GLIBS
15-11-2018
Amit Jogi: किसानों को हथकड़ी लगवाने वालों का मीडिया स्टंट: अमित जोगी 

रायपुर । किसानों के हाथों में हथकड़ी लगवाने वाले अब हाथों में गंगा जल लेकर मीडिया के सामने स्टंट कर रहे हैं। गुरुवार को ये बातें मरवाही विधायक अमित जोगी ने कही। उन्होंने आगे कहा कि कर्नाटक में कांग्रेस की सरकार बने छह महीने से ज्यादा हो गए। आज तक किसानों का एक पैसा भी कर्ज माफ नहीं हुआ। उल्टे किसानों को राज्य सरकार नोटिस और वॉरंट भेजवाकर गिरफ्तार करवा रही है। इसको लेकर किसानों ने आंदोलन भी किया था।  वही हाल पंजाब का है। किसानों का ऋण माफ आज तक जमीनी स्तर पर लागू नही हो पाया है।

नाटकीय और ढोंगपूर्ण कार्य : अमित

अमित जोगी ने कहा कि उत्तरप्रदेश और दिल्ली से आए कांग्रेस के टूरिस्ट नेताओं का हाथ में गंगा जल लेकर कसम खाना सरासर नाटकीय और ढ़ोंगपूर्ण है। कांग्रेस के एक भी वरिष्ठ स्थानीय नेता, पदाधिकारी  या विधायक प्रत्याशी की अनुपस्थिति में कसम खाने का औचित्यहीन कृत्य केवल मीडिया अटेंशन पाने किया गया एक स्टंट मात्र है। अगर कांग्रेस में हिम्मत है तो अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष का शपथ पत्र छत्तीसगढ़ की जनता को लाकर दें।

02-11-2018
Renu Jogi : रेणु जोगी ने कोटा से भरा नामांकन, अमित जोगी सहित कार्यकर्ता रहे मौजूद

कोटा। कोटा रेणु जोगी इस बार जोगी जनता कांग्रेस की टिकट पर चुनाव लड़ेंगी। आज उन्होंने बिलासपुर में नामांकन दाखिल कर दिया। हालांकि रेणु जोगी के नाम का नामांकन फार्म पहले ही जोगी कांग्रेस की तरफ से ले लिया गया था। हालांकि उस दौरान भी रेणु जोगी इस बात से इंकार करती रही थी कि उन्हें संज्ञान में लेकर नामांकन फार्म लिया गया है। कांगेस ने कल अपनी पांचवी और आखिरी प्रत्याशियों की सूची जारी की जिसमें कोटा से रेणु जोगी की जगह विभोर सिंह को चुनाव मैदान में उतारा गया है। जिसके बाद नाराज रेणु जोगी ने कांग्रेस से अलग हटकर चुनाव लड़ने का ऐलान किया।

आज दोपहर बाद कलेक्टरेट पहुंची रेणु जोगी ने अपना नामांकन दाखिल कर दिया। रेणु जोगी के साथ उनके बेटे अमित जोगी और समर्थक मौजूद थे। इससे पहले कल ही रेणु जोगी ने कोटा से चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया था। जिसके बाद उन्होंने सोनिया गांधी को एक भावुक पत्र भी लिखा । हालांकि कल उन्होंने इस बात को साफ नहीं किया था कि वो निर्दलीय कोटा से लड़ेंगी या फिर जोगी कांग्रेस की टिकट पर लेकिन आज जोगी जनता कांग्रेस की पार्टी से नामांकन दाखिल करके सारी अटकलों पर विराम लगा दिया। रेणु जोगी अपने समर्थक और अमित जोगी के साथ कलेक्टरेट पहुंची और अपना नामांकन दाखिल किया।

02-11-2018
Amit Jogi : विधायक बनना मेरा उद्देश्य नहीं, मैं विधायक रहे बिना भी जनता का काम कर सकता हूं - अमित जोगी 

रायपुर। विधानसभा चुनाव नहीं लड़ने के उठ रहे सवालों का जवाब देते हुए मरवाही विधायक अमित जोगी ने कहा कि छत्तीसगढ़ महतारी की अस्मिता रखने और ढाई करोड़ छत्तीसगढ़वासियों की सेवा करने के लिए, केवल विधायक बनना ही आवश्यक नही है। ये काम मैं बिना विधायक रहते हुए भी करता रहा हूं और करता रहूंगा। केवल विधायक बनना मेरा कभी भी उद्देश्य नही रहा है।  

मेरा स्वार्थ मेरे छत्तीसगढ़वासियों के स्वार्थ से जुड़ा हैं। इस बार हम छत्तीसगढ़ के लोगों की सरकार बनाने जा रहे हैं। ये मायने नहीं रखता की जोगी परिवार से कितने लोग चुनाव लड़ रहे हैं। छत्तीसगढ़ ही जोगी का परिवार है।  मेरे लिए जनता की नजरों में कर्म और सेवा से उनका नायक बनना ज्यादा महत्वपूर्ण है। चुनाव तो आते जाते रहते हैं।

04-10-2018
Amit Jogi : अमित जोगी ने सीएम रमन सिंह को लिखा पत्र, कहा- डीकेएस अस्पताल में बरती गयी भारी अनियमितताएं

रायपुर। मरवाही विधायक अमित जोगी ने मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और स्वास्थ्य मंत्री अजय चंद्राकर को पत्र लिख कर डीकेएस सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में शासन-प्रशासन द्वारा बरती गयी भारी अनियमितताओं पर सवाल खड़ा किया है। पत्र में अमित जोगी ने  लिखा है कि अपने पत्र के माध्यम से वे  डी.के.एस. सुपर स्पेशलिटी अस्पताल के भवन पर किये गये अप्रत्याशित खर्च एवं अस्पताल के साजो सामान की गुणवत्ता के संदर्भ में मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री का ध्यान आकर्षित करना चाहते हैं। जोगी ने कहा कि अस्पताल के महत्वपूर्ण एवं  संवेदनशील लिनन एवं लाण्ड्री विभाग में कपड़ो की सप्लाई के काम को आउटसोर्स किया गया जबकि भण्डार क्रय अधिनियम में लीलेन कपड़ा खादी ग्रामोद्योग से ही क्रय करना होता है। मुख्यमंत्री ने इस अस्पताल का उद्घाटन 02 अक्टूबर को गाँधी जयंती के पावन अवसर पर किया, खादी ग्रामोद्योग का निर्माण आदरणीय बापू महात्मा गांधी ने ही किया था। खादी ग्रामोद्योग से कपड़े क्रय न कर आऊटसोर्सिग करना बुनकर (देवांगन) समाज के लोगो के साथ अन्याय है। इसी प्रकार लाण्ड्री संचालन के लिए 4 करोड़ रूपये का टर्न ओवर और 12 लाख रूपये की डिपाजिट की शर्त रखे जाने की वजह से छत्तीसगढ़ का धोबी समाज जिसका पैतृक व्यवसाय कपड़ों की धुलाई है, यह समाज इस प्रतिस्पर्धा में भाग लेने से वंचित रह गया क्योकि स्थानीय धोबी समाज के लोगों के पास इतनी पूंजी नहीं है।

जोगी ने आगे शासन की नीयत पर सवाल उठाते हुए कहा है कि क्या शासन छत्तीसगढ़ के परम्परागत व्यवसाय करने वाले धोबी समाज के लोगों की आर्थिक स्थिति से अंजान है? क्या छत्तीसगढ़ के लोगों को शासन अच्छी संस्थाओं में अपनी सेवाएं देते हुए नहीं देखना चाहता है? क्या राज्य सरकार को स्थानीय परंपरागत व्यवसायीयों पर भरोसा नहीं रहा है? जोगी ने आगे सवाल  किया कि इतने भारी-भरकम नियम - शर्तें रखने के पीछे सरकार की मंशा यही रही होगी कि कार्य में गुणवत्ता आये और उच्च गुणवत्ता के उपकरण अस्पताल में स्थापित हों, परन्तु उन्हें दी गयी जानकारी अनुसार अस्पताल में लाण्ड्री संचालन के लिए जो मशीन लगायी गयी है वह राजधानी के ही एक निजी अस्पताल से कंडम होने के बाद निकाली गयी कबाड़ की मशीन है जिसको इस सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में लगाया गया है। अमित जोगी ने सरकार से पूछा कि क्या यही गुणवत्ता है, जब 4 करोड़ रूपये का वार्षिक टर्न ओवर और 12 लाख रूपये की डिपाजिट निविदा की शर्तों  में रखा गया है तो लाण्ड्री संचालन का ठेका किस कंपनी को कितने रूपये में दिया गया है यह भी सार्वजनिक किया जाना चाहिए। साथ ही लाण्ड्री विभाग में कपड़े धुलाई के लिए लगायी गयी मशीन की जांच करवाई जाने की भी मांग अमित जोगी ने की ।

अमित जोगी ने कहा कि शासन द्वारा डी.के.एस. सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में बरती गयी अनियमितताओं की ओर आपका ध्यान आकर्षित करना एक नागरिक एवं जनप्रतिनिधि होने के नाते उनका कर्तव्य है।अंत में जोगी ने सरकार से आशा की है कि उपरोक्त बिंदुओं को संज्ञान में लेते हुए सरकार  त्वरित कार्यवाही करेगी ।

25-09-2018
Amit Jogi : ड्रामेबाज हैं भूपेश, जेल जाना पब्लिसिटी स्टंट: अमित जोगी
इंडियन नेशनल कांग्रेस, इंडियन नौटंकी कंपनी बनकर रह गयी है। 
09-09-2018
Video : भाजपा के नेता अपनी जुबान लंबी करने के चक्कर में अपनी सोच छोटी कर बैठते हैं : अमित जोगी

रायपुर। मरवाही में भाजपा प्रदेश कार्यकारणी के सदस्य एवं एक वरिष्ठ नेता द्वारा विधायक अमित जोगी को स्वयं बच्चा पैदा करने के बजाय मरवाही में पड़ोसियों के घर बच्चा पैदा होने पर पटाखे फोड़ने वाला बताया। वहीं पाटन में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के विधानसभा प्रभारी और उनके खास द्वारा अमित जोगी के चरित्र पर टिप्पणी की गई।

भाजपा और कांग्रेस नेताओं के इन ब्यानों पर विधायक अमित जोगी ने जवाब देते हुए कहा है कि इस तरह के निजी और बिलो द बेल्ट ब्यानबाजी, व्यक्ति की गिरी हुई और दूषित सोच का नमूना है। जोगी ने कहा कि मैं केवल इतना कहूंगा कि जिन भाजपा और कांग्रेस नेताओं ने मेरे निजी जीवन पर ब्यान दिए हैं,  वो किस तरह के संस्कार और परिवार में पले बढ़े होंगे यह दर्शाता है।

जोगी ने कहा मरवाही का हर बच्चा, मेरा बच्चा है, उनके पैदा होने पर मैं पटाखे चलाऊँ, खुशियाँ मनाऊं, इससे भाजपा नेताओं के दिलों में क्यों आग लग रही है? जोगी ने कहा कि भाजपा के नेता अपनी जुबान लंबी करने के चक्कर में अपनी सोच छोटी कर बैठते हैं और भूल जाते हैं कि भाजपा ने जब मरवाही की एक बैगा माँ को मारा था तो अमित जोगी और उसकी पत्नी ऋचा जोगी ने ही उस असहाय बच्चे को अपनाया और पाला।

अमित जोगी ने कहा कि साफ है कि, हार का डर झलक रहा है। अमित जोगी, भाजपा कांग्रेस को खल रहा है।  जोगी ने कहा कि उनके विरुद्ध एक सुनियोजित षड्यंत्र के तहत ब्यानबाजी की जा रही है। अमित जोगी को विवादास्पद बनाया रखना दोनो दलों का एक सूत्रीय कार्यक्रम है। जोगी ने कहा कि दोनों दलों के कुछ नेताओं ने जितना उन्हें रोकने का प्रयास किया वो उतना ही आगे बढ़े और आगे बढ़ते रहेंगे। मरवाही और पाटन में दोनों दलों को शिकस्त खानी पड़ेगी। हमने पूरी तैयारी कर ली है।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804