GLIBS
16-11-2019
सबरीमाला मंदिर के कपाट खोले गए, केरल पुलिस ने 10 महिलाओं को दर्शन करने से रोका

नई दिल्ली। केरल के सबरीमाला मंदिर के कपाट श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए गए हैं। पुजारियों ने पूजा के बाद शनिवार शाम करीब पांच बजे मंदिर के कपाट खोले। श्रद्धालुओं के लिए मंदिर के कपाट अगले 2 महीने तक खुले रहेंगे। शनिवार को मंदिर के कपाट खुलने के बाद मंडला पूजा की शुरुआत हो गई है। शनिवार को केरल पुलिस ने 10 महिलाओं को सबरीमाला मंदिर में अंदर जाने से रोक दिया है। रल पुलिस ने इन श्रद्धालुओं के पहचान पत्र को देखने के बाद सबरीमाला मंदिर के अंदर जाने नहीं दिया। यह वाकया उस वक्त सामने आया जब सुप्रीम कोर्ट ने सबरीमाला मंदिर में सभी उम्र की महिलाओं के प्रवेश पर लगी पाबंदी को हटा रखा है। इसके बाद सुप्रीम कोर्ट में सबरीमाला पर 28 सितंबर 2018 के फैसले के खिलाफ पुनर्विचार याचिका दाखिल की गई है, जिसको 7 न्यायमूर्तियों की बड़ी बेंच को भेज दिया गया है। इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने यह साफ किया है कि अगले फैसले तक सबरीमाला में सभी उम्र की महिलाओं का प्रवेश जारी रहेगा।

मंदिर का पट लगभग तीन महीने, 20 जनवरी तक खुला रहेगा। मंदिर का पट खुलने से पहले कुछ महिला कार्यकर्ताओं की ओर से मंदिर में प्रवेश करने और पूजा करने की धमकी दी गई है। राज्य सरकार ने कहा है कि उसने महिला श्रद्धालुओं को सुरक्षा प्रदान नहीं की है, लेकिन कई कार्यकर्ताओं ने मंदिर में प्रवेश करने की अपनी योजना के बारे में बाताया है। हिंदू संगठनों की शीर्ष संस्था सबरीमाला कर्म समिति ने कहा कि अगर वे मंदिर में प्रवेश करने की कोशिश करती हैं उन्हें रोक दिया जाएगा। भूमाता ब्रिगेड के नेता तृप्ती देसाई और चेन्नई स्थित समूह मैनिटि संगम ने मंदिर में पूजा करने की अपनी योजना की घोषणा की है। उनके अलावा, 45 महिला श्रद्धालुओं ने मंदिर के ऑनलाइन पोर्टल पर दर्शन के लिए आवेदन किया है।

गौरतलब रहे कि मंदिर का पट खुलने से दो दिन पहले यानि गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को सबरीमाला मंदिर और अन्य धार्मिक स्थानों पर महिलाओं के प्रवेश के मामले को सात सदस्यीय पीठ के पास भेज दिया है। पांच सदस्यीय पीठ ने 3:2 के बहुमत में सबरीमाला मामला बड़ी पीठ को भेजा। न्यायमूर्ति आरएफ नरीमन और डीवाई चंद्रचूड़ ने असहमति जताई, वहीं मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई और न्यायमूर्ति इंदू मल्होत्रा और न्यायमूर्ति एएम खानविलकर मामले को बड़ी पीठ के पास भेजने के पक्ष में थे।
हालांकि 28 सितंबर 2018 को दिए गए निर्णय पर कोई रोक नहीं लगी है, जिसमें 10 से 50 साल आयुवर्ग के बीच की महिलाओं के मंदिर में प्रवेश पर लगा प्रतिबंध हटा दिया गया था। इस आदेश के अनुसार, इस मुद्दे पर बड़ी पीठ का आदेश आने तक किसी भी आयुवर्ग की महिला मंदिर में प्रवेश कर सकती है।

20-10-2019
लंदन में दिवाली के दिन नहीं होगा भारत के खिलाफ प्रदर्शन

नई दिल्ली। कश्मीर मुद्दे को लेकर अगले रविवार यानी दिवाली पर लंदन में भारत के खिलाफ  पैदल मार्च निकालने के कार्यक्रम की मेयर सादिक खान ने हवा निकाल दी है। पाकिस्तानी मूल के सादिक खान ने आयोजकों और इसमें भाग लेने वाले लोगों से इस रैली को रद्द करने को कहा है। उन्होंने कहा है कि यह विरोध रैली लंदन में लोगों को बांट सकती है। पुलिस के मुताबिक डाउनिंग स्ट्रीट के पास रिचमंड टैरेस से लंदन में भारतीय दूतावास तक पांच से 10 हजार लोगों ने रैली निकालने की योजना बनाई है। भारतीय मूल के लंदन असेंबली सदस्य नवीन शाह के पत्र के जवाब में मेयर खान ने कहा कि मैं दिवाली के पावन अवसर पर इस विरोध मार्च को पूरी तरह से खारिज करता हूं। इस दिन भारतीय दूतावास में दिवाली का त्योहार मनाया जा रहा होगा। मेयर सादिक खान ने आगे कहा कि ऐसे समय में जब लंदनवासियों को एकजुट होने की जरूरत है, यह मार्च लोगों को आपस में बांटेगा। इस वजह से मैंने आयोजकों को बुलाकर इस रैली को रद्द करने को कहा है। साथ ही उन्होंने कहा कि उनका सिटी हॉल आफिस स्कॉटलैंड यार्ड के साथ मिलकर पूरी योजना तैयार कर रहा है। विरोध रैली पर प्रतिबंध लगाने के निवेदन पर सादिक खान ने कहा कि यह शक्ति गृह सचिव के पास है, उनके पास नहीं। वह इस पत्र को गृह सचिव प्रीति पटेल, मेट्रोपोलिटन पुलिस आयुक्त क्रेसिडा डिक को भी भेज रहे हैं ताकि वे इस रैली को लेकर उनकी चिंता को समझ सकें।

15-04-2019
जंवारा दर्शन करने गई वृद्धा के गले से सोने की चेन पार

रायपर। पुरानी बस्ती थाना क्षेत्र के महमाईपारा स्थित मंदिर में जंवारा दर्शन करने पहुंची एक वृद्धा के गले से अज्ञात चोर ने सोने की चेन पार कर दी। जानकारी के अनुसार संजयनगर टिकरापारा निवासी अनादिशंकर महापात्र की दादी सुनीता महापात्र रविवार सुबह जंवारा दर्शन करने महामाईपारा स्थित मंदिर में गई थी। इस दौरान अज्ञात चोर ने उसके गले से सोने की चेन पार कर दी। चोरी गई चेन की कीमत करीब 25 हजार रुपए बताई जा रही है। वृद्धा की शिकायत पर पुरानी बस्ती पुलिस ने अपराध दर्ज कर लिया है।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804