GLIBS
27-08-2020
 विभागों के अधीन गठित समितियों में एक महिला सदस्य को रखना अनिवार्य, आदेश जारी

रायपुर। छत्तीसगढ़ शासन के सामान्य प्रशासन विभाग ने समस्त विभागों के अधीन गठित साक्षात्कार, चयन, पदोन्नति और छानबीन समिति में अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग का पृथक-पृथक प्रतिनिधित्व अनिवार्य किया है। इन समितियों में महिलाओं के प्रतिनिधित्व के लिए अब एक महिला सदस्य को रखा जाना अनिवार्य किया गया है। बता दें कि, गत दिवस मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल की बैठक में यह निर्णय लिया गया था। इसके परिपालन में सामान्य प्रशासन विभाग ने आदेश जारी कर दिया है। जारी आदेश में अध्यक्ष, छत्तीसगढ़ राजस्व मंडल बिलासपुर सहित शासन के समस्त विभाग, सभी विभागाध्यक्ष, सभी संभागायुक्त, सभी कलेक्टरों और जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को प्रेषित कर आवश्यक कार्यवाही करने कहा गया है।

 

17-07-2020
छ: राजस्व निरीक्षकों की पदस्थापनाएं

रायपुर/बेमतरा। राजस्व परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले पटवारियों को राजस्व निरीक्षक के पद पर पदोन्नति दिए जाने के फलस्वरुप नियुक्त आरआई को कलेक्टर शिव अनंत तायल ने एक आदेश जारी कर जिले के विभिन्न तहसीलों के 6 राजस्व निरीक्षक मण्डल (आरआई सर्किल) में उनकी पदस्थापना की है। बता दें कि इनमें बेरला तहसील के रा.नि.म. कोदवा में देवेन्द्र कुमार, नवागढ़ तहसील के रा.नि.म. नांदघाट में उदेराम सोन्डे, साजा तहसील के अंतर्गत रा.नि.म. मौहाभठा में ऋषिकुमार वर्मा, रा.नि.म. बिजागोंड में राकेश कुमार वर्मा, रा.नि.म. साजा (नगरीय) में अरुण कुमार, बेमेतरा तहसील के अंतर्गत रा.नि.म. झाल में चन्द्रशेखर खरे को पदस्थ किया गया है।

04-07-2020
नियम विरुद्ध पदोन्नति मामले में शिक्षा कार्यालय धमतरी के दो कर्मचारियों का डिमोशन....

धमतरी। नियम विरुद्ध पदोन्नति के मामले में डीईओ कार्यालय में पदस्थ वरिष्ठ लेेेखा परीक्षक रमेश कुमार देवांगन तथा सहायक वर्ग दो लेखनराम साहू का डिमोशन किया गया है। 6दोनों की शिकायत प्रदेश लिपिक वर्गीय शासकीय कर्मचारी संघ के जिलाध्यक्ष गोपाल शर्मा ने की थीं, जिसके बाद तत्कालीन कलेक्टर रजत बंसल ने जांच समिति का गठन किया था। समिति के डिप्टी कलेक्टर और सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग धमतरी को शामिल किया गया था। समिति ने जांच कर प्रतिवेदन सौंपा,जिसके आधार पर पदोन्नति निरस्त करने की कार्रवाई की गई है। जांच में पाया गया कि जिला शिक्षा कार्यालय द्वारा पदोन्नति समय के पहले दे दी गई,जिनमें पदोन्नति के लिए शासन द्वारा निर्धारित मापदंडों का पालन नहीं हुआ है। जांच पश्चात रायपुर के सम्भाग आयुक्त ने दोनों के पदोन्नति आदेश को निरस्त कर दिया। रमेश देवांगन पुनः लेखपाल बनाए गए है तथा लेखनराम के संबंध में निर्णय पदोन्नति समिति द्वारा लिया जाएगा। इस कार्रवाई से शिक्षा विभाग में हड़कंप मच गया है।

 

02-07-2020
पदोन्नति के पुलिस प्रशिक्षणार्थी ने किया प्रशिक्षण पूर्ण

राजनांदगांव। पदोन्नति परीक्षा के अंतर्गत पुलिस कर्मचारियों के विभिन्न टेस्ट, जिसमें ड्रिल टेस्ट, पीटी,योगा,वेपन टेस्ट की परीक्षा हुई। इस परीक्षा में आरक्षक से प्रधान आरक्षक के लिए 6 प्रशिक्षणार्थी एवं प्रधान आरक्षक से सहायक उप निरीक्षक के पदोन्नति के लिए 48 इस प्रकार कुल 54 प्रशिक्षणार्थी ने प्रशिक्षण पूर्ण किया हैं, जो यथाशीघ्र आगामी दिनों में पदोन्नति प्राप्त करेंगे। प्रशिक्षणार्थियों को इरफ़ान-उल रहीम खान, पुलिस अधीक्षक, पुलिस प्रशिक्षण विद्यालय राजनांदगाँव द्वारा शीघ्र परीक्षा परिणाम भेजकर पदोन्नति के लिए अग्रिम शुभकामनाएँ दी गई। इस अवसर पर अंजलि एरेवार उप पुलिस अधीक्षक एवं सीडीआई बृजेश भदौरिया उपस्थित रहे।

29-02-2020
चिकित्सा शिक्षा विभाग के संचालक के विरुद्ध हाईकोर्ट ने जारी किया वारंट, दिया ये आदेश....

रायपुर। बिलासपुर के सिम्स में शुरू से पदस्थ स्टाफ नर्स आशना, कमलेश जैकब ,उज्जवला दास, सरिता बहादुर एवं अन्य शामिल है। वरीयता एवं पदोन्नति की मांग को लेकर कोर्ट में रिट याचिका दायर किया था। याचिका में उन्होंने कहा था कि सिम्स बनने के पूर्व वे सरदार वल्लभभाई पटेल शासकीय चिकित्सालय में कार्यरत थीं। उनकी 25 से 30 वर्ष की सेवा हो जाने के बावजूद भी उन्हें न तो सेवाकाल के प्रारंभ से वरीयता दी जा रही है और न ही पदोन्नति लेकिन सिम्स बनने के बाद नियुक्त स्टाफ नर्स पदोन्नति दी जा रही है। सिम्स अस्पताल में पदस्थ स्टाफ नर्सों को वरीयता एवं पदोन्नति से संबंधित प्रकरण में चिकित्सा शिक्षा विभाग के संचालक के विरुद्ध हाईकोर्ट द्वारा जमानती वारंट जारी कर दिया गया है। मामले में कोर्ट ने 26 मार्च को व्यक्तिगत रूप से उपस्थित होने के निर्देश दिए।

02-01-2020
पुलिस महानिदेशक ने 461 पुलिस अधिकारियों को दिया नववर्ष पर पदोन्नति का तोहफा

रायपुर। पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी द्वारा छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल के 14 प्लाटून कमांडरों को कंपनी कमांडर और 447 आरक्षकों को प्रधान आरक्षक के पद पर पदोन्नत कर नये वर्ष का तोहफा प्रदान किया गया है। डीएम अवस्थी ने बताया कि छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल के जवान राज्य के दूरस्थ अंचलों विशेषकर नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में तैनात होकर अपने परिवार से दूर रहकर अपनी ड्यूटी को अंजाम देते हैं, इन्हें पदोन्नति मिलने से एक तरफ इनकी कार्य क्षमता में वृद्धि होती है और इनका मनोबल बढ़ता है साथ ही इनके परिवारजनों को भी खुशी प्राप्त होती है तथा समाज में उनके मान सम्मान में वृद्धि होती है। पुलिस महानिदेशक अवस्थी ने विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया कि राज्य में समस्त पुलिस अधिकारियों-कर्मचारियों को समय पर नियमानुसार पदोन्नति मिलती रहनी चाहिए ताकि पुलिस अधिकारियों-कर्मचारियों तथा उनके परिवार के कल्याण के लिए विभाग में संचालित योजनाओं का समुचित लाभ मिल सके।

 

01-01-2020
आईएएस अधिकारियों की खुली किश्मत, नए साल में मिला पदोन्नति का तोहफा  

लखनऊ। प्रदेश के आईएएस अधिकारियों को नए साल पर पदोन्नति का तोहफा मिला है। मंगलवार को ही मुख्य सचिव की अध्यक्षता वाली विभागीय पदोन्नति समिति (डीपीसी) की संस्तुतियों पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंजूरी दे दी थी। बुधवार सुबह यानि आज सभी के पदोन्नति आदेश जारी कर दिए गए हैं। आईएएस संवर्ग में 1995 बैच के 11 आईएएस अधिकारियों को सचिव से प्रमुख सचिव, 2004 बैच के आठ आईएएस अधिकारियों को विशेष सचिव से सचिव तथा 2007 बैच के 10 आईएएस अधिकारियों को जूनियर एडमिनिस्ट्रेटिव ग्रेड से सेलेक्शन ग्रेड में पदोन्नति का तोहफा मिला है। इसी तरह 2011 बैच के 25 आईएएस अधिकारियों को जूनियर एडमिनिस्ट्रेटिव ग्रेड व 2016 बैच के 22 आईएएस अधिकारी को सीनियर टाइम स्केल में पदोन्नति मिली है। 

13-12-2019
वन विभाग में हुई पदोन्नति, आलोक कटियार बनाए गए अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक

रायपुर। राज्य शासन द्वारा भारतीय वन सेवा के पांच मुख्य वन संरक्षकों को अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक के पद पर पदोन्नति दी गई है। इनमें मुख्य वन संरक्षक बी.आनंद बाबू,कौशलेन्द्र कुमार,व्ही. शेट्टेपनावर,आलोक कटियार और अरूण कुमार पाण्डेय शामिल हैं। वहीं सात वन संरक्षकों को मुख्य वन संरक्षक के पद पर पदोन्नति प्रदान की गई है। उनमें आरके तिवारी, एबी मिंज, नरेन्द्र कुमार पाण्डेय,अनिल सोनी,प्रणिता पाल,राजेश कल्लाजे और शालिनी रैना शामिल हैं। चार उप वन संरक्षकों को वन संरक्षक के पद पर पदोन्नति प्रदान की गई है। इनमें आरके तिवारी, फुलजेंस टोप्पो,एस. जगदीशन और एस.वेंकटाचलम शामिल हैं। 

13-12-2019
5 आईएफएस अफसरों को पदोन्नति मिली बनाए गए एडिशनल पीसीसीएफ, देखें सूची...

रायपुर। राज्य सरकार ने मुख्य वन संरक्षक के 5 आईएफएस अधिकारियों को पदोन्नति देकर एडिशनल पीसीसीएफ बनाया है। पदोन्नत अधिकारियों में आनंद बाबू, कौशलेंद्र कुमार, वी शेट्टेपनावर, आलोक कटियार और अरुण कुमार पांडेय एडिशनल पीसीसीएफ बनाया गया है। देखें लिस्ट...

 

11-12-2019
पदोन्नति के लिए न्यायालयीन बाधा को दूर करे शासन : संजय शर्मा

रायपुर। छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन ने कहा कि प्रधान पाठक प्राथमिक व पूर्व माध्यमिक, व्याख्याता, शिक्षक, प्राचार्य के पदों पर पदोन्नति के लिए राजपत्र में प्रावधान/नियम प्रकाशित हो चुका है। पदोन्नति की प्रक्रिया प्रारंभ हों चुकी है, ठीक इसी बीच उच्च न्यायालय से पदोन्नति सम्बंधी शासन द्वारा बनाये गए नियम को रोक लगाने के कारण पदोन्नति में विलंब होना स्वभाविक है। प्रदेश अध्यक्ष संजय शर्मा ने गौरव द्विवेदी प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा विभाग से मांग की है कि न्यायालयीन बाधाओं को दूर करने शासन का आवश्यक पक्ष न्यायालय में प्रस्तुत करके पदोन्नति के लिए रास्ता बनाया जाए।

शिक्षा मंत्री व प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा स्कूल शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक में पदोन्नति के लिए वरिष्ठता सूची जारी कर प्रक्रिया प्रारंभ करने का निर्देश दिया गया है। शिक्षा मंत्री व प्रमुख सचिव शिक्षा के निर्देश का छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन ने स्वागत किया था और प्रमुख सचिव के ऊपर विश्वास व्यक्त करते हुए उनसे मांग की है कि शासन स्तर से शीघ्र ही न्यायालय में युक्तियुक्त पक्ष रखकर पदोन्नति के लिए लगे रोक को हटवाते हुए शीघ्र पदोन्नति का रास्ता निकले। प्रदेशाध्यक्ष संजय शर्मा, प्रदेश संयोजक सुधीर प्रधान, वाजीद खान, प्रदेश उपाध्यक्ष हरेंद्र सिंह, देवनाथ साहू, बसंत चतुर्वेदी, प्रवीण श्रीवास्तव, विनोद गुप्ता, प्रांतीय सचिव मनोज सनाढ्य, प्रांतीय कोषाध्यक्ष शैलेन्द्र पारीक ने कहा है कि प्रदेश के प्राथमिक व माध्यमिक शाला में प्रधान पाठक के हजारों पद रिक्त है, प्राचार्य के भी पद पर पदोन्नति किये जाने का प्रावधान है, साथ ही व्याख्याता, शिक्षक के पदों पर पदोन्नति का नियम है, अतः न्यायालयीन बाधा को दूर कर एल बी संवर्ग के प्रथम कार्यभार ग्रहण तिथि को आधार मानकर शीघ्र पदोन्नति किया जाए।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804