GLIBS
19-05-2020
कृषि वैज्ञानिकों ने दी सलाह,किसान कोरोना सक्रमण से बचाओ के लिए रहे सतर्क और सावधान  

रायपुर। कृषि संचालनालय और इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय रायपुर के कृषि वैज्ञानिकों ने किसानों को सलाह दी। उन्होंने कहा किसान कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए सर्तक सजग और सावधान रहे। खेतों में पर्याप्त मात्रा में साबुन, डिटर्जेंट और पानी रखें। बर्तनों को साबुन और डिटर्जेंट वाले पानी से अच्छी तरह से साफ करें। अनाजों को धूप में अच्छी तरह से सुखाकर भण्डारण करें। खेत की गहरी जुताई करें, जिससे मृदा जनित खरपतवार, बीमारी और कीड़ों के अंडे नष्ट हो जाए। हायब्रिड नेपियर बहुवर्षीय चारे वाली फसल की 50-60 दिनों के अंतराल पर जमीन की सतह से 15 सेमी ऊपर कटाई करें। कटाई पश्चात हल्की सिचाई कर 25-30 किलोग्राम यूरिया प्रति हेक्टेयर की दर से छिड़काव करें। ग्रीष्मकालीन मूंग अभी पकने की अवस्था में हैं, फसल के पकते ही काटने की सलाह दी जाती है,जिससे झड़ने से बचाया जा सके। गन्ने की नई फसल में आवश्यकतानुसार निंदाई-गुडाई व सिचाई  करें। इसी तरह सब्जी और फलों की फसलों में टमाटर, बैंगन, मिर्च, भिन्डी व दूसरी सब्जी वाली फसल में निंदाई गुडाई करे और आवश्कतानुसार सिंचाई कर नत्रजन उर्वरक की मात्रा दे। वातावरण में तापमान को देखते हुए सिंचाई की दर बढा दे। धूप के कारण केला और पपीते के फलों व पत्तियों के झुलसने की संभावना रहती है, इसके बचाव के लिए किसानो को सलाह है कि फलों को पट्टियाँ या बोरों से ढंक दे। इसके अलावा पौधों को गर्म हवा से बचाने के लिए वायु अवरोधक का उपयोग करें। आम, नीबूं वर्गीय व अन्य फसलों में सिचाई प्रबंधन करें।
किसान अपने पशुओं में होने वाली बीमारियों के लिए तुरंत पशुचिकित्सक से संपर्क कर अपने मवेशियों को गलघोटू एवं लंगड़ी रोग का टीकाकरण करवाये। पशुओ को लू लगने पर छायादार जगह ले जाकर गीले कपड़े से पूरे शरीर को बार-बार पोछे। पशुओं को निर्जलीकरण से बचाने के लिए एक लीटर पानी में चार-पांच चम्मच शक्कर और एक चौथाई चम्मच नमक का घोल बनाकर हर आधा एक घंटे में पिलाएं।  

 

29-04-2020
मास्क लगाकर बाहर निकलने की सलाह देने पर डॉक्टर से बदसलूकी करने वाली महिला पर एफआईआर दर्ज

रायपुर/जशपुर। नाके में तैनात महिला चिकित्सक से बदसलूकी करने वाली महिला के खिलाफ पुलिस ने अपराध दर्ज किया है। पूरा मामला तपकरा थाना क्षेत्र का है।मिली जानकारी के अनुसार तपकरा के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में आयुर्वेद चिकित्सा अधिकारी के पद पर तैनात महिला डॉक्टर मंगलवार को कोरोना जांच के लिए लगाए गए सिंगीबहार के बैरियर ड्यूटी पर थी। दोपहर में एक महिला अपने पति के साथ बाइक में सिंगीबहार पहुंची। इस दौरान महिला चिकित्सा अधिकारी ने उक्त महिला को मास्क लगाकर बाहर निकलने की सलाह दी। इतना सुनकर महिला भड़क गई और डॉक्टर से बदसलूकी की।

मौके पर महिला के पति समेत बैरियर पर ड्यूटी कर रहे अन्य लोगों ने उक्त महिला को ऐसा व्यवहार ना करने की समझाइश दी। लेकिन वह किसी की बात मानने के लिए तैयार नहीं हुई। अपने साथ हुए इस अपमानजनक व्यवहार की शिकायत महिला चिकित्सा अधिकारी ने एसडीएम,तहसीलदार फरसाबहार,मुख्य स्वास्थ्य एवं चिकित्सा अधिकारी और जिला अधिकारी के साथ तपकरा थानो में की है। शिकायत पर कार्रवाई करते हुए तपकरा पुलिस ने आरोपित महिला के खिलाफ 294,506 और 186 के तहत अपराध कायम कर लिया है।

23-04-2020
मौसम के उतार-चढ़ाव से फसलों में बढ़ सकती है बीमारी, कृषि वैज्ञानिक ने किसानों को दी सलाह...

रायपुर/सुकमा। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए घोषित लाॅक डाउन में शासन की ओर से कृषि एवं कृषि से संबंधित कार्यों पर ढील देते हुए संक्रमण की रोकथाम के लिए जारी एडवाइजरी का पालन करते हुए कृषि कार्य करने की अनुमति प्रदान की गई है। कृषि विज्ञान केंद्र सुकमा के वरिष्ठ वैज्ञानिक राजेंद्र प्रसाद कश्यप ने इस संबंध में किसानों को आवश्यक एवं उपयोगी जानकारी प्रदान की। उन्होंने कहा कि इस संक्रमण की रोकथाम के लिए किसान और कृषि से संबंधित मजदूर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें और कम से कम 1 मीटर की दूरी बनाकर कार्य करें एवं मुंह को गमछा या रुमाल से ढक कर काम करें। साथ ही हाथ में सैनिटाइजर लगाएं या बार-बार साबुन से हाथ को अच्छी तरह से धोएं। कृषि वैज्ञानिक कश्यप ने बताया कि फसल की कटाई के बाद फसल अवशेष को जलाने के बजाय उसमें वेस्ट डीकंपोजर का छिड़काव कर नष्ट करना चाहिए।

फसलों की कटाई कार्य में मशीनों की सहायता ली जा सकती हैं। उन्होंने बताया कि मौसम के उतार-चढ़ाव से सब्जियों एवं फलों में प्रकोप बढ़ने की आशंका है जिससे उत्पादन में विपरित प्रभाव पड़ सकता है। सब्जियों या फलों में किसी भी प्रकार के कीड़े या बीमारी का संक्रमण होने पर उन्होंने किसानों को तुरंत कृषि विज्ञान केंद्र सुकमा से संपर्क करने की सलाह दी है। उन्होंने बताया कि तापमान बढ़ने के साथ ही धनिया की फसल में पाउडरी मिल्डयू नामक बीमारी का प्रकोप बढ़ सकता है। इसके नियंत्रण के लिए घुलनशील गंधक 3 ग्राम प्रति लीटर पानी में घोल बनाकर 15 दिनों के अंतराल में छिड़काव करना चाहिए। इसी प्रकार सब्जियों में रस चूसक कीटों का प्रकोप दिखाई दे तो इसके नियंत्रण के लिए इमपीडकिलोप्रड दवा 1 से 2 मिलीलीटर प्रति लीटर पानी के हिसाब से घोल बनाकर 12 से 15 दिनों के अंतराल में छिड़काव करना चाहिए।

26-03-2020
कोरोना विशेष : खांसी बुखार और सांस लेने में हो परेशानी तो डॉक्टर की सलाह लें

रायपुर। कोविड-19 नोवल कोरोना वायरस से संक्रमित किसी व्यक्ति के संपर्क में आने पर आपको अपना विशेष ध्यान रखना चाहिए। यदि आपको खांसी, बुखार, सांस लेने में परेशानी है तो आप नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर जाएं। डॉक्टर से सलाह और उपचार ले इतना ही नहीं आप जिन-जिन व्यक्तियों के साथ निकट संपर्क में रहे हैं। उनकी जानकारी डॉक्टर को भी दें। अधिक जानकारी के लिए भारत सरकार और राज्य सरकार के टोल फ्री नंबर पर संपर्क करें।

24-03-2020
दूसरे राज्यों से लौटे ग्रामीणों को होम आइसोलेशन में रहने की सलाह

रायपुर। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग ने दूसरे राज्यों से लौटे ग्रामीणों की सेहत की सुरक्षा के लिए दिशा-निर्देश जारी किए हैं। विभाग ने सभी जिलों के कलेक्टरों और जिला पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को परिपत्र जारी कर कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने एवं प्रवास से लौटे लोगों की सुरक्षा के लिए आवश्यक सावधानी बरतने के निर्देश दिए हैं। विभाग के प्रमुख सचिव गौरव द्विवेदी ने परिपत्र जारी कर कोरोना संक्रमण के खतरे से निपटने अन्य राज्यों से लौटकर गांव आ रहे लोगों पर विशेष ध्यान रखने कहा है। उन्होंने लौटने वाले ग्रामीणों का किसी भी तरह का विरोध रोकने ग्राम पंचायतों के माध्यम से आवश्यक कदम उठाने के निर्देश दिए हैं। साथ ही बाहर से लौटे लोगों को मितानिनों के माध्यम से परामर्श उपलब्ध कराने कहा है।
विभाग ने प्रवास से लौटने वालों को 14 दिनों तक अपने घर में ही रहने और इस दौरान अन्य ग्रामीणों से नहीं मिलने की सलाह दी है। वे घर में पूरे समय परिवार के लोगों से एक मीटर की दूरी बनाएं रखें। यदि उन्हें बुखार,सूखी खांसी या सांस लेने में दिक्कत आए तो नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचकर जांच कराएं। घर पर बार-बार साबुन और पानी से हाथ धोते रहें। खांसने और छींकने के लिए रूमाल का उपयोग करें। रूमाल को नियमित रूप से धोकर ही उपयोग करें। बाहर से लौटे लोगों को सलाह देते समय मितानिनों को उनसे दो मीटर की दूरी रखने कहा गया है। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग ने सभी कलेक्टरों और सीईओ को इन निर्देशों और सलाहों का पालन सुनिश्चित करने ग्राम पंचायतों एवं ग्राम सचिवों को निर्देशित करने कहा है।

13-01-2020
Breaking: मुख्यमंत्री का आज का दौरा कार्यक्रम रद्द

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के आज के दौरा कार्यक्रमों को रद्द कर दिया गया है। बताया जा रहा है कि स्वास्थ्यगत कारणों से सीएम के सभी कार्यक्रम रद्द किए गए हैं। सीएम भूपेश बघेल को सर्दी-खांसी और बुखार के बाद डॉक्टरों ने प्रारंभिक जांच के बाद आराम करने की सलाह दी है। सीएम बघेल को आज रायगढ़, जांजगीर, कोरिया और दुर्ग के दौरे पर जाना था। अब स्वास्थ्य लाभ के बाद और डॉक्टरों की सलाह पर कार्यक्रम तय होंगे।

 

09-04-2019
बुजुर्गो और महिलाओं को चैन स्नैचर गिरोह से सावधान रहने की दी गई सलाह  

रायपुर। अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी आशुतोष पाण्डेय और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल ठाकुर ने सुबह यहां कलेक्टोरेट गार्डन में उपस्थित बुजुर्गो और महिलाओं को चैन स्नैचर गिरोह से सावधान रहने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि प्राय यह देखने में आता है कि इस गिरोह के लोग सुबह सुबह सैर पर निकलने वाले खासकर बुजुर्गो और महिलाओं के पास आकर उनसे किसी का पता पूछते और मौका मिलते ही चैन, पर्स और मोबाईल को निशाना बनाते है। कई बार छीनाझपटी में वो लोगों के उपर हमला कर उनको घायल कर देते है। ऐसे लोगों को बचना चाहिए और सावधानी बरतनी चाहिए।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804