GLIBS

GLIBS Exclusive
19-02-2019
CH / NEWS
04:59pm

आयकर विभाग ने आज बकाया टैक्स जमा नहीं करने वाले बिल्डर संजय बाजपेयी की संपत्ति कुर्क करने की कारवाई की है।

19-02-2019
CH / NEWS
03:41pm

देश भर में पुलवामा हमले का विरोध किया जा रहा है, और इसे लेकर लोग अपने-अपनें तरीके से अक्रोश जता रहे  है वहीं रायपुर के  आर्टिस्ट विनोद पांडा ने सड़क पर  पाकिस्तान का झंडा बनाया है। उन्होंने  पाकिस्तान को अपमानित करने व आतंकी हमले के विरुद्ध आक्रोश व्यक्त करते हुए पाकिस्तान मुर्दाबाद के  नारे लगाए।
 

18-02-2019
CH / NEWS
06:01pm

पुलवामा में हुए आतंकी हमले का विरोध करते हुए भारत बन्द का आह्वन किया गया था इसी के तहत छत्तीसगढ़ में व्यापारी संघ ने दोपहर 1 बजे तक अपनी दुकान बंद रखी और रायपुर घड़ी चैक में शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी गई।

18-02-2019
CH / NEWS
05:18pm

रायपुर। पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए जवानों के परिवारों को राहत पहुंचाने सोमवार को राजधानी रायपुर स्थित एनआईटी के सामने आम लोगों से चंदा इकट्ठा किया गया । इकट्ठे किए जा रहे चंदे की राशि को पीड़ित परिवारों से मिलकर उन्हे सौंपा जायेगा।

18-02-2019
CH / NEWS
02:50pm

भारत के मन की बात कार्यक्रम के प्रभारी और भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय मंत्री तरुण चुग प्रदेश दौरे पर हैं। एकात्म परिसर में उन्होंने कहा कि भारत के मन की बात कार्यक्रम के जरिये हम देश की जनता की राय जानना चाहते हैं।

18-02-2019
CH / NEWS
01:24pm

रायपुर। पुलवामा में हुए आतंकी हमले के विरोध में सोमवार 18 फरवरी को भारत बंद का आह्वान किया गया । भारत बंद को छत्तीसगढ़ चेंबर ऑफ कॉमर्स और कैट का समर्थन मिला। वहीं स्थानो पर मिले जुले रूप से इस बन्द को समर्थन मिला और कहा गया कि दुकानें दोपहर 1 बजे तक बंद रखी जाएगी।

17-02-2019
Exclusive: 30 लाख का पोल्ट्री फीड घोटाला : अनियमितता के तार आला अधिकारियों से लेकर नीचे तक!

कोण्डागांव। पशुपालन विभाग में 30 लाख रुपए का पोल्ट्री फीड घोटाला सामने आया है। जिसे करीब 4 चार साल पहले अंजाम दिया गया, हालांकि इस बड़ी आर्थिक अनियमितता की जानकारी विभाग को दो साल पहले हो चुकी थी और तकरीबन 14 माह पहले 14 दिसंबर 2017 को जांच समिति गठित की जा चुकी है पर यह आश्चर्य की बात है कि अभी तक जिम्मेदार विभागीय अधिकारियों द्वारा जांच पूरी नहीं की जा सकी है। इस दौरान चार विभागाध्यक्ष भी बदल दिए गए। घोटाले की जांच विभागीय लापरवाही के चलते पूरी नहीं हो सकी। जब जांच ही पूर्ण नहीं हो पायी तो विभाग के सेंधमारो पर कार्यवाही की बात करना संदेहास्पद लगने लगता है। 

फिजीकल वेरीफिकेशन भी नहीं किया जा सका

बात तत्कालीन पोल्ट्री विभाग के प्रभारी डॉ. एचपी द्विवेदी के कार्यकाल की बताई जा रही है। अनियमितता का मामला प्रकाश में आने के बाद पोल्ट्री फीड के लिए  कार्यवाही की गई। मामले में इतनी अधिक अनियमितता की गई है कि जिन फर्मों ने फीड सप्लाई की उन्हें अब तक भुगतान नहीं हो पाया है और जांच में आधी से ज्यादा रसीदों का मिलान ही नहीं हो पा रहा है। इससे भी ऊपर खरीदी गई सामग्री का किसी ने फिजीकल वेरीफिकेशन तक नहीं किया और जो अब तक लंबित है। 

जांच में सवाल उठना लाजिमी है

उपसंचालक डीके नेताम ने जो जांच समिति बनाई है उसमें विभागीय सीनियर अधिकारी की जांच जूनियर अधिकारी कर रहे हैं। इससे जांच में सवाल उठना लाजिमी है। कहा तो यह भी जा रहा है कि जूनियर अधिकारी अपने सीनियर अधिकारी से कड़े सवाल करने से बचते नजर आ रहे हैं, जो कि लाजिमी भी है। इसके साथ ही जांच समिति लम्बे समय से आरोपी से जरूरी जानकारी मांग रही है पर आरोपी उन्हे अपने प्रभाव से,नाकाम करते रहे हैं, जांच समिति बने सवा साल हो गया है पर जांच पूरी नहीं हो सकी है और फिलहाल कोई संभावना भी नजर नहीं आ रही है। 

डॉ द्विवेदी ने निजी खाते में डाल हजम किया शासकीय राशि 

डॉ. द्विवेदी के कार्यकाल के और भी कारनामें सामने आने लगे हैं। इसमें पॉल्ट्री फार्म कोण्डागांव के लिए आए केन्द्र सरकार के 15 लाख रुपए के रिवाल्बिंग फण्ड के मामले में तो यह बात सामने आई है कि तत्कालीन प्रभारी डॉ एच.के. द्विवेदी ने अपने एसबीआई कोण्डागांव के निजी खाते में सीधे ही जमा करा दिए हैं और उस राशि का आज तक कोई हिसाब नहीं है।

विभाग खुद ही लगा लीपापोती करने में

इस पूरे मामले में यह भी स्प्ष्ट रूप से सामने आ रहा है कि पशु विभाग कोण्डागांव आरोपी को बचाने में पूरी तरह से लगा हुआ है। अगर विभाग की मंशा होती तो जांच इतने लम्बे समय में पूरी हो जाती। जांच में सिर्फ इतना ही हो पाया है कि 29 लाख 90 हजार 834 के मामले पर 14 लाख 80 हजार 200 की ही जांच हो पायी जिसमें सामानों की भौतिक सत्यापन नहीं होने जैसी, और खरीदी में रसीदों के मिलान तक नहीं होने की बात सामने आयी है। रायपुर संचालक से आये पत्र में सात दिवस की दी गई। समय सीमा भी पूरा हुए आधा से ज्यादा माह बीत चुका है। इससे यह संदेह भी प्रबल होता जा रहा  है कि इस घोटाले से विभागीय अधिकारी भी किसी न किसी स्तर पर जुड़े होने की संभावना को नकारा नहीं जा सकता है और विभाग ने इतनी बड़ी अनियमितता की जांच को ठंडे बस्ते में डाल कर रखा है।


डॉ एचपी द्विवेदी के खिलाफ 29 लाख 90 हजार 834 रुपए की गडबड़ी की जांच 12 दिसम्बर 2017 से चल रही है। हमने रायपुर रिपोर्ट भेजी थी पुन: जांच कर रिपोर्ट भेजने को कहा गया है। हम सप्ताहभर में जांच प्रतिवेदन भेज रहे हंै। इसके अलावा केन्द्र से आई 15 लाख के रिवाल्बिंग फण्ड की राशि डॉ द्विवेदी ने अपने पर्सनल खाते में डाल ली है, उसकी जांच भी चल रही है। जांच में जरूरी जानकारी देने में डॉक्टर आना-कानी कर रहे हैं वहीं एचपी द्विवेदी को लगातार तीन दिनों से मोबाइल 9424291472 पर बात करने की कोशिश की जा रही है। घंटी बजने के बाद भी वे मोबाइल नहीं उठा रहे हैं और न ही कार्यालय आ रहे हंै।
-डीके नेताम उप संचालक पशु विभाग कोण्डागांव

16-02-2019
Exclusive : भावनी शुक्ल कर सकते हैं महासमुंद से दावेदारी, धनेन्द्र साहू का चुनावी दौरा शुरू

रायपुर। हाल में होने वाले लोकसभा चुनाव को लेकर सभी पार्टी कार्यकर्ता अपनी-अपनी दावेदारी को लेकर गंभीर नजर आ रहे हैं। लगातार सुर्खियों में रहने वाला शुक्ल परिवार लोकसभा चुनाव के मैदान में कुदता नजर आ रहा है।
महासमुंद लोकसभा सीट के लिए अमितेश शुक्ल के बड़े बेटे भवानी शंकर शुक्ल ने अपनी दावेदारी जताई है। महासमुंद की पहचान उस निर्वाचन क्षेत्र के तौर पर की जाती है जहां से दिग्गज कांग्रेसी नेता विद्याचरण शुक्ल ने अपने राजनीतिक करियर की शुरूआत की थी। बतौर सांसद अपने 9 बार के कार्यकाल में से विद्याचरण शुक्ला ने अपने पहले चुनाव समेत छह चुनाव महासमुंद से जीते। 2004 में जब उन्होंने बीजेपी में शामिल होने के लिए कांग्रेस छोड़ दी, तो वे इसी निर्वाचन क्षेत्र में लौटकर आए, लेकिन पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी से हार गए। फिलहाल यह लोकसभा सीट भारतीय जनता पार्टी के सांसद चंदू लाल साहू के पास है। यह सीट खास इसलिए भी है कि यहां साहू वोटर्स की अधिक है। इस लोकसभा सीट पर 2014 में पुरुष मतदाताओं की संख्या 757,276 थी, जिनमें से 576,917 ने वोटिंग में भाग लिया। वहीं पंजीकृत 758,471 महिला वोटर्स में से 554,292 महिला वोटर्स ने भाग लिया था। इस तरह कुल 1,515,747 मतदाताओं में से कुल 1,131,209 ने चुनाव में अपनी हिस्सेदारी तय की। 2019 के सत्रहवें लोकसभा चुनाव में 1516177 से ज्यादा मतदाता अपने क्षेत्र के सांसद का चुनाव करेंगे।

असतित्तव खोजता नजर आ रहा शुक्ल परिवार
कभी छत्तीसगढ़ की राजनीती में खास दखल रखने वाला शुक्ल परिवार अब छत्तीसगढ़ की राजनीति में अपना ही अस्तित्व खोजता नजर आ रहा है। जहां मुख्यमंत्री के चेहरे इसी परिवार से हुआ करते थे आज इस परिवार को मंत्रीमंडल में जगह तक नहीं मिल पा रही है। विद्याचरण शुक्ल जो की झीरमघाटी कांड में शहीद हो गए थे उनके वंशज अब भी प्रदेश की राजनीति में सक्रीय हैं।

वोटरों को साधने में लगे धनेन्द्र साहू
लोकसभा चुनाव को लेकर पूर्वमंत्री धनेन्द्र साहू महासमुंद सीट से अपनी दावेदारी को लेकर काफी गंभीर नजर आ रहे हैं। बताया जा रहा है कि पूर्व मंत्री धनेन्द्र साहू महासमुंद सीट पर चुनावी दौरे शुरू कर दिए हैं वोटरों को साधने के लिए पूरी ताकत लगा रहे हैं।

16-02-2019
CH / NEWS
11:23am

साइंस कॉलेज स्थित दिनदयाल ऑडिटोरियम में नारी शक्ति सम्मान कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें सभी वर्गो की महिलाओं का सम्मान किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में महिला बाल विकास विभाग की मंत्री अनिला भेडिया थी।

15-02-2019
CH / NEWS
08:06pm

राष्ट्रीय बजरंग दल ने गौसेवा आयोग के अधिकारी के खिलाफ शिकायत की और कृषि एवं गौपालन मंत्री रविन्द्र चैबे को ज्ञापन सौपा बजरंगीयों ने कहा है कि जल्द से जल्द ऐसे भ्रष्ट व अयोग्य व्यक्ति को निकाल किया जाए। 
 

15-02-2019
CH / NEWS
07:58pm

प्रदेश के सभी जिले से पुलिस बल के अभ्यार्थी ईदगाहभाठा में एकत्रित हुए है और अपने परीक्षा परिणाम की तिथि की घोषिणा करने की मांग को लेकर मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपने की बात कही ।
 

15-02-2019
CH / NEWS
07:52pm

रायपुर। रायपुर नगर निगम गार्डन में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पूर्व केंद्रीय मंत्री विद्याचरण शुक्ल की प्रतिमा का अनावरण किया है। इस दौरान भूपेश भघेल ने कहा कि राजनीतिक षड़यंत्र के चलते हमारे कई दिग्गज नेताऐं शहीद हो गए।