GLIBS
30-06-2020
पत्नी, प्रेमी और दोस्त ने की थी पति की हत्या, अनुकंपा नौकरी और पैसों के लालच में बनाया था प्लान, अब सलाखों के पीेछे

रायपुर/सूरजपुर। जिले के भटगांव थाना क्षेत्र में सेवानिवृत्ति से तीन दिन पहले एसईसीएल कर्मी की हत्या के मामले का पुलिस ने रहस्य का खुलासा कर दिया है। कॉलरीकर्मी की हत्या उससे 20 साल छोटी तीसरी पत्नी ने प्रेमी व उसके दोस्त से करा दी थी। हत्या का कारण मृत्यु उपरांत मिले रुपयों व अनुकंपा नौकरी से दोनों आगे की जिंदगी पत्नी व उसके प्रेमी ने साजिश की थी। पुलिस ने आरोपी पत्नी और उसके प्रेमी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। वहीं प्रेमी का दोस्त फरार बताया जा रहा है। बता दें कि सूरजपुर के भटगांव थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम बंशीपुर निवासी बाबूलाल शिवानी खदान में पंप ऑपरेटर के पद पर पदस्थ था। वह अपनी तीसरी पत्नी सागरमती 40 वर्ष व 2 बेटों के साथ रहता था।

उसकी तीसरी पत्नी उससे 20 साल छोटी थी। उसने घर के सामने वाले हिस्से में ढाबा भी खोल रखा था जिसे बच्चों के सहयोग से पत्नी चलाती थी। बाबूलाल 31 मार्च को सेवानिवृत्त होने वाला था। इसी बीच 28 मार्च की सुबह घर से कुछ दूर नहर के पास उसकी संदिग्ध अवस्था में लाश मिली थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हत्या की पुष्टि होने के बाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू की। एसपी राजेश कुकरेजा के नेतृत्व में पुलिस जांच में पता चला कि पत्नी के प्रेमी मणिरंजन मिश्रा उर्फ पिंटू मिश्रा ने दोस्त सीताराम यादव के साथ मिलकर बाबूलाल की गमछे से गला व मुंह दबाकर हत्या की थी और शव को नहर के पास फेेंक दिया था। इस मामले में पुलिस ने पत्नी सागरमती व प्रेमी मणिरंजन उर्फ पिंटू मिश्रा को गिरफ्तार कर धारा 302, 201, 120बी व 34 के तहत जेल भेज दिया।

11-01-2020
जमीन की लालच में सगे भाई ने सुपारी दे करा दी भाई की हत्या

महासमुन्द। लाखों की जमीन के लालच में सगे भाई ने साजिश रच के करवा दी 81 हजार में भाई की हत्या करा दी। सरायपाली पुलिस ने हत्या के चारो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। महासमुन्द पुलिस अधीक्षक जितेन्द्र शुक्ला ने प्रेस को जानकारी देते हुए बताया कि 6 जनवरी की सरायपाली थाना के जमदरहा निवासी में शोभा यादव ने अपने पति ठंडा राम के गुम होने की रिपोर्टर दर्ज कराई थी। पुलिस को शोभा यादव ने जानकारी देते दी कि ठंडा राम यादव 4 जनवरी को घर से सी जी 06 जीडी 7617 में निकला थाए वह अब तक घर नही आया है, लेकिन उसकी मोटर साइकिल जमदरहा के जंगल मे जली हुई हालत में मिली है। पुलिस ने महिला की रिपोर्ट पर गुम इंसान दर्ज कर मामले की विवेचना कर रही थी कि 7 जनवरी को ठंडा राम यादव के घर के बाहर के पत्र मिला जिसमें गुम इंसान के परिवार से 7 लाख रुपए की फिरौती की मांग की गईं थी। फिरौती के लिए पत्र में आरोपियों ने 9 अंको का था जिसमें फिरौती मांगने वाले से सम्पर्क पुलिस का नहीं हो सका। फिरौती के लिए पत्र के बाद पुलिस को इस बात का अंदेशा होने लगा कि ठंडाराम यादव कही कुछ नुकसान ना पहुंचाए। पुलिस अधीक्षक जितेन्द्र शुक्ला ने तत्काल अनुविभागीय अधिकारी राजीव शर्मा के साथ मिलकर थाना प्रभारी मल्लिका बेनर्जी के नेतृत्व में थाना सरायपाली की एक टीम गठन कर सभी बिन्दुओं पर नजर रखते हुए जांच शुरू कर दी।

पुलिस ने ठंडराम यादव के मोबाईल का कॉल डिटेल निकलवाया तो जानकारी मिली कि ठंडराम का पड़ोसी बसंत चौहान से घटना दिनांक को आखिरी बार बात होने के बाद से उसका मोबाइल बंद हो गया। पुलिस ने शक के आधार पर बसंत चौहान को थाने बुलाकर पूछताछ की तो बसंत चौहान पहले तो पुलिस को गोलमोल जवाब देता रहा लेकिन पुलिस की पूछताछ के सामने वह बहुत ज्यादा समय तक टिक नहीं सका और ठंडराम यादव की हत्या अपने साले सीतल चौहान के साथ मिलकर करना स्वीकार कर लिया और पुलिस को जानकारी देते हुए बताया कि ठंडराम यादव का भाई बाबूलाल यादव पिता भगतराम यादव उम्र 40 साल आंवलचक्का ने 81 हजार रुपए में अपने छोटे बाई ठंडराम चौहान को मारने की सुपारी दी थी। ठंडराम यादव के जान से मारने की सुपारी देने में बाबूलाल यादव का पुत्र विजय यादव भी शामिल था। जिसके बाद आरोपियों ने 4 जनवरी को ठंडराम को बुलाकर अपने साथ ले गये और खेत में उसकी हत्या कर दी और लाश को खलिहान में पैरे में छुपा दिया। इसके बाद पुलिस को गुमराह करने की नियत से आरोपियों ने जमदरहा के जंगल में ठंडराम की मोटर साइकिल जला दी थी जो पुलिस को जली हालत में मिली थी। पुलिस ने हत्या करने वाले बसंत चौहान, सीतल चौहन और हत्या करने सुपारी देने वाले पिता पुत्र बाबूलाल यादव और उसके पुत्र विजय यादव को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने हत्या में प्रयोग किये जाने वाला कुल्हाड़ी के साथ आरोपियों से 5 नग मोबाइल, फिरौती के लिए लिखे पत्र बरामद कर लिया है। पुलिस चारों आरोपियों के खिलाफ हत्या का मामला 302 दर्ज कर कार्रवाई कर अन्य बिन्दुओं पर पुलिस जांच कर रही है।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804