GLIBS
25-06-2020
बिना एटीएम लिए किसान के खाते से निकल गए 6 लाख रूपए, मामला दर्ज

रायपुर/बिलासपुर। शहर के एक किसान के साथ धोखाधड़ी करने और उसके बैंक खाते से 5.76 लाख रूपए निकालने का मामला सामने आया है। बटालियन चौक मेन रोड सकरी निवासी किसान रामकुमार कौशिक ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है कि उसका बचत खाता जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्यादित नेहरू चौक बिलासपुर में है। इसमें धान बिक्री और बोनस का रकम जमा होती है। बैंक द्वारा किसान को एटीएम भी जारी किया गया है, इसकी जानकारी किसान को थी ही नहीं। 15 अप्रैल को अपने खाते में जमा राशि की जानकारी लेने जब किसान पहुंचा तो 5.76 लाख रूपए का आहरण होना बताया। 16 अप्रैल से 16 मई तक उसकी जानकारी के बिना अज्ञात व्यक्ति ने एटीएम से 5.76 लाख रूपए निकाल लिया। इसकी लिखित शिकायत की गई। जांच के पश्चात भादवि की धारा 420 के तहत अपराध दर्ज कर लिया गया है।

11-06-2020
राजकुमार कॉलेज के करेंट बैंक खाता से साढ़े 49 लाख रुपए की धोखाधड़ी का प्रयास, मामला दर्ज 

रायपुर। शहर के राजकुमार कॉलेज के करेंट बैंक खाता से साढ़े 49 लाख रुपए की धोखाधड़ी  करने के प्रयास का मामला सामने आया है। आजाद चौक थाना पुलिस ने अज्ञात आरोपियों के खिलाफ मामले में जुर्म दर्ज कर लिया है। मिली जानकारी के मुताबिक पूर्व में स्कूल टीचर को दिए चेक का क्लोन तैयार कर बोनगांव सब डिवीजन प्राणवंदना मेमोरियल वेलफेयर सोसाइटी, पश्चिम बंगाल के नाम से भरकर फर्जी चेक लगाया गया है। चेक एनआईटी रायपुर स्थित स्टेट बैंक में जमा किया गया था। चेक के क्लोन से पैसे निकालने की कोशिश की गई। खाते में इतना बैलेंस नहीं होने की वजह से चेक बाउंस हो गया। इस पर 177 रुपए खाते से कटने का मैसेज आया। इस पर कॉलेज प्रबंधन को पूरे मामले की जानकारी हुई। स्कूल के प्रिंसिपल लेफ्टिनेंट कर्नल (रिटायर) अविनाश सिंह ने पुलिस में इस फर्जीवाड़ा की लिखित शिकायत की है। इसके बाद आजाद चौक थाना पुलिस ने देर रात अज्ञात आरोपियों के खिलाफ धोखाधड़ी करने का मामला दर्ज किया है। इस पूरे मामले की शिकायत राजकुमार कॉलेज सोसाइटी के अध्यक्ष व छत्तीसगढ़ शासन के मंत्री टीएस सिंहदेव से भी की गई है।

09-06-2020
लालच के चक्कर में गवाएं साढ़े दस लाख रुपए...

रायपुर। तीन व्यापारियों से लाखों की ठगी का मामला सामने आया है। मिली जानकारी के अनुसार कृषि विज्ञान केंद्र व सहायता समूह में पार्टनर बनाने व नौकरी लगाने के नाम पर साढ़े 10 लाख की ठगी की घटना को अंजाम दिया गया है। पुलिस ने मामले में धोखाधड़ी का अपराध दर्ज कर लिया है। बता दें कि कोतवाली थाना क्षेत्र निवासी गुरमीत सिंह, कृष्ण कुमार बघेल और नंदकुमार साहू की मुलाकात 2017-18 में मोपका क्षेत्र निवासी तरुणी सारथी से हुई। स्वयं को हंसवाहिनी महिला मंडल स्व सहायता समूह की संचालिका बताया और तीनों व्यवसायियों को साथ में बतौर पार्टनर काम करके समूह के माध्यम से लाभ अर्जित करने की बात कहीं।

साथ ही महिला ने उन्हें कृषि विज्ञान केंद्र में पार्टनरशिप व नौकरी दिलाने का भी विश्वास दिलाया। बड़े-बड़े अफसरों से भी जान पहचान है कहने पर तीनों व्यापारी म​हिला के झांसे में आ गए और उन्होंने महिला का ऑफर स्वीकार कर लिया। इस बीच तीनों ने मिलकर करीब 10 लाख 68 हज़ार रुपए जुटाए और महिला को दे दिए। लेकिन डेढ़ साल गुजर जाने के बाद भी किसी प्रकार का कोई लाभ नहीं मिलने और न ही रकम वापस करने के बाद ठगी का एहसास हुआ। पीड़ितों ने मामले की शिकायत पुलिस से की। कोतवाली पुलिस ने शिकायत के आधार पर आरोपी महिला तरुणी सारथी के खिलाफ धारा 120 बी और 420 के तहत अपराध दर्ज कर लिया है।

06-06-2020
पार्सल छुड़ाने के नाम पर लाखों की धोखाधड़ी, मामला दर्ज 

रायपुर। कीमती पार्सल भेजने का झांसा देकर छुड़ाने के नाम पर 6 लाख रुपए की ठगी करने का मामला सामने आया है। युवती की शिकायत पर आमानाका थाना पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 420 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर लिया है। आमानाका पुलिस थाना पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार हर्षित विहार फेस 2 महोवा बाजार निवासी आर.स्वाति 39 वर्ष का 3 फरवरी को शादी डॉट काम पर एक शख्स से परिचय हुआ था। उसने अपना नाम अजय रेयांस और खुद को लंदन में डॉक्टर बताया। परिचय बढ़ाते हुए वह लगातार मोबाइल पर कॉल करके बातचीत करने लगा। फिर इंटरव्यू के लिए पुणे, महाराष्ट्र आने की जानकारी दी। उसने कहा कि मैं ज्यादा करंसी लेकर नहीं चल सकता। युवती के नाम से कीमती पार्सल भेजने का झांसा देकर ठग ने उस पार्सल को छुड़ाने के लिए एक नंबर से कॉल आने की जानकारी दी। इसके बाद दूसरे मोबाइल नंबर से अज्ञात महिला ने कॉल कर अपने आपको कस्टम विभाग दिल्ली से बोल रही हूं कहकर, पार्सल का क्लियरेंस चार्ज लगने की बात कही। इसके बाद महिला के कहने पर आर.स्वाती ने अलग-अलग बैंक खाते में चार किश्तों में 6 लाख रुपये ऑनलाइन ट्रांसफर कर दिया। बाद में युवती को ठगे जाने का एहसास हुआ, तब शुक्रवार को थाने में शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने धारा 420, 34 का अपराध कायम कर जांच शुरू कर दी है।

03-06-2020
छत्तीसगढ़ के मंत्री खेती-किसानी पर टिप्पणी करने से पहले अपने दामन में झांक लें : चुन्नीलाल साहू

रायपुर। भाजपा सांसद चुन्नीलाल साहू ने छत्तीसगढ़ के कृषि मंत्री रवींद्र चौबे द्वारा केंद्र सरकार की घोषणा को किसानों के साथ षड्यंत्र और छलावा बताए जाने पर पलटवार किया है। चुन्नीलाल साहू ने कहा कि किसानों के साथ धोखाधड़ी और वादाखिलाफी कांग्रेस का राजनीतिक चरित्र रहा है और प्रदेश की कांग्रेस सरकार ने प्रदेश के किसानों के साथ पिछले डेढ़ साल के अपने सत्ताकाल में अपने इसी चरित्र का प्रदर्शन किया है।

साहू ने कटाक्ष किया कि किसानों के साथ कर्जमाफी, दो साल के बकाया भुगतान, धान खरीदी और अब अंतर राशि के भुगतान में प्रदेश सरकार ने जिस तरह वादाखिलाफी का परिचय दिया है, उस कांग्रेस सरकार के मंत्री केंद्र सरकार पर किसानों के साथ षड्यंत्र का आरोप लगाते हुए शर्म तक महसूस नहीं कर रहे हैं। केंद्र सरकार ने अन्नदाता किसानों का हर कदम पर सम्मान कर उनको लाभकारी मूल्य मुहैया करा उनकी बेहतर आर्थिक स्थिति की दिशा में काम किया है। अन्न के एक-एक दाने की कीमत केंद्र सरकार ने बढ़ाई है, जबकि प्रदेश सरकार अब तक पिछले खरीफ सत्र में खरीदे गए धान के उठाव की चिंता तक नहीं की है और मानसून सिर पर आ गया है। धान उठाव के प्रति प्रदेश सरकार की यह लापरवाही हजारों-लाखों टन अनाज के सड़ने का कारण बन रही है। साहू ने कहा कि प्रदेश सरकार और उसके मंत्री किसानों और खेती-किसानी के काम पर टिप्पणी करने से पहले अपने दामन में झाँक लें जो किसानों के साथ लगातार अन्याय और उनकी उपज की बबार्दी के चलते दागदार हो चुका है।

26-05-2020
15 दिनों में पैसे दोगुने करने का झांसा देकर लाखों की धोखाधड़ी

रायपुर। शहर में 15 दिनों में कंपनी खोलकर पैसे दोगुने करने का झांसा देकर 48 लाख रुपए की धोखाधड़ी करने का मामला सामने आया है। मामले की शिकायत पर पुलिस ने तीन आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दिया है। खरोरा थाना पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक खरोरा निवासी पीड़ित एस कुमार साहू ने थाने में शिकायत की गई थी। जांच के बाद आरोपी कमल देवांगन, विकास पदमवार और पोषण देवांगन के खिलाफ धारा 420, 34 के तहत अपराध दर्ज किया गया है। बता दें कि घटना 1 मई की है। जब आरोपियों ने पीड़ित के निवास पहुंचकर उसे स्कीम की जानकारी दी। 15 दिनों में दोगुनी राशि मिलने के लालच में प्रार्थी ने 20 किश्तों में 48 लाख रुपए दे दिए। जब 15 दिनों बाद पीड़ित को पैसे नहीं मिले तो उसने कॉल करना शुरू कर दिया, जिसके बाद आरोपियों ने आज-कल का बहाना देकर उसे घुमाना शुरू कर दिया। जब पीड़ित आरोपियों के पास पहुंचकर दिए पैसे वापस मांगा तो आरोपी विकास पदमवार ने पीड़ित द्वारा दवाब डाले जाने पर आत्महत्या कर लेने की धमकी दी, जिसके बाद ठगी का शिकार होना महसूस कर पीड़ित ने मामले की शिकायत थाने में दर्ज कराई।

13-05-2020
गोविंद मेडिकल एजेंसीज के संचालक के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज...

धमतरी। नगर निगम की शिकायत पर धमतरी पुलिस ने कार्रवाई करते हुए गोविंद मेडिकल एजेंसीज धमतरी के संचालक के खिलाफ धोखाधड़ी की धारा 420 व धारा 276 के खिलाफ अपराध दर्ज किया है। ज्ञात हो कि गोविंद मेडिकल एजेंसीज के संचालक ने नगर निगम में क्लोरीन टेबलेट सप्लाई की थी, जांच में टेबलेट की गुणवत्ता स्तरहीन पाई गई तथा कुछ टेबलेट के बॉक्स में नॉट फ़ॉर सेल लिखा हुआ था, निगम ने विभागीय जांच के बाद थाने में शिकायत की। इसके बाद पुलिस ने एफआईआर दर्ज किया है। मामले की जांच के बाद संचालक को गिरफ्तार किया जा सकता है।

11-05-2020
नॉट फॉर सेल लिखी क्लोरीन टेबलेट की सप्लाई करना धोखाधड़ी तो नहीं..? एफआईआर की उठ रही मांग

धमतरी। नगर निगम में गुणवत्ताहीन क्लोरीन टेबलेट सप्लाई के मामले में एक और चौंकाने वाली बात सामने आई कि टेबलेट के कुछ पैकेट में नॉट फ़ॉर सेल लिखा हुआ था। इसका मतलब साफ है कि टेबलेट सरकारी थी,जिसे बिक्री नहीं किया जा सकता। जबकि सप्लायर ने सरकारी टेबलेट को नगर निगम को ही बेच दिया। जानकारों का मानना है कि नॉट फॉर सेल लिखे शासकीय टेबलेट को बेचना धोखाधड़ी की श्रेणी में आएगा, जांच में अगर यह बात प्रमाणित होती है तो संबंधित मेडिकल एजेंसी के संचालक के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज कराया जा सकता है। इधर विपक्ष इस मामले में आक्रमक रवैया अपनाए हुए है। नेता प्रतिपक्ष नरेंद्र रोहरा का कहना है कि निगम में मनमानी चल रही है।

घटिया क्लोरीन टेबलेट की सप्लाई कर जनस्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ किया गया है। इस मामले की सूक्ष्म जांच किया जाना चाहिए, यह भी जांच का विषय है कि नॉट फ़ॉर सेल लिखी क्लोरीन टेबलेट आखिर सप्लायर के पास कहां से पहुंची। नगर निगम नेता प्रतिपक्ष नरेंद्र रोहरा ने कहा कि निगम अधिकारियों को मामले की जल्द विभागीय जांच कर सीधे एफआईआर दर्ज कराना चाहिए। इसमें सप्लायर के साथ उन अधिकारी-कर्मचारी पर भी कार्रवाई जरूरी है जिनकी मामले में मिलीभगत है। रोहरा ने कहा कि पुलिस जांच में सरकारी क्लोरीन टेबलेट को बिक्री करने वाले किसी बड़े गिरोह का भी भांडाफोड़ हो सकता है।

 

11-04-2020
पहले फेसबुक पर दोस्ती फिर गिफ्ट भेजने के नाम पर 10 लाख की धोखाधड़ी

रायपुर। शहर के जनता कॉलोनी में निवासी उड़ीसा के एक सेवानिवृत्त लेखाधिकारी को फेसबुक पर महिला से दोस्ती करना भारी पड़ गया।गुढ़ियारी थाने से मिली जानकारी के मुताबिक फरवरी में एलिज़ाबेथ नामक महिला ने फेसबुक में अपनी आईडी से प्रार्थी शारदा प्रसाद विश्वकर्मा से दोस्ती से फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज कर दोस्त बनाया। स्वयं को तेल व फार्मेसी कंपनी का मालिक बताकर प्रार्थी को गिफ्ट भेजने के नाम पर उससे धोखाधड़ी की। फ़ेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन सहित सुप्रीम कोर्ट के नाम से डराकर मनी लॉन्ड्रिंग केस में फ़ंसाने की धमकी देते हुए उससे पैसों की मांग की। पैसे अलग-अलग बैंक खातों में ज़मा करवाएं,जो कि मुंबई शहर के बताए जा रहे हैं। प्रार्थी को बताया गया था कि उसे यूके से एक उपहार भेजा गया है। इसमें फॉरेन करेंसी होने के कारण उसे एयरपोर्ट अथॉरिटी के अधिकारियों ने जब्त कर लिया है। इसमें प्रार्थी का नाम-पता लिखे होने के कारण उस पर मनी लॉन्ड्रिंग का अपराध दर्ज किया जा रहा है। प्रार्थी को इस मामले में 25 वर्ष की जेल हो सकती है। प्रार्थी ने डर से अलग-अलग दिन में कुल 10 लाख 8 हज़ार रुपए आरोपियों के खाते में ज़मा करवाये। इसके बाद धोखाधड़ी का शिकार होने की आशंका पर प्रार्थी ने यह पूरी घटना कि शिकायत रायपुर एसएसपी आरिफ शेख़ समेत वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को की थी। इसकी जांच के बाद गुढ़ियारी थाना पुलिस ने शनिवार को आरोपियों के खिलाफ धारा 420,34 के तहत अपराध पंजीबद्ध किया है।


 

28-03-2020
नक्सलियों ने जगह-जगह लगाए बैनर और पोस्टर, जनता से की ये अपील

दंतेवाड़ा। माओवादियों ने बारसूर में जगह जगह पर बैनर व पोस्टर लगाए हैं जिसमें लिखा है कि माडिया समाज अध्यक्ष पद पर बैठे रामजी धुर्वा गद्दार है। माडिया समाज को नुकसान पहुंचाने वाले गतिविधियों में लिप्त गद्दारों को माड़िया समाज के पद से हटाए।

माओवादियों ने बैनर में यह भी लिखा है कि प्रिय मजदूर व जनता धोखाधड़ी के विकास कार्य में भाग न ले। पुलिया एवं सड़क निर्माण बंद करें यह विकास नहीं धोखाधड़ी है दिखावा है।

21-03-2020
नौकरी लगाने के नाम पर लिए लाखों रुपए, एग्रीमेंट कर दिया यश बैंक का चेक, जानिए क्या है मामला

रायपुर। सहायक ग्रेड-3 के पद पर नौकरी लगाने के नाम पर सात लोगों से 22 लाख रुपए की धोखाधड़ी करने के आरोप में पद्मनाभपुर पुलिस ने जनता कांग्रेस नेता सुनंद विश्वास पर धोखाधड़ी का अपराध दर्ज किया है। बीती रात पुलिस ने सुनंद से घंटों थाने में बिठाकर बातचीत की। बता दें कि प्रगति नगर रिसाली निवासी रवि सिंह की शिकायत पर पुलिस ने अपराध दर्ज किया है। शिकायत है कि विगत 8 नवम्बर 2019 को आरोपी सुनंद विश्वास निवासी रवि नगर पंडरी रायपुर ने रवि सिंह के आलावा सैलू देवी ठाकुर, गौरव वैद, पूर्णिमा देवांगन, निलेश कुमार, आर तारकेश्वर राव, उमेश कुमार से विधानसभा में सहायक ग्रेड-3 के पद पर नौकरी लगाने के नाम पर 22 लाख रूपए लिए और दो महीने के अंदर कॉल लेटर मिलने का आश्वासन दिया था। नौकरी न लगने पर उसने पीड़ितों  के दबाव में रकम वापस करने के नाम पर यश बैंक का चेक देते हुए दो गवाहों के समक्ष एग्रीमेंट भी किया था। नौकरी न लगने पर आरोपी शिकायतकर्ता को रकम वापस करने तगादा करने लगे तो उसने रकम लौटाने से मना कर दिया। पुलिस ने प्रार्थी की शिकायत पर आरोपी के खिलाफ धारा 420 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर लिया है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804