GLIBS
02-08-2020
बागडोंगरी के एक घर में घुसा तेंदुआ, वन विभाग और पुलिस मौके पर

कांकेर। जिले के चारामा ब्लॉक के ग्राम बागडोंगरी में एक ग्रामीण के घर अचानक तेंदुआ घुस आया। तेंदुए के आने से ग्रामीणों में दहशत का माहौल है। ग्रामीणों की सूचना पर वन विभाग और पुलिस की टीम वहाँ मुस्तैदी से तेंदुए को पकड़ने मशक्कत कर रहे है।

30-06-2020
Video: तेंदुए की खाल बेचते ओडिसा का तस्कर गिरफ्तार, पानी में जहर देकर मारा था तेंदुआ

गरियाबंद। जिला पुलिस ने मंगलवार को फिर एक बड़ी कार्रवाई करते हुए तेंदुआ की खाल बरामद की है। पुलिस ने इस मामले में एक अन्तर्राजीय तस्कर को गिरफ्तार किया है। आरोपी ओडिसा का रहने वाला बताया जा रहा है,जो तेंदुए की खाल को बेचने की फिराक में था। पुलिस अधीक्षक भोजराम पटेल ने मामले में जानकारी देते हुए बताया कि आरोपी बुदूराम गोंड ओडिसा के रायघर जिले के विजयपुर गांव का निवासी है, आरोपी गरियाबंद जिले के शोभा थाना अंतर्गत शुक्लाभाटा बाघनाला के पास तेंदुए की खाल को बेचने की फिराक में था। जैसे ही पुलिस को मुखबिर से इसकी सूचना मिली तो शोभा थाना प्रभारी के नेतृत्व में एक टीम गठित कर मौके पर भेजा गया।

आरोपी की जब तलाशी ली गई तो उसकी मोटरसाइकिल की डिक्की से तेंदुआ की खाल बरामद हुई। आरोपी से जब कड़ाई से पूछताछ की गई तो उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया और बताया कि वह इसे बेचने की फिराक में था। आरोपी ने पुलिस की पूछताछ में बताया है कि खाल नर तेंदुआ की है, जिसकी सिर से पूंछ तक लंबाई 82 इंच, सिर से पैर तक की ऊंचाई 47 इंच, पूंछ की लंबाई 35 इंच, शरीर की मध्य भाग की चौड़ाई 17 इंच, सिर के पास की चौड़ाई 10 इंच है, चारों पैर में 1-1 नाखून लगा हुआ है। आरोपी ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि उसने तेंदुआ को पानी में जहर देकर शिकार किया है। फिलहाल पुलिस ने आरोपी के खिलाफ वन्य प्राणी अधिनियम के तहत कार्रवाई कर न्यायिक रिमांड पर भेज दिया है।

पुलिस विभाग द्वारा पिछले कुछ दिनों से वन्य प्राणियों से जुड़े अपराधियों के खिलाफ मुहिम छेड़ रखी है। बीते एक एक महीने के अंदर पुलिस विभाग की यह तीसरी बड़ी कार्रवाई है। इससे पहले भी सिटी कोतवाली थाना क्षेत्र में एक तेंदुए की खाल बरामद की जा चुकी है। बीते सप्ताह ही कुल्हाड़ीघाट थाना क्षेत्र से पैंगोलिन की तस्करी करते आरोपी को गिरफ्तार किया था और आज फिर पुलिस ने एक अन्तर्राजीय तेंदुआ खाल तस्कर को गिरफ्तार किया है। पुलिस विभाग इसे एक बड़ी कामयाबी मान रही है।

16-04-2020
तेंदुआ के हमले से मासूम बच्ची हुई घायल

नरहरपुर। जामगांव के इमलीपारा में तेंदुआ के हमले से एक 9 वर्ष की मासूम बच्ची घायल हो गई। प्राथमिक उपचार के बाद बच्ची को बेहतर उपचार के लिए जिला अस्पताल भेजा गया है। जानकारी के अनुसार बीते दिन दोपहर में नरहरपुर ब्लॉक के जामगांव इमलीपारा में सोनसिंग कोमरे अपनी 9 वर्षीय पुत्री के साथ खेत की ओर गया हुआ था। इसी दौरान खेत से लगे जंगल से अचानक आए तेंदुए को देखकर खुशबू जोर-जोर से रोने लगी। उसे देखकर सोनसिंग तेंदुए को भगाने के लिए शोर करने लगा। शोरगुल सुनकर आसपास के ग्रामीण भी वहां जुट गए। घटना की जानकारी वन विभाग को दी गई तो अधिकारी,कर्मचारी मौके पर पहुंचे।

 

12-04-2020
6 वर्षीय बच्चे को तेंदुआ उठा कर ले जाने लगा, बालक की चीख सुन छोड़ भागा तेंदुआ...

धमतरी। छह वर्षीय मासूम को तेंदुआ उठा कर ले जाने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। शनिवार को यह घटना नगरी ब्लॉक के ग्राम रतावा से सामने आई है। बताया गया कि ग्राम रतावा निवासी ग्रामीण सत्यप्रकाश नेताम का 6 वर्षीय पुत्र दीपांशु, जोकि शाम करीब 6 बजे अपने घर में खेल रहा था। इस दौरान जंगल की ओर से तेंदुआ आया और उसे उठाकर ले जाने लगा।

इतने में बच्चे की चीख पुकार सुन परिवार के लोग दौड़े, तब तेंदुआ उसे छोड़ कर भाग गया। बालक को तेंदुए ने घायल कर दिया है जिसे नगरी अस्पताल के बाद धमतरी जिला अस्पताल रिफर किया गया है। इस घटना से क्षेत्र में दहशत है। वहीं परिवार सहमा हुआ है। इधर इस सम्बंध में डीएफओ अमिताभ बाजपेई ने बताया कि बालक को जंगली जानवर उठा कर ले जाने का मामला प्रकाश में आया है। मगर इसकी पुष्टि नहीं हुई है कि वह तेंदुआ था या कोई अन्य जानवर, बच्चा उसके हमले से घायल भी हुआ है।

11-04-2020
घर के आंगन मे खेल रहा था बच्चा तेंदुआ पकड़कर ले जा रहा था शोर मचाने पर छोड़कर भागा जंगल के भीतर, मौत

गरियाबंद। जिले से 8 किलोमीटर दूर ग्राम कोचेँगा में शाम 7 बजे के  एक बच्चा घर के आंगन में  खेल रहा था।  तभी तेंदुआ पीछे से आकर बच्चे को उठाकर ले गया। जब ग्रामीणों ने शोर मचाया तब तेंदुआ बच्चे को छोड़कर जंगल की ओर भाग गया। ग्रामीण किसी तरह इस घटना को लेकर वन विभाग को जानकारी दिए और बच्चे को लेकर अस्पताल पहुंचे। जहां इलाज के बाद बच्चे को रायपुर रेफर किया गया लेकिन रायपुर पहुचने के पहले ही बच्चे की मौत हो गई। घटना के बाद वन विभाग के परिक्षेत्र अधिकारी मनोज चंद्राकर मौके पर पहुंचे। बालक की आकस्मिक घटना में मृत्यु होने के कारण 25 हजार रुपए उसके परिजनों को दिया जा रहा है और कल सुबह उसका पोस्टमार्टम कर अंतिम संस्कार किया जाएगा।

06-04-2020
8 वर्षीय बालक पर तेंदुए ने किया हमला, वन विभाग की टीम इलाज के लिए ले गई अस्पताल

गरियाबंद। ग्राम भिरालाठ में खेल रहे एक 8 वर्षीय बालक पर तेंदुए ने हमला कर घायल कर दिया। इसके बाद तेंदुआ पेड़ पर चढ़ कर बैठ गया है। ग्रामीणों ने घायल बच्चे को अस्पताल ले जाने के लिए 108 पर फोन किया लेकिन एम्बुलेंस नहीं पहुंची। इसके बाद वन विभाग की टीम अपने वाहन से बच्चे को इलाज के लिए अस्पताल ले गई।

24-02-2020
एक महीने बाद फिर गांव में पहुंचा तेंदुआ, बकरी का किया शिकार, ग्रामीणों में दहशत का माहौल

गरियाबंद। जिले के बहेराबुडा गांव के लोग इन दिनों तेंदुए की दहशत से शाम को घर से बाहर नहीं निकल पा रहे हैं। तेंदुए को गांव के आस-पास घूमते देखा गया है। एक महीने पहले तेंदुए ने जीस घर में घुसकर 2 बकरियों को अपना शिकार बनाया था। उसी घर में घुसकर तेंदुए ने फिर एक बकरी का शिकार किया है। इस घटना के बाद से गांव में दहशत का माहौल बना हुआ है। गांव के सरपंच मनीष ध्रुव सहित ग्रामीणों ने वन विभाग से पिंजड़ा लगाकर इस आतंकी तेंदुए को पकड़ने की मांग की है। ग्रामीणों में इस बात की भी दहशत है कि अगर तेंदुआ पकड़ा नहीं गया तो गांव के बच्चों को अपना शिकार न बना ले।

19-02-2020
खेत में काम कर रहा था किसान,तेंदुए ने किया पीछे से हमला

महासमुन्द। जिले के झलप क्षेत्र के बरभाठा में भूतपूर्व सरपंच कुंजल ध्रुव पिता दुखु राम ध्रुव पर तेंदुए ने हमला कर घायल कर दिया। बता दें कि बरभाठा निवासी कुंजल ध्रुव पूर्व सरपंच है जिन पर तेंदुए ने हमला कर घायल कर दिया है। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक कुंजल अपने खेत में दवा डाल रहे थे। उसी वक्त खेत के झुरमुट में छुपे हुए तेंदुए ने पीछे से हमला कर दिया। तेंदुए के हमले से कृषक कुंजल के आंख, कान, हांथ, पैर और चेहरे पर चोटे आई है। तेंदुए ने जब कुंजल पर हमला किया उस वक़्त कुछ किसान खेत पर काम कर रहे थे, जो तेंदुआ के हमला करते ही उसे भगाने के लिए हल्ला करने लगे। किसानों के हो हल्ले की वजह से तेंदुवा डर कर भाग निकला। बहरहाल किसान को महासमुन्द सरकारी अस्पताल भेजा गया है। वन विभाग ने कुंजल ध्रुव को 5 हजार की सहायता राशि उपलब्ध कराई है

 

16-11-2019
6 साल के बच्चे को निवाला बनाने वाला तेंदुआ हुआ पिंजरे में कैद

देहरादून। गंगोलीहाट के बिरगोली में आतंक का पर्याय बना तेंदुआ पिंजरे में कैद हो गया है। तेंदुए ने 10 नवंबर को बिरगोली के सौंलीगैर में छह वर्षीय बालक मयंक को मार डाला था। तेंदुए के आतंक से पूरे गांव में दहशत थी। बता दें कि 10 नवंबर की शाम करीब साढ़े चार बजे सौंलीगैर (बिरगोली) निवासी गजेंद्र सिंह खाती का बेटा मयंक घर के पास ही स्थित पानी के स्टेंड पोस्ट के पास अन्य बच्चों अभिषेक और भावना के साथ खेल रहा था।

अचानक तेंदुए ने मयंक को दबोच लिया और मुंह में दबाकर जंगल की ओर भाग निकला। तेंदुए के हमले से साथ में खेल रहे बच्चे दहशत के मारे चिल्लाने लगे। बच्चों के हल्ला मचाने पर परिजन और गांव के लोग मौके पर पहुंचे और तेंदुए के पीछे दौड़ लगाई। शाम को घटनास्थल से 100 मीटर दूर झाड़ियों में बच्चे का क्षत विक्षत शव पड़ा मिला। गांव के लोगों का कहना है कि क्षेत्र में लंबे समय से तेंदुए का आतंक है। तेंदुआ कई जानवरों को निवाला बना चुका है।
 
जंगली जानवरों से सुरक्षा के लिए गांवों में लगेंगी डिवाइस

रुद्रप्रयाग में गुलदार, जंगली सूअर और बंदरों समेत अन्य जंगली जानवरों से मानव व खेती को हो रहे नुकसान से निजात दिलाने के लिए डीएम मंगेश घिल्डियाल ने अभिनव पहल की है। बांसी गांव समेत जिले के 15 स्थानों, जहां पर जंगली जानवरों का आतंक अधिक है, पहले चरण में वाइल्ड एनिमल फार्म प्रोटेक्शन डिवाइस लगाई जाएंगी। यह डिवाइस लगने से किसी भी जानवर या प्राणी के आने पर यह आवाज करेगी जिससे डरकर वह भाग जाग जाएगा। इस डिवाइज में अत्याधुनिक सेंसर लगे हैं जो अपने पांच मीटर के दायरे में किसी भी जंगली जानवर या प्राणी की हलचल को ट्रैक कर सकता है। निर्धारित दायरे में जंगली जानवर या प्राणी के होने की स्थिति में यह डिवाइस तेज आवाज करेगा और जानवर भाग जाएगा। डिवाइस सोलर सिस्टम के जरिए संचालित होगा।

डिवाइस को वन विभाग के अधीन किया जाएगा, लेकिन स्थापित करने के एक वर्ष तक इसके संरक्षण की जिम्मेदारी कंपनी की होगी। जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने बताया कि आपदा मद में पहले चरण में 15 डिवाइस खरीद का प्रस्ताव तैयार किया गया है। इसके बाद दूसरे चरण में पुन: गांवों का चयन कर डिवाइस लगाई जाएंगी। इधर, जिलाधिकारी की इस पहल का ग्रामीणों व जनप्रतिनिधियों ने स्वागत किया है। कहा कि इस तकनीक से जंगली जानवरों के आतंक से मुक्ति मिल सकेगी।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804