GLIBS

15-11-2019
मिशन 'गगनयान' के लिए तैयार हुआ भारत, चुना गया 12 यात्रियों को

नई दिल्ली। भारत के अंतरिक्ष में पहले मानव मिशन गगनयान के लिए 12 संभावित यात्रियों को चुना गया है। वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने गुरुवार को कहा कि इसरो के पहले मानव मिशन गगनयान के लिए अंतरिक्ष यात्रियों का चुनाव पेशेवर तरीके से किया जा रहा है। बंगलूरू में आयोजित इंडियन सोसाइटी फॉर एयरोस्पेस मेडिसिन (आईएसएएम) के 58वें वार्षिक सम्मेलन के उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए एयर चीफ मार्शल ने कहा कि संभावित अंतरिक्ष यात्रियों के चयन की प्रक्रिया जारी है। मेरा मनना है कि यह बहुत ही पेशेवर तरीके से किया जाएगा। इसरो के साथ बढ़ते संवाद से स्वयं चयन प्रक्रिया के प्रति समझ बढ़ी है।

भारतीय वायुसेना की भूमिका के बारे में भदौरिया ने कहा कि टीम इसरो के साथ समन्वय कर रही है और अंतरिक्ष यान के डिजाइन के पहलुओं को देख रही है जैसे कि जीवन रक्षक प्रणाली, कैप्सूल का डिजाइन, साथ ही विमानन चिकित्सा प्रकोष्ठ यह सुनिश्चित कर रहा है कि इसरो चुनौती का सफलतापूर्वक सामना कर सफलता प्राप्त करे। सम्मेलन को संबोधित करते हुए वायुसेना के चिकित्सा सेवा के महानिदेशक एयर मार्शल एमएस बुटोला ने बताया कि गगनयान के लिए यात्रियों के चयन का पहला चरण पूरा हो गया है और संभावित अंतरिक्ष यात्रा के लिए वायुसेना के चुने गए कुछ चालक दल सदस्यों का रूस में प्रशिक्षण भी पूरा हो गया है। उन्होंने कहा कि जो काम उन्हें दिया गया था उसे समयबद्ध तरीके से पूरा किया गया है। 

एक अधिकारी के मुताबिक, वायुसेना के 12 लोगों को गगनयान परियोजना के लिए संभावित यात्री के रूप में चुना गया है और इनमें से सात प्रशिक्षण के लिए रूस गए हैं। पहचान जाहिर नहीं करते हुए अधिकारी ने कहा कि रूस गए सात संभावित अंतरिक्ष यात्रियों के वापस आने के बाद चुने गए शेष संभावित यात्रियों को प्रशिक्षण के लिए भेजा जाएगा। गगनयान भारत का पहला मानव अंतरिक्ष मिशन है जिसे इसरो द्वारा दिसंबर 2021 तक प्रक्षेपित करने का लक्ष्य रखा गया है। इसरो भारतीय वायुसेना के साथ मिलकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सपने को पूरा करने के लिए काम कर रहा है। अंतरिक्ष यात्रियों को पृथ्वी की निचली कक्षा में भेजा जाएगा और यान में पर्याप्त ऑक्सीजन और गगनयान के यात्रियों के लिए जरूरी अन्य सामान के साथ कैप्सूल जुड़ा होगा। पहले गगनयान यात्रियों के लिए अधिकतम आयु सीमा 30 साल रखी गई थी लेकिन इस आयु वर्ग का कोई भी पायलट शुरुआती परीक्षा उत्तीर्ण नहीं कर सके जिसके बाद अधिकतम उम्र 41 साल कर दी गई।

 

03-11-2019
बंद करने जा रहा है इंस्टाग्राम ये ऐप, यह है कारण...

नई दिल्ली। इंस्टाग्राम यूजर्स के लिए एक बड़ी खबर निकलकर सामने आई है। अगर आप भी इंस्टाग्राम का यूज ज्यादा करते हैं तो यह खबर आपके लिए ही है। फेसबुक के अधिग्रहण वाला इंस्टाग्राम सोशल मीडिया नियमों का उल्लंघन करने पर लाइक पेट्रोल नाम की एक ऐप को बंद करने जा रहा है। रिपोर्ट के मुताबिक जिन लोगों ने उस ऐप को डाउनलोड किया है, उन्हें ये ऐप बाकी यूज़र्स की एक्टिविटी की जानकारी देता था। रिपोर्ट के अनुसार, इंस्टाग्राम ने अपने नियमों का उल्लंघन करने पर ऐप को बंद करने का आदेश भेज दिया है। इसके बाद उम्मीद है कि लाइक पेट्रोल डेटा इकट्ठा नहीं कर पाएगा और पब्लिशर्स को ऐप बंद करना पड़ेगा। फेसबुक के एक प्रवक्ता ने बताया, हमारी नीतियों का उल्लंघन करने में शामिल कंपनियों पर हम कार्रवाई करते हैं। लाइक पेट्रोल यूजर्स के डेटा को चुरा रहा था, इसलिए हम उसके खिलाफ उचित कार्रवाई कर रहे हैं।'

इससे पहले अक्टूबर में इंस्टाग्राम ने अपने फॉलोविंग टैब को खत्म कर दिया था। यह टैब उन पोस्ट्स और अकाउंट्स की जानकारी देता था जिनसे उनके फ्रेंड्स जुड़े हैं। इंस्टाग्राम ने अपने एक्सप्लोर टैब को 2011 में एक शुरुआती फीचर के रूप में अपना 'फॉलो' टैब लॉन्च किया था। इसके अलावा इंस्टाग्राम ने हाल ही में रेस्ट्रिक्ट नाम का एक नया मोड भी पेश किया है। इससे यूज़र्स उन लोगों पर रोक लगा सकेंगे जो उनके खिलाफ आपत्तिजनक कमेंट्स करते हैं।

02-11-2019
इसरो प्रमुख ने कहा, विक्रम लैंडर की कार्य योजना पर कर रहे हैं काम

नई दिल्ली। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के प्रमुख के. सिवन ने कहा है कि वे विक्रम लैंडर की लैंडिंग के लिए कार्य योजना पर काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हम विक्रम लैंडर की लैंडिंग के लिए प्रौद्योगिकी प्रदर्शित करना चाहते हैं। इसरो के 50 साल पूरे होने के मौके पर सिवन ने आईआईटी दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम में यह बात कही। सिवन ने कहा कि आप सभी लोग चंद्रयान-2 मिशन के बारे में जानते हैं। तकनीकी पक्ष की बात करें तो यह सच है कि हम विक्रम लैंडर की सॉफ्ट लैंडिंग नहीं करा पाए, लेकिन पूरा सिस्टम चांद की सतह से 300 मीटर दूर तक पूरी तरह काम कर रहा था। हमारे पास बेहद कीमती डेटा उपलब्ध है। मैं भरोसा दिलाता हूं कि भविष्य में इसरो अनुभव और तकनीकी दक्षता के माध्यम से सॉफ्ट लैंडिंग का हरसंभव प्रयास करेगा। चंद्रयान-2 कहानी का अंत नहीं है। हमारा आदित्य एल 1 सोलर मिशन, ह्यूमन स्पेसफ्लाइट प्रोग्राम ट्रैक पर है। हम कई एडवांस सैटेलाइट्स को लॉन्च करने वाले हैं। एसएसएलवी दिसंबर-जनवरी में उड़ान भरेगा। 200 टन सेमी-क्रायो इंजन की टेस्टिंग और मोबाइल पर एनएवीआईसी सिग्नल भेजने पर भी जल्दी ही काम शुरू हो जाएगा। 

01-11-2019
बीएसएनएल ने दिया जिओ को बड़ा झटका, कॉल करने पर ग्राहकों को देगा पैसा

नई दिल्ली। रिलायंस जिओ ने हाल में अन्य नेटवर्क पर कॉल करने पर 6 पैसे प्रति मिनट चार्ज (आईयूसी) की घोषणा की। इसके बाद एयरटेल और वोडाफोन ने इसे मौके की तरह लेते हुए ग्राहकों से आईयूसी न लेने का ऐलान किया। अब सरकारी कंपनी बीएसएनएल ने इससे भी एक कदम आगे की घोषणा की है। बीएसएनएल अपने यूजर्स को हर 5 मिनट की वॉइस कॉल पर 6 पैसे देगा।

बीएसएनएल ने कहा है कि वह प्रत्येक 5 मिनट की वॉइस कॉल के लिए ग्राहक के खाते में 6 पैसे क्रेडिट करेगा। कंपनी से यह कैशबैक देश भर में सभी बीएसएनएल वायरलाइन, ब्रॉडबैंड और एफटीटीएच ग्राहकों को मिलेगा। बीएसएनएल ने यह घोषणा ऐसे समय में की है, जब आईयूसी का मामला चल रहा है। ऐसे में माना जा रहा है कि इससे कंपनी को नए ग्राहकों के रूप में फायदा मिल सकता है।

रिलायंस जियो को एक बार फिर झटका

बीएसएनएल की इस घोषणा के बाद रिलायंस जियो को एक बार फिर झटका लगा है। अग्रेसिव ऑफर की वजह से पिछले दो साल से ज्यादा समय से देश के टेलिकॉम मार्केट में जियो का दबदबा रहा। हालांकि, हाल में जियो से अन्य नेटवर्क पर कॉल करने के पर प्रति मिनट 6 पैसे आईयूसी की घोषणा के बाद इसके काफी ग्राहकों में नाराजगी देखने को मिली है। जियो की आईयूसी की घोषणा के बाद एयरटेल और वोडाफोन ने यह चार्ज नहीं लगाने का ऐलान किया। रिपोर्ट्स में कहा गया है कि आईयूसी लगाने के बाद जियो के काफी प्रीपेड कस्टमर्स अन्य नेटवर्क के साथ चले गए हैं। अब बीएसएनएल की इस नई घोषणा से जियो के ग्राहक इस नेटवर्क के साथ आ सकते हैं।

26-10-2019
फेसबुक यूजर्स अब अलग-अलग श्रेणियों में पढ़ सकेंगे खबर, जाने कैसे

 

नई दिल्ली। सोशल साइट फेसबुक ने अपनी समाचार सेवा शुरू कर दी है। इसके लिए उसने कुछ चुनिंदा समाचार प्रकाशित करने वाले संस्थानों से साझेदारी की हैं। इस सेवा के लिए फेसबुक एक अलग और नया न्यूज टैब देगी। फिलहाल यह सेवा यूनाइटेड स्टेट्स में केवल 2 लाख उपयोगकर्ताओं को दी जाएगी, ताकि इसका परीक्षण किया जा सके। जानकारी के अनुसार इस सेवा को अभी चार प्रकाशन श्रेणी के साथ शुरू किया गया है। यह श्रेणियां हैं सामान्य, सामयिक, विविध और सथानीय समाचार हैं। फेसबुक अपने न्यूज सर्विस के शुरुआत में द न्यू यॉर्क टाइम्स, द लॉस एंजलिस टाइम्स, ब्लूमबर्ग मीडिया, यूएसए टुडे पब्लिशर गैनेट कॉर्पोरेश जैसे न्यूज वेबसाइटों को लाइसेंस फीस देगा। इसके साथ ही कंपनी 200 न्यूज साइट्स एड करने पर विचार कर रही हैं।

कैसे दिखेंगे आर्टिकल्स?

फेसबुक के पेज पर साइंट ऐंड टेक, स्पोर्टर्स, एंटरटेनमेंट, बिजनेस, हेल्थ जैसे अन्य सेक्शन्स होंगे। यूजर्स को इस प्लेटफॉर्म में न्यूज सब्सक्रिप्शन को खरीदने की सुविधा मिलेगी। सोशल मीडिया कंपनी इन सेक्शन्स के लिए अपनी एक टीम रखेगी, जो दिनभर की महत्वपूर्ण खबरों को चिन्हित करेंगे।

मकसद है सही खबरें यूजर्स तक पहुंचें

फेसबुक के संस्थापक मार्क जकरबर्ग ने 'क्वॉलिटी जर्नलिज्म' को बढ़ावा देने के लिए फेसबुक न्यूज सेक्शन्स की शुरुआत की है। मार्क के इस कदम से सोशल मीडिया पर फेक न्यूज पर रोक लगेगी। उम्मीद की जा रही है कि फेसबुक का न्यूज सेक्शन सही खबरें यूजर्स तक पहुंचाएगा।  

18-10-2019
साउंड वन ने लॉन्च किया टू इन वन इयरफोन, इन तरीकों से कर सकेंगे इस्तेमाल

नई दिल्ली। ऑडियो डिवाइस बनाने वाली कंपनी साउंड वन ने पिछले कई महीनों में कई अच्छे प्रोडक्ट बाजार में पेश किए हैं। इस कड़ी में साउंड वन ने भारतीय बाजार में एक अनोखा ब्लूटूथ नेकबैंड इयरफोन लॉन्च किया है। साउंड वन ने डिटैचबल ब्लूटूथ इयरफोन पेश किया है। यानी इस ब्लूटूथ इयरफोन को तार और बिना तार दोनों तरीके से इस्तेमाल किया जा सकेगा। उदाहरण के तौर पर यदि इस वायरलेस इयरफोन की बैटरी खत्म हो जाती है तो उसके बाद आप इसे एक ऑक्स केबल के जरिए तारे वाले इयरफोन की तरह इस्तेमाल कर सकेंगे। कंपनी ऑक्स केबल साथ में देगी।

साउंड वन के इस अनोखे इयरफोन के बड्स में 3.5एमएम का हेडफोन जैक दिया गया है जिसमें ऑक्स का इस्तेमाल किया जा सकेगा। इस ब्लूटूथ इयरफोन के फीचर्स की बात करें तो इसमें ब्लूटूथ 5.0 वर्जन है। ऐसे में कनेक्टिविटी अच्छी रहेगी। इसमें 110mAh की पॉलिमर बैटरी है जिसे लेकर फुल वॉल्यूम पर 8 घंटे के बैकअप का दावा किया गया है। इसके अलावा इसे स्वेट और वाटर रेसिस्टेंट के लिए IPX5 की रेटिंग मिली है। इसमें माइक भी है और इसकी कीमत 2,990 रुपये है लेकिन ऑफर के तहत इसे 1,690 रुपये में अमेजन या फ्लिपकार्ट से खरीदा जा सकता है। इसके साथ एक साल की वारंटी भी मिल रही है।

 

04-10-2019
गूगल ने प्राइवेसी कंट्रोल के लिए जारी किए नए टूल्स, यूजर्स को होगा फायदा

नई दिल्ली। टेक जाइंट गूगल ने यूजर्स की प्राइवेसी को ध्यान में रखते हुए नए टूल्स जारी किए हैं। इन टूल के जरिए यूजर्स गूगल से जुड़ी हुई ऐप्स और वेबसाइट्स पर अपने डेटा हिस्ट्री को कंट्रोल कर पाएंगे। नए टूल्स की मदद से गूगल की कोशिश यूजर्स के डेटा को पहले से ज्यादा सुरक्षित करने की है।

पॉसवर्ड चेक अप टूल

गूगल का नया पॉसवर्ड चेक अप टूल Chrome में सेव किए गए सभी पॉसवर्ड्स को ऑडिट करेगा। इस टूल को इस्तेमाल करने पर यूजर्स को मालूम चल जाएगा कि उनका अकाउंट किसी और जगह तो इस्तेमाल नहीं हो रहा है। इसके अलावा इस टूल से एक यूजर्स का कोई पॉसवर्ड ब्रेक हुआ होगा तो उसकी जानकारी भी मिल जाएगी। रिपोर्ट के मुताबिक ऑनलाइन दुनिया में एक यूजर्स के पास एवरेज 27 अकाउंट हैं। अगर आपको सभी अकाउंट्स के पॉसवर्ड्स Chrome में सेव हैं तो आप एक क्लिक में ही उन्हें सुरक्षा को चेक कर सकते हैं। इसके अलावा गूगल ने यूजर्स को सभी अकाउंट्स के लिए अलग-अलग पॉसवर्ड रखने की ऐडवाइस भी दी है।

तीन और नए टूल लॉन्च

गूगल ने अपने प्लेटफॉर्म को इंटरनेट पहले से ज्यादा सुरक्षित बनाने के लिए तीन और टूल भी लॉन्च किए हैं। गूगल असिस्टेंट में यूजर्स को अपना सब डेटा हिस्ट्री क्लियर करने का मौका मिलेगा। इतना ही नहीं यूजर्स गूगल असिस्टेंट में 7 दिन पहले के अपने डेटा की हिस्ट्री भी क्लियर कर सकते हैं। हालांकि यूजर्स को यह नया फीचर मिलने में अभी कुछ दिन का वक्त लगेगा। गूगल My Activity के पेज पर यूजर्स को इस नए फीचर को इस्तेमाल करने की जानकारी दी जाएगी। गूगल मेप्स पर अब कंपनी यूट्यूब और क्रोम की तरह इन्सोगिनतो मोड देने जा रही है। इन्सोगिनतो मोड मिलने के बाद यूजर्स के पास गूगल मेप्स पर अपने एक्टिविटी को टर्न ऑफ करने का विकल्प मिलेगा। जो भी यूजर्स यह चाहता है कि गूगल को आपकी एक्टिविटी का डेटा नहीं मिले वह इन्सोगिनतो मोड को ऑन कर सकता है। एंड्रायड यूजर्स को यह फीचर आने वाले कुछ हफ्तों में मिलने की संभावना है। इसके अलावा गूगल का एक और नया फीचर यूजर्स को अपना लोकेशन डेटा, ब्राउजिंग हिस्ट्री और ऐप्स की एक्टिविटी को अपने आप डिलीट करने का विकल्प देगा। यह फीचर पहले एंड्रायड के यूट्यूब प्लेटफॉर्म पर काम करेगा। यूजर्स डेटा हिस्ट्री को डिलीट करने के लिए एक निश्चित समय भी सेट कर सकते हैं।

28-09-2019
फेसबुक ने किया बदलाव, अब साइट पर नहीं दिखेगा ये फीचर.......

नई दिल्ली। सोशल मीडिया साइट फेसबुक पर कोई भी फोटो या वीडियो पोस्ट करने के बाद यूजर को उस पर मिलने वाले लाइक का इंतजार रहता है। हालांकि, फेसबुक अब इस फीचर को बंद करने जा रहा है। मिली जानकारी के अनुसार अब फेसबुक पर डाली गई आपकी पोस्ट पर आपके फ्रेंड्स आपकी पोस्ट पर आने वाले लाइक या कोई भी रिएक्शन की संख्या नहीं देख पाएंगे। लेकिन आप खुद अपने पोस्ट पर आने वाले लाइक की संख्या देख सकेंगे।
फेसबुक ने ऑस्ट्रेलिया में इस नए फीचर का ट्रायल शुरू भी कर दिया है। 27 सितंबर से इस पर प्रोटोटाइप प्रोजेक्ट शुरू किया जाएगा। इसके बाद पोस्ट करने वाला व्यक्ति ही लाइक्स और रिऐक्शन्स के काउंट देख सकेगा बाकी के लोग नहीं देख सकेंगे। टेक क्रंच की रिपोर्ट के अनुसार फेसबुक के प्रवक्ता ने कहा कि कंपनी 27 सितंबर से लाइक्स के काउंट को ऑस्ट्रेलिया में हटाएगी और अगर यह सफल रहता है तो इसे सबके लिए कर दिया जाएगा।
बता दें कि इंस्टाग्राम भी यूजर्स के पोस्ट पर लाइक्स हाइड करने के लिए एक प्रोटोटाइप डिजाइन पर काम कर रहा है। इंस्टाग्राम का प्रोटोटाइप डिजाइन यूजर्स के पोस्ट से लाइक्स काउंट को छिपा देगा। इसे कनाडा में शुरू किया गया था लेकिन इसके बाद इसे 6 और भी देशों में बढ़ा दिया गया था। इसे हटाने के पीछे कंपनी का मानना है कि लोगों में लाइक के आधार पर प्रसिद्धि वाली धारणा न बने। जिस यूजर ने पोस्ट शेयर किया होगा, वह तो लाइक्स देख पाएगा, लेकिन बाकी यूजर नहीं देख पाएंगे कि उस पोस्ट पर कितने लाइक्स आए हैं।
इंस्टाग्राम की ओर से कहा गया है कि इस टेस्ट के दौरान केवल पोस्ट शेयर करने वाला यूजर ही देख पाएगा कि उसे कुल कितने लाइक्स मिले हैं। फिलहाल यह इंटरनल टेस्टिंग प्रोटोटाइप है और सभी यूजर्स के लिए उपलब्ध नहीं है। प्रोटोटाइप में पोस्ट के पास ही एक 'view likes' का बटन भी ऐड किया गया है और कहा जा रहा है कि यह बटन पोस्ट शेयर करने वाले यूजर को ही मिलेगा।

18-09-2019
फेसबुक ने भारतीय यूजर्स को दिया तोहफा, ‘स्टोरीज’ में किया ये बदलाव

नई दिल्ली। फेसबुक ने अपने भारतीय यूजर्स को एक नया तोहफा दिया है। अब भारत में भी यूजर्स अपने फेसबुक और इंस्टाग्राम प्रोफाइल के ‘स्टोरीज’ सेक्शन में संगीत को जोड़ पाएंगे। अभी तक इस सेक्शन में अपने वीडियो और फोटो को 24 घंटे के लिए जोड़ने की सुविधा ही यूजर्स को मिली हुई थी। फेसबुक ने  जारी बयान में कहा, हम भारत में लोगों को फेसबुक और इंस्टाग्राम पर अपनी भावनाएं संगीत के जरिए पेश करने का नया रास्ता दे रहे हैं। अब वे अपनी स्टोरीज में म्यूजिक स्टिकर्स और अपने फेसबुक प्रोफाइल में अन्य क्रिएटिव तरीकों जैसे, गानों के बोल, लिप सिंक लाइव और पसंदीदा गाने जोड़ सकते हैं। इसी के साथ फेसबुक पर संगीत सुविधा पाने वाला भारत दुनिया का 55वां देश बन गया है। फिलहाल यूजर्स अपनी स्टोरीज में हालिया रिलीज कबीर सिंह फिल्म का बेख्याली गाना और नब्बे के दशक की मशहूर आशिकी फिल्म का बस इक सनम चाहिए गाना अपलोड कर सकते हैं।

जल्द ही अन्य गाने भी स्टोरीज सेक्शन के लिए उपलब्ध हो जाएंगे। फेसबुक इंडिया के निदेशक व पार्टनरशिप हेड मनीष चोपड़ा ने कहा, हमने इस नए उत्पाद को प्रचलित बनाने के लिए भारतीय म्यूजिक कम्युनिटी के साथ साझेदारी की है। बता दें कि इस साल के शुरू में फेसबुक ने टी-सीरीज म्यूजिक, जी म्यूजिक कंपनी और यशराज फिल्मस के संगीत का फेसबुक और इंस्टाग्राम पर उपयोग करने के लिए उनके साथ साझेदारी करने की घोषणा की थी। यूजर्स को इस म्यूजिक फीचर का उपयोग करने के लिए फेसबुक या इंस्टाग्राम पर जाकर कैमरा ऑन करना होगा या कोई भी एक फोटो या वीडियो अपने मोबाइल या डेस्कटॉप से चुनने के बाद उसमें म्यूजिक स्टिकर जोड़ना होगा। म्यूजिक स्टिकर के जरिए गाना चुनने के बाद यूजर्स यह भी चुन पाएंगे कि उन्हें अपनी स्टोरी पर गाने के कौन से हिस्से को चलाना चाहते हैं। साथ ही वह गायक का नाम और गाने का टाइटल भी स्टोरीज में जोड़ पाएंगे। इसके अलावा टिकटॉक एप की तर्ज पर लिप सिंक लाइव फीचर के जरिए फेसबुक यूजर्स किसी भी गाने को खुद ही गाने का अभिनय करते हुए भी वीडियो अपलोड कर पाएंगे।

 

16-09-2019
मोटोरोला आज भारत में लॉन्च करेगा टीवी और स्मार्टफोन मोटो E6S

 

नई दिल्ली। चीनी टेक कंपनी लेनेवो की सब्सिडयरी मोटोरोला भारत में आज टीवी लॉन्च करने की तैयारी में है। कंपनी ने इसके लिए ई-कॉमर्स वेबसाइट फ्लिपकार्ट के साथ पार्टनर्शिप की है। आज इसे भारत में लॉन्च किया जाएगा। मोटोरोला टीवी के बारे में बात करें तो फिलहाल ये साफ नहीं है कि इस टीवी में क्या नई खासियत होगी। हालांकि इतना तय है कि ये ये स्मार्ट टीवी होगा और एंड्राइड बेस्ड ऑपरेटिंग सिस्टम पर चलेगा। इसे फुल एचडी या 4K रेज्योलुशन के साथ कंपनी लॉन्च कर सकती है। मोटोरोला टीवी के अलावा आज दोपहर 12 बजे कंपनी भारत में एक नया स्मार्टफोन भी लॉन्च कर रही है। मोटो E6S को भारत में आज पेश किया जाएगा। ये बजट स्मार्टफोन है और इसे पहले मोटो E6 प्लस के नाम से दूसरे देशों में लॉन्च किया जा चुका है। मोटो E6S के स्पेसिफिकेशन्स की बात करें तो इस स्मार्टफोन में 6.1 इंच की एचडी प्लस डिस्प्ले है और इसमें मीडियाटेक हेलिओ P22 ऑक्टाकोर प्रोसेसर दिया गया है।

इस स्मार्टोफोन में 4GB रैम है और ये एंड्राइड 9 Pie पर चलता है। मोटो E6S में डुअल रियर कैमरा दिया गया है। प्राइमरी सेंसर 13 मेगापिक्सल का है, जबकि दूसरा सेंसर 2 मेगापिक्सल का है और डेप्थ सेंसिंग के लिए है। सेल्फी के लिए इस स्मार्टफोन में 8 मेगापिक्सल का फ्रंट कैमरा दिया गया है। इस स्मार्टफोन में 3,000mAh की बैटरी है और इसमें रियर फिंगरप्रिंट स्कैनर दिया गया है। मोटो E6S की कीमत भारत में क्या होगी फिलहाल साफ नहीं है। लेकिन कंपनी ने मोटो E6 Plus को लैटिन अमेरिका में 139 यूरो में लॉन्च किया था। इसे भारतीय रुपये में तब्दील करें तो ये 11000 रुपये होता है। उम्मीद की जा सकती है इसे भारत में कंपनी 10000 रुपये के अंदर लॉन्च करेगी।

11-09-2019
आईफोन 11, 11 प्रो और 11 प्रो मैक्स लॉन्च, 13 सितंबर से शुरू होगी बुकिंग, जानिए कीमत....

नई दिल्ली। दिग्गज टेक्नोलॉजी कंपनी एपल ने मेगा इवेंट के दौरान Apple के तीन नए आई फोन्स लॉन्च किए हैं। इसमें iPhone 11, iPhone 11 Pro और iPhone 11 Pro Max। इन तीनों की बिक्री भारत में 20 सितंबर से शुरू होगी। इसके लिए 13 सितंबर से प्री बुकिंग भी करा सकते हैं। कंपनी ने कीमतों का भी ऐलान कर दिया है।

शुरुआती कीमत 64,990 रुपये
इंडियन मार्केट में आई फोन 11 की शुरुआती कीमत 64,990 रुपए है, इसकी इंटरनल स्टोरेज 64 जीबी है। इसके अलावा आई फोन 11 दो अन्य वेरिएंट 128 जीबी और 256 जीबी (GB) इंटरनल स्टोरेज के साथ भी आएगा। आईफोन11, 6 कलर ऑप्शन पर्पल, व्हाइट, ग्रीन, यलो, ब्लैक और रेड कलर में उपलब्ध होगा। फोन का प्री-ऑर्डर 30 देशों में 13 सितंबर से शुरू होगा। फोन की बिक्री 20 सितंबर से शुरू होगी, वहीं इंडिया में यह 27 सितंबर से शुरू होगी।

4 घंटे ज्यादा बैटरी लाइफ मिलेगी
एपल ने नए आई फोन की बैटरी लाइफ भी बेहतर दी है। आई फोन 11 प्रो में आई फोन XS के मुकाबले 4 घंटे ज्यादा बैटरी लाइफ मिलेगी। इसी तरह आई फोन 11 प्रो मैक्स में  आई फोन XS Max के मुकाबले 5 घंटे ज्यादा बैटरी लाइफ होगी। आई फोन 11 Pro में 5.8 इंच का डिस्प्ले होगा। वहीं आई फोन Pro Max में 6.5 इंच का डिस्प्ले होगा। आई फोन 11 Pro की शुरुआती कीमत 99,900 रुपये होगी। जबकि आई फोन 11 Pro Max की शुरुआती कीमत 1,09,900 रुपये है।

आई फोन 11 स्पेशिफिकेशन
आई फोन 11 में 6.1 इंच का लिक्विड रेटिना डिस्प्ले दिया गया है। नया आईफोन 11 आईवोएस 13 पर रन करता है। कंपनी ने आई फोन 11 के रियर में 2 कैमरे दिए हैं। आई फोन 11 में 12 मेगापिक्सल का ट्रूडेफ्थ वाइडर सेंसर दिया गया है। फोन में वायरलेस चार्जिंग की सुविधा मिलेगी। यह 2 मीटर तक वाटर रेजिस्टेंट होगा। इसमें तेज फेस अनलॉक होगा और यह वाई फाई 6 को सपोर्ट करेगा।

आई फोन 11 Pro के फीचर्स
आई फोन 11 Pro में 5.8 इंच का डिस्प्ले दिया गया है। आई फोन 11 Pro भी मिडनाइट ग्रीन, स्पेस ग्रे, सिल्वर/व्हाइट और गोल्ड कलर में मिलेगा। भारत में इसके 64 GB वाले बेस वेरिएंट की कीमत 99,900 रुपए से शुरू हो रही है। कंपनी की तरफ से फोन 256 GB और 512 GB वाला वेरिएंट भी उपलब्ध कराया जाएगा। आई फोन 11 Pro मिडनाइट ग्रीन, स्पेस ग्रे, सिल्वर/व्हाइट और गोल्ड कलर में मिलेंगे।

08-09-2019
इसरो ने माना-चांद से टकराया था 'विक्रम लैंडर', नुकसान होने का डर!

नई दिल्ली। चंद्रयान-2  के विक्रम लैंडर  को इसरो ने चांद की सतह पर खोज निकाला है। इसके साथ ही रविवार को इसरो प्रमुख के सिवन ने कहा है कि देखकर लगता है कि विक्रम लैंडर जाकर चांद की सतह से टकरा गया है। इसके साथ उन्होंने यह भी स्वीकार कर लिया है कि विक्रम लैंडर की प्लान की गई लैंडिंग सॉफ्ट नहीं रही। उन्होंने कहा है कि हां, हमने चांद की सतह पर लैंडर को ढूंढ लिया है। यह जरूर चांद की सतह पर तेजी से गिरा होगा। इसके बाद जब इसरो चीफ के सिवन से पूछा गया कि क्या तेजी से चांद से टकराने के चलते लैंडर को नुकसान पहुंचा है, जिस पर सिवन ने कहा है कि वे अभी इस बात को नहीं जानते हैं। लेकिन कई अंतरिक्ष जानकारों का कहना है कि तेजी से चांद से टकराने के चलते विक्रम लैंडर को हुए नुकसान की बात से इंकार नहीं किया जा सकता है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि रोवर प्रज्ञान अभी भी लैंडर के अंदर है। यह बात चंद्रयान-2 के ऑनबोर्ड कैमरे के जरिए खींची गई लैंडर की तस्वीर को देखकर पता चलती है। साथ ही इसरो ने यह भी बताया कि चंद्रयान 2 का ऑर्बिटर जो कि पूरी तरह से स्वस्थ, सुरक्षित और सही तरह से काम कर रहा है, चंद्रमा के चक्कर लगातार लगा रहा है। इससे पहले बेंगलुरू स्थित इसरो के हेडक्वार्टर की ओर से यह बयान भी जारी किया गया था कि ऑर्बिटर का कैमरा सबसे ज्यादा रिजोल्यूशन वाला कैमरा है। जो अभी तक किसी भी चंद्र मिशन में इस्तेमाल हुए कैमरे से ज्यादा अच्छी रिजोल्यूशन वाली तस्वीर खींच सकता है। यह तस्वीरें अंतरराष्ट्रीय विज्ञान समुदाय के लिए बहुत ज्यादा काम की हो सकती हैं।

 

Please Wait... News Loading