GLIBS
09-09-2020
एनएमडीसी के चेयरमैन सुमित देव ने सीएम भूपेश बघेल को सौजन्य मुलाकात में कोरोना से लड़ने के लिए 10 करोड़ का चेक सौंपा

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से एनएमडीसी के सीएमडी सुमित देव ने सौजन्य मुलाकात की। उन्होंने कोरोना संक्रमण से रोकथाम व बचाव के लिए मुख्यमंत्री बघेल को मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए 10 करोड़ रूपए की राशि के चेक सौंपा। मुख्यमंत्री ने इस सहायता के लिए देव को धन्यवाद दिया। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू, सचिव खनिज संसाधन विभाग  अन्बलगन पी. एवं एनएमडीसी के सलाहकार दिनेश श्रीवास्तव भी उपस्थित थे।

 

07-08-2020
यूपीएससी के नए चेयरमैन बने डॉ.प्रदीप कुमार जोशी, छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश के लोक सेवा आयोगों के रह चुके अध्यक्ष  

नई दिल्ली। डॉ.प्रदीप कुमार जोशी को संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) का अध्यक्ष नियुक्त किया गया। शुक्रवार को उन्होंने अपने पद की शपथ ली। यूपीएससी के अध्यक्ष के तौर पर जोशी का कार्यकाल 12 मई 2021 तक होगा। डॉ.जोशी अभी तक आयोग के सदस्य थे। छत्तीसगढ़ एवं मध्यप्रदेश के लोक सेवा आयोगों के अध्यक्ष रह चुके प्रदीप कुमार जोशी मई 2015 में यूपीएससी के सदस्य बने थे। यूपीएससी चेयरमैन के तौर पर प्रदीप कुमार जोशी अरविंद सक्सेना की जगह लेंगे, जिनका कार्यकाल आज खत्म हो गया है। इस समय भीम सेन बस्सी, एयर मार्शल एएस भोंसले (सेवानिवृत्त), सुजाता मेहता, मनोज सोनी, स्मिता नागराज, एम.सत्यवती, भारत भूषण व्यास, टीसीए आनंद और राजीव नयन चौबे यूपीएससी के अन्य सदस्य हैं। जोशी की नियुक्ति अध्यक्ष के तौर पर हो जान के बाद यूपीएससी में एक सदस्य की जगह खाली हो गई है।  गृह मंत्रालय ने भी की कई अहम नियुक्तियां आज ही गृह मंत्रालय ने भी कई अहम नियुक्तियां की है। आईपीएस अधिकारी अरविंद दीप को सीआईएसएफ का एडीजी बनाया गया है। वहीं सीबीआई के संयुक्त डायरेक्टर अमित मोहन प्रसाद को अब आईटीबीपी का एडीजी बना दिया गया है। सीआईएसएफ के डीआईजी दयाक गंगवार को सीआईएसएफ का आईजी बनाया गया है। वहीं आईपीएस पीएस रानीपसे सीआरपीएफ के नए आईजी होंगे।

 

21-07-2020
राज्य खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति निगम के चेयरमैन बने रामगोपाल अग्रवाल के धमतरी आगमन पर कांग्रेसी ने किया स्वागत

धमतरी। नान का चेयरमैन बनने के बाद रामगोपाल अग्रवाल के प्रथम नगर आगमन पर भव्य स्वागत हुआ। ज्ञात हो कि प्रदेश सरकार ने धमतरी जिले को खास महत्व दिया है और जिले के नेताओं को खास पद से नवाजा गया है कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व कोषाध्यक्ष रामगोपाल अग्रवाल को खाद्य नागरिक आपूर्ति निगम का अध्यक्ष बनाया गया है। इस अवसर पर जिले के कांग्रेस संगठन प्रभारी द्वारिकाधीश यादव संसदीय सचिव भी मौजूद थे। राज्य खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति निगम के चेयरमैन रामगोपाल अग्रवाल मंगलवार को शाम 4 बजे धमतरी जिला सीमा में पहुंचे। जहां उनका अलग-अलग स्थानों पर भव्य स्वागत किया गया।

सेहराडबरी के पास एनएसयूआई के पदाधिकारी, अर्जुनी मोड़ के पास राइस मिल एसोसिएशन, कांग्रेस कार्यालय के पास जिला कांग्रेस एवं ब्लॉक कांग्रेस कमेटी ने भव्य स्वागत किया। इसी तरह अग्रवाल समाज,बोल बम कांवरिया संघ,मुस्लिम समाज,मराठा समाज द्वारा उन्हें बधाई देते हुए स्वागत किया गया। रैली के दौरान रामगोपाल अग्रवाल कांग्रेस भवन पहुंचे जहाँ पर उन्होंने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। नागरिक आपूर्ति निगम की जिम्मेदारी मिलने के बाद उन्होंने राज्य सरकार को धन्यवाद ज्ञापित किया और कहा कि अपने कर्तव्यों को बखूबी निभाते हुए गरीबों को भूखे पेट नही रहना पड़ेगा। वे अपने दायित्वों को बखूबी निर्वहन करेंगे। कांग्रेस सरकार की पीडीएस योजना के माध्यम से गरीब परिवार को राशन सामग्री उपलब्ध कराई जा रही है,जो कि बहुत ही महत्वपूर्ण योजना है। इस अवसर पर सिहावा विधायक डॉ.लक्ष्मी ध्रुव,पूर्व विधायक गुरुमुख सिंह होरा, जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष शरद लोहाना,पूर्व जिला अध्यक्ष मोहन लालवानी,महापौर विजय देवांगन,सभापति अनुराग मसीह, आनंद पवार,नीलम चंद्राकर, हर्षद मेहता,सहित अनेक कांग्रेसी मौजूद थे।

 

17-07-2020
नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. डहरिया से पाठ्य पुस्तक निगम के नवनियुक्त चेयरमैन ने की मुलाकात

रायपुर। नगरीय प्रशासन और श्रम मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया से आज यहां उनके निवास कार्यालय में छत्तीसगढ़ पाठ्य पुस्तक निगम के नवनियुक्त चेयरमैन शैलेश नितिन त्रिवेदी ने सौजन्य मुलाकात की। मंत्री डॉ. डहरिया ने नवनियुक्त चेयरमैन शैलेश नितिन त्रिवेदी को नए दायित्व के लिए बधाई एवं शुभकामनाएं दी।

22-05-2020
विश्व स्वास्थ्य संगठन के एग्जीक्यूटिव बोर्ड के चेयरमैन बने डॉ. हर्षवर्धन, पदभार संभाल

नई दिल्ली। कोरोना महासंकट के बीच भारत को बड़ी उपलब्‍ध‍ि हासिल हुई है। शुक्रवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने विश्व स्वास्थ्य संगठन  (डब्ल्यूएचओ) के 34 सदस्यीय एग्जीक्यूटिव बोर्ड के चेयरमैन का पदभार संभाल लिया है। उन्होंने दिल्ली स्थिति डब्ल्यूएचओ के कार्यालय में सारी औपचारिकताएं पूरी कीं। हर्षवर्धन ने जापान के डॉ. हिरोकी नाकातानी की जगह ली है। पदभार संभालने के बाद स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि मुझे पता है कि वैश्विक संकट के समय में मैं इस कार्यालय में प्रवेश कर रहा हूं। अगले 2 दशकों में कई स्वास्थ्य चुनौतियां होंगी। इन चुनौतियों से हम सब मिलकर लड़ेंगे। उन्होंने कहा कि भारत मौजूदा वक्त में कोरोना से दृढ़ संकल्प के साथ लड़ रहा है। जिस वजह से आज भारत में कोरोना की मृत्युदर सिर्फ 3 प्रतिशत ही है। वहीं 135 करोड़ की आबादी वाले भारत में सिर्फ एक लाख मामले सामने आए हैं। इसके साथ ही भारत में रिकवरी रेट 40 प्रतिशत से ज्यादा है।गौरतलब है कि मौजूदा वक्त में विश्व स्वास्थ्य संगठन में भारत को महत्वपूर्ण पद मिलना कई मायनों में बेहतर है। कोरोना काल में भारत ने न सिर्फ अपने देश में काफी हद तक कोरोना को रोकने का प्रयास किया है बल्कि पूरे विश्व को मदद भी की है।

 

12-05-2020
सेल के चेयरमैन ने भिलाई बिरादरी से बात कर संकटकाल से उबरने के दिए मंत्र

भिलाई। सेल चेयरमैन अनिल कुमार चौधरी ने संयंत्र के वरिष्ठ अधिकारियों को वेब-वार्ता के माध्यम से सम्बोधित किया। भिलाई के अधिकारियों को संबोधित करते हुए, सेल चेयरमैन, अनिल कुमार चौधरी ने कहा कि तीसरी तिमाही के अंतिम महीनों में कंपनी द्वारा बिक्री में 36 प्रतिशत और 47 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई और जनवरी, 2020 में, बिक्री में 26 प्रतिशत की वृद्धि प्राप्त की। हम वित्तवर्ष 2019-20 को बेहतर परिणाम के साथ समाप्त करने की उम्मीद कर रहे थे। लेकिन मार्च, 2020 के समापन माह में कोरोना ने हमें पीछे धकेल दिया। इसके बावजूद, सेल-भिलाई ने यूटीएस-90 रेल्स के 12.85 लाख टन के रिकॉर्ड उत्पादन के साथ वित्तवर्ष का समापन किया, जिसके लिए भिलाई बिरादरी बधाई के पात्र हैं।
लॉकडाउन का प्रभाव उद्योग और अर्थव्यवस्था पर पड़ा जिसमें इस्पात उद्योग भी शामिल है। इस्पात की मांग और खपत के अनुमानों को भी संशोधित किया गया। हमारे इन्वेंटरी में वृद्धि हुई है और हमारे बिक्री में कमी आई है। साथ ही कैश कलेक्शन में भी भारी गिरावट आई है। इन परिस्थितियों में नकदी को संरक्षित करने का दबाव बढ़ा है। उन्होंने कहा कि भिलाई को उत्पादन लागत को कम करने के लिए सभी रास्ते तलाशने होंगे।सेल चेयरमैन ने भिलाई के अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि हमें पूरी तरह तैयार रहना चाहिए,जिससे कि आने वाले महीनों में बाजार में जो भी अवसर मिलेंगे उसका हमें तत्काल फायदा उठाना होगा। वर्तमान में हमने उत्पादन की जो मात्रा खोई है उसे हम अपने प्रयासों के साथ आसानी से प्राप्त कर कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि चीन को निर्यात सहित निर्यात बाजार हमें एक बड़ा अवसर प्रदान करता है 

देश में बुनियादी ढांचे पर काम फिर से प्रारंभ होते ही घरेलू आदेश में भी उछाल आयेगा।अपने संबोधन के अंत में सेल अध्यक्ष, ने कहा कि हमें परिवर्तन के लिए अनुकूल होना सीखना होगा। तभी हम आने वाले समय में अपने अस्तित्व को बचा पायेंगे। यह जरूरी है कि हम सभी बहुकौशल बनें। यह अवसर है कि हम डिजिटाइजेशन की ओर बढें। उन्होंने आगे कहा कि गति, सटीकता और सुरक्षा हमारा मंत्र होना चाहिए। सेल के अध्यक्ष ने केंद्रीयकृत पे-रोल प्रणाली को लागू करने के लिए भिलाई की सराहना की। चेयरमैन के सम्बोधन के पश्चात् सत्र को बातचीत के लिए खोल दिया गया, जिसके दौरान अध्यक्ष ने खान, निर्माण और गैर-कार्य क्षेत्रों, कार्मिक, सी एंड आईटी विभाग, नगर सेवाएँ विभाग,और विपणन विभाग आदि के अधिकारियों के क्रॉस-सेक्शन के साथ बातचीत की।इस अवसर पर सेल के निदेशक (प्रोजेक्ट्स एवं बिजनेस प्लानिंग) एवं बीएसपी के सीईओ अनिर्बान दासगुप्ता सहित संयंत्र के कार्यपालक निदेशक (खदान एवं रावघाट) मानस बिस्वास, निदेशक प्रभारी (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाएँ) डाॅ.एसके इस्सर, कार्यपालक निदेशक (सामग्री प्रबंधन) राकेश, कार्यपालक निदेशक (परियोजनाएँ) एके भट्टा, कार्यपालक निदेशक (कार्मिक एवं प्रशासन) एसके दुबे, कार्यपालक निदेशक (वक्र्स) बीपी सिंह। इस वेब-वार्ता का यह क्रम आगे भी जारी रहेगा।

 

19-03-2020
अनिल अंबानी पहुंचे ईडी के दफ्तर, यस बैंक से संबंधित मनी लांड्रिंग मामले में होगी पूछताछ

नई दिल्ली। रिलायंस समूह के अध्यक्ष अनिल अंबानी मुंबई में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) दफ्तर पहुंच गए हैं। उनसे यस बैंक से संबंधित मनी लांड्रिंग मामले में पूछताछ होगी। अनिल अंबानी को मनी लॉन्ड्रिंग मामले में जबकि तीन अन्य उद्योग समूहों के प्रमुखों को खराब कर्ज के मामले में गुरुवार को पेश होने के लिए कहा गया था। इससे पहले जारी समन के मुताबिक अंबानी को सोमवार को व्यक्तिगत तौर पर पेश होना था, परंतु उन्होंने निजी कारणों का हवाला देते हुए इससे छूट मांगी थी।

अंबानी ने मांगी थी निजी कारणों से छूट

इससे पहले प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने यस बैंक के प्रवर्तक राणा कपूर एवं अन्य के खिलाफ जारी मनी लॉन्ड्रिंग जांच के संबंध में रिलायंस समूह के चेयरमैन अनिल अंबानी को समन जारी किया था। अधिकारियों ने सोमवार को कहा था कि यस बैंक से लिए गए कर्ज में से जो खाते गैर-निष्पादित परिसंपत्ति (एनपीए) में तब्दील हो गए, उनमें अनिल अंबानी के समूह की कंपनियां बड़े कर्जधारकों में हैं। इस कारण उन्हें ईडी के मुंबई कार्यालय में सोमवार को उपस्थित होने को कहा गया।

अधिकारियों ने बताया कि अंबानी ने कुछ निजी कारणों से उपस्थित होने से छूट की मांगी थी। इसके बाद अंबानी को ईडी की ओर से ताजा समन में नई तारीख दे दी गई है। बता दें कि अनिल अंबानी की कंपनियों द्वारा यस बैंक से लिए गए कर्ज में 12,800 करोड़ रुपये एनपीए हो गए हैं। अधिकारियों के अनुसार, इन सभी बड़ी कंपनियों के प्रमोटरों को बुलाया गया है जिनको दिए गए लोन एनपीए में तब्दील हुए। मामले में अधिकारियों ने कहा कि अनिल अंबानी का बयान प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत दर्ज किया गया है।

 

29-11-2019
छत्तीसगढ़ रेल कार्पोरेशन में बेवजह कर्मियों को बर्खास्तगी के नोटिस से विवाद, खतरे में नई परियोजनाएं

रायपुर। छत्तीसगढ़ रेल कार्पोरेशन  में 20 अफसर इंजीनियर को नौकरी से बर्खास्त करने का नोटिस दिया गया है। इस नोटिस से कारपोरेशन में हड़कंप मचा हुआ है और उनके भविष्य के साथ साथ नई परियोजनाओं का भविष्य भी अधर में लटक गया है। विवाद की जड़ अस्थाई प्रबंध निदेशक की मनमानी को माना जा रहा है जो लोक निर्माण विभाग से सेवानिवृत्त अफसर बताए जाते हैं। दरअसल छत्तीसगढ़ राज्य में रेल परियोजनाओं की पहचान उनके विकास और यातायात की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए छत्तीसगढ़ सरकार रेल मंत्रालय ने मिलकर छत्तीसगढ़ रेल कार्पोरेशन लिमिटेड नामक उपक्रम का गठन किया था। कार्पोरेशन  4 नई रेल परियोजनाओं को विकसित करने का काम कर रहा है। कार्पोरेशन में पिछले 8 महीने से पूर्णकालिक प्रबंध निदेशक का पद खाली पड़ा है और अस्थाई तौर पर उस पद पर एक निदेशक वित्त काम कर रहे हैं।

रेल परियोजनाओं और उपक्रम चलाने का अनुभव ना होने कारण वहां परियोजना के विकास विकसित होने का काम लगभग ठप पड़ा है। इस बीच वहां हुई गलतियों को छुपाने के लिए पांच अधिकारियों को बिना जांच के नौकरियों से निकाल दिया गया था। एक बार फिर 20 अधिकारी और इंजीनियरों को नौकरी से बर्खास्तगी की नोटिस दे दी गई है। इन सारे अधिकारियों का कसूर इतना है कि सब ने जुलाई माह में कार्पोरेशन के चेयरमैन को कार्यालय में कार्यरत एक दैनिक वेतन भोगी कर्मी को हटाने के लिए ज्ञापन सौंपा था। विवाद यहीं से बढ़ता चला गया है और कई बार ज्ञापन देने के बावजूद दैनिक वेतन भोगी कर्मी को हटाने की बजाय उसे संरक्षण दिया जा रहा है तथा अन्य कर्मचारियों को नौकरी से निकालने की नोटिस दी जा रही है। लगातार नौकरी से हटाए जाने की धमकी के कारण दफ्तर में माहौल बहुत खराब है तथा सभी कर्मचारियों अधिकारी मानसिक तनाव के कारण दूसरे संस्थानों में जाने का मन बना रहे हैं। ऐसा होता है तो राज्य में रेल परियोजनाओं के विकास पर ग्रहण लगने की आशंका है। राज्य सरकार और रेल मंत्रालय इस मामले को ठीक नहीं करते हैं तो राज्य की बहुप्रतीक्षित नई रेल परियोजना भी खतरे में पढ़ सकती है।

27-11-2019
पेंशन कल्याण मंडल का किया गया पुनर्गठन, चीफ सेकरेट्री होंगे चेयरमैन

रायपुर। राज्य सरकार पेंशन संबंधी समस्य़ाओं को लेकर बेहद गंभीर है। पेंशन संबंधी समस्याओं को लेकर लगातार आ रही शिकायतों के मद्देनजर राज्य सरकार ने पेंशन कल्याण मंडल का पुनर्गठन किया है। इस बाबत राज्य सरकार ने अधिसूचना जारी कर दी है। इस कमेटी में चीफ सेकरेट्री चेयरमैन होंगे, जबकि 9 अन्य सदस्य होंगे। 10 सदस्यीय ये कमेटी पेंशन संबंधी समस्याओं को सुलझाएगी व सरकार को इस दिशा में सुझाव देगी। वित्त विभाग की तरफ से जारी आदेश में जिन्हें पेंशन कल्याण मंडल में शामिल किया गया है उनमें चीफ सेकरेट्री चेयरमैन होंगे, वहीं वित्त विभाग के एसीएस, जीएडी के एसीएस, स्वास्थ्य विभाग के एसीएस मेंबर होंगे। इसके अलावा प्रदेश के अलग-अलग पेंशनधारी कल्याण संघ के अध्यक्षों को भी कल्याण मंडल में शामिल किया गया है।

25-11-2019
बीएसएनएल के कर्मचारियों ने शुरू की देशव्यापी भूख हड़ताल, कंपनी पर लगाए मजबूर करने के आरोप

नई दिल्ली। सरकारी टेलीकॉम कंपनी भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) के कर्मचारी आज देशव्यापी भूख हड़ताल पर हैं। कर्मचारी यूनियनों का आरोप है कि कंपनी प्रबंधन कर्मचारियों को स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति (वीआरएस) लेने के लिए मजबूर कर रही है। इसलिए आज कर्मचारी हड़ताल पर हैं।

कर्मचारियों को धमका रहा प्रबंधन - एयूएबी

इस संदर्भ में रविवार को ऑल इंडिया यूनियंस एंड असोसिएशंस ऑफ भारत संचार निगम लिमिटेड (एयूएबी) के संयोजक पी अभिमन्यु ने कहा कि प्रबंधन कर्मचारियों को धमका रहा है। कर्मचारियों को कहा जा रहा है कि वीआरएस नहीं लेने पर उन्हें दूर भेजा जा सकता है। इतना ही नहीं, कर्मचारियों से यह भी कहा जा रहा है कि अगर उन्होंने वीआरएस नहीं लिया, तो उनकी सेवानिवृत्ति उम्र की आयु घटाकर 58 वर्ष की जा सकती है।

योजना कर्मचारियों के लिए फायदेमंद नहीं

बता दें कि एयूएबी के अनुसार, कंपनी के आधे से ज्यादा कर्मचारी उसके साथ जुड़े हैं। अभिमन्यु ने कहा कि कर्मचारी अपनी इच्छा से वीआरएस योजना लें। कर्मचारियों को इसे लेने के लिए मजबूर नहीं किया जाना चाहिए। लेकिन यह योजना कर्मचारियों के लिए फायदेमंद नहीं है। बीएसएनएल में 77 हजार कर्मचारियों ने वीआरएस के लिए आवेदन किया है। कंपनी में कुल 1.50 लाख कर्मचारी कार्यरत हैं। फिलहाल स्कीम के अनुसार यह सारे कर्मचारी 31 जनवरी 2020 को अपने-अपने पद से रिटायर हो जाएंगे।

ये है योजना

योजना के मुताबिक कंपनी के सभी स्थायी कर्मचारी, जो किसी दूसरे संस्थान या फिर विभाग में प्रतिनियुक्ति पर हैं और 50 साल की उम्र को पूरा कर चुके हैं वो वीआरएस के लिए आवेदन कर सकते हैं। बीएसएनएल के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक पीके पुरवार ने कहा कि सरकार और बीएसएनएल की ओर से दी जा रही यह श्रेष्ठ वीआरएस सुविधा है और इसे कर्मचारियों को सकारात्मक रूप में देखना चाहिए। गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने पिछले महीने ही 69 हजार करोड़ रुपये का पुनरुद्धार पैकेज बीएसएनएल और एमटीएनएल को दिया था। एमटीएनएल ने भी अपने कर्मचारियों के लिए वीआरएस योजना पेश की है। 

 

17-11-2019
सांसद गौतम गंभीर के लगे गुमशुदगी के पोस्टर, जानिए क्या है लिखा...

नई दिल्ली। पूर्व किक्रेटर और दिल्ली के भाजपा सांसद गौतम गंभीर के गुमशुदा होने के पोस्टर लगाए गए हैं।  पोस्टर में लिखा है, क्या आपने इन्हें देखा है। आखिरी बार इन्हें इंदौर में जलेबी खाते देखा गया था पूरी दिल्ली इन्हें ढूंढ रही है। बता दें कि 15 नवंबर को दिल्ली में वायु प्रदूषण पर शहरी विकास की संसदीय स्थायी समिति की बैठक में गौतम गंभीर शामिल नहीं हुए थे। इसके बाद संसदीय कमेटी की बैठक को स्‍थगित कर दिया गया था। संसदीय समिति के 29 सांसद सदस्य हैं, लेकिन बैठक के लिए सिर्फ 4 सांसद ही पहुंचे थे। एमसीडी के तीनों कमिश्नर, डीडीए के वाइस चेयरमैन और पर्यावरण मंत्रालय के संयुक्त सचिव भी इस बैठक में नहीं पहुंचे थे। कई वरिष्ठ अधिकारियों के बैठक में नहीं पहुंचने के कारण से दिल्ली में वायु प्रदूषण के मसले पर प्रेजेंटेशन नहीं हो पाई। ऐसे में दिल्ली में सांसद गौतम गंभीर के गुमशुदगीे के पोस्टर लगाए गए हैं।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804