GLIBS
06-02-2020
मोदी ने राहुल गांधी पर कसा तंज, कहा-सूर्य नमस्कार करके पीठ मजबूत करूंगा

नई दिल्ली। पीएम मोदी ने गुरुवार को संसद में कांग्रेस सांसद राहुल गांधी पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि अब मैं सूर्य नमस्कार की संख्या बढ़ा दूंगा। सूर्य नमस्कार करके पीठ मजबूत करूंगा। बता दें कि राहुल ने बुधवार को एक चुनावी रैली में पीएम पर तीखा हमला बोला था कि जो मौजूदा हालात हैं, उसे देखकर कहा जा सकता है कि छह महीने में पीएम को युवा डंडे मारेंगे।  राहुल पर तंज कसते हुए पीएम ने कहा- मैंने एक कांग्रेस नेता का घोषणा पत्र सुना कि छह महीने में युवा मोदी को डंडे मारेंगे। काम जरा कठिन है लेकिन तैयारी के लिए समय तो लगेगा। मैंने भी छह महीने में तय किया है कि रोज सूर्य नमस्कार की संख्या बढ़ा दूंगा। 20 साल से जिस तरह गंदी गाली सुन रहा हूं, मैंने खुद को गाली प्रूफ बना लिया है। मैं आभारी हूं कि मुझे छह महीने का समय दिया गया है। इस दौरान राहुल कुछ कहने के लिए उठने की कोशिश कर रहे थे तभी पीएम ने उन्हें टोकते हुए सीट पर बैठने को कहा। पीएम ने तंज कसते हुए कहा कि मैं 40 मिनट से बोल रहा हूं, लगता है अब जाकर करंट दौड़ा है। ऐसी कई ट्यूबलाइट हैं।  

 

03-02-2020
दिल्ली चुनावी समर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की एंट्री आज

नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनाव का प्रचार अब अपने अंतिम दौर में है। चुनाव प्रचार में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की पहली सभा पूर्वी दिल्ली में आयोजित की जा रही है। दिल्ली में सोमवार को प्रधानमंत्री की दो रैली शाहदरा के सीबीडी ग्राउंड में होगी। दो दिनों में चार संसदीय क्षेत्रों के मतदाताओं और कार्यकर्ताओं से भी मोदी संपर्क साधेंगे। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की चुनावी सभाओं से भाजपा ने जमीन तैयार की है। अब इसे पुख्ता करने में प्रधानमंत्री मोदी की जनसभा महत्वपूर्ण साबित होगी। 
पार्टी के वरिष्ठ नेता वीरेंद्र सचदेवा ने बताया कि सोमवार को प्रधानमंत्री सीबीडी ग्राउंड कड़कड़डूमा और मंगलवार को द्वारका सेक्टर-14 में सभा को संबोधित करेंगे। सभा के लिए ऐसा स्थल चुना है, जहां से दो संसदीय क्षेत्र की 20-20 विधानसभा तक मोदी का संदेश पहुंच जाए। अंतिम दौर में बदली परिस्थितियों में सभी दल अपनी अपनी रणनीति में बदलाव पर मजबूर हुए हैं। 

28-01-2020
बेरोजगारी, आर्थिक संकट पर केंद्रित राहुल गांधी की युवा आक्रोश रैली आज 

नई दिल्ली। जयपुर में मंगलवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी 'युवा आक्रोश रैली' को संबोधित करेंगे। रैली यहां के रामनिवास बाग में होनी है। कांग्रेस नेता देश के आर्थिक संकट और बेरोजगारी के मुद्दे को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधेंगे। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव एवं राजस्थान के पार्टी मामलों के प्रभारी अनिवाश पांडे तथा पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट ने सोमवार को रैली स्थल पर तैयारियों का जायजा लिया।
रैली के दौरान बेरोजगारी, आर्थिक संकट, जीडीपी और बढ़ती महंगाई जैसे मुद्दों पर केंद्रित होगी। राहुल गांधी की युवा आक्रोश रैली का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि केंद्र सरकार भले ही इन सब मुद्दों पर चुप हो और आम जनता का ध्यान भटकाने की कोशिश कर रही हो लेकिन राहुल गांधी इन मुद्दों को उठाने के लिए जयपुर में रैली करेंगे।

23-01-2020
सुभाषचन्द्र बोस की जयंती पर निगम मुख्यालय के सामने आयोजित हुए कई कार्यक्रम

रायपुर। सुभाषचन्द्र बोस की जयंती के अवसर पर स्कूलों के बच्चों ने तेलीबांधा चौक से रैली का आयोजन किया। रैली कालीबाड़ी चौक से होते हुए व्हाइट हाउस में समाप्त हुई। बंगाली कालीबाड़ी समिति के पूर्व सचिव अरुण भद्रा ने कार्यक्रम के बारे में बताया कि ये कार्यक्रम सुबह से देर रात तक चलेगा। उन्होंने कहा कि ये आयोजन राजधानी में पहली बार किया जा रहा है। साथ ही नगर निगम मुख्यालय के सामने देशभक्ति कार्यक्रम एवं छत्तीसगढ़ी और बंगाली फूड स्टॉल का भी आनंद राजधानीवासी उठा सकते हैं। अरुण भद्रा ने बताया कि युवाओं एवं आम जनता के लिए यह कार्यक्रम आयोजित किया गया। उन्होंने कहा कि आने वाले वर्ष में इसी तरह के कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे ताकि लोगों में देश भक्ति की भावना बनी रहे। देश की आजादी में महापुरुष के बलिदान और योगदान से युवा और आनेवाली पीढ़ी अवगत हो सके।

पूजा गर्ग की रिपोर्ट


 

22-01-2020
सीएए के समर्थन में भाजपा की रैली आज, जुटने लगे कार्यकर्ता

रायपुर। नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन में बुधवार को भारतीय जनता पार्टी की ओर से राजधानी में रैली का आयोजन किया गया है। रायपुर के हिन्द स्पोर्टिंग मैदान में भाजपा के दिग्गजों सहित कार्यकर्ता जुटने लगे हैं। रैली का नेतृत्व उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य करेंगे।

22-01-2020
सीएए पर दिए अमित शाह के भाषण पर प्रशांत किशोर ने साधा निशाना

पटना। जनता दल यूनाइटेड के उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर ने गृह मंत्री अमित शाह पर उनके लखनऊ में दिए गए बयान को लेकर निशाना साधा है। अमित शाह ने मंगलवार को लखनऊ में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा था कि सीएए के खिलाफ बेशक कितना भी प्रदर्शन कर लीजिए यह वापस नहीं होगा। प्रशांत किशोर ने अपने ट्वीट में लिखा है। नागरिकों की असहमति को खारिज करना किसी भी सरकार की ताकत का संकेत नहीं है। अमित शाह अगर आप सीएए, एनआरसी का विरोध करने वालों की परवाह नहीं करते हैं, तो आप आगे क्यों नहीं बढ़ रहे और उस क्रोनोलॉजी के तहत सीएए और एनआरसी लागू करने की कोशिश क्यों नहीं करते।

केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) का विरोध कर रहे विपक्षी पार्टियों पर निशाना साधते हुए मंगलवार को उन्हें चुनौती दी कि जिसको विरोध करना है करे, लेकिन सीएए वापस नहीं होने वाला है। शाह ने सीएए के समर्थन में बंग्लाबाजार स्थित कथा पार्क में आयोजित विशाल जनसभा में कहा, 'इस बिल को लोकसभा में मैंने पेश किया है। मैं विपक्षियों से कहना चाहता हूं कि आप इस बिल पर सार्वजनिक रूप से चर्चा कर लो। यदि ये अगर किसी भी व्यक्ति की नागरिकता ले सकता है, तो उसे साबित करके दिखाओ। 

22-01-2020
तीन महीने में शुरू हो जाएगा राम मंदिर का निर्माण, विपक्षी दल मामले को लटकाए रखना चाहते थे : अमित शाह  

नई दिल्ली। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने एलान किया कि अयोध्या में भगवान श्रीराम की जन्मभूमि स्थल पर तीन महीनो में मंदिर का निर्माण शुरू हो जाएगा। उन्होंने मंदिर मुद्दे पर भी विपक्ष को कठघरे में खड़ा करते हुए उस पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि सैकड़ों साल पुराने मामले को कांग्रेस सहित विपक्षी दल लटकाए रखने चाहते थे। लेकिन मोदी सरकार के प्रयास से सुप्रीम कोर्ट में इस मामले की सुनवाई तेज हुई। हम लोगों का जीवन धन्य है कि हमारे जीवन काल में अयोध्या में गगनचुंबी राम मंदिर का बनने जा रहा है। शाह मंगलवार को लखनऊ के बंगला बाजार में रामकथा पार्क में सीएए के समर्थन में आयोजित रैली को सम्बोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने कई बार राम मंदिर पर सुनवाई का विरोध किया। उस दिन हमारा जीवन धन्य हो जाएगा जिस दिन ‘श्रीराम जन्मभूमि’ पर बनने वाले गगनचुंबी मंदिर में रामलला विराजमान हो जाएंगे। शाह ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के निर्णय से बनने वाले राम मंदिर का भी कांग्रेस, अखिलेश और मायावती विरोध कर रहे हैं। कहा कि पांच सौ साल पहले भगवान राम का मंदिर आक्रमणकारियों ने तोड़ दिया था। मंदिर निर्माण के लिए लगातार आंदोलन हुए। लाखों लोगों ने बलिदान दिया। जब तक कांग्रेस सरकार थी उसने राम मंदिर का निर्माण नहीं होने दिया। कांग्रेस के नेता कपिल सिब्बल कोर्ट में कहते रहे कि अभी सुनवाई न करिए। केंद्र में मोदी सरकार बनने के बाद सर्वोच्च न्यायालय में जल्द सुनवाई शुरू कराने की कोशिश हुई तो भी सिब्बल ने कई बार अड़ंगा डाला। शाह ने कहा कि जनता ने 303 सीटों के साथ मोदी की सरकार फिर बनवाई तो केंद्र के प्रयास से सुप्रीम कोर्ट में इस मामले की सुनवाई फिर तेज हुई।

22-01-2020
सीएए की वैधता को चुनौती देने वाली 144 याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) की संवैधानिक वैधता को चुनौती देने वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट बुधवार को सुनवाई करेगा। चीफ जस्टिस एसए बोबडे, जस्टिस एक अब्दुल नजीर और जस्टिस संजीव खन्ना की पीठ सीएए से संबंधित 144 याचिकाओं पर सुनवाई करेगी।

पुलिस ने कोर्ट के बाहर धरने पर बैठी महिलाओं और बच्चों को खदेड़ा

शीर्ष अदालत में विवादास्पद कानून पर सुनवाई से पहले नागरिकता (संशोधन) अधिनियम के विरोध में मंगलवार रात लगभग 20 महिलाएं और उनके साथ आए बच्चे एकत्र हो विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया और वहीं धरने पर बैठ गए। एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि प्रदर्शनकारियों ने सुप्रीम कोर्ट के सामने गेट पर तोड़फोड़ की, जिसके बाद पुलिस ने उन्हें इलाके से खदेड़ दिया।

सीएए के समर्थन और विरोध में याचिकाएं

इनमें अधिकतर याचिकाएं सीएए के खिलाफ है जबकि कुछ याचिकाएं सीएए के समर्थन में भी डाली गई है। सीएए की संवैधानिक वैधता को इंडियन यूनियन ऑफ मुस्लिम लीग, पीस पार्टी, असम गण परिषद, ऑल असम स्टूडेंट्स यूनियन, जमायत उलेमा ए हिन्द, जयराम रमेश, महुआ मोइत्रा, देव मुखर्जी, असददुद्दीन ओवेसी, तहसीन पूनावाला व केरल सरकार सहित अन्य ने चुनौती दी है।

सीजेआई ने जताई थी चिंता

गत नौ जनवरी को चीफ जस्टिस एसए बोबडे ने नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) को लेकर देशभर में हो रहे हिंसक प्रदर्शन पर चिंता जताते हुए कहा था कि वह इस मामले में तभी सुनवाई करेंगे जब हिंसा रुकेगी। साथ ही शीर्ष अदालत ने यह भी कहा था कि देश कठिन दौर से गुजर रहा है।

सरकार को जारी किया था नोटिस

मालूम हो कि गत 18 दिसंबर को सुप्रीम कोर्ट ने नागरिकता संशोधन अधिनियम, 2019 की वैधता को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर परीक्षण करने का निर्णय लेते हुए सरकार को नोटिस जारी किया था। हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने उस दिन अधिनियम पर रोक लगाने से इनकार कर दिया था।

शाहीन बाग में स्कूल बसों को रास्ता देने के लिए प्रदर्शनकारी तैयार

शाहीन बाग में प्रदर्शन कर रहे लोग स्कूल बसों को रास्ता देने के लिए तैयार हो गए हैं। मंगलवार को राजनिवास पहुंचे शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों के एक प्रतिनिधिमंडल नेे उपराज्यपाल अनिल बैजल से मुलाकात की। उन्होंने उपराज्यपाल के समक्ष सीएए को समाप्त कराने की मांग रखी। उन्होंनेे प्रदर्शनकारियों को उनकी बात उपयुक्त मंच तक पहुंचाने का भरोसा दिया। उपराज्यपाल ने प्रदर्शनकारियों से अपील की कि वे क्षेत्र में शांति और व्यवस्था बनाने में सहयोग दें। उन्होंने प्रतिनिधिमंडल से कहा कि पिछले 39 दिन से सड़क बंद है। इस कारण स्कूली बच्चों, मरीजों, दैनिक यात्रियों व स्थानीय निवासियों को परेशानी हो रही है। लोगों की परेशानी को समझते हुए वे आंदोलन समाप्त कर दें।

प्रतिनिधिमंडल ने उपराज्यपाल को भरोसा दिलाया कि वे शाहीन बाग जाकर क्षेत्र के दूसरे प्रदर्शनकारियों को सकारात्मक संदेश देंगे। उपराज्यपाल ने संबंधित पुलिस अधिकारियों को शाहीन बाग और दिल्ली में जहां भी सीएए के खिलाफ प्रदर्शन चल रहे हैं, वहां शांति और सद्भाव सुनिश्चित करने के लिए कानून के अनुसार सभी कदम उठाने के निर्देश दिए।

कोलकाता: सीएए व एनआरसी के खिलाफ वकीलों ने निकाली रैली

कलकत्ता हाईकोर्ट के वकीलों ने मंगलवार को नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) के विरोध में मंगलवार को कोलकाता में एक रैली निकाली। इस रैली में विभिन्न राजनीतिक दलों से संबद्ध वकीलों ने हिस्सा लिया। वकीलों की रैली ने एनआरसी और सीएए के खिलाफ बैनर व पोस्टर लेकर हाईकोर्ट परिसर का चक्कर लगाते हुए नारेबाजी की। रैली में माकपा नेता व कोलकाता के पूर्व मेयर विकास रंजन भट्टाचार्य के अलावा कांग्रेस नेता अरुणाभ घोष और तृणमूल कांग्रेस लायर्स सेल से जुड़े वकीलों ने भी हिस्सा लिया। भट्टाचार्य ने कहा कि सीएए संविधान की भावना के विपरीत है और देश में धर्म के आधार पर लोगों को बांटने की कोशिश की जा रही है। घोष ने कहा कि संविधान के मुताबिक भारत धर्मनिरपेक्ष देश है और इसके कामकाज में धर्म की कोई भूमिका नहीं है।

20-01-2020
सीएए समर्थन में रैली निकाल रहे कार्यकर्ताओं को कलेक्टर और डिप्टी कलेक्टर ने मारा थप्पड़

गुना। राजगढ़ की महिला कलेक्टर निधि निवेदिता एवं उनके अधीनस्थ काम कर रहीं डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा ने राजगढ़ जिले के ब्यावरा में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के समर्थन में धारा 144 लगाने के बाद भी रैली निकालने वाले भाजपा कार्यकर्ताओं को पुलिस अधिकारियों एवं कर्मचारियों के सामने कथित रूप से रविवार को चांटे मारे। इससे नाराज प्रदर्शनकारियों ने इन दोनों अधिकारियों से भी धक्कामुक्की हुई और डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा की चोटी भी खींची, जिससे उनके बाल बिखर गये। इस सारी घटना के कुछ वीडियो भी वायरल हो गये हैं।

भाजपा ने इन दोनों अधिकारियों द्वारा सीएए के समर्थकों को पीटे जाने पर कहा कि आज का दिन लोकतंत्र के सबसे काले दिनों में गिना जायेगा। वहीं, कलेक्टर निधि से इस बारे में पक्ष जानने के लिए फोन पर बार-बार संपर्क करने का प्रयास किया गया, लेकिन सफलता नहीं मिली। इस घटना के बाद 22 जनवरी को पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह, नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव और  भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ कलेक्टर और एसडीएम पर एफआईआर के लिए मांग कर घेराव करेंगे।

राकेश किरार की रिपोर्ट

18-01-2020
सड़क सुरक्षा सप्ताह मनाकर लोगों को किया जागरूक

कोंडागांव। यातायात नियमों को जन-जन तक पहुंचान के उद्देश्य से बस्तर राजमिस्त्री एवं मजदूर कल्याण संघ फरसगांव ने हेलमेट लगाओ ,जीवन बचाओ जैसे स्लोगन के साथ रैली निकाली। समस्त मजदूरों को यातायात के नियम के बारे में जानकारी देते हुए कहा गया कि वाहन धीरे चलाएं और संकल्प लिया गया कि जब भी घर से वाहन लेकर निकलेंगे तो हमेशा हेलमेट लगाकर निकलेंगे। फरसगांव पुलिस ने राजमिस्त्री संघ के लोगों को बताया,आये दिन सड़क दुर्घटना घटित होते रहती है, जिसमें ज्यादातर मौतें सिर पर चोट लगने से होती हैं, इसलिए संघ द्वारा सभी दुपहिया वाहन चालकों को हिदायत दी गई, वह हेलमेट लगाकर ही घर से निकलें और वाहन के जरूरी कागजात और लायसेंस साथ मे रखकर सफर करें। यातायात जागरूकता रैली के दौरान संघ के जिलाध्यक्ष श्रीलाल सिंह, फरसगांव ब्लाक अध्यक्ष देवेन्द्र नेताम, उपाध्यक्ष गोविंदराम पटेल, सचिव हेमराज भारद्वाज, कमलेश यादव सहित अन्य मजदूर मौजूद रहे।

16-01-2020
अधिवक्ताओं की रैली में शामिल हुए सांसद विजय बघेल

दुर्ग। जिला एवं सत्र न्यायाधीश द्वारा फैमिली कोर्ट के स्थानांतरण के फैसले को लेकर दुर्ग अधिवक्ता संघ द्वारा व्यापक आंदोलन किया जा रहा है। इसके समर्थन में दुर्ग के सांसद विजय बघेल आंदोलन में शामिल होकर अधिवक्ताओं का साथ दिया। जिला न्यायाधीश के खिलाफ निकाली गई रैली में शामिल होकर अधिवक्ताओं का समर्थन किया।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804