GLIBS

लोकप्रिय
25-06-2019
Video : राज्यसभा सांसद छाया वर्मा ने भारत की दम तोड़ती चिकित्सा व्यवस्था का मामला सदन में उठाया

रायपुर। राज्यसभा सांसद छाया वर्मा ने भारत की दम तोड़ती चिकित्सा व्यवस्था और बिहार में 200 से भी ज्यादा बच्चों की मौत का मामला सदन में उठाया। उन्होंने सदन में चर्चा करते हुए केन्द्र सरकार के विफलताओं की तरफ ध्यान आकर्षित करते हुए, कहा- कि केंद्र सरकार अगर इसी तरह से देश की जनता से छलावा करती रही तो, वो दिन दूर नहीं की जब यहीं जनता अपने अधिकार के लिए केंद्र सरकार को जवाब देगी ।।
छाया वर्मा ने सदन में अपनी बात रखते हुए कहा कि देश के विभिन्न मुद्दों पर भाजपा की न तो जवाबदेही है और न ही स्पष्टीकरण। न सांत्वना, न पुनरावृत्ति रोकने का भरोसा, न रोडमैप और न मासूमों की लापरवाही व कोताही से जान जाने का कोई दुख।

25-06-2019
अंबिकापुर से गढ़वा आ रही बस खाई में गिरी, 6 यात्रियों की मौत, 39 जख्मी

रांची। झारखंड के गढ़वा जिले में एक बस खाई में गिर गई। हादसे में 6 यात्रियों की मौत हो गई, जबकि 39 जख्मी हैं। बताया जा रहा है कि बस छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर से आ रही थी। सोमवार देर रात यह गढ़वा से 14 किमी दूर अनराज नावाडीह घाटी के पास अनियंत्रित हो गई। मृतकों में दो महिला, तीन पुरुष और एक बच्चा शामिल है।
पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों ने क्रैन की मदद से लोगों को निकाला। एक यात्री ने बताया कि खाई में गिरने के बाद बस एक पेड़ पर अटक गई थी। इससे नुकसान कम हुआ। बस में करीब 45 लोग सवार थे। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, हादसे की वजह चालक को नींद की झपकी आना माना जा रहा है। घाटी पर मोड़ काफी घुमावदार हैं। यहां अक्सर ऐसी घटनाएं होती रहती हैं।
 

कुल्लू में हुआ था बस हादसा, 44 की मौत

हाल ही में 21 जून को हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले में एक बस 300 मीटर गहरे नाले में गिर गई थी। इसमें 44 की मौत और 30 से ज्यादा जख्मी हुए थे। कुल्लू एसपी शालिनी अग्निहोत्री ने बताया था कि हादसा जिले की बंजार तहसील में धोथ मोड़ के पास हुआ। बस में क्षमता से अधिक यात्री सवार थे। बंजार पटवारी शीतल कुमार के मुताबिक, बस कुल्लु से गड़ गुशानी जा रही थी।

24-06-2019
तलाक के केस के दौरान पति की 556 करोड़ रुपये की लगी लॉटरी, कोर्ट ने कहा- आधी रकम पत्नी को देना होगा

वॉशिंगटन। अमेरिका के मिशिगन में रहने वाले रिचर्ड डिक जेलास्को की खुशी का उस वक्त ठिकाना नहीं रहा, जब उनकी 565 करोड़ रुपए (80 मिलियन डॉलर) की लॉटरी लगी। लेकिन अब कोर्ट ने आदेश दिया है कि इनाम का आधा हिस्सा उन्हें पत्नी को देना होगा। लॉटरी लगते वक्त दंपती के तलाक का केस चल रहा था। इस फैसले के खिलाफ रिचर्ड के वकील ने रिव्यू पिटीशन दायर की है। इसमें तर्क है कि लॉटरी लगना रिचर्ड की किस्मत है। इसमें पत्नी को हिस्सा देने पूरी तरह गलत है। वकील का कहना है कि अगर कोर्ट फैसला नहीं बदलती है तो वह सुप्रीम कोर्ट में अपील करेंगे।

आर्बिट्रेटर के आदेश पर दोनों 2 साल अलग रहे

रिचर्ड की शादी 2004 में मैरी बेथ जेलास्को से हुई थी। दंपती के तीन बच्चे हैं। 2013 में जब रिचर्ड की लॉटरी लगी तब दोनों के बीच तलाक का केस चल रहा था। उस दौरान कोर्ट के आदेश पर दोनों दो साल के लिए अलग रह रहे थे। दोनों ने आर्बिट्रेटर जॉन मिल्स के फैसले से मानने की बात कही थी। रिचर्ड ने आर्बिट्रेटर के फैसले के खिलाफ कोर्ट आॅफ अपील्स में गुहार लगाई। उसका तर्क था कि अलगाव के इतने लंबे समय बाद पत्नी को इतनी बड़ी रकम देने का वह विरोध करता है, लेकिन कोर्ट ने कहा कि जॉन मिल्स ने जो फैसला दिया है वह बिलकुल ठीक है।

24-06-2019
पाकिस्तान जिंदाबाद कहने वाले लोगों को क्या इस देश में रहने का अधिकार : केन्द्रीय मंत्री प्रताप चंद सारंगी

नई दिल्ली। 17वीं लोकसभा के पहले संसद सत्र में सोमवार को राष्ट्रपति पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा जारी है। लोकसभा में धन्यवाद प्रस्ताव के दौरान केंद्रीय मंत्री प्रताप चंद्र सारंगी बोले, 'भारत के टुकड़े टुकड़े करने तक जंग रहेगी, पाकिस्तान जिंदाबाद और अफजल गुरु जिंदाबाद' कहने वाले लोगों को क्या इस देश में रहने का अधिकार है? वहीं केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद आधार और अन्य कानून संबंधी (संशोधन) बिल पेश कर दिया है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह सोमवार को जम्मू-कश्मीर आरक्षण संशोधन विधेयक पेश करेंगे।

संसद के दोनों सदनों में तीन तलाक पर रोक का प्रावधान करने वाले मुस्लिम महिला विवाद अधिकार संरक्षण विधेयक पर चर्चा होगी जो संसद से पारित होने के बाद अध्यादेश का स्थान लेगा। 17वीं लोकसभा के गठन के बाद नरेंद्र मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का यह पहला विधेयक है। केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने लोकसभा में भारी हंगामे के बीच यह विधेयक पेश किया था। सरकार के पिछले कार्यकाल में भी तीन तलाक पर विधेयक लाया गया था लेकिन लोकसभा से पारित हो जाने के बाद यह राज्यसभा से पास नहीं हो पाया था। सदन में जम्मू कश्मीर आरक्षण संशोधन विधेयक 2019 भी चर्चा एवं पारित करने के लिये लाया जायेगा। इसके तहत जम्मू कश्मीर आरक्षण अधिनियम 2004 में संशोधन करने की बात कही गई है। इसके जरिये अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास रहने वाले लोगों को भी, वास्तविक नियंत्रण रेखा के पास रहने वाले लोगों की तरह ही आरक्षण का लाभ मिल सकेगा।

24-06-2019
सीएम भूपेश बघेल की माताजी की तबीयत अचानक बिगड़ी, मुख्यमंत्री ने किए सभी कार्यक्रम रद्द 

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की माताजी की तबीयत अचानक बिगड़ने से उन्होंने अपने सभी दौरों को रद्द कर दिया है। सीएम भूपेश बघेल की माताजी की तबीयत पिछले एक माह से खराब चल रही है। बता दें कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का सोमवार को गरियाबंद जिले में रानी दुर्गावती बलिदान दिवस के कार्यक्रम में शामिल होने वाले थे। वहां से वे दोपहर दिल्ली जाने वाले थे। अचानक माताजी की तबीयत खराब होने की खबर से सीएम भूपेश बघेल ने अपने सभी दौरों को रद्द कर दिया है।

 

25-06-2019
दूल्हा मांग में सिंदूर भरने ही वाला था कि अचानक दुल्हन उठकर बोली- मैं किसी और को चाहती हूं

अंबिकापुर। दूल्हा व दुल्हन पक्ष के लिए उस समय गंभीर व शर्मसार करने वाली स्थिति उत्पन्न हो गई जब मंडप में शादी चल रही थी। सोमवार की रात दूल्हा धूमधाम से बारात लेकर दुल्हन को लेने आया था। सभी रस्में पूरी होने के बाद सिंदूर दान की रस्म चल रही थी। दूल्हा चुटकी में सिंदूर लेकर दुल्हन की मांग में भरने ही वाला था कि दुल्हन अचानक खड़ी हो गई।

उसने कहा कि वह किसी और को चाहती है, फिर क्या था दूल्हा तो हैरान रह ही गया, दोनों पक्ष के लोगों भी सन्न हो गए। चंद पल में ही शादी टल गई। इसके बाद दूल्हे ने किसी गरीब घर की लड़की से शादी की और दुल्हन के घरवालों ने बेटी को अपनाने से इनकार कर दिया। फिलहाल युवती को नारी निकेतन में भेजा गया है।


मामला अंबिकापुर स्थित चंबोथी तालाब का है। यहां रहने वाली युवती की शादी उदयपुर क्षेत्र के एक युवक से तय हुई थी। 24 जून को शादी की तिथि फिक्स हुई। दूल्हा बारातियों के साथ दुल्हन के घर पर पहुंच गया। बारातियों के डांस के साथ द्वारचार हुआ। शादी की लगभग सभी रस्में पूरी कर ली गईं।

शादी की अंतिम रस्म दुल्हन की मांग में सिंदूर भरना बाकी था। दूल्हा जब चुटकी में सिंदूर लेकर दुल्हन के पास पहुंचा तो दुल्हन एकाएक भरे मंडप में खड़ी हो गई। उसने सबके सामने कहा कि वह किसी और को चाहती है। यह सुनते ही वहां हड़कंप मच गया। दोनों पक्षों में इस बात को लेकर विवाद भी हो गया। अंत में शादी यहीं रुक गई।

दूल्हे ने दूसरी युवती को बनाया दुल्हन
शादी टल जाने के बाद दूल्हा पक्ष के लोगों ने बदनामी न हो, इस कारण अपने ही समाज की दूसरी लड़की से आनन-फानन में शादी फिक्स कर दी। फिर अगले दिन 25 जून को महामाया मंदिर में दूल्हे की शादी हो गई।
घरवालों ने दुल्हन को निकाला
दुल्हन द्वारा शादी से इनकार कर दिए जाने के बाद उसके परिजनों ने उसे घर से ही निकाल दिया। उन्होंने बेटी को कोतवाली पुलिस के सुपुर्द करते हुए कहा कि हमारा इससे कोई लेना-देना नहीं है। इसके बाद पुलिस ने युवती को नारी निकेतन के सुपुर्द कर दिया।

25-06-2019
नदी में डूबे दोनों मासूम की खोह में फसीं थी लाश, 3 घंटे की मशक्कत के बाद गोताखोरों ने निकाला नदी से बाहर

सूरजपुर। अपने दोस्तों के साथ रेणुका नदी में स्नान करने गए दो मासूम बच्चों की जल समाधि हो गई। गोताखोरों की मदद से 3 घंटे की मशक्कत के बाद जब दोनों मासूमों के शव को बाहर निकाला गया तो पूरा शहर फफक पड़ा। हर एक इंसान की आंखें डबडबा गई थी।

गौरतलब है कि मंगलवार को दोपहर करीब 2 बजे नगर के नया बस स्टैंड मोहल्ला निवासी सुमित साहू पिता शिवधन साहू 12 वर्ष और आयुष साहू पिता आनंद साहू 12 वर्ष अपने 5 अन्य दोस्तों के साथ छठ घाट के समीप स्थित नौकाघाट रेड नदी में स्नान करने गए थे, उसी दौरान सुमित और आयुष के गहरे पानी में चले जाने के कारण डूब गए। जबकि उनके साथ गए तीन अन्य साथी सकुशल हैं जिन्होंने परिजनों को इस घटना की सूचना दी। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस टीम, परिजन और स्थानीय नागरिकों की टीम मौके पर पहुंच गई है। स्थानीय गोताखोरों ने उनकी तलाश शुरू कर दी थी। इसी दौरान पुलिस अधीक्षक जी एस जा और सीएसपी डीके सिंह की पहल पर पुलिस विभाग के गोताखोर मौके पर पहुंचे और उन्होंने संभावित ठिकानों पर तलाश शुरू की तो दोनों बच्चों की लाश पथरीले खोह में फंसी हुई थी जिसे गोताखोरों ने बमुश्किल बाहर निकाला।

कपड़ों से हुई पहचान, परिजनों का रो रो कर बुरा हाल

जिस स्थान पर सुमित साहू और आयुष साहू के डूबने की बात कही जा रही है उसी स्थान पर नदी के घाट पर उन दोनों बच्चों के कपड़े चप्पल और जूते रखे हुए हैं जो स्पष्ट है कि वे दोनों बच्चे आयुष और सुमित हैं इस घटना की सूचना जब परिजनों के पास पहुंची तो दोनों बच्चों के परिजन तत्काल घटनास्थल पर पहुंच गए और जब गोताखोरों ने दोनों मासूमों की लाश बाहर निकाली तो पूरा शहर रो पड़ा हर एक की आंखें डबडबा गई थी परिजनों का तो बहुत ही बुरा हाल था।

इसी स्थान पर होली के दिन हुआ था हादसा

बताया जा रहा है कि जहां पर वे दोनों बच्चे नहा रहे थे वहां पर गहरा खोह है जिसमें कुछ वर्षों पूर्व होली के दिन तीन बच्चों की जल समाधि हो चुकी हैं। इस हादसे के बाद रेड नदी के इस स्थल को प्रतिबंधित कर दिया गया था लेकिन प्रशासनिक अनदेखी के कारण आज पुनः दो बच्चों की इसी स्थान पर जल समाधि हो गई। इस घटना के बाद स्थानीय नागरिकों ने खतरनाक बन चुकी इस खोह को प्रतिबंधित करने और सुरक्षित करने की मांग की है।

24-06-2019
पत्नी की हत्या करने के बाद पति झूला फांसी पर

रायपुर। वीआईपी रोड स्थित गौरव गार्डन में एक युवक ने पत्थर से अपनी पत्नी की हत्या करने के बाद खुद फांसी पर झूल कर आत्महत्या कर ली। सूचना पर मौके में पहुंची तेलीबांधा पुलिस ने दोनों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। बता दें कि मूलत: आडिसा निवासी उमाकांत अपनी पत्नी चंपाबाई के साथ वीआईपी रोड स्थित गौरव गार्डन में रहते था। दोनों वहां काम करते थे और वहीं लेबर क्वार्टर में रहते थे।

बताया जा रहा है कि बीती रात पति-पत्नी मेें किसी बात को लेकर विवाद हुआ और आवेश में आकर उमाकांत ने अपनी पत्नी चंपाबाई के सिर पर पत्थर से वार कर हत्या कर दी। घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी वहीं पास में स्थित पेड़ पर साड़ी का फंदा बनाकर फांसी लगा लिया। सुबह जब गार्डन में काम करने वालों ने देखा तो इसकी सूचना तेलीबांधा पुलिस को दी। मौके में पहुंची पुलिस ने मर्ग कायम कर दोनों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

 

24-06-2019
दिनदहाड़े युवक पर चाकू से हमला, चार लोगों के खिलाफ जुर्म दर्ज

रायपुर। मोवा थाना क्षेत्र के दलदल सिवनी स्थित बीएसयूपी कालोनी में चार युवकों ने एक युवक पर चाकू से हमला कर दिया। गंभीर रूप से घायल युवक को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं पीड़ित युवक की शिकायत पर मोवा पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ अपराध दर्ज किया है। 

बता दें कि घटना रविवार की है। बताया जा रहा है कि आरोपी मनु, शिवा, नानू और देबु नशे के हालत में दलदल सिवनी स्थित बीएसयूपी कालोनी में घूम रहे थे। तभी आरोपियों ने मोहल्ले में एक बुजुर्ग को धमकाया और गाली-गलौज की। इसके बाद आरोपियों ने वहीं पास में नल में पानी भर रहे पीड़ित युवक अनिल बेहरा के पास गए और गाली-गलौज कर चाकू से जांघ पर हमला कर चोट पहुंचाया। स्थानीय लोगों की माने तो चारों आरोपी आदतन बदमाश है। वे अक्सर इस तरह का विवाद करते हुए कॉलोनीवासियों को धमकाया करते हैं। पीड़ित युवक की शिकायत पर मोवा पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धारा 294, 506, 324, 34 के तहत अपराध दर्ज कर जांच में लिया है।

 

25-06-2019
मरने के बाद मरीज का करा दिया एक्सरे, 11 डॉक्टरों को नोटिस

मेरठ। मेडिकल अस्पताल में भर्ती एक मरीज की हालत में सुधार आने के बाद अचानक दम तोड़ जाने पर मौत के कारण जानने के लिए लाश का एक्सरे कराना ईएमओ और 10 डॉक्टरों को भारी पड़ गया। मामला जब प्रिंसिपल के संज्ञान में आया तो उन्होंने इसे गंभीरता से लेते हुए सभी डाक्टरों से जवाब-तलब करते हुए नोटिस जारी कर दिया। अभी तक किसी भी डाक्टर ने जवाब नहीं दिया है। डाक्टरों को नोटिस जारी होने के बाद मेडिकल में खलबली मची है। मेडिकल के आला अधिकारी डाक्टरों का जवाब आने के बाद इस मामले में बड़ी कार्रवाई करने की तैयारी में हैं। 

25-06-2019
CH / NEWS
02:55pm

रायपुर। जेसीसीजे अध्यक्ष अमित जोगी अंतागढ़ टेपकांड मामले में मंगलवार को एसआईटी दफ्तर पहुंचे। वे एसआईटी दफ्तर से बाहर ही मीडियाकर्मियों से चर्चा करने के बाद वापस निकल गए। उन्होंने एसआईटी को स्टुपिड इंवेस्टिगेशन टीम कहा और वॉईस सेंपल नहीं दिया।

24-06-2019
पीएम मोदी से अधीर रंजन चौधरी ने पूछा : सोनिया-राहुल चोर हैं तो क्यों बैठे हैं संसद में ? 

नई दिल्ली। लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने प्रधानमंत्री मोदी से सीधा सवाल पूछा है कि क्या वह 2 जी और कोयला घोटाला में किसी को पकड़ पाए हैं? इतना ही नहीं चौधरी ने कहा कि आप सोनिया गांधी और राहुल गांधी को सलाखों के पीछे भेज पाए? आप उनको चोर कहते हुए सत्ता में आए तो अब वो संसद में कैसे बैठे हैं?  गौरतलब है कि साल 2014 के लोकसभा चुनाव से पीएम मोदी और बीजेपी लगातार गांधी परिवार का नाम घोटालों से जोड़ते रहे हैं। पीएम मोदी ने 2 जी घोटालों में सीएजी की ओर से आंकी गई राशि को सीधे सोनिया गांधी के निवास 10 जनपथ के गेट तक ले जाते थे। वह चुनावी रैली में कहते थे कि 2 जी घोटाला में इतने रुपये का घोटाला हुआ था कि अगर जीरो यहां से लिखना शुरू करें तो सीधे 10 जनपथ के गेट तक पहुंच जाएंगे। इसी तरह कोयला घोटाले में वह तत्कालीन प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह को निशाने पर लेते थे, लेकिन बीते 5 सालों के कार्यकाल में इन घोटालों में एक भी नेता के खिलाफ भी आरोप साबित नहीं हुए हैं। यहां तक 2 जी घोटाला मामले में एक बार जेल जा चुके डीएमके नेता कनिमोई और ए. राजा को भी बरी कर दिया। दिल्ली की विशेष अदालत ने इन सभी के खिलाफ सबूत नहीं पाया। इससे मोदी सरकार की खूब किरकिरी हुई थी।