GLIBS
26-05-2020
व्यापारियों ने क्वारंटाइन सेंटर में रह रहे लोगों के भोजन के लिए कलेक्टर को भेंट की 150 थालियां

कोरिया। छत्तीसगढ़ चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज के चिरमिरी क्षेत्र के पदाधिकारी राकेश मित्तल, संजय सिंह, बंटी सेठिया, आशीष जैन, कमल जैन एवं अन्य चेंबर सदस्यों ने मंगलवार को कलेक्टर डोमन सिंह से मिलकर कोरिया जिले में उनकी अगुवाई में चल रहे कोरोना नियंत्रण कार्यक्रम की सफलता के लिए उन्हें धन्यवाद देते हुए चिरमिरी के क्वारंटाइन सेंटर के लिए क्षेत्र के व्यापारियों के सहयोग से खाना खाने की 150 नग थालियां अपनी तरफ से भेंट करते हुए आवश्यक व्यापारी बिंदुओं पर सार्थक चर्चा की। व्यापारियों ने कलेक्टर सिंह से चर्चा करते हुए कहा कि हल्दीबाड़ी कंटेंनमेंट एरिया को अब काफी दिन हो चुके हैं और संदिग्ध लोगों में ज्यादातर रिपोर्ट भी नेगेटिव आ गई है। ऐसे में हल्दीबाड़ी कंटेंनमेंट एरिया के दायरे को छोटा कर क्रमवार कुछ समय के लिए व्यापारिक प्रतिष्ठानों को खोलने की अनुमति दी जाए।

कंटेनमेंट एरिया के बाहर आवश्यक सेवाओं के साथ-साथ सभी तरह की दुकानों को पूरे नगर निगम क्षेत्र में क्रमवार तरीके से खोलने की अनुमति दी जाए। आगे उन्होंने कहा कि सभी प्रमुख बैंक कैंटेनमेंट एरिया में आ गए हैं, जिससे बैंक बंद होने के कारण व्यापारियों को दैनिक लेन-देन में बहुत समस्या आ रही है। इस स्थिति में बैंकों को निश्चित नियमों के तहत चालू किया जाए। लॉक डाउन अवधि के दौरान व्यापारियों और उनके कर्मचारियों के साथ प्रशासन द्वारा समझाइश एवं सौहार्दपूर्ण वातावरण में कार्य किया जा रहा है। इन सभी सुझावों पर कलेक्टर, अनुविभागीय दंडाधिकारी चिरमिरी एवं सीएसपी ने सकारात्मक दृष्टिकोण अपनाते हुए शीघ्र ही समस्याओं से निजात दिलाने का आश्वासन दिया।

चिरमिरी क्षेत्र के सभी चेंबर पदाधिकारियों एवं सदस्यों ने इन विषम परिस्थितियों में प्रशासन के साथ मीटिंग आयोजित करवाने एवं क्षेत्र के व्यापार को पुनः चरणबद्ध तरीके से चालू करवाने के प्रयास के लिए जिलाध्यक्ष पंकज जैन एवं सभी जिला पदाधिकारियों की प्रशंसा करते हुए उन्हें भी धन्यवाद ज्ञापित किया। चिरमिरी के व्यापारियों एवं समस्त चेम्बर सदस्यों ने क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों के प्रयास की सराहना करते हुए सभी से मास्क, सैनिटाइजर का इस्तेमाल करने और सोशेल डिस्टेंस के दिशा-निर्देशों का पालन करने का आग्रह किया। इसी तरह जिले के विभिन्न स्वयंसेवी संगठन, जनप्रतिनिधि, महिला स्व सहायता समूह, युवा मंडल के द्वारा जनसहभागिता दर्शाते हुए समय-समय पर क्वारंटाइन सेंटर में ठहरे लोगों के लिए स्वल्पाहार भी उपलब्ध कराया जा रहा है।

21-05-2020
अब फेसबुक और इंस्टाग्राम पर भी की जा सकती है ऑनलाइन शॉपिंग, व्यापारी मुफ्त में खोल सकेंगे दुकानें

नई दिल्ली। फेसबुक दुनिया का सबसे बड़ा सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म है। फेसबुक सोशल नेटवर्किंग साइड से करीब अरबों लोगों जुड़े हुए है। इस सामाजिक नेटवर्किंग साइड से लोगों के बीच परस्पर संवाद होता रहता है। लेकिन फेसबुक ने अब एक कदम आगे बढ़ने की सोची है। दरअसल इंटरनेट पर शॉपिंग करने के लिए फेसबुक एक नया प्लेटफॉर्म शुरू कर रहा है। इसकी मदद से व्यापारी ऑनलाइन दुकानें खोल सकेंगे। फेसबुक और इंस्टाग्राम के जरिए इन दुकानों तक पहुंचा जा सकेगा। इस प्लेटफॉर्म पर दुकानों के प्रोडक्ट दिखाए जा सकेंगे और यहीं से उनकी लाइव बिक्री भी हो सकेगी। फेसबुक ने प्रेस नोट जारी करके यह जानकारी दी है। कोरोना वायरस की वजह से बहुत सारी दुकानें बंद पड़ी हैं, जिससे बिजनस ऑनलाइन शिफ्ट हो रहे हैं। खुद फेसबुक ने कहा है कि छोटे-बड़े कारोबारी कोविड-19 की वजह से नुकसान झेल रहे हैं, जिन्हें फेसबुक शॉप के जरिए ऑनलाइन प्लेटफॉर्म मुहैया कराया जाएगा। इन सब को देखते हुए ये कहा जा सकता है कि अब फेसबुक अपनी फेसबुक शॉप के जरिए ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म ऐमजॉन को टक्कर देने की सोच रहा है।

फेसबुक के फाउंडर और सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने इस प्रोजेक्ट के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस संकट के दौरान छोटे व्यापारियों को भारी नुकसान झेलना पड़ रहा है और उनके व्यापार डूब रहे हैं। इनकी मदद के लिए फेसबुक नया प्लेटफॉर्म लांच कर रहा है। यहां व्यापारी मुफ्त में ऑनलाइन दुकानें खोल सकेंगे लेकिन लेन-देन पर शुल्क लिया जाएगा। वैसे भी फेसबुक विज्ञापन के जरिए ही कमाई करता है। चूंकि सारी गतिविधियां फेसबुक सेवाओं के बीच ही होंगी इसलिए कंपनी देख सकेगी कि लोग किस तरह की दुकानों से इंटरैक्ट करते हैं। किस किस्म के प्रोडक्ट्स में उनकी दिलचस्पी है और आखिर में वे किस तरह की चीजें खरीदते हैं। इसी के तहत फेसबुक ने पिछले महीने मुकेश अंबानी की जियो में भी भारी-भरकम निवेश किया था। अब फेसबुक पर ऑनलाइन मार्केट का प्लेटफॉर्म लांच करना भी उसी रणनीति का अगला हिस्सा है।

09-05-2020
चेंबर ऑफ कॉमर्स भिलाई इकाई ने छावनी पुलिस का किया स्वागत                 

भिलाई। छत्तीसगढ़ चैम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज भिलाई इकाई द्वारा सर्कुलर मार्केट व्यापारी संघ ने कोरोना वारियर्स पुलिस विभाग छावनी का सम्मान किया गया। छावनी सीएसपी विश्वास चंद्राकर व छावनी टीआई विनय सिंह बघेल को सर्कुलर मार्केट में सभी दुकानदारो ने अपनी दुकानों से बाहर निकलकर उत्कृष्ट सेवा कार्य के लिए दोनों अधिकारियों पर पुष्पवर्षा की। 45 दिनों के बाद आज बाजारों में सभी ट्रेड की दुकानें खुली। बाजारों के खुलते ही आज भिलाई चैम्बर के संयोजक अजय भसीन व प्रदेश उपाध्यक्ष गार्गीशंकर मिश्रा के नेतृत्व में चैम्बर की टीम सेक्टर 6 लक्ष्मी मार्केट सुपेला आकाश गंगा लिंक रोडए सर्कुलर मार्केट में व्यापारियों से मिले। अजय भसीन व गार्गी शंकर मिश्रा ने बताया कि दुकानदर इस परिस्थिति में व्यापार करने के तरीकों में कुछ महत्वपूर्ण बदलाव करते देखे गए।

सोशल डिस्टेंस का पालन पहले से बेहतर किराना दुकानों और सब्जी बाजार में देखने को मिला साथ ही आज अन्य सभी दुकानदारों ने भी सोशल डिस्टेंस का पालन एक जिम्मेदारी के रूप में किया। उन्होंने बताया  कि सभी व्यापारी अपने दुकानों से होम डिलीवरी की व्यवस्था दुरूस्त कर रहे हैं और हेल्पलाइन नंबर जारी कर अपने ग्राहकों से प्राप्त लिस्ट के समान को होम डिलीवरी कर रहे हैं। सर्कुलर मार्किट के एक जूता दुकान में ग्राहक को जूता पहनने से पूर्व एक पोलोथिन उनके पैरों में पहनने दिया जाता है और वह पॉलीथिन सिर्फ एक बार ही उपयोग में लाई जाती है साथ ही सैनिटाइजर स्वयं भी व ग्राहकों को भी उपयोग के लिए दी जा रही है। सामाजिक दूरी का पालन कराने में 1 बड़ी समस्या का निदान दुकानदारों ने ऐसा निकाला ग्रीन मैट लगाकर ग्राहकों के लिए दूरी में बैठने की व्यवस्था की। सभी दुकानों में सामाजिक दूरी के साथ-साथ व्यापारी स्वयं और कर्मचारी को भी मास्क व सैनिटाइजर का कराते देखे गए।

04-05-2020
किराना दुकान से गुड़, शक्कर, तेल समेत 60 हजार का राशन चोरी, व्यापारी के उड़े होश

दुर्ग। जिले में स्थित इंदिरा मार्केट सब्जी मंडी के पास जय तेल भंडार में बीती रात चोरी हो गई। चोर ने बड़ी ही सफाई से दुकान में लगे ताला तोड़कर लगभग 60 हजार मूल्य के किराना सामान पर हाथ साफ कर दिया। घटना की शिकायत दुकान संचालक तोरण लाल चंद्राकर ने सिटी कोतवाली में की है। लॉक डाउन की वजह से किराना व्यापारी शनिवार दोपहर 2 बजे दुकान को बंद कर घर लौट गया था। रविवार सुबह दुकान संचालक का भतीजा संजय चंद्राकर सुबह 8 बजे दुकान खोलने पहुंचा तो शटर का ताला टूटा मिला।

शटर उठाने पर चोरी की घटना का खुलासा हुआ है। क्षेत्र के दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरा से भी कुछ खास जानकारी हासिल नहीं हो पाया है। जय तेल भंडार से कुछ दूरी पर स्थित पारख ज्वेलर्स में लगे सीसी टीवी कैमरा की चोरी तीन दिन पहले हो गई थी। वहीं ज्वेलर्स के ठीक सामने अन्य दुकान का केबल भी काट दिया गया था। घटना का खुलासा सुबह हुआ। जांच के दौरान कैमरा चोरी करने वाले तीन युवक सीसीटीवी कैमरा में रिकॉर्ड हो चुके है। पुलिस उनकी तलाश कर रही है। पुलिस ने मामले को विवेचना में ले लिया है और आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है।

01-05-2020
दिल्ली की सारी सीमाएं सील, राजधानी की आजादपुर सब्ज़ी मंडी में कोरोना भी मिलने लगा

दिल्ली/रायपुर। दिल्ली की सारी सीमाएं सील कर दी गई हैं। अब किसी भी प्रदेश से आने वाले व्यक्ति को बिना अधिकृत पास के दिल्ली में प्रवेश करने नहीं दिया जाएगा। दिल्ली में कोरोना पॉजिटिव केस मिलने का सिलसिला जारी है और यही दिल्ली की चिंता का कारण भी है। एशिया की सबसे बड़ी दिल्ली की आजादपुर सब्जी मंडी में भी एक व्यापारी को कोरोना पॉजिटिव पाया गया और उससे संपर्क में आने वाले अलवर के सब्जी उत्पादक किसान को भी कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। वो पेमेंट के लिए अज़ादपुर मंडी जाता रहता था। मेडिकल टीम अब उसकी ट्रेवल हिस्ट्री खंगाल रही है। आजादपुर सब्जी मंडी में अब तक 15 लोगों को कोरोना पॉजिटिव पाया गया है और यह संख्या हैरान कर देने वाली है। सब्जी मंडी में कोरोना की पहुंच और उसका बढ़ता संक्रमण चिंता का सबब बना हुआ है।

30-04-2020
व्यापारी की याचिका पर कोर्ट ने कहा, अभ्यावेदन पर नियमानुसार निर्णय ले शासन

रायपुर/बिलासपुर। छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट ने शासन को लॉक डाउन में फंसे व्यापारी को उत्तरप्रदेश जाने की अनुमति देने के लिए पेश अभ्यावेदन पर नियमानुसार निर्णय लेने का निर्देश दिया है।बता दें कि याचिकाकर्ता मथुरा निवासी दीपक कुमार शर्मा व्यवसाय के सिलसिले में 20 मार्च को बिलासपुर आए थे। लॉक डाउन के कारण वे यहीं फंस गए। उन्होंने कलेक्टर को स्वयं के वाहन से वापस अपने घर मथुरा जाने की अनुमति प्रदान करने आवेदन दिया। अनुमति नहीं मिलने पर उन्होंने अधिवक्ता धीरज वानखेडे के माध्यम से हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की। गुरुवार को याचिका में सुनवाई हुई। कोर्ट ने अपने आदेश में कहा केंद्र व् राज्य शासन का इस संबंध में गाइड लाइन जारी हुआ है। याचिकाकर्ता को अभ्यावेदन प्रस्तुत करने एवं शासन को इस पर नियमानुसार निर्णय लेने का निर्देश दिया है।

 

22-04-2020
व्यापारी परेशान और इधर उनके नेताओं ने साध ली चुप्पी, बढ़ी नाराजगी....

धमतरी। व्यापारी नेताओं के खिलाफ धमतरी के व्यापारियों में नाराजगी बढ़ने लगी है। कुछ व्यापारियों ने बताया कि लॉक डाउन के इस समय मे व्यापार ठप होने के कारण आर्थिक संकट से जूझना पड़ रहा है। चूंकि धमतरी ग्रीन जोन में है तो प्रशासन से कुछ रियायत मिली है, कलेक्टर का आदेश अभी प्रमुख अखबारों में प्रकाशित हुआ है। उक्त आदेश में मोबाइल रिचार्ज, पंखा, कूलर, ऐसी, वाहन पार्ट्स समेत कई अन्य दुकानें खोले जाने का उद्देश्य है। इस आदेश के बाद जब व्यापारियों ने अपनी दुकानें खोली तो पुलिस के द्वारा निर्धारित समय के पहले ही दुकानों को वापस बंद करा दिया गया। व्यापारियों का कहना है कि दुकान खोलने को लेकर असमंजस की स्थिति है, व्यापारियों के नेता बनने वाले तथा संगठन से जुड़े लोगों को ऐसे समय में आगे आकर व्यापारियों का पक्ष रखना चाहिए लेकिन कोई भी आगे नहीं आ रहा। चाहे व्यापारियों पर लगातार जुर्माना वसूला जा रहा हो या आदेश के बाद भी दुकान बंद कराई जा रही हो, व्यापारी नेताओ ने चुप्पी साध रखी है, मानो उन्हें व्यपारी हित से ज्यादा अधिकारियों से अपने सम्बन्ध की ज्यादा चिंता है, इसलिए व्यापारी हित को लेकर आवाज नहीं उठाई जा रही  है।

28-03-2020
मुख्यमंत्री की पहल पर गेंहू की बिक्री करेगी एफसीआई,व्यापारी निर्धारित दर पर कर सकेंगे उठाव

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की पहल पर भारतीय खाद्य निगम गेंहू बिक्री करेगा। प्रदेश के व्यापारी और आटा मिल वाले निर्धारित दर पर इसका उठाव कर सकेंगे। इस पहल से लॉकडाउन की स्थिति में आम नागरिकों को गेंहू निर्धारित दर पर आसानी से उपलब्ध हो सकेगा। एफसीआई द्वारा प्रदेश में बिक्री के लिए सात हजार 250 मीटरिक टन गेंहू उपलब्ध कराया गया है। इस गेंहू की बिक्री के लिए प्रदेश के सात जिलों में गेंहू की कुल मात्रा और उसकी दर भी निर्धारित की गई है। एफसीआई द्वारा गेंहू की दर 2135 रूपए और इसमें परिवहन दर के साथ जिलेवार इसकी दर भी निर्धारित की गई है।  

रायपुर जिले के मंदिरहसौद में 900 मीटरिक टन गेंहू की मात्रा निर्धारित की गई है, यहां गेंहू की बिक्री 2393 रूपए प्रति क्विंटल की दर से की जाएगी। इसी प्रकार बिलासपुर जिले के लिए 300 मीटरिक टन की मात्रा निर्धारित की गई है और यहां 2401 रूपए प्रति क्विंटल की दर से बिक्री होगी। सूरजपुर जिले के विश्रामपुर में 4000 मीटरिक टन गेंहू उपलब्ध कराया गया है, यहां इसी बिक्री 2368 रूपए प्रति क्विंटल की दर से की जाएगी। रायगढ़ जिले में 600 मीटरिक टन की मात्रा निर्धारित की गई है, यहां 2458 रूपए प्रति क्विंटल की दर से बिक्री की जाएगी। जांजगीर-चांपा जिले के नैला में उपलब्ध 150 मीटरिक टन गेंहू को 2425 रूपए प्रति क्विंटल की दर से बेचा जाएगा। बस्तर जिले के जगदलपुर में उपलब्ध 300 मीटरकि टन गेंहू की बिक्री 2468 रूपए प्रति क्विंटल की दर से की जाएगी। राजनांदगांव जिले में उपलब्ध 1000 मीटरिक टन गेंहू की बिक्री 2394 रूपए प्रति क्विंटल की दर से की जाएगी।

21-03-2020
कोरोना का बुरा असर पड़ रहा चूड़ी कारोबार पर, 500 करोड़ का कारोबार हुआ प्रभावित

नई दिल्ली। होली के बाद का समय चूड़ी के लिए लगन का सबसे बड़ा सीजन माना जाता है। लेकिन कोरोना के कारण चूड़ी उत्पादन से लेकर चूड़ी की बिक्री तक का चक्र टूट गया है। कोरोना के कोहराम में फिरोजाबाद की चूड़ियों की खनक गुम हो गई है। यहां कांच की चूड़ी का कारोबार पूरी तरह से ठप पड़ गया है। बाहर से व्यापारी न यहां आ रहे हैं और न ही यहां के व्यापारी बाहर जा रहे हैं। चूड़ी कारोबारियों के अनुसार लगन के सीजन पर करीब पांच सौ करोड़ का कारोबार हो जाता है। कोरोना वायरस के कारण इस बार चूड़ी कारोबार पर बुरा असर पड़ा है। सुहाग नगरी में बनने वाली कांच की चूड़ियां पूरे देश में पहनी जाती है। होली के बाद चैत्र नवरात्र से मई माह तक पूरे देश में चूड़ियों की बंपर सेल होती है। चूंकि होली के बाद सहालग के साथ बड़े-बड़े मेले आदि लगते है। इसलिए चूड़ी बाजार में इस सीजन को लगन का सीजन कहा जाता है। इस सीजन में चूड़ियों की सबसे अधिक मांग उत्तर प्रदेश के सभी शहरों के अलावा बिहार, मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र से होती है।

चूड़ी व्यापारी नीरज जैन ने कहा कि होली के बाद से ही पूरे देश से आर्डर मिलने शुरू हो जाते है। इस बार कोरोना के कारण व्यापार थम गया है। बाजार में सन्नाटा है। जबकि इस सीजन में फुरसत नहीं मिलती थी। चूड़ी व्यापारी उमेश उपाध्याय ने बताया कि चूड़ी व्यापार के लिए होली के बाद सबसे बड़ा सीजन शुरू होता है। बाहर के व्यापारी आर्डर नहीं दे रहे हैं। बाहर के व्यापारियों का कहना है कि कोरोना के कारण मेला आदि सब बंद हैं। चूड़ी बिकेगी कहां। तीन स्तर पर चूड़ी कारोबार प्रभावित है। उत्पादन, डेकोरेशन, चूड़ी गोदाम के साथ-साथ श्रमिक भी प्रभावित है। यहां से नेपाल और बांग्लादेश भी चूड़ी जाती है। 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804