GLIBS
14-02-2020
शासकीय हाई स्कूल टकसीेवा में चोरी के आरोपी को दो साल की सजा

बेमेतरा। वर्ष 2019 में शासकीय हाईस्कूल टकसीेवा में चोरी करने वाले आरोपी को न्यायालय ने 2 वर्ष का कारावास एवं अर्थदण्ड की सजा सुनाई है। ज्ञात हो कि 8 अगस्त 2019 गुरुवार को शाम 4 बजे से स्कूल का छुट्टी होने के बाद स्कूल एवं कार्यालय का ताला बंद कर तारामती साहू शासकीय हाईस्कूल की प्रभारी व्याख्याता अपने घर चली गई। दिनांक 10 अगस्त 2019 शनिवार को सुबह 7:30 बजे स्कूल आने पर कार्यालय का ताला खोलकर अंदर जाने पर देखी कि शासन की ओर से प्रदाय का सामान टेबलेट, चार्जर, इंडक्शन सील कोई अज्ञात व्यक्ति ले गया। थाना बेरला में सितंबर 2019 में विवेचना पूर्ण कर अभियोजन न्यायालय में पेश किया। इससे सहमत होकर जगदीश राम मुख्य न्यायाधीश मजिस्ट्रेट ने आरोपी दीनबंधु पिता भगवान सिंह उम्र 35 वर्ष निवासी ग्राम भरचट्टी थाना बेरला जिला बेमेतरा को दोषी पाया। उसे विभिन्न धाराओं के अंतर्गत 2 वर्ष का सश्रम कारावास और जुर्माना की सजा से दंडित किया है। 

 

 

14-02-2020
अनियमित कर्मचारियों ने कहा, नियमित करने 10 दिन का वादा था, डेढ़ साल बाद भी मांग अधूरी

रायपुर। प्रदेशभर के अनियमित कर्मचारियों ने राजधानी के बुढ़ापारा प्रदर्शन स्थल में महासम्मेलन किया। छत्तीसगढ़ संयुक्त प्रगतिशील कर्मचारी महासंघ के बैनर तले यह महासम्मेलन हुआ। अध्यक्ष गोपाल प्रसाद साहू ने कहा कि प्रदेश के शासकीय विभागों, निगम मंडलों, स्वायत्तशासी निकायों में कार्यरत अनियमित कर्मचारियों अधिकारियों की समस्या के निराकरण की मांग मुख्यमंत्री से है। पिछली सरकार के दौरान प्रदर्शन में हमें वर्तमान मुख्यमंत्री ने आश्वासन दिया था कि सरकार आने पर 10 दिनों में मांग पूरी हो जाएगी। आज डेढ़ साल से ज्यादा हो रहा है लेकिन हमारी मांगों की ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। गोपाल प्रसाद साहू ने बताया कर्मचारियों की प्रमुख मांग है कि समस्त अनियमित कर्मचारी और अधिकारियों को नियमित किया जाए। नियमितीकरण तक 62 वर्ष की आयु नौकरी की सुरक्षा प्रदान करते हुए आवश्यकता होने पर सिविल सेवा नियम 1965 के तहत निलंबन करने का प्रावधान हो। विगत 2-3 वर्षों से निकाले गए या छटनी किए गए अनियमित कर्मचारियों को बहाल कर छटनी पर रोक लगाई जाए। शासकीय सेवाओं में आउटसोर्सिंग ठेका प्रथा को पूर्णत: समाप्त कर कर्मचारियों का समायोजन किया जाए। अंशकालिक कर्मचारियों को पूर्णकालीन किया जाए। 15 अनियमित कर्मचारियों पर गोलबाजार और आजाद चौक थाना रायपुर में पंजीबद्ध केस पर न्यायालय में चल रहे मुकदमों को वापस लिया जाए।

13-02-2020
सड़क कांक्रीटीकरण का नगर पालिका अध्यक्ष प्रकाश चंद्राकर ने किया भूमिपूजन

महासमुंद। बहु प्रतिक्षित सड़क निर्माण की मांग को गुरुवार को मूर्त रूप दिया गया। पुराने न्यायालय भवन से लगे योग भवन मार्ग पर बनने वाली कांक्रीटीकरण सड़क का नगर पालिका अध्यक्ष प्रकाश चंद्राकर ने भूमि पूजन किया। पालिका अध्यक्ष चंद्राकर ने इस मौके पर कहा शहर की मूलभूत सुविधाओं में कोई कमी नहीं आने दिया जाएगा। जहां जैसी आवश्यकता, वहां वैसे काम किया जाएगा। पालिका अध्यक्ष चंद्राकर ने ठेकेदार को समझाइश दी है कि निर्माण कार्य में गुणवत्ता को नजरअंदाज किया गया तो उनके विरुद्ध कड़ी कार्यवाही की जाएगी। बता दें कि 16 लाख रुपये की लागत से 4 अलग अलग कांक्रीटीकरण सड़क का भूमि पूजन किया गया है। राष्ट्रीय राज मार्ग से योग भवन तक 60 मीटर सड़क निर्माण किया जा रहा है। इस अवसर पर सभापति देवीचंद राठी, मनीष शर्मा, पार्षद हफीज कुरैशी, रिंकू तारेन्द्र चंद्राकर, जगतराम महानंद, पूर्व पार्षद कपिल साहू, गोलू मदनकार, दौलत चंद्राकर, पूर्व मंडल अध्यक्ष पवन वर्मा, देवकुमार, पटवारी रूपेश साहू, बलराम नेताम, देवकुमार साहू, सब इंजीनियर दिप्ती कुर्रे आदि उपस्थित थे।

 

13-02-2020
निवेशकों से 15 करोड़ रूपए से अधिक की राशि का ठगी करने वाले 2 आरोपी गिरफ्तार

कोरबा। निवेशकों से रकम दुगनी करने पर ठगी करने वाले दो लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। नागेश्वरलाल यादव निवासी ग्राम खरहरकुड़ा ने थाना उरगा में इस आशय का रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी कि देवयानी प्रापर्टीज लिमिटेड के डायरेक्टर रमेश चौधरी, राघवेन्द्र सिंह जादौन,प्रदीप प्रजापति, विपिन सिंह यादव, सौरभ काबरा एवं अन्य के द्वारा निवेशकों को उपरोक्त कंपनी में निवेश करने पर 5 वर्षों में रकम दोगुना करने का स्कीम बताकर कंपनी में निवेश कराया गया था। आवेदक के द्वारा भी उपरोक्त कंपनी में स्वयं के द्वारा 3 लाख 91 हजार 260 रूपए एवं पत्नी संतोषी यादव के द्वारा 87 हजार 300 रूपए का निवेश किया गया था। परन्तु 5 वर्ष बीत जाने के बाद भी कंपनी के द्वारा रकम वापस नहीं की गई। निवेशक धोखाधड़ी कर कार्यालय बंद कर फरार हो गए है। कंपनी के डायरेक्टरर्स द्वारा जिला कोरबा के अतिरिक्त जांजगीर-चांपा, रायपुर, दुर्ग, बालोद एवं धमतरी जिला में भी कंपनी का कार्यालय खोलकर करीब 7 हजार निवेशको से धोखाधड़ी कर करीब 15 करोड़ रूपए से अधिक राशि का निवेश कराकर उपरोक्त राशि गबन कर फरार हो गए। आवेदक के रिपोर्ट पर थाना उरगा में विभिन्न धाराओं के तहत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। पूर्व में आरोपी रमेश चौधरी पिता सूरजमल चौधरी उम्र 44 वर्ष निवासी शिवाजी नगर आमखो ग्वालियर (मप्र) एवं आरोपी रामपाल सेंगर पिता सुलतान सिंह सेंगर निवासी विजय नगर सेक्टर 4 को गिरफ्तार कर आरोपी के विरूद्ध अभियोग पत्र न्यायालय में प्रस्तुत किया गया है। प्रकरण में फरार अन्य आरोपीग के विरूद्ध धारा 173(8)जा.फौ. के अन्तर्गत विवेचना जारी रखा गया था।

प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक कोरबा जितेन्द्र सिंह मीणा के द्वारा उप पुलिस अधीक्षक मुख्यालय रामगोपाल करियारे एवं नगर पुलिस अधीक्षक राहुल देव शर्मा के पर्यवेक्षण में थाना प्रभारी उरगा हरिशचन्द्र टाण्डेकर एवं उप निरीक्षक कृष्णा साहू के नेतृत्व में एक विशेष टीम गठन कर फरार डायरेक्टर्स के गिरफ्तारी हेतु ग्वालियर टीम भेजा गया था। विशेष टीम के द्वारा डायरेक्टर्स का पतासाजी प्रारंभ करने पर पाया गया कि सभी डायरेक्टर्स कंपनी रजिस्ट्रेशन के दौरान दिए गए पते पर निवासरत् नही है। अपना पता बदलकर लुक-छिप कर रह रहे हैं। विशेष टीम को फरार डायरेक्टर्स के संबंध में लगातार पतासाजी कर 2 डायरक्टर्स को गिरफ्तार करने में सफलता मिली है। शेष अन्य आरोपी के बारे में जानकारी एकत्रित किया जा रहा है, जिन्हे शीघ्र ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। उपरोक्त कंपनी के विरुद्ध छत्तीसगढ़ राज्य के जिला कोरबा सहित जांजगीर-चांपा, रायपुर, दुर्ग, बालोद एवं धमतरी जिले में भी अपराध पंजीबद्ध है,जिन्हें अग्रिम कार्यवाही के लिए सूचित किया जा रहा है। गिरफ्तार किए गए डायरेक्टर्स के नाम राघवेन्द्र सिंह जादौन पिता चन्दन सिंह जादौन उम्र 40 वर्ष ग्वालियर, 2. प्रदीप प्रजापति पिता स्व.रोशनलाल प्रजापति उम्र 45 वर्ष ग्वालियर है।

12-02-2020
नायब तहसीलदार ने हाईकोर्ट के स्टे ऑर्डर को किया मानने से इनकार

बलौदाबाजार। जिले के लवननगर स्थित वार्ड क्रमांक 8 मुक्तिधाम के बाजू में राधेश्याम जायसवाल की 10 डिसमिल जमीन पर खुद के द्वारा गौशाला निर्माण कराया जा रहा था। जिस पर हाईकोर्ट से स्टे मिलने के बाद भी नायब तहसीलदार के द्वारा अतिक्रमण बता कर ढहा दिया गया। इसको लेकर प्रार्थी राधेश्याम जायसवाल ने गलिब्स न्यूज़ की टीम को बताया कि मुक्तिधाम के बाजू में मेरी 10 डिसमिल जमीन है। इसे नायब तहसीलदार ने अतिक्रमण बताकर पूर्व में कब्जा हटाने नोटिस जारी किया था। इस पर 29 जनवरी 2020 को हाईकोर्ट बिलासपुर से स्टे जारी किया गया है, जिसमें उल्लेख किया गया है कि आवेदक द्वारा जो दस्तावेज उपलब्ध किया जा रहा है। उसे जांच में शामिल किया जाये। साथ ही 27 जनवरी 2020 को राजस्व मंडल रायपुर द्वारा भी स्टे ऑर्डर जारी किया गया था। इस तरह प्रदेश के हर स्तर के न्यायालय से स्टे ऑर्डर मिलने के बाद भी लवन की नायब तहसीलदार ने मिलने का समय तक नहीं दिया। उन्होंने कहा कि मैं हाईकोर्ट या किसी भी कोर्ट के स्टे ऑर्डर को नहीं मानती। आपके द्वारा कब्जा की गई जमीन अतिक्रमण के दायरे में आती है उसे तोड़ा ही जाएगा। वहीं अतिक्रमण तोड़ने जारी नोटिस को भी उन्होंने बैकडेट निकालकर निवास स्थान पर 10 फरवरी 2020 शाम 6.30 बजे चस्पा कर दिया। दूसरे दिन सुबह 6 प्रार्थी के अनुपस्थिति में निर्माणाधीन गौशाला को नायब तहसीलदार तोड़ू दस्ते के साथ पहुंचकर कार्यवाही करने लगी।

नकल मांगने पर अधिकारी द्वारा किया गया इनकार
अधिकारी से प्रार्थी द्वारा लगातार संपर्क कर आदेश की कापी मांगे जाने पर सुबह आना, शाम को आना कहकर लगातार घुमाते रहे। लेकिन आज दिनांक प्रार्थी को नकल की कॉपी उपलब्ध नहीं कराई गई है। राजधानी से लगे जिले में दबंग अधिकारी का खौफ तले लोगों का जीना दुश्वार हो चुका है। अधिकारी पर पूर्व में भी इस तरह के आरोप लगते रहे हैं।

प्रार्थी ठगा महसूस कर रहा
प्रार्थी पिछले महीने भर से अधिकारियों के इस खेल से अपने आप को परेशान व पीड़ित महसूस कर रहा है। न्याय की गुहार लगाते हुए हाईकोर्ट तक भी पहुंचा। वहां से भी जारी स्टे आॅर्डर तक को भी दबंग अधिकारी मानने से इनकार कर रहे हैं।

वर्जन
तोड़ना ही पड़ेगा
आपके द्वारा गौशाला निर्माण कराई गई जमीन अतिक्रमण के दायरे में आती है। उसे तोड़ना ही पड़ेगा।
कार्तिकेय गोयल, कलेक्टर, बलौदाबाजार

वर्जन
हाईकोर्ट के आदेश को नहीं मानती
मैं किसी हाईकोर्ट के आदेश को नहीं मानती। मुझे अपना काम करने दो।
प्रियंका बंजारा, नायब तहसीलदार, लवन

 

12-02-2020
विधायक गोपीलाल जाटव के वाहन पर हुई चालानी कार्रवाई, लगाया गया जुर्माना

गुना। शहर में बुधवार को विधायक का यातायात नियम की तहत चालान कटा गया। दरअसल सीजीएम कौशलेंद्र भदोरिया ने एबी रोड पर जिला न्यायालय के सामने वाहनों की चेकिंग की। इस दौरान भाजपा विधायक गोपीलाल जाटव के चार पहिया वाहन पर हूटर लगा होने से 500 का जुर्माना किया गया। इस तरह की कार्रवाई पूर्व में भी सीजीएम की ओर से की गई है। इस दौरान 13 बसों पर 32000 रुपए का जुर्माना लगाया गया।

राकेश किरार की रिपोर्ट

 

11-02-2020
बिना टेंडर बुलाए फर्नीचर व साज सज्जा का सामान खरीदने के मामले में कोर्ट ने थाने से प्रतिवेदन मांगा

रायपुर। बैगर निविदा के कार्य दिए जाने के मामले में इंटक के राष्ट्रीय प्रवक्ता आशीष देव सोनी ने न्यायालय में परिवाद दायर की है। इस प्रकरण में न्यायालय ने नया रायपुर राखी थाना पुलिस से 24 फरवरी तक प्रतिवेदन मांगा है। दरअसल छत्तीसगढ़ संवाद (जनसंपर्क विभाग की सहयोगी संस्था) ने वर्ष 2015-16 में आंतरिक साजसज्जा एवं फर्नीचर क्रय का कार्य छत्तीसगढ भंडार क्रय अधिनियम की अवहेलना करते हुए बगैर निविदा आमंत्रित किए राशि 3140741/-रुपए का कार्य अपनी चहेती फर्मो से कराया। जबकि छत्तीसगढ संवाद की हाईटैक बिल्डिंग निर्माणधीन थी, इसके बावजूद भी सामान क्रय किया गया। छत्तीसगढ़ अधिनियम 2002 में स्पष्ट उल्लेखित है कि 50 हजार रुपए से अधिक की राशि का व्यय निविदा आमंतित्र कर करना है। संवाद के 3 अधिकारी सहित 5 ठेकेदार सप्लायरों फर्म के खिलाफ न्यायालय ने परिवाद स्वीकार कर राखी थाना को जांच कर प्रतिवेदन प्रस्तुत करने का आदेश दिया गया है। यह जानकारी इंटक के राष्ट्रीय प्रवक्ता आशीष देव सोनी ने दी। 

 

10-02-2020
शांति भंग करने और दहशत फैलाने पर कारण बताओ नोटिस

कांकेर। कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी केएल चौहान ने छत्तीसगढ़ राज्य सुरक्षा अधिनियम 1990 की धारा तीन, पांच, छः के तहत प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए चारामा निवासी प्रकाश जोतवानी को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। विदित हो कि प्रकाश जोतवानी के द्वारा 7 अक्टूबर 1996 से 29 जनवरी 2020 तक लगातार अपराधिक कृत्य, शासकीय कर्मचारियों को मारपीट कर शांति भंग करने पर कारण बताओ नोटिस जारी किया है। पुलिस अधीक्षक कांकेर के प्रतिवेदन के अनुसार प्रकाश जोतवानी के विरूद्ध कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। न्यायालय द्वारा प्रकाश जोतवानी को छत्तीसगढ़ राज्य सुरक्षा अधिनियम 1990 में निहित प्रावधानों के तहत जिला बदर की कार्यवाही की जाएगी। प्रकाश जोतवानी को 13 फरवरी को अपने अधिवक्ता के माध्यम से उपस्थित होकर अपना लिखित उत्तर प्रस्तुत करना होगा। अनुपस्थिति की दशा में एकपक्षीय कार्यवाही करते हुए प्रकरण में अग्रिम कार्यवाही की जाएगी। 



 

07-02-2020
महाराष्ट्र के दो युवकों से 80 पेटी अवैध शराब जब्त, गिरफ्तार

कोंडागांव। अवैध शराब की सूचना पर फरसगांव पुलिस ने घेराबंदी कर दो युवकों को गिरफ्तार किया है। डोगर तिराहा के पास मालवाहक में 80 पेटी शराब अवैध तरीके से बेचने ले जा रहे थे। पुलिस ने शराब जब्त कर मामले में आबकारी एक्ट के तहत कार्रवाई की है।मुखबिर की सूचना पर फरसगांव थाना प्रभारी विनोद कुमार साहू के नेतृत्व में एनएच 30 पर डोगर तिराहा के पास घेराबंदी में मालवाहक एमएच 40 एके 5392 को रोका गया। गाड़ी की तलाशी लेने पर 80 पेटी अवैध शराब जब्त की गई। पुलिस ने आरोपी वाहन चालक उमेश राज स्वामी और ऋतिक उमेश पंडित को गिरफ्तार कर लिया है। दोनों नागपुर महाराष्ट्र के रहने वाले हैं। बताया गया कि 80 पेटियों में प्रत्येक पेटी में 50 नग अंग्रेजी शराब गोवा भरी हुई थी। मामले में आबकारी एक्ट धारा 34 (2) के तहत अपराध कायम किया गया है। आगे की कार्रवाई की जा रही है।

06-02-2020
मानक ज्वेलर्स में हुई चोरी के मामले में पुलिस ने एक को किया गिरफ्तार

जगदलपुर। शहर में 22 जनवरी को ठाकुर स्थित मानक ज्वेलर्स में दो लाख रुपये के सोना चोरी के मामले में एक आरोपी संजू नामदेव को पुलिस ने नागपुर से गिरफ्तार कर लिया है। इस आरोपी तक पुलिस के पहुंचने की कहानी बेहद दिलचस्प और चुनौतीपूर्ण रही पुलिस ने आरोपियों तक पहुंचने में साइबर सेल का अहम रोल रहा। वारदात के दिन को ध्यान में रखते हुए पुलिस ने इस दिन nh30 में सक्रिय सभी मोबाइल के बारे में जानकारी जुटाई। इसके बाद ऐसे नंबर जो लगातार इस सड़क में आगे बढ़ते रहे उनका नंबर निकाला जिसके बाद हासिल हुआ सारे डेटा को लगातार 5 दिन तक खंगाला। कोतवाली पुलिस ने घटना के आठवें दिन इस डाटा को डीकोड किया फिर कहीं आरोपी के नंबर तक पहुंच सके। 1 फरवरी को कोतवाली से 4 लोग की टीम नागपुर पहुंची और यहां के नंदनवन इलाके में संजू नामदेव निहारे को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की। आरोपी से पूछताछ पूरी करने के बाद उसे न्यायालय में पेश किया गया जहां से उसे न्यायालय रिमांड में जेल भेज दिया गया।

 

01-02-2020
मानव तस्करी मामले में 02 नाबालिग लड़किया बरामद

बीजापुर। जिले के थाना नैमेड़ में पंजीबद्ध मानव तस्करी के मामले में पुलिस टीम के द्वारा 02 और नाबालिग बालिकाओं को बरामद कर बीजापुर लाया गया।दोनो बच्चियां ग्राम दुगोली की निवासी है। मामले में फरार आरोपी संतोष कुडि़यम को पुलिस टीम द्वारा  29 जनवरी को राजनांदगांव से पकड़ कर बीजापुर लाया गया। 30 जनवरी को रिमाण्ड पर न्यायालय पेश किया गया। बीजापुर पुलिस द्वारा अब तक मामले में 05 नाबालिग बच्चियों को बरामद किया गया है।
पुलिस अधीक्षक बीजापुर दिव्यांग पटेल द्वारा पुलिस टीम को सराहनीय कार्य के लिये नगद ईनाम से पुरूस्कृत किया गया। आरोपी की गिरफ्तारी में सायबर सेल की भूमिका भी अहम रही है। पुलिस अधीक्षक द्वारा सम्पूर्ण टीम को बधाई दी गई एवं पुरुस्कृत किया गया।

01-02-2020
छत्तीसगढ़ में चिटफण्ड कंपनियों के विरूद्ध कार्रवाई, अब तक 932 गिरफ्तार

रायपुर। छत्तीसगढ़ में अनियमित वित्तीय कंपनियों (चिटफण्ड कंपनियों) द्वारा निवेशकों के साथ धोखाधड़ी के मामले को राज्य सरकार ने बड़ी गंभीरता से लिया है। मुख्यमत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर निवेशकों की धन वापसी की कार्रवाई पुलिस प्रशासन कर रहा है। पुलिस मुख्यालय के अधिकारियों ने बताया कि प्रदेश में वर्ष 2012 से अक्टूबर 2019 तक 484 अनियमित वित्तीय कंपनियों के विरूद्ध प्रकरण पंजीबद्ध किये गये हैं। इनमें से 307 प्रकरणों में 468 संचालकों, 185 पदाधिकारियों और 279 अन्य व्यक्तियों को गिरफ्तार कर चालान न्यायालय में प्रस्तुत किया गया है। 154 प्रकरणों में अनियमित वित्तीय कंपनियों और उनके संचालकों के संपत्ति चिन्हित की गई है। अधिकारियों ने बताया कि निक्षेपों के हितों का संरक्षण अधिनियम की धारा 6 के तहत राजनांदगांव जिले में कुर्क की गई भूमि की नीलामी राशि 7 करोड़ 92 लाख 21 हजार रुपए शासकीय कोष में जमा किया गया है तथा निवेशकों की राशि लौटाने की प्रक्रिया प्रारंभ कर दी गई है। बिलासपुर सिविल लाईन थाने में दर्ज अपराध क्रमांक 780/15 के तहत मकान की नीलामी कर आवेदिका को 2 लाख 80 हजार रुपए दिलाया गया। न्यायालय द्वारा अनियमित वित्तीय कंपनियों के 6 प्रकरणों में कुर्की का अंतिम आदेश पारित किया जा चुका है, जबकि 42 प्रकरणों में कुर्की का अंतिम आदेश के लिए विचाराधीन है।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804