GLIBS

GLIBS Exclusive
15-09-2020
CH / SHOWS
08:38pm

 

खरी खरी। सारा देश भारत रत्न मोक्षगुंडम विश्वेशरैया की जयंती धूम धाम से मना रहे । इंजीनियर्स डे हमारे प्रदेश के वो इंजीनियर भी मना रहे जिन्होंने एक सड़क ऐसी बनाई जो राहगीरों के लिए मौत का कारण बन सकती थी।हैरानी की बात तो ये उसे गलत पाकर खोद भी दिया गया,जांच भी हुई लेकिन सज़ा किसी को नही मिली,अब अच्छे और ईमानदार इंजीनियरों के साथ वो इंजीनियर भी इंजियर्स डे मना रहे है जिन पर एक सड़क की हत्या का आरोप लगाया जा सकता है। हद है बेशर्मी की।

11-09-2020
CH / NEWS
08:34pm

ग्लिब्स एक्सप्रेस में आज देखिये महासमुंद, दुर्ग, जांजगीर चांपा की खबर

11-09-2020
CH / SHOWS
08:26pm

खरी खरी। कोरोना का संक्रमण बढ़ता ही जा रहा है और राजधानी में तो यह उफान पर है। 11,000 से ज्यादा एक्टिव केस हैं। और ये रोज बढ़ते ही चले जा रहे हैं। परेशानी की बात तो यह है कि सारे अस्पताल भर चुके हैं और मरीज अस्पताल दर अस्पताल भटकने को मजबूर है। ऐसे में सोशल डिस्टेंसिंग जैसी चिड़िया कहीं नजर नहीं आती है। खासकर के दारु भट्टी और शराब दुकानों में जहां ऐसा लगता है शराबी सोशल डिस्टेंसिंग को ही घोलकर पी गए हो।

10-09-2020
CH / SHOWS
09:17pm

खरी खरी। क्या सरकारी क्या निजी सारे अस्पताल लबालब हो गए हैं। नदी नालों में तो बाढ़ आई नहीं लेकिन अस्पतालों में मरीजों की बाढ़, बाढ़ क्या सुनामी आई हुई है। बेड की कमी  के कारण मरीज भटकने पर मजबूर हैं। इस समस्या से निपटने के लिए प्रशासन ने अस्पताल प्रबंधन  से ऑक्सीजन युक्त बेड बढ़ाने में सहयोग करने की अपील की है। और हैरानी की बात यह है कि रेलवे के 55 कोच में बने हुए 440 बेड धूल खाते पड़े है।आइसोलेशन सेंटर के लिए बनाये गये रेलवे कोच खुद आइसोलेशन में है।उनका कोई उपयोग तक नहीं हो पा रहा है। इससे ज्यादा अव्यवस्था अफरा-तफरी और अंधेरगर्दी क्या हो सकती है?

09-09-2020
CH / SHOWS
09:07pm

खरी खरी। कांकेर में पत्रकार सड़क पर उतर आए। अपने लिए कुछ नहीं मांग रहे थे। वे तो बस आईएएस अफसर के बिगड़े बोल पर कार्रवाई चाह रहे थे। कांकेर के आईएएस अफसर ने पत्रकार से कह दिया के कोरोना पीड़ितों के रिश्तेदारों को खाना क्या तेरा बाप खिलाएगा? अब भाषा देखिए । क्या यह पढ़े लिखे और देश की दशा और दिशा तय करने वाले आईएएस अफसर की हो सकती है। हैरानी की बात है न। इस बात पर पत्रकारों ने इकट्ठा होकर जंगी प्रदर्शन किया। ज्ञापन सौंपा। लेकिन ना तो वे नेता हैं और ना अफसर। वे तो सिर्फ मांग ही कर सकते हैं। नेता और अफसर एक दूसरे के पूरक हैं इसलिए वह कुछ हुआ नहीं। तो फिर इस मामले में भी आईएएस अफसरों के अध्यक्ष सीके खेतान को थोड़ा प्रकाश डालना चाहिए।

08-09-2020
CH / SHOWS
08:27pm

खरी खरी।इस शहर ने जो कुछ उसको दिया वह शहर को और शहरवासियों को सब कुछ लौटाने की कोशिश में लगा हुआ है। दिन-रात बिना रुके बिना थके। विकास को लेकर दुनिया भर की बहस हुई दुनिया भर के चुटकुले बने लेकिन विकास देखना है तो रायपुर के विकास को देखा जा सकता है। विकास उपाध्याय ने  संसदीय सचिव होकर मुख्यमंत्री को खत लिखा। निजी अस्पतालों पर लगाम लगाने की ठोस पहल की। निजी स्कूलों के खिलाफ भी आवाज बुलंद की।जो काम विपक्ष का है वो भी किया सत्ता में शामिल होने के बावजूद। आम आदमी के लिए सुबह से शाम तक लगातार लगा रहता है वह बिना रुके बिना थके। अगर सारे जनप्रतिनिधि उसके जैसे हो जाए तो शहर अपने आप चमन हो जाएगा।

06-09-2020
CH / SHOWS
08:22pm

खरी खरी। कोरोना से ज्यादा निजी अस्पताल के बिलों से त्रस्त प्रदेश की जनता को राहत  पहुंचाई है मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने। निजी अस्पतालों पर नकेल कसने का दुस्साहस भरा कारनामा कर दिखाया है भूपेश बघेल ने। लोग कहने लगे हैं कि भूपेश बघेल ही ऐसा कर सकता  है । अब भूपेश बघेल से लोगों को उम्मीद है कि वे निजी स्कूलों की मनमानी पर भी लगाम लगाएंगे।

03-09-2020
CH / SHOWS
08:33pm

खरी खरी। कटोरा तालाब के पंजवानी परिवार को एक निजी अस्पताल पर भरोसा करने का जीवन भर दुख रहेगा। उन्होंने आंख बंद करके भरोसा किया और अपने परिवार में सदस्य को वहां भर्ती कराया जहां उसने दम तोड़ दिया। अस्पताल ने उसे कोविड वार्ड में भर्ती करके इलाज किया और कोविड पॉजिटिव बताकर अंतिम संस्कार भी करवा दिया। जबकि जीते जी कराई गई जांच की रिपोर्ट दाह संस्कार के बाद आई तो वह चौका देने वाली थी। वह रिपोर्ट नेगेटिव थी। अब सवाल ये उठता है कि एक आदमी की 2 रिपोर्ट कैसे संभव है? होना यह चाहिए दोनों रिपोर्ट की जांच  कर दूध का दूध पानी का पानी करना चाहिए स्वास्थ्य विभाग को। दोषी को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी ही चाहिए।

02-09-2020
CH / SHOWS
09:04pm

खरी खरी। कोरोना को लेकर जितने मुंह उतनी बातें। कोई उससे बचने के उपाय बता रहा है तो कोई आंकड़ों का भ्रम फैला कर लोगों को डरा रहा है। कुल मिलाकर देखा जाए तो कोरोना के भ्रम और भय से लोग भटक रहे है और कोरोना से मची अफरा-तफरी और अव्यवस्था के बीच लूटखसोट का सिलसिला भी जारी है।

23-08-2020
CH / SHOWS
03:22pm

खरी खरी। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को मुख्यमंत्री की कुर्सी विरासत में नहीं मिली है। ना ही उन्हें किसी ने गिफ्ट की है। मुख्यमंत्री की कुर्सी उन्होंने जीती है अपने दम से संघर्ष से और अपनी नेतृत्व क्षमता से। कांग्रेस जब टूट रही थी बिखर रही थी तब भूपेश को सौंपी गई थी। भूपेश बघेल ने ना केवल कांग्रेस को टूटने से बचाया बल्कि उसे ताकतवर बनाया और 15 साल की भाजपा सरकार को उखाड़ फेंक कांग्रेस का परचम छत्तीसगढ़ में दोबारा फ़हराया।आसान नही थी भूपेश बघेल की राह,वे अपने दम पर मुख्यमंत्री बने हाशि और ऐसे उदाहरण बिरले ही है।

21-08-2020
CH / SHOWS
07:41pm

खरी खरी। कोरोना से तो लोग ठीक हो रहे हैं लेकिन  कुछ निजी अस्पतालों का बिल देखकर उनका दम निकल जा रहा है। 25 हज़ार रु रोज का किराया है नान आईसीयू यानी आइसोलेशन बीएड का। शायद सारे देश में सबसे महंगा यही इलाज हो रहा है। मजबूरी से भी मुनाफा कमाने से नहीं चूक रहे हैं कुछ निजी अस्पताल। शर्मनाक है ये। लोग डर कर निजी अस्पताल जा रहे हैं और वहां से लुटकर बर्बाद होकर वापस आ रहे हैं। उम्मीद है सरकार बीमारी की मजबूरी का फायदा उठाने वालों पर लगाम कसेगी।

20-08-2020
CH / SHOWS
07:43pm

खरी खरी। कभी अनुशासित पार्टी कहलाने वाली भाजपा में बस अब अनुशासन ही नजर नहीं आता है। नजर आता है असंतोष और सिर्फ असंतोष। ऐसा लगता है सरकार जाने के बाद भाजपा बिना इंजन की गाड़ी हो गई है जिसके डिब्बे जिधर चाहे उधर मुड़ रहे हैं। पार्टी में सिर्फ और सिर्फ असंतोष नजर आता है। कार में आने जाने वाले कारकर्ताओं से दरी उठाने बिछाने वाले कार्यकर्ता बेहद नाराज हैं और अब आमने-सामने भी है। कार्यकर्ताओं की नाराजगी का खामियाजा भाजपा पिछले विधानसभा चुनाव में भुगत चुकी है और अगर अब भी नहीं सुधरी तो छत्तीसगढ़ के लोकतंत्र के लिए मजबूत विपक्ष का भाव दुर्भाग्यजनक होगा