GLIBS
13-01-2021
हज यात्रियों की चिकित्सा सहायता के लिए मेडिकल टीम होगी तैयार, आवेदन करने की अंतिम तिथि 5 फरवरी

रायपुर। हज-2021 के लिए अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय भारत सरकार की ओर से हिन्दुस्तान से जाने वाले हज यात्रियों की चिकित्सा सहायता के लिए मेडिकल टीम की प्रतिनियुक्ति की जाएगी। छत्तीसगढ़ राज्य हज कमेटी के अध्यक्ष मोहम्मद असलम खान ने बताया मेडिकल टीम के लिए प्रतिनियुक्ति पर राज्यों में कार्यरत शासकीय मुस्लिम एैलोपैथिक डॉक्टर्स और पैरामेडिकल स्टॉफ से आवेदन आमंत्रित किए गए हैं। इच्छुक आवेदक अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय की वेबसाइट  www.haj.nic.in/deputation में उपलब्ध ऑनलाइन आवेदन भर सकते हैं। ऑनलाइन आवेदन पूर्ण करने के बाद उसकी मूल प्रति संबंधित विभाग के माध्यम से अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय भारत सरकार को सहपत्र के साथ भेजा जाए। प्रतिनियुक्ति की अवधि 2 से 3 माह की होगी। ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित करने की अंतिम तिथि 5 फरवरी निर्धारित है। अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय भारत सरकार ने मेडिकल टीम के साथ-साथ प्रतिवर्ष काउंसल जनरल ऑफ इंडिया के अधीन कोऑर्डिनेटर, हज ऑफिसर और हज असिस्टेंट के पदों पर कार्य करने के लिए प्रतिनियुक्ति पर शासकीय मुस्लिम अधिकारियों और कर्मचारियों से भी आवेदन आमंत्रित किए हैं। इन पदों के लिए भी ऑनलाइन आवेदन करने की अंतिम तिथि 5 फरवरी निर्धारित की गई है। प्रतिनियुक्ति पर डॉक्टर्स, पैरामेडिकल स्टॉफ, कोऑर्डिनेटर, हज ऑफिसर और हज असिस्टेंट के पदों के लिए इच्छुक आवेदक वांछित दिशा-निर्देश, चयन के लिए निर्धारित अर्हताएं, अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय की वेबसाइट  www.haj.nic.in/deputation  से और कार्यालय छत्तीसगढ़ राज्य हज कमेटी से संपर्क कर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। अधिक जानकारी के लिए कार्यालय छत्तीसगढ़ राज्य हज कमेटी, मुखर्जी बाड़ा बैरन बाजार रायपुर के दूरभाष क्रमांक 0771-4266646 पर संपर्क किया जा सकता है।

02-01-2021
आपदा पीड़ित 5 परिवार को 20 लाख रुपए की आर्थिक सहायता मंजूर

रायपुर। छत्तीसगढ़ शासन के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग की ओर से आपदा से पीड़ितों को जिला कलेक्टर के माध्यम से आर्थिक अनुदान सहायता स्वीकृत की जाती है। ऐसी ही प्रकरणों में जांजगीर-चांपा जिले में 5 प्रकरणों में 20 लाख रुपए की आर्थिक सहायता स्वीकृत की गई है। राजस्व पुस्तक परिपत्र 6-4 के तहत जांजगीर-चांपा जिले की शिवरीनारायण तहसील के ग्राम करौद के गौरव वर्मा की पानी में डूबने से मृत्यु हो जाने पर मृतक के परिजनों को चार लाख रुपए की आर्थिक सहायता स्वीकृत की गई है। इसी प्रकार से डभरा तहसील के ग्राम गोपालपुर के नरसिंह उराव, सक्ती तहसील के ग्राम चैराबरपाली के देवचरण की, मालखरौदा तहसील के ग्राम मिरौनी के युवयराज मरार और शिवरीनारायण तहसील के ग्राम मोहतरा के आशीष पटेल की सांप काटने से मृत्यु होने पर पीड़ित परिजनों को चार-चार लाख रुपए की आर्थिक सहायता स्वीकृत की गई है।

 

27-12-2020
जिले में संचालित वन स्टाप सेंटर सखी दे रहा है महिलाओं को नया जीवन, काउंसलिंग कर दी जा रही है सहायता और सुविधा

रायपुर/नारायणपुर। वन स्टाप सेंटर (सखी) में महिलाओं की सहायता की जाती है। जिसमें आश्रय सहायता-जहां पीडित महिलाओं को रहने के लिए खाने, कपडे़ की सुविधाएँ, विधिक सहायता-पीड़ित महिलाओं को निशुल्क विधिक सहायता प्रदान की जाती है। स्थापना से अभी तक लगभग 599 प्रकरण पर वन स्टाप सेंटर सखी के के माध्यम से कार्य किया गया है। वहीं 1 अप्रैल से 26 दिसम्बर, 2020 की स्थिति में लगभग कुल प्रकरण 109 प्राप्त हुए है। इसमें 102 प्रकरण निराकृत, 14 प्रकरण न्यायालय में प्रस्तुत, 42 प्रकरणों में आश्रय सहायता, 8 प्रकरण चिकित्सा सहायता, 26 प्रकरणों में पुलिस सहायता तथा 22 प्रकरणों में विधिक सहायता दी गई है।

वन स्टाप सेंटर सखी के माध्यम से दी जा रही सुविधाएं
यदि कोई महिला अपने पति के माध्यम से मारपीट या व्यवहार से पीड़ित है तो उनकी काउंसलिग कर समझाईश दी जाती है। चिकित्सा सहायता-इसमें महिलाओं को चिकित्सा संबंधी सुविधाएं मुहैया कराई जाती है। पुलिस सहायता-यदि किसी महिला को पुलिस सहायता की आवश्यकता होती है तो वन स्टाप सेंटर सखी के माध्यम से पुलिस से समन्वय स्थापित कर उसे पुलिस सहायता प्रदान की जाती है। आपातकालीन सहायता वन स्टाप सेंटर सखी 24 घंटे सुविधा के लिए उपलब्ध रहता है।

31-10-2020
कोविड-19 के रोकथाम और उपचार के लिए सीएसआर मद से औद्योगिक इकाईयों से मिली सहायता

जांजगीर-चांपा। कलेक्टर यशवंत कुमार की पहल पर जिले में स्थापित विभिन्न औद्योगिक समूहों द्वारा सीएसआर मद से कोविड-19 के संक्रमण के रोकथाम, सुरक्षा एवं समुचित उपचार के लिए सामग्री व अन्य उपकरण उपलब्ध कराया गया है। इनमें मुख्यतः 4 नग वेंटिलेटर, मरीजों के लिए भोजन नाश्ता की व्यवस्था, पीपीई किट, एन 95 मास्क, एम्बुलेंस खरीदने के लिए सहयोग राशि सहित अन्य उपकरण व सामग्री शामिल है। उप संचालक जिला योजना एवं सांख्यिकी से प्राप्त जानकारी के अनुसार औद्योगिक इकाई मड़वा द्वारा 1 नग वेंटिलेटर, 38 मजदूरों को नाश्ता,भोजन की व्यवस्था और एम्बुलेंस क्रय करने के लिए सहयोग राशि उपलब्ध कराई गई है।

इसी प्रकार केएसके महानदी पावर कंपनी द्वारा 1 नग वेटिलेटर, चिकित्सालय के लिए बेड शीट एवं तकिया कवर, कोविड केयर सेंटर आईटीआई अकलतरा में मरीजों के लिए भोजन व्यवस्था,एम्बुलेंस क्रय के लिए राशि, महावीर कोलवासरी प्राईवेट लिमिटेड द्वारा 100 नग पीपीई किट एवं एम्बुलेंस के लिए राशि, हिन्द एनर्जी-250 नग पीपीई किट एवं एम्बुलेंस के लिए राशि, आरकेएम पॉवर जेन-150 नग पीपीई किट एवं कोविड केयर सेंटर दिव्यांग स्कूल पेण्ड्रीभांठा एवं लाईब्रेरी भवन में मरीजों के लिए भोजन व्यवस्था। प्रकाश इण्डस्ट्रीज चांपा ने 01 नग वेटिलेटर, एम्बुलेंस के लिए राशि, डीबी पॉवर लिमिटेड ने 1 नग वेटिलेटर और एम्बुलेंस क्रय करने के लिए राशि, क्लीन कोल. प्राईवेट लिमिटेड ने 670 एन-95 मास्क एवं एम्बुलेंस क्रय के लिए राशि, महेन्द्रा पॉवर प्राईवेट लिमिटेड ने 250 नग पीपीई किट और श्याम वेयर हाऊसिंग ने 667 नग एन-95 मास्क प्रदाय किया गया।

 

30-10-2020
ई मेगा कैम्प में होगा प्रकरणों का त्वरित निराकरण,योजनाओं की जानकारी के साथ मिलेगी त्वरित सहायता

रायपुर\कोरबा। छत्तीसगढ़ राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से 31 अक्टूबर को ई-मेगा कैम्प का आयोजन किया जायेगा। इस विशेष मेगा कैम्प में शासन के संचालित योजनाओं जैसे आजीविका मिशन, विभिन्न दुर्घटनाओं से पीड़ितों को क्षतिपूर्ति, आकाशीय बिजली-सर्पदंश-सड़क दुर्घटना में मृत या घायल पीड़ितों को दी जाने वाली सहायता, समाज कल्याण विभाग, पंचायत एवं नगरीय निकायों में संचालित शासकीय योजनाओं से हितग्राहियों को लाभान्वित किया जायेगा। राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण बिलासपुर ने इस वर्ष इस विशेष ई-मेगा कैम्प की थीम ’सर्वजन हिताय-सर्वजन सुखाय: आर्थिक सशक्तिकरण’ निर्धारित किया है,जो गरीबी उन्मूलन योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन योजना नालसा पर आधारित है। इस संबंध में जिला न्यायाधीश एवं अध्यक्ष राकेश बिहारी घोरे के नेतृत्व में कलेक्टर किरण कौशल सहित जिला कार्यक्रम अधिकारी, महिला बाल विकास विभाग, श्रम आयुक्त, श्रम विभाग, जिला शिक्षा अधिकारी, उप संचालक, समाज कल्याण विभाग एवं मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी की बैठक भी पूर्व में हो चुकी है।

इस ई-मेगा कैम्प में शासन के संचालित कल्याणकारी योजनाओं एवं अधिनियम की जानकारी दी जायेगी। ई-मेगा कैम्प के माध्यम से जिला न्यायाधीश, कलेक्टर एवं अन्य वक्ता चयनित वीडियो कान्फ्रेसिंग कक्ष से यू-ट्यूब एवं फेसबुक लाईव स्ट्रीमिंग के माध्यम से हितग्राहियों को संबोधित करेंगे। संबोधन के पश्चात् जनकल्याणकारी योजनाओं के लाभान्वित होने वाले हितग्राहियों के नामों की घोषणा कर उन्हें योजना अनुरूप लाभ राशि, सहायता का वितरण किया जायेगा। शासकीय योजना का लाभ पाने वाले पात्र व्यक्ति समय पूर्व संबंधित विभाग या जिला विधिक सेवा प्राधिकरण में संचालित लीगल एड क्लीनिक, प्रबंध कार्यालय में उपस्थित होकर अपना आवेदन पत्र प्रस्तुत कर सकते है। किसी तरह से परेशानी हो तो वे निःशुल्क हेल्पलाईन नंबर 15100 अथवा जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के दूरभाष क्रमांक 07759-228939 पर संपर्क कर सकते हैं।

 

11-10-2020
सरकारी भूमि पर किए गए अवैध कब्जे को नगर निगम की टीम ने तोड़ा

रायपुर। नगर निगम की टीम ने डुंडा मार्ग में सरकारी भूमि पर किए गए अवैध कब्जे को रविवार को हटाया है। नगर पालिक निगम के आयुक्त सौरभ कुमार के आदेशानुसार नगर निगम जोन 10 की नगर निवेश विभाग की टीम ने जोन 10 के जोन कमिश्नर अरुण साहू की अगुवाई एवं जोन नगर निवेश उप अभियन्ता लोचन चौहान की उपस्थिति में निगम जोन 10 के कामरेड सुधीर मुखर्जी वार्ड क्रमांक 54 के तहत आने वाले डुंडा मार्ग में सरकारी भूमि पर किए गए अवैध कब्जे को ​हटाया है। जेसीबी मशीन की सहायता से अभियान चलाकर तोड़ने और सरकारी भूमि को अवैध कब्जे से मुक्त करवाने की कार्यवाही की। कमिश्नर साहू ने बताया कि पूर्व में भी अवैध निर्माणकर्ता ने सरकारी भूमि पर अवैध कब्ज़ा करके वहां दुकान बना ली थी, जिसे नगर निगम नगर निवेश विभाग की टीम ने अभियान चलाकर तोड़ा था। अवैध कब्ज़ाधारी नागरिक ने सरकारी भूमि पर दोबारा अवैध कब्ज़ा करके वहां कार गैरेज बना लिया। इसकी जानकारी होते ही आज निगम जोन 10 के नगर निवेश विभाग की टीम ने जोन कमिश्नर साहू के नेतृत्व एवं जोन नगर निवेश उपअभियन्ता चौहान की उपस्थिति में जेसीबी मशीन की सहायता से तोड़ते हुए वहां लगभग 1200 वर्गफुट शासकीय भूमि को अवैध कब्जे से मुक्त करवा दिया।

05-08-2020
वक्ता मंच कोरोना रोकथाम के लिए सहायता व जागरूकता कार्य तेज करेगा

रायपुर। राजधानी में कोरोना की रोकथाम के लिए समाजसेवी संस्थाओं की भूमिका विषय पर 5 अगस्त को कलेक्ट्रेट हाल में प्रमुख एनजीओ की बैठक हुई। बैठक में रायपुर जिलाधीश डॉ. एस. भारतीदासन,वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय यादव,स्मार्ट सिटी के सीईओ आशीष मिश्रा निगम आयुक्त सौरभ कुमार एवं जिला पंचायत के मुख्य कार्यकारी अधिकारी गौरव कुमार सिंह सहित अनेक प्रमुख अधिकारी उपस्थित थे। इस महत्वपूर्ण बैठक को संबोधित करते हुए जिलाधीश एस. भारतीदासन ने कोरोना की रोकथाम के लिए अधिक प्रभावी कार्य किये जाने की जरूरत रेखांकित की। उन्होंने समाजसेवी संस्थाओं से अनुरोध किया कि मास्क की अनिवार्यता,सोशल डिस्टेंस का पालन करवाने,संक्रमित क्षेत्र में सेवा कार्य करने के लिए आगे आये। इस बैठक में वक्ता मंच की ओर से संस्था के संयोजक शुभम साहू ने भागीदारी करते हुए जिला प्रशासन को विश्वास दिलाया कि मंच द्वारा जारी सेवा एवं जागरूकता कार्यो में और तेजी लाई जाएगी।

आगामी दिनों वक्ता मंच के कार्यकर्ता गरीब बस्तियों में मास्क,सैनिटाइजर,सूखा राशन लेकर पहुचेंगे और जागरूकता कार्य भी करेंगे। वक्ता मंच द्वारा जन जागरण के लिए 2 पोस्टर जारी किये गए,इन्हें पोस्टर व पर्चो के रूप में बड़ी संख्या में आम जनता तक पहुंचाया जायेगा। इसके साथ ही सोशल मीडिया  से भी जागरूकता का कार्य किया जायेगा। वक्ता मंच के अध्यक्ष राजेश पराते ने मंच के समस्त पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं से जिला प्रशासन के सहयोग से सेवा एवं जागरण कार्य जोर शोर से आयोजित करने की अपील की है।

 

18-07-2020
पुरखों के हुनर और परम्परागत व्यवसाय को सहेज रहे कुम्हार : मंत्री गुरु रूद्रकुमार

रायपुर। माटीकला बोर्ड कुम्हारों को विभिन्न प्रकार की सहायता देकर उन्हें उनके परम्परागत व्यवसाय से जोड़ने में जुटा है। छत्तीसगढ़ सरकार की जनहितैषी नीतियों और यहां की कला और संस्कृति के संरक्षण व संवर्धन का ही सार्थक परिणाम है कि लोगों में आज उत्साह दिखायी दे रहा है। खेती-किसानी से लेकर परम्परागत व्यवसाय को बल मिला है। आधुनिकता के इस दौर में विलुप्त होती टेराकोटा कला को फिर से छत्तीसगढ़ में जीवंत हो उठी है। कुम्हारी के परम्परागत व्यवसाय से दूर हो रहे कुम्हार फिर से अपने हुनर को तराशने और अपने पुरखों के व्यवसाय को आगे बढ़ाने में जुट गए है। ग्रामोद्योग मंत्री गुरु रूद्रकुमार का कहना है कि माटीकला बोर्ड द्वारा संचालित योजनाओं के माध्यम से कुम्हारों के आर्थिक और सामाजिक उत्थान के लिए बेहतर प्रयास किए जा रहे हैं। उनके हुनर और परंपरागत व्यवसाय को एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी तक ले जाने में सरकार हर संभव मदद कर रही है। ग्रामोद्योग विभाग गांव में ग्रामोद्योग एवं माटीकला बोर्ड के माध्यम से ग्रामीणों को रोजगार व्यवसाय से जोड़ने और उन्हें स्वावलंबी बनाने में अहम भूमिका अदा कर रहा है। ग्रामीणों के परम्परागत व्यवसाय को आगे बढ़ाने के लिए उन्हें आवश्यक मार्गदर्शन एवं मदद भी दी जा रही है। राज्य के कुंभकारों की आर्थिक स्थिति में सुधार करने की पहल छत्तीसगढ़ माटीकला बोर्ड ने की है। बोर्ड द्वारा संचालित कुंभकार टेराकोटा योजना, ग्लेजिंग यूनिट की स्थापना, कुंभकारों का पंजीयन, माटीशिल्पिओं को प्रशिक्षण और डिजाईन विकास योजना, माटीशिल्पिओं को हस्तचलित रिक्शा ठेला प्रदाय और माटीशिल्पिओं को अध्ययन यात्रा योजना जैसी संचालित कल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से कुंभकारों को लाभान्वित किया जा रहा है। यही वजह है कि आज कुम्हार पूरे उत्साह से अपने परम्परागत व्यवसाय से जुड़कर बेहतर जीवन की ओर अग्रसर होने लगे हैं। उनके इस काम में परिवार के अन्य सदस्य भी बराबर की भागीदारी निभा रहे हैं।

16-07-2020
वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण काल में जरूरतमंदों को मिल रही सहायता, अब तक 423 की समस्याओं का निराकरण

रायपुर/नारायणपुर। वैश्विक महा​मारी कोरोना वायरस (कोविड-19) को राष्ट्रीय आपदा घोषित किए जाने के बाद सीएम भूपेश बघेल ने प्रदेश के साथ-साथ सभी जिलों में नियंत्रण कक्ष स्थापित किया है, जिससे एक ओर संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। वहीं प्रवासी मजदूर, छात्र, किसान और छत्तीसगढ़ सहित दूसरे राज्यों में रह रहे जरूरतमंद रहवासियों की मदद की जा रही है। जिला प्रशासन द्वारा जिला मुख्यालय पर जिला स्तरीय कोरोना नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया। कलेक्टर अभिजीत सिंह ने इस नियंत्रण कक्ष के सुचारू संचालन हेतु प्रभारी अधिकारी एवं अन्य अधिकारी-कर्मचारियों की नामजद ड्यूटी लगाई है। यह नियंत्रण कक्ष 24 घण्टे तीन पालियों में कार्य कर रहा है।

गौरतलब है कि प्रदेश स्तरीय नियंत्रण कक्ष के सम्पर्क नम्बर 104 पर आने वाले शिकायतों पर त्वरित कार्यवाही की जा रही है। इसके अलावा जिला स्तरीय कन्ट्रोल रूम के दूरभाष क्रमांक 07781-252214 पर प्रवासी मजदूरों द्वारा अपनी जानकारी दी जा रही है। इन नम्बरों पर दी जा रही जानकारी पर त्वरित कार्यवाही कर प्रवासी एवं स्थानीय लोगों की समस्याओं का निराकरण किया जा रहा है। जिले के अन्य राज्यों के विभिन्न जिलों में रह रहे श्रमिकों के भोजन, चिकित्सा, क्वारंटाइन सेंटर की व्यवस्था एवं अन्य सुविधाओं के लिए निरंतर संबंधित राज्य एवं जिलों के अधिकारियों से विभिन्न संचार माध्यमों से सम्पर्क कर उनकी सहायता भी की जा रही है और उन्हें अपने जिले में सुरक्षित लाने में भी भूमिका निभा रही हैै।

कोरोना महामारी के संकट से निपटने के साथ ही जरूरतमंदों को राहत पहुँचाने के लिए सीएम भूपेश बघेल के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ सरकार ने जो मुस्तैदी दिखाई है। उसने लोगों में कोरोना के विरूद्ध युद्ध में लड़ने की न केवल क्षमता विकसित की है बल्कि उनके हौसले भी बुलंद हुए हैं। जिला स्तरीय कोरोना नियंत्रण कक्ष में अब तक 423 लोगों ने फोन कर अपनी समस्या से अवगत कराया। इसका निराकरण नियंत्रण कक्ष के माध्यम से किया गया है और यह प्रक्रिया निरंतर जारी है। जिला प्रशासन इस बात का विषेष ध्यान रख रहा है कि उन्हें किसी तरह की कठिनाई अथवा घर वापसी आने में कठिनाई का सामना न करना पड़े। जिला प्रशासन अपेक्षा करता है कि किसी भी प्रकार की समस्या आने पर जिला कोरोना कन्ट्रोल रूम में दूरभाष के माध्यम से सम्पर्क कर जानकारी दें। इससे श्रमिकों को हरसंभव सहयोग दिया जा सके। इस नियंत्रण कक्ष में काम करने वाले अधिकारी कर्मचारी द्वारा पूरी ईमानदारी और संवेदनशीलता के साथ अपने दायित्वों का निर्वहन किया जा रहा है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804