GLIBS
16-01-2021
नक्सलियों ने पुल निर्माण से पहले टेस्टिंग ड्रिलिंग मशीन को किया आग के हवाले

रायपुर/बीजापुर। जिले के गंगालूर थाना क्षेत्र अंर्तगत चेरपाल-पदेड़ा नदी में पुल निर्माण के लिए दो दिन पूर्व पुल निर्माण से पहले टेस्टिंग के लिए ड्रिलिंग का काम चल रहा था। ड्रिलिंग मशीनों व अन्य सामग्रियों में नक्सलियों ने आगजनी की घटना को अंजाम दिया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार गंगालूर मार्ग के चेरपाल-पदेड़ा नदी में पुल निर्माण से पहले टेस्टींग के लिए ड्रिलिंग का काम चल रहा था। शुक्रवार को नक्सलियों ने ड्रिलिंग मशीनों में आग लगा दी। नक्सली निर्माण व विकास कार्यों के विरोधी रहे हैं। सड़क व पुल निर्माण में लगी मशीनरियों में पहले भी आगजनी की घटना को नक्सलियों ने अंजाम दिया जाता रहा है। बीजापुर एसपी कमलोचन कश्यप ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि ड्रिलिंग मशीन के डीजल पंप को नक्सलियों ने जलाने की सूचना मिली है।

24-10-2020
बारिश से गंगालूर पंहुच मार्ग का पुल हुआ क्षतिग्रस्त

रायपुर/बीजापुर। जिला मुख्यालय को गंगालूर से जोड़ने वाला पुल बारिश के दौरान क्षतिग्रस्त हो गया। इसके कारण सरकारी राशन की दुकानों तक वाहन नहीं पहुंच पा रहे हैं। उल्लेखनिय है कि वर्ष 2013 में पंचायत ने इस पुल का निर्माण कराया था। इस वर्ष प्रदेश में सबसे अधिक बारिश बीजापुर में ही हुई, जिसके कारण पुल क्षतिग्रस्त हो गया। बीजापुर के गंगालूर इलाके में एक पुलिस थाना है। इसके अलावा सीआरपीएफ और एसटीएफ कैंप भी है। जिला पंचायत सदस्य बी पुष्पा राव ने बताया कि सामान्य सभा की बैठक में गंगालूर पहुंच मार्ग को जोड़ने वाले दो पुलों को का मुद्दा उठाया था, पर संतोषजनक जवाब नहीं मिला है।

07-09-2020
आतंकियों के मंसूबों को सुरक्षाबलों ने किया नाकाम, पुल के नीचे लगाई गई आईईडी को किया निष्क्रिय

जम्मूः सुरक्षाबलों ने सैन्य काफिले को निशाना बनाने के लिए जिला कुपवाड़ा में बिछाई गई आइईडी को नाकाम बना दिया। सेना के बम निष्क्रिय दस्ते न सुरक्षित ढंग से आइईडी को नाकाम बना दिया। इस दौरान सोपोर-कुपवाड़ा हाइवे पर घंटों वाहनों की आवाजाही बंद रखी गई। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार आतंकवादियों ने यह आइईडी सोपोर-कुपवाड़ा के बीच एक पुल के नीचे लगाई हुई थी। सीआरपीएफ और सेना की रोड ओपनिंग पार्टी जब वहां से गुजरी तो उन्हें इस आइईडी के बारे में पता चला। हाइवे पर वाहनों की आवाजाही को तुरंत बंद कर सुरक्षाबलों ने तुरंत बम निष्क्रिय दस्ते को सूचित किया। मौके पर पहुंचे दस्ते ने सुरक्षित ढंग से आइईडी को पुल के नीचे से हटाया और दूर ले जाकर उसे निष्क्रिय बना दिया।
एसएसपी कुपवाड़ा ने बताया कि सोपोर-कुपवाड़ा रोड मार्ग पर जिस पुल के नीचे यह आइईडी लगाई गई थी यहां से अकसर सैन्य वाहन गुजरते हैं। इससे यह साफ होता है कि आतंकवादियों ने सैन्य काफिले को नुकसान पहुंचाने के लिए ही यह आइईडी बिछाई थी। 

 

 

19-08-2020
दोस्तों के साथ बालक गया था नदी में नहाने, तेज बहाव में बह गया, ढूंढ़ने में जुटी पुलिस

कवर्धा। सकरी नदी पुल के ऊपर से पानी बहने लगा। कई घंटों तक मार्ग बाधित रहा। वही बुधवार की दोपहर नदी में नहाते वक्त एक बालक पानी में बह गया। इससे अफरा तफरी मच गई। मिली जानकारी अनुसार रंजीत उमरा उम्र 10 वर्ष नहाने के लिए दोस्तों के साथ नदी में गया था,जहां तेज बहाब में पानी में बह गया। इसकी जानकारी मिलने पर परिवार के लोग ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस मौके पर पहुंच कर बालक को ढूढ़ने का काम शुरू कर दिया है।

 

01-08-2020
Video: नहीं बना पुल, प्रसव पीड़िता को परिजनों ने कंधों पर लादकर पार कराई नदी

अंबिकापुर। सरगुजा जिले के मैनपाट से एक ऐसी तस्वीर सामने आई है, जहाँ जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की कमियों को बताने के लिए काफी  है। मैनपाट के छोर में बसा कदनई गांव जहां की आबादी महज 1000 है। इस गांव में राष्ट्रपति के दत्तक पुत्र माने जाने वाले कोरवा जनजाति के लोग निवासरत है। रविवार को एक कोरवा महिला को प्रसव पीड़ा हुई। उसके बाद पीड़िता के परिजनों ने झेलेगी में बैठा कर नदी पार करवाया। नदी के उस पार स्वास्थ्य विभाग के वाहन से पीड़िता को शांतिपारा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पहुँचाया गया। यहां  प्रसूता का इलाज चल रहा है।  जिले के कलेक्टर ने बताया कि मैनपाट के कुछ इलाके पहुँचविहीन है, जिसे दुरुस्त करने की कोशिश की जा रही है। बहरहाल गांव के लोगों ने जिला प्रशासन को कई बार जानकारी दी है लेकिन आज तक पुल नही बन पाया है।

 

27-07-2020
वर्षो बाद भी नदी पर नहीं बन पुल, बरसात के दिनों में ग्रामपंचायत से कट जाता है आश्रित ग्राम

अंबिकापुर। लखनपुर जनपद अंतर्गत एक आश्रित ग्राम ऐसा भी है जो बरसात के मौसम में एक टापू के समान अलग थलग नजर आता है। इस आश्रित ग्राम के निवासियों का संपर्क अपने ही संबंधित ग्राम पंचायत से पूरी तरह टूट जाता है। मामला है लखनपुर विकासखंड अंतर्गत सुदूर वनांचल क्षेत्र तिरकेला के आश्रित ग्राम ढोंगाडाँड़ का। इस आश्रित ग्राम के लोगों को बरसात के दिनों में मुख्य पंचायत से अलग जीवन बसर करना पड़ता है। दरअसल हकीकत यह भी है कि तिरकेला और इस आश्रित ग्राम के मध्य से एक नदी बहती है,जहां नदी पर पुल निर्माण नहीं होने से साधन अभाव में बरसात के दिनों में इस आश्रित ग्राम का संपर्क अपने संबंधित ग्राम से पूरी तरह टूट जाता है। इस आश्रित ग्राम में 65 घर मौजूद हैं तथा इस इन घरों में बड़ी संख्या में बूढ़े,बच्चे,महिलाएं निवास करती हैं। नदी का जलस्तर बढ़ने से इस ग्राम के लोगों को अपने संबंधित ग्राम तिरकेला जाने के लिए मशक्कत करना पड़ता है।

ग्राम पंचायत तिरकेला के इस आश्रित ग्राम में न तो विद्युत व्यवस्था सुचारू हो पाई है और न ही शुद्ध पेयजल ही सुलभ हो पाया है। यहां शुद्ध पेयजल के लिए एक हैंडपम्प है,जो कि अब खराब स्थिति में है। ग्रामवासियो को तिरकेला नदी का पानी पीने के लिए उपयोग करना पड़ रहा है। बरसात के दिनों में किसी आपातकालीन स्थिति में अस्पताल तक पहुंचने के लिए भी इन्हें काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। कुन्नी का प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र तथा लखनपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र दोनों ही इस स्थान से काफी दूरी पर स्थित है। ढ़ोंगाडाँड़ के निवासियों ने बताया कि नदी पर पुल बनाये जाने कई बार जनप्रतिनिधियों सहित सरपंच सचिव से मांग की गई थी परंतु आज तक मांग पूरी नही हो पाई है। ग्रामवासियो ने इस संबंध में शासन प्रशासन का ध्यानाकर्षण कराते हुए नदी पर पुल बनाये जाने सहित विभिन्न व्यवस्थाओं को दुरुस्त कराए जाने की मांग की है ताकि भविष्य में उन्हें इस तरह की किसी परेशानी का सामना न करना पड़े।

 

23-07-2020
रेत से भरा वाहन गिरा पुल के नीचे, बाल-बाल बचे चालक व सहयोगी

कांकेर। ग्राम कोरर के जंजालीपारा स्थित पुल से रेत से भरा एक हाइवा अनियंत्रित हो कर नीचे गिर गया। इसमें चालक एवं अन्य बच गए,जिससे एक बड़ा हादसा होते होते टल गया किन्तु पुल क्षतिग्रस्त हो गया। प्राप्त जानकारी के अनुसार महाराष्ट्र पासिंग की हाइवा एमएच 34, बिजी 4946 माकड़ी से रेत भर कर गढ़चिरौली की ओर जा रहा था,जो कोरर के जंजालीपारा पुल से नीचे गिर कर दुर्घटनाग्रस्त हो गया। हाईवा को चालक विनोद मारोती तूमड़े चला रहा था,जिसके साथ 2 अन्य सहचालक भी थे। सहचालकों को मामूली चोटें आई है। रेत परिवहनकर्ता चालक के पास पिटपास था,जिसके आधार पर वह रेत महाराष्ट्र के गढ़चिरौली ले कर जा रहा था। ज्ञात हो कि जंजालीपारा का यह पुल बहुत पुराना एवं संकरा है, जो पूर्व में आए बाढ़ में भी क्षतिग्रस्त हो चुका है। सड़क मार्ग के नवीन निर्माण के बाद भी इस पुल को आज पर्यन्त तक नहीं बनाया है। कई सड़क दुर्घटना यहां पर हो चुकी है,जिसके बाद भी इस ओर विभाग द्वारा ध्यान नहीं दिया जा रहा।

 

12-07-2020
अनियंत्रित होकर पुल से टकराई बाइक, जवान सहित पत्नी की मौत, बच्ची घायल

कांकेर। चारामा के पास बाबू कोहका में बाइक अनियंत्रित होकर पुल से टकरा गई। इससे बाइक में सवार पुलिस जवान व उसकी पत्नी की मौत हो गयी है। वहीं 5 साल की बच्ची घायल हुई है। बच्ची का ईलाज चारामा अस्पताल में जारी है। प्राप्त जानकारी के अनुसार नेशनल हाइवे 30 पर सड़क दुर्घटना में लोहत्तर थाना में पदस्थ एक पुलिस जवान सहित पत्नी की मौत हो गयी है। वहीं 5 साल की बच्ची घायल हो गयी है। घायल बच्ची को चारामा अस्पताल लाया गया है जहाँ बच्ची का उपचार जारी है।
बताया जा रहा पुलिस जवान सुकदेव मरकाम अपनी पत्नी और बच्चे के साथ कांकेर से चारामा की ओर आ रहे थे। तभी बाबू कोहका के पास बाइक अनियंत्रित होकर पुल से जा टकराई। इससे तीनों पुल के नीचे जा गिरे। नीचे पानी होने की वजह से जवान और उसकी पत्नी की मौके पर ही मौत हो गयी। वहीं बच्ची को ग्रामीणों ने पानी से बाहर निकाल कर चारामा अस्पताल लाया जहां बच्ची का इलाज जारी है।

25-06-2020
तेज रफ्तार बाइक अनियंत्रित होकर टकराई पुल से, एक की मौत, दूसरा गम्भीर

कांकेर। दुधावा थाना क्षेत्र के ग्राम घोटियावही के पास तेज रफ्तार बाईक अनियंत्रित होकर पुल से जा टकराई जिससे बाईक चालक की मौके पर ही मौत हो गई। दूसरा गंभीर रूप से घायल है। घायल को उपस्वास्थ्य केन्द्र सारवंडी अस्पताल में भर्ती किया गया है। मामला दुधावा चौकी क्षेत्र का है जहां सांकरा निवासी रविशंकर साहू अपने साथी अजय यादव के साथ घोटिया मार्ग से सुबह करीबन 6 बजे अपने घर साकरा जा रहे थे। बाइक की गति तेज होने की वजह से बाइक  नियंत्रित होकर पुल से जा टकराई। बता दें कि बारिश के कारण पुल के नीचे पानी भरा हुआ था जिससे दोनों पुल के नीचे पानी में गिर गए जिसकी वजह से चालक रविशंकर साहू की मौके पर ही मौत हो गई। वही उसका साथी घायल हो गया है, जिसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। सूचना मिलते ही दुधावा पुलिस घटना स्थल पर पहुंची और शव को अपने कब्जे में लेकर आगे की कार्यवाही की जा रही है।

09-05-2020
सिल्ली और मन्धरागुडी को जोड़ने वाला पुल टूटा,भाजपा सरकार में बना था पुल,कांग्रेस ने की कार्रवाई की मांग

रायपुर। सिल्ली और मंधरागुड़ी को जोड़ने वाला पुल आज शाम टूट गया सौभाग्य से लॉक डाउन होने के कारण यातायात नहीं था अन्यथा गंभीर दुर्घटना हो सकती थी। सात आठ साल पहले बना यह पुल आज शाम अचानक टूटा। भाजपा सरकार के कार्यकाल में बने इस पुल के टूटने की खबर मिलते ही कांग्रेस की एक टीम वहां पहुंची। कांग्रेस नेता डॉ. चौलेश्वर चंद्राकर ने पुल के टूटने के लिए तत्कालीन डॉ. रमन सिंह की सरकार को दोषी ठहराया है। उन्होंने आरोप लगाया कि अफसरों की मिलीभगत के कारण ही पुल कमजोर बना जो आज टूट गया। डॉक्टर चौलेश्वर चंद्राकर ने इस मामले में दोषी अफसरों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है और दोषी ठेकेदार के खिलाफ जुर्म दर्ज करने की मांग की है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804