GLIBS
19-09-2020
Video: एनएचएम के संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी गए अनिश्चितकालीन हड़ताल पर

अंबिकापुर। विकासखंड उदयपुर में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (एनएचएम) में संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों के पद पर पदस्थ लोग शनिवार से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए हैं। इनकी एक सूत्रीय मांग है नियमितीकरण है। एनएचएम में विकासखंड उदयपुर में कुल 32 संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी पदस्थ हैं। इनके हड़ताल में चले जाने से कोविड-19 के सैंपल कलेक्शन, कांटेक्ट ट्रेसिंग कार्य,सर्वे कार्य तथा इसके संचालन से संबंधित कार्य प्रभावित होने की आशंका है। कर्मचारियों का आरोप है कि कोरोना काल में सभी कर्मचारी निष्ठा पूर्वक 10 से 12 घंटे कार्य कर रहे हैं तथा द्वितीय एएनएम के पद पर पदस्थ लोग 24 घंटे सेवाएं दे रहे हैं फिर भी इन्हें ना तो भत्ता मिलता है और बीमा सुरक्षा प्रोत्साहन राशि भी नहीं मिलता है। सप्ताह में सातों दिन इनके द्वारा कार्य किया जा रहा है। सत्ताधारी दल के द्वारा चुनाव के समय इसे अपने चुनावी घोषणाओं में शामिल किया गया था परंतु 2 साल बीत जाने के बाद भी घोषणा पूरी नहीं होने पर संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी हड़ताल पर जाने को मजबूर हैं। इस संबंध मे श्रवण कुमार ब्लाक अध्यक्ष एनएचएम कर्मचारी संघ  का कहना है कि वे विगत 15 वर्षों से अपनी सेवाएं अल्प मानदेय में दे रहे हैं। कोरोना माहामारी के समय में वे निरंतर सप्ताह के सातों दिन 10 से 12 घंटे अपनी सेवाएं दे रहे हैं परन्तु शासन स्तर से इनके मांगो पर कोई कार्यवाही नहीं हो रही है। उल्टे नौकरी से बर्खास्त करने की धमकी दी जाती है।उन्होंने कहा कि कर्मचारियों का केवल एक ही मांग है कि तत्काल नियमितिकरण किया जाए।

 

19-09-2020
देश में कोरोना के 93337 नए मामले सामने आए, कुल संक्रमितों का आंकड़ा 53 लाख के पार 

नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमण का प्रकोप लगातार बढ़ता ही जा रहा है। पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के 93,337 नए मामले सामने आए और 1247 लोगों की मौत हुई। केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से शनिवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 93,337 नए मामलों के साथ संक्रमितों का आंकड़ा 53,08,014 हो गया है। इससे पहले शुक्रवार को 96,424 नए मामले सामने आये थे जबकि उससे पहले गुरुवार को रिकाॅर्ड 97,894 नए मामले सामने आये थे। इस अवधि में रिकॉर्ड 95 हजार से अधिक मरीज स्वस्थ स्वस्थ हुए हैं, जिससे कोरोना से मुक्ति पाने वालों की संख्या 42,08,431 हो गई है। इस दौरान 1247 और मरीजों की मौत होने से मृतकों की संख्या बढ़कर 85,619 हो गई है। नए मामलों की तुलना में स्वस्थ होने वालों की संख्या अधिक होने से सक्रिय मामले 3790 घटकर 10,13,964 हो गए हैं। देश में सक्रिय मामले 19.10 प्रतिशत और रोगमुक्त होने वालों की दर 79.28 फीसदी है, जबकि मृत्यु दर 1.61 फीसदी है।

17-09-2020
Breaking : भूपेश बघेल ने प्रधानमंत्री मोदी को जन्मदिन की दी शुभकामनाएं

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जन्मदिन की शुभकामनाएं दी है। मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर शुभकामना संदेश दिया है। मुख्यमंत्री बघेल ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा है कि, "माननीय प्रधानमंत्री @narendramodi जी को जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं। आपके अच्छे स्वास्थ्य की कामना करता हूँ।"

 

16-09-2020
डौण्डीलोहारा की 86 वर्षीय परदेसिन बाई कोरोना को हराकर हंसी खुशी आइसोलेशन सेंटर से वापस लौटी घर

रायपुर/बालोद। जिले के डौण्डीलोहारा निवासी 86 वर्षीय वृद्धा परदेसीन बाई ने दिखा दिया अगर ठान ले तो हर जंग जीती जा सकती है। आज आइसोलेशन सेंटर पाकुरभाट से कोरोना वायरस को हराकर उपचार के पश्चात प्रसन्नतापूर्वक अपने घर गई। आइसोलेशन सेंटर में स्वास्थ्य लाभ ले रहे अन्य मरीजों ने उक्त वृद्धा को अपनी शुभकामनांए दी। परदेसीन बाई ने बताया कि आइसोलेशन सेंटर में उसे प्रतिदिन दवाई, भोजन, चाय, नाश्ता मिला। उन्होंने कहा कि प्रशासन द्वारा की गई उचित व्यवस्था से वह स्वस्थ्य हो गई और आज प्रसन्नतापूर्वक अपने घर जा रही हैं।

 

09-09-2020
रोस्टर के मुताबिक मंत्रालय और इंद्रावती भवन में कर्मचारी करेंगे काम, स्वास्थ्य परीक्षण सहित होगी विशेष व्यवस्थाएं

रायपुर। कोरोना संक्रमण के कारण मंत्रालय महानदी भवन और इंद्रावती भवन विभागाध्यक्ष कार्यालयों के अधिकारियों और कर्मचारियों में कतिपय असमंजस की स्थिति के निवारण के लिए  मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शीघ्र समाधान के निर्देश दिए हैं। मुख्यसचिव आरपी मंडल के मार्गदर्शन को ध्यान में रखते हुए जीएडी के सचिव द्वय ने बुधवार को कर्मचारी संघों के प्रतिनिधियों से चर्चा कर अनेक निर्णय लिए हैं। मुख्य सचिव ने इस संबंध में विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किए हैं। इसके अनुसार इन कार्यालयों के उच्चाधिकारियों को कार्यालयों में सैनेटाइजेशन, स्वास्थ्य परीक्षण और उपस्थिति के लिए रोस्टर तैयार करने के निर्देश दिए गए हैं। आगामी शुक्रवार से रविवार तक मंत्रालय और विभागाध्यक्ष कार्यालयों को पूर्ण रूप से सैनेटाइज करने और अनुभाग अधिकारी और उससे नीचे के कर्मचारियों की उपस्थिति के लिए सप्ताहिक रोस्टर बनाने के लिए कहा गया है।

सप्ताहिक रोस्टर में अधिकतम एक तिहाई अधिकारी और कर्मचारी की ड्यूटी लगाई जा सकेगी। मंत्रालयों में संयुक्त सचिव, उप सचिव और अवर सचिव में से कोई एक इसी प्रकार विभागाध्यक्ष कार्यालयों में अतिरिक्त संचालक, अपर संचालक, उप संचालक में से कोई एक अधिकारी कार्यालयीन समय में उपस्थित रहेंगे। मंत्रालय और विभागाध्यक्ष कार्यालयों में हर सप्ताह तीन दिन सोमवार, मंगलवार और बुधवार को स्वास्थ्य परीक्षण शिविर भी लगाया जाएगा। इसके अलावा मंत्रालय और विभागाध्यक्ष कार्यालयों में आने-जाने के लिए बसों की संख्या में भी वृद्धि की जाएगी।

 

09-09-2020
आयुर्वेदिक उपायों को अपनाएं और काढ़ा बनाकर करें सेवन...

रायपुर। कोविड-19 से बचाव के लिए रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने आयुर्वेदिक उपायों के तहत तुलसी, काली, मिर्च, सोंठ, दाल चीनी मिश्रित गर्म पानी से बने काढ़ा का सेवन स्वास्थ्य के लिए काफी लाभदायक है। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा भी दिन में गर्म पानी पीने, प्रतिदिन कम से कम 30 मिनट योगासन, प्राणायाम एवं ध्यान करने प्रेरित किया जा रहा है। खान-पान में हल्दी, जीरा, धनिया एवं लहसुन मसालों का उपयोग करने, 40 ग्राम तुलसी, 20 ग्राम काली मिर्च, 20 ग्राम दालचीनी का पाउडर बनाकर हवा बंद डिब्बे में बंद रखकर और 3 ग्राम पाउडर को 150 एमएल पानी के साथ दिन में दो बार सेवन करने, 5 ग्राम त्रिकटु पाउडर, 3 से 5 पत्ती तुलसी को 1 लीटर पानी में उबालकर पीने से कोविड-19 संक्रमण से बचाव की संभावना बढ़ जाती है।

07-09-2020
दिन में दो बार फोन कर ली जाएगी होम आइसोलेटेड मरीज के स्वास्थ्य की जानकारी,

कोरबा। कोरोना संक्रमित होम आईसोलेटेड मरीज की 24 घंटे देखभाल के लिए उनके घर में एक अटेंडेंट का होना जरूरी होगा। मरीज के अटेंडेंट का स्वास्थ्य अच्छा होना चाहिए और उसकी उम्र 24 से 50 वर्ष के बीच होनी चाहिए। अटेंडेंट को डायबटिज, बीपी, हृदय रोग, अस्थमा, फेफड़ों या लीवर रोग जैसी बीमारी नहीं होना चाहिए। मरीज के अटेंडेंट को हमेशा फोन के माध्यम से जिले द्वारा नियुक्त स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के सम्पर्क में रहना अनिवार्य होगा। मरीज के सम्पर्क में आने के पूर्व अटेंडेंट को ट्रिपल लेयर मेडिकल मास्क प्रयोग करना अनिवार्य होगा। अटेंडेंट को मरीज की देखभाल करते समय मास्क और ग्लब्स का उपयोग करते हुए एक प्लास्टिक एप्रन का भी उपयोग करना होगा तथा एप्रन को हमेशा साफ रखना होगा और सोडियम हाइपोक्लोराइड साॅल्युशन से साफ करना होगा। मरीज को भोजन उनके कमरे के बाहर से ही दिया जाएगा खाना एक स्टूल या टेबल पर रखना होगा अटेंडेंट को यह ध्यान रखना जरूरी होगा कि भोजन देते समय मरीज के सीधे सम्पर्क में नहीं आए और हमेशा उनके प्लेट,चम्मच और बर्तनों को सम्भालते समय डिस्पोजेबल ग्लब्स का उपयोग करें।

मरीज द्वारा उपयोग किए जाने वाले बर्तनों को साबुन या डिटर्जेंट से साफ किया जाएगा और उन्हें साफ करते वक्त ग्लब्स पहनना होगा। होम आइसोलेशन प्रोटोकाॅल के अनुसार मरीज के कमरे, बाथरूम और शौचालय की सतहों को सैनिटाइज करना आवश्यक होगा। सफाई करने के लिए साबुन या डिटर्जेंट का उपयोग किया जाएगा इसके बाद एक प्रतिशत हाइपोक्लोराइड साॅल्युशन से डिसइंफेक्ट किया जाएगा। आइसोलेटेड मरीज के अटेंडेंट को प्रतिदिन उनके शरीर के तापमान के साथ अपने स्वास्थ्य की निगरानी भी करना होगा। अगर अटेंडेंट मे कोरोना के किसी भी लक्षण जैसे बुखार,खांसी,सांस लेने मे कठिनाई महसूस होते हैं तो इसकी सूचना तुरंत फोन के माध्यम से स्वास्थ्य टीम को देना होगा। मरीज के परिवार के अन्य सदस्य को किसी भी स्थिति मे मरीज से दूरी बनाकर रहना अनिवार्य होगा।

 

06-09-2020
देश में पिछले 24 घंटों में 90632 नए कोरोना पॉजिटिव मिले, 1065 की मौत

नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमण का प्रकोप लगातार बढ़ता ही जा रहा है। पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के 90,632 नए मामले सामने आए और 1,065 लोगों की मौत हुई। केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से रविवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के रिकॉर्ड 90,632 नए मामलों के साथ संक्रमितों का आंकड़ा 41,13,811 हो गया। इसी अवधि में 73,642 मरीज स्वस्थ हुए हैं, जिससे कोरोना से मुक्ति पाने वालों की संख्या 31,80,865 हो गई है। स्वस्थ होने वालों की तुलना में संक्रमण के नए मामले अधिक होने से सक्रिय मामले 15,925 बढ़कर 8,62,320 हो गए हैं। पिछले 24 घंटों के दौरान देश में 1,065 संक्रमितों की मौत होने से मृतकों की संख्या 70,626 हाे गई। देश में सक्रिय मामले 20.96 प्रतिशत और रोगमुक्त होने वालों की दर 77.32 प्रतिशत है जबकि मृत्यु दर 1.72 प्रतिशत है।

05-09-2020
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी किए निर्देश, अब बिना डॉक्टर की पर्ची के करा सकेंगे कोरोना टेस्ट

नई दिल्ली। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने कोरोना वायरस कोविड-19 की जांच के लिए शनिवार को अद्यतन परामर्श जारी किया है, जिसके अनुसार अब कोई भी व्यक्ति बिना किसी डॉक्टर की पर्ची के लैब में जाकर अपना कोरोना टेस्ट करा सकता है। कोविड-19 के लिए गठित नेशनल टास्क फाेर्स की सिफारिशों को लागू करते हुए स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि अब कोई भी व्यक्ति अगर चाहे तो अपना कोरोना टेस्ट खुद ही करा सकता है और इसके लिए उसे डॉक्टर की पर्ची दिखाने की जरूरत नहीं है। मंत्रालय ने साथ ही कहा है कि राज्य सरकार इसे लेकर अपने अनुसार निर्णय ले सकते हैं। इससे एक राज्य से दूसरे राज्य तथा विदेश का सफर करने वाले व्यक्तियों को आसानी होगी और उन लोगों को भी सुविधा होगी जो अपना कोरोना टेस्ट कराना चाहते हैं। मंत्रालय ने साथ ही कहा है कि कोई भी अस्पताल अब कोरोना टेस्ट की सुविधा न होने के बहाने गर्भवती महिला को किसी दूसरी जगह रिफर नहीं करेंगे। अस्पतालों को गर्भवती महिला का कोरोना टेस्ट कराने के लिए नमूने को जमा करके उसे कोरोना टेस्ट लैब में पहुंचाने की व्यवस्था करनी होगी।

दिशा-निर्देशों के अनुसार, सर्जिकल या गैर-सर्जिकल प्रक्रियाओं के तहत आने वाले सभी रोगियों का परीक्षण किया जा सकता है, लेकिन सप्ताह में एक बार से अधिक नहीं। स्ट्रोक, एन्सेफलाइटिस, हेमोप्टाइसिस जैसे रोगियों का डॉक्टर की सलाह के अनुसार ज़रूरी लगने पर टेस्ट किया जा सकता है। इसके साथ ही गाइडलाइन्स में ये भी कहा गया है कि कंटेन्टमेंट ज़ोन के एंट्री प्वॉइन्टस (प्रवेश बिन्दु) पर लगातार नज़र बनाई जाए साथ ही इन जगहों पर लगातार स्क्रीनिंग होनी चाहिए। यहां एंटीजन टेस्ट को किया जाना चाहिए। आरटी-पीसीआर टेस्ट उस वक्त ही किया जाए जब व्यक्ति एंटीजन टेस्ट में निगेटिव पाए जाने के बाद भी सांस लेने में तक़लीफ या फिर कोई अन्य लक्षण दिखाए। इन दिशा-निर्देशों में इस बात पर जो़र दिया गया है कि कंटेन्टमेंट ज़ोन में रहने वाले लोगों के लिए 100 फीसदी परीक्षण किया जाना चाहिए। आईसीएमआर ने ये भी कहा है कि इस एडवाइजरी में राज्य के स्वास्थ्य के अधिकारियों के विवेक के आधार पर संशोधन किया जा सकता है। 

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804