GLIBS

आखिर क्यों अनूपम खेर ने घटना की कड़े शब्दों में निंदा की?

ग्लिब्स टीम  | 17 Apr , 2017 02:18 PM
आखिर क्यों अनूपम खेर ने घटना की कड़े शब्दों में निंदा की?

नई दिल्ली: श्रीनगर के बडगाम में कश्मीरी युवाओं द्वारा सेना के जवानों के साथ दुर्व्यवहार के वायरल वीडियो पर कड़ी प्रतिक्रियाओं का दौर जारी है. मशहूर फिल्मी अभिनेता अनूपम खेर ने इस घटना को दुखद बताते हुए इसकी कड़े शब्दों में निंदा की है.अनुपम खेर ने कश्मीर में जवानों के साथ दुर्व्यवहार को दिखाने वाली वीडियो पर चुप्पी साधने को लेकर छद्म बुद्धिजीवियों की आलोचना करते हुए कहा कि कई बार किसी के लिए राष्ट्रवाद दिखाना जरुरी हो जाता है.

अनूपम खेर ने कहा कि एक नई प्रवृत्ति उभरी है कि जो भी देश के लिए बोलता है उसे आरएसएस या बीजेपी की ओर झुकाव रखने वाला बता दिया जाता है. उन्होंने कहा, ‘हम राष्ट्रवादी होने का ठप्पा नहीं रखते, हम अपने दिलों में राष्ट्रवाद को रखते हैं. लेकिन कई बार मुझे लगता है कि आपको अपना राष्ट्रवाद दिखाना जरुरी हो जाता है.’उन्होंने हाल ही में जम्मू-कश्मीर के बडगाम जिले में श्रीनगर लोकसभा सीट पर उपचुनाव के दौरान तदान केंद्र की सुरक्षा में तैनात सीआरपीएफ जवानों के साथ दुर्व्यवहार पर मौन रहने को लेकर मानवाधिकार कार्यकर्ताओं की भी आलोचना की.

उन्होंने कहा कि दुख की बात है कि हम जवानों को केवल वर्दी पहने एक व्यक्ति के तौर पर देखते हैं. हम उन्हें बेटों, पतियों और पिताओं के रूप में नहीं देखते.उन्होंने कहा कि छद्म बुद्धिजीवी उस वीडियो पर चुप हैं कि हाल ही में कैसे जवानों के साथ र्दुव्‍यवहार किया गया. लेकिन जब एक व्यक्ति को मानव ढाल बनाने वाली वीडियो आई तो वे सभी लोग इकट्ठे हो गए और मानवाधिकारों के बारे में बात करने लगे. और क्यों किसी ने उस वीडियो के बारे में बात नहीं की, जिसमें सेना ने नौ लोगों को डूबने से बचाया.

अभिनेता ने कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के उस बयान को अवास्तविक और बेवकूफी भरा बताया जिसमें कांग्रेस नेता ने कहा था कि कश्मीरी लोग सेना और आतंकवादियों, दोनों के हाथों मारे जा रहे हैं. करीना अरोड़ा की पहली किताब ‘द स्पिरिट ऑफ द रीवर’ के विमोचन के मौके पर अनूपम खेर राष्ट्रीय राजधानी के इंडिया हैबिटेट सेंटर आए हुए थे.

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.