GLIBS
18-09-2020
जिला खाद्य अधिकारियों की नवीन पदस्थापना, विभाग ने जारी किया आदेश

रायपुर। राज्य शासन ने जिला खाद्य अधिकारियों की नवीन पदस्थापना की है। इस संबंध में खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग की ओर मंत्रालय, महानदी भवन से आदेश जारी किया गया है। जारी आदेश के तहत गरियाबंद जिले में जीपी राठिया को जिला खाद्य अधिकारी पदस्थ किया गया है। कलेक्टर ने नवपदस्थ खाद्य अधिकारी जीपी राठिया के जिला गरियाबंद में पदभार ग्रहण करने तक सहायक खाद्य अधिकारी शाह जफर खान को जिला खाद्य अधिकारी का प्रभार दिया है। कलेक्टर छतर सिंह डेहरे ने आदेश के परिपालन में तत्कालीन जिला खाद्य अधिकारी डड़सेना को नवीन पदस्थापना स्थल जिला रायगढ़ में कार्यभार ग्रहण करने के लिए भारमुक्त कर दिया गया है।

06-09-2020
चिंगरापगार पहुंचा 21 हाथियों का दल, किसानों की लारी और खेत को पहुंचाया नुकसान

गरियाबंद। 21 हाथियों का दल जिला मुख्यालय गरियाबंद से महज 12 किलोमीटर दूर चिंगरापगार झरने के करीब पहुंच गया है। बीती रात इस हाथी दल ने 25 किलोमीटर का सफर किया और तौरंगा से होते हुए तूयामोड़ा के जंगल पहुंचा। सुबह 6 बजे हाथियों की सेटेलाइट लोकेशन टूयामोड़ा के जंगल में थी। यहां 2 किसानों के खेत में बनी लारी को नुकसान पहुंचाने के बाद हाथी है। 6 किसानों के खेतों को नुकसान पहुंचाते हुए गज पल्ला झरने के पास से होते हुए गहंदर के ऊपर की पहाड़ी पर इस वक्त मौजूद है। ऐसी आशंका है कि यह हाथी दल आज शाम पुनः नेशनल हाईवे और पैरी नदी पार कर धमतरी जिले में जा सकता है। वैसे दुबारा पहुंचे चंदा हाथी के दल पर बारूका के सरपंच तथा हाथी मित्र लगातार नजर बनाए हुए हैं। वन विभाग भी पहले से इसकी आशंका के चलते मसाल आदि बनाकर पूरी तरह तैयार रखा हुआ है। कल ही वन विभाग ने 6 गांवों में जंगल ना जाने और सतर्क रहने के लिए मुनादी करा दी थी। जिन छह गांवों में मुनादी कराई गई उनमें टोयामोड़ा बारूका गहनदर पटोरा घुट्कु नवापारा और बहराबूढ़ा शामिल है। वन अधिकारियों का कहना है कि कर्मचारियों को नुकसान का जायजा लेने भेजा गया है। अभी खेतों में नुकसान की ही सूचना मिली है घटनास्थल पर पहुंचने पर लारी आदि के नुकसान का पता चलेगा मगर ग्रामीणों ने बताया है कि किसानों के खेतों को रौंदने के अलावा  हाथियों के दल ने नरेश भूरिया और राम कुमारी कमार के खेतों में बने लारी को भी बुरी तरह नुकसान पहुंचाया है। वहां रखे पैरा को बिखेर दिया कुछ पैरे खाए वहीं खेतों में खड़े धान के पौधे को इनके चलते काफी नुकसान हुआ है।

तीन माह में तीसरे बार पहुंचा हाथी दल- 

ग्रामीणों ने इस नई विशालकाय मुसीबत से मुक्ति दिलाने की मांग वन अधिकारियों से करने का फैसला लिया है। बारूका के सरपंच छत्रपाल कुंजाम का कहना है कि यह हाथियों का पारंपरिक क्षेत्र नहीं है यहां के लोग हाथियों के व्यवहार को नहीं समझते इसलिए अचानक आमना-सामना होने पर अप्रिय स्थिति बन सकती है। पिछले 3 महीने में हाथी तीसरी बार बारूका के जंगल में पहुंचे हैं जो ग्रामीणों को इस बात के लिए चिंतित कर रहा है कि कहीं हाथी इस इलाके को अपना निवास ना बना लें। वैसे मैं और हमारी हाथी मित्र की टीम वन विभाग को पूरी तरह मदद कर रही है। हम चाहते हैं कि हाथी अपने प्राकृतिक आवास की ओर चला जाए हमारे जंगल को अपना आवास ना बनाएं। ताकि यहां के लोग सालों से जिस तरह निश्चिंत होकर जंगल जाते हैं उन्हें किसी विशालकाय जीव का डर नहीं होता वह वैसा ही बना रहे।

वन विभाग मुस्तैद 6 गांव में बुनियादी कराई गई-

वही एसडीओ तथा वन परीक्षेत्र अधिकारी गरियाबंद मनोज चंद्राकर का कहना है कि कल शाम ही 6 गांवों में मुनादी करा दी गई थी कि हाथी दल तौरंगा बांध के पास मौजूद है और जिस तरह इस रास्ते से ही हाथी महासमुंद लौटे थे पुनः उसी रास्ते पर चल रहे हैं। इसलिए इस इलाके में आने की आशंका है। ग्रामीण सतर्क रहें जंगल अकेले ना जाए। चंद्राकर ने बताया कि बड़ी संख्या में मसाल बनाकर रख ली गई है। मगर इनका उपयोग तभी किया जाएगा अगर हाथी दल किसी गांव में घुसने का प्रयास करेगा। अन्यथा जंगल में हाथियों को जरा भी डिस्टर्ब नहीं किया जाएगा। उन्हें स्वच्छंद विचरण करने दिया जाएगा। जिन 6 गांव की और हाथी के जाने की आशंका है वहां अलग-अलग 1 कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है सभी नजर बनाए हुए हैं इसके अलावा सेटेलाइट से भी हाथी दल पर नजर रखा जा रहा है। चंदा हाथी के गले में बंद है रेडियो कॉलर से हर 6 घंटे में उनकी एग्जैक्ट लोकेशन हमें मिल जाती है।

23-08-2020
पॉजिटिव युवक का पिता भी हुआ संक्रमित, गरियाबंद के 40 पॉजिटिव धमतरी में हुए भर्ती

धमतरी। जिले में पिछले तीन दिनों से कोरोना कहर बरपा रहा था,जिससे आज थोड़ी राहत मिली। रविवार को सिर्फ एक केस सामने आया है। शनिवार को सोरिद वार्ड का एक युवक पॉजिटिव पाया गया था, प्राइमरी संपर्क के आधार पर उसके पिता का सैंपल लेकर जांच की गई,जिसमें रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, उसे अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है। इधर कोविड अस्पताल धमतरी में रविवार को गरियाबंद, फिंगेश्वर, छुरा, राजिम के 40 मरीजों को इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। धमतरी के मरीज मिलाकर अब कोविड अस्पताल में कुल 80 मरीज भर्ती है। यह जानकारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थय अधिकारी डॉ.डीके तुर्रे ने दी।

21-08-2020
नन्हा हाथी फंसा दलदल में, ग्रामीणों ने मिलकर बचाई जान

गरियाबंद। झुंड से बिछड़कर एक नन्हा हाथी दलदल में फंस गया जिसे गरियाबंद के बनगवां गांव के ग्रामीणों के साथ अन्य ग्रामीणों ने रेस्क्यू अभियान चलाया और दलदल में फंस चुके नन्हे हाथी को बाहर निकाल कर वापस उसके झुंड से मिलाया। रेस्क्यू टीम की भी जान जोखिम में थी क्योंकि इस नन्हे हाथी की मां पास ही मौजूद थी और कभी भी टीम पर हमला कर सकती थी। घटना फिंगेश्वर क्षेत्र के बनगवां जंगल में हुई। बता दें कि इसी झुंड के एक हाथी की मौत धमतरी जिले में दलदल में फंस जाने से हो चुकी है, मगर गरियाबंद जिले में लोगों की मदद मिलने से इस नन्हे हाथी की जान बच पाई।

गरियाबंद जिले के फिंगेश्वर वन परिक्षेत्र के ग्राम बनगंवा के आसपास में लंबे समय से हाथियों का डेरा बना हुआ था तभी इस बात का अहसास हो गया था कि जरूर कोई हथनी गर्भवती है और वह बच्चे को जन्म देने वाली है। इसकी जानकारी ग्रामीणों ने वन विभाग तक भी पहुंचा दी थी और शुक्रवार सुबह यह जानकारी प्राप्त हुई कि एक हथिनी ने बच्चे को जन्म दिया है जो कि खेत में लगातार हाथियों के डेरा से खेत दलदल बन गया है। इसके कारण वहाँ हाथी का बच्चा दलदल में बुरी तरह से फंस गया है। हाथियों के प्रयास के बाद भी उसे दलदल से नहीं निकल पाया। इस घटना की जानकारी मिलते ही ग्रामीणों ने पूरी तरह से पशु प्रेम का परिचय देते हुए इकट्ठा होकर कुछ हाथी मित्रों को भी एकत्र कर उस हाथी के बच्चे को निकालने में बहुत बड़ा योगदान दिया और इसी के साथ वन विभाग भी इस घटना के बाद वहां पहुंचकर पशु चिकित्सकों को बाहर से बुलाकर उधर हथिनी के बच्चे का स्वास्थ्य परीक्षण कराने के उपरांत सभी वहां से हट गए और इस दौरान हाथियों का झुंड वहां पहुंचा और वह बच्चों को लेकर आगे बढ़ गया।

अपने बच्चे को बचाने की कोशिश में जुटी थी माँ

बच्चे को जन्म देने के बाद मादा हाथी आगे बढ़ ही रहे थी कि बच्चा दलदल में जा फंसा जिसके बाद 20 हाथियों के झुंड से कुछ हाथी आगे बढ़ गए। लेकिन वह हाथनी अपने बच्चे को बचाने की कोशिश में जुटी हुई थी। लगातार बारिश और दलदल की वजह से हाथी अपने बच्चे को नहीं निकाल पा रही थी।

डेरा जमाए हुए है हाथी

बता दें कि करीब 20 हाथियों का दल एक पखवाड़े भर से अधिक समय तक फिंगेश्वर वन परिक्षेत्र के ग्राम बोड़की फुलझार, खुड़सा, गनियारी, के जंगलों में डेरा जमाए हुए थे। लेकिन एक दो दिन पहले ही हाथियों का दल यहां से निकल कर करपीदादर बनगंवा की तरफ पहुंच गए।

18-08-2020
सामुदायिक वन संसाधन अधिकार के क्रियान्वयन में गति लाने कार्यशाला में दी गई जानकारी

रायपुर। सामुदायिक वन संसाधन अधिकार के सफल क्रियान्वयन के लिए गत दिवस 17 अगस्त को गरियाबंद में एक दिवसीय जिला स्तरीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस संबंध में वन मण्डलाधिकारी मयंक अग्रवाल ने बताया कि वन विभाग द्वारा इसका आयोजन फिजिकल डिस्टेंसिंग आदि नियमों का पालन करते हुए किया गया। कार्यशाला में सामुदायिक वन संसाधन अधिकार के क्रियान्वयन में गति लाने के लिए संबंधित विभागीय अधिकारियों को इसके निर्धारित प्रारूपों, नियमों, आवश्यक साक्ष्यों आदि के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। साथ ही सामुदायिक वन संसाधन अधिकार के संबंध में प्रचार-प्रसार कर जागरूकता लाने और आवेदन प्राप्त करने तथा अविलंब स्थल स्थापन करने के संबंध में भी चर्चा की गई। कार्यशाला में अवगत कराया गया कि ऐसे किसी सामुदायिक वन संसाधन का संरक्षण, पुनर्जीवित अथवा संरक्षित व प्रबंध करने का अधिकार, जिसकी वे सतत उपयोग के लिए परंपरागत रूप से संरक्षा और संरक्षण कर रहे हैं। इसके अंतर्गत सामुदायिक वन संसाधन अधिकार प्रदान किया जाना है। कार्यशाला में चर्चा करते हुए सामुदायिक वन संसाधन अधिकार के सफल क्रियान्वयन और समयबद्ध ढंग से कार्यवाही के लिए विशेष जोर दिया गया।

 

02-08-2020
अहसन मेमन को एनएसयूआई का जिला अध्यक्ष बनाने की युवाओं ने की माँग

गरियाबंद। अल्पसंख्यक विभाग के पूर्व शहर अध्यक्ष एवं युवा नेता अहसन मेमन के समर्थन में गरियाबंद के युवाओं ने लगातार सोशल मीडिया के माध्यम से एनएसयूआई के जिला अध्यक्ष पद की माँग कर रहे हैं। स्कूल के अध्यक्ष का चुनाव निर्विरोध जीता और साथ ही गरियाबंद के युवाओं की पसंद और पूरे जिले में अपनी अलग पहचान बनाई है। मेमन ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा की मैंने कांग्रेस पार्टी के साथ कंधा से कंधा मिला के काम किया है अगर मुझे मौका मिलेगा तो मैं छात्रों के हित में लड़ाई लड़ूँगा। मैं प्रदेश एनएसयूआई के निर्देश से काम करूँगा।

31-07-2020
गरियाबंद जिले के गौठानों में 1264.65 क्विंटल गोबर की हुई खरीदी 

रायपुर/गरियाबंद। जिलों के गौठानों में गोधन न्याय योजना से गोबर की खरीदी चालू है। गरियाबंद जिले के 43 गौठानों में 1264.65 क्विंटल गोबर की खरीदी की गई है। उप संचालक कृषि  एफ.आर. कश्यप से मिली जानकारी के अनुसार जिले में गोधन न्याय योजना प्रारंभ तिथि से अब तक विकासखंड गरियाबंद के 12 गौठानों में 23 पशुपालकों से 72.09 क्विंटल, विकासखंड फिंगेश्वर के 10 गौठानों में 118 पशुपालकों से 672.73 क्विंटल, विकासखंड छुरा के 8 गौठानों में 113 पशुपालकों से 331.92 क्विंटल, विकासखंड मैनपुर के 4 गौठानों में 64 पशुपालकों से 91.69 क्विंटल तथा विकासखंड देवभोग के 5 गौठानों में 48 पशुपालकों से 74.05 क्विंटल गोबर की खरीदी की गई है। इसी प्रकार नगरीय निकाय गरियाबंद, राजिम, फिंगेश्वर और छुरा के एक-एक गौठानों में 12 पशुपालकों से 22.17 क्विंटल गोबर की खरीदी की गई है।

26-07-2020
एसपी ने थोक में किए तबादले, जल्द पदस्थापना ग्रहण करने के दिए निर्देश

गरियाबंद। एसपी भोजराम पटेल ने जिले में 18 सहायक उपनिरीक्षक 22 प्रधान आरक्षक तथा 40 आरक्षकों का तबादला किया है। एसपी पटेल ने जल्द पदस्थापना ग्रहण करने का निर्देश दिया है। माना जा रहा है कि पुलिस विभाग में कसावट लाने के लिए यह आदेश जारी किया गया है।

 

23-07-2020
गरियाबंद और छुरा में 26 जुलाई से 1 अगस्त तक लॉक डाउन

गरियाबंद। कलेक्टर छत्तर सिंह डेहरे ने गुरूवार को गरियाबंद एवं छुरा के नगरीय निकाय क्षेत्र में 26 जुलाई से 1 अगस्त तक पूर्ण लॉकडाउन का आदेश जारी किया है। गरियाबंद एवं छुरा के नगरीय क्षेत्रों की सभी दुकानें, गोदाम पूर्णत बंद रहेंगे। इसमें अति आवश्यक वस्तुओं को छूट मिलेगी। सब्जी, दूध, चिकन-मटन की बिक्री सुबह 6 से 10 बजे तक 4 घंटे के लिए होगी। सभी धार्मिक ,संस्कृति एवं पर्यटन स्थल स्थल पूर्णता बंद रहेंगे। शासकीय, अशासकीय कार्यालय भी पूर्णता बंद रहेंगे। सभी सार्वजनिक परिवहन बस, आटो, ई- रिक्शा बंद रहेंगे। 

 

22-07-2020
Breaking:  प्रदेश में 31 नए कोरोना मरीजों की पहचान, एक्टिव केस अब 1740

रायपुर। छत्तीसगढ़ में 31 नए कोरोना पॉजिटिव मरीजों की पहचान हुई है। इस तरह से बुधवार को अब तक कुल 261 मरीजों की पहचान हो चुकी है। अभी-अभी मिले नए मरीजों में जिला रायपुर से 18, गरियाबंद से 4, बिलासपुर से 3, दुर्ग से 2, महासमुंद से 2 शामिल है। राज्य में अब तक कुल 5999 मरीज मिले हैं। इनमें 4230 मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज किए गए हैं। राज्य में 29 मौत दर्ज की गई है। एक्टिव मरीजों की संख्या 1740 हो चुकी है। बुधवार देर शाम 230 मरीजों की पहचान हुई थी। इनमें रायपुर से 70, सुकमा से 36, दुर्ग से 28, कांकेर से 15, जांजगीर चांपा से 13, मुंगेली से 11, बीजापुर और रायगढ़ से 9-9, बिलासपुर से 7, गरियाबंद और बस्तर से 6-6, नारायणपुर से 5, बेमेतरा महासमुंद से 3-3, राजनांदगांव, बालोद और कोंडागांव से 2-2, सूरजपुर, सरगुजा, जशपुर से 1-1 मरीज शामिल थे।

19-07-2020
हरेली त्यौहार के साथ जिले के 24 गौठानों में गोधन न्याय योजना का शुभारंभ

गरियाबंद। राज्य शासन की महत्वाकांक्षी गोधन न्याय योजना का शुभारंभ जिले में हरेली त्यौहार के दिन होगा। गरियाबंद जिले में हरेली के दिन 24 गौठानों में गोबर खरीदी की इस योजना की शुरूआत होगी। जिला स्तरीय मुख्य आयोजन छुरा विकासखण्ड के ग्राम द्वारतरा के गौठान में होगा। यहां पर जिले के प्रभारी मंत्री ताम्रध्वज साहू भी शिरकत करेंगे। आगामी 31 जुलाई तक जिले के सभी 132 गौठान, जहां गौठान समिति गठित हो चुकी है। यहां योजना के तहत गोबर खरीदी प्रारंभ की जायेगी।कलेक्ट छतर सिंह डेहरे ने कलेक्टोरेट सभाकक्ष में जिले में योजना के सफल क्रियान्वयन के लिए जिला स्तर पर अभी तक की गई तैयारियों के संबंध में अधिकारियों की समीक्षा बैठक ली। बैठक में जिला पंचायत सीईओ विनय कुमार लंगेह, वनमण्डलाधिकारी मयंक अग्रवाल, अपर कलेक्टर जेआर चाैरसिया, सभी एसडीएम और जनपद सीईओ तथा विभाग प्रमुख अधिकारी उपस्थित थे। कलेक्टर डेहरे ने गौठानों में गोबर खरीदी का पूरा हिसाब-किताब सही तरीके से रखने के निर्देश अधिकारियों को दिए। कलेक्टर ने कहा कि योजना के क्रियान्वयन में संबंधित जनपद सीईओ और एसडीएम की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी होगी। किसी भी प्रकार की गड़बड़ी के लिए ये जिम्मेदार होंगे। उन्होंने गोधन न्याय योजना की शुरूआत के दौरान गौठानों में गोबर तौलने के लिए तौल मशीन की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। 

 

19-07-2020
गृह मंत्री ग्राम द्वारतरा में करेंगे गोधन न्याय योजना की शुरुआत

रायपुर। गृह और लोक निर्माण मंत्री ताम्रध्वज साहू 20 जुलाई सोमवार को गरियाबंद जिले के प्रवास पर रहेंगे। वे सुबह 10 बजे रायपुर से कार से रवाना होकर 11 बजे छुरा विकासखण्ड के ग्राम मुड़ागांव पहुंचेंगे और वहां पौधारोपण करेंगे। इसके बाद 11.45 बजे ग्राम द्वारतरा में गौठान स्थल पर गोधन न्याय योजना का शुभारंभ करेंगे। ताम्रध्वज साहू ग्राम द्वारतरा से विश्रामगृह राजिम जाएंगे। राजिम से दोपहर ढाई बजे प्रस्थान कर राजधानी रायपुर लौटेंगे।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804