GLIBS

लोकप्रिय
13-09-2019
थोक के भाव में बदले गए सीईओ और बीईओ,  दो दर्जन अधिकारी प्रभावित

 

रायपुर। राज्य सरकार ने आज प्रदेश के दो दर्जन मुख्य कार्यपालन अधिकारियों और विकासखंड शिक्षा आधिकारियों का तबादला विभिन्न जगहों पर कर दिया है। जिन अधिकारियों का स्थानांतरण किया गया है उनके नाम इस प्रकार हैं-

 

14-09-2019
चंद्रयान-2 : खत्म हो रही विक्रम लैंडर की बैटरी, बचाने के लिए सिर्फ हफ्ते भर का समय

नई दिल्ली। लगभग एक हफ्ते का समय बीत जाने के बाद विक्रम से फिर सें संपर्क स्थापित करने की उम्मीदें अब धीरे-धीरे धुंधली पड़ती जा रही हैं। इंडियन स्पेस रिसर्च सेंटर (इसरो) चांद की सतह पर विक्रम से संपर्क करने की आखिरी कोशिश में लगा हुआ है। बता दें कि भारत के मिशन चंद्रयान-2 के दौरान चंद्रमा पर सॉफ्ट लैंडिंग से ठीक पहले लैंडर विक्रम से मिशन कंट्रोल का संपर्क टूट गया था। दरअसल, विक्रम और उसके भीतर मौजूद रोवर प्रज्ञान को चांद की सतह पर एक चंद्र दिवस (धरती के 14 दिन के बराबर) का वक्त गुजारना था। ऐसे में इसरो के पास अब थोड़ा ही वक्त बचा है।

इसरो के एक वैज्ञानिक ने बताया, जैसे-जैसे वक्त गुजरता जा रहा है, विक्रम से संपर्क करना जटिल होता जा रहा है। उसकी बैटरी खत्म हो रही है। वैज्ञानिकों ने चिंता जताई है कि अगर बैटरी खत्म हो गई तो विक्रम में जान फूंकने के लिए उसे बिजली देने वाला कोई नहीं होगा। हर गुजरते मिनट के साथ हालात बदतर ही होते जा रहे हैं। एक वैज्ञानिक ने बताया कि विक्रम दूर और दूर होता दिख रहा है। इसरो टेलीमेट्री, ट्रैकिंग एंड कमांड नेटवर्क की एक टीम विक्रम से संपर्क की कोशिश में दिन-रात लगी हुई है। बीते सात सितंबर को विक्रम को सॉफ्ट लैंडिंग करनी थी, मगर चांद की सतह से ठीक 2.1 किमी पहले ही विक्रम का संपर्क इसरो से टूट गया था।

हालांकि, बाद में चंद्रयान-2 के ऑर्बिटर ने हार्ड लैंडिंग के बाद सतह पर पडे़ विक्रम को खोज निकाला था, जिसके बाद वैज्ञानिकों में फिर उम्मीद जगी थी। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा भी विक्रम से संपर्क करने की कोशिशों में जुटा है। इसरो के वैज्ञानिक ने बताया कि विक्रम की स्थिति फिलहाल जस की तस है। यह अब भी बिजली पैदा कर सकता है। यह अपनी बैटरियों को सौर पैनलों से रिचार्ज कर सकता है। हालांकि, इसमें किसी तरह की प्रगति की उम्मीद अब धुंधली हो चली है। इसरो के एक और वैज्ञानिक ने बताया, चांद की सतह पर विक्रम की हार्ड लैंडिंग ने उससे संपर्क करने के प्रयास को बेहद दुरूह बना दिया है। यह सही दिशा में नहीं है, जिससे विक्रम इसरो द्वारा भेजे जा रहे रेडियो संकेतों को ग्रहण नहीं कर पा रहा है। सतह पर झटके से उतरने के चलते हो सकता है कि विक्रम को खासा नुकसान पहुंचा हो।

 

14-09-2019
CH / NEWS
05:41pm

रायपुर। गणपति देवता के जाने के बाद अब पितर देवता आ रहे हैं,पर उनका स्वागत वैसा नहीं होता। स्वर्ग से धरती पर अपने पाल्यों को देखने धरती पर आए पखवाड़े भर के मेहमान पितरों का स्वागत तो दूर की बात है, इन दिनों शुभ कार्य तक नहीं करते, नई खरीदी बन्द कर देते हैं, आखिर ऐसा क्यों?

14-09-2019
मुझे वीआईपी सुविधा नहीं, माफी चाहिए : विधायक विनोद चन्द्राकर

महासमुन्द। महासमुन्द विधायक विनोद चन्द्राकर पर महिला कर्मचारी का आरोप लगाने वाले एयर इंडिया के कर्मचारी शनिवार दोपहर 12 बजे पहुंच कर उन्होंने वीआईपी मेहमान बनाने का ऑफर लेकर पहुंचे थे। लेकिन विधायक ने एयर इंडिया के इस वीआईपी ऑफर को अस्वीकार करते हुए, दो टूक कहा कि जैसे एयर इंडिया ने मुझे अपमानित किया है उसकी तरह वह माफी मांग ले फिर कोई बात नहीं। मुझे ना तो एयर इंडिया का वीआईपी सुविधा चाहिए ना ही मुझे इसकी दरकार है। गौरतलब है कि 7 सितम्बर को महासमुन्द विधायक विनोद चन्द्राकर अपने साथियों के साथ बाबाधाम एयर इंडिया की विमान से जाने एयरपोर्ट रायपुर पहुंचे थे। एयर इंडिया के एक महिला कर्मचारी ने विधायक को रोक लिया और कहा कि आप निर्धारित समय से पहुंचे नहीं है इसलिए आप ये सफर नहीं कर सकेंगे। विधायक और महिला कर्मचारी के बीच इसी बात को लेकर कुछ बातचीत हो गई। मामला मीडिया तक पहुंचा और एयर इंडिया के अधिकारियों द्वारा यह बात कही गई थी कि महासमुन्द विधायक विनोद चन्द्राकर एयरपोर्ट देर से पहुंचे थे इसलिए एयर इंडिया की महिला कर्मचारी ने उन्हें रोक दिया इस बात को लेकर विधायक नाराज हुए और महिला कर्मचारी के साथ र्दुव्यवहार किया यहां तक की महिला कर्मचारी का मोबाइल विधायक ने छीन लिया था। मीडिया ने जब विधायक चन्द्राकर से पूछा तो उन्होंने मामले को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि मैंने नहीं एयर इंडिया की महिला कर्मचारी ने मुझसे र्दुव्यवहार कर मुझे अपमानित किया है साथ ही विधायक ने कहा कि मैं किसी भी जांच के लिए तैयार हूं। एयर इंडिया अपने सीसीटीवी फूटेज की जांच करा ले दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा। मीडिया में समाचार छपने से पहले ही विधायक चन्द्राकर ने मामले की शिकायत एयर इंडिया के चीफ ऑफ आथोरिर्टी से शिकायत की थी। एयर इंडिया के दो अधिकारी शनिवार विधायक निवास पहुंच थे और उन्होंने विधायक विनोद चन्द्राकर को ऑफर देते हुए कहा कि आपके साथ, जो हुआ है वह उसकी रिपोर्ट सीसीटी हमने अपने ऊपर के अधिकारियों को भेंज दी है। आप मामले को यहीं समाप्त कर दीजिए। एयर इंडिया आपको अपना वीआईपी सुविधा देगा और आपकी टिकट की कीमत भी लौटा दी जायेगी। मीडिया ने जब एयर इंडिया के कर्मचारियों से मामले में पूछताछ की तो उन्होंने मीडिया को कहा कि हम किसी तरह से मीडिया को बयान नहीं दे सकते हैं हमने अपनी रिपोर्ट अपने उच्च अधिकारियों को भेज दी है। उच्चाधिकारियों के ही कहने पर हम विधायक से मिलने आये हैं। विधायक विनोद चन्द्राकर ने एयर इंडिया के कर्मचारियों को मीडिया के सामने कहा है कि एयर इडिया मामले में माफी मांगे। वरना मैं मानहानि का दावा ठोकने तैयार हूं। आप अपने उच्चाधिकारियों को इस बात की जानकारी दे दें।

 

14-09-2019
दंतेवाड़ा उपचुनाव : कांग्रेस ने जारी की स्टार प्रचारकों की सूची..

दंतेवाड़ा। कांग्रेस ने दंतेवाड़ा में होने वाले विधानसभा उपचुनाव के लिए शनिवार को अपने स्टार प्रचारकों की सूची जारी की हैै। इसमें सोनिया गांधी, राहुल गांधी, डॉ. मनमोहन सिंह, प्रियंका गांधी, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, मुख्यमंत्री कमलनाथ,  प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम, चंदन यादव, अरुण ओराव, सुष्मिता देव, राज बब्बर, नवजोत सिंह सिद्धू, रणदीप सिंह सुरजेवाला, ज्योतिरादित्य सिंधिया, भक्त चरण दास, नगमा, टीएस सिंहदेव, ताम्रध्वज साहू,कवासी लखमा,डॉ. शिव कुमार डहरिया,रविंद्र चौबे, मो. अकबर, उमेश पटेल,जयसिंह अग्रवाल,अनिला भेड़िया, गुरु रूद्र कुमार, प्रेम सिंह, अमरजीत भगत,छाया वर्मा फूलो देवी नेताम,लखेश्वर बघेल, विधायक रेख चंद, विक्रम मंडावी,संतराम नेताम, चंदन कश्यप, शिशुपाल शोरी, मनोज मंडावी कांग्रेस प्रत्याशी देवती कर्मा के पक्ष में प्रचार करने आएंगे। 

14-09-2019
विधायक विकास उपाध्याय ने कहा भाजपा गणेश झांकी के मंच को लेकर राजनीति न करें

रायपुर। राजधानी रायपुर के प.विधायक विकास उपाध्याय ने कहा है कि भाजपा के पूर्व मंत्री राजेश मूणत गणेश झांकी में पंडाल को लेकर राजनीति न करें। विकास उपाध्याय ने कहा कि भाजपा शासनकाल में कांग्रेसियों को झांकी के विपरीत मंच लगाकर स्वागत करना पड़ता था। भाजपा नेता राजेश मूणत को कलेक्ट्रोरेट जाकर आवेदन की स्थिति का जायजा ले लेना चाहिए था कि पहले कलेक्ट्रोरेट में आवेदन किसका जमा हुआ था। अगर उनका आवेदन पहले जमा हुआ था मेरा जो मंच तैयार हुआ है। मैं उन्हें स्वेच्छा सौंप दूँगा। 

14-09-2019
डा. रमन की लोकप्रियता से घबराए कांग्रेसी कर रहे शर्मनाक हरकत : धरमलाल कौशिक

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष धरमलाल कौशिक ने आज प्रेसवार्ता लेकर छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार पर जमकर निशाना साधा। धरमलाल कौशिक ने बताया कि डा रमन सिंह के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार ने पीडीएस के माध्यम से जिस तरह के ऐतिहासिक कार्य किये उस पर हमें  गर्व है। यहां की चावल वितरण योजना को न केवल संयुक्त राष्ट्र संघ की विभिन्न एजेंसियों से अपितु दुनियाभर से सराहना मिली है। एक मामले में तो स्वयं सुप्रीम कोर्ट ने छत्तीसगढ़ का मॉडल समूचे देश में लागू करने को तब की केंद्र सरकार को कहा था। उससे पहले कांग्रेसी शासन में आंत्रशोध, डायरिया और भूख से मृत्यु होना आम बात थी। यह भाजपा शासन की ही उपलब्धि थी कि प्रदेश में एक भी भूख का मामला दर्ज नहीं हुआ। खाद्य सुरक्षा का छत्तीसगढ़ का नया कानून बना जिसमें भोजन का अधिकार यहां लोगों को मिला और फिर उसे समूचे देश में लागू किया गया। इतनी उपलब्धियों के बावजूद यह शर्मनाक बात है कि कांग्रेस इस पीडीएस योजना पर ही सवाल उठा रही है। डा. रमन सिंह की लोकप्रियता से अभी तक घबराए कांग्रेसी उनकी छवि को नुकसान पहुंचाने किसी भी हद तक जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि नान घोटाला मामले में डा. रमन सरकार ने ही तब हो रही अनियमितता को संज्ञान में लेकर अभियुक्तों के खिलाफ  मुकदमा दर्ज कराया था। कौशिक ने कहा कि एक ऐसा आदतन अपराधी जो दो बार में पांच वर्ष से अधिक समय तक जेल होकर आया हो, उससे हलफनामा दिलाकर उसके आधार पर राजनीति करना कांग्रेस का चरित्र ही दिखा रहा है। इसी तरह एक अन्य अभियुक्त के ही आवेदन पर एसआइटी गठित कर देना बिल्कुल गैरकानूनी है। कौशिक ने प्रेसवार्ता में कहा कि कुछ घटनाक्रमों में मुख्य अभियुक्तों से ही हलफनामा दिलवाकर उनका भाजपा को बदनाम करने के लिए उपयोग किया जा रहा है। मंतूराम प्रकरण और नान घोटाला में मुख्य अभियुक्तों का ही इस्तेमाल भाजपा के खिलाफ  किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इन तमाम हलफनामों का कोई भी विधिक औचित्य नहीं है, बस केवल अपनी नाकामी ढंकने और भाजपा को बदनाम करने ऐसे-ऐसे कृत्य किये जा रहे हैं। हालांकि मामला न्यायालय में विचाराधीन होने के कारण केस के मेरिट पर कुछ टिप्पणी करना ठीक नहीं है। कौशिक ने चुनौती दी कि अगर सच में कांग्रेस हाल के इन दोनों हलफनामे पर भरोसा करती है तो मुख्यमंत्री भूपेश बघेल स्वयं शपथ पत्र देकर इन हलफनामों को प्रमाणित करें, फिर उसे न्यायालय में प्रस्तुत करें। उन्होंने कहा कि ऐन दंतेवाड़ा नामांकन के दिन स्व. भीमा मंडावी की हत्या की जांच कर रहे अग्निहोत्री आयोग ने प्रोसिडिंग को डिस्क्लोज करके संदेहियों को क्लीन चिट दे दिया। चूंकि दंतेवाड़ा उपचुनाव में कांग्रेस के पास बताने को कुछ नहीं है इसलिए इन्हीं सब हरकतों को अंजाम देकर अपनी खाल बचाना चाह रही है। कौशिक ने कहा कि प्रदेश के साथ किये तमाम वादों को पूरा करने में विफल, शराब, रेत, तबादला आदि में सैकड़ों करोड़ डकार जाने वाले लोग आज डा. रमन सिंह और भाजपा के धवल चेहरे पर कालिख पोतने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन वे अपने मकसद में कामयाब नहीं होंगे। 

15-09-2019
मुख्यमंत्री के पालतू कुत्ते की मौत के बाद दो पशु चिकित्सकों के खिलाफ दर्ज हुई एफआईआर

नई दिल्ली। तेलंगाना के मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव के आधिकारिक बंगले में रहने वाले एक पालतू कुत्ते हस्की की बिमारी के बाद मौत हो गई। जिसके बाद पशु चिकित्सकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। इस मामले की जांच अब बंजारा हिल्स पुलिस कर रही है। आरोपों के सही पाए जाने पर डॉक्टरों को पांच साल तक की जेल हो सकती है। जानकारी के अनुसार पुलिस ने एनिमल केयर क्लिनिक के डॉक्टर लक्ष्मी और डॉक्टर रंजीत पर भारतीय दंड संहिता की धारा 429 और 11 के तहत एफआईआर दर्ज की है। बुधवार शाम तक 11 महीने का पालतू कुत्ता हस्की बिलकुल ठीक था।

शाम को वह अचानक बीमार हो गया। जिसके बाद मुख्यमंत्री के बंगले पर काम करने वाले कर्मचारियों ने हस्की के बीमार होने की सूचना उसके डॉक्टर रंजीत को जाकर दी। अपनी जांच में डॉक्टर रंजीत ने पाया कि हस्की को 101 डिग्री का बुखार है। जिसके बाद उन्होंने पहले उसे दवा दी और फिर एनिमल केयर क्लिनिक में शिफ्ट कर दिया। हालांकि हस्की ने क्लिनिक में दम तोड़ दिया। मुख्यमंत्री के बंगले पर नौ पालतू कुत्ते रहते हैं। जिसके केयरटेकर आसिफ अली खान हैं। राव के इस कदम ने विपक्ष को उनपर निशाना साधने का मौका दे दिया है। विपक्ष ने उनकी आलोचना करते हुए कहा है कि हैदराबाद और तेलंगाना के अन्य हिस्सों में फैले डेंगू की तरफ ध्यान नहीं दिया जा रहा है। कांग्रेस सांसद ए रेवंथ रेड्डी ने सवाल करते हुए कहा, 'स्वर्णिम तेलंगाना के लोग प्रगति भवन के कुत्ते की तरह ही महत्व नहीं रखते हैं?'

13-09-2019
ट्रैफिक हवलदार पर बनी डाक्यूमेंट्री ने फिल्म फेस्टिवल में पाया दूसरा स्थान

भिलाई। भिलाई की सड़कों पर ईमानदारी से अपनी ड्यूटी करने वाले ट्रैफिक हवलदार सुशील पांडेय पर बनी डाक्यूमेंट्री फिल्म 'द मोस्ट इंस्पायरिंग मेन सुशील कुमार पांडेय' ने चंडीगढ़ विवि के फिल्म फेस्टिवल में दूसरा स्थान बनाया। भिलाई के युवाओं की इस फिल्म ने देश-विदेश से आई फिल्मों को कड़ी टक्कर देकर अपना स्थान बनाया। शहर के लाइट हाउस इनोवेशन फिल्म के जसदीप सिंह सग्गू, आदर्श पाटकर, किशोर चुघ, उदय रेड्डी, यतेंद्र वशिष्ठ, आरजे रेहान ने मिलकर फिल्म बनाई है। जसदीप सिंह सग्गू ने बताया कि भिलाई के यातायात पुलिस जवान सुशील पांडेय को वे रोज पूरी ईमानदारी से काम करते देखते थे। तब उन्हें शॉर्ट फिल्ट बनाने का आइडिया मिला। फिर सभी ने मिलकर सुशील पांडेय पर शॉर्ट फिल्म बनाई। जिसका नाम 'द मोस्ट इंस्पायरिंग मेन मिस्टर सुशील कुमार पांडेय' दिया। जसदीप सिंह सग्गू का कहना है कि वे उन पर ही फिल्म बनाना चाह रहे थे जो समाज में अपना योगदान दे रहे हैं। हमारे आसपास कई ऐसे लोग है कि जो अपना काम ईमानदारी से कर रहे हैं। पर लोगों की नजर जल्दी उन पर नहीं पड़ती। कई सारी कहानियां हैं, जो समाज को युवाओं को प्रेरणा दे सकती है। उन्होंने बताया कि अगली डाक्यूमेंट्री उन्होंने पद्मश्री जेएम नेलसन पर बनाई है जो जल्द ही सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर रिलीज होने वाली है। उनकी कोशिश है कि वे मिनी इंडिया भिलाई की ऐसी चीज जिसे कम लोग जानते हों, उस व्यक्ति विशेष की पहचान एवं उसकी दिनचर्या को लोगों तक पहुंचाए।

 

14-09-2019
Breaking : मछली मारने गए दो ग्रामीणों की हाथियों ने रौंद कर मार डाला

कोरबा। जिले में हाथियों का उत्पात थमने का नाम नहीं ले रहा है। पूर्व में कटघोरा वन मंडल में लगातार हाथियों का दल विचरण कर रहा है और जमकर जनधन की हानि पहुंचा रहा है। बताया जा रहा है कि बीती रात बांगो थाना क्षेत्र अंतर्गत निवास करने वाले दो ग्रामीण देर रात को मछली मारने बांगो डूबान में गए हुए थे, जहां उनका सामना हाथियों से हो गया और हाथियों ने दोनों ग्रामीणों को पटक-पटक कर मौत के घाट उतार दिया। सुबह जैसे ही दो ग्रामीणों की मौत की खबर सामने आई वन विभाग व पुलिस में हड़कंप मच गया। विभाग के अधिकारी कर्मचारियों की टीम मौके के लिए रवाना हो गई है। बता जा रहा है कि एतमा नगर रेंज में दो दर्जन हाथियों का झुंड विचरण कर रहा है, जिसके द्वारा लगातार क्षेत्र में उत्पात मचाते हुए किसानों को नुकसान पहुंचा रहा है। वन विभाग की टीम इन हाथियों को जंगल में नाकाम साबित हो रही है, जिससे लोगों में आक्रोश बढ़ता जा रहा है। एक साथ दो लोगों की मौत के बाद क्षेत्र में जर्बदस्त आक्रोश है और वन विभाग के कामों को लेकर लोग नाराज हैं।

15-09-2019
नान घोटाला : शिवशंकर भट्ट ने ली प्रेसवार्ता, कई दिग्गज नेताओं को बताया दोषी

रायपुर। नान घोटाले के मुख्य आरोपी शिवशंकर भट्ट ने प्रेसवार्ता करते हुए बताया कि 9 लाख 35 हजार क्विंटल धान था फिर भी मुझ पर दबाव था 10 लख क्विंटल चावल ज्यादा ले। 2014 में ऐसी क्या स्थिति बनी की नान पर दबाव बनाया गया। उन्होंने अपने बयान में कहा कि राशन दुकानों में जगह नही थी फिर भी हम पर दबाव बनाया गया। रातो रात सारे गोदाम में राशन भरा गया ये नान का घोटाल नही राशन घोटाला है। भट्ट ने कहा इस मामले में राशन कार्ड फर्जी बनाने वाले, फूड इंस्पेक्टर, राशन दुकान पर कार्यवाही क्यों नही की गयी। अगर 12 हजार दुकानो का मुआयना आज भी किया जाए तो 400 करोड़ का माल मिल जाएगा। भट्ट बे बताया कि राशन घोटाले को छुपाने के लिए नान पर छापा मारा गया। उन्होंने यह भी आरोप लगया कि मुझे जानबुझकर जेल में रखा गया क्योंकि मैं बाहर आता तो सरे राज खुल जाते। उन्होंने कहा मै मानहानि का केस करूंगा। जमानत पर रिहा होने के बाद से ही मैं मीडिया के पास आने की सोच रहा था लेकिन कुछ कारणों से आ नहीं सका। उन्होंने कहा कि फर्जी राशनकार्ड मामले मे विपक्ष के हमले के बाद सारा मामला उजागर हुआ। शिवशंकर भट्ट ने बयान में आगे बताया कि भाजपा कार्यालय में चुनाव के वक्त 5 करोड़ रुपए का टारगेट पुन्नूलाल मोहिले और लीलाराम भोजवानी को दिया गया था। नान घोटाले में शामिल लोगो के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि इस पुरे घोटाले में चिंतामणि चंद्राकर, पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह, वीणा सिंह, खाद्य मंत्री, नान के चेयरमेन शामिल है। सभी दोषियो के खिलाफ जांच और कार्यवाही होनी चाहिए। भट्ट ने बताया कि साजिश के तहत मुझे 1करोड़ 60 लाख रुपए देकर मुकेश गुप्ता एवं उनके अन्य साथियो ने फंसाया। शिवशंकर भट्ट ने एसपी से सुरक्षा की मांग की है।