GLIBS

16-10-2018
Doordarshan: राष्ट्रीय एवं मान्यता प्राप्त प्रादेशिक दलों को प्रचार के लिए दूरदर्शन-आकाशवाणी पर मिलेगा निःशुल्क समय 

रायपुर। 16 अक्टूबर को भारत निर्वाचन आयोग ने राष्ट्रीय और मान्यता प्राप्त प्रादेशिक राजनीतिक दलों को प्रचार के लिए दूरदर्शन और आकाशवाणी पर निःशुल्क प्रसारण समय उपलब्ध कराने के लिए दिशा-निर्देश जारी किए हैं। जनप्रतिनिधित्व अधिनियम-1951 के संशोधित प्रावधानों के अनुसार सभी मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों को केन्द्र सरकार के इलेक्ट्रॉनिक प्रसारण माध्यमों (दूरदर्शन एवं आकाशवाणी) पर प्रचार के लिए समान समय उपलब्ध कराए जाने का प्रावधान है। इस अधिनियम के तहत छत्तीसगढ़ में भी आगामी विधानसभा निर्वाचन के दौरान राष्ट्रीय और मान्यता प्राप्त प्रादेशिक दलों को सार्वजनिक (शासकीय) क्षेत्र के प्रसारणकर्ता प्रसार भारती निगम द्वारा प्रचार के लिए निःशुल्क समय उपलब्ध कराया जाएगा। प्रदेश में राजनीतिक दलों को प्रचार की यह सुविधा दूरदर्शन और आकाशवाणी के क्षेत्रीय प्रसारण केन्द्रों तथा राजधानी स्थित प्रसारण केन्द्र से दी जाएगी। इसे छत्तीसगढ़ में स्थित दूरदर्शन और आकाशवाणी के अन्य रिले केन्द्र भी प्रसारित करेंगे। 

प्रसारण की तिथि एवं समय

सभी राष्ट्रीय दलों और छत्तीसगढ़ में मान्यता प्राप्त प्रादेशिक दलों को दूरदर्शन और आकाशवाणी के क्षेत्रीय नेटवर्क पर प्रचार के लिए प्रारंभिक तौर पर 45 मिनट की एक समान अवधि उपलब्ध करायी जाएगी। राजनीतिक दलों द्वारा पिछले विधानसभा निर्वाचन में किए गए प्रदर्शन के आधार पर उन्हें अतिरिक्त समय आबंटित की जाएगी। प्रसारण के लिए एक बार में 15 मिनट से अधिक का समय नहीं दिया जाएगा। राजनीतिक दलों को दूरदर्शन और आकाशवाणी पर प्रचार के लिए समय पहले चरण के मतदान के लिए नामांकन भरने के अंतिम दिन से लेकर प्रत्येक चरण के मतदान के दो दिन पहले तक दिया जाएगा। प्रसार भारती निगम भारत निर्वाचन आयोग के परामर्श से प्रचार के लिए वास्तविक तिथि एवं समय का निर्धारण करेगा। प्रसारण की तिथि और समय दूरदर्शन एवं आकाशवाणी के संचालन की तकनीकी सीमाओं तथा वहां उपलब्ध प्रसारण समय के आधार पर तय होगा।

प्रसारण से पहले जमा कराना होगा ट्रांस्क्रिप्ट

राजनीतिक दलों को दूरदर्शन और आकाशकाणी पर प्रचार के लिए आयोग द्वारा निर्धारित मापदंडों का कड़ाई से पालन करना होगा। प्रसारण के लिए रिकॉर्डिंग एवं उसकी ट्रांसक्रिप्ट (अनुलिपि) पहले ही जमा कराना होगा। दल प्रसारण सामग्री (विषयवस्तु) की रिकॉर्डिंग स्वयं के व्यय पर प्रसार भारती निगम या दूरदर्शन/आकाशवाणी द्वारा निर्धारित तकनीकी गुणवत्ता के साथ किसी स्टूडियो में करा सकते हैं। वैकल्पिक रूप से वे इसकी रिकॉर्डिंग दूरदर्शन एवं आकाशवाणी से निवेदन कर राजधानी में स्थित उनके स्टूडियो में भी करा सकते हैं।

परिचर्चा एवं वाद-विवाद का आयोजन

प्रसार भारती निगम प्रचार के लिए समय देने के साथ ही दूरदर्शन और आकाशकाणी पर अधिकतम दो परिचर्चाओं एवं/या वाद-विवाद (Panel Discussion and Debate) का आयोजन भी करेगा। सभी पात्र राजनीतिक दल इन कार्यक्रमों के लिए अपना एक प्रतिनिधि नामांकित कर सकते हैं। भारत निर्वाचन आयोग प्रसार भारती निगम से परामर्श कर इन परिचर्चाओं एवं वाद-विवाद के लिए समन्वयकों (Coordinators) के नाम निर्धारित करेगा।

प्रसारण के लिए अनिवार्य दिशा-निर्देश

आयोग ने प्रसारण की विषयवस्तु के लिए राजनीतिक दलों को कड़े दिशा-निर्देश दिए हैं। प्रचार के दौरान दूसरे देशों की आलोचना, धर्म या समुदाय पर हमला, भद्दा या मानहानिकारक, हिंसा को उकसाने वाले, अदालत की अवमाननाकारक, राष्ट्रपति एवं न्यायपालिका की निष्ठा के प्रति आक्षेप, राष्ट्र की एकता, संप्रभुता एवं अखंडता को प्रभावित करने वाले तथा किसी की व्यक्तिगत आलोचना वाली सामग्री की अनुमति नहीं होगी।

दलों को प्रचार हेतु प्रसारण के लिए आबंटित समय

दूरदर्शन और आकाशवाणी पर सभी राष्ट्रीय राजनीतिक दलों को प्रचार के लिए न्यूनतम 45-45 मिनट का प्रसारण समय देने के साथ ही पिछले विधानसभा निर्वाचन में उनके प्रदर्शन के आधार पर समय आबंटित किया गया है। राजधानी स्थित केन्द्र और क्षेत्रीय केन्द्रों से प्रसारण के लिए छत्तीसगढ़ में अखिल भारतीय तृणमूल कांग्रेस को कुल 45 मिनट, बहुजन समाज पार्टी को 61 मिनट, भारतीय जनता पार्टी को 194 मिनट, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी को 47 मिनट, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) को 45 मिनट, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस को 191 मिनट और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी को 46 मिनट का समय आबंटित किया गया है।

16-10-2018
CH / NEWS
09:12pm

नवरात्र प्रारंभ होते ही रास गरबा का आयोजन राजधानी में जगह- जगह चल रहा है। परंपरागत गुजराती गानों पर युवाओं से लेकर बड़ो ने सोमवार को देर रात राजधानी के  विभिन्न स्थानों पर रास गरबा किया । 
 

16-10-2018
Environment Protection: छत्तीसगढ़ पर्यावरण संरक्षण मंडल ने ज्यादा ध्वनि प्रदूषण वाले पटाखों पर लगाया प्रतिबंध

रायपुर। 16 अक्टूबर छत्तीसगढ़ पर्यावरण संरक्षण मंडल ने प्रदेश के सभी जिला कलेक्टरों और पुलिस अधीक्षकों को आगामी दीपावली को ध्यान में रखते हुए निर्धारित मानकों से ज्यादा ध्वनि प्रदूषण वाले पटाखों के उत्पादन और उनकी बिक्री पर प्रतिबंध लगाने के निर्देश दिए हैं, ताकि दीपावली पर्व के दौरान राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकरण के आदेश की अवमानना की स्थिति निर्मित न होने पाए।

पर्यावरण संरक्षण मंडल के अधिकारियों ने आज यहां बताया कि इस सिलसिले में मंडल की ओर से  जिला कलेक्टरों और पुलिस अधीक्षकों को परिपत्र जारी किया गया है। परिपत्र में कहा गया है कि रात्रि 10 बजे से सुबह 6 बजे पटाखे न फोड़े जाएं। पटाखों अथवा आतिशबाजी का समय सवेरे 6 बजे से रात 10 बजे निर्धारित किया गया है। अस्पताल, स्कूल, अदालत और धार्मिक स्थल जैसे अतिसंवेदनशील क्षेत्रों में इन संस्थाओं से कम से कम 100 मीटर की दूरी तक पटाखे न फोड़े जाए। सभी शिक्षण संस्थाओं में विद्यार्थियों को ध्वनि और वायु प्रदूषण तथा पटाखों के दुष्प्रभावों की भी जानकारी दी जाए। इसके साथ ही स्कूली बच्चों को शामिल करते हुए जनजागरण का भी अभियान चलाया जाए। पर्यावरण संरक्षण मंडल ने वायु प्रदूषण पर नियंत्रण रखने और ध्वनि मानकों का भी ध्यान रखने के निर्देश दिए हैं।

परिपत्र में यह भी बताया गया है कि यह कार्य पर्यावरण संरक्षण मंडल के अंतर्गत स्कूलों में गठित इकोक्लबों के माध्यम से भी किया जा सकता है। परिपत्र में कहा गया है कि दीपावली के पहले, दीपावली के दौरान और इस त्यौहार के बाद ध्वनि तथा वायु प्रदूषण का आंकलन करवाया जाए। परिपत्र में यह भी कहा गया है कि राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकरण की भोपाल स्थित मध्य क्षेत्रीय बेंच द्वारा 18 अप्रैल 2016 को इस आशय का निर्णय पारित किया गया है। इस सिलसिले में माननीय न्यायालय और ध्वनि प्रदूषण (विनियम और नियंत्रण) नियम 2000 के तहत जिला मजिस्ट्रेट, पुलिस अधीक्षक या ऐसा कोई अन्य अधिकारी, जो कम से कम डिप्टी कलेक्टर अथवा उप पुलिस अधीक्षक श्रेणी का हो, उसे ध्वनि के संबंध में परिवेशी वायु गुणवत्ता के मानकों की मॉनिटरिंग के लिए जिम्मेदार माना गया है।

16-10-2018
CH / NEWS
08:36pm

विधानसभा चुनाव के प्रथम चरण में 18 सीटों पर मतदान के लिए आज से अधिसूचना जारी करदी है। जिसके साथ प्रथम चरण के चुनाव के लिए उम्मीदवार नामांकन पत्र भरना शुरू कर दिए है।
 

16-10-2018
CH / NEWS
08:19pm

नवरात्रि का शुभ पर्व चल रहा है आइए आज आप को लेकर चलते है जिला गरियांबद और दर्शन करवाते है घने जंगलों और पहाड़ियों के बीच स्थापित माँ रमईपाठ - गादी माँ का दर्शन और बताएंगे यहां के अद्धभुत रहस्य.. देखिये संवाददाता शेख इमरान की खास रिपोर्ट । 

16-10-2018
Akhil Bharatiya Hindu : लोगों ने की भारत माता की आरती, कराया कन्या भोज, धर्म और राष्ट्र का लिया संकल्प

अम्बिकापुर। अखिल भारतीय हिंदू क्रांति दल महिला मोर्चा के द्वारा नवरात्रि के पावन पर्व पर  कन्या भोजन एवं भारत माता की आरती कराई गई।अखिल भारतीय हिन्दू  क्रान्ति दल महिला मोर्चा सरगुजा  द्वारा अंबिकापुर में नवरात्रि के पावन पर्व पर ममोल कोचेटा जी के नेतृत्व में माता रानी का भजन संध्या  करते हुए कन्या  भोजन का आयोजन करवाया गया एवं  अपने धर्म एवं राष्ट्र की रक्षा हेतु संकल्प लिया गया जिस में मुख्य रूप से ममोल कोचेटा, शारदा द्विवेदी जी, रानी मिश्रा जी, ज्योत्सना  जी के हाथों रक्तदान व छात्रों को निःशुल्क अध्यापन कार्य में भागीदारी सुनिश्चित करने हेतु विवेक दूबे एवं पियूष त्रिपाठि  को भी सामाजिक व चिकित्सा क्षेत्र में अभूतपूर्व योगदान के लिए सम्मानित किया गया।

इसी कड़ी में श्रीमती रमा बुधिया को साहित्य के क्षेत्र में टीवी में अपनी कविताओं के पठन हेतु सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में संभागीय मंत्री अजय चौबे, जिला अध्यक्ष आदित्य गुप्ता( पिंटू), विवेक दुबे ,पियूष त्रिपाठी, विद्युत ठेकेदार संतोष सिंह, पंकज गुप्ता, मनोज शुक्ला, शारदा द्विवेदी, रानी मिश्रा  ज्योत्सना जी, शीला जैन, नीलू बाला जान, डॉ अल्का पाण्डेय, ज्योत्स्ना,  विनीत, अहिल्या अग्रवाल, राजीव प्रसाद, आरना जैन, मीठी ताम्रकार, शौर्य सिन्हा, पीहू ताम्रकार सहित बड़ी  संख्या में बच्चे उपस्थित रहे। भारत माता की आरती के पश्चात कार्यक्रम का समापन किया गया।

16-10-2018
Assembly Elections: राजधानी पुलिस चुनाव के लिए पूरी तरह से तैयार: एसपी अमरेश मिश्रा

रायपुर। राजधानी पुलिस ने विधानसभा चुनाव के लिए अपनी तैयारी पूरी कर ली है। पुलिस चुनाव में अपनी सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए कार्रवाई भी की है। जिसमें प्रतिबंधात्मक कार्रवाई सहित मोटर व्हीकल एक्ट की कार्रवाई भी की गई है। वहीं शांतिपूर्ण चुनाव कराने के लिए राजधानी में लगातार फ्लैग मार्च भी की जा रही है।

बता दे कि एसपी अमरेश मिश्रा ने बताया कि प्रतिबंधात्मक कार्रवाई के दौरान अब तक राजधानी में जिलाबदर की 66 प्रकरणों में तीन को जिला बदर किया गया है एवं चार प्रकरणों में दंडित आरोपी को थाना में हाजरी देने को कहा गया है। इसके साथ ही सुरक्षा अधिनियम के तहत एक प्रकरण पेश किया गया है।

उन्होंने बताया कि राजधानी में आदतन अपराधी पर पुलिस के द्वारा की गई प्रतिबंधात्मक कार्रवाई में हिस्ट्रीशीटर के 318 प्रकरण में 103 पर कार्रवाई की गई है। 464 गुंडा बदमाश में से 224 पर अब तक की कार्रवाई की है। इस माह 7 हिस्ट्रीशीटर प्रस्तावित था और 223 गुंडा बदमाश की सूची जारी की गई है। इसके साथ-साथ अवैध शराब के 347 प्रकरण में से 605 लीटर जब्त किया गया है जिसकी कीमत करीब 2 लाख 52 हजार 720 रुपये के आसपास है। इसी तरह मोटर एक्ट व्हीकल के तहत 18 हजार 755 प्रकरणों में यातायात पुलिस ने 61 लाख 11 हजार 100 रुपए जुर्माना वसूला गया है।  वहीं पुलिस ने अब तक 7728 वारंट तामिल कर चुकी है।

16-10-2018
NIA : टेरर फंडिंग से बन रही पलवल में मस्जिद: एनआईए 

पलवल। जिले के उटावड़ गांव में बन रही मस्जिद खुलाफा-ए-रशीदीन में टेरर फंडिंग मामले को लेकर एनआईए के खुलासे से गांव  में हड़कंप मच गया है। 

राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनआईए) की जांच में बड़ा खुलासा हुआ है कि इस मस्जिद के निर्माण के लिए मिले पैसे का संबंध आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा से है। मस्जिद निर्माण में लगे राज मिस्त्री आस मोहम्मद कहते हैं कि यह मस्जिद वर्ष 2010 से बन रही है, अगर इसमें आतंकी संगठनों का पैसा लगा होता तो यह मस्जिद अधर में नहीं होती पहले ही बनकर तैयार हो जाती। इन सालों में मस्जिद में रुक-रुक कर काम चलता रहा है। गांव के सरपंच आस मोहम्मद, पूर्व सरपंच अख्तर और अन्य ग्रामीण भी विश्वास नहीं करते हैं कि मस्जिद में लगा पैसा किसी आतंकी संगठन का है। एनआईए के खुलासे से वह भी हैरान हैं। वह कहते हैं कि इस मामले में देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी जांच कर रही है तो कुछ तो गड़बड़ मिली ही होगी। ऐसे ही कोई किसी की जांच नहीं कर सकता।

पिता दाऊद की याद में बनवा रहे हैं मस्जिद :

स्थानीय मौलवी और गांव के लोगों का कहना है कि सलमान खान ने अपने पिता मौलाना दाऊद की याद में  मस्जिद बनवा रहे हंै । यह मस्जिद लोगों से चंदा उगाही करके बनाई है। यह 84 गांवों की मस्जिद है।

यह है मामला :

हथीन के गांव उटावड़ में एक मस्जिद का निर्माण करवाया जा रहा है। आरोप है कि आतंकवादी संगठन लश्कर ए तैयबा की तरफ से संबंधित मस्जिद के निर्माण के लिए फंडिंग हुई है। इस मामले में एनआईए ने मस्जिद का निर्माण करवा रहे सलमान खान को पिछले दिनों दिल्ली में निजामुद्दीन से गिरफ्तार किया था, तभी से जांच चल रही है। इस दौरान एनआईए की टीम मौके पर भी आ चुकी है और मस्जिद से जुड़े दस्तावेजों को अपने साथ ले गई तभी से यह मामला सुर्खियों में बना हुआ है।

एनआईए कर रही जांच: पुलिस अधीक्षक

इस मामले की जांच एनआईए कर रही है। जब एनआईए की टीम यहां आती है और वो सुरक्षा के लिए पुलिस मांगती तो है तो उनकी पूरी सुरक्षा की जाती है, मगर जांच के मामले में स्थानीय पुलिस का अभी तक किसी प्रकार का संबंध नहीं है। -वसीम अकरम, पुलिस अधीक्षक

 

16-10-2018
Assembly Election: विधानसभा चुनाव के लिए आज से अधिसूचना जारी

रायपुर। विधानसभा चुनाव के प्रथम चरण में 18 सीटों पर मतदान के लिए आज से अधिसूचना जारी कर दिया है। जिसके साथ प्रथम चरण के चुनाव के लिए उम्मीदवार नामांकन पत्र भरना शुरू कर दिए है।

बता दे कि निर्वाचन आयोग के मुख्य पदाधिकारी सुब्रत साहू ने बताया कि आज से अधिसूचना का प्रकाश हो गया है। प्रथम चरण के 18 सीटों में 12 नवम्बर को मतदान होगी। जिसमें बस्तर संभाग के 12 सीट और राजनांदगांव के 6 विधानसभा सीटे है। अधिसूचना का प्रकाशन निर्वाचन आयोग के वेबसाईट पर भी अपलोड कर दिया गया है।

नामांकन दाखिल करने का समय सुबह 11 बजे से दोपहर 3 बजे तक रहेगा। 23 अक्टूबर नामांकन जमा करने की अंतिम तिथी है और 24 अक्टूबर को नामांकन पत्रों की जांच की जाएगी। प्रत्याशी 26 अक्टूबर तक अपना नाम वापस ले सकते है। उन्होंने बताया कि इस दौरान आचार संहिता का जनरल प्रभाव लागू रहेगा। इसके अलावा सुरक्षा व शांतिपूर्ण मतदान के लिए सवा सौ कंपनी बस्तर व राजनांदगांव संभाग में पहुंच चुके है। वहीं पुलिस व पैरामिट्रीकल फोर्स भी अपनी ड्यूटी निष्पक्ष रूप से कर रहे है।

16-10-2018
Tiffin Yojana :  पसौद में टिफिन वितरण योजना में गड़बड़ी का मामला उजागर,300 मजदूर में मिला सिर्फ दो को टिफिन

बालोद। मनरेगा मजदूरों को टिफिन वितरण योजना में बड़ी गड़बड़ी सामने आई है। पसौद में तीन सौ से ज्यादा मजदूर है, लेकिन सिर्फ दो लोगों को ही टिफिन वितरण किया गया है। जिसमें एक मजदूर तो ऐसा है जो एक दिन भी मजदूरी नहीं की है। लिहाजा बाकी मजदूर व ग्रामीणों में नाराजगी इतनी बढ़ गई है कि कभी भी तनाव की स्थिति निर्मित हो सकती है।

इस संबंध में पंचायत सचिव मोरंध्वज सिन्हा का कहना है कि जिन दो लोगों को टिफिन दिया गया है उनका नाम जनपद पंचायत से ही ऑनलाइन हुआ है। वहीं जनपद सीईओ श्री भगत का कहना है कि उक्त दोनों परिवार को 2016-17 में 30 दिवस का मजदूरी पूरा करने के आधार पर दिया गया है। लेकिन ग्राम पंचायत पसौद के पूर्व सरपंच व वर्तमान पंच पोषण लाल साहू ने कहा कि सबसे बड़ा सवाल यह है कि क्या 300 से ज्यादा मजदूरों में सिर्फ दो लोग ही 30 दिन का काम पूरा किया है। अगर 30 दिन का काम पूरा किया तो ये दोनों को किस काम मे रखा गया था। काम तो सभी मजदूर एक साथ किया है। पंच श्री साहू ने इसे बड़ा मामला बताते हुए जांच कराने के लिए उच्च अधिकारियों को चिट्ठी लिखने की बात की।

पोषण साहू, पूर्व सरपंच व वर्तमान पंच ग्राम पंचायत पसौद ने कहा है कि मामले की जानकारी लिखित में पंचायत सचिव से मांगा हूँ। 2016-17 में पंचायत में कुल कितने दिन काम हुआ। जिन दो लोगों को टिफिन दिया गया उनको किस काम मे मजदूरी के आधार पर दिया गया। जरूरत पड़ने पर सूचना के अधिकार का उपयोग किया जाएगा। क्योंकि टिफिन सभी मजदूरों को मिलना चाहिए था या किसी को भी नहीं।" श्री भगत, सीईओ जनपद पंचायत गुंडरदेही ने कहा है कि "पंचायत से प्राप्त मस्टररोल के आधार पर इन दो लोगों को टिफिन दिया गया है। बाकी जानकारी रोजगार सहायक व सचिव से ले सकते हैं।"

16-10-2018
Samta Colony : समता कॉलोनी में पंखिड़ा ओ पंखिड़ा पर खूब झूमें लोग 
रास गरबा में उमड़ी युवाओं की भीड़, पारंपरिक परिधानों में लोगों ने लिया भक्ति और भावों का आनंद
Please Wait... News Loading
Visitor No.