GLIBS
26-08-2019
महिला को 30 वर्ष बाद परिवार से मिलाने में पुलिस ने निभाई अहम भूमिका

दुर्ग। 35 वर्ष पूर्व गुम हुई एक महिला को यदि उसका पूरा परिवार मिल जाए तो यह उस परिवार के लिए किसी आश्चर्य से कम नहीं होगा। ऐसा ही एक घटना राजनांदगांव जिले के ग्राम बिजेतला में सामने आई है। गुम हुए महिला को उसके परिजनों से मिलाने में केरल के मेंटल हॉस्पिटल और दुर्ग पुलिस की महत्वपूर्ण भूमिका रही। 65 वर्षीय महिला, जिसकी मानसिक स्थिति ठीक नहीं होने से वर्ष 2016 में केरल के त्रिशूर के शासकीय मनोचिकित्सा केन्द्र में न्यायालय के आदेश पर इलाज के लिए भर्ती हुई थी। जहां इस वर्ष महिला के स्वास्थ्य में थोड़ा सुधार होने पर अपना नाम केजा बाई छत्तीसगढ़ के नारधा रोड से जालबांधा क्षेत्र निवासी बताया। इस पर केरल के त्रिशूर के हॉस्पिटल से दुर्ग पुलिस एवं राजनांदगांव पुलिस को महिला के संबंधितों का पता तलाश के लिए पत्र माह अप्रैल में भेजा गया। पता तलाश अभियान में शुरुवाती दौर में महिला के संबंधितों का पता नहीं चल पाया, किन्तु दुर्ग की बोरी थाना पुलिस ने प्रयास जारी रखा। महिला ने जो जानकारी दी उसके पति का नाम पोकई सहित 8-10 रिश्तेदारों का व अपने 4 पुत्र व पुत्रियों का नाम बताया था। साथ ही जिन-जिन गांवों का नाम महिला ने बताया था वो थाना बोरी के सरहदी गांव होने के बाद भी परिजनों का तलाश अभियान के दौरान थाना बोरी के पुलिस अपने क्षेत्र के साथ ही राजनांदगांव जिले के घुमका, खैरागढ़,जालबांधा क्षेत्र में जानकारी जुटाना जारी रखा। इस दौरान जिला राजनांदगांव में घुमका थाना क्षेत्र के बिजेतला गांव में महिला द्वारा अपने बच्चों के बताये गये रत्ना नाम से खोज की तब अभियान को नई दिशा मिला और बिजेतला की रत्ना नाम की महिला की मां का नाम केजा बाई होने के संबंध में जानकारी प्राप्त हुई। रत्ना नाम की महिला जिसका विवाह ग्राम परपोड़ी मेंं हो चुका है। उसकी भाई का नाम मोहित एवं मां का नाम केजा बाई है। जानकारी मिली कि वर्ष 1980 के आसपास केजाबाई जिसका मायका बानबरद अहिवारा उसकी दूसरी शादी ग्राम बिजेतला में हुआ था। शादी के बाद 1 बेटा मोहित व बेटी रत्ना थी। वर्ष 1987-88 में पति बालाराम पटेल की मृत्यु के कुछ समय बीत जाने के बाद केजाबाई सब्जी बेचने जालबांधा जाना बोलकर निकली थी, जो वापस नहीं लौटी। परिजन व गांव वाले सभी उनके घर वापसी की उम्मीद छोड़ दिये थे। तब पुत्र मोहित लगभग 8 वर्ष का था। मोहित पटेल ने बताया पिता बालाराम की मृत्यु व मां केजाबाई के गुम होने के बाद पिता की पहली पत्नी परदेशनीन बाई जो मां की बड़ी बहन थी ने पालन पोषण किया। शासकीय मनोरोग अस्पताल त्रिशूर केरल से महिला के नाते रिश्तेदारों के पता तलाश हेतु पत्र प्राप्त होने के तत्काल बाद प्रखर पांडे पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर लखन पटले एएसपी(ग्रामीण) व नगर पुलिस अधीक्षक के मार्गदर्शन पर थाना बोरी को उक्त महिला के संबंध में जानकारी जुटाने दिशा निर्देश दी गई थी। नारधा गांव से जालबांधा बिजेतला तक दर्जनों गांवों में महिला के संबंध में पता तलाश के लिए महिला के पति के नाम को आधार मानकर काम किया गया, किन्तु पति का नाम महिला द्वारा पोकई एवं त्रिशूर से प्राप्त पत्र में महिला का नाम खेजा उर्फ दीदी के बताने के कारण महिला के नाते रिश्तेदारों के पता तलाश में विलंब हुआ। पता तलाश जांच की दिशा को राजनांदगांव जिले से जुड़े थाना के सरहदी ग्रामों मोहंदी जालबांधा, बिजेतला, भोथी पर ध्यान केन्द्रित किया गया और इस दौरान घुमका के ग्राम बिजेतला के रत्ना नामक महिला की मां का नाम केजाबाई होना पता चला। थाना बोरी के आरक्षक विजेन्द्र ठाकुर के द्वारा महिला के नाते रिश्तेदारों द्वारा पता तलाश हेतु सार्थक प्रयास किया गया। आसपास के ग्रामीणों एवं गांव वालों से केजाबाई के संबंध में काफी पूछताछ कर महिला के पुत्र मोहित के बारे में जानकारी प्राप्त करने में सफल हुई। वरिष्ठ अधिकारीगणों के पत्राचार उपरांत उक्त गुम महिला केजाबाई को केरल के त्रिशूर में न्यायालय के औपचारिकता के बाद पुत्र मोहित अपने घर बिजेतला वापस लेकर लौट आया है।

 

05-08-2019
पुलिस परिवार के छात्रों के लिए लागू होगी डीजीपी मेरिट स्कॉलरशिप योजना

रायपुर। पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी की अध्यक्षता में आज छत्तीसगढ़ पुलिस केन्द्रीय कल्याण समिति एवं संयुक्त परामर्शदात्री समिति की बैठक पुलिस ट्रांजिस्ट मेस स्थित सभाकक्ष में आयोजित की गई। बैठक में पुलिस परिवार के मेधावी छात्रों के लिए डीजीपी मेरिट स्कॉलरशिप प्रदान किए जाने की प्रस्ताव पारित किया गया। इसके अंतर्गत 10वीं बोर्ड परीक्षा में 85 प्रतिशत या इससे अधिक अंक प्राप्त करने वाले छात्र-छात्राओं को 1500/- से 2000 रुपए तक प्रतिमाह कक्षा 12वीं में 80 प्रतिशत या इससे अधिक अंक प्राप्त करने पर स्नातक स्तर के शिक्षा अध्ययन के लिए 3000 रुपए प्रतिमाह और स्नातकोत्तर शिक्षा प्राप्त करने हेतु भारत के किसी भी प्रतिष्ठित संस्थान में पढ़ाई करने पर 5000 रुपए प्रतिमाह छात्रवृत्ति प्रदान करने का प्रस्ताव है। राज्य के सभी पुलिस इकाइयों से आने वाले परामर्शदात्री समिति के सदस्यों को संबोधित करते हुए पुलिस महानिदेशक अवस्थी ने कहा कि पुलिस परिवार का उत्थान और विकास कैसे हो? इस प्रकार के प्रस्तावों पर विचार किया जाना चाहिए। वर्तमान समय में पुलिस की नौकरी तभी सार्थक होगी जब पुलिस कर्मचारी-अधिकारियों के सेवानिवृत्त होने के पूर्व उनके बच्चे उच्च स्तर की शिक्षा प्राप्त कर ले। अवस्थी ने कहा कि राज्य पुलिस के सभी अधिकारी-कर्मचारियों को समान रूप से पदोन्नति मिले इसके लिए अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक अशोक जुनेजा की अध्यक्षता में एसओपी तैयार करने हेतु समिति का गठन कर दिया गया है। बैठक में पुलिस विभाग के मेधावी छात्रों के लिए उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए न्यूनतम ब्याज दर पर पुलिस कर्मचारियों को ऋण उपलब्ध कराने का प्रस्ताव पारित किया गया। संकट निधि में अधिकारी-कर्मचारी को पूर्ण सेवाकाल में डेढ़-डेढ़ लाख रुपए दो बार सहायता राशि प्राप्त कर सकेंगे। इस अवसर पर विशेष पुलिस महानिदेशक संजय पिल्लै, आरके विज, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक पवन देव, अशोक जुनेजा पुलिस महानिरीक्षक दीपांशु काबरा, रायपुर रेंज के आईजी आनंद छाबड़ा, उप पुलिस महानिरीक्षक आरएस  नायक, एचआर मनहर, डॉ. संजीव शुक्ला, पी. सुंदरराज सहित पुलिस मुख्यालय के अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे। 

 

02-08-2019
उन्नाव रेप पीडि़ता का परिवार मध्यप्रदेश में बसे तो सीएम  कमलनाथ देंगे सुरक्षा

भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने उन्नाव गैंगरेप पीडि़त केस में सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि कोर्ट का फैसला स्वागत योग्य है। उन्होंने उन्नाव की बेटी के परिवार से अपील की है कि वो मध्यप्रदेश आकर बसे, सरकार उन्हें सुरक्षा देगी। उन्नाव रेप मामले पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद सीएम कमलनाथ ने ट्वीट कर अपनी बात कही। उन्होंने लिखा कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला स्वागत योग्य है। यूपी को असुरक्षित मानकर छोडऩे का निर्णय ले चुकी पीडि़ता की मां और परिवार से मैं अपील करता हूं कि वो सभी मध्यप्रदेश आकर बसने का निर्णय लें। हमारी सरकार आपके पूरे परिवार की रक्षा करेगी। अगले ट्वीट में सीएम कमलनाथ ने कहा कि अगर बच्ची परिवार यहां आता है तो हम उसका बेहतर इलाज कराएंगे। उसकी बेहतर शिक्षा से लेकर सम्पूर्ण दायित्व हम निभाएंगे। परिवार को हम किसी भी प्रकार की दिक्कत नहीं होने देंगे। सीएम ने लिखा-दिल्ली केस ट्रांसफर होने के कारण आपके दिल्ली आने-जाने की भी पूर्ण व्यवस्था करेंगे। हम बेटी का प्रदेश की बच्ची तरह खयाल रखेंगे। बच्ची का हम बेहतर इलाज कराएंगे। उसकी बेहतर शिक्षा से लेकर सम्पूर्ण दायित्व हम निभाएंगे। किसी भी प्रकार की दिक्कत का सामना नहीं होने देंगे। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने रायबरेली जेल में बंद उन्नाव रेप पीडि़ता के चाचा को दिल्ली की तिहाड़ जेल में शिफ्ट करने का आदेश दिया है। शुक्रवार को इस मामले की सुनवाई करते हुए चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की बेंच ने यह आदेश पारित किया। दरअसल पीडि़ता के वकील ने उसके चाचा की जान को खतरा बताते हुए उन्हें तिहाड़ जेल शिफ्ट करने की मांग की थी।

30-07-2019
हाईटेंशन तार गिरने से एक ही परिवार के 6 लोगों की मौत

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश में एक बड़ा हादसा हो गया। यहां के महराजगंज हाईटेंशन तार गिरने से 6 लोगों की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि सभी लोग खेत में पानी भरकर धान की बुआई कर रहे थे। तभी इनके ऊपर हाईटेंशन तार गिर गया।
जानकारी के अनुसार, महाराजगंज के फरेंदा के हड़हवा पुल के पास खेत में कुछ महिलाएं धान रोपाई कर रही थी। खेत के ऊपर से गुजरा हाईटेंशन विद्युत तार उसी समय टूट कर लोहे के पोल से सट गया। खेत की सतह के संपर्क में होने से खेत में करंट का प्रवाह होने लगा।
इस दौरान आसपास के लोगों ने उन्हें बचाने की भी कोशिश की, जिससे वह घायल हो गए। घटना की जानकारी पुलिस को दी गई। पुलिस ने विद्युतकर्मियों से विद्युत आपूर्ति ठप कराई। बाद में शव को बाहर निकाला गया।

29-07-2019
पुलिस ने किया एक परिवार पर हमला करने वाले आरोपियों को गिरफ्तार

जांजगीर चाम्पा। डभरा थाना के कटौद गांव में 24 जुलाई की रात एक परिवार के 4 लोगों पर हमले के 5 आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। हमले में घायल एक बच्चे की  मौत हो चुकी है। परिवार के 3 अन्य सदस्यों का रायपुर में इलाज जारी है। पुलिस से पूछताछ में आरोपियों ने हमले की वजह पुरानी रंजिश को बताया है। 

 

17-04-2019
मोदी का परिवार नहीं इसीलिए दूसरों के घर करते हैं तांक-झांक : शरद पवार

नई दिल्ली। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच परिवार को लेकर वाकयुद्ध छिड़ गया है। पीएम मोदी के एक बयान पर जहां शरद पवार ने टिप्पणी की है वहीं पीएम मोदी ने उसका फिर से जवाब दिया है। शरद पवार ने पूछा है कि पीएम मोदी को कैसे पता कि परिवार कैसे चलाते हैं? शरद पवार ने कहा कि वे कैसे जान सकते हैं कि परिवार कैसे चलाते हैं? इसी वजह से वे दूसरों के घर में तांक-झांक करते हैं। मैं इससे ज्यादा भी कह सकता हूं। लेकिन मैं इससे निम्नतर स्तर तक नहीं जाना चाहता। शरद पवार ने आगे कहा कि मोदी कहते हैं कि पवार साहब अच्छे आदमी हैं लेकिन उन्हें पारिवारिक समस्या है। उनके भतीजे उनके हाथ से निकल गए हैं। मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि मेरे घर में क्या चल रहा है इससे उन्हें क्या मतलब है? मेरे पास पत्नी है, बेटी है, दामाद और भतीजे हैं जो मुझसे मिलते हैं लेकिन मोदी के पास कोई नहीं है। शरद पवार की टिप्पणी पर पीएम मोदी ने फिर पलटवार किया है। प्रधानमंत्री ने कहा कि शरद पवार मेरे परिवार को लेकर सवाल उठा रहे हैं, उन्हें ऐसी बात करने का हक है। लेकिन मैं जो आज जिंदगी जी रहा हूं वह भगत सिंह, सुखदेव, राजगुरु की प्रेरणा से अपना परिवार आगे बढ़ा रहा हूं। 

11-04-2019
मतदान करने गया तब पता चला पूरे परिवार का नाम गायब!

गौतमबुद्ध नगर। 2015 में जिस व्यक्ति को गोमांस रखने के आरोप में भीड़ ने पीट-पीट कर मार डाला था, उस व्यक्ति के पूरे परिवार का नाम वोटर लिस्ट से गायब है। जी हां गौतमबुद्ध नगर लोकसभा सीट के अंतर्गत आने वाले बिसहाड़ा निवासी मोहम्मद अखलाक का परिवार आज सुबह वोट डालने गया तब पता चला कि परिवार के किसी भी सदस्य का नाम अब वोटर लिस्ट में नहीं है। 55 वर्षीय मोहम्मद अखलाक वही शख्स थे जिसकी भीड़ ने गोमांस रखने के शक पर पीट-पीटकर हत्या कर दी थी। इस संबंध में अधिकारियों का कहना है कि कई महीने से अखलाक के घर में कोई सदस्य नहीं रह रहा था। इसीलिए वोटर लिस्ट से उनका नाम हटा दिया गया होगा। बताया जा रहा है कि अखलाक के परिवार ने लिंचिंग की घटना के बाद सुरक्षा कारणों से गांव छोड़ दिया था। आज सुबह वे वोट डालने के लिए आए थे। बता दें कि पिछले दिनों इसी गांव में सीएम योगी आदित्यनाथ की रैली हुई थी। इस रैली में अखलाक की हत्या के आरोपियों ने भी हिस्सा लिया जो इस समय जमानत पर बाहर हैं। मुख्य आरोपी विशाल राणा समेत आरोपी चार अन्य लोग रैली में सबसे आगे खड़े दिखाई दिए थे। 

 

 

15-01-2019
Missing child : गुम बालक को घंटेभर में परिवार से मिलाया पुलिस ने

रायगढ़। घर से बिना बताए निकला हुआ बालक को पु​लिस ने कुछ घंटों के भीतर ही केवड़ाबाड़ी बस स्टैंड पर तलाश कर लिया। मंगलवार दोपहर को बस स्टैंड में आरक्षक जग्रनाथ साहू व अनूप कुजूर को 10-11 साल का बालक अकेले मिला। बालक स्कूल ड्रेस में था, जिससे दोनों आरक्षकों ने उसके परिजनों के संबंध में पूछताछ किया। बालक अपने घर का पता न बताकर शंकरगढ़, जिला बलरामपुर का पता बता रहा था। इससे आरक्षकों को शंका हुई। आरक्षकों ने बच्चे से उसके शंकरगढ में परिजनों से बात करने की बात कही। बालक ने शंकरगढ़ अपने नानी व अन्य परिजनों का नंबर दिया। पूछताछ करने पर बालक के जामगांव, चक्रधरनगर होने की जानकारी हुई। कोतवाली स्टाफ ने बालक से पूछताछ कि तो उसने बताया कि आज सुबह वह स्कूल जाने के लिए घर से निकला था किन्तु स्कुल न जाकर अपने नानी के घर शंकरगढ़ (बलरामपुर) जा रहा था । बालक के घर के पते की जानकारी मिलने पर आरक्षक धनंजय कश्यप और कमलेश यादव ने बालक को उसके घर पिता के पास पहुंचाया। बालक का पिता मजदूरी करता है तथा अपने बच्चों को पढ़ाना चाहता है। इसके विपरीत बालक पढ़ाई में मन नहीं लगना बताकर नानी के घर जाना बताया। 

11-01-2019
Korba: केक खाने से एक ही परिवार के चार सदस्य बीमार

कोरबा। आधी रात को बर्थडे पार्टी में केक काट कर सेलिब्रेशन मना रहे एक परिवार में उस उक्त हड़कंप मच गया, जब केक खाने के बाद एक परिवार के पांच लोगों को उल्टियां होने लगीं। घटना बाकीमोंगरा की है जहां मधु अपने बड़े भाई हरिहर दास के जन्मदिन पर निहारिका स्थित संतोष डेयरी से केक लेकर गया था। उसमें डीजल की गंध आ रही थी। संतोष डेयरी में केक की सप्लाई हरेंद्र करता है। उसने माना कि गलती हो गई है। ग्राहक ने इसकी शिकायत खाद्य विभाग से कर दी है। इस घटना में हरिहर दास, ममता दास, अलका दास व मधुसूदन दास पीडि़त हैं। इस मामले की जानकारी पीडि़त परिवार ने जब फूड विभाग को दी तो मौके पर पहुंची टीम ने आपसी समझौता कर लेने की बात कही।  विभाग द्वारा बिना शिकायत के कार्रवाई नहीं की गई।

10-01-2019
Crashed : एक ही परिवार के तीन को ट्रक ने कुचला, दो की मौके पर मौत

धरमजयगढ़। खरसिया के प्रेमनगर के पास एक ही परिवार के तीन लोगों को ट्रक ने कुचल दिया। मौके पर ही दंपती की मौत हो गई व मृतक का भतीजा  घायल हो गया जिसे अस्पताल भेजा गया है। धरमजयगढ़ थाना प्रभारी सरोज टोप्पो ने बताया कोरबा जिले के करतला निवासी छातिरराम अघरिया अपनी पत्नी दुलारी बाई व भतीजे के साथ अपने परिजन के अंतिम संस्कार कार्यक्रम में शामिल होने धरमजयगढ़ के समीप बाकारुमा आए थे। शाम को चार बजे बाइक से घर वापस लौटते वक्त धरमजयगढ़-खरसिया मार्ग पर प्रेमनगर के पास एक अज्ञात वाहन ने उनको रौंद दिया। इस दुर्घटना में दोनों पति-पत्नी की घटनास्थल पर ही मौत हो गई और बाइक चला रहा भतीजा घायल हो गया। घटना की सूचना मिलते ही धरमजयगढ़ पुलिस मौके पर पहुंच सबसे पहले घायल बाइक चालक को अस्पताल पहुंचाया। 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804