GLIBS

ताज़ा खबरें
07-03-2021
महिला दिवस के दिन महिलाएं संभालेंगी ट्रेनों का जिम्मा, ट्रेन संचालन,सुरक्षा, सिग्नल और टिकट कांउटर पर आएंगीं नजर

नई दिल्ली। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस को खास बनाने के लिए भारतीय रेलवे ने एक विशेष पहल की है। इस बार 8 मार्च को पूर्वोत्तर रेलवे का संचालन महिलाएं करेंगी। स्टेशन से लेकर ट्रेनों के संचालन और सुरक्षा की जिम्मेदारी भी महिलाएं ही संभालेंगी। खास बात यह है कि ट्रेन के संचालन से लेकर सिग्नल, टिकट और स्वच्छता की जिम्मेदारी भी महिलाओं के ही जिम्मे होगी। इसका मतलब यह है कि 8 मार्च के दिन पूर्वोत्तर रेलवे की लोको पायलट, सहायक लोको पायलट, कोच कंडक्टर, टिकट निरीक्षक, गार्ड, टिकट परीक्षक, सफाईकर्मी, कोच अटेंडेंट और सुरक्षाकर्मी महिलाएं ही होंगी। पूर्वोत्तर रेलवे के इस पहल के सामने आने के बाद महिला कर्मियों में काफी उत्साह देखने को मिल रहा है। अपनी जिम्मेदारियों को महिला कर्मचारी कुशलतापूर्वक निभाने के लिए काफी प्रतिबद्ध नजर आ रही हैं।

इस बाबत पूर्वोत्तर रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी पंकज कुमार सिंह ने बताया कि रे लवे महिलाओं की सुरक्षा एवं सम्मान के प्रति बहुत संवेदनशील है। उन्होंने बताया कि अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के दिन बादशाहनगर रेलवे स्टेशन को महिला रेलकर्मी ही संचालित करेंगी। इसके अलावा गोरखपुर में भी ट्रेन के संचालन महिलाओं के जिम्मे ही होगा। गोरखपुर रेलवे स्टेशन प्रबंधन ने ट्रेन संचालन के लिए गाड़ी का चयन भी कर लिया है। गोरखपुर-नौतनवां रूट की गाड़ी 55141 नंबर की पैसेंजर ट्रेन का जिम्मा महिलाएं संभालेंगी। यह गाड़ी सुबह आठ बजे गोरखपुर से रवाना होगी। गोरखपुर जंक्शन पर छह महिला सहायक लोको पायलट तैनात की गई हैं। इन महिला सहायक लोको पायलट में से कुछ की जिम्मेदारी इंजनों के शटिंग की होगी। इसके अलावा कुछ महिला सहायक लोको पायलट गोंडा और नोतनवां तक मालगाड़ी और पैसेंजर ट्रेनें लेकर चलेंगी। वहीं गोरखपुर पश्चिम में एक महिला गार्ड की तैनाती की गई है। स्टेशन पर यात्रियों का स्वागत भी महिला कर्मचारी ही करेंगी। इसके अलावा टिकट, पूछताछ काउंटर तथा अन्य सभी स्थानों पर महिलाएं ही ड्यूटी करेंगी। वहीं प्लेटफार्मों पर लगी टीवी स्क्रीन पर महिला दिवस के पूरे दिन महिलाओं से संबंधित कार्यक्रम प्रसारित किए जाएंगे।

07-03-2021
नव दाम्पत्य जीवन में बंधे 8 जोड़े,आदिवासी समाज ने कराया आदर्श विवाह

धमतरी। अरौद गांव में ध्रुव गौड़ समाज ने धूमधाम से पूरे रीतिरिवाज के साथ 8 जोड़ा का आदर्श विवाह कराया। विवाह में वर और वधु दोनों ही पक्ष के लोग मौजूद रहे। समाज प्रमुखों ने नव दम्पतियों को अपना आर्शीवाद दिया। इसके अलावा समाज की ओर से सभी जोड़ों को प्रोत्साहन राशि भी दी गई। आदर्श विवाह में शामिल सभी जोड़े अपने दाम्पत्य जीवन को लेकर बेहद खुश नजर आए। वही इस सम्मेलन में बच्चों और बड़े बुर्जगों सहित बड़ी संख्या में महिलाएं भी शामिल हुई। दरअसल धमतरी में इन दिनों आदिवासी समाज अलग मुड़ा क्षेत्रों में वार्षिक सम्मेलन का आयोजन कर रही है। इस वार्षिक सम्मेलन में समाज अपने रीतिरिवाजों सहित सामाजिक चर्चा परिचर्चा और आय व्यय का लेखा जोखा तैयार कर रहे है। इसी के तहत जिले के अरौद गांव में भी जंवरगांव मुड़ाक्षेत्र का वार्षिक सम्मेलन आयोजित किया गया। यहां करीब 10 गांव से आदिवासी समाज के लोग इकक्ठा हुए। गांव में कलश यात्रा भी निकाली गई। इस दौरान समाज ने पूरे रीतिरिवाज के साथ 8 जोड़ों का आदर्श विवाह भी कराया।
समाज प्रमुखों ने बताया कि आदर्श विवाह का आयोजन शादी में होने वाले फिजूल खर्चे को रोकने के लिए किया गया है। विवाह की सभी जिम्मेदारी समाज व्दारा निवर्हन किया गया है। सभी जोड़े के संपूर्ण सामग्री के साथ उन्हे प्रोत्साहन राशि भी समाज की ओर दिया गया है। वही सम्मेलन में सामाजिक एकता को मजबूत बनाने का निर्णय लिया गया है। इस अवसर पर सर्व आदिवासी समाज के जिलाध्यक्ष जीवनराखनलाल मरई,भागीरथी ध्रुव,जयपाल ठाकुर,सरजू राम ठाकुर,अशोक नेताम,केवल सिंह ध्रुव,अर्जुन सिंह मरकाम,मनसाय मंडावी,कल्याण सिंह ठाकुर,गणपत मंडावी,जोहित नेताम,दुर्जन ठाकुर,कार्तिक नेताम,राधाबाई नेताम,तिजेन्द्र कुंजाम,नारद नेताम,केशकुमार कोर्राम,भीमसेन नेताम,भूषण उईके,हरि कुंजाम,जगदीश मरकाम,पुरण सिंह,भागीरथी ध्रुव,नीलकंठ धु्रव,गजाधर ध्रुव,राघव नेताम,नंदू नेताम,रूपसिंह नेताम,सुदीप नेताम,शिवनंदन नेताम,पंकज कोर्राम,बलराम नेताम,अर्जुन नेताम,त्रिलोचन मंडावी,सीताराम नेताम,भरत नेताम,सुखनाथ ध्रुव,गोकुल मरकाम,रामसाय नेताम,राजकुमार पडोटी,अशोक मरकाम,दिलीप मरकाम,रामचरण छैदेया,अमीर मरकाम,कचरू कोर्राम,रामकिशुन सलाम,गंगाराम छैदेया,दिलीप नेताम,भरोसा नेताम,फिरतू पडोटी सहित बड़ी संख्या में युवा,बुजुर्ग और महिलाएं उपस्थित थे।

07-03-2021
8 मार्च को पांडे कवासी के परिजनों से मिलने दंतेवाड़ा जाएंगे अमित जोगी,एसपी ने किया मना

रायपुर। जेसीसीजे अध्यक्ष अमित जोगी सोमवार को दंतेवाड़ा जिला के समेली गांव जाएंगे। समेली में स्वर्गीय पांडे कवासी के परिजनों से मुलाकात करेंगे। अमित जोगी ने ट्वीट कर आरोप लगाया है कि सरकार के निर्देश पर उन्हें दंतेवाड़ा जाने से रोका जा रहा है। अमित जोगी ने दंतेवाड़ा एसपी का पत्र शेयर कर कहा है कि उन्हें बताया जा रहा है कि अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर समेली में आयोजित कार्यक्रम के लिए  आयोजकों ने विधिवत अनुमति नहीं ली है। इस कारण समेली में किसी प्रकार की सुरक्षा व्यवस्था नहीं लगाई गई है। ग्राम समेली नक्सली दृष्टिकोण से अतिसंवेदनशील क्षेत्र हैं। वर्तमान में नक्सल माओवादियों की ओर से टीसीओसी सप्ताह चलाया जा रहा है। अमित जोगी ने आरोप लगाया है कि सरकार के निर्देश पर दंतेवाड़ा पुलिस उन्हें सुरक्षा देने से इनकार कर रही है। इसके बावजूद पुलिस हिरासत में मौत की पीड़िता पांडे कवासी के परिजनों से मिलने उनके गांव समेली जाऊंगा। नहीं तो मेरी अंतरात्मा मुझे माफ नहीं करेगी।

 

07-03-2021
जिले से आज मिले 2 संक्रमित मरीज, 5 हुए स्वस्थ 

धमतरी। जिले में आज 10 कोरोना संक्रमित मरीज की पहचान हुई है। आज मिले संक्रमितों में से धमतरी ग्रामीण से 0,  कुरूद ब्लाक से 0 , नगरी से 0 , धमतरी शहर से 2 और मगरलोड से 0 संक्रमित मरीज मिले है। जिला मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ डीके तुर्रे ने बताया कि रविवार को धमतरी जिले से 2 कोरोना पॉजिटिव मरीज की पहचान हुई है। कुरूद ब्लाक से एक संक्रमित की मौत हुई है,जोकि कोरोना वायरस और अन्य बीमारियों से ग्रसित था। जिले में अब तक कोरोना मृतकों की संख्या 134 हो चुकी है।

जिले में आज धमतरी शहर के आमापारा से 1 और अमलतासपुरम से 1 संक्रमित मरीज की पहचान हुई है।

जिले में अब तक मिले कुल संक्रमितों की संख्या 8350 हो चुकी है,जिसमें से एक्टिव केस की संख्या 86 है। धमतरी कोविड-19 अस्पताल में 3, कोविड-19 केयर सेंटर कुरूद में 0 और कोविड-19 केयर सेंटर नगरी में 0 मरीजों का उपचार किया जा रहा है। वही 5 लोगों को स्वस्थ्य होने के बाद डिस्चार्ज किया गया है, कुल 8131 लोगों को डिस्चार्ज किया जा चुका है।

07-03-2021
आम आदमी पार्टी के पदाधिकारी पहुंचे बठेना, मृतकों के परिजनों से की मुलाकात, मामले में सीबीआई जांच की मांग 

रायपुर। आम आदमी पार्टी छत्तीसगढ़ के यूथ विंग के अध्यक्ष तेजेंद्र तोड़कर ने रविवार को ग्राम बठेना पहुंचकर मृतक गायकवाड़ परिवार के परिजनों से घटनाक्रम की जानकारी ली है। भानुप्रतापपुर में रहने वाले रामबृज गायकवाड के भाई ने बताया कि कुछ दिन पहले उनके भाई ने फोन पर 5 लाख रुपए किसी को देने के लिए मांगे थे। जो सुसाइडल नोट उनसे उनके घर से मिला है, उसमें कर्ज की बात सामने आ रही है। इससे साफ है कि कर्ज के कारण कर्जदार लगातार उन पर दबाव बना रहे थे। हो सकता है कि इसी दबाव कारण  इतना बड़ा कदम उठाया है।

जिस तरह से शव मिले हैं, वह भी संदेह खड़ा कर रहे हैं। जब रामबृज और उसके बेटे संजू ने घर की महिलाओं की हत्या कर ही दी थी, तो फिर उन्हें आग लगाकर खुद भी जलने की क्या जरुरत थी ? यह स्पष्ट  तौर पर हत्या का मामला लग रहा है। साजिश के तहत गायकवाड परिवार की हत्या की गई है फिर उसे आत्महत्या की शक्ल दी गई। आम आदमी पार्टी छत्तीसगढ़ इस पूरे प्रकरण की सीबीआई जांच की मांग की है। साथ ही मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को छत्तीसगढ़ की पुलिसिंग खासकर  दुर्ग की पुलिस को सख्त करने की सलाह दी है। ताकि खुडमुड़ा और बठेना के इन दोनों मामलों में पुलिस जल्द कार्रवाई करें और अपराधियों की सजा दिलाए।

07-03-2021
राज्यपाल के हाथों सम्मानित हुई कलेक्टर किरण कौशल सहित ज़िले की तीन महिलाएं

कोरबा। राजधानी रायपुर में रविवार को कोरबा कलेक्टर किरण कौशल सहित ज़िले की दो और महिला विभूतियों को राज्यपाल अनुसुईया उइके ने नारी रत्न सम्मान 2021 प्रदान किया। कोरबा कलेक्टर किरण कौशल को प्रशासनिक सेवा के क्षेत्र में किए गए बेहतर कार्य के लिए यह सम्मान प्रदान किया गया। राज्यपाल ने इस दौरान किरण कौशल के कार्यो की सराहना भी की। निशानेबाज़ी में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए श्रुति यादव व दिव्यांग होने के बावजूद महिला सशक्तिकरण की मिसाल बनी ललिता राठिया को भी राज्यपाल ने नारी रत्न सम्मान 2021 प्रदान किया गया। महिला दिवस की पूर्व संध्या एक निजी न्यूज़ चैनल के कार्यक्रम में अलग-अलग विधाओं में अपना लोहा मनवा चुकी 19 प्रतिभाशाली महिलाओं को सम्मानित किया गया। इस दौरान सर्वाधिक कोरबा जिले की 3 महिलाओं को राज्यपाल के हाथों सम्मानित होने का गौरव प्राप्त हुआ। इस दौरान कलेक्टर किरण कौशल ने संबोधित करते कहा कि इस तरह के आयोजन से विभिन्न क्षेत्रों में कार्य कर रही महिलाओं को एक पहचान मिलती है जिससे हजारों महिलाओं को प्रेरणा मिलती है।

 

 

07-03-2021
स्वालंबन की राह पर अग्रसर कोरबा जिले की महिलाएं

कोरबा। छत्तीसगढ़ ही नहीं पूरे देश में बिजली उत्पादन के लिए जाने जाने वाले कोरबा जिले को पर्यटन के मानचित्र पर भी अब सशक्त पहचान मिल गई है, परंतु जिले की यह पहचान किसी और के कारण नहीं बल्कि यहां की मातृ शक्ति से है। कलेक्टर किरण कौशल के नेतृत्व में टीम कोरबा में शामिल प्रशासनिक अधिकारियों-कर्मचारियों के साथ-साथ जिले के महिला स्व सहायता समूहों की सदस्यों का भी इसमें बड़ा योगदान है। ग्रामीण हो या शहरी, हर क्षेत्र में जिले की महिलाओं ने अपनी जोरदार उपस्थिति दर्ज कराई है। राज्य सरकार ने भी जिले में महिलाओं को मजबूत और अधिकार सम्पन्न बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। महिला स्वास्थ्य या पोषण का मामला हो, रोजगार और आजीविका से जुड़ने की गतिविधियां, खेल-कूद हो या खेती-किसानी और पशुपालन हर क्षेत्र में महिलाओं की भागीदारी ने शासकीय योजनाओं और कार्यक्रमों की सफलता तय की है। 

 कोरबा जिले में संचालित लगभग 250 गौठानों का पूरा प्रबंधन महिलाओं के हाथ में है। इन गौठानों में डे-केयर के रूप में पशुओं की देखभाल के साथ-साथ वर्मी कम्पोस्ट उत्पादन, गोबर खरीदी, गोबर से विभिन्न उत्पादों का निर्माण जैसी सभी गतिविधियां महिला स्व सहायता समूहों की सदस्यो द्वारा संचालित हैं। जिले में नौ हजार 906 महिला स्व सहायता समूहों के माध्यम से लगभग एक लाख 15 हजार महिलाओं का एक बड़ा और मजबूत संगठन है। जिले में सतरेंगा पर्यटन स्थल के संवर्धन और उसे अंतर्राष्ट्रीय पहचान दिलाने में महिलाओं की विशेष भूमिका रही है। जिले की कलेक्टर किरण कौशल की योजना को मूर्तरूप देने में महिलाओं ने पुरूषों के साथ बराबरी से हिस्सेदारी की। महिला समूहों द्वारा यहां आने वाले पर्यटकों के खाने-पीने के लिए सर्वसुविधा युक्त सतरेंगा कैफेटेरिया का संचालन किया जा रहा है। इडली, दोसा, चाउमीन के साथ छत्तीसगढ़ के पारंपरिक फरा, चीला, ठेठरी-खुर्मी व्यंजनों से पर्यटकों का पेट ही नहीं बल्कि मन भी संतृप्त हो रहा है। छत्तीसगढ़ सरकार की महिला कोष ऋण योजना ने भी महिला समूहों को आत्मनिर्भर बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। महिला एवं बाल विकास विभाग की विभिन्न पोषण योजनाओं के लिए 89 समूहों की लगभग 900 महिलाएं रेडी टू इट बनाने का काम कर रहीं हैं। एक हजार 600 से अधिक समूहों की 17 हजार से अधिक महिलाएं गर्म पका भोजन तैयार कर कुपोषित बच्चों और गर्भवती माताओं को रोज खिला रहे हैं।

वैश्विक महामारी कोरोना के काल में भी जिले की महिलाओं ने जनजागरूकता से लेकर कोरोना मरीजों के ईलाज तक की गतिविधियों में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया है। महिला डाॅक्टर, स्वास्थ्य कर्मी, प्रशासनिक अधिकारी-कर्मचारी सभी महिलाओं ने कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए अपने अनुभव का अच्छी तरह उपयोग किया। गोबर खरीदी और गोबर से गमले, आकर्षक मूर्तियों, कलाकृतियों से लेकर अगरबत्ती और गोबर काष्ठ बनाना इसका जीवंत उदाहरण है। पुरातन काल से मानव सभ्यताओं के विकास में महिलाओं की यह भागीदारी आज भी जारी है और जब तक जीवन है तब तक जीवनदायिनी मातृशक्ति ही इसकी संवाहक बनी रहेगी।

07-03-2021
पशुपालकों और पशुधन पर खर्च होने वाली राशि से भाजपा को तकलीफ हो रही : शैलेश 

रायपुर। गोधन न्याय योजना पर भाजपा विधायकों के सीएजी को ज्ञापन दिए जाने पर कांग्रेस ने सवाल उठाया है। प्रदेश कांग्रेस के संचार प्रमुख शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि गौशालाओं का करोड़ों का अनुदान खा जाने वाली भाजपा,अब गोपालकों और पशुधन के हित के लिए खर्च की जा रही सेस पर सवाल कैसे उठा रही है ? रमन शासनकाल में पशुधन गौ माता के नाम से गौशाला खोलकर भाजपा और आरएसएस के नेता फलते फूलते रहे हैं। गौ माता की निर्मम हत्या कर उनके हाड़ मांस को बेचा जाता रहा है। आज मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार को गोधन न्याय योजना के माध्यम से और राज्य 7 हजार से अधिक गोठानो के माध्यम से गोपालको और पशुधन के संरक्षण के लिए काम कर रही है। ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने गोधन न्याय योजना के माध्यम से काम कर रही है। ऐसे में भाजपा को पशुपालकों और पशुधन के पीछे खर्च होने वाली राशि पर तकलीफ हो रही है। शैलेश ने कहा है कि कोरोना काल से निपटने बनाई  गई पीएम केयर्स फंड को सीएजी ऑडिट आरटीआई के दायरे से बाहर और पब्लिक डोमेन में होने से रोकने वाली भाजपा छत्तीसगढ़ में कोरोना सेस पर  राजनीतिक नौटंकी  बंद करें।

07-03-2021
महिला दिवस की पूर्व संध्या विप्र नगर बेटी बचाओ मंच ने किया महिला सम्मान

रायपुर। बेटी बचाओ मंच विप्र नगर रायपुरा के तत्वावधान में महिला दिवस की पूर्व संध्या सम्मान समारोह आयोजित किया गया। मुख्यअतिथि प्रदेश अध्यक्ष ललित मिश्रा थे। कार्यक्रम में ऐसी महिलाओं का जिन्होंने बेटी को ही बेटा मानकर बेटा की चाह ना करते हुए बेटा की तरह परवरिश किया,उन्हें नारी शक्ति सम्मान से सम्मानित किया गया। सम्मान प्राप्त महिलाएं रश्मि कश्यप, नमिता डडसेना,आरती जैन,लीना सिन्हा,पूर्णिमा चक्रधारी, उषा यादव शामिल है। प्रदेश अध्यक्ष ललित मिश्रा तथा विप्र नगर अध्यक्ष शशि यादव ने श्रीफल,दुपट्टा व प्रशस्ति पत्र भेंट कर यह सम्मान प्रदान किया। कार्यक्रम का संचालन लीना सिन्हा तथा आभार सचिव मुन्नी साहू ने किया।

 

07-03-2021
नवनियुक्त व्याख्याताओं को 31 मार्च तक पदभार संभालना अनिवार्य, निर्देश जारी 

रायपुर। स्कूल शिक्षा विभाग की ओर से विभिन्न विषयों में व्याख्याताओं के नियुक्ति के आदेश जारी किए गए हैं। व्याख्याताओं को पदांकित स्कूल में 31 मार्च तक पदभार ग्रहण करना है। स्कूल में पदभार ग्रहण करने के पूर्व नवनियुक्त व्याख्याता जिला शिक्षा कार्यालय में अपना आवेदन देंगे। नवनियुक्त व्याख्याताओं के समस्त अभिलेखों की जांच कर एक प्रति अपने कार्यालय में रखेंगे। संचालक लोक शिक्षण ने इस आशय के निर्देश सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को जारी किए हैं। संचालक लोक शिक्षण ने जिला शिक्षा अधिकारियों को जारी निर्देश में कहा है कि अभिलेखों की जांच के लिए कार्यालय के सहायक संचालक, सहायक परियोजना अधिकारी को दायित्व सौंपे गए हैं। अभिलेखों की जांच से संतुष्ट होने के बाद ही नवनियुक्त व्याख्याताओं के पदांकित स्कूल में कार्यभार ग्रहण करने की अनुमति दी जाए। नियुक्ति आदेश में उल्लेखित शाला में ही पदभार ग्रहण कराया जाए। किसी भी स्थिति में स्थान परिवर्तन नहीं किया जाए।