GLIBS
06-09-2020
गिरदावरी कार्य में लापरवाही बरतने पर कलेक्टर ने तीन पटवारियों को जारी किया कारण बताओ नोटिस

नारायणपुर। जिले में चल रहे गिरदावरी कार्य मे त्रुटि होने पर कलेक्टर ने तीन पटवारियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। कलेक्टर अभिजीत सिंह बीते शनिवार को जिले के नारायणपुर विकासखंड के ग्राम भाटपाल, रेमावंड और बाकुलवाही का दौरा कर गिरदावरी कार्य का निरीक्षण किया। इस दौरान कलेक्टर भाटपाल पहुंचे जहां उन्होंने मौके पर गिरदावरी में पंजीकृत किसान के रकबे में त्रुटिपूर्ण एंट्री पाई, इस पर उन्होंने हल्का पटवारी कुमुदिनी को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। 

इसी तरह ग्राम रेमावंड में निरीक्षण के दौरान पटवारी ईश्वरी सलाम द्वारा रकबा पंजीयन में लापरवाही एवम त्रुटि पूर्ण कार्य के लिए उन्हें भी कारण बताओ नोटिस जारी कर जवाब देने को कहा है। वहीं बाकुलवाही ग्राम पंचायत के निरीक्षण के दौरान उन्होंने पाया कि 42/14 रकबा 0.233 भूस्वामी के नाम पर दर्ज है, जिसमें खरीफ असिंचित फसल वर्ष 2020-21 में पांचसाला व भुंईया साफ्टवेयर में दर्ज किया गया है परन्तु मौके पर कास्तकार का मकान, बाड़ी, डबरी को पृथक से दर्ज नहीं किया गया है। जिस पर कलेक्टर ने नाराजगी व्यक्त करते हुए कारण बताओ नोटिस जारी कर जवाब प्रस्तुत करने कहा है। इन पटवारियों द्वारा निर्धारित समय पर संतोषजनक जवाब प्रस्तुत नहीं करने पर इनकी वेतन वृद्धि रोकने के निर्देश दिये हैं। कलेक्टर ने कहा है कि गिरदावरी कार्य मे लापरवाही एवं किसी भी प्रकार की असावधानी बर्दाश्त नहीं की जायेगी। उल्लेखनीय है कि जिले में कलेक्टर  अभिजीत सिंह के निर्देशानुसार राजस्व विभाग के मैदानी अमलों द्वारा गिरदावरी का कार्य द्रुत गति से चल रहा है। इस कार्य मे किसी प्रकार की त्रुटि नहीं हो इसके लिए कर्मचारियों को अत्यंत सावधानी के साथ किसानों के रकबे का पंजीयन करने के निर्देश दिए गए हैं।

15-12-2019
उत्पादन प्रमाण पत्र के आदेश की प्रतियां जलाई भाजपाईयों ने

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी कार्यकर्ताओं ने रविवार को प्रदेश सरकार के उस तुगलकी फरमान को जलाकर विरोध प्रदर्शित किया, जिसमें किसानों को पटवारियों से उत्पादन प्रमाण पत्र लाने के लिए कहा गया है। भाजपा किसान मोर्चा के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष संदीप शर्मा, राजेश पांडे, अवधेश जैन, अनुराग अग्रवाल, उमेश घोरमोड़े, अनिल पुरोहित आदि ने इस दौरान भाजपा कार्यालय एकात्म परिसर में सरकार के इस फरमान को काला आदेश बताकर जमकर नारेबाजी की। उन्होंने यह आदेश तत्काल वापस लेने की मांग की। किसान मोर्चा के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष संदीप शर्मा ने प्रदेश सरकार के नित -नए फरमानों को तुगलकी बताते हुए कहा कि प्रदेश सरकार की किसानों का पूरा धान खरीदने की नीयत ही नहीं है और इसलिए वह किसानों को लगातार परेशान कर रही है। किसानों के हक की लड़ाई में भाजपा पूरी ईमानदारी से किसानों के साथ खड़ी है और पार्टी व मोर्चा के कार्यकर्ता कटिबद्ध होकर सरकार की बदनीयती के खिलाफ आवाज उठा रहे हैं। उत्पादन प्रमाण पत्र लाने के बाद ही किसानों को टोकन दिए जाने के मौखिक आदेश से भ्रष्टाचार को बढ़ावा मिलेगा और किसान फिर परेशान होंगे।

03-07-2019
राजस्व के लंबित मामलों में जिम्मेदार राजस्व निरीक्षकों व पटवारियों को नोटिस जारी करने के निर्देश

धमतरी। कलेक्टर रजत बंसल ने आज सुबह राजस्व अधिकारियों की बैठक लेकर राजस्व के लंबित एवं निराकृत प्रकरणों की समीक्षा की। डायवर्सन के पुनर्निर्धारण के प्रकरणों में अभिमत प्रेषित करने में विलम्ब करने वाले पटवारियों, राजस्व निरीक्षकों तथा संबंधित लिपिकों को भी कलेक्टर ने कारण बताओ नोटिस जारी कर जवाबदेही तय करने के निर्देश दिए। बैठक में उन्होंने कहा कि राजस्व के प्रकरण शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता वाले होते हैं तथा इसमें लापरवाही बरतने वालों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। कलेक्टोरेट सभाकक्ष में आज सुबह आयोजित बैठक में कलेक्टर ने राजस्व के तहसीलवार प्रगति की समीक्षा की। गत दो माह में राजस्व वसूली की धीमी गति पर कलेक्टर ने नाराजगी इसमें तेजी लाने के लिए राजस्व अधिकारियों को निर्देशित किया।

बैठक में उन्होंने जाति, आय, निवास प्रमाण-पत्र बनाए जाने, भू-अर्जन, आबादी सर्वेक्षण, शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में आबादी पट्टा वितरण, नामांतरण, विवादित एवं अविवादित बंटवारा, बी-वन, खसरा, नक्शा अद्यतीकरण, अभिलेख दुरूस्तीकरण, किसान-किताब निर्माण एवं वितरण सहित विभिन्न राजस्व मामलों की अनुभागवार समीक्षा की। साथ ही प्रकरणों के निराकरण के उपरांत अनिवार्य रूप से उनकी ऑनलाइन प्रविष्टि कराने के निर्देश दिए। इसकी वजह से प्रविष्टि नहीं कराने की दशा में निराकृत प्रकरण भी अनावश्यक रूप से लंबित दर्शित होते हैं। इस अवसर पर अपर कलेक्टर  दिलीप अग्रवाल, तीनों अनुभाग के एसडीएम सहित डिप्टी कलेक्टर, तहसीलदार, नायब तहसीलदार एवं विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804