GLIBS
29-07-2020
महासमुंद जिले में 5 करोड़ 87 लाख की लागत से 91 आंगनबाड़ी भवन बनाये जाएंगे

रायपुर। महासमुंद जिले में महात्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार गारंटी योजना(मनरेगा) और महिला एवं बाल विकास विभाग की ओर से 5 करोड़ 87 लाख  95 हजार की लागत से 91 आंगनबाड़ी केंद्रों के भवन बनाए जाएंगे। इस राशि में मनरेगा से 4 करोड़ 55 लाख रूपए और  महिला बाल विकास से 1 करोड़ 32 लाख रूपए खर्च किये जाएंगे। सबसे ज्यादा 40 आंगनबाड़ी केन्द्र बसना जनपद पंचायत में और 25 केन्द्र बागबाहरा जनपद पंचायत में बन रहे हैं। इसके साथ ही सरायपाली में 11, पिथोरा में 9 और शेष महासमुंद जनपद पंचायत में बनेंगे। इससे आंगनबाड़ी केंद्रों में पंजीकृत  89 हजार 300 नौनिहालों को लाभ मिलेगा। आंगनबाड़ी भवनों को सर्वश्रेष्ठ आंगनबाड़ी केन्द्र की श्रेणी में लाने की पूरी तैयारी की गई है। इसके लिए मानक के अनुसार आंगनबाड़ी केन्द्रों को बनाया जाएगा। बच्चों के लिए अच्छा वातावरण और उनकी सुरक्षा पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। आंगनबाड़ी में आउटडोर गतिविधियों के लिए चारदीवार भी बनाई जा रही है। सभी आंगनबाड़ियों को मॉडल के रूप में विकसित करने कहा गया है,जिसमें बच्चों के खेेलने के लिए स्थान के साथ-साथ अन्य सुविधाएं खिलौने, झूले, बोर्ड, किताबें भी उपलब्ध कराई जाये ताकि बच्चों की आंगनबाडी आने मे रूचि बनी रहे।  


ग्राम पंचायत क्षेत्र में पंचायतों के माध्यम से आंगनबाड़ी भवन निर्माण किया जाएगा। इससे स्थानीय लोगों को भी रोजगार मिलेगा। एक भवन के निर्माण में 6 लाख रुपये से अधिक खर्च किए जाएंगे। महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी मनोज सिन्हा ने बताया कि जिले में एक हजार 763 आंगनबाड़ी केंद्रों में से एक हजार 625 केन्द्रों में भवन बना लिए लिए गए है। लेमन ग्रीन विलेज के नाम से पहचाने जाने वाले बागबाहरा विकासखंड के ग्राम पंचायत टेमरी में लॉक डाउन के दौरान गाइड लाइन का पालन करते हुए 4 माह मे से भी कम समय में आंगनवाड़ी भवन तैयार कर लिया गया। वर्तमान में कुछ केन्द्र किराए के भवन और कुछ सामुदायिक या अन्य सरकारी भवनों में संचालित  किए जा रहे हैं। अब विभिन्न जनपदों के लिए में 91 आंगनबाड़ी केन्द्र बनाने की तैयारी हो गई है। जनपदों के मुख्यकार्यपालन अधिकारियों को शीघ्र पूरा करने के निर्देश दिए गए हैं। आंगनबाड़ी भवन बन जाने से बच्चों की पोषण,स्वास्थ्य और शिक्षा संबंधी आवश्यकताओं की पूर्ति बेहतर तरीके से करने के साथ उन्हें अच्छा वातावरण मिल सकेगा।

 

25-07-2020
Video : आज रात से बसना, बागबाहरा, महासमुन्द में 7 दिन रहेगा लॉक डाउन

महासमुंद। जिले में कोराना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामले को देखते हुए कलेक्टर कार्तिकेया गोयल ने 25 जुलाई की रात से लॉकडाउन की घोषणा की है। उन्होंने प्रेसवार्ता में लॉक डाउन को लेकर तमाम जानकारियां दी। कलेक्टर ने बताया की शनिवार 25 जुलाई की मध्य रात्रि से महासमुंद नगर पालिका सहित बागबाहरा नगर पालिका और बसना नगर पंचायत के सीमा क्षेत्र में पूर्णतया तालाबंदी (लॉक डाउन) शुरू हो गई। यह लॉक डाउन 31 जुलाई की मध्य रात्रि तक प्रभावशील रहेगा। कलेक्टर कार्तिकेया गोयल और पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल कुमार ठाकुर ने बात को पुन: दोहराते हुए कहा कि यह लॉक डाउन केवल महासंमुद, बागबाहरा और बसना नगरीय सीमा क्षेत्र में लागू होगा। लॉक डाउन में किराना व राशन दुकानों को भी छूट नहीं मिलेगी। नियम तोड़ने वालों पर सख्त कानूनी कार्रवाई की जायेगी।

14-06-2020
वाहन की ट्राली पलटने से सवार घायल, चालक फरार

बसना। बसना थाना क्षेत्र अंतर्गत रविवार को एनएच 53 सड़क में ग्राम रेमड़ा मोड़ के पास लापरवाही पूर्वक वाहन चलाते हुए बोर गाड़ी के साथ सामान लेकर चलने वाली सपोट गाड़ी पलटने की घटना प्रकाश में आई है। थाने से प्राप्त जानकारी के अनुसार अपराध क्रमांक 269 धारा 279/337 के तहत बसना थाना में मामला दर्ज किया गया है। उक्त घटना में ड्राइवर द्वारा लापरवाही पूर्वक वाहन को चलाते हुए सड़क के किनारे पलट दिया,जिसमें चालक फ़रार बताया जा रहा है। प्रार्थी यमराज सिदार पिता निर्मल सिदार उम्र 21 वर्ष निवासी गढ़ियारी थाना बसना द्वारा उक्त घटना की शिकायत दर्ज करवाई गई है। उक्त घटना रायपुर की ओर से बसना की ओर आने के समय हुई,जिसमें बलमन,नंदकुमार,विनोद,हीरालाल,टिकेलाल को चोटें आई है जबकि अशोक सेंद को बाएँ पैर दाहिने हाथ के कलाई,बाएँ हाथ की कोहनी एवं सिर पा चोटें आई है,जिन्हें इलाज के लिए बसना के स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती करवाया गया 

14-06-2020
दो राज्यों को जोड़ने वाली सड़क में हुए गड्ढे के चलते आवगमन में हुई समस्या,जल्द बनाए जाने की माँग

बसना। दो राज्यों को जोड़ने वाली स्टेट हाइवे में बीचों हुए गड्ढे ने आवागमन करने वालों की राह में समस्या खड़ी कर दी है। इसमें कल हुई बारिश से पानी भर जाने के चलते दो पहिया व चार पहिया वाहनों को परेशानी उठनी पड़ रही है।
दो राज्यों को जोड़ने वाली उक्त सड़क छत्तीसगढ़ एवं ओड़िसा होते हुए विशाखपत्तनम को जोड़ती है, जिसके चलते उक्त मार्ग पर भारी एवं छोटे वाहनो का आवागमन अधिक होता है। बता दें कि उक्त सड़क सिंगल लाइन के रूप में विगत दस से बारह वर्ष पूर्व बनी थी,जिसके बाद इसे टू लाइन सड़क बनाने की माँग हमेशा से ही क्षेत्रवासी करते रहे हैं।एसडीओ पीडब्लूडी नीता रामटेके ने कहा कि सड़क निर्माण के लिए निविदा बुलाई गई थी। एजेंसी तय होते ही कार्य प्रारम्भ करवाया जाएगा। अभी उसमें कुछ नही कर सकते।

25-05-2020
छाँन्दनपुर सड़क की हालत ख़राब, ग्रामीणों को हो रही आवागमन में परेशानी

बसना। विकासखंड बसना के छाँन्दनपुर रोड की सड़क की हालत विगत पाँच वर्षों से ख़राब है । इसकी शिकायत क्षेत्रवासियों द्वारा कई बार की जा चुकी है परंतु आज पर्यन्त इस पर कोई ध्यान नहीं देने से ग्रामीणजनो में निराशा के साथ आक्रोश पैदा होता नजर आने लगा हैं ।बता दें कि उक्त सड़क पीडब्लूडी की है,जिसकी लम्बाई महज़ पाँच किमी है,जो बसना नगर से होते हुए खेमड़ा,छाँन्दनपुर,रेमड़ा होते हुए तिलांजनपुर को जोड़ती है। इस सड़क का निर्माण विगत पंद्रह वर्षों पूर्व शासन द्वारा करवाया गया था। इसके बाद से आज पर्यन्त इस सड़क नवीनीकरण तो दूर मरम्मत तक नहीं हुई। यह सड़क दूर नक्सल प्रभावित क्षेत्र की सड़कों सी दिखाई देने लगी है। उक्त मार्ग की स्थिति इतनी भयावह है कि इस पर पैदल चलना तक दूभर हो चुका है। यह सड़क विकासखंड बसना और पिथौरा को जोड़ती है,जिससे ग्रामीण अपने रोज़मर्रा के कार्य के लिए ब्लाक मुख्यालय व अन्य कार्यालय अपने कार्यों के लिए जाने में विवश है ।पिथौरा विकासखंड के जनपद सदस्य एवं रेमड़ा निवासी सोहन पटेल से इस सम्बंध मे चर्चा कि गई तो उन्होंने बताया की भाजपा के शासन काल में तत्कालीन मुख्यमंत्री को सड़क निर्माण के लिए ज्ञापन सौंपा गया था परंतु कुछ नहीं हुआ। अब प्रदेश में कांग्रेस की सरकार है राज्य मुखिया सहित प्रमुख कार्यालयों में सड़क निर्माण के संबंध में आवेदन दिया गया परंतु निर्माण तो दूर इसकी मरम्मत पर भी कोई ध्यान नही दे रहा है ।


बता दें कि उक्त सड़क पर छाँन्दनपुर गाँव के पास बने पुल के टूट जाने से आगामी बारिश के समय क्षेत्र के लोगों को आवगमन भारी समस्या का सामना करना पड़ेगा। क्योंकि पुल के टूट जाने से अभी रपटें का निर्माण कर आवगमन जारी है परंतु बारिश होते ही पानी के बहाव से उक्त रपटा भी बह जाएगा,जिससे ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ेगा। ग्रामीणों का कहना है कि इसे समय रहते ना ठीक किया गया तो वे आंदोलन तक कर सकते हैं ।नीता रामटेके (एसडीओ/पीडब्लूडी) ने कहा, पुल निर्माण के लिए टेंडर रीकाल किया गया है और सड़क निर्माण के लिए इसटीमेट बना कर दे दिया गया। शासन से इसकी अभी स्वीकृति नहीं मिली है। 
संजय अग्रवाल की रिपोर्ट

 

 

25-05-2020
समिति में अनियमितता को लेकर शिवसेना ने की कलेक्टर और एसपी से शिकायत

बसना। प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति (मर्या) आरंगी में अनियमितता के खिलाफ शिवसेना के नेताओं ने महासमुंद कलेक्टर और एसपी को लिखित में शिकायत पत्र देकर अविलंब जाँच कराकर कड़ी कार्यवाही किए जाने की मांग की। शिवसेना नेता अशोक प्रधान ग्राम जाड़ामुड़ा ने जिला खाद्य अधिकारी को लिखित पत्र के माध्यम से शिकायत की।उक्त शिकायत में प्रभारी द्वारा धान अनियमितता किए जाने का आरोप लगाया गया।शिवसैनिकों ने धान खरीदी केंद्र आरंगी धान के बचत स्टॉक की जांच कराने के संबंध में जिला खाद्य अधिकारी जिला महासमुंद को लिखित शिकायत प्रस्तुत किया गया था। शिवसैनिकों के द्वारा की गई शिकायत के संबंध में 22 मई को धान उपार्जन केंद्र आरंगी में शेष धान का भौतिक सत्यापन कर निरीक्षण करने अधिकारी पहुँचे थे। यहाँ अधिकारियों के द्वारा धान खरीदी में की गई अनियमितताओं की तथा स्टाक की जाँच किया जाना था। किन्तु केन्द्र प्रभारी अनुपस्थित होने के कारण जाँच कार्य नहीं हुआ।इस संबंध में आरंगी केंद्र प्रभारी को धान की व्यवस्थित स्टैकिंग कर स्वयं उपस्थित रहने के लिए निर्देश दिया। यहां मौके पर उपार्जन केंद्र में बिखरे हुए धान को बोरे में भरकर व्यवस्थित स्टैकिंग नहीं किया जाना पाया गया। निरीक्षण समय पर केंद्र प्रभारी की अनुपस्थिति निर्देश की अवहेलना है। साथ ही पत्र में लिखा गया था कि उक्त अनुपस्थिति के संबंध में तीन दिवस के भीतर अपना लिखित जवाब अधो हस्ताक्षर करता के समक्ष स्वयं प्रस्तुत करें। समय पर संतोष पूर्ण जवाब प्रस्तुत नहीं करने पर आप पर कार्यवाही प्रस्तावित की जावेगी।प्रभारी की अनुपस्थिति के कारण जांच की कार्यवाही नहीं की जा रही है। पुनः जांच 27 मई बुधवार को सुबह 10 बजे उपार्जन केंद्र आ रही में जांच दल के समक्ष उपस्थित होना सुनिश्चित करें उक्त तिथि को अनुपस्थित रहने पर हमारे द्वार उपार्जन केंद्र आरंगी की यथा स्थिति में जांच की कार्यवाही पूर्ण की जाएगी। इसकी जवाबदारी आपकी होगी।

संजय अग्रवाल की रिपोर्ट  

 

28-04-2020
265 लीटर महुवा शराब के साथ आरोपी गिरफ्तार

महासमुन्द। पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल कुमार ठाकुर ने बसना थाना में एक पत्रकार वार्ता आयोजित कर बताया कि बसना थाना प्रभारी वीणा यादव की टीम के द्वारा लॉक डाउन के दरमियान बड़ी मात्रा में बनाए जा रहे अवैध शराब को रोकने के लिए बसना थाना के ग्राम पैंता में तकरीबन 265 लीटर अवैध शराब, तीन क्विंटल महुआ लहान, पास, बड़ी मात्रा में एलुमिनियम के बर्तन प्लास्टिक डब्बा प्लास्टिक पाइप एवं तीन मोटरसाइकिल सहित आरोपी रायसिंह सिदार ग्राम पैता थाना बसना जिला महासमुन्द को गिरफ्तार किया गया है। आरोपी के खिलाफ आबकारी एक्ट की धारा 34 (2 )के तहत कार्रवाई करते हुए उसे न्यायिक हिरासत में महासमुंद जिला कारावास भेजने की कार्रवाई की जा रही है।

पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल कुमार ठाकुर ने बताया कि कुछ दिन पहले सरायपाली थाना प्रभारी मल्लिका बनर्जी तिवारी ने लगभग डेढ़ सौ लीटर अवैध महुआ शराब जब्त करने की बड़ी कार्रवाई की थी। इसके बाद महासमुंद जिले में कल सबसे ज्यादा 265 लीटर अवैध महुआ शराब एवं सामग्री, तीन मोटर साइकिल जब्त करने की बड़ी कार्रवाई बसना थाना प्रभारी वीणा यादव की टीम के द्वारा की गई है। थाना प्रभारी मल्लिका बनर्जी तिवारी एवं बसना थाना प्रभारी वीणा यादव के द्वारा की गई अवैध महुआ शराब की बड़ी कार्रवाई को प्रोत्साहित करते हुए उनके द्वारा दोनों थाना प्रभारी को नगद पुरस्कार देकर सम्मानित किया जाएगा।

16-01-2020
हाईकोर्ट का निर्देश अब सीधे नहीं हो पाएगी भ्रूण परीक्षण की शिकायत

रायपुर। जस्टिस संजय के अग्रवाल की एकल पीठ में लिंग परीक्षण की शिकायत पर डॉक्टर दंपत्ति के खिलाफ सीधे दर्ज की गई एफआईआर पर रोग लगा दी है। इसके साथ ही मामले में पुलिस को पीएनडीटी अधिनियम के तहत कोर्ट में परिवाद दायर करने के दिशा निर्देश भी जारी किए है। उल्लेखनीय महासमुंद जिले के सरायपाली बसना के ब्लॉक चिकित्सा अधिकारी डॉ.रोजेदार ने अपने खिलाफ दर्ज एफआईआर को रद्द करने की मांग हाईकोर्ट में याचिका के माध्यम से लगाई थी। याचिकाकर्ता ने कहा है कि उसके खिलाफ एक महिला ने कलेक्टर से  फर्जी शिकायत की थी। शिकायतकर्ता ने कहा है कि डॉ. रोजेदार और उनकी पत्नी भ्रूण परीक्षण करते हैं। महिला की शिकायत के आधार पर कलेक्टर ने तहसीलदार को एफआईआर दर्ज करने के आदेश दिए थे ।कलेक्टर के निर्देश पर तहसीलदार ने थाने में उसके खिलाफ मामला दर्ज कर लिया| मामले की सुनवाई के बाद जस्टिस संजय के अग्रवाल ने चिकित्सक के खिलाफ सीधे दर्ज रोक लगा दी।

 

 

14-01-2020
बसना में निर्दलीयों का पलड़ा रहता है भारी : सम्पत अग्रवाल

रायपुर। बसना में  निर्दलीयों की लगातार जीत के संबंध में नगर पंचायत के पूर्व अध्यक्ष सम्पत अग्रवाल ने मंगलवार को पत्रकार वार्ता को संबोधित किया। सम्पत अग्रवाल ने कहा कि प्रदेश में हाल ही में नगरीय निकाय चुनाव हुए हैं। एक ओर सभी नगर निगमों में कांग्रेस पार्टी अपना महापौर बनाकर सरकार के कामकाज का बेहतर परिणाम बता रही है, तो वहीं भाजपा ने भी प्रदेश के सभी 2800 वार्डों में से 1138 पार्षदों के जीत का दावा कर भारतीय जनता पार्टी भी बेहतर स्थिति की बात कर रहे हैं। वहीं नगर पंचायत बसना में 7 निर्दलीय पार्षदों के साथ हमने अपना अध्यक्ष बनाने का ऐतिहासिक कीर्तिमान हासिल किया। सम्पत अग्रवाल ने कहा कि विगत विधानसभा चुनाव में बतौर निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़े जिसमें कांग्रेस के देवेन्द्र बहादुर सिंह से बहुत ही कम अंतर से हार का सामना करना पड़ा। वहीं भाजपा प्रत्याशी डीसी पटेल तीसरे स्थान पर रहे थे। सम्पत अग्रवाल ने कहा कि इसके पूर्व वे बसना नगर पंचायत के अध्यक्ष भी रह चुके हैं।

12-10-2019
 मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने की रामचण्डी मंदिर में पूजा-अर्चना

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने  शनिवार को महासमुंद जिले के बसना विकासखंड के ग्राम गढ़फुलझर में रामचण्डी मंदिर पहुंचकर पूजा-अर्चना की और प्रदेश के सर्वांगीण विकास एवं सुख-समृद्धि की कामना की। इस अवसर पर बसना विधायक देेवेन्द्र बहादुर सिंह, सरायपाली विधायक किस्मत लाल नन्द, महासमुन्द विधायक विनोद चन्द्राकर, खल्लारी विधायक द्वारकाधीश यादव सहित अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित थें।
 

08-02-2019
MLA: बसना विधायक देवेन्द्र बहादुर सिंह ने किया राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस का शुभांरभ

बसना। राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस का शुभारंभ बसना विधायक देवेन्द्र बहादुर सिंह ने शासकीय उच्चतर माध्यमिक कन्या शाला बसना में किया। बच्चों को कुपोषण से मुक्त बनाने तथा रक्त की कमी की समस्या को दूर करने के लिए राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस के दौरान बच्चों को पेट में कीड़ा मारने की दवा खिलाई गई। 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804