। मेले के दौरान कोविड-19, सहित स्वास्थ्य सुरक्षा के निर्देशों का कड़ाई से पालन करवाया जाएगा। अन्य राज्यों से आने वाले श्रद्धालुओं को कोविड-19 निगेटिव का रिपोर्ट साथ में लाना होगा। यह रिपोर्ट 3 दिन से अधिक पुरानी नहीं होनी चाहिए। मेला स्थल के प्रवेश द्वार पर पहचान पत्र के आधार पर आगंतुकों की पंजी संधारित की जाएगी। सभी आगंतुकों को पहचान पत्र लेकर आना अनिवार्य होगा। इस संबंध में प्रचार-प्रसार के लिए सभी एसडीएम को मुनादी कराने के निर्देश दिए गए है। मेला स्थल में प्रवेश के पूर्व आगंतुको का थर्मल स्केन किया जाएगा।

अलक्षण वाले आगंतुकों को प्रवेश की अनुमति होगी। बिना मास्क का प्रवेश वर्जित रहेगा। प्रवेश एवं निकास बिन्दूओं के साथ-साथ परिसर के भीतर समान्य क्षेत्रों में हेण्ड सेनेटाइजर की उपलब्धता सुनिश्चित करने का दायित्व आयोजन समिति का होगा। स्वास्थ्य विभाग द्वारा मेला स्थल पर कोविड जांच की व्यवस्था की जाएगी। मेला स्थल की निगरानी के लिए भीड़ संभावित वाले स्थानों पर सी.सी कैमरे की व्यवस्था समिति द्वारा की जाएगी। दुकानदार एवं कर्मचारियों द्वारा कोविड निगेटिव रिपोर्ट प्रस्तुत करने पर ही स्टाल लगाने की अनुमति दी जाएगी। चार-पांच दुकानों का कलस्टर बनाकर बैरिकेटिंग कर सामाजिक दूरी का पालन करते हुए दुकान का संचालन करना होगा। एक दुकान में चार लोगों को काम करने की अनुमति होगी। दुकानदारों को इनवर्टर की व्यवस्था स्वयं करनी होगी।  सभी दुकानदार सैनिटाइजर की व्यवस्था स्वयं करेंगे। भीड़ वाले आयोजन जैसे मौत का कुआं, ओपन थिएटर, सरकस आदि में निर्धारित क्षमता के अनुसार ही प्रवेश की अनुमति होगी। इन स्थानों पर नगर पंचायत के स्वयसेवक तैनात रहेंगे। नदी घाट में गहराई वाले स्थानों का चिन्हाकन कर वहां लोगों का जाना वर्जित किया जाएगा।  मेले में सामूहिक रूप से सांस्कृतिक कार्यक्रम, धार्मिक कार्यक्रम, भजन-कीर्तन की अनुमति नही होगी। सामुदायिक रसोई/लंगर/अन्नदान की व्यवस्था होने पर फिजिकल डिस्टेंसिंग के मापदंडो का पालन करना होगा। प्रसाद वितरण पवित्र जल का छिड़काव, घंटी बजाने की अनुमति नही होगी। 

 

23-02-2021
 24 और 25 फरवरी को बच्चों का कराया जाएगा स्वर्ण बिन्दु प्राशन संस्कार

 कोरबा। बच्चों में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए "बच्चे रहे स्वस्थ" योजनान्तर्गत पतंजलि चिकित्सालय निहारिका में 24 फरवरी को बुध पुष्य नक्षत्र में एवं 25 फरवरी को गुरु पुष्य नक्षत्र में आयुर्वेदिक इम्यूनाईजेशन प्रोग्राम के तहत स्वर्ण बिन्दु प्राशन संस्कार किया जाएगा। इसमें 0 से 18 वर्ष तक के बच्चों को स्वर्ण बिन्दु प्राशन ड्रॉप्स पिलाकर आयुर्वेद पद्धति से टीकाकरण किया जाएगा। साथ ही बच्चों के स्वास्थ्य का निशुल्क चिकित्सकीय परीक्षण करने के साथ बच्चों के शारीरिक एवं मानसिक विकास के लिए बच्चों को एवं उनके अभिभावकों को बच्चों की आयु अनुसार उनके लिए उपयोगी आहार विहार के विषय मे विस्तार से जानकारी देने के साथ उनके लिए उपयोगी योग प्राणायाम का भी निशुल्क प्रशिक्षण दिया जायेगा।

 

19-02-2021
मावा नारायणपुर-युवा नारायणपुर: 20 और 21 फरवरी को होंगे सांस्कृतिक कार्यक्रम

नारायणपुर। जिले में आगामी 27 फरवरी को आयोजित होने वाले अबूझमाड़ पीस हाफ मैराथन-2021 के प्रमोशन एवं मैराथन में जिले के लोगो को जोड़ने के उद्देश्य से जिला प्रशासन की ओर से 20 एवं 21 फरवरी को जिला प्रशासन की अभिनव पहल मावा नारायणपुर-युवा नारायणपुर के अंतर्गत सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। इस आयोजन के माध्यम से नगर सहित अंदरूनी क्षेत्रों के ग्रामीण एवं स्थानीय युवक-युवतियों की प्रतिभा को मंच प्रदान किया जायेगा, जिसमें जिले के स्थानीय कलाकार अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करेंगे।
कार्यक्रम में एकल गायन प्रतियोगिता, सामूहिक गायन प्रतियोगिता, एकल नृत्य प्रतियोगिता, सामूहिक नृत्य प्रतियोगिता आदि शामिल होंगे। कार्यक्रम को दो वर्गो में बांटा गया है, जिसमें पहले वर्ग में कक्षा 9वीं से 12वीं तक के बच्चे तथा दूसरे वर्ग में ओपन कैटेगरी रखी गयी है। सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन स्थानीय आडिटोरियम में प्रातः 11 बजे से किया जायेगा। विजेता प्रतिभागियों को जिला प्रशासन द्वारा पुरस्कृत किया जायेगा।

पीयूष मंडल की रिपोर्ट

 

18-02-2021
मोहन मरकाम 19 और 20 फरवरी को रहेंगे गरियाबंद जिला के दौरा पर

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम शुक्रवार सुबह 7 बजे कोण्डागांव से ग्राम बरही देवभोग जिला गरियाबंद के लिए रवाना होंगे। वे 10 बजे ग्राम बरही पहुंचकर माता लंकेश्वरी का दर्शन लाभ लेंगे। सुबह साढ़े 10 बजे ग्राम बरही से कोडोबेडा के लिए रवाना होंगे। फिर 11 बजे कोडोबेड़ा पहुंचकर जिला कांग्रेस कमेटी द्वारा आयोजित पदयात्रा कार्यक्रम में भाग लेंगे। दोपहर 1 बजे देवभोग पहुंचकर सम्मेलन में भाग लेंगे। मोहन मरकाम 20 फरवरी शनिवार को सुबह 11 बजे देवभोग से कदलीमुड़ा के लिए रवाना होंगे। सुबह 7.15 कदलीमुड़ा पहुंचकर गौठान निरीक्षण एवं श्रमदान कार्यक्रम में भाग लेंगे। सुबह 9.15 देवभोग से मैनपुर के लिए रवाना होंगे। सुबह 10 बजे मैनपुर सर्किट हाउस में कांग्रेसियों से भेंट एवं चर्चा करेंगे। सुबह 10.30 मैनपुर से गरियाबंद के लिए रवाना होंगे। दोपहर 12.45 बजे गरियाबंद में पत्रकारवार्ता को संबोधित करेंगे। दोपहर 1.30 बजे कार्यकर्ता सम्मेलन में भाग लेंगे। शाम 4 बजे गरियाबंद से रायपुर के लिए रवाना होंगे। रायपुर पहुंचकर स्थानीय कार्यक्रम में भाग लेंगे।

14-02-2021
असम से लौटे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल,15 फरवरी को सुबह जाएंगे बलरामपुर,दोपहर को नई दिल्ली

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल रविवार शाम असम दौरे से लौटे हैं। मुख्यमंत्री 15 फरवरी को बलरामपुर-रामानुजगंज और नई दिल्ली के प्रवास पर रहेंगे। निर्धारित दौरा कार्यक्रम के अनुसार मुख्यमंत्री सुबह 10:30 बजे पुलिस ग्राउंड हैलीपेड रायपुर से रवाना होकर 11:30 बजे बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के तहसील कुसमी के ग्राम श्रीकोट पहुंचेंगे। यहां वे सामाजिक कार्यक्रम में शामिल होंगे। इसके बाद वे  12:50 बजे रवाना होकर 1:50 बजे रायपुर लौटेंगे। मुख्यमंत्री बघेल दोपहर 2:30 बजे स्वामी विवेकानंद एयरपोर्ट रायपुर से रवाना होकर  शाम 4:15 बजे इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट नई दिल्ली पहुंचेंगे और छत्तीसगढ़ सदन जाएंगे।

06-02-2021
20 फरवरी से शुरू होगा विजय हजारे ट्रॉफी क्रिकेट टूर्नामेंट, इंदौर में खेला जाएगा ग्रुप ए का मैच

नई दिल्ली। विजय हजारे ट्रॉफी 2021 क्रिकेट टूर्नामेंट की शुरुआत 20 फरवरी से होगी। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, 20 फरवरी से 14 मार्च तक चलने वाले इस टूर्नामेंट के मुकाबले छह शहरों में खेले जाएंगे। रिपोर्ट के मुताबिक, बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने शनिवार को राज्य क्रिकेट संघ को इस बात की जानकारी दी। जिन छह शहरों में मुकाबले खेले जाएंगे उनमें सूरत, इंदौर, बंगलूरू, कोलकाता, तमिलनाडु और जयपुर शामिल हैं। इसके मुताबिक, ग्रुप ए के मुकाबले सूरत में, इंदौर और बंगलूरू में क्रमशः एलीट बी और सी के मुकाबले खेले जाएंगे। वहीं, एलीट डी के मुकाबले जयपुर में जबकि कोलकाता में एलीट ई के मुकाबले खेले जाएंगे। इलके अलावा प्लेट ग्रुप के सभी मुकाबले तमिलनाडु में होंगे। हालांकि, इस टूर्नामेंट का पूरा शेड्यूल बाद में जारी किया जाएगा। टूर्नामेंट के लिए खिलाड़ियों को 13 फरवरी को बायो बबल में आना होगा, जिसके बाद उन्हें तीन बार कोरोना की जांच से गुजरना होगा। बीसीसीआई प्रोटोकॉल के अनुसार, खिलाड़ियों को अपने बायो-बबल में शामिल होने से पहले तीन आरटी-पीसीआर परीक्षण से गुजरना होगा। उन्हें सात मार्च से होने वाले नॉक-आउट चरणों (प्री क्वार्टर फाइनल) के शुरू होने से पहले भी ऐसा करना होगा। 

एलीट ग्रुप ए- गुजरात, चंडीगढ़, हैदराबाद, त्रिपुरा, बड़ौदा, गोवा। 
ग्रुप बी - तमिलनाडु, पंजाब, झारखंड, मध्यप्रदेश, विदर्भ, आंध्र प्रदेश। 
ग्रुप सी- कर्नाटक, उत्तर प्रदेश, केरल, ओडिशा, रेलवे और बिहार। 
ग्रुप डी- दिल्ली, मुंबई, महाराष्ट्र, हिमाचल प्रदेश, राजस्थान और पुडुचेरी। 
ग्रुप ई- बंगाल, सेना, जम्मू और कश्मीर, सौराष्ट्र, हरियाणा और चंडीगढ़। 
प्लेट ग्रुप-उत्तराखंड, असम, नागालैंड, मेघालय, मणिपुर, अरुणाचल प्रदेश, मिजोरम और सिक्किम।

 

03-02-2021
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल 4 फरवरी को दिल्ली जाएंगे,दौरा कार्यक्रम जारी

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल 4 फरवरी को दिल्ली जाएंगे। मुख्यमंत्री बघेल दोपहर 2 बजे रायपुर माना स्थित स्वामी विवेकानंद एयरपोर्ट से रवाना होंगे। वे नियमित विमान से दिल्ली के लिए रवाना होंगे। दिल्ली पहुंचने पर मुख्यमंत्री बघेल कार से अपराह्न 4 बजे छत्तीसगढ़ सदन के लिए रवाना होंगे। नई दिल्ली में मुख्यमंत्री बघेल पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात करेंगे।

 

01-02-2021
किसान करेंगे 6 फरवरी को भारत बंद, संयुक्त मोर्चे के नेता बलबीर सिंह राजेेवाले ने की घोषणा

नई दिल्‍ली। केंद्र के कृषि कानूनों को लेकर किसानों का आंदोलन जारी है। इस बीच किसानों ने एक बार फिर 6 फरवरी को भारत बंद का ऐलान किया है। सोमवार को संयुक्त मोर्चे की बैठक में सहमति बनने के बाद भारतीय किसान यूनियन (आर) के नेता बलबीर सिंह राजेवाल ने इसकी जानकारी दी। गौरतलब है कि रविवार को किसान नेता सतनाम सिंह पन्नू ने भारत बंद के संकेत दिए थे। इसका कांग्रेस के वरिष्ठ नेता बूटा सिंह ने भी समर्थन किया था। पन्नू ने कहा था कि सोमवार को मीटिंग में सहमति बनने के बाद तारीख का ऐलान कर दिया जाएगा। किसानों ने इस बार 6 फरवरी को भारत बंद का ऐलान कर दिया है। इस दिन 12 बजे 3 बजे तक किसान सड़कों पर ट्रैफिक को रोक देंगे। बता दें कि इससे पहले किसानों ने 8 दिसंबर को भी भारत बंद का ऐलान किया था, जिसका असर देश के कई राज्यों में देखने को मिला था।

 

01-02-2021
3 फरवरी को एक दिवसीय धरना देकर एजेंट कराएंगे सहारा इंडिया के विरुद्ध एफआईआर

महासमुन्द। सहारा इंडिया जनता की जमा की गई राशि का भुगतान नहीं कर रही। एजेंटों को आम जनता के आक्रोश का सामना करना पड़ रहा। जनता की परेशानियों को देखते हुए जिले के सहारा इंडिया के एजेंटों ने पूर्व विधायक डॉ.विमल चोपड़ा के नेतृत्व में 3 फरवरी को लोहिया चौक में एक दिवसीय धरना प्रदर्शन कर सहारा इंडिया के छत्तीसगढ़ प्रबंधन के उच्चाधिकारी खिलाफ थाने में एफआईआर दर्ज कराएंगे। सोमवार को प्रेस क्लब में डॉ.विमल चोपड़ा, बिना आचार्य, राकेश चन्द्राकर, संजय इक्का सहित अन्य ने बताया कि सिर्फ महासमुन्द सेक्टर में लगभग 42 हजार जमाकर्ता है। इनका 25 करोड़ से ज्यादा की राशि महासमुन्द सेक्टर के 851 एजेंट के माध्यम से राशि जमा कराई गई है। पूर्व विधायक विमल चोपड़ा ने प्रेसवार्ता में कहा कि जनता की राशि वापस दिलवाने के लिए राज्य सरकार से कोई सहयोग नहीं मिल रही है, जबकि राज्य सरकार ने कहा था कि इस तरह की कंपनियों द्वारा जनता की जो राशि डूब गई है या फंसी है उसे वापस दिलवाने राज्य सरकार उचित कदम उठाएगी।

 

31-01-2021
निर्मला सीतारमण 1 फरवरी को अपने वादे का 'अलग हटके' बजट पेश करेगीं

नई दिल्ली। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण सोमवार को अपने वादे का ‘अलग हटके’ बजट पेश करने वाली हैं। इस बजट से उम्मीद की जा रही है कि इसमें महामारी से पीड़ित आम आदमी को राहत दी जाएगी। साथ ही स्वास्थ्य सेवा बुनियादी ढांचे और रक्षा पर अधिक खर्च के माध्यम से आर्थिक सुधार को आगे बढ़ाने पर अधिक ध्यान दिये जाने की भी उम्मीद की जा रही है।
यह एक अंतरिम बजट समेत मोदी सरकार का नौवां बजट होने वाला है। यह बजट ऐसे समय पेश हो रहा है, जब देश कोविड-19 संकट से बाहर निकल रहा है। इसमें व्यापक रूप से रोजगार सृजन और ग्रामीण विकास पर खर्च को बढ़ाने, विकास योजनाओं के लिये उदार आवंटन, औसत करदाताओं के हाथों में अधिक पैसा डालने और विदेशी कर को आकर्षित करने के लिये नियमों को आसान किये जाने की उम्मीद की जा रही है। अर्थशास्त्रियों और विशेषज्ञों का कहना है कि यह बजट कोरोना महामारी की वजह से तबाह हुई अर्थव्यवस्था को वापस जोड़ने की शुरुआत होगा। उनका यह भी कहना है कि इस बजट को महज बही-खाते अथवा लेखा-जोखा या पुरानी योजनाओं को नए कलेवर में पेश करने से अलग हटकर होना चाहिये।
विशेषज्ञ चाहते हैं कि यह बजट कुछ इस तरीके का हो, जो भविष्य की राह दिखाये और दुनिया में सबसे तेजी से वृद्धि करती प्रमुख अर्थव्यवस्था को वापस पटरी पर लाये। सोच-समझकर तैयार किया गया बजट भरोसा बहाल करने में लंबी दौड़ का घोड़ा साबित होता है। इसे सितंबर 2019 में पेश मिनी बजट या 2020 में किस्तों में की गई सुधार संबंधी घोषणाओं से स्थानांतरित नहीं किया जा सकता है।
सीतारमण के पहले बजट के पेश होने के महज दो महीने बाद कॉरपोरेट कर की दरों में कटौती की गई थी। अभी बड़े स्तर पर अर्थशास्त्रियों की आम राय है कि वित्त वर्ष 2020-21 में देश की अर्थव्यवस्था में सात से आठ प्रतिशत की गिरावट आने वाली है। यदि ऐसा होता है तो यह विकासशील देशों के बीच सबसे खराब प्रदर्शन में से एक होगा। सरकार को अर्थव्यवस्था को गर्त से बाहर निकालने में महत्वपूर्ण भूमिका निभानी है। अब जबकि महामारी कम संक्रामक होने के लक्षण दिखा रही है और टीकाकरण कार्यक्रम में एक क्रमिक प्रगति हो रही है, यह एक बेहतर भविष्य की आशा को बढ़ावा दे रही है। ऐसे में एक स्थायी आर्थिक पुनरुद्धार के लिये नीतिगत उत्प्रेरक की आवश्यकता होगी। यहीं पर यह बजट विशेष प्रासंगिक हो जाता है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804