GLIBS

लोकप्रिय
01-04-2020
बिलासपुर में 57 नए संदेही मिले,सभी होम आइसोलेशन में

रायपुर। बिलासपुर में कोरोना के 57 नए संदेही मरीज मिले हैं। इनमें से 19 लोगों का सैंपल लिया गया है। वहीं मौजूदा स्थिति में जिले में 852 संदेही होम आइसोलेशन पर हैं। एक कोरोना पॉजिटिव महिला का अपोलो हॉस्पिटल में इलाज जारी है। बीते दिन जिला प्रशासन की आपदा प्रबंधन की टीम सुबह से सक्रिय रही। संदेहियों की सूचना मिलते ही घरों में पहुंचकर उनकी जांच की गई। साथ ही उन्हें होम आइसोलेशन में रहने कहा है। देर शाम तक 57 नए संदेही मिले। इनमें से लगभग 25 में सर्दी-खांसी, बुखार के लक्षण मिले हैं। इसके अलावा 19 में कोरोना के लक्षण मिले। उनका सैंपल लेकर जांच के लिए रायपुर एम्स भेजा गया है। सभी को 21 अप्रैल तक आइसोलेशन रहने को कहा गया है। जांच रिपोर्ट आने के बाद अन्य तरह से इलाज की व्यवस्था की जाएगी। निर्देश का पालन नहीं करने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

 

02-04-2020
पैदल बिहार जाने निकले थे सगे भाई, रायपुर में मिली मदद, अब रहेंगे मेहमान बनकर

रायपुर। कांकेर जिले से बिहार अपने घर जाने निकले दो सगे भाइयों को बुधवार रात जिला प्रशासन ने लाभांडी के आश्रय स्थल पर ठहराया है। दोनों 1 हफ्ते से भटकते हुए रायपुर पहुंचे थे। हिम्मत टूटी तो एनजीओ से मदद मांगी। अब दोनों लॉक डॉउन तक राज्य के अतिथि बनकर रहेंगे। बता दें कि दोनों कांकेर में काम करते हैं। इस विषम घड़ी से परेशान होकर आखिरकार दोनों ने 25 मार्च को पैदल ही कांकेर से अपने घर बिहार के अरडिया जाने का निर्णय लिया। इस बीच कुछ दीगर साधनों का साथ मिला लेकिन वह काफी नहीं था। जैसे-तैसे रायपुर तक पहुंचे। रायपुर पहुंचने के बाद जब हिम्मत हार गए तो सहारे की तलाश में भटकते समय दोनों को देवदूत के रूप में समाजसेवी डॉ.उत्कर्ष त्रिवेदी मिले। डॉ. त्रिवेदी ने जिला प्रशासन को इस संबंध में जानकारी दी।

सूचना पर कलेक्टर डॉ. एस भारतीदासन और जिलालापंचायत सीईओ डॉ. गौरव कुमार सिंह ने रैपिड रेस्पॉन्स टीम और गोलबाज़ार पेट्रोलिंग टीम को भेजकर प्राथमिक सहायता मौके पर ही दी। खाना खिलाकर दोनों को लभांडी में बनाए सुविधायुक्त आवासीय परिसर में लाया गया। दोनों भाई लॉकडाउन तक अब आराम से यहीं रुकेंगे। फिर अपने घर बिहार रवाना के लिए रवाना होंगे। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी बुधवार को जरुरतमंद और बेसहारा लोगों के लिए बनाए गए इसी आश्रय स्थल का जायजा लेने पहुंचे थे। उन्होंने सारी व्यवस्थाओं की जानकारी ली थी। यहां रूके लोगों को मुख्यमंत्री बघेल ने भरोसा दिलाया था कि छत्तीसगढ़ में इस वक्त रूका हुआ बाहर का हर व्यक्ति राज्य का मेहमान है। किसी को परेशान होने की कोई जरूरत नहीं है। सभी आवश्यकताओं की पूर्ति की जाएगी। इस शिविर में कई राज्यों और जिलों के भटक रहे 2 सौ से अधिक लोगों को आश्रय, भोजन और सभी जरूरी सुविधा दी गई है।

01-04-2020
शराब दुकान से चोरी करते सुपरवाइजर गिरफ्तार, जानिए क्या है मामला...

रायपुर। एक ओर पूरे प्रदेश में पुलिस लॉकडाउन का कड़ाई से पालन कराने में जुटी हुई है। वहीं देवेंद्र नगर थाना क्षेत्र में फाफाडीह स्थित विदेशी मदिरा दुकान के सुपरवाइजर के 10 पेटी शराब निकालने का मामला सामने आया है। मदिरा दुकान के सुपरवाइजर की ओर से 8 पेटी गोल्डन गोआ विस्की व 2 पेटी पार्टी स्पेशल विस्की सीलबंद मदिरा दुकान से निकाली गई। इसके बाद आबकारी उपनिरीक्षक सुप्रिया तिवारी ने मामले की जानकारी मिलने पर दवेंद्र नगर थाना में आरोपी सुपरवाइजर के खिलाफ चोरी को रिपोर्ट दर्ज करवाई है। पुलिस ने आईपीसी की धारा 381 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर सुपरवाइजर को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

01-04-2020
15 अप्रैल से कर सकते हैं सफर, रेलवे ने शुरू की टिकट बुकिंग

नई दिल्ली। भारतीय रेलवे और निजी एयरलाइंस कंपनियों ने यात्रियों के लिए 14 अप्रैल के बाद के लिए टिकट बुक करना शुरू कर दिए हैं। पहले लोग अनुमान लगा रहे थे कि लॉकडाउन की समय सीमा बढ़ सकती है। इस पर कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने कहा था कि 21 दिनों की लॉकडाउन अवधि को बढ़ाने की सरकार की कोई योजना नहीं है। उन्होंने इसे लेकर आ रही रिपोर्ट्स पर हैरानी जताई। इसके बाद से ही भारतीय रेलवे और निजी एयरलाइंस कंपनियों ने 14 अप्रैल के बाद के लिए टिकट बुकिंग शुरू की। इस संदर्भ में वेस्टर्न रेलवे के पीआरओ प्रदीप शर्मा ने कहा कि भारतीय रेलवे ने 14 अप्रैल के बाद की रेल यात्रा के लिए टिकट बुकिंग शुरू कर दी है।


आईआरसीटीसी की एप और वेबसाइट पर 15 अप्रैल से यात्रा के लिए टिकट उपलब्ध हैं। अभी स्टेशनों पर टिकट की बुकिंग नहीं होगी। एयरलाइंस कंपनियां भी यात्रा के लिए 15 अप्रैल से बुकिंग शुरू कर देंगी। स्पाइसजेट, इंडिगो और गो एयर जैसी निजी एयरलाइंस कंपनियां घरेलू यात्रा के लिए ऑनलाइन बुकिंग सिस्टम को खोल रही हैं। फिलहाल एयरलाइंस की ओर से अभी तक कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है।
यदि लॉकडाउन की अवधि बढ़ती है तो पहले से बुक किए गए टिकट रद्द हो सकते हैं। ऐसी स्थिति में आईआरसीटीसी रेल किराए का पैसा यात्री के बैंक खाते में सीधे भेज देगा। 

 

02-04-2020
Breaking : छत्तीसगढ़ में कोरोना का तीसरा मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज, भूपेश बघेल ने ट्वीट कर दी जानकारी

रायपुर। प्रदेश में कोरोना के 9 पॉजिटिव में से 3 पूरी तरह स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ट्वीट कर जानकारी दी है। दो मरीजों को पूर्व में डिस्चार्ज किया गया था और अब एक और मरीज को डिस्चार्ज कर दिया गया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ट्वीट कर कहा कि छत्तीसगढ़ में एक और #COVID-19  पॉजिटिव मरीज का पूरी तरह से इलाज हो गया है, अब वह पूर्णत: स्वस्थ है। अस्पताल के द्वारा उसे डिस्चार्ज कर दिया गया है। छत्तीसगढ़ में अब तक कुल 9 पॉजिटिव केस में से 3 इलाज करवाकर, स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं।

 

01-04-2020
मोटरसाइकिल पर अस्पताल पहुंची बहादुर माँ, दिया जुड़वा बच्चों को जन्म, नाम रखा कोरोना और कोविड

रायपुर। सारी दुनिया में कोरोना और कोविड का आतंक मचा हुआ है लेकिन पुरानी बस्ती के वर्मा परिवार ने तो अपने जुड़वा का नाम ही रख लिया कोरोना और कोविड। 27 तारीख वर्मा दम्पत्ति के लिए खुशियों का अपार खज़ाना लेकर आई। प्रीति वर्मा वो बहादुर मां है जो सवारी ना मिलने पर मोटरसाइकिल पर ही बैठकर अस्पताल के लिए निकल पड़ी थी। गर्भ में जुड़वा बच्चों को लेकर। जगह-जगह बैरिकेडिंग और चेकिंग। इन सब परेशानियों से जूझते हुए मेकाहारा पहुंची थी प्रीति वर्मा। प्रीति वर्मा ने जुड़वा बच्चों को जन्म देने के बाद उनका नाम कोरोना और कोविड ही रख लिया। उनका कहना है कि कोरोना और कोविड से डरने की बात नहीं है। 

उनके पति विनय वर्मा का भी खुशी का ठिकाना नहीं है। उन्हें एक साथ बेटा और बेटी दोनों का सुख मिल गया है। अस्पताल से डिस्चार्ज होकर वर्मा दम्पति बच्चों के साथ अब घर पर आराम से है। दोनों बच्चे और मां तीनों स्वस्थ हैं। जुड़वा बच्चे होने की खबर मिलते ही उनसे मिलने अस्पताल पहुंचे उनके दोस्त और रिश्तेदारों ने भी कोरोना व कोविड नाम रखने पर खुशी जाहिर की और इसे बेहद साहसिक फैसला बताया।

01-04-2020
Breaking : शराब नहीं मिली तो पी ली स्पिरिट, नशे की लत ने ली दो युवकों की जान, एक कि हालत गंभीर

रायपुर। शहर में लॉकडाउन के बीच एक बड़ी खबर सामने आई है। शराब नहीं मिलने के कारण बांसटाल के कुछ युवकों ने स्पिरिट पी ली, जिसके कारण दो युवकों की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं एक युवक को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बता दें कि मौके पर महापौर ऐजाज ढ़ेबर पहुंचे हुए है।

02-04-2020
हैदराबाद में डॉक्टर को पीटा, डॉक्टरों ने सुरक्षा न मिलने पर काम बंद की चेतावनी दी, क्या यही मकसद है कुछ लोगों का

रायपुर/हैदराबाद। कोरोना के एक मरीज की मौत के बाद उसी अस्पताल में भर्ती मृतक के रिश्तेदार मरीजों ने डॉक्टर को पीट दिया और अस्पताल में तोड़फोड़ की। इस बात से नाराज डॉक्टरों ने सुरक्षा की मांग की है। उन्होंने सुरक्षा ना मिलने पर काम बंद कर देने की चेतावनी दी है। इस स्थिति से सारा प्रशासन हिल गया है, मुख्यमंत्री से लेकर गृहमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री ने भी इस मामले में दखल दिया है। पुलिस के तमाम बड़े अफसर अस्पताल पहुंच गए हैं। मारपीट करने वाले लोगों को तो फिलहाल अस्पताल में अलग-अलग रखा गया है। उनकी गिरफ्तारी कागजों पर कर ली गई है, चूंकि वे अस्पताल में इलाज करा रहे हैं, इसलिए उन्हें अस्पताल में ही रखा गया है।

फिलहाल अब सवाल यह उठता है कि आखिर डॉक्टरों से मारपीट क्यों की गई? सिर्फ हैदराबाद नहीं इंदौर में भी सैंपल लेने गई जांच टीम पर पथराव किया गया। इसके अलावा देश के कुछ अन्य हिस्सों में भी कोरोना की जांच का विरोध हुआ है और डॉक्टरों पर हमले हुए हैं। क्या यह कोरोना के खिलाफ बेहद सुनियोजित ढंग से जारी जंग को असफल करने की साजिश नहीं? क्या यह कोरोना से लड़ रहे डॉक्टरों को धमकाने की साजिश तो नहीं? क्या ये जांच टीम को जांच से रोकने कि अप्रत्यक्ष धमकी तो नहीं? सारे सवाल कहीं ना कहीं एक षड्यंत्र की ओर इशारा करते हैं, जो देश को स्थिर होता नहीं देख पा रहे हैं। उन्हें अस्थिरता चाहिए। उन्हें देश की मजबूती शायद पसंद नहीं है और संकट की इस घड़ी में जिस तेजी से जिस मजबूती से देश कोरोना के खिलाफ उठ खड़ा हुआ और लड़ रहा है। वह शायद ऐसे तत्वों को पच नहीं रहा है। ऐसे तत्वों के खिलाफ तत्काल कठोर कार्रवाई किया जाना बहुत जरूरी है अन्यथा कोरोना से ज्यादा गंभीर यह गद्दारी की बीमारी अन्य प्रदेशों में भी फैल सकती है।

02-04-2020
कोरोना संकट से निपटने छत्तीसगढ़ के कर्मचारियों का नहीं काटा जाएगा वेतन, भूपेश बघेल ने दिया निर्देश

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कोरोना संकट और लॉकडाउन के दौरान छत्तीसगढ़ सरकार के अधिकारी-कर्मचारियों के वेतन से किसी प्रकार की कटौती नहीं करने का निर्णय लिया है। कोविड-19 के संक्रमण से निपटने के लिए राज्य सरकार की ओर से व्यापक प्रयास और इंतजाम किए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री बघेल ने कहा है कि राज्य शासन के अधिकारी-कर्मचारी स्वेच्छा से संकट की इस घड़ी में मुख्यमंत्री सहायता कोष में अपना आर्थिक योगदान कर सकते हैं। छत्तीसगढ़ शासन ने राज्य के सभी निजी औद्योगिक और व्यापारिक संस्थानों से भी यह कहा है कि वे लॉकडाउन के दौरान अपने कर्मियों का वेतन नहीं काटे। यदि कोई कर्मचारी स्वेच्छा से आर्थिक योगदान करना चाहे तो कर सकता है। उल्लेखनीय है कि देश के कतिपय राज्यों में वहां की सरकार ने कोरोना संकट और लॉकडाउन के लिए कर्मचारियों के वेतन से एक माह तक के वेतन और रैंकवार अनिवार्य कटौती के आदेश जारी किए हैं। छत्तीसगढ़ सरकार ने निर्णय लिया है। इसके लिए राज्य सरकार के अधिकारी-कर्मचारियों के वेतन से किसी भी प्रकार की कटौती नहीं होगी।

02-04-2020
CH / SHOWS
08:34pm

खरी खरी। 400 लोग संक्रमित निकले दिल्ली के जमावड़े से। अट्ठारह सौ लोगों को क्वारणटाइन किया गया है। उस जमात के दिल्ली से निकले कोरोना कैरियर कोरोना को अंडमान और असम तक पहुंचा  आए। हैरानी की बात है वे सब पढ़े लिखे लोग हैं जिन्हें पता है के संक्रमण खतरनाक होता है। उसके बावजूद इस तरह की हरकत ना केवल शर्मनाक है बल्कि निंदनीय भी है और दण्डनीय भी।

01-04-2020
लॉकडाउन छूट के कोरे फॉर्म में हस्ताक्षर का आरोप, लापरवाही पर अभनपुर बीईओ निलंबित

रायपुर। कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम एवं नियंत्रण के संबंध में जारी आदेश-निर्देश का उल्लंघन करने पर रायपुर संभाग आयुक्त ने अभनपुर बीईओ को निलंबित कर दिया है। बीईओ द्वारा बिना किसी सक्षम प्राधिकारी के अपने पद का दुरूपयोग करना पाया गया। रायपुर संभाग आयुक्त ने मोहम्मद इकबाल विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी अभनपुर को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। बताया गया कि मोहम्मद इकबाल ने पद का दुरूपयोग करते हुए लॉकडाउन से छूट के कोरा फार्म में हस्ताक्षर कर पद मुद्रा सहित मोबाइल नम्बर दर्ज कर आदेश जारी किया, जबकि यह उनके अधिकार में नहीं है। इस परकलेक्टर रायपुर के प्रस्ताव पर छत्तीसगढ़ सिविल सेवा (वर्गीकरण, नियंत्रण तथा अपील) नियम 1966 के नियम 9 के तहत निलंबित किया गया है। निलंबन अवधि में इनका मुख्यालय जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय रायपुर निर्धारित किया गया है। निलंबन अवधि में इन्हें नियमानुसार जीवन निर्वाह भत्ता की पात्रता होगी। मोहम्मद इकबाल के निलंबन अवधि में विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी अभनपुर जिला रायपुर का प्रभार नरेन्द्र वर्मा सहायक विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी अभनपुर के पास रहेगा।

02-04-2020
Breaking: सरकार शराब दुकानें खोलने कर रही विचार, समिति गठित 

रायपुर। लॉकडाउन के दौरान शराब नहीं मिलने से घटित घटनाओं को देखते हुए राज्य शासन दुकानों को खोलने विचार कर रही है। लॉक डाउन में दुकानों के संचालन के लिए कार्ययोजना बनाने चार सदस्यीय टीम गठित की गई है। इस संबंध में आबकारी विभाग के विशेष सचिव के हस्तांक्षरित आदेश के अनुसार अनिमेष नेताम उप महाप्रबंधक सीएसएमसीएल मुख्यालय को गठित समिति का अध्यक्ष और तीन सदस्य शिशिर रायजादा तकनीकी निदेशक एनआईसी, श्रीनिवास मुदलियार वित्तीय सलाहकार सीएसएमसीएल व अरविंद पाटले उपमहाप्रबंधक सीएसएमसीएल दुर्ग को बनाया गया है। कहा गया है कि लॉकडाउन के दौरान मदिरा के विक्रय को प्रतिबंधित किया गया था,लेकिन शराब की अनुपलब्धता से अवैध शराब के उपभोग के कारण राज्य में लोगों की मृत्यु और जिलों में आत्महत्या करने व आत्महत्या का प्रयास किया गया है। कई शराब दुकानों से चोरी कर शराब का उपयोग किए जाने की खबर सामने आई। इस स्थिति को देखते हुए भविष्य में जान-माल की हानि को रोकने के लिए शराब दुकानों को शुरू करने की कार्यवाही की जा रही है।