GLIBS
24-02-2020
श्रीदेवी की दूसरी बरसी पर भावुक हुई जाह्नवी, इमोशनल मैसेज के साथ शेयर की फोटो

मुंबई। बॉलीवुड एक्ट्रेस श्रीदेवी को दुनिया से अलविदा कहे सोमवार को पूरे दो साल हो गए है। 24 फरवरी साल 2018 को श्रीदेवी दुनिया छोड़कर चली गई थी। आज श्रीदेवी का परिवार उनकी दूसरी बरसी पर भावुक हो रहा हैं। ऐसे में जाह्नवी ने अपने इंस्टाग्राम पर मां श्रीदेवी को याद करते हुए एक पुरानी फोटो पोस्ट की है। साथ ही इमोशनल मैसेज भी लिखा कि मैं अपको हर दिन याद करती हूं। जाहन्वी कपूर के इस फोटो पर निर्माता-निर्देशक करण जौहर, डायरेक्टर जोया अख्तर और संजय कपूर की पत्नी महीप कपूर ने हार्ट इमोजी बनाया है। जाह्नवी अपनी मां के काफी नजदीक थी वह कई बार कैमरे के सामने भी रो पड़ी है।

05-02-2020
धोनी दोस्तों को अपने हाथों से गोलगप्पे खिलाते आए नजर, सोशल मिडिया पर हो रहा वायरल

मुंबई। एमएस धोनी क्रिकेट से दूर अपने परिवार के साथ मालदीव्स में इन दिनों वक्त बिता रहे हैं। तो वही दूसरी ओर टीम इंडिया न्यूजीलैंड में सीरीज खेलने गई है। धोनी पूर्व क्रिकेट आरपी सिंह और पियूष चावला को गोलगप्पे खिलाते एक वीडियो में दिखे। वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। 4 फरवरी की रात को इस वीडियो को ट्विटर पर पोस्ट किया गया था। धोनी अपने हाथों से पानी पुरी में आलू डाल रहे हैं और तीखा पानी डालकर दोस्तों की प्लेट में रख रहे हैं। धोनी के फैन्स इस विडियो को देखकर जमकर तारीफ कर रहे हैं।

 

18-01-2020
घर से भाग गई बेटी, बदनामी के डर से माता पिता ने उड़ाई अपहरण की अफवाह...

कोरबा। कुसमुंडा थाना क्षेत्र के एक किसान परिवार की 22 साल की युवती शुक्रवार की रात को घर से भाग गई। माता पिता को इसकी भनक रात को ही लग गई और बदनामी से बचने बेटी के अपहरण की झूठी कहानी रात को ही गढ़ डाली। शनिवार की सुबह आस पास के लोगों ने देखा कि मकान के दीवार में छेद है, अनहोनी की आशंका में लोगों ने पूछा तो परिवार ने बेटी के गायब होने की खबर दी। इसके साथ ही सेंधमार कर युवती का अपहरण कर लिए जाने की खबर फैल गई। माता पिता कुसमुंडा थाना पहुँच घटना की जानकारी दी तब पुलिस भी सकते में आ गई। जांच पड़ताल के बाद खुलासा हुआ कि बेटी के घर से भाग जाने पर बदनामी से बचने परिजनों ने ही यह झूठी कहानी गढ़ी। युवती के माता पिता दीवार पर छेद घर के अंदर से ही किया था जिसकी वजह से मिट्टी घर के अंदर ही मिली। मौके पर पहुँची पुलिस की नजर उस पर पड़ी तो पुलिस को माजरा समझते देर नही लगी। कड़ाई से पूछताछ करने पर सच्चाई सामने आ गई ।परिजनों ने युवती को नाबालिग बताया था, जबकि घर मे अंकसूची की जांच करने पर युवती 22 साल की निकली। इसके साथ ही पुलिस ने गेवरा बस्ती में अपने एक परिचित के यहाँ ठहरी युवती को भी बरामद कर लिया है। उसने पुलिस को बताया कि बिलासपुर में रहने वाले एक युवक से वह प्यार करती है और उससे शादी करना चाहती है। कुसमुंडा टी आई ने बताया कि पुलिस को गुमराह करने वाले माता पिता के खिलाफ धारा 151 के तहत कारवाई की जाएगी।

 

18-12-2019
प्रेस क्लब में दी गई वरिष्ठ पत्रकार स्व.रविकांत कौशिक को श्रद्धांजलि

रायपुर। वरिष्ठ पत्रकार स्व. रविकांत कौशिक का विगत 16 दिसंबर को निधन हो गया। बुधवार को प्रेस क्लब में आयोजित श्रद्धांजलि सभा में पत्रकारों ने दो मिनट का मौन धारण कर श्रद्धांजलि अर्पित की। श्रद्धांजलि सभा में पत्रकारों ने कहा कि स्व. कौशिक का निधन प्रेस क्लब परिवार के लिए अपूर्णीय क्षति है। नए पत्रकारों के लिए उनके द्वारा दिया गया योगदान भविष्य में उनका मार्गदर्शन करेगा। स्व.कौशिक ने सहज,सरल भाषा में जनता के दुख को अपनी लेखनी के माध्यम से व्यक्त किया। स्व. कौशिक ने अपनी अथक मेहनत से संघर्ष कर पत्रकारिता के क्षेत्र में बड़ा मुकाम हासिल किया।

17-12-2019
श्वेता तिवारी ने कहा, शादी टूटने पर महिला को दोषी ठहराना आसान

मुंबई। टीवी अभिनेत्री श्वेता तिवारी ने उस वाकये को याद किया, जब उन्होंने पति अभिनव कोहली पर घरेलू हिंसा का आरोप लगाने के बाद उनसे अलग होने का फैसला किया। अभिनेत्री का कहना है कि शादी टूटने पर कई लोगों के लिए उन्हें दोषी ठहराना आसान है, क्योंकि 2007 में राजा चौधरी के साथ भी उनकी शादी टूट चुकी है। एक साक्षात्कार में श्वेता ने कहा, “लोगों के लिए यह कहना आसान है कि लड़की ने ही कुछ किया होगा या उसमें ही कोई प्रॉब्लम होगी, तभी दूसरी शादी भी नहीं चल पाई।उन्होंने कहा, “जब मैंने अपने करियर में ऊंचाई पर होने के दौरान शादी की थी तो लोगों ने मुझसे कहा कि अब यह मेरे लिए खत्म हो गया, लेकिन मैंने लोगों की बातों पर ध्यान नहीं दिया। यहां तक कि मैंने इसकी परवाह भी नहीं की कि मेरा खानदान क्या कहेगा, जो पांच साल में बस यह पूछते हैं कि मैं कैसी हूं। मैं बस अपनी, अपने बच्चों और परिवार की परवाह करती हूं।” बेटी पलक के बारे में श्वेता ने कहा वह एक मां की तरह उनका ख्याल रखती हैं।

10-12-2019
दुष्कर्म मामला: सेन समाज ने आरोपी को फांसी देने की मांग की

रायपुर। बिलासपुर की 9 साल की समाज की बच्ची के दुष्कर्म के विरोध में मंगलवार को सर्व सेन समाज के प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल को ज्ञापन सौंपा। गौरतलब है पिछले सप्ताह बिलासपुर में मासूम बच्ची अनाचार की शिकार हो गई, जिसे लेकर समाज मे जबरदस्त गुस्सा है। जगह जगह सेन समाज प्रदर्शन के जरिये विरोध जता रहा है। 12 दिसंबर को सभी सेलून व्यवसायी बस्तर संभाग बंद करने का आव्हान किए हैं। मंगलवार को राजधानी में प्रदेश के सभी पदाधिकारियों की सामाजिक बैठक हुई। इसमें समाज के प्रदेश अध्यक्ष गौरीशंकर श्रीवास के नेतृत्व में सामाजिकजन राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा और आरोपी को फांसी की सजा देने की मांग की। साथ ही बच्ची के परिवार को मुआवजा देने की मांग की गई। प्रतिनिधिमंडल में पुनीत सेन, आशुतोष श्रीवास, विनोद सेन, खम्मनलाल शांडिल्य,धनसिंग सेन, भगवानीराम शांडिल्य,लक्ष्मीनारायण सेन, रंजीत उमरे, विमल श्रीवास, राधेश्याम सेन, बीएल श्रीवास समेत प्रदेश के प्रतिनिधि शरीक हुए।

29-11-2019
एक ही घर में रहने वाले परिवार को बांट दिया 3 वार्ड में

महासमुन्द। मतदाता सूची बनाने वाले की लापरवाही के चलते एक ही परिवार के लोगों को तीन वार्डों में बांट दिया गया है जबकि पूरा परिवार एक ही वार्ड और एक ही घर में निवास करता है। मतदाता सूची में इस तरह की लापरवाही लगातार सामने आ रही है। पूरे परिवार को अलग-अलग वार्डों में नाम सामने आने से परेशान ग्रामीण अपने परिवार का नाम एक ही वार्ड में रखने की अर्जी कलेक्टर को देकर इसकी शिकायत भी कर चुका है। गौरतलब है कि महासमुन्द से 8 किलोमीटर दूर ग्राम बिरकोनी ग्राम पंचायत में अभयराम साहू अपने परिवार के सदस्य शत्रुघन लाल साहू, राजकुमारी साहू, मीनाश्री साहू, डोमेश्वर साहू और लोकेश्वरी साहू के साथ रहता है। इसका परिवार बिरकोनी के वार्ड क्रमांक 19 में एक ही मकान में   निवासरत है। इस परिवार का मुखिया शत्रुघन लाल साहू है। पिछले चुनाव में जोड़े गये मतदाता सूची में अभयराम साहू व लोकेश्वरी साहू को वार्ड नम्बर 19 में जोड़ दिया गया है वहीं शत्रुघन साहू व राजकुमारी साहू को वार्ड क्रमांक 20 में जोड़ दिया गया और डोमेश्वर साहू व मीनाक्षी साहू को वार्ड नम्बर 16 में जोड़ दिया गया है। ग्रामीण की इस परेशानी को देखते हुए बिरकोनी के शिव शक्ति महिला स्व. सहायता समूह ने मतदाता सूची तैयार करने वाले कर्मचारी के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए छत्तीसगढ़ राज्य निर्वाचन आयोग से आवेदन देकर जांच की मांग की है।

22-10-2019
छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग कार्यालय में शुरू होगा परिवार परामर्श केन्द्र: अनिला भेड़िया

रायपुर। छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग कार्यालय में परिवार परामर्श केन्द्र शुरू किया जाएगा। महिला एवं बाल विकास मंत्री अनिला भेंड़िया ने मंगलवार को छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग के सम्मिलन की बैठक में इस संबंध में निर्देश दिए। मंत्री ने आयोग के नियमित कामकाज की समीक्षा करते हुए महिलाओं से संबंधित होने वाले अपराधों की निरंतर समीक्षा पर बल देते हुए त्वरित कार्रवाई के निर्देश दिए। उन्होंने समय-समय पर महिलाओं पर होने वाले अत्याचार एवं अपराधों की जानकारी संकलित करने के लिए भी कहा। बैठक में आयोग की सदस्य खिलेश्वरी किरण और पदमा चन्द्राकर उपस्थित थीं। मंत्री अनिला ने सम्मिलन में आयोग की गतिविधियों, बजट, कार्यक्रम, सेटअप, संबंधी विभिन्न बिन्दुओं पर विस्तार से समीक्षा की। समीक्षा के दौरान बताया गया कि आयोग में महिलाओं के प्रताड़ना से संबंधित प्रतिमाह लगभग 50 प्रकरण दर्ज हो रहे हैं। सितम्बर माह में 34 नये प्रकरण दर्ज हुए हैं। सबसे अधिक प्रकरण रायपुर जिले से संबंधित हैं। आयोग में कुल 632 प्रकरण दर्ज हैं। इनमें रायपुर जिले के 192 प्रकरण शामिल हैं। सम्मिलन में आयोग में दर्ज प्रकरणों के निराकरण की भी समीक्षा की गई। आयोग में सितम्बर माह में सर्वाधिक 83 प्रकरणों का निराकरण किया गया। अक्टूबर 2018 के बाद अब तक कुल 567 नये प्रकरण दर्ज किए गए। इस अवधि में कुल 553 प्रकरणों का निराकरण किया गया। आयोग द्वारा जुलाई 2019 से अब तक कुल 12 सुनवाई की गई, जिनमें 299 प्रकरण रखे गये थे। इनमें से 69 प्रकरणों का निराकरण आयोग द्वारा किया गया है।

14-10-2019
छात्रों को परिवार का माने कलेक्टर, अच्छी सुविधाएं दें,वरना छापा मारेंगे भूपेश

 रायपुर। छात्रावासों आश्रमो व आवासीय शालाओं में मध्यान भोजन की गुणवत्ता की शिकायत को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने गंभीरता से लिया है। उन्होंने सभी कलेक्टरों को पत्र  लिखकर निर्देश दिया है कि छात्रों के साथ बैठकर भोजन करें व भोजन की गुणवत्ता सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा है कि वे किसी भी दिन किसी भी आश्रम में जाकर भोजन की गुणवत्ता का स्वंय परीक्षण करेंगे।वे कभी भी कहीं भी किसी भी छात्रावास में छात्रों के साथ भोजन करेंगे। कुल मिलाकर देखा जाए तो मुख्यमंत्री कि अपने छात्रों के प्रति संवेदनशीलता है और लगातार मिल रही शिकायतों के प्रति कड़ा रुख भी।
आवासी शालाओं आश्रमों छात्रावासों में सभी जरूरी सुविधाओं गुणवत्ता अच्छी रखने के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कलेक्टरों को भी आकस्मिक परीक्षण करने के निर्देश मुख्यमंत्री ने दिए हैं। उन्होंने कहा है कि छात्रों के लिए प्रयाग बजट का आवंटन होता है लेकिन लापरवाही के कारण उन्हें वांछित सुविधाएं नहीं मिल पाती।इस प्रकार की शिकायतें लगातार मिल रही है और इन्हें सुधारना बेहद जरूरी है। भूपेश बघेल ने कहा कि सभी कलेक्टर छात्रों को अपने परिवार का सदस्य माने तथा उनके लिए दिए जा रहे भोजन व आवास की सुविधा की गुणवत्ता सुनिश्चित रखें ताकि छात्र अच्छे वातावरण में पढ़कर उत्कृष्ट नागरिक बन सकें। भूपेश बघेल ने कहा कि वह स्वयं कभी भी आकस्मिक निरीक्षण करेंगे और छात्रों के साथ भोजन करके भोजन की गुणवत्ता भी देखेंगे। भूपेश बघेल के इस आदेश से छात्रों को मिल रही सुविधाओं में गड़बड़ी की शिकायतों के अब समाप्त होने के आसार नजर आ रहे हैं लेकिन देखना यह होगा की अफसरशाही इस आदेश पर कितना अमल करती है।

13-10-2019
कांग्रेस मां-बेटे और बाप-बेटे की पार्टी बन गई : प्रभात झा

झाबुआ। छिंदवाड़ा प्रोजेक्ट को लेकर भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा ने कांग्रेस की कमलनाथ सरकार पर जमकर हमला बोला है। झा ने कहा है कि कांग्रेस एक परिवार की पार्टी होकर रह गई है।  दिल्ली में जहां कांग्रेस मां-बेटे की पार्टी बन गई है वहीं झाबुआ में बाप-बेटे की पार्टी बनकर रह गई है। झा ने आरोप लगाते हुए कहा कि झाबुआ में पानी से ज्यादा शराब पिलाई जाती है। गली-मोहल्लों में शराब के पाउच बिक रहे हैं। प्रभात झा ने यह भी आरोप लगाया  कि कमलनाथ सरकार ने किसानों के कर्ज माफ  नहीं किए हैं। उन्होंने बताया  कि उनकी पार्टी के ही ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा है कि कांग्रेस ने किसानों के कर्ज माफ  नहीं किए हैं। झा के निशाने पर कांग्रेस प्रत्याशी कांतिलाल भूरिया भी रहे। आर्थिक मंदी को नकारते हुए प्रभात झा ने कहा कि भारत ही नहीं पूरे विश्व में मंदी का दौर चल रहा है।

 

26-08-2019
महिला को 30 वर्ष बाद परिवार से मिलाने में पुलिस ने निभाई अहम भूमिका

दुर्ग। 35 वर्ष पूर्व गुम हुई एक महिला को यदि उसका पूरा परिवार मिल जाए तो यह उस परिवार के लिए किसी आश्चर्य से कम नहीं होगा। ऐसा ही एक घटना राजनांदगांव जिले के ग्राम बिजेतला में सामने आई है। गुम हुए महिला को उसके परिजनों से मिलाने में केरल के मेंटल हॉस्पिटल और दुर्ग पुलिस की महत्वपूर्ण भूमिका रही। 65 वर्षीय महिला, जिसकी मानसिक स्थिति ठीक नहीं होने से वर्ष 2016 में केरल के त्रिशूर के शासकीय मनोचिकित्सा केन्द्र में न्यायालय के आदेश पर इलाज के लिए भर्ती हुई थी। जहां इस वर्ष महिला के स्वास्थ्य में थोड़ा सुधार होने पर अपना नाम केजा बाई छत्तीसगढ़ के नारधा रोड से जालबांधा क्षेत्र निवासी बताया। इस पर केरल के त्रिशूर के हॉस्पिटल से दुर्ग पुलिस एवं राजनांदगांव पुलिस को महिला के संबंधितों का पता तलाश के लिए पत्र माह अप्रैल में भेजा गया। पता तलाश अभियान में शुरुवाती दौर में महिला के संबंधितों का पता नहीं चल पाया, किन्तु दुर्ग की बोरी थाना पुलिस ने प्रयास जारी रखा। महिला ने जो जानकारी दी उसके पति का नाम पोकई सहित 8-10 रिश्तेदारों का व अपने 4 पुत्र व पुत्रियों का नाम बताया था। साथ ही जिन-जिन गांवों का नाम महिला ने बताया था वो थाना बोरी के सरहदी गांव होने के बाद भी परिजनों का तलाश अभियान के दौरान थाना बोरी के पुलिस अपने क्षेत्र के साथ ही राजनांदगांव जिले के घुमका, खैरागढ़,जालबांधा क्षेत्र में जानकारी जुटाना जारी रखा। इस दौरान जिला राजनांदगांव में घुमका थाना क्षेत्र के बिजेतला गांव में महिला द्वारा अपने बच्चों के बताये गये रत्ना नाम से खोज की तब अभियान को नई दिशा मिला और बिजेतला की रत्ना नाम की महिला की मां का नाम केजा बाई होने के संबंध में जानकारी प्राप्त हुई। रत्ना नाम की महिला जिसका विवाह ग्राम परपोड़ी मेंं हो चुका है। उसकी भाई का नाम मोहित एवं मां का नाम केजा बाई है। जानकारी मिली कि वर्ष 1980 के आसपास केजाबाई जिसका मायका बानबरद अहिवारा उसकी दूसरी शादी ग्राम बिजेतला में हुआ था। शादी के बाद 1 बेटा मोहित व बेटी रत्ना थी। वर्ष 1987-88 में पति बालाराम पटेल की मृत्यु के कुछ समय बीत जाने के बाद केजाबाई सब्जी बेचने जालबांधा जाना बोलकर निकली थी, जो वापस नहीं लौटी। परिजन व गांव वाले सभी उनके घर वापसी की उम्मीद छोड़ दिये थे। तब पुत्र मोहित लगभग 8 वर्ष का था। मोहित पटेल ने बताया पिता बालाराम की मृत्यु व मां केजाबाई के गुम होने के बाद पिता की पहली पत्नी परदेशनीन बाई जो मां की बड़ी बहन थी ने पालन पोषण किया। शासकीय मनोरोग अस्पताल त्रिशूर केरल से महिला के नाते रिश्तेदारों के पता तलाश हेतु पत्र प्राप्त होने के तत्काल बाद प्रखर पांडे पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर लखन पटले एएसपी(ग्रामीण) व नगर पुलिस अधीक्षक के मार्गदर्शन पर थाना बोरी को उक्त महिला के संबंध में जानकारी जुटाने दिशा निर्देश दी गई थी। नारधा गांव से जालबांधा बिजेतला तक दर्जनों गांवों में महिला के संबंध में पता तलाश के लिए महिला के पति के नाम को आधार मानकर काम किया गया, किन्तु पति का नाम महिला द्वारा पोकई एवं त्रिशूर से प्राप्त पत्र में महिला का नाम खेजा उर्फ दीदी के बताने के कारण महिला के नाते रिश्तेदारों के पता तलाश में विलंब हुआ। पता तलाश जांच की दिशा को राजनांदगांव जिले से जुड़े थाना के सरहदी ग्रामों मोहंदी जालबांधा, बिजेतला, भोथी पर ध्यान केन्द्रित किया गया और इस दौरान घुमका के ग्राम बिजेतला के रत्ना नामक महिला की मां का नाम केजाबाई होना पता चला। थाना बोरी के आरक्षक विजेन्द्र ठाकुर के द्वारा महिला के नाते रिश्तेदारों द्वारा पता तलाश हेतु सार्थक प्रयास किया गया। आसपास के ग्रामीणों एवं गांव वालों से केजाबाई के संबंध में काफी पूछताछ कर महिला के पुत्र मोहित के बारे में जानकारी प्राप्त करने में सफल हुई। वरिष्ठ अधिकारीगणों के पत्राचार उपरांत उक्त गुम महिला केजाबाई को केरल के त्रिशूर में न्यायालय के औपचारिकता के बाद पुत्र मोहित अपने घर बिजेतला वापस लेकर लौट आया है।

 

05-08-2019
पुलिस परिवार के छात्रों के लिए लागू होगी डीजीपी मेरिट स्कॉलरशिप योजना

रायपुर। पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी की अध्यक्षता में आज छत्तीसगढ़ पुलिस केन्द्रीय कल्याण समिति एवं संयुक्त परामर्शदात्री समिति की बैठक पुलिस ट्रांजिस्ट मेस स्थित सभाकक्ष में आयोजित की गई। बैठक में पुलिस परिवार के मेधावी छात्रों के लिए डीजीपी मेरिट स्कॉलरशिप प्रदान किए जाने की प्रस्ताव पारित किया गया। इसके अंतर्गत 10वीं बोर्ड परीक्षा में 85 प्रतिशत या इससे अधिक अंक प्राप्त करने वाले छात्र-छात्राओं को 1500/- से 2000 रुपए तक प्रतिमाह कक्षा 12वीं में 80 प्रतिशत या इससे अधिक अंक प्राप्त करने पर स्नातक स्तर के शिक्षा अध्ययन के लिए 3000 रुपए प्रतिमाह और स्नातकोत्तर शिक्षा प्राप्त करने हेतु भारत के किसी भी प्रतिष्ठित संस्थान में पढ़ाई करने पर 5000 रुपए प्रतिमाह छात्रवृत्ति प्रदान करने का प्रस्ताव है। राज्य के सभी पुलिस इकाइयों से आने वाले परामर्शदात्री समिति के सदस्यों को संबोधित करते हुए पुलिस महानिदेशक अवस्थी ने कहा कि पुलिस परिवार का उत्थान और विकास कैसे हो? इस प्रकार के प्रस्तावों पर विचार किया जाना चाहिए। वर्तमान समय में पुलिस की नौकरी तभी सार्थक होगी जब पुलिस कर्मचारी-अधिकारियों के सेवानिवृत्त होने के पूर्व उनके बच्चे उच्च स्तर की शिक्षा प्राप्त कर ले। अवस्थी ने कहा कि राज्य पुलिस के सभी अधिकारी-कर्मचारियों को समान रूप से पदोन्नति मिले इसके लिए अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक अशोक जुनेजा की अध्यक्षता में एसओपी तैयार करने हेतु समिति का गठन कर दिया गया है। बैठक में पुलिस विभाग के मेधावी छात्रों के लिए उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए न्यूनतम ब्याज दर पर पुलिस कर्मचारियों को ऋण उपलब्ध कराने का प्रस्ताव पारित किया गया। संकट निधि में अधिकारी-कर्मचारी को पूर्ण सेवाकाल में डेढ़-डेढ़ लाख रुपए दो बार सहायता राशि प्राप्त कर सकेंगे। इस अवसर पर विशेष पुलिस महानिदेशक संजय पिल्लै, आरके विज, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक पवन देव, अशोक जुनेजा पुलिस महानिरीक्षक दीपांशु काबरा, रायपुर रेंज के आईजी आनंद छाबड़ा, उप पुलिस महानिरीक्षक आरएस  नायक, एचआर मनहर, डॉ. संजीव शुक्ला, पी. सुंदरराज सहित पुलिस मुख्यालय के अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे। 

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804