GLIBS
19-08-2021
अफगानिस्तान से भागे राष्ट्रपति गनी ने कहा, पैसे लेकर भागने का आरोप बेबुनियाद, जूते पहनने का भी समय नहीं था

 काबुल/रायपुर। तालिबान के कब्जे के बाद अफगानिस्तान से भागे राष्ट्रपति अशरफ गनी का यूएई में बीते दिन स्वागत किया गया। यूएई से उन्होंने अफगानिस्तान के नागरिकों को पहला मैसेज भेजा। पैसे लेकर देश छोड़ने की बात को नकारते हुए उन्होंने इसे अफवाह बताया है। उन्होंने कहा कि चारों कारों और हेलीकॉप्टर में पैसे भरे थे यह बात बेबुनियाद है। उनके पास मुश्किल वक्त में जूते पहनने तक का वक्त नहीं था। राष्ट्रपति भवन से उस दिन वे सैंडल के साथ ही काबुल से निकल गए थे, जो कि पहले से उन्होंने पहनी हुई थी। अशरफ गनी ने कहा कि उन बातों पर अफगानिस्तान की जनता यकीन न करें, जहां ये बताया जा रहा है कि उनके राष्ट्रपति ने जनता को बेच दिया। मैं इस तरह के बातों का खंडन करता हूं, आरोप निराधार हैं।

26-05-2021
आईटी मंत्रालय ने कहा व्हॉट्सएप को मैसेज का स्रोत बताना होगा, यह निजता का उल्लंघन नहीं

नई दिल्‍ली। सोशल मीडिया पर सरकार की नई गाइडलाइंस के खिलाफ व्‍हॉट्सएप के हाईकोर्ट पहुंचने पर सरकार ने अपना जवाब दिया है। उसने कहा है कि वह प्राइवेसी जैसे मौलिक अधिकार की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध है। लेकिन, नए नियम-कायदों से व्‍हॉट्सएप के ऑपरेशन और यूजरों की प्राइवेसी पर कोई असर नहीं पड़ेगा। उसने साफ कर दिया है कि कंपनी को मैसेज का सोर्स बताना होगा। यह निजता का उल्‍लंघन नहीं है। केंद्रीय सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने कंपनी की ओर से उठाई गई चिंता पर कहा कि नए डिजिटल नियमों से व्हॉट्सएप का सामान्य कामकाज प्रभावित नहीं होगा। नए डिजिटल नियम के तहत व्हॉट्सएप को किन्हीं चिन्हित संदेशों के सोर्स की जानकारी देने को कहना प्राइवेसी का उल्लंघन नहीं है। प्रसाद ने कंपनी के नए नियमों को लेकर जताई गई चिंता पर कहा कि ब्रिटेन, अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, कनाडा में सोशल मीडिया कंपनियों को उनमें कानूनी तौर पर हस्तक्षेप की अनुमति देनी होती है। आईटी मंत्रालय ने कहा कि व्हॉट्सएप की ओर से मध्यवर्ती दिशानिर्देशों को चुनौती देना नियमों को प्रभाव में आने से रोकने का दुर्भाग्यपूर्ण प्रयास है। प्रसाद ने कहा है कि केंद्र सरकार अपने नागरिकों की निजता के अधिकारों की रक्षा करने के लिए प्रतिबद्ध है, लेकिन राष्ट्रीय सुरक्षा के मद्देनजर कानून-व्यवस्था सुनिश्चित करना भी सरकार की जिम्मेदारी है।
केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने यह भी कहा कि सभी स्थापित न्यायिक सिद्धांतों के अनुसार, निजता के अधिकार सहित कोई भी मौलिक अधिकार एब्‍सोल्‍यूट नहीं हैं। मौलिक अधिकार भी उचित प्रतिबंधों के अधीन है। पहली बार मैसेज भेजने वाले से संबंधित दिशानिर्देश इन्हीं तार्किक प्रतिबंध के उदाहरण हैं। व्‍हॉट्सएप का कहना है कि नए नियमों के कारण पूछने पर बताना पड़ेगा कि सबसे पहले किसने मैसेज भेजा। इससे यूजर्स की प्राइवेसी प्रभावित होगी। व्‍हॉट्सएप के मुताबिक, यूजर्स का चैट ट्रेस करने का मतलब हर मेसेज का फिंगरप्रिंट पास रखना होगा। इससे प्राइवेसी जैसे फंडामेंटल राइट का उल्लंघन होगा। सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने बड़े सोशल मीडिया प्‍लेटफॉर्म्‍स से नए डिजिटल नियमों के अनुपालन के बारे में स्थिति रिपोर्ट देने को कहा है। आईटी मंत्रालय ने नए सोशल मीडिया नियमों के तहत कंपनियों की ओर से नियुक्त मुख्य अनुपालन अधिकारी, भारत स्थित शिकायत अधिकारी के बारे में ब्योरा मांगा है। आईटी मंत्रालय ने कहा कि बड़ी सोशल मीडिया कंपनियों के लिए अतिरिक्त जांच-पड़ताल की जरूत समेत अन्य नियम बुधवार से प्रभाव में आ गए हैं।

 

22-05-2021
अश्लील फोटो और मैसेज भेजने वाले को पुलिस ने किया गिरफ्तार

जांजगीर चाम्पा। अश्लील फोटो और मैसेज भेजने वाले को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। प्रार्थियां ने इसकी रिपोर्ट थाना जांजगीर में दर्ज कराई थी। रिपोर्ट के मुताबिक पीड़िता के मोबाइल पर युवक आकाश शर्मा उम्र 24 साल ने अश्लील फोटो और मैसेज भेजा था। रिपोर्ट पर थाना जांजगीर में अपराध क्रमांक 213/2021 धारा 509 (ख) भादवि कायम कर विवेचना मेंं लिया गया। विवेचना में इस्टाग्राम के माध्यम से प्रार्थीयां को मोबाइल से अश्लील मैसेज एवं फोटो सेंड करना पाया गया। आरोपी का मोबाइल जब्त किया गया। आरोपी एवं प्रार्थीयां का मोबाइल साइबर लैब भेज कर परीक्षण कराया गया। शनिवार को आरोपी के विरुद्ध अपराध सबूत पाये जाने पर गिरफ्तार कर ज्यूडिशियल रिमाण्ड पर पेश कर जेल दाखिल किया गया।

 

10-03-2021
नाबालिग को मोबाइल पर मैसेज भेजकर परेशान करने वाले आरोपी को किया गिरफ्तार

डोंगरगढ़। नाबालिग से को मोबाइल पर मैसेज भेजकर परेशान करने वाले आरोपी को पुलिस धरदबोचा है। इसकी रिपोर्ट पीड़िता ने थाने दर्ज कराई थी। पीड़िता ने बताया कि आरोपी अमित वर्मा मोबाइल में मैसेज भेजकर मानसिक रूप से उसे प्रताड़ित कर रहा था। इस मोहारा पुलिस ने अपराध क्रमांक 140/21 धारा 354(ए)509(ब)आईपीसी और 8 पॉस्को एक्ट पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया। मामले की गंभीरता को देखते पुलिस अधीक्षक डी. श्रवण के निर्देशानुसार एवं अतरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण जयप्रकाश बढ़ाई, पुलिस अनुविभागीय अधिकारी चंद्रेश ठाकुर ,थाना प्रभारी अलेक्ज़ेंडर किरो के मार्गदर्शन में चौकी प्रभारी उपनिरीक्षक सतीश कुमार पुरिया के नेतृत्व में टीम बनाकर आरोपी का पता तलाश की गई। आरोपी पुलिस के डर से अन्य गांव में भाग गया था। उसे गांव से पकड़ कर पूछताछ की गई। आरोपी ने जुर्म करना स्वीकार किया।आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड में भेजा गया।

  

09-02-2021
केवाईसी के लिए मैसेज या फोन आ रहे हैं तो सावधान हो जाएं, ठगी के हो सकते है शिकार 

रायपुर/नई दिल्ली। केवाईसी के लिए मैसेज या फोन आ रहे हैं तो सावधान हो जाएं। जी हाँ यदि आप एयरटेल कस्टमर है तो सिम केवाईसी कराने के नाम पर आपको कॉल या मेसेज आए तो समझ जाइये कि ठगी के लिए सारा खेल है। दिल्ली पुलिस की साइबर क्राइम ने इसके लिए अलर्ट जारी किया है और बताया है कि एयरटेल कस्टमर्स को ये मैसेज आ रहे हैं।  साथ ही लोगों को इससे बचने के उपाय भी बताए हैं। ज्यादातर मामले एयरटेल कस्टमर को केवाईसी के लिए जो मैसेज मिल रहा है उसमें कहा जा रहा, प्रिय एयरटेल सिम ग्राहक, आपका केवाईसी निलंबित कर दिया गया है। अपने एयरटेल सिम का केवाईसी करने के लिए 93391** पर कॉल करें।  केवाईसी नहीं करने पर आपका अकाउंट 24 घंटे के भीतर ब्लॉक कर दिया जाएगा।

12-01-2021
सीएसपी के मोबाइल पर मैसेज भेजकर सीएम भूपेश बघेल और पूर्व सीएम डॉ.रमन को जान से मारने की धमकी

रायपुर। जनता की रक्षा करने वाले पुलिस वालों को ही अब फोन पर धमकी मिलने लगी है। ताजा मामला है सिविल लाइन थाने के नगर पुलिस अधीक्षक के फोन पर मैसेज में मिले धमकी का। जानकारी के मुताबिक 11 जनवरी को दोपहर करीब साढ़े 3 बजे सीएसपी सिविल लाइन नसर सिद्दीकी के सरकारी मोबाइल नंबर पर अज्ञात नंबर से टेक्स्ट मैसेज आया। इस मेसेज में चौबीस घंटे के भीतर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को जान से मारने की बात लिखी हुई थी। इस पूरे मामले की शिकायत सीएसपी सिविल लाइन ने थाने में दर्ज कराई है। मामला सामने आने के कुछ घंटे के भीतर ही पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार भी कर लिया है।

 

05-09-2020
फेसबुक ने किया बदलाव, मैसेंजर में की मैसेज फारवर्ड की लिमिट तय..

नई दिल्ली। फेसबुक द्वारा मैसेंजर पर व्हाट्सऐप की तरह ही एक नया फ़ीचर लाया गया है। इस फ़ीचर के तहत अब एक बार में सिर्फ़ पांच कॉन्टेक्ट को ही मैसेज फ़ॉरवर्ड किए जा सकते हैं। गौरतलब है कि 2018 में व्हाटसऐप में फ़ॉरवर्ड लिमिट का फ़ीचर आया था। अब कंपनी ने इसी तरह का फ़ीचर मैसेंजर में लाने का ऐलान किया है। दरअसल ये फ़ीचर मिस इन्फ़ॉर्मेशन और फेक न्यूज़ को वायरल होने से रोकने के लिए किया गया है। कंपनी को लगता है कि ऐसा करते वायरल मिस इन्फ़ॉर्मेशन और हार्मफुल कॉन्टेंट को स्लो डाउन करने का अच्छा तरीक़ा है। फेसबुक मैसेंजर में मैसेज फॉरवर्डिंग लिमिट का फीचर फिलहाल बीटा टेस्टिंग में है और टेस्ट सफल होने के बाद इसे सभी के लिए जारी किया जाएगा। नए अपडेट में एक ही मैसेज को पांच से अधिक लोगों को फॉरवर्ड करने पर “forwarding limit reached” का नोटिफिकेशन मिलेगा।

फेसबुक मैसेंजर के इस फीचर को पहली बार इसी साल मार्च में टेस्टिंग के दौरान देखा गया था और अब कंपनी इसे कुछ चुनिंदा यूजर्स के लिए जारी कर रही है। फेसबुक की तरफ से जारी एक स्टेटमेंट में कहा गया कि फॉरवर्डिंग लिमिट वायरल गलत जानकारियों व हानिकारक कॉन्टेंट के प्रसार को कम करने का एक प्रभावी तरीका है, इस तरह की जानकारियां वास्तविक दुनिया को नुकसान पहुंचाने की क्षमता रखती हैं। बता दें कि व्हाटसऐप में फ़ॉरवर्ड लिमिट सेट करने के बाद इस तरह के मैसेज में 70 प्रतिशत तक की कमी दर्ज की गई है। फॉरवर्ड मैसेज लिमिट के अलावा, व्हाट्सऐप टीम भी अपने प्लेटफॉर्म पर फ्रिक्वेंट फारवर्ड मैसेज पर सीमा लगाने की कोशिश कर रही है। पिछले साल व्हाट्सऐप ने अपने एंड्रॉयड और आईओएस ऐप के लिए Frequently Forwarded मैसेज का लेबल रोलआउट किया था। वहीं, इस साल अप्रैल में व्हाट्सऐप ने फ्रिक्वेंटली फॉरवर्डेड मैसेज पर सीमा लगा दी थी।

 

22-05-2020
किसान न्याय योजना के 34 हजार रुपए खाते में आने का मैसेज मिला, किसानों में खुशी की लहर

दुर्ग। पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के शहादत दिवस के अवसर पर सोनिया गांधी और राहुल गांधी की विशेष उपस्थिति में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपने मंत्रिमंडल के सहयोगियों के साथ छत्तीसगढ़ के किसानों के लिए राजीव गांधी किसान न्याय योजना का शुभारंभ किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने धमधा के किसानों के साथ विशेष रूप से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से चर्चा की। मुख्यमंत्री से चर्चा में किसान संतोष राणा ने बताया कि अभी आपसे बात करने के थोड़े देर पहले ही मेरे मोबाइल में मैसेज आया कि मेरे खाते में 34 हजार रुपए आए हैं। ऐसे समय में जब देश भर में सभी लोग कोरोना संकट से परेशान है। मुख्यमंत्री की इस पहल से किसानों को खेती किसानी में बड़ी मदद मिलेगी। राणा ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ सरकार ने किसान हितैषी इस योजना को आरंभ कर किसानों के हितों को बढ़ावा देने का बड़ा कार्य किया है।

किसानों के लिए खेती इतनी महंगी होती जा रही थी और फायदा नहीं हो पा रहा था। अब अन्नदाता को अपने कार्य का संतोष मिल सकेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि आप सभी लोगों के चेहरे पर सुख और संतोष का भाव देखकर बहुत अच्छा लग रहा है। यहीं के किसान शिव कुमार ने बताया कि किसानों के फसल का उचित मूल्य दिलाने की सरकार ने जो पहल की और कठिन वक्त में भी इस पहल पर कायम रहे, वह संकल्प बहुत प्रभावित करता है। पूरे छत्तीसगढ़ में किसानों में इससे खुशी का माहौल बना है। किसान नई ऊर्जा के साथ अपने खेतों में कार्य करने जुटा है। सुनीता गुप्ता ने मुख्यमंत्री से चर्चा में बताया कि किसानों के बीच बहुत खुशी का माहौल बना है।

उल्लेखनीय है कि आज वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने भी अपने संबोधन में छत्तीसगढ़ सरकार की प्रशंसा की। सोनिया गांधी ने कहा कि किसानों को मजबूत करने वाली यह बड़ी योजना है। छत्तीसगढ़ सरकार की नीतियां लगातार मेहनतकश लोगों को बढ़ावा देने की रही है। इस योजना के माध्यम से किसानों को बड़ी ताकत मिलेगी और खेती को और बेहतर करने की दिशा में वे जुटेंगे। राहुल गांधी ने कहा कि इस वक्त लोगों को सबसे ज्यादा जरूरत है। छत्तीसगढ़ की सरकार ने इतनी अच्छा योजना बनाई है। इस योजना के निर्माण में केवल हम सबका योगदान नहीं है। इसमें आम जनता की बड़ी भूमिका है जिन्होंने अपने विचार रखे और आज इस योजना को मूर्त रूप दिया जा सका है। देश बहुत कठिन समय से गुजर रहा है। ऐसे में  राजीव किसान न्याय योजना जैसी योजनाओं से उम्मीद जगती है। 

जिले के 80 हजार किसानों के खाते में लगभग 65 करोड़ रुपए : 

दुर्ग जिले के लगभग 80 हजार किसानों के खाते में आज 65 करोड़ रुपए ट्रांसफर किए गए। कोरोना से के इस दौर में इस प्रथम किश्त से किसानों को निश्चित ही खरीफ फसल के लिए काफी सहयोग मिल सकेगा। वे खेती की बेहतरी की दिशा में अच्छा कार्य कर सकेंगे। धमधा में आयोजित कार्यक्रम में कलेक्टर अंकित आनंद, जिला पंचायत सीईओ कुंदन कुमार, एसडीेएम दिव्या वैष्णव, संयुक्त संचालक कृषि राठौर, उप संचालक कृषि अश्विनी बंजारा, लीड बैंक मैनेजर अशोक सिंह, तहसीलदार सोनकर सहित अन्य अधिकारी एवं जनप्रतिनिधि उपस्थित रहे।

कार्यक्रम का प्रसारण कलेक्ट्रेट में भी :

कार्यक्रम का प्रसारण कलेक्ट्रेट परिसर में भी किया गया। यहां इस अवसर पर विधायक अरुण वोरा, विधायक देवेंद्र यादव, महापौर धीरज बाकलीवाल, जिला पंचायत अध्यक्ष शालिनी रिवेंद्र यादव, उपाध्यक्ष अशोक साहू सहित अन्य गणमान्य अतिथि मौजूद रहे।

16-05-2020
अनुष्का शर्मा के प्रोडक्शन में बनी वेब सीरीज देखकर विराट ने की पत्नी की तारीफ, सोशल मीडिया पर दिया यह मैसेज

मुंबई। भारतीय कप्तान विराट कोहली की पत्नी अनुष्का शर्मा के प्रोडक्शन में बनी वेब सीरीज 'पाताल लोक' की इन दिनों खूब चर्चा हो रही है। बता दें कि पाताल लोक वेब सीरीज में जबरदस्त क्राइम के साथ बेजोड़ थ्रिलर है जो आपको पूरी तरह से बांधकर रखती है। टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने 'पाताल लोक' की जमकर तारीफ की है। इस वेब सीरीज को ओटीटी प्लेटफॉर्म अमेजन प्राइम पर 15 मई को रिलीज किया गया है। 'पाताल लोक' को हाल में एमेजन प्राइम पर रिलीज किया गया है। यह वेब सीरीज अनुष्का शर्मा के प्रोडक्शन में बनी है। अनुष्का शर्मा और उनके भाई कर्णेश के प्रोडक्शन हाउस क्लीन स्लेट फिल्म्स ने इस वेब सीरीज का प्रोडक्शन किया है। विराट ने ट्वीट में लिखा कि इस तरह की वेब सीरीज के प्रोड्यूसर से शादी करने का फायदा यह है कि आप हफ्ते पहले ही यह शो देख चुके होते हैं।

विराट ने इंस्टाग्राम पर एक फोटो भी शेयर की है, जिसमें वो लैपटॉप पर यह सीरीज खोलकर बैठे हुए हैं। उन्होंने इस फोटो को शेयर करते हुए लिखा, 'मैं कुछ समय पहले ही पाताल लोक का पूरा सीजन देख चुका हूं। मुझे पता था स्टोरी टेलिंग, स्क्रीनप्ले और एक्टिंग के हिसाब से यह शो शानदार है। अब यह देखकर कि लोगों को यह शो कितना पसंद आ रहा है, मैं बस यह कन्फर्म करना चाहता हूं कि मैंने यह शो कैसे देखा था। अपने प्यार अनुष्का शर्मा पर मुझे गर्व है, जिन्होंने इतनी शानदार सीरीज प्रोड्यूस की। उन्होंने अपनी टीम पर भरोसा रखा जिसमें हमारे भज्जी कर्णेश भी शामिल हैं।

शाबाश भाई।' विराट ने अपने ट्वीट में लिखा, 'इस शानदार शो की प्रोड्यूसर से शादी करने का फायदा यह है कि मैं हफ्तों पहले ही यह शो देख चुका हूं और मुझे यह बहुत पसंद भी आया। टीम क्लीन स्लेट फिल्म्स को बधाई।' इस वेब सीरीज में जयदीप अहलावत, नीरज काबी, अभिषेक बनर्जी, गुल पनाग, स्वास्तिका मुखर्जी जैसे एक्टर्स हैं। अविनाश अरुण और प्रोसित रॉय ने इस वेब सीरीज को डायरेक्ट किया है। इस वेब सीरीज की लोग काफी तारीफ कर रहे हैं।

01-05-2020
अभिभावकों की शिकायत, कहा- स्कूल वाले फीस जमा करने के लिए भेज रहे मैसेज, प्रबंधन ने कहा आरोप बेबुनियाद

रायपुर। शंकर नगर स्थित एक स्कूल के खिलाफ अभिभावकों ने डीईओ से शिकायत की है। अभिभावकों का कहना है कि मोबाइल पर फीस का भुगतान करने के लिए मैसेज भेजा जा रहा है। निर्धारित दुकान से स्कूल ड्रेस और किताबें खरीदने के लिए बाध्य किया जा रहा है। ज्ञातव्य है कि शासन ने लॉक डाउन के दौरान फीस वसूली पर रोक लगाई है। शिकायतों पर प्रशासन लगातार कार्रवाई कर रहा है। इसके पहले भी राज्य शासन ने आठ निजी स्कूलों को नोटिस देकर मान्यता खत्म करने की चेतावनी दी थी। डीईओ जीआर चंद्राकर का कहना है कि संतोषजनक जवाब नहीं मिलने पर मान्यता खत्म करने का प्रस्ताव राज्य शासन को भेजा जाएगा। वहीं दूसरी तरफ स्कूल प्रबंधन का कहना है कि इस प्रकार के सारे आरोप बेबुनियाद है। प्रबंधन ने किसी भी अभिभावक से फीस वसूली के लिए नहीं कहा है और न ही किसी भी दुकान से जबरन सामान खरीदने का दबाव बनाया है।

09-04-2020
सोशल मीडिया पर अभद्र टिप्पणी या मैसेज भेजने पर होगी अब तुरंत कार्रवाई

दुर्ग। पुलिस द्वारा सोशल मीडिया पर अभद्र टिप्पणी करने वालों या मैसेज भेजने वालों के लिए अब कड़ा रुख अपनाना शुरू कर दिया है। इसी कड़ी में पुलिस द्वारा 2 लोगों को पर कार्रवाई की गई है। उक्त आशय की जानकारी देते हुए दुर्ग सीएसपी विवेक शुक्ला ने बताया कि फेसबुक में आपत्तिजनक टिप्पणी करने पर दुर्ग पुलिस ने 24 घंटे के अंदर दो कार्यवाही की। बुधवार को फेसबुक में समुदाय विशेष पर अभद्र टिप्पणी करने की शिकायत दुर्ग से सीएसपी विवेक शुक्ला को मिली। इस पर तत्काल कार्यवाही करते हुए सीएसपी विवेक शुक्ला ने फेसबुक यूजर को ढूंढने की कोशिश के काफी मशक्कत के बाद फेसबुक यूजर का दुर्ग क्षेत्र में होना पता चला आरोपी को उसके घर से पुलिस ने धर दबोचा। 24 घंटे में दुर्ग पुलिस की यह दूसरी कार्रवाई है इसके अलावा दुर्ग से सीएसपी विवेक शुक्ला ने सभी सोशल मीडिया यूजर को यह चेतावनी दी है कि सोशल मीडिया में किसी भी प्रकार के अनुचित एवम भ्रामक मैसेज या किसी भी समुदाय के खिलाफ अभद्र टिप्पणी ना करें अन्यथा पुलिस कड़ी से कड़ी कार्यवाही करने के लिए तत्पर है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804