GLIBS
02-03-2021
एनएसयूआई ने ऑनलाइन  परीक्षा कराने कुलपति को सौंपा ज्ञापन,परिसर में घुमाकर अव्यवस्थाओं से कराया अवगत

रायपुर। एनएसयूआई ने मंगलवार को कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता विश्वविद्यालय के कुलपति को ज्ञापन सौंपा। कोविड-19 की परिस्थिति को देखते हुए ऑफलाइन की जगह ऑनलाइन परीक्षा कराने की मांग की। एनएसयूआई के पदाधिकारियों ने कुलपति को परिसर में घुमाकर अव्यवस्थाओं से अवगत कराया।  इस दौरान पीने के पानी वाला वाटर फिल्टर गंदा मिला। इस पानी को छात्र भी पीने को मजबूर हैं। एनएसयूआई के पदाधिकारियों ने दूषित पानी कुलपति को पीने के लिए मजबूर किया। 
प्रदेश सचिव हनी बग्गा ने कहा कि विश्वविद्यालय में ऑफलाइन परीक्षा कराई जा रही है। कोविड-19 के कारण बच्चे ऑफलाइन परीक्षा देने में डर रहे हैं। कोर्स भी कंप्लीट नहीं हुए हैं। छत्तीसगढ़ एवं अन्य राज्यों से भी विश्वविद्यालय में बच्चे पढ़ रहे हैं,आने जाने और रहने में काफी ज्यादा समस्याएं हैं। विश्वविद्यालय में जब से कुलपति बलदेव भाई शर्मा आए हैं तब से काफी ज्यादा समस्या बच्चों के सामने आ रही है। पीने के पानी से लेकर बाथरूम तक सभी जगह अव्यवस्था हो गई है। आज कुलपति को विश्वविद्यालय परिसर में घुमाकर समस्याओं से अवगत कराया गया। 1 सप्ताह के अंदर समस्याओं का निवारण करने के लिए कहा गया। समस्याओं का निवारण नहीं होने पर कुलपति के खिलाफ बड़ा आंदोलन करने की तैयारी की जा रही है। ज्ञापन देने तुषार गुहा, महासचिव अभिषेक साहू, सह सचिव भाविक पंड्या, विधानसभा अध्यक्ष निखिल मांडले, तरुण सोनी, ऋषिका ,नम्रता, गिरीश सहित अन्य मौजूद थे।

 

 

 

01-03-2021
ऑनलाइन परीक्षा की उठी मांग, एनएसयूआई ने मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

धमतरी। एनएसयूआई ने कोरोना महामारी से बचने के लिए ऑनलाइन परीक्षा करने की मांग को लेकर मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा है। एनएसयूआई के विधानसभा अध्यक्ष राकेश मौर्य के नेतृत्व में स्कूल कॉलेज छात्र के टीम आज कलेक्ट्रेट परिसर पहुंचकर ज्ञापन ज्ञापन दिया है। कोरोनावायरस से देश और प्रदेश संक्रमित संक्रमित की संख्या में फिर से इजाफा होने लगा है। इसको देखते हुए एनएसयूआई द्वारा ऑफलाइन परीक्षा लेने की मांग की है। साथ ही एनएसयूआई ने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार छात्रों के हित में अभी तक सभी निर्णय लेती आई है इस सत्र में महामारी के चलते महाविद्यालय में कक्षा आयोजित नहीं हो पाई है,जिससे छात्रों को पढ़ाई से संबंधित बहुत से परेशानियों का सामना करना पड़ा है। शिक्षा विभाग और शासन की पहल से महाविद्यालय में ऑनलाइन पढ़ाई कराया जा रहा है लेकिन ऑनलाइन कक्षा से छात्र-छात्राओं अच्छे से पढ़ाई नहीं कर पा रहे हैं। अधिकांश छात्र ऑनलाइन कक्षा से वंचित भी हो जाते हैं। ऐसे समय में छात्र छात्राएं ऑफलाइन परीक्षा के लिए पूरी तरीके से तैयार नहीं है। एनएसयूआई ने मांग करते हुए कहा की छत्तीसगढ़ शासन और शिक्षा विभाग छात्र हित निर्णय लेकर ऑफलाइन परीक्षा लिए जाए,ताकि छात्र कोरोना से सुरक्षित रह सके।

 

27-02-2021
उच्च शिक्षा विभाग में सहायक प्राध्यापक हिन्दी के 50 पदों पर हुई भर्ती, चयन सूची जारी 

रायपुर। छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग ने उच्च शिक्षा विभाग के रिक्त सहायक प्राध्यापक हिन्दी के पदों की चयन सूची जारी की है। अभ्यर्थियों की लिखित परीक्षा और साक्षात्कार में प्राप्त अंकों के मेरिट क्रम के आधार पर वर्गवार चयन सूची जारी की गई है। 19 जनवरी को जारी लिखित परीक्षा परिणाम में एक-एक पद का तीन गुना अर्थात 150 अभ्यर्थियों को साक्षात्कार के लिए चिन्हांकित किया जाना था। वर्गवार, उप वर्गवार अर्ह अभ्यर्थियों की उपलब्धता के आधार पर 152 अभ्यर्थियों का चिन्हांकन किया गया। साक्षात्कार के लिए आमंत्रित कुल 152 अभ्यर्थियों का साक्षात्कार 23 फरवरी से 25 फरवरी तक लिया गया। कुल 50 पदों के लिए अभ्यर्थियों की उपलब्धता अनुसार चयन सूची व अनुपूरक सूची जारी की गई है। सूची आयोग की वेबसाइट www.psc.cg.gov.in पर अपलोड कर दी गई है।

 

 

21-02-2021
23 फरवरी को शुरू होगा जेईई मेन परीक्षा का पहला सत्र, 26 फरवरी तक चलेगा

नई दिल्ली। जेईई मेन की पहली परीक्षा मंगलवार 23 फरवरी से शुरू होने जा रही है। 23 फरवरी से शुरू होने वाली यह परीक्षा 26 फरवरी तक चलेंगी। जेईई मेन की परीक्षाएं इस वर्ष फरवरी के अलावा मार्च, अप्रैल और मई माह में भी आयोजित की जाएंगी। तय कार्यक्रम के मुताबिक जेईई मेन परीक्षा का पहला सत्र 23 से 26 फरवरी के बीच आयोजित किया जा रहा है। जेईई की परीक्षाएं आयोजित करवा रहे राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी की वरिष्ठ परीक्षा निदेशक साधना पराशर ने एक निर्देश जारी करते हुए कहा,"कोरोना महामारी के मद्देनजर इस साल आईआईटी में प्रवेश के लिए 12वीं कक्षा में 75 प्रतिशत अंक हासिल करने की पात्रता वाला मानदंड हटा दिया गया है।" केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय जेईई की परीक्षाएं एक वर्ष में चार बार आयोजित करने का निर्णय ले चुका है। साथ ही इन परीक्षाओं को अंग्रेजी के अलावा हिंदी, बंगाली, गुजराती, मराठी समेत 13 विभिन्न भाषाओं में भी लेने की तैयारी है। अभ्यर्थी आगामी सत्रों के लिए, एक सत्र के परिणाम के बाद, अपना आवेदन वापस भी ले सकेंगे। इस स्थिति में, आगामी सत्रों के लिए जमा किया शुल्क, एनटीए द्वारा वापस किया जाएगा।

इसके अलावा अभ्यर्थी आगामी सत्रों के लिए, एक सत्र के परिणाम के बाद, अपना सत्र बदल भी सकते हैं। जो अभ्यर्थी परीक्षा के एक से अधिक सत्रों के लिए आवेदन करते हैं, तो वे प्रथम सत्र के बाद अन्य सत्रों की परीक्षा में उपस्थित भी हो सकते हैं और नहीं भी। इसके अलावा यदि कोई भी अभ्यर्थी एक सत्र के लिए आवेदन नहीं कर सका, तो वह इस सत्र के परिणाम की घोषणा के तुरंत बाद, पोर्टल खुलने पर अगले सत्र के लिए आवेदन कर सकता है। एनटीए की वरिष्ठ परीक्षा निदेशक साधना पराशर ने एक नोटिस के माध्यम से कहा, "जेईई मेन और 12 वीं की बोर्ड परीक्षाओं की तारीखें एक-दूसरे से न टकराएं इसे ध्यान में रखते हुए छात्रों के लिए 3 मई से जेईई मेन के लिए आवेदन लिए जाएंगे। इसकी आखिरी तारीख 12 मई है। छात्रों को फॉर्म भरते समय अपनी 12वीं कक्षा का रोल नंबर और बोर्ड की जानकारी एनटीए को देनी होगी।" इस वर्ष जेईई एडवांस 2021 की परीक्षा 3 जुलाई को कंप्यूटर आधारित टेस्ट मोड में आयोजित की जाएगी।

 

14-02-2021
ज़िले में 3426 अभ्यर्थियों ने दी प्रारंभिक पीएससी, कड़ी सुरक्षा के बीच शांतिपूर्ण ढंग से हुई परीक्षा

धमतरी। छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग की ओर से सिविल सेवा के विभिन्न पदों पर भर्ती के लिए लोक सेवा आयोग 2020 की प्रारंभिक परीक्षा रविवार को दो पालियों में हुई। जिले में  शांतिपूर्ण ढंग से प्रारंभिक परीक्षा हुई। कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य ने निर्बाध रूप से परीक्षा कराने के लिए उड़नदस्ता दलों का गठन किया था, जिन्होंने परीक्षा केंद्रों में जाकर सतत निरीक्षण किया। प्रथम पाली में 3824 पंजीकृत अभ्यर्थियों में से 3455 ने परीक्षा दी, जबकि 369 अनुपस्थित रहे। इसी प्रकार दूसरी पाली में 3426 अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल हुए, जबकि 398 गैरहाजिर रहे।
परीक्षा के नोडल अधिकारी एवं डिप्टी कलेक्टर एचएल गायकवाड़ ने बताया कि छत्तीसगढ़ राज्य लोक सेवा आयोग द्वारा सिविल सेवा परीक्षा 2020 की प्रारंभिक परीक्षा आज दो पालियों में आयोजित की गई। इसके लिए जिला मुख्यालय में 10 परीक्षा केन्द्र स्थापित किए गए थे। उन्होंने बताया कि आयोग द्वारा आयोजित परीक्षा की पहली पाली में जिले के कुल पंजीकृत 3 हजार 824 अभ्यर्थियों में से 3 हजार 455 ने परीक्षा दी। दूसरी पाली में 3 हजार 226 ने परीक्षा दी। आयोग द्वारा जिले में स्थापित किए गए दस परीक्षा केंद्रों में बाबू छोटेलाल श्रीवास्तव शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय धमतरी, मेनोनाइट सीनियर सेकंडरी स्कूल रत्नाबांधा रोड, नारायण राव मेघा वाले शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय रुद्री रोड, नत्थूजी जगताप शासकीय नगर पालिक निगम उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, मॉडल इंगलिश हायर सेकंडरी स्कूल सोरिद नगर, शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय पोस्ट ऑफिस वार्ड, डॉ. शोभाराम देवांगन शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय गोकुलपुर, नूतन हिंदी उच्चतर माध्यमिक विद्यालय रामबाग, सेंट जेवियर्स सीनियर सेकंडरी स्कूल सिविल कोर्ट रोड तथा विद्या कुंज स्कूल लोहरसी शामिल थे।

 

12-02-2021
सीबीएसई ने किया 10वीं और 12वीं के लिए प्रैक्टिकल परीक्षा की तारीखों का ऐलान, 1 मार्च से शुरू होगी प्रायोगिक परीक्षा 

नई दिल्ली। सीबीएसई बोर्ड प्रैक्टिकल परीक्षा की तारीखों का ऐलान कर दिया है। सीबीएसई बोर्ड प्रैक्टिकल, प्रोजेक्ट, इंटरनल असेस्मेंट 10वीं और 12वीं क्लास के लिए 1 मार्च से शुरू होंगे और 11 जून तक आयोजित की जाएंगी। बोर्ड परीक्षाएं और प्रैक्टिकल कोविड-सेफ्टी प्रोटोकॉल को ध्यान में रखकर किए जाएंगे। इसके लिए बोर्ड ने सभी स्कूलों के प्रिंसिपल्स को पत्र लिख दिया है। प्रैक्टिकल के अंक असेस्मेंट पूरा होने के बाद बोर्ड की वेबसाइट पर जारी कर दिए जाएंगे। सीबीएसई ने प्रैक्टिकल परीक्षाओं के लिए प्रयोगशालाओं को तैयार करने के लिए विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किए हैं। सीबीएसई प्रैक्टिकल परीक्षा के लिए लैब्स को हर बैच के प्रैक्टिकल के बाद सैनिटाइज किया जाएगा। लैब में स्टूडेंट्स को हैंड सेनिटाइजर दिया जाएगा। स्टूडेंट्स वॉटर बोलत और मास्क लेकर आएंगे। सीबीएसई ने कहा है कि प्रैक्टिकल परीक्षा के लिए 25 छात्रों के एक बैच को दो सब-ग्रुप्स में बांटा जा सकता है, ताकि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो।
इसके साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का भी खास खयाल रखा जाएगा। सीबीएसई  ने कहा कि यदि बोर्ड द्वारा नियुक्त शिक्षक के अलावा किसी अन्य द्वारा प्रैक्टिकल परीक्षा आयोजित की जाती है, तो परीक्षा रद्द कर दी जाएगी और छात्रों को थ्योरी परीक्षा में प्राप्त अंकों के आधार पर आनुपातिक अंक दिए जाएंगे।

12-02-2021
राज्य सेवा प्रारंभिक परीक्षा जांजगीर के 12 केन्द्रों में, 4307 अभ्यर्थी होंगे शामिल

जांजगीर-चांपा। छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग द्वारा राज्य सेवा प्रारंभिक परीक्षा 2020 का आयोजन 14 फरवरी को दो पालियों में किया जाएगा। प्रथम पाली पूर्वान्ह 10 बजे से दोपहर 12 तक और द्वितीय पाली अपरान्ह 3 बजे से सायं 5 बजे तक होगी। कलेक्टर  यशवंत कुमार के मार्गनिर्देशन में परीक्षा के सुव्यवस्थित अयोजन के लिए जिला कार्यालय में परिवहन अधिकारियों, उड़नदस्ता दल प्रभारियों, केन्द्राध्यक्षों, पर्यवेक्षकों की बैठक आयोजित की गई। अपर कलेक्टर  एसएस पैकरा ने छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग के दिशा-निर्देशों का कड़ाई से पालन करवाने के संबंध मे निर्देश दिए। सभी संबंधित अधिकारियों को निर्धारित समय में उपस्थित होने कहा गया। बैठक में बताया गया की जांजगीर जिला मुख्यालय के 12 परीक्षा केन्द्रों में 4 हजार 307 अभ्यर्थियो की बैठक व्यवस्था की गई है।

टीसीएल कालेज, शासकीय जाज्वल्यदेव नवीन कन्या महाविद्यालय, शासकीय बहुद्देशीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय खोखरा के लिए तहसीलदार नवागढ़  संजय मिंज, कृषि महाविद्यालय एवं अनुसंधान केन्द, जिला शिक्षा  एवं प्रशीक्षण संस्थान (डाईट) और हरिराम गट्टानी जयभारत इंग्लिश मिडियम स्कूल के लिए डिप्टी कलेक्टर आरके कृपाल को परिवहन अधिकारी और उड़नदस्ता दल प्रभारी नियुक्त किया गया है। हनुमान बगस गट्टानी शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, ज्ञानोदय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय नैला, सरस्वती शिशु मंदीर उच्चतर माध्यमिक विद्यालय नैला के लिए डिप्टी कलेक्टर सुमित गर्ग को परिवहन अधिकारी और उड़नदस्ता दल प्रभारी की जिम्मेदारी दी गई है। इसी प्रकार ज्ञानदीप उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, ज्ञानज्योति उच्चतर माध्यमिक विद्यालय और ज्ञान भारती उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के लिए संयुक्त कलेक्टर अनुपम तिवारी को परिवहन अधिकारी और उड़नदस्ता दल प्रभारी नियुक्त किया गया है।

 

12-02-2021
राज्य सेवा प्रारंभिक परीक्षा 14 फरवरी को, बनाए गए 10 परीक्षा केन्द्र,कलेक्टर ने किया उड़नदस्ता दल का गठन

धमतरी। राज्य सेवा प्रारंभिक परीक्षा 2020 का आयोजन 14 फरवरी को किया जाएगा। सुबह 10 से दोपहर 12 बजे तक और दोपहर 3 से शाम 5 बजे तक दो पालियों में आयोजित होने वाली इस परीक्षा के लिए जिले में कुल 10 परीक्षा केन्द्र बनाए गए हैं। कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य ने परीक्षा के सुचारू संचालन के लिए डिप्टी कलेक्टर एचएल गायकवाड़ को नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। साथ ही उन्होंने परीक्षा में नकल प्रवृत्ति को रोकने और परीक्षा केन्द्र के निरीक्षण के लिए उड़नदस्ता दल गठित किया है। मिली जानकारी के मुताबिक सिविल कोर्ट रोड स्थित सेंट जेवियर्स सीनियर सेकेण्डरी स्कूल धमतरी, जनपद पंचायत धमतरी स्थित शासकीय एनआरएम कन्या महाविद्यालय, शासकीय नत्थूजी जगताप नगरपालिक निगम उच्चतर माध्यमिक विद्यालय धमतरी और माॅडल इंग्लिश हायर सेकेण्डरी स्कूल डिपोपारा सोरिद नगर स्थित परीक्षा केन्द्र में डिप्टी कलेक्टर अर्पिता पाठक को बतौर दल प्रभारी एवं दल में सदस्य के रूप में तहसीलदार धमतरी पवन सिंह ठाकुर तथा अधीक्षक भू-अभिलेख पीएल भूआर्य की ड्यूटी लगाई गई है।

इसी तरह परीक्षा केन्द्र मेनोनाईट इंग्लिश सीनियर सेकेण्डरी स्कूल रत्नाबांधा चौक, बीसीएस शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय धमतरी और विद्याकुंज स्कूल लोहरसी में अनुविभागीय अधिकारी राजस्व कुरूद योगिता देवांगन को दल प्रभारी और तहसीलदार कुरूद भूपेन्द्र गावड़े एवं नायब तहसीलदार कुरूद आकांक्षा साहू की तैनाती दल में सदस्य के रूप में की गई है। इसी तरह डाॅ.शोभाराम देवांगन शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, नूतन हिन्दी उच्चतर माध्यमिक विद्यालय रामबाग और शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय पोस्ट आफिस वार्ड स्थित परीक्षा केन्द्र के दल प्रभारी डिप्टी कलेक्टर डीसी बंजारे होंगे। इस दल में सदस्य के रूप में तहसीलदार (संलग्न) भू-अभिलेख शाखा एच.एस. ध्रुव एवं नायब तहसीलदार भखारा विवेक गोहिया की ड्यूटी लगाई गई है। कलेक्टर ने दल प्रभारियों को निर्देशित किया है कि वे नोडल अधिकारी के सतत् सम्पर्क में रहते हुए अपने दायित्वों का निर्वहन करेंगे।

 

04-02-2021
कर्मचारी चयन आयोग की संयुक्त हायर सेकेंडरी स्तरीय परीक्षा 14 फरवरी को

रायपुर। कर्मचारी चयन आयोग की संयुक्त हायर सेकेंडरी स्तरीय परीक्षा -2019  टियर-।। परीक्षा 14 फरवरी रविवार को होगी। परीक्षा प्रथम पाली में सुबह 10 बजे से 11 बजे तक ली जाएगी। दृष्टि दिव्यांग अभ्यार्थियों के लिए सुबह 10 बजे से 11:20 बजे तक परीक्षा होगी। इसी तरह कनिष्ठ हिन्दी अनुवादक, कनिष्ठ अनुवादक, वरिष्ठ हिन्दी अनुवादक और हिन्दी प्राध्यापक परीक्षा-2020 टियर-।। की द्वितीय पाली दोपहर 1 बजे से 3 बजे तक होगी। दृष्टि दिव्यांग अभ्यार्थियों के लिए दोपहर 1 बजे से 3:40 बजे तक परीक्षा होगी। आयोग ने परीक्षा केंद्रों का निर्धारण कर लिया है।

29-01-2021
8वीं तक के बच्चों की नहीं होगी परीक्षा, अगली कक्षा में किया जाएगा प्रमोट

रायपुर। इस वर्ष स्कूली बच्चों को परीक्षा नहीं देनी पड़ेगी। कक्षा पहली से आठवीं तक के बच्चों को अगली कक्षा में प्रमोट किया जाएगा। इस संबंध में लोक शिक्षण संचालनालय छत्तीसगढ़ के संचालक ने पत्र जारी किया है। उन्होंने समस्त संभागीय संयुक्त संचालक (शिक्षा) और समस्त जिला शिक्षा अधिकारियों को भेजे पत्र में इस संबंध में दिशानिर्देश दिए गए हैं। उन्होंने कहा है कि  प्रदेश में पढ़ाई तुंहर दुआर कार्यक्रम में विभिन्न विधियों से ऑनलाइन और ऑफलाइन  कक्षाएं संचालित की गई है। बच्चों को एसेसमेंट कर पोर्टल में अपलोड किया गया है। विविध तरीकों से किए गए आकलन के आधार पर विद्यार्थियों को प्रगति पत्र प्रदान किए जाएंगे।

29-01-2021
छत्तीसगढ़ में 9वीं से 11वीं की परीक्षा पर सस्पेंस ख़त्म, प्राचार्यों को माध्यमिक शिक्षा मंडल की तरफ से पत्र जारी

रायपुर। राज्य सरकार से अनुमति के बाद 9 वीं और 11वीं की परीक्षा को लेकर सस्पेंस खत्म कर दिया गया है | माध्यमिक शिक्षा मंडल ने साफ कर दिया है कि प्रदेश में 9 वीं और 11 वीं की परीक्षाएं आयोजित की जायेगी।  ये परीक्षा स्थानीय स्तर पर आयोजित की जायेगी। इस बाबत सभी प्राचार्यों को माध्यमिक शिक्षा मंडल की तरफ से पत्र जारी कर दिया गया है। पत्र में स्पष्ट किया गया है कि 9वीं और 11वीं की परीक्षाएं छत्तीसगढ़ में स्थानीय स्तर पर होगी और ये परीक्षा छात्र अपने-अपने स्कूलों में ही देंगे। स्कूलों को ही परीक्षा से लेकर परिणाम तक जारी करने की जिम्मेदारी दी गयी है। स्कूल की तरफ से परीक्षा के प्रश्न पत्र तैयार किये जायेंगे और समय सारिणी तैयार की जायेगी।  हालांकि परीक्षा को लेकर डेटशीट अभी जारी नहीं किया गया है।  परीक्षा के दौरान कोरोना के प्रोटोकॉल का नियम पालन करना जरूरी होगा। 

07-01-2021
जेईई एडवांस्ड परीक्षा की परीक्षा 3 जुलाई को होगी, 75 प्रतिशत अंकों की अनिवार्यता खत्म

नई दिल्ली। केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने गुरुवार को जेईई एडवांस्ड परीक्षा 2021 की तारीख का ऐलान कर दिया। इस वर्ष जेईई एडवांस्ड परीक्षा का आयोजन 3 जुलाई को होगा। साथ ही भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों में प्रवेश के लिए 12वीं में 75 फीसदी अंकों की अनिवार्यता संबंधी शर्त को भी हटा लिया गया है। पिछले वर्ष भी कोरोना के चलते 75 फीसदी अंकों की बाध्यता से छूट दी गई थी। शिक्षा मंत्री ने कहा कि इस वर्ष इस परीक्षा का आयोजन आईआईटी खड़गपुर द्वारा किया जाएगा।वेबिनार के जरिए शिक्षा मंत्री ने कहा, जेईई मेन 2021 की तारीखों के ऐलान के बाद से ही विद्यार्थी लगातार जेईई एडवांस्ड के बारे में प्रश्न पूछ रहे थे। छात्र जेईई एडवांस्ड की तारीख, प्रावधान, पात्रता संबंधी नियमों को लेकर लगातार सवाल कर रहे थे। पिछली बार कोविड.19 की विषम परिस्थितियां थीं।

अभी भी इससे उबर नहीं पाए हैं। इसको ध्यान में रखकर इस बार भी आईआईटी में एडमिशन के लिए 75 फीसदी अंकों की पात्रता मानदंड को हटा दिया गया है। जेईई एडवांस्ड परीक्षा इस बार 3 जुलाई को परीक्षा होगी। छात्रों के पास तैयारी के लिए काफी वक्त है। विद्यार्थी अच्छे से तैयारी कर सकते हैं। आईआईटी खड़गपुर इस बार परीक्षा का आयोजन करेगा। सरकार ने जेईई मेन 2020 पास करने वाले उन विद्यार्थियों को सीधे जेईई एडवांस्ड 2021 में बैठने की अऩुमति दी है,जो कोरोना महामारी के चलते जेईई एडवांस्ड 2020 में नहीं बैठ सके थे। इन छात्रों को जेईई मेन 2021 देने की जरूरत नहीं है। इन्हें सीधा जेईई एडवांस्ड 2021 में बैठने का मौका मिलेगा। ऐसे में इस बार जेईई एडवांस्ड परीक्षा में बैठने वाले विद्यार्थियों की संख्या काफी अधिक होगी।जेईई एडवांस्ड परीक्षा के जरिए ही देश के प्रतिष्ठित 23 आईआईटी संस्थानों में एंट्री मिलती है। 

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804