GLIBS
17-09-2020
मुख्यमंत्री की घोषणा के बाद भी नही हुई कार्रवाई,कांग्रेस के राज में माफिया है मस्तः कौशिक

रायपुर। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि प्रदेश मे रेत माफिया पर अंकुश नहीं होने से उनके हौसले बुलंद है। पूरे प्रदेश में माफिया मस्त है। यही कारण है कि किसी पर प्राणघातक हमला करके तस्कर दशहत फैलाकर तस्करी में जुटे हैं। उन्होंने कहा कि धमतरी में फिर से एक बार रेत माफियाओं ने जिला पंचायत सदस्य पर प्राणघातक हमला करके दहशत फैलाने की कोशिश की है। इससे पूर्व भी इसी तरह से एक जिला पंचायत सदस्य पर भी माफियाओं ने हमला किया था। रेत माफियाओं का आंतक पूरे प्रदेश में कायम है,लेकिन प्रदेश की सरकार कुछ भी ठोस कार्रवाई नहीं कर रही है।

कौशिक ने कहा कि रेत माफिया बस्तर से लेकर सरगुजा और रायपुर से बिलासपुर सहित पूरे प्रदेश में सक्रिय हैं। उन्होंने कहा कि आखिरकार उन्हें किसका मौन समर्थन प्राप्त है। इस मसले पर मुख्यमंत्री ने सदन में भी ठोस कार्रवाई की बात कही थी। इसके बाद भी कार्रवाई के नाम पर अब तक कुछ नहीं हुआ है। यही कारण है कि रेत माफियाओं के हौंसले बुलंद है। नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने धमतरी में जिला पंचायत सदस्य के साथ हुई घटना की निंदा करते हुए मामले की उच्चस्तरीय जांच की मांग की है।

 

15-09-2020
वन विभाग की कार्रवाई : 4 लाख रुपए से अधिक मूल्य के साल लट्ठे जब्त,संस्थान को किया गया सील

रायपुर। वनमंत्री मोहम्मद अकबर के निर्देशानुसार राज्य में वन विभाग की ओर से वनों की सुरक्षा के लिए अभियान लगातार जारी है। इस कड़ी में वन मंडल रायगढ़ के वन परिक्षेत्र रायगढ़ अंतर्गत आरके फर्नीचर एंड टिम्बर रायगढ़ में दबिश दी। 78 नग साल लकड़ी के अवैध लटठे जप्त किए गए हैं। इसका अनुमानित मूल्य 4 लाख रुपए से अधिक आंका गया है।  टीम ने रायगढ़ बाइपास रोड के छातामुड़ा चौक के पास स्थित आरके फर्नीचर एंड टिम्बर रायगढ़ को कार्रवाई के दौरान सील किया है।
प्रधान मुख्य वन संरक्षक राकेश चतुर्वेदी के मार्गदर्शन में वन मंडलाधिकारी रायगढ़ मनोज पांडेय की ओर से गठित टीम 14 सितंबर से उक्त फर्नीचर एंड टिम्बर रायगढ़ में सघन जांच की। टीम को मौके पर चार लाख रुपए से अधिक मूल्य के जब्त लट्ठे के संबंध में आरके फर्नीचर एंड टिम्बर रायगढ़ के मालिक की ओर से आवश्यक दस्तावेज उपलब्ध नहीं कराया गया। कार्रवाई में वन क्षेत्रपाल लीला पटेल सहित प्रभारी वन परिक्षेत्र अधिकारी राजेश्वर मिश्रा और दीनबंधु प्रधान व गोवर्धन राठौर आदि उड़नदस्ता दल के अमले का सराहनीय योगदान रहा। इसके अलावा विजय दीक्षित, ऋषिकेश्वर सिदार,गितेश्वर पटेल, विजय मिश्रा,प्रेमा तिर्की आदि विभागीय अमले ने भी कार्रवाई में भरपूर योगदान दिया। गौरतलब है कि वन मंडल रायगढ़ के अंतर्गत टीम सभी वन परिक्षेत्रों में वन अपराध को रोकने के लिए अभियान निरंतर चला रही है।

 

13-09-2020
यातायात नियमों का उल्लंघन करने वाले 92 वाहन चालकों का लाइसेंस निरस्त

रायपुर। यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ पुलिस ने कार्रवाई तेज कर दी है। 92 वाहन चालकों का लाइसेंस निरस्त करने की कार्रवाई भी की गई। साथ ही परिवहन विभाग को प्रकरण भेज दिया है। दो दिन से चौराहों पर नियम तोड़ने वाले पांच सौ से अधिक वाहन चालकों को ई-चालान भेजकर नोटिस जारी किया गया। वहीं बाहरी राज्य से आने वाले वाहन चालकों के भी ई-चालान काटे गए।

डीएसपी ट्रैफिक सतीश ठाकुर ने बताया कि कोरोना संक्रमण की रोकथाम में यातायात अमले के व्यस्त होने के कारण यातायात नियमों का उल्लंघन करने वाले वाहन चालकों के खिलाफ चालानी कार्रवाई नहीं की जा रही थी, किंतु लगातार यातायात नियमों का उल्लंघन होने पर फिर से चालानी कार्रवाई तेज की गई। शहर के प्रमुख चौक-चौराहों पर बिना हेलमेट, तीन सवारी, तेज रफ्तार, रांग साइड चलने और बिना लाइसेंस के वाहन चलाने वालों के खिलाफ चालानी कार्रवाई शुरू की गई है। तेज रफ्तार, शराब सेवन कर नशे की हालत में वाहन चलाने, यातायात संकेतकों की अनदेखी कर फर्राटा भरने वाले वाहन चालकों का लाइसेंस निलंबन करना भी शुरू कर दिया गया है। शनिवार को ऐसे 92 वाहन चालकों का लाइसेंस निरस्त कर प्रकरण परिवहन विभाग को भेजा गया। इसके अलावा जिन चौराहों पर यातायात के जवान उपस्थित नहीं रहते, वहां आईटीएमएस सीसीटीवी कैमरे के जरिए नियम तोड़ने वाले वाहन चालकों का ई-चालान काटा जा रहा है

12-09-2020
कलेक्टर ने कहा : होम आइसोलेशन कार्य में लापरवाही और दायित्वों से मुंह मोड़ने पर होगी सख्त कार्रवाई

रायपुर। कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन ने कोरोना संक्रमण के रोकथाम और नियंत्रण के लिए शहर में किए जा रहे जोनवार कार्यों के साथ जिले के सभी स्वास्थ्य केंद्रों में दवाई और आवश्यक उपकरण उपलब्धता की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने कहा कि, जोनवार सैंपलिंग के लिए लक्ष्य बनाकर कार्य करें। घर में बुजुर्ग और गंभीर बीमारी से पीड़ित व्यक्तियों के संदर्भ में सम्पूर्ण जानकारी रखी जाए।डॉ. भारतीदासन ने सभी जोन आयुक्तों को निर्देश दिए हैं कि, सक्रिय मरीजों की संख्या को ध्यान में रखते हुए आवश्यक समस्त व्यवस्था रखें। उन्होंने कहा है कि, कोरोना मरीज एप के माध्यम से होम आइसोलेशन के लिए आवेदन प्रस्तुत कर सकते हैं। सबंधित अधिकारी ध्यान रखें कि, होम आइसोलेशन की अनुमति देने के पूर्व मरीज के बारे में आवश्यक सभी जानकारी लें,इसमे किसी की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

कलेक्टर डॉ. भारतीदासन ने कहा है कि, आपदा प्रबंधन कार्य में बाधा पहुंचाने, वांछित या गलत जानकारी देने वालों पर कार्यवाही होगी। आपदा प्रबंधन कार्य  में संलग्न अधिकारी-कर्मचारी से आमजन सहयोग करें। उन्होंने कहा है कि, शासन की ओर से आदेशों के माध्यम से कोरोना वायरस (कोविड-19) महामारी से बचाव और रोकथाम के संबंध में विस्तृत दिशा निर्देश जारी किए गए हैं। जिला प्रशासन की ओर से समय-समय पर कांटेक्ट ट्रेसिंग, एक्टिव सर्विलांस, कोरोना पॉजिटिव मरीजों को अस्पताल ले जाने, कंटेनमेंट जोन बनाने और अन्य दायित्व सौपते हुए कई अधिकारियों और कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है। कुछ अधिकारी- कर्मचारी उन्हें सौंपे गए दायित्वों के निर्वहन में रूचि नहीं ले रहे हैं। उक्त लापरवाही के साथ-साथ इंसिडेंट कमांडर के निर्देशों की अवहेलना करते हुए अनुशासनहीनता और आपदा प्रबंधन कार्य में बाधा पहुंचा रहे हैं।

ऐसे अधिकारी कर्मचारी के विरुद्ध लघु दीर्घ शास्ति अधिरोपित करते हुए वेतन में कटौती,रोकने और वेतन वृद्धि रोकने जैसे कार्रवाई की जाएगी।इसी तरह यदि किसी अधिकारी-कर्मचारी की ओर से गंभीर लापरवाही और अनुशासनहीनता के कारण आपदा प्रबंधन कार्य में गंभीर बाधा उत्पन्न हुई हो तो, ऐसे प्रकरणों में संबंधित अधिकारी कर्मचारी के विरुद्ध संबंधित पुलिस थाना में भारतीय दंड संहिता, 1860 की धारा 188, आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 की धारा 51-60, एपिडेमिक डिसीजेज एक्ट 1897 यथासंशोधित 2020 की सुसंगत धाराओं और राज्य शासन की ओर से जारी रेगुलेशन 2020 के अधीन एफ आईआर दर्ज कराई जाए। इसी प्रकार आपदा प्रबंधन कार्य में बाधा पहुंचाने, वांछित जानकारी देने से इंकार करने, गलत जानकारी देने या आपदा प्रबंधन कार्य में संलग्न अधिकारी-कर्मचारी से दुर्व्यवहार करने वाले व्यक्तियों के विरुद्ध भी उपरोक्तानुसार कार्यवाही की जाए।

 

 

10-09-2020
होम आइसोलेशन के नियमों का कड़ाई से कराएं पालन, उल्लंघन पर करें कड़ी कार्रवाई : कलेक्टर

कोरबा। जिले में ऐ-सिम्प्टोमेटिक कोविड मरीजों को होम आईसोलेशन मे अपने घर पर रहकर इलाज की सुविधा देने की सभी तैयारियां जिला प्रशासन ने पूरी कर ली है। कलेक्टर किरण कौशल ने वीडियो कांफ्रेंसिग के माध्यम से राजस्व एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की बैठक लेकर तैयारियों की समीक्षा की और उन्हें होम आईसोलेशन के नियमों का मरीजो द्वारा कड़ाई से पालन कराना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने होम आईसोलेशन मे रहकर इलाज कराने वाले मरीजों से कोविड प्रोटोकाॅल और शासन द्वारा निर्धारित किए गए नियमों का सख्ती से पालन करने की अपील की है। किरण कौशल ने अधिकारियों को भी सख्त निर्देशित किया है कि होम आईसोलेशन के नियमों को उल्लंघन करने वाले मरीजों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की जाए। उन्होंने कोरोना संक्रमण को जिले मेें फैलने से रोकने और कोविड मरीजों को बेहतर इलाज की सुविधा देने के लिए आमजनों से भी सहयोग की अपेक्षा की है।

बैठक मे पुलिस कप्तान अभिषेक मीणा, जिला पंचायत के सीईओ कुंदन कुमार, नगर निगम आयुक्त एस. जयवर्धन, अपर कलेक्टर प्रियंका महोबिया, सीएमएचओ डाॅ.बीबी बोडे सहित एसडीएम सुनील नायक एवं सूर्यकिरण तिवारी और स्वास्थ्य तथा राजस्व विभाग के अन्य अधिकारी भी शामिल हुए।  बैठक में कोविड के बिना लक्षण वाले मरीजों को होम आईसोलेशन मे रखने की पात्रता और शासकीय दिशा-निर्देशों की जानकारी भी अधिकारियों को दी गई। होम आईसोलेशन में रहने वाले मरीजों की निगरानी के लिए जिला स्तर पर सक्रिय दल भी बनाए गए हैं। यह सक्रिय दल हर तीन दिन मे होम आइसोलेटेड मरीज के घर का निगरानी करेगा। यह दल मरीज और उनके परिवार के सदस्यों का बाहर के लोगों से मिलना-जुलना या किसी भी प्रकार का सम्पर्क ना हो यह भी सुनिश्चित करेंगे। कलेक्टर कौशल ने बैठक में सभी एसडीएम को यह भी निर्देशित किया कि सक्रिय टीम बनाकर होम आईसोलेशन मे रहने वाले सभी मरीजो की निगरानी करने में गंभीरता पूर्वक काम करें। कलेक्टर ने सभी एसडीएम को कोरोना संक्रमित के काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग का काम 12 घंटे के अंदर मे करवाने के भी निर्देश दिए।

जिले मे कोरोना के बढ़ते कदम को रोकने के लिए कलेक्टर किरण कौशल ने टेस्ट, आईसोलेट तथा ट्रीट के फार्मूले को अपनाने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने बैठक मे बताया कि कोरोना संक्रमित मरीजो कीे मृत्यु की दर को कम करने के लिए यह फार्मूला अपनाया जा रहा है। इसके तहत ज्यादा से ज्यादा संख्या मे कोरोना टेस्ट किए जाएंगे। पाॅजिटिव मरीजो के प्राथमिक संपर्क मे आये सभी लोगो की पहचान करके जल्द से जल्द सभी लोगो के कोरोना टेस्ट व्यापक संख्या मे किये जायेंगे। बिना लक्षण वाले मरीजो की इलाज होम आईसोलेशन मे रखकर किया जायेगा। होम आईसोलेशन की अनुमति देने के लिए जिला स्तरीय निगरानी दल गंभीरता पूर्वक कोरोना को रोकने के लिए काम करेंगे। कलेक्टर किरण कौशल ने कोरोना की रोकथाम के लिए होम आइसोलेशन वाले परिवार की कड़ाई से निगरानी करने के निर्देश भी दिये।

 

10-09-2020
बिना मास्क के घूम रहे 11 लोगों पर लगाया जुर्माना

भिलाई। निगमायुक्त ऋतुराज रघुवंशी ने बिना मास्क लगाए अनावश्यक घूमने वालों पर कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। इसके तहत नगर निगम के जोन 4 वीर शिवाजी नगर के राजस्व विभाग की टीम ने बिना मास्क के घूम रहे लोगों के खिलाफ अभियान चलाया। बिना मास्क के पकड़े जाने पर आम नागरिक, दुकानदार और फल बेचने वाले फुटकर व्यापारी सहित कुल 11 लोगों से 100-100 रूपए जुर्माना वसूला गया। वहीं दूसरी बार पकड़े जाने पर 500 रुपए अर्थदंड और कानूनी कार्रवाई की चेतावनी दी गई। जोन आयुक्त अमिताभ शर्मा के निर्देश पर सहायक राजस्व अधिकारी बालकृष्ण नायडू की टीम ने वार्ड 29 बापू नगर, घासीदास नगर, औद्योगिक क्षेत्र रोड, चार्ट लाइन के दुकानों का निरीक्षण किया। दुकान में बिना मास्क के व्यवसाय कर रहे व्यापारियों से 100-100 रुपए की चालानी कारवाई की गई। इसके अलावा वार्ड-29 बापू नगर निवासी संतोष गुप्ता, मो.वसीम, मो. नसीम, नंदू किराना, गोवर्धन और खेदिया बाई को बिना मास्क के पकड़े जाने पर 100-100 रूपए अर्थदंड वसूला गया।

 

08-09-2020
चीनी सेना ने की पुष्टि, अरुणाचल प्रदेश से लापता 5 युवक उनके पास, वापसी की चल रही कार्रवाई

नई दिल्ली। अरुणाचल प्रदेश के ऊपरी सुबनसिरी जिले से कथित तौर पर अगवा किए गए पांच युवकों का पता चल गया है। केंद्रीय मंत्री और अरुणाचल प्रदेश के सांसद किरेन रिजिजू ने कहा की सभी लोग चीनी सेना के पास है। फिलहाल उनकी वापसी की कार्रवाई चल रही है। दरअसल भारतीय सेना ने चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के समक्ष यह मुद्दा उठाया था, जिसके बाद इन लोगों की जानकारी मिल सकी। केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजू ने बताया कि चीन के पीएलए ने भारतीय सेना के हॉटलाइन संदेश का जवाब दिया है। उन्होंने पुष्टि की कि अरुणाचल प्रदेश से लापता युवक उनके द्वारा पाए गए हैं। आगे के तौर-तरीकों से उन्हें भारत को सौंपने का काम किया जा रहा है। अरुणाचल प्रदेश में शिकार के लिए चीन-भारत सीमा पर स्थित ऊपरी सुबनसिरी जिले के जंगल में गए पांच युवकों को चीनी सेना ने कथित तौर पर किडनैप कर लिया था। उनके परिजनों ने बताया कि यह घटना शुक्रवार को जिले के नाचो इलाके में हुई। अरुणाचल प्रदेश के कांग्रेस विधायक निनॉन्ग ईरिंग ने शनिवार को दावा किया था कि चीनी आर्मी ने प्रदेश के पांच लोगों को अगवा कर लिया है। इस बीच, लापता लोगों के साथ गए दो लोग किसी तरह पीएलए जवानों से बचकर भागने में कामयाब हुए और वापस लौटकर पुलिस को घटना की जानकारी दी। इसके बाद इलाके में तैनात भारतीय थलसेना की इकाई ने पीएलए की संबद्ध इकाई को कथित अपहरण के बारे में अपनी चिंताओं से अवगत कराने के लिये हॉटलाइन पर संदेश भेजा था।

 

06-09-2020
मदिरा दुकान के आसपास अवैध चखना ठेलों पर की गई कार्रवाई

धमतरी। कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी धमतरी जयप्रकाश मौर्य द्वारा कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के लिए मदिरा दुकान के आसपास प्लास्टिक डिस्पोजल ग्लास तथा पानी पाउच के विक्रय एवं उपयोग पर पाबंदी लगाई गई है। साथ ही मदिरा दुकान परिसर में मदिरा का उपभोग पूर्णतः प्रतिबंधित किया गया है। इसके मद्देनजर आबकारी टीम द्वारा सतत् कार्रवाई की जा रही है। टीम द्वारा ग्राम रांवा में पानी पाउच तथा प्लास्टिक डिस्पोजल गिलास उपयोग में लाते हुए मदिरापान की सुविधा उपलब्ध कराते पाये जाने पर कुर्रा निवासी गुलशन साहू के विरुद्ध धारा 36 (ग) आब. एक्ट के तहत कार्रवाई की गई। इसी तरह कुरूद में शराबखोरी करते पाये जाने पवन साहू के विरुद्ध धारा 36 (ग) आब. एक्ट एवं बल्ला, अनन्त साहू, दिलीप साहू तथा गुलाब साहू के विरुद्ध धारा 36 (च) आब. एक्ट  के तहत कार्रवाई की गई।

 

 

05-09-2020
नगर निगम की अतिक्रमण के खिलाफ तीसरे दिन भी कार्रवाई, खाली कराया गया कब्जा

भिलाई। भिलाई निगम के जोन क्रमांक 1 अंतर्गत दो स्थानों पर शुक्रवार को कार्रवाई की गई। लगातार तीसरे दिन अतिक्रमण के खिलाफ निगम ने कार्रवाई की है। नेहरू नगर जोन की टीम ने अतिक्रमण के खिलाफ बेदखली अभियान चलाया। फेसिंग को तोड़कर कर कब्जा खाली कराया गया। जोन-1 के सहायक राजस्व अधिकारी शरद दुबे ने बताया कि संजय नगर सुपेला में मनोहर देवांगन की जमीन पर सोनू सिंह ने कब्जा कर लोहे का दरवाजा लगा दिया था। इसकी शिकायत जोन के अधिकारियों से की गई थी। जोन के अधिकारियों के निर्देशानुसार सोनू सिंह के खिलाफ कार्रवाई की गई और लोहे का दरवाजा को निकाला गया।

सनातन नगर कोहका स्थित सिन्हा भवन के बाजू में रोड किनारे की जमीन पर बारबेट तार से फेसिंग कर नाली पर कब्जा कर लिया था। इससे क्षेत्र के रहवासियों को सामाजिक भवन में आवाजाही के दौरान परेशानी का सामना करना पड़ता था। इसे कर्मचारियों ने तोडफ़ोड़ कर कब्जा खाली कराया। पुन: कब्जा की शिकायत मिलने पर कानूनी कार्रवाई की चेतावनी दी गई। विदित है कि इसके पूर्व वार्ड क्रमांक 14 रामनगर में नाली के ऊपर अतिक्रमण करने पर दुकान को तोड़कर कब्जा हटाया गया था, सुपेला लक्ष्मी मार्केट एवं फरीद नगर में भी अवैध निर्माण एवं अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई की गई ।

04-09-2020
चार खाद-बीज भण्डार दुकानों का लाइसेंस निलंबित,कलेक्टर के निर्देश पर हुई कार्रवाई

कोरबा। जिला प्रशासन द्वारा यूरिया बिक्री में अनियमितता करने वाले खाद-बीज भण्डार दुकानों पर लगातार कार्रवाई की जा रही है। चार खाद-बीज भण्डार दुकानों का उर्वरक पंजीयन निलंबित कर दिया गया है। खबरों में किसानों के नाम पर अनियमित तरीके से यूरिया खाद बेचे जाने का मामला सामने आया था। कलेक्टर किरण कौशल ने इस मामले को गंभीरता से संज्ञान लेते हुए जांच करने के निर्देश कृषि विभाग के अधिकारियों को दिए थे। कलेक्टर के निर्देश पर कृषि विभाग द्वारा यूरिया बिक्री में अनियमितता करने वाले खाद-बीज भण्डार दुकानों का उर्वरक लाइसेंस निलंबित कर दिया गया है। उपसंचालक कृषि ने बताया कि यूरिया बिक्री में अनियमितता करने वाले दुकानों के पंजीयन निलंबित किये गये हैं। निलंबन की अवधि में दुकानों से उर्वरक बेचना पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगा। उन्होने बताया कि विकासखण्ड कोरबा के मेसर्स किसान बीज भण्डार कोरबा और मेसर्स सिंघानिया एजेंसी कोरबा तथा विकासखण्ड कटघोरा के मेसर्स सर्वमंगला खाद भण्डार बांकीमोंगरा एवं मेसर्स केशरी बीज भण्डार कटघोरा के उर्वरक पंजीयन को निलंबित किया गया है।

उप संचालक कृषि ने बताया कि मेसर्स सिंघानिया एजेंसी कोरबा, मेसर्स सर्वमंगला खाद भण्डार बांकीमोंगरा और मेसर्स किसान बीज भण्डार कोरबा का उर्वरक पंजीयन प्रमाण पत्र की वैधता 31 मार्च 2020 तक थी। संचालनालय कृषि से 30 जून 2020 तक वैधता मान्य किया गया था। 2 सितम्बर 2020 से पहले तक तीनों बीज भण्डार दुकानों ने पंजीयन प्रमाण पत्र नवीनीकरण के लिए आवेदन प्रस्तुत नहीं किया है। नवीनीकरण न कराने के कारण पंजीयन प्रमाण पत्र को अमान्य किया गया है। इस निलंबित अवधि में उर्वरक व्यवसाय पूर्ण रूप से प्रतिबंधित रहेगा। उप संचालक कृषि ने बताया कि जिले के टाॅप 20 यूरिया खरीदी करने वाले किसानों के जांच प्रतिवेदन के आधार पर मेसर्स किसान बीज भण्डार कोरबा, मेसर्स सिंघानिया एजेंसी कोरबा, मेसर्स सर्वमंगला खाद भण्डार बांकीमोंगरा और मेसर्स केशरी बीज भण्डार कटघोरा उर्वरक नियंत्रण आदेश 1985 के खण्ड 5 और 35 का उल्लंघन एवं अनियमितता का दोषी पाया गया जिसके कारण चारों खाद-बीज भण्डार दुकानों को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया। नोटिस के जवाब में उपरोक्त चारों दुकानों के संचालको द्वारा स्पष्टीकरण दिया गया,जो कि संतोषजनक नहीं पाया गया।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804