GLIBS
16-09-2020
गौसेवकों ने की कलेक्टर से मुलाकात,लावारिस शवों के अंतिम संस्कार के लिए की जमीन की मांग

कोरिया। बैकुंठपुर के गौ सेवकों ने जिला कलेक्टर सत्यप्रकाश राठौर से मुलाकात की। गौ सेवकों ने बताया कि बैकुंठपुर के आसपास क्षेत्रों में जो अज्ञात व्यक्तियों के शव मिलते हैं उनको दफन करवाने में दिक्कत का सामना करना पड़ता है। लावारिस बॉडी का अंतिम संस्कार करवाने में गौ सेवकों के अलावा पुलिस प्रशासन और नगर पालिका के सफाई कर्मचारियों को भी विरोध का सामना करना पड़ता। इस पर कलेक्टर ने समस्या के निराकरण का आश्वासन दिया। कलेक्टर ने जल्द ही लावारिस शवों को दफनाने के लिए जमीन उपलब्ध कराएं जाने का आश्वासन दिया। 

 

15-09-2020
तालाब में नहा रहा युवक डूबा, मौत...

रायपुर/जगदलपुर। जिले के नगरनार थाना क्षेत्र के ग्राम तारापुर में स्थित राजामुंडा तालाब में सोमवार की सुबह सालिम नागवंशी की डूबने से मौत हो गई है। पुलिस मृतक का शव बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए मेकॉज भेज दिया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार गांव में किसी के अंतिम संस्कार के बाद इसमें शामिल सभी ग्रामीण नहाने के लिए राजामुंडा तालाब पहुंचे थे। नहाने के दौरान ही सालिम नागवंशी तालाब के गहराई में चले जाने से डूब गया, जिसके कारण उसकी मौत हो गई। घटना की सूचना कॉलर से मिलने के बाद डायल 112 की टीम तत्काल ही मौके पर पहुंचकर घटना की जानकारी पुलिस को दी। पुलिस मौके पर पहुंचकर मामले की जांच कर रही है।

13-09-2020
एक्सीडेंट में गई व्यक्ति की जान, नहीं आया कोई बॉडी लेने,गौ रक्षावाहिनी ने कराया अंतिम संस्कार

कोरिया। 11 सितंबर की रात एक युवक का एक्सीडेंट जमगहना रोड में हो गया था। बैकुंठपुर अस्पताल पहुंचते ही युवक की मौत हो गई थी। 2 दिन बॉडी को रखने के बाद भी शिनाख्त नहीं हो पाई और न ही कोई परिचित आया। बैकुंठपुर पुलिस ने गौ रक्षावाहिनी के जिला अध्यक्ष एवं सदस्यों को इसकी सूचना दी। बैकुंठपुर थाना स्टाफ के साथ गौरक्षक के सदस्यों ने अज्ञात व्यक्ति का पोस्टमार्टम करवाया। नगर पालिका के सफाई कर्मचारी की मदद से मृत अज्ञात व्यक्ति का अंतिम संस्कार किया। 

 

09-09-2020
प्रशासन को ज्ञापन सौंपकर कहा कोरोना संक्रमित व्यक्ति की अंतिम संस्कार हम करेंगे...

रायपुर/बिलासपुर। मुस्लिम समाज के एक प्रतिनिधिमंडल ने एसडीएम बिलासपुर देवेंद्र पटेल के जरिए जिला प्रशासन को एक ज्ञापन देकर कोरोना से संक्रमित किसी भी व्यक्ति की मौत होने पर उनका सम्मान कफन दफन करने में मदद की पेशकश की है। समाज के लोगों ने एसडीएम को सौंपे ज्ञापन में कहा है कि कोरोना से संक्रमित व्यक्ति की मौत होने पर अगर उन्हें सूचना दी जाती है तो वे उनका, मगरपारा के खामोश कब्रिस्तान में सम्मान कफन दफन करने में प्रशासन की मदद करने के लिए तैयार हैं। बशर्ते उन्हें इसकी सूचना दी जाए। वही प्रतिनिधिमंडल ने आग्रह किया है कि ऐसी कोई मौत होने पर उन्हें ज्ञापन में दिए गए नंबरों पर सूचित करने से वे मृतकों का मुस्लिम रीति-रिवाज के साथ उनका निशुल्क अंतिम संस्कार करेंगे। ज्ञापन में मुस्लिम समाज के प्रतिनिधि मंडल ने बकायदा एसडीएम को कुछ व्यक्तियों के फोन नंबर भी सौंपे हैं। जिन पर सूचना देने के बाद संक्रमित मृतक के अंतिम संस्कार की जिम्मेदारी वो वहन करेंगे।

दूसरे समाज के लोग भी इसका अनुसरण करें : मुस्लिम समाज ने अपने समाज के कोरोना संक्रमित मृतकों के नि:शुल्क व सम्मान अंतिम संस्कार करने की जो पहल की है। उसका अन्य समाज के लोगों को भी आगे आकर अनुसरण करना चाहिए। इससे विभिन्न समाज के कोरोना संक्रमितों की मौत होने के बाद उनके अंतिम संस्कार को लेकर प्रशासन को हो रही दिक्कतों का निराकरण हो सके। प्रशासन से मिलने वाले प्रतिनिधिमंडल में शामिल लोगों में शहजादी कुरैशी, शेख मकसूद अंसारी, सलीम भाई तारबहार, अब्दुल मन्नान, युसूफ अली, जाकिर अली की ईरानी, हाफिज भारमल, अब्दुल मतीन नगर वाला, मोहम्मद वसीम बाबा, तथा चुचैहापारा मस्जिद के सैयद मोहम्मद शाह शामिल थे। 

अंतिम संस्कार के लिए प्रशासन से मांगा पीपीई किट : समाज के लोगों ने प्रशासन से आग्रह किया है कि प्रशासन, अंतिम संस्कार के समय पहना जाने वाला पीपीई किट उन्हे प्रदान करे। जिससे वे उसे पहनकर अंतिम संस्कार कर सकें।

05-09-2020
कोविड संदिग्ध मरीज की मौत होने पर सैंपल लेकर ही पॉजिटिव केस की तरह होगा प्रबंधन और अंतिम संस्कार

रायपुर। स्वास्थ्य विभाग ने कोविड-19 के संभावित मरीज की मौत होने पर कोरोना संक्रमण की पुष्टि करने जांच के लिए सैंपल लेकर ही शव के कोविड पार्थिव मरीज की ही तरह प्रबंधन और अंतिम संस्कार के निर्देश दिए हैं। विभागीय अपर मुख्य सचिव रेणु जी. पिल्ले ने सभी कलेक्टरों और जिला दंडाधिकारियों को परिपत्र जारी कर इसका कड़ाई से पालन करने कहा है।अपर मुख्य सचिव ने परिपत्र में रायपुर या अन्य जिलों में स्थित क्षेत्रीय विशेषीकृत कोविड अस्पतालों में रिफर किए गए कोरोना संक्रमण की संभावना वाले मरीज की मृत्यु हो जाने पर कोविड अस्पताल वाले जिले के नोडल अधिकारी को मृत मरीज के जिले के नोडल अधिकारी को सूचित करने कहा है।

उन्होंने मरीज के जिले से संबंधित नोडल अधिकारी को पार्थिव शरीर का परिवहन और प्रबंधन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। स्वास्थ्य विभाग ने सभी कलेक्टरों को कोरोना संक्रमित पार्थिव शरीर के प्रबंधन और अंतिम संस्कार के लिए निर्धारित प्रोटोकॉल एवं दिशा-निदेर्शों का पालन करते हुए सावधानीपूर्वक पार्थिव शरीर की पैकिंग, सुरक्षित परिवहन, माचुर्री और पोस्टमार्टम कक्ष (शव परीक्षण की स्थिति में) के विसंक्रमण व श्मशान घाट, क्रबिस्तान या शवदाह गृह में सभी जरूरी सावधानियां बरतने कहा है।

 

03-09-2020
राजनांदगांव की पूर्व महापौर शोभा सोनी को नम आंखों से दी गई अंतिम विदाई  

राजनांदगांव। भाजपा की  दिग्गज नेत्री पूर्व महापौर व वर्तमान नेता प्रतिपक्ष शोभा सोनी को गुरुवार को नम आंखों से अंतिम विदाई दी गई।  शोभा सोनी 19 अगस्त को कोरोना पॉजिटिव पाई गई थी। इसके  बाद से राजनांदगांव कोविड सेंटर में ही उनका इलाज किया जा रहा था। स्थिति बिगड़ने के बाद उन्हें एम्स रिफर किया गया था।  यहां उनकी स्थिति नाजुक हो गई थी, उन्हें वेंटीलेटर में भी रखा गया। तमाम प्रयासों के बीच शोभा सोनी कोरोना से जंग हार गई।  उनका पार्थिव शरीर गुरुवार को मुक्तांजलि वाहन से राजनांदगांव पहुंचा। अंतिम संस्कार के लिए जा रहा वाहन जहां-जहां से गुजरा, वहां लोगों ने फूल बरसाए और शोभा सोनी अमर रहे, जब तक सूरज चांद रहेगा शोभा सोनी का नाम रहेगा, जैसे भावुक नारों के साथ नम आंखों के साथ लोगों ने अंतिम विदाई दी। शोभा सोनी के निधन के बाद पूरे छत्तीसगढ़ में शोक की लहर दौड़ गई है। नेताओं से लेकर आमजन भी भावभीनी श्रद्धांजलि प्रेषित कर रहे हैं।

01-09-2020
राजकीय सम्मान के साथ हुआ पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का अंतिम संस्कार

नई दिल्ली। पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का मंगलवार दोपहर को दिल्ली के लोधी रोड विद्युत शव दाह गृह में पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। उनके बेटे अभिजीत मुखर्जी ने उनका अंतिम संस्कार किया। परिजनों और रिश्तेदारों ने कोविड-19 से बचाव के दिशा-निर्देशों के अनुरूप पीपीई किट में मुखर्जी को अंतिम विदाई दी।सेना की टुकड़ी ने पूर्व राष्ट्रपति को गार्ड ऑफ ऑनर और तोपों की सलामी दी। इससे पहले मुखर्जी का पार्थिव शरीर फूलों से सजे वाहन में श्मशान गृह लाया गया। उनके पार्थिव शरीर पर तिरंगा लिपटा हुआ था।

उल्लेखनीय है कि 84 वर्षीय मुखर्जी का सोमवार शाम को दिल्ली छावनी स्थित सेना के रिसर्च ऐंड रेफरल अस्पताल में निधन हो गया था। वह 21 दिनों से अस्पताल में भर्ती थे।पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को श्रद्धांजलि देने के लिए उनके आवास पर पहुंचे नेताओं एवं अन्य लोगों ने न सिर्फ मास्क पहन रखे थे, बल्कि छह फुट की दूरी रखते हुए कतारबद्ध होकर आपनी पारी का इंतजार किया। ‘भारत रत्न’ मुखर्जी के निधन पर देश में सात दिनों का राष्ट्रीय शोक है। 

26-08-2020
कलेक्टर ने कहा, मृतकों के शव परिजनों को सौंपने और प्रोटोकॉल के मुताबिक अंतिम संस्कार करने में लापरवाही न हो

दुर्ग। कलेक्टर डॉ.सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने बुधवार को स्वास्थ्य विभाग की बैठक में अब तक कोविड संबंधी हुई कार्रवाई और भविष्य की रणनीति पर अहम चर्चा की। उन्होंने कहा कि यह हमारे लिए सबसे महत्वपूर्ण समय है। इसका एक पल भी गंवाए बगैर बेहतर रिस्पांस से कोविड आपदा को रोकना है। जितना तेज रिस्पांस होगा, संक्रमण उतना ही रुकेगा। मरीजों के पॉजिटिव चिन्हांकन होने के बाद इन्हें अस्पताल तक पहुंचाने के लिए आप जो कार्रवाई कर रहे हैं उस पर लगातार मॉनिटरिंग की जा रही है। हम कोशिश करें कि यह बेहतरीन हो। जितना तेज हम रिस्पांस करेंगे, कोरोना मरीज को भी राहत मिल पाएगी,घर वालों को भी संक्रमण से बचाया जा सकेगा। साथ ही रिस्पांस टाइम बेहतर होने से परिजनों की चिंता भी दूर हो सकेगी। कोरोना से मृत लोगों के शव अंतिम संस्कार के लिए परिजनों से संपर्क करने और प्रोटोकॉल के मुताबिक इस पर कार्रवाई करना भी सर्वोच्च प्राथमिकता है। इस पर जरा भी विलंब नहीं होना चाहिए। स्वास्थ्य विभाग की  बैठक में  कलेक्टर ने कहा कि जिन मरीजों को होम आइसोलेशन की अनुमति दी गई है उनके स्वास्थ्य की मॉनिटरिंग कर रही टीम पूरा ध्यान रखें।

इस संबंध में उनके दिन भर की अपडेट्स से अवगत भी कराते रहें ताकि मोनोटरिंग का पूरा रिकॉर्ड रख सकें, इससे मरीज को जल्द स्वास्थ्य लाभ के लिए या अन्य मेडिकल केअर के लिए निर्णय लेने में आसानी होगी। निजी अस्पतालों में की जा रही मॉनिटरिंग के संबंध में भी उन्होंने विस्तृत समीक्षा की। उन्होंने कहा कि रेस्पिरेटरी सिस्टम से जुड़ी हुई तकलीफ वाले मरीजों पर विशेष नजर रखें। साथ ही यह भी देखें कि यहां कोरोना प्रोटोकॉल के अंतर्गत पीपीई किट वगैरह जरूरी तैयारी की गई है या नहीं। कलेक्टर ने कहा कि पॉजिटिव चिन्हांकित होते ही शिफ्टिंग का कार्य बिना विलंब सर्वोच्च प्राथमिकता से करें। इस प्रक्रिया में रिस्पांस टाइम का ध्यान रखें। इस दौरान प्राइमरी कांटेक्ट की ट्रेसिंग पर भी विशेष ध्यान दें। इस संबंध में पूर्व में किये गए प्रशिक्षण में विस्तार से जानकारी दी गई है, इसके मुताबिक ही पूरा फोकस करते हुए कार्य करें। उन्होंने कंटेनमेंट जोन में चल रहे सर्वे कार्य की भी समीक्षा की। उन्होंने कहा कि इस कार्य में लगे लोगों को सुरक्षा संबंधी सामग्री मिल रही है यह भी सुनिश्चित करें। साथ ही उन्होंने डेटाबेस के आधार पर भी लोगों के स्वास्थ्य की नियमित जानकारी लेने कहा। बैठक में भिलाई निगम आयुक्त ऋतुराज रघुवंशी एवं अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।

 

25-08-2020
इंडस्ट्री में हादसा, युवक की मौत, जांच में जुटी पुलिस

दुर्ग। रसमड़ा स्थित जय बालाजी ग्रूप इण्डस्ट्रीज में हादसे में 19 वर्षीय मजदूर फलेश साहू की मौत हो गई। दुर्घटना के बाद मृतक को तत्काल सुपेला स्थित अस्पताल लाया गया जहाँ डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पोस्टमार्टम के पश्चात उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया। अंजोरा पुलिस चौकी ने मामले में अपराध कायम कर जांच शुरू कर दी है। 

बता दें कि घटना को लेकर लोग तरह-तरह के सवाल कर रहे हैं कि दुर्घटना के बाद घायल मजदूर को कम्पनी प्रबंधन ने रसमड़ा से दुर्ग के किसी के अस्पताल में न ले जाकर उसे सुपेला के अस्पताल में ईलाज के लिए लाया गया। उसको कहीं भी दुर्ग के अस्पताल में ले जाकर बचाया जा सकता था। अभी तक इस मामले का कोई भी चश्मदीद गवाह सामने नहीं आएं है।

17-08-2020
Video: तेज बारिश से गिरा मिट्टी का घर, अंदर सो रहे पति पत्नी की मौत

उदयपुर। ग्राम घाटबर्रा में देर रात बारिश की वजह से मिट्टी का घर गिर जाने से पति पत्नी की दबकर मौत हो गई। वहीं घर में रखी बकरियों की भी इस हादसे में मौत हो गई। बताया गया कि मृतकों में बोखा राम पिता गेदाराम उम्र लगभग 65 वर्ष और गौरी बाई पति बोखा राम उम्र लगभग 60 वर्ष शामिल है। शव को पुलिस के पहुंचने के बाद ग्रामीणों की मदद से काफी मशक्कत के बाद  बाहर निकाला गया। घटना के बाद से परिजनों का रो रोकर बुरा हाल है। घाटबर्रा के मझवार पारा में दो लोगों की असमय दर्दनाक मौत के बाद  पूरे गांव में शोक का माहौल है। घटना की सूचना पर उदयपुर पुलिस थाना प्रभारी अलरिक लकड़ा के नेतृत्व में पहुंच कर शव का पंचनामा कराकर घटना स्थल पर ही पोस्टमार्टम कराया गया। शव को परिजनों के सुपुर्द किया जाएगा। ग्राम पंचायत घाटबर्रा की ओर से सरपंच जयनन्दन सिंह द्वारा मृतक के आश्रितों को श्रद्धांजलि योजना के तहत अंतिम संस्कार के लिए 2 हजार रुपए की प्रारंभिक सहायता प्रदान की गई है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804