GLIBS
13-12-2019
विद्युत अनुपलब्धता और कम वोल्टेज से प्रभावित क्षेत्रों में भी होगी पेयजल व्यवस्था

रायपुर। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा गरियाबंद जिले के देवभोग विकासखंड के विद्युत अनुपलब्धता एवं कम वोल्टेज से प्रभावित क्षेत्र में पेयजल व्यवस्था उपलब्ध करायी जाएगी। विभाग से मिली जानकारी के अनुसार यहां सोलर आधारित लघु जल प्रदाय योजना के लिए एक करोड़ 35 लाख 43 हजार रुपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गई है। इसके तहत देवभोग के मुंगझर-बुधुपारा ग्राम में 19 लाख 99 हजार, गंगराजपुर-चिंगराभाठा में 19 लाख 91 हजार, दबनई में 19 लाख 84 हजार, खवासपारा में 19 लाख 63 हजार, ग्राम कोसमकानी में 19 लाख 52 हजार, धुंगियामुड़ा में 18 लाख 14 हजार और ग्राम सरगीबहली में 18 लाख 40 हजार की लागत से सोलर आधारित लघु जल प्रदाय योजना की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गई है।

11-12-2019
अवांच्छित व्यक्ति को ऋण पुस्तिका उपलब्ध न करावे : कलेक्टर

गरियाबंद। कलेक्टर श्याम धावड़े ने जिले के सभी धान उपार्जन केन्द्रों में धान स्टैगिंग और बारदानों में स्टैम्पिंग कराने की जिम्मेदारी जिला अधिकारियों को सौंपी है। उन्होंने कहा कि पंचायतवार नियुक्त नोडल अधिकारी संबंधित पंचायत के अंतर्गत आने वाले धान उपार्जन केन्द्रों में लम्बाई 15,चौड़ाई 12,ऊंचाई 25 अथवा उपलब्ध स्थानों के आधार पर धान का स्टैगिंग करायेंगे। इससे बारदाना की गणना के आधार पर उपार्जन केन्द्र में खरीदे गये धान की मात्रा की जानकारी ली जा सके। उन्होंने कहा कि बारदाना पंजी का अवलोकन व जांच भी किया जाए। उन्होंने उक्त कार्य आगामी तीन दिनों के भीतर करा लेने के निर्देश दिये हैं। कलेक्टर ने कहा कि नोडल अधिकारी उपार्जन केन्द्रों में आने वाले किसानों को यह समझाईश देवे कि वे किसी प्रकार की अफवाह में ध्यान न देंवे। उपार्जन केन्द्रों में व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार 15 फरवरी तक सभी किसानों का धान खरीदेगी। कलेक्टर धावड़े अधिकारियों की समय-सीमा प्रकरणों की समीक्षा बैठक में उक्त आशय के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि अधिकारी किसानों को यह भी अवगत कराये कि वे अपने स्वयं की ऋण पुस्तिका धान बिक्री हेतु किसी अन्य अवांच्छित व्यक्ति को उपलब्ध न करावे। यदि किसान के ऋण पुस्तिका से कोई दूसरे व्यक्ति धान बिक्री करते पाये जाने पर संबंधित किसान आगामी वर्ष धान बिक्री के लिए अपात्र माने जा सकते हैं। कलेक्टर ने जनचौपाल से संबंधित लंबित आवेदनों को प्राथमिकता के साथ समयावधि में निराकृत करने कहा। उन्होंने जनपद पंचायत के सीईओ को रोजगार गारंटी कार्यो में मजदूरों की संख्या बढ़ाने और सभी स्वीकृत कार्य शीघ्र प्रारंभ करने के निर्देश दिये। साथ ही गौठानों में पशुओं के लिए किसानों से पैरा दान कराने पर भी जोर देने कहा। बैठक में अपर कलेक्टर केके बेहार, जिला पंचायत के सीईओ आरके खुटे, एसडीएम जेआर चौरसिया,जीडी वाहिले,भूपेन्द्र साहू, डिप्टी कलेक्टर ऋषा ठाकुर सहित समस्त विभाग के जिला अधिकारी उपस्थित थे।

 

11-12-2019
यातायात व्यवस्था को देखने पुलिस अधीक्षक नजर आए चौराहों पर

गरियाबंद। जिला मुख्यालय में संध्याकालीन होने वाली यातायात की अव्यवस्था की जानकारी के बाद बुधवार को पुलिस अधीक्षक केएमआर आहिरे नगर के प्रमुख तिरंगा चौराहे पहुंचे। वहां यातायात की सुगमता को बनाए रखने के लिए पुलिस अधिकारियों से चर्चा की। इस दौरान उन्होंने देखा कि नगर के प्रमुख तिरंगा चौक पर चारों ओर साइकिल, बाइक, चार पहिए वाहनों के अव्यवस्थित रखरखाव के चलते चौराहे पर भीड़ बढ़ जाती है, जिसके चलते आवागमन अव्यवस्थित हो जाता है। उन्होंने अधिकारियों को नगर के प्रमुख विभिन्न चौक चौराहों पर शाम ढलने के साथ ही गश्त बढ़ाने का निर्देश दिया। इस दौरान उन्होंने पुलिस अधिकारियों से यह भी कहा कि जिला मुख्यालय की स्थिति ऐसी होनी चाहिए कि लोग निडरता के साथ देर शाम निकल सके। उनमें किसी किस्म का भय ना रहे। विशेषकर महिला, बालिका या लड़की शाम को समान लेने निकलती है या घर वापस लौटती है तो उनके मन में अपने आप में सुरक्षित महसूस कर सके। एसपी लगभग 2 घंटे तक नगर के प्रमुख तिरंगा चौराहे पर बैठकर यातायात समीक्षा करते रहे। इस अवसर पर उन्होंने कुछ दुकानदारों के साथी राहगीरों से भी चर्चा की। साथ ही अन्य जनों से चर्चा कर यहां होने वाली दिक्कत और परेशानियों का भी एहसास किया। उन्होंने चर्चा में बताया कि जल्द ही वे इन समस्याओं को लेकर पुलिस अधिकारियों बैठक ली जाएगी।  उन्होंने कहा कि उनका विशेष मकसद यह है कि नगर की महिला, लड़कियां व बच्चियों, जो शाम, रात को घर से बाहर निकलती है उनमें सुरक्षा की भावना अपने आप में बनी रहे। पुलिस जवानों की उपस्थिति उनमेँ सुरक्षा भावना रहे कि वे सुरक्षित है। उन्होंने कहा कि डर का माहौल नहीं रहना चाहिए और यह उनका मुख्य उद्देश्य है।

 

11-12-2019
सॉफ्टवेयर से लिमिट हटाने की मांग करते हुए किसानों ने किया नेशनल हाईवे पर चक्काजाम

गरियाबंद। 2 दिन पूर्व किसानों के द्वारा राज्य शासन को दिए गए अल्टीमेटम के अनुरूप बुधवार को सैकड़ों की संख्या में गरियाबंद क्षेत्र के किसान आदिवासी समाज भवन मजरकट्टा के सामने एकत्र हुए और उन्होंने चक्का जाम करने का निर्णय लिया। इसके अनुरूप वे सड़क पर चक्का जाम कर रहे हैं। इस अवसर पर दोनों और गाड़ियों की कतार लग गई है और किसान सड़कों पर बैठकर शासन प्रशासन के विरुद्ध जमकर नारेबाजी कर रहे हैं। इस मुद्दे को लेकर शासन और प्रशासन दोनों मौके पर पहुंच गए हैं। जहां थाना प्रभारी यहां पर मौके पर पहुंचे लोगों को सड़क से हटाने का प्रयास कर रहे हैं। गरियाबंद के तहसीलदार राकेश साहू और एसडीएम चौरसिया लगातार किसानों को समझाइश दे रहे हैं। वहीं किसानों की मांग है कि उनके धान खरीदी का कोटे में कटौती की गई है उसे बंद किया जाए और यथावत पूरा का पूरा धान खरीदा जाए वहीं अधिकारी उन्हें लगातार समझाने का प्रयास कर रहे हैं कि जो होगा वह किसानों के हितो में होगा। 

किसानों के हितो से हटकर कुछ भी नहीं होगा किसानों की पूर्व धान खरीदा जाएगा लेकिन किसानों का कहना है कि कमप्यूटर मे लगाई गई रोक को तत्काल हटाया जाए। इसके बिना वे सड़क से नहीं उठेंगे वहीं दूसरी ओर यह भी देखने को मिल रहा है कि दोनों ओर वाहनों की कतार लग गई है और आवागमन अवरुद्ध हो गया है जिसे लेकर यात्री परेशान है। किसान लगातार अपनी मांगों पर अड़े हुए हैं। वहीं प्रशासनिक अमला भी इस बात को लेकर परेशान हैं की नगरीय  निकाय क्षेत्र होने के करण आचार संहिता लागू है जिसे लेकर वह भी परेशान है। ऐसी स्थिति में वे क्या करे वह लगातार किसानों को समझाइश देने का प्रयास कर रहे हैं। लेकिन किसानों का कहना है कि धान खरीदी ना होने से उनके रोजी रोटी खत्म हो गई हैं। उनके बच्चों का खाने पीने और लालन-पालन में भी काफी दिक्कतें आ रही है। किसान इस मुद्दे पर अब सड़क की लड़ाई लड़ने की बात कह रहे हैं। वहीं पुलिस व एस डी एम चौरसिया समझाने का प्रयास कर रहे हैं। 

 

05-12-2019
Breaking : हाथियों की दहशत से ग्रामीण घर छोड़कर आश्रम की छत पर गुजार रहे हैं रात  

गरियाबंद। जिले के ओढ़ और हथोड़ाडीही क्षेत्र में गुरुवार को हाथियों के उत्पात से ग्रामीणों में दहशत रही। हाथियों ने स्कूलों में घुसकर तोड़फोड़ की। शाला के शौचालय और छत को बुरी तरह क्षतिग्रस्त कर दिया। हाथियों का उत्पात इतने में ही शांत नहीं हुआ और पानी की टंकी को गिरा कर तोड़ा दिया। जानकारी के अनुसार हाथियों का दल रात को गांव में पहुंचा था। इससे इलाके में भारी दहशत का माहौल है और गांव वाले घर छोड़कर आश्रम की छत पर रात गुजार रहे हैं। बताया जा रहा है कि हाथियों के झुंड से एक हाथी का बच्चा बिछड़ा गया है। इस घटना से वन विभाग चिंतित है।

 

03-12-2019
सेवानिवृत्त डिप्टी कलेक्टर और तहसीलदार को दी गई विदाई

गरियाबंद। कलेक्टर श्याम धावड़े की मौजूदगी में आज कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में सेवानिवृत्त डिप्टी कलेक्टर बीआर साहू और तहसीलदार राजिम जीपी गोस्वामी को जिला प्रशासन की तरफ  से विदाई दी गई। कलेक्टर धावड़े ने अपने सम्बोधन में कहा कि सेवानिवृत्त साहू और गोस्वामी जिला प्रशासन के अच्छे अधिकारियों में से है। शासकीय सेवक के रूप में हर अधिकारी-कर्मचारियों के लिए यह अवसर आता है। ऐसे में सभी का दायित्व है कि वे जनता की अपेक्षाओं पर खरे उतरें।  विदाई समारोह में एसडीएम जेआर चौरसिया, जिला कोषालय अधिकारी केके दुबे, जिला पंचायत के अतिरिक्त कार्यपालन अधिकारी एसआर सिदार ने भी अपने विचार व्यक्त किये। सेवानिवृत्त डिप्टी कलेक्टर साहू ने अपने बीते कार्यकालों के अनुभव साझा करते हुए जनता के हित में किए प्राथमिकता वाले कार्यों से अधिकारियों को अवगत कराया। कलेक्टर ने अधिकारियों की ओर से दोनों को शॉल, श्रीफल, पुष्पगुच्छ और प्रतीक चिन्ह भेंट किया। इस अवसर समस्त विभाग के जिला प्रमुख अधिकारी उपस्थित थे।

 

03-12-2019
भाजपा पार्षद प्रत्याशियों ने सामूहिक रूप से लिया नामांकन पत्र

गरियाबंद। नगर पालिका निर्वाचन के लिए कल जहां भारतीय जनता पार्टी ने अपने सभी 15 वार्ड के अधिकृत प्रत्याशियों के नामों की सूची जारी की थी वहीं आज सभी 15 पार्षद प्रत्याशियों ने एक साथ जिला कार्यालय पहुंचकर नामांकन फार्म प्राप्त किया। इस अवसर पर भाजपा में एकजुटता दिखाई दे रही थी जिसे लेकर लोगों में चर्चा रही। वार्ड क्रमांक एक से परस देवांगन, दो से रेखा भोसले, तीन से प्रकाश यादव, चार से महेश्वरी तिरपुड़े, पांच से गुलेश्वरी ठाकुर, छह से पूर्णिमा तिवारी, सात से विष्णु मरकाम, आठ से देवकरण मरकाम, नौ से रेणुका साहू, दस से सुरेन्द्र सोनटेके, ग्यारह से रिखीराम यादव, बारह से गफ्फार मेमन, तेरह से वंशगोपाल सिन्हा, चौदह से आसिफ मेमन, पंद्रह से मुकेश दासवानी ने नामांकन पत्र खरीदा। कुछ पार्षद प्रत्याशी कल नामांकन प्राप्त करेंगे।  इससे पूर्व भी चार अन्य लोगों ने नामांकन पत्र प्राप्त कर लिया है। इस तरह गरियाबंद नगरपालिका के पार्षद पद हेतु अब तक लगभग 20 नामांकन फार्म प्राप्त किए जा चुके हैं। वहीं गरियाबंद कांग्रेस की ओर से अधिकृत तौर पर प्रत्याशी घोषित न होने के चलते नामांकन फार्म नहीं भरे गए हैं। ऐसा अनुमान है कि देर रात या फिर कल अधिकृत प्रत्याशियों की घोषणा कर दी जाएगी। इस तरह देर होने से नगर में तरह-तरह के चर्चे हैं।  ऐसा माना जा रहा है कि अधिकृत प्रत्याशियों के नामों की मुहर अमितेष शुक्ला के हाथों ही लगेगी। अगर कांग्रेस में रस्साकशी की स्थिति नहीं होगी तो मुकाबला जबरदस्त देखने को मिल सकता है क्योंकि कांग्रेस को जहां सत्ता का लाभ मिलेगा वहीं भाजपा को संगठन का लाभ मिलता दिख रहा है। दरअसल यह लड़ाई पार्षद की न होकर नगर पालिका के अध्यक्ष पद की है। इसलिए सबकी निगाहें टिकी हुई हैं। इस बार अध्यक्ष बनने के लिए अनेक तरह के गुणा भाग भी होने की संभावना है। यह भी तय है कि ऐन मौके  पर जोगी कांग्रेस के लोग भी दांव आजमाएंगे और इस संघर्ष को त्रिकोण करेंगे।  
 

03-12-2019
गांव में घुसकर हाथी तोड़ने  लगा घर और शौचालय, जान बचाने छतों पर चढ़े ग्रामीण

गरियाबंद। गरियाबंद के ओडग़ांव में एक हाथी का ऐसा आतंक देखने को मिला जिसे देखकर लोगों के रोंगटे खड़े हो गए। गांव में घुसे हाथी ने लोगों के घर और शौचालय को तोड़ दिया। लोगों को दौड़ाया भी। यहां तक कि छत पर चढ़कर जान बचाने का प्रयास कर रहे लोगों पर हमला भी कर दिया। हाथी बेहद आक्रोशित था। बता दें कि बीते सालभर में छत्तीसगढ़ में हाथियों ने कई नए इलाकों में अपनी पैठ बना ली है। गरियाबंद जिला हाथियों का सबसे नया ठिकाना बनकर सामने आया है। यहां  हाथियों का कोई पुराना इतिहास नहीं रहा है मगर इस साल 35 हाथियों का दल जिले के उदंती टाइगर रिजर्व के आमामोरा इलाके में पहुंचा। 10 नवंबर को यह दल गरियाबंद जिले में प्रवेश किया और 22 नवंबर को जब यह दल वापस गया तो इनका एक बीमार बच्चा यहां छूट गया था जिसका इलाज वन विभाग रायपुर के चिकित्सकों एवं अंबिकापुर के महावत से करवा रहा था। 70 किलोमीटर दूर ओडि़शा के जंगलों से यह दल अपने बिछड़े बच्चे को लेने वापस ओडग़ांव पहुंचा। इलाज की सुविधा के लिए वन विभाग हाथी के बच्चे को गांव ले आया था। यह देखकर बच्चे को ढूंढने पहुंचा हाथियों का दल भड़क उठा और बच्चे की मां पूरे गांव में आतंक मचाने लगी। घरों को तोड़ा, शौचालय तोड़ा। इसके बाद जब बच्चा मिल गया तब कुछ शांत हुई। 35 हाथियों का यह दल अभी भी गांव के आसपास डेरा जमाया हुआ है। फसल खाने सुबह गांव पहुंच जाता है। लोगों में  भारी दहशत है। लोग बच्चों को स्कूल अकेले भेजने से डर रहे हैं। वन विभाग हालांकि प्रयासरत है कि लोग और हाथियों को एक दूसरे से दूर रखें किंतु यह इलाका ऐसा है जहां लोगों का जनजीवन 80 प्रतिशत वनों पर ही निर्भर है। ऐसे में अगर लोग जंगल नहीं जाएंगे तो उनके सामने रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो जाएगा वही अगर जंगल जाते हैं तो हाथी के हमले का डर बना रहेगा। इस संबंध में उदंती टाइगर प्रोजेक्ट के सहायक संचालक विष्णु का कहना है कि हम गांववालों को हाथी के मूवमेंट वाले इलाके की जानकारी उपलब्ध करा रहे हैं। ग्रामीणों को सावधान रहने, रंगीन कपड़े न पहनने और हाथी दिखने पर सेल्फी लेने का प्रयास न करने के निर्देश दिए हैं। अकेले जंगल नहीं जाने भी कहा गया है। इसके अलावा लोगों में हाथी के प्रति आक्रोश न पनपे, इसके लिए हम तत्काल मुआवजे का प्रकरण बना रहे हैं। अब तक 46 लोगों को 300000 रुपए का मुआवजा बांटा जा चुका है। बीते दो दिनों में हुए नुकसान का आंकलन करने आज फिर रेंजर गए हुए हैं। घर, शौचालय और बाडिय़ो को हुए नुकसान के मुआवजे का आज प्रकरण बनाया जाएगा।

 

02-12-2019
गरियाबंद, छुरा, फिंगेश्वर और राजिम के लिए भाजपा प्रत्याशियों की घोषणा

गरियाबंद। भारतीय जनता पार्टी गरियाबंद द्वारा प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी की अनुमति से नगर निकाय चुनाव हेतु नगर पालिका परिषद गरियाबंद तथा नगर पंचायत राजिम, फिंगेश्वर एवं छुरा के लिए जिला चयन समिति द्वारा सर्वसम्मति से चयनित अधिकृत पार्षद प्रत्याशियों के सूची जिला अध्यक्ष राजेश साहू ने जारी की गई है। गरियाबंद नगर पालिका के लिए वार्ड क्रमांक एक से परस देवांगन, दो से रेखा भोसले, तीन से प्रकाश यादव, चार से महेश्वरी तिरपुड़े, पांच से गुलेश्वरी ठाकुर, छह से पूर्णिमा तिवारी, सात से विष्णु मरकाम, आठ से देवकरण मरकाम, नौ से  रेणुका साहू, दस से सुरेन्द्र सोनटेके, ग्यारह से रिखीराम यादव, बारह से गफ्फार मेमन, तेरह से वंशगोपाल सिन्हा, चौदह से आसिफ मेमन, पंद्रह से मुकेश दासवानी को अधिकृत प्रत्याशी घोषित किया गया है। इसी प्रकार राजिम नगर पंचायत के लिए वार्ड क्रमांक एक से पूर्णिमा चंद्राकर, दो से लेखा महोबिया, चार से महेश यादव, पांच से लोकेश्वरी यादव, छह से कपिल धीवर, सात से आशीष शिंदे, आठ से  छाया राही, नौ से लक्ष्मीनारायण निषाद, दस से सुनील श्रीवास्तव, ग्यारह से धनेश सोनकर, बारह से ओमप्रकाश आडिल, तेरह से धनिया बाई गायकवाड़, चौदह से निर्मला साहू, पंद्रह से मनीषा साहू को अधिकृत प्रत्याशी घोषित किया गया है। फिंगेश्वर नगर पंचायत के लिए वार्ड क्रमांक एक से अरुण कुमार साहू, दो से भीषम साहू, तीन से पुरण निषाद, चार से सहदेव सोनी, पांच से जगदीश यदु, छह से  सुमन श्रीवास, सात से मनीष हरित, आठ से शत्रुधन साहू, नौ से ऋषिकेश सुर्यवंशी, दस से मधु बंजारे, ग्यारह से पन्नालाल बंजारे, बारह से  हेमा सोनी, तेरह से मंजू हरित, चौदह से कमलेश कश्यप, पंद्रह र्से  रंभा ध्रुव को अधिकृत प्रत्याशी घोषित किया गया है। छुरा नगर पंचायत के लिए वार्ड क्रमांक एक से भारती सोनी, दो से बलराज पटेल, तीन से गैंदराम ध्रुव, चार से  चित्ररेखा ध्रुव, पांच से थानसिंग निषाद, छह से देवमती साहू, सात से हेमंत कंसारी, आठ से मीना चंद्राकर, नौ से रामलाल कुलदीप, दस से रजनी लहरे, ग्यारह से अजय दीक्षित, बारह से दिनेश सचदेव, तेरह से खोमन चंद्राकर, चौदह से ऋतुराज शाह तथा पंद्रह से भोलेशंकर जायसवाल को अधिकृत प्रत्याशी घोषित किया गया है।

फारूक मेमन की रिपोर्ट

02-12-2019
तेज रफ्तार कार अनियंत्रित होकर टकराई पेंड़ से, एक की मौत, दो की हालत गंभीर

गरियाबंद। तेज रफ्तार कार अनियंत्रित होकर पेड़ से जा टकराई, जिससे कार में सवार एक व्यक्ति की मौके पर ही मौत हो गई और दो अन्य व्यक्ति गम्भीर रूप से घायल है,जिनका इलाज चल रहा है। यह सड़क हादसा नेशनल हाइवे के देवभोग धर्मगढ़ मार्ग के करचिया के पास हुआ। जहां धर्मागढ़ से देवभोग आते समय यह दर्दनाक सड़क हादसा हुआ है। थाना प्रभारी सत्येन्द्र श्याम ने बताया कि दुर्घटना में देवभोग बस्ती पारा निवासी मनोज शर्मा की मौत मौके पर हो गई। ये देवभोग बाईओ प्रदीप शर्मा के भाई है, जो पिछ्ले 5 वर्षों से बाईओ ऑफिस में कम्प्यूटर ऑपरेटर के पद पर कार्यरत थे। घटना में अधिवक्ता सुशील दौरा व पोस्ट ऑफिस के क्लर्क अनुज नेहरा दुर्घटना में गम्भीर रूप से घायल हो गए है, जिनका हायर सेंटर में उपचार जारी है,फिलहाल पुलिस घटना की जांच कर रही है। मौके पर पहुंचे आरक्षक चूड़ामणि देवता द्वारा मृतक की शव स्वयं की कार में रख कर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया। इसमें अस्पताल प्रबंधन की ओर से घोर लापरवाही एवं खामियां नजर आयी। जहां अस्पताल पहुंचते ही मृतक एवं अन्य घायल 2 व्यक्ति को रखने के लिए स्ट्रेचर खंगाला जा रहा था, एवं आधे घंटे बाद स्ट्रेचर की व्यवस्था थाना प्रभारी देवभोग द्वारा कराई गई। तब तक शव एवं घायलों को जमीन पर लिटाया गया था। इतने बड़े प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में इस प्रकार की अव्यवस्था देखने को मिला। इस प्रकार की अव्यवस्था को देखते हुए अस्पताल प्रबंधन पर सवालिया निशान उठ खड़ा होता हैं। आखिर कार हॉस्पिटल के लिए विभिन्न प्रकार की सुव्यवस्था के लिए दी गई राशि का उपयोग होता कहा हैं।

01-12-2019
केंद्रों में पहले दिन देर से शुरू हुई धान खरीदी

गरियाबंद। 1 दिसंबर से गरियाबंद के 62 धान खरीदी केंद्रों में धान खरीदी प्रारंभ की गई, जिसमें से कुछ धान खरीदी केंद्रों में खरीदी देर से शुरू हुई। वहीं कुछ ऐसे धान खरीदी केंद्र भी रहे, जहां पर खरीदी संभव नहीं हो पाई। कुछ नए धान खरीदी केंद्र का शुभारंभ किया गया वहां समुचित व्यवस्था नहीं होने के चलते धान खरीदी में दिक्कतें आई। गरियाबंद में प्रातः 10 बजे से धान खरीदी प्रारंभ किया जाना था किंतु और व्यवस्थाओं एवं टोकन न मिलने के चलते किसानों का धान 12 बजे तक मंडी पहुंच पाया और 1 बजे धान खरीदी प्रारंभ हो पाई। इस बीच किसानों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। किसान धान जल्दी खरीदने की मांग करते रहे। दरअसल नए केंद्र खुल जाने के चलते उच्च स्तर पर कंप्यूटर को कमांड नहीं दिया गया था, जिसके चलते लगातार परेशानी आती रही। अब तक सप्ताह में 2 दिन खरीदी नहीं होती थी किंतु आज पहला दिन होने के कारण रविवार को भी धान खरीदी का कार्य प्रारंभ किया गया और सुबह 10 बजे टोकन कटने के बाद भी धान की बंपर आवक आज देखी गई। इस बार धान खरीदी तेजी से होगा और किसानों को राहत मिल सकेगी। आज धान खरीदी केंद्र में प्रमुख रूप से सेवकराम पुजारी, मुरलीधर सिन्हा, चंद्रभूषण चौहान, रितिक सिन्हा, वीरू यादव,राजेश साहू, पुनूराम कुटारे, हेमलाल सिन्हा आदि उपस्थित थे।

 

30-11-2019
मवेशियों पर कहर बरपाने वाली खतरनाक बीमारी का छत्तीसगढ़ में प्रवेश

गरियाबंद। केरला झारखंड और ओडिशा के मवेशियों पर कहर बरपाने के बाद अब लंपी नामक खतरनाक बीमारी छत्तीसगढ़ में प्रवेश कर चुकी है। ओडिशा से लगे गरियाबंद जिले के गावों में मवेशियों को इस बीमारी ने अपना शिकार बनाया है। खास बात यह है कि एक से दूसरे मवेशी में फैलने वाली इस बीमारी का पता तब चला जब मीडिया ने इसकी खबर चलाई और रायपुर के अधिकारी जांच के लिए पहुंचे। रायपुर के वरिष्ठ पशु चिकित्सक ने जहां बीमार मवेशियों को दूसरों से अलग रखने के निर्देश दिए हैं वहीं केंद्र सरकार पहले ही इस संक्रामक बीमारी को लेकर एडवाइजरी जारी कर चुकी है।
रायपुर से पहुंची पशु चिकित्सकों की टीम ने इसकी पुष्टि की है। डॉक्टरों ने पशुओं में फैली बीमारी का नाम लंपी बताया है। बीमारी के बारे में अधिक जानकारी देते हुए डॉक्टरों ने बताया कि ये बीमारी झारखंड, ओडिसा और केरला में अब तक अपने पैर पसार चुकी है। भारत सरकार द्वारा बीमारी को लेकर स्पेशल एडवाईजरी जारी की गई है, जिसका पालन छत्तीसगढ़ में भी गंभीरता से किया जा रहा है। डॉक्टरों ने छत्तीसगढ में ये बीमारी ओडिसा से आने की बात कही है। जिले के दौरे पर पहुंचे डॉक्टरों ने प्रभावित गांवो का दौरा किया और पीड़ित पशुओं का उपचार किया, साथ ही कई पीडित पशुओं के सैंपल भी लिये, जिसे जॉच के लिए राज्य और राष्ट्रीय प्रयोगशालाओं में भेजा जायेगा। चिकित्सको ने किसानों को पीड़ित पशु अन्य पशुओं से अलग रखने और उनका सही उपचार कराने की सलाह दी है। साथ ही स्थिति नियंत्रण में होने का दावा भी किया है। गौरतलब है कि ओडिसा सीमा से लगे गरियाबंद जिले के मैनपुर और देवभोग विकासखंड के दर्जनो गांवो में ये बीमारी फैल चुकी है और सैंकडो पशु इसकी चपेट में आ चुके हैं।

 

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804