GLIBS

24-05-2019
क्या डायबिटीज के पेशेंट खा सकते हैं आम?

नई दिल्ली। गर्मी के सीजन आते ही आम खाने का बेसब्री से इंतजार रहता है लेकिन इसके ठीक उल्टे उन लोगों के लिए ये दिन किसी सजा से कम नहीं जिन्हें डायबिटीज है। आम की मिठास और खुशबू को सूंघ कर ही इन्हें काम चलाना पड़ता है। अगर आप भी ऐसा सोचते हैं तो अपनी सोच में बदलाव लाएं। आम डायबिटीज पेशंट्स भी खा सकते हैं लेकिन इसे खाने से पहले कुछ तरीकों को जान लेना बहुत जरूरी होगा। आम खाने के तरीकों को जान कर अपनी आम खाने की तमन्ना को पूरा कर सकते हैं। हालांकि ये बात सही है कि आम लोगों की तरह उनको आम खाने की छूट उतनी नहीं होगी लेकिन यह भी सही है कि अगर वह नियम का पालन करते हुए इसे खाएं तो इनको आम के लिए तरसना नहीं पड़ेगा। तो आइए जानें कि डायबिटीज पेशंट्स कैसे आम खा सकते हैं और उन्हें किन तरीको या नियमों का पालन करना होगा।

इस तरीके से खाएं आम तो नहीं होगा नुकसान :

- रेशेदार आम को ही खाएं क्योंकि आम में रेशा होगा तो इसका शुगर तुरंत ब्लड में नहीं घुलेगा।
- मैंगो शेक या आमरस बिल्कुल न खाएं क्योंकि ये खाते ही शुगर में कर्वट हो जाएगा। वैसे भी अब आम मैंगो शेक लेंगे उसमें एक्ट्रा चीनी डाली जाएगी। इसलिए नेचुरल आम खाएं।
- आम खाने से पहले अपने शुगर लेवल को जरूर चेक कर लें। अगर शुगर का स्तर कम है तो आप एक आम खा सकते हैं लेकिन याद रखें पूरे दिन में एक आम से अधिक न खाएं।
- आम खाने की जब भी इच्छा हो उस आम को खाएं जो पूरी तरह से तो नहीं लेकिन हल्का पका हो। यानी उसमें कड़ापन नजर आता रहे ताकि उसमें शुगर की मात्रा कम हो।
- आम का पन्ना आप पी सकते हैं क्योंकि ये कच्चे आम का बनता है लेकिन यहां भी याद रखें इस पन्ने में चीनी का उपयोग न हो। पन्ने में पुदीना, जीरा, काला नमक आदि डाल कर बनाएं।
- आम को कभी रात में न खाएं। कोशिश करें आम ब्रेकफास्ट के बाद या लंच में लें। इसके बाद आप कुछ देर तक टहलें ताकि शुगर आसानी से ब्लड में डिजॉल्व न हो।
- जब भी आम खाएं उसके बाद आप जामुन के बीज का पाउडर भी लें ताकि वह आम के शुगर को ब्लड में घुलने पर कंट्रोल कर सके।
- आम जब भी खाएं उसके साथ काबोर्हाइड्रेट वाली डाइट न लें। सलाद या अधिक रफेज वाली डाइट लें।
- जब भी आम खाएं आधा ही खांए। पूरा आम खाने का प्रयास न करें।
अगर आप आम खाने से खुद को न रोक पाएं तो कोशिश करें जहां आम खाया जा रहा वहां से हट जाएं या उपरोक्त नियमों को पालन करते हुए कभी-कभी खाएं।

22-05-2019
कील-मुहासों से पाना चाहते हैं छुटकारा तो खाएं ये चीजें

रायपुर। गर्मियों के मौसम में त्वचा पर कील-मुहांसे होना आम बात है। तैलीय त्वचा वालों के लिए तो यह एक अहम समस्या है। कील-मुहांसे जहां पूरे लुक को बिगाड़ देते हैं वहीं इसकी वजह से कई बार लोगों के ताने भी सुनने पड़ते हैं। अपने चेहरे को लेकर हर इंसान सजग रहता है। कील-मुहासों से छुटकारा पाने के लिए मार्केट में कई ब्यूटी प्रोडक्ट्स मौजूद हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि हमारे खानपान का असर हमारे चेहरे और सुंदरता पर पड़ता है। आइए जानते हैं कील-मुहांसे से छुटकारा पाने के लिए कुछ घरेलू उपाय ताकि आपको दोस्तों के सामने चेहरा छिपाना न पड़े। खाद्य पदार्थ भी शरीर में ब्लड शुगर को बढ़ाने के लिए जिम्मेदार होते हैं। जब आप ऐसी चीजों का सेवन करते हैं तो बॉडी में अचानक से बहुत तेजी से इंसुलिन बनने लगता है। इससे त्वचा में मौजूद तैलीय ग्रंथियां ज्यादा ओइल बनाने लगती हैं जिसकी वजह से चेहरे पर कील-मुहांसे की समस्या होती है। खानपान में विटामिन ए से भरपूर खाद्य पदार्थ शामिल करें। गाजर, चुकंदर, पालक और फलीदार सब्जियों में ये पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है। मुहासों की समस्या को दूर करने के लिए चुकंदर का जूस काफी कारगर है। इसमें सोडियम, कैल्शियम, मैग्निशयम, विटामिन ए और विटामिन ई प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं जो त्वचा को सेहतमंद और खिला-खिला बनाए रखने में मदद करते हैं। कद्दू के बीज कील-मुहांसों की समस्या में रामबाण इलाज साबित हो सकते हैं। दरअसल, इनमें विटामिन ई और जिंक काफी मात्रा में पाए जाते हैं। ते तत्व त्वचा की चमक बरकरार रखने में काफी सहायक हैं। इनका सेवन करने से चेहरे पर दाग-धब्बों की समस्या भी नहीं होती है।

20-05-2019
भूलकर भी फ्रिज में ना रखें गूंथा हुआ आटा, सेहत के लिए हो होता है नुकसानदायक

रायपुर। आज-कल के भाग-दौड़ भरे जिन्दगी में समय बचाने के लिए ज्यादातर महिलाएं एक ही बार में सारे दिन का आटा गूंथकर फ्रिज में रख देती हैं। पर क्या आप जानती है ऐसा करने से आप अपने और घर के सदस्यों की सेहत के साथ खिलवाड़ कर रही हैं। आपकी यह आदत सब की सेहत पर भारी पड़ सकती है। चलिए आपको बताते हैं कि फ्रिज में पड़ा आटा आपकी सेहत को किस-किस तरह से नुकसान पहुंचा सकता है।

विशेषज्ञों की राय :

विशेषज्ञों की मानें तो ताजे आटे की ही रोटियां बनाकर खानी चाहिए क्योंकि जब हम आटे को गूंथकर फ्रिज में रखते हैं तो फ्रिज की हानिकारक किरणें इसमें मौजूद पोषक तत्वों को पूरी तरह से नष्ट कर देती हैं। ऐसे में उस आटे से बनाई गई रोटियां ना तो स्वादिष्ट होती है और न ही हैल्दी।

आयुर्वेद की मानें तो...

आयुर्वेद के अनुसार भी बचे हुए आटे का दोबारा इस्तेमाल सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है। आप बासी रोटी का सेवन कर सकते हैं लेकिन फ्रिज में रखे हुए आटे की रोटी और बीमार कर सकती है।

धार्मिक कारण :

शास्त्रों के अनुसार, बासी आटे से बनने वाली रोटियां ‘भूत भोजन’ कहलाया जाता है। इसे खाने वाला व्यक्ति जीवन में हमेशा रोग और परेशानियों से घिरा रहता है। इसके साथ ही बासी आटे का भोजन करने वाले लोग अधिकतर आलसी और क्रोध से भरे हुए होते हैं।

सेहत के लिए नुकसानदायक :

इन सबके इलावा बासी आटे से गैस, एसीडिटी और कब्ज जैसी बिमारियां भी शरीर को जकड़ लेती हैं। इसलिए अपने घर और घरवालों की सेहत को बनाए रखने के लिए आज से ही फ्रिज में पड़े आटे का इस्तेमाल करना छोड़ दें।

20-05-2019
इस हफ्ते बच्चों को बनाकर खिलाएं टेस्टी एंड क्रिस्पी ब्रेड चीज बॉल्स

रायपुर। बच्चे जब देखो कुछ नया खाने की डिमांड करते हैं। तो क्यों न इस हफ्ते अपने बच्चों को क्रिस्पी चीज बॉल्स बनाकर सरप्राइज दिया जाए। एक बार इसे खाने के बाद आप और आपके बच्चे पकोड़े खाना भूल जाएंगे। साथ ही इसे बनाने में समय भी बहुत कम लगता है। 

सामग्री :

-मोजरेला चीज- 1 कप
-उबले और मैश किए हुए आलू- 1-2 आलू
-स्वीट कॉर्न- आधा कप
-अरारोट- 1 चम्मच
-काली मिर्च पाउडर- व् छोटा चम्मच
-चाट मसाला- आधा छोटा चम्मच
-नमक- स्वादानुसार
-मैदा पेस्ट- 3 बड़ा चम्मच
-ब्रेड क्रम्ब्स- 1 कप
-तेल

क्रिस्पी चीज बॉल्स बनाने की विधि

-सबसे पहले एक कटोरे में मोजरेला चीज, स्वीच कॉर्न, एक चम्मच अरारोट, आलू, चाट मसाला, काली मीर्च और नमक को डाल कर अच्छी तरह मिलाएं।
-अब इस मिश्रण में से कुछ हिस्सा लेकर नींबू के आकार में गोल कर लें और फिर इसकी अरारोट के साथ कोटिंग करें।
-इसके बाद इसे मैदे के पेस्ट में डिप करके ब्रेड क्रम्ब्स से कोटिंग करें।
-इस प्रक्रिया को सारे मिश्रण के साथ दोहराएं और तैयार हुई बॉल्स को 30 मिनट के लिए फ्रिज में रखें।
-अब कढ़ाई में तेल गर्म करने रख दें। तेल के गर्म होने के बाद उसमें बॉल्स डालें और इसे धीमी आंच में सुनहरी भूरे रंग के होने तक फ्राई करें।
-एक प्लेट में टिशू पेपर लगा लें, जिसमें आप ये बॉल्स निकाले। टिशू पेपर बॉल्स का एक्सट्रा तेल सोख लेगा। अब अपने बच्चों को गर्मागर्म कॉर्न चीज बॉल्स सर्व करें।

18-05-2019
नाश्ते में स्नैक्स खाने का मन है तो ट्राई करें बेकड चिली चीज टोस्ट रेसिपी

रायपुर। नाश्ते का समय हो या फिर शाम के समय स्नैक्स खाने का दिल करे, तो बनाकर खाइए लजीज बेकड चिली चीज टोस्ट। जो बनाने में बेहद आसान और हैल्दी है। बच्चों को तो यह टोस्ट बहुत पसंद आएंगे। तो आइए जानते हैं बेक्ड चिली चीज टोस्ट रेसिपी बनाने का रेसिपी। 

सामग्री :-

वाइट या ब्राउन ब्रेड - 10 से 12 स्लाइस
पनीर - 300 ग्राम
नमक - स्वादानुसार
ओट्स - 1/2 कप
हरी मिर्च - 3 टीस्पून
रेड चिली फ्लेक्स - 1 टीस्पून
चेडर चीज - 1 कप

बनाने की विधि :-

- सबसे पहले ब्रेड स्लाइस को तिकोण शेप में काट लें। 
- एक बाउल में पनीर, ओट्स, हरी मिर्च, रेड चिली फ्लेक्स और नमक डालकर सभी चीजों को अच्छी तरह मिक्स करें। 
- अब तैयार मिश्रण को कटे हुए ब्रेड स्लाइस पर लगा लें, साथ ही उपर से चीज ग्रेड करके भी डाल दें। 
- साथ ही ओवन को  180°C पर प्रीहीट कर लें।
- ओवन के गर्म होने पर टोस्ट ओवन के अंदर रख दें। 
- चीज के मेल्ट होने तक टोस्ट को पकने दें, लगभग 10 मिनट में टोस्ट पक कर तैयार हो जाएगें। 
- तैयार चिली चीज टोस्ट को अपनी मनपसंद सॉस के साथ सर्व करें।

17-05-2019
गर्मी के मौसम में घर पर बनाएं स्वादिष्ट और हैल्दी फ्रूट सैलेड

रायपुर। मौसम चाहे कोई भी हो, गर्मी के मौसम में फलों खाने का अपना अलग ही मजा है और  कोई कलर फूल फ्रूट सलाद खिला दे तो वहा क्या बात है। अगर आप भी फलों का खट्टा-मीठा स्वाद एक-साथ टेस्ट करना चाहते हैं, तो घर में ही बना सकते है फ्रूट सैलेड।


1. सबसे पहले पाइनएप्पल को अच्छी तरह छील कर एक बाउल में छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें। 

2. उसके बाद कीवी, पपीते, आम और केले को भी काटकर कटे हुए पाइनएप्पल के साथ मिला लें।

3. एक कटोरी में दही और कैस्टर शुगर को मिलाकर इसे फ्रूट्स के साथ मिक्स करें।

4. अब इसमें काला नमक, चाट मसाला, नींबू का रस और पुदीने की पत्तियां डालकर अच्छी तरह से मिलाएं। 
5. लीजिए आपका खट्टा-मीठा फ्रूट सैलेड बनकर तैयार है। अब इसे सर्व करें।

17-05-2019
गर्मियों में किसी अमृत से कम नहीं है 'काला नमक', देखें पूरी खबर...

नई दिल्ली। भारत में ज्यादातर गर्मियों में जो भी पेय तैयार किए जाते हैं, उनमें एक चीज हमेशा इस्तेमाल की जाती है, वो है काला नमक। गर्मियों में बनने वाले ज्यादातर पेय पदार्थों में काले नमक का इस्तेमाल होता है। रायता, आम पन्ना, जलजीरा या नींबूपानी इन सबमें काला नमक का विशेष तौर पर इस्तेमाल किया जाता है।
गुणकारी काले नमक के फायदे
काला नमक एक ठंडा नमक है, इसीलिए यह आयुर्वेदिक दवाओं और उपचार में एक महत्वपूर्ण सामग्री है। कहा जाता है कि यह नमक चिकित्सीय लाभ से भरा हुआ है।
काला नमक उन लोगों के लिए अच्छा है जो पाचन संबंधी समस्याओं से परेशान रहते हैं। काला नमक कब्ज और गर्मियों के दौरान पेट फूलना जैसी परेशानियों से राहत दिलाता है। काला नमक इन दोनों परेशानियों को कम करने में मदद करता है। बहुत ज्यादा गर्मी के चलते काफी लोगों को आंतों में गैस और जलन जैसी समस्या होने लगती है। वहीं पेय और खाद्य पदार्थों में काला नमक डालने से आंतों में होने वाली गैस की परेशानी से राहत मिलती है।
काला नमक सीने में होने वाली जलन को दूर करने में मदद करता है। गर्मी के दौरान होने वाली यह एक आम समस्या है। जो आमतौर पर तैलीय और भारी खाद्य पदार्थों द्वारा हो जाती है।
आजकल की लाइफस्टाइल के चलते लोग तरह-तरह की बीमारियों के शिकार हो रहे हैं। जिनमें प्रमुख है हाइपरटेंशन। गलत खानपान के चलते व गलत आदतों के कारण हाइपरटेंशन की समस्या लोगों को होने लगती है। लोगों में हाइपरटेंशन के प्रति जागरुकता फैलाने के लिए हर साल 17 मई को वर्ल्ड हाइपरटेंशन डे मनाया जाता है। साथ ही उन्हें बताया जाता है कि इस खतरनाक बीमारी से कैसे बचाव किया जा सकता है।
क्या है हाइपरटेंशन
हाइपरटेंशन एक ऐसी बीमारी है जिसमें धीरे-धीरे आपका हार्ट, किडनी व शरीर के दूसरे अंग काम करना बंद कर सकते हैं। हाइपरटेंशन एक साइलेंट किलर है। हाइपरटेंशन कई कारणों से होता है, जिनमें से कुछ कारण शारीरिक और कुछ मानसिक होते हैं। हाइपरटेंशन में रक्तचाप 140 के पार पहुंच जाता है।

16-05-2019
गर्मियों में बनाकर खाए ठंडा-ठंडा वॉटर मेलन सॉरबट

रायपुर। गर्मियों में हमेशा कुछ ठंडा-ठंडा खाने को दिल करता है। तो चलिए आज हम आपको तरबूज से वॉटर मेलन सॉरबट बनाने की रेसिपी बता रहे हैं। जो कि आइसक्रीम का एक सॉफ्ट वर्जन है। खाने में स्वादिष्ट होने के साथ इसे बनाना भी आसान है।

सामग्री :-

तरबूज - 3 कप (कटा हुआ)
नींबू का रस - 1,1/2 टीस्पून
अदरक का पेस्ट - 1/2 टीस्पून
कनडैंसड मिल्क - 1-2 टीस्पून
चीनी - 2 टेबलस्पून
पुदीने के पत्ते - 10

बनाने की विधि :-

- तरबूज के टुकड़ों को 8-10 घंटे के लिए फ्रिज में ठंडा होने के लिए रख दें।
- उसके बाद ब्लैंडर में तरबूज के टुकड़ों, चीनी, नींबू का रस, कनडैंसड मिल्क, पुदीने के पत्ते और अदरक का पेस्ट डालकर स्मूद ब्लैंड करें।
- इसके बाद इसे एयर टाइट कंटेनर में डालकर 4-5 घंटो तक रेफ्रिजरेटर में जमने के लिए रख दें।
- आपकी वॉटर मेलन सॉरबेट रेसिपी तैयार है। अब इसे ठंडा-ठंडा सर्व करें।

14-05-2019
गर्मियों में फायदेमंद है कच्ची कैरी की चटनी

नई दिल्ली। गर्मियों में कच्ची आमी को सब्जियों में आप बहुत इस्तेमाल किया जाता है। ऐसे में आप कच्ची कैरी की चटनी भी बना सकते हैं।

सामग्री : 1 कच्चा आम
आधा कप कद्दूकस नारियल
1 चम्मच चीनी, गुड़,
आधा कप बारीक कटा हरा धनिया
नमक स्वादानुसार
1 चम्मच तेल,
1 चम्मच चना दाल, चुटकी भर मैथी दाना,
पाव चम्मच जीरा
2-3 सूखी लाल मिर्च
मीठा नीम
चुटकी भर हींग
1 चम्मच तेल और राई।

सबसे पहले कच्चे आम को कद्दूकस कर लें। इसके बाद सबसे पहले कड़ाही में तेल गरम कर चना दाल, मैथी और जीरा डालकर भून लें। लाल मिर्च, मीठा नीम, हींग और कद्दूकस किया हुआ कच्चा आम डालें और 3-4 मिनट तक नरम होने दें। ठंडा होने पर इसमें नारियल, गुड़ या शक्कर, हरा धनिया, हल्दी और नमक डालें और खाने के साथ सर्व करें।

 

13-05-2019
घर पर ही करें पार्लर जैसा क्लीनअप, पाएं ग्लोइंग चेहरा

रायपुर। हाउस वुमैन हो या वर्किंग वुमैन बेदाग और ग्लोइंग चेहरा पाने के लिए हर कोई टाइम-टू-टाइम पार्लर जाकर क्लीनअप करवाती हैं, जोकि जरूरी भी है। इससे त्वचा में ब्लड सकुर्लेशन तेज होता है और चेहरे पर जमी गंदगी व डेड सेल्स भी निकल जाते हैं, जिससे स्किन ग्लो होने लगती है। मगर जरूरी नहीं कि आप पार्लर में पैसे खर्च करके ही क्लीनअप करवाएं। आप कुछ आसान स्टेप फॉलो करके घर पर भी क्लीनअप कर सकती हैं। इससे आपके पैसे भी बचे जाएंगे और चेहरे पर निखार भी आ जाएगा, वो भी बिना किसी साइड इफैक्ट के। 

क्लीनअप करने के लिए जरूरी सामान

होममेड क्लीनअप के लिए आपको क्लीनजर व फेस वॉश (स्किन टाइप के हिसाब से), क्लीनजिंग मिल्क या फोम, फेशियल स्क्रब, फेस स्टीमर, टोनर, मॉइस्चराइजर, फेस पैक, गुलाबजल, स्पंज या वाइप्स, ब्लैकहेड्स रिमूवर, बर्फ के कुछ टुकड़े या ठंडा पानी और सॉफ्ट तौलिया चाहिए होगा।

क्लीनअप करने का तरीका

1 स्टेप-फेस वॉश: क्लीनअप करने से पहले नार्मल पानी से चेहरे को साफ करें। इसके बाद स्किन के हिसाब से फेसवॉश करके चेहरे, गर्दन, गर्दन के पीछे, सब जगह से एक्स्ट्रा धूल-मिट्टी निकाल लें। इसके बाद तौलिए से चेहरा सुखा लें।

2 स्टेप - क्लींजर: अब चेहरे पर 2 मिनट तक क्लीनजर से मसाज करें। उंगलियों को सकुर्लेशन मोशन में गोलाकार डायरेक्शन में घुमाते हुए मसाज करें। फिर स्पंज या स्किन वाइप्स से चेहरा साफ कर लें। इसके लिए 1 चम्मच शहद, 1/2 चम्मच नींबू का रस और 4-5 बूंदे ग्लीसरीन की मिलाकर क्लींजर की तरह यूज करें।

स्टेप 3- स्क्रबिंग: स्क्रबिंग के लिए आप मार्केट से अपनी स्किन टाइप के हिसाब से स्क्रब ला सकते हैं। साथ ही आप 2 चम्मच कॉफी पाउडर, 1 चम्मच चीनी, 1 चम्मच नारियल का तेल मिक्स करके भी स्क्रब तैयार कर सकते हैं। अब स्क्रब को हाथों में लेकर स्लो सर्कुेलेशन मोशन में उंगलियों को घुमाते हुए 7-8 मिनट तक मसाज करें। फिर चेहरे पर स्पंज या वाइप्स से साफ कर लें।

स्टेप 4- स्टीमिंग: अगर आपके पास स्टीमर है तो उसमें साफ पानी भरकर 5 मिनट स्टीम लें। अगर नहीं है तो किसी बर्तन में पानी गर्म करें। फिर चेहरे को तौलिए से ढक्कर उसे बर्तन के ऊपर करें और स्टीम लें। 

स्टेप 5- रिमूव ब्लैकहेड्स: इसके बाद रिमूवर की मदद से चेहरे के ब्लैकहेड्स व वाइटहेड्स को निकाल लें लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि इसे ज्यादा जोर से यूज ना करें। इससे चेहरे पर निशान पड़ सकते हैं।

स्टेप 6- फेस पैक: घर पर फेस पैक तैयार करने के लिए 1/2 चम्मच बेसन में चुटकी भर हल्दी, थोड़ा-सा शहद और कुछ बूंदे गुलाबजल की मिक्स करें। इसके बाद इसे चेहरे पर 4-5 मिनट लगाकर सूखने दें। जब यह सूख जाए तो चेहरे पर हल्का-सा पानी लगाकर मसाज करते हुए इसे साफ करें।

स्टेप 7- टोनिंग: अब उंगलियों की मदद से टोनर डैबी करके लगाएं और कुछ देर के लिए छोड़ दें। इससे त्वचा का पीएच लेवल सही रहेगा। अगर आपके पास टोनर नहीं है तो खीरे का रस निकालकर उसे 10 मिनट के लिए लगाएं। यह नेचुरल टोनर की तरह काम करता है।

स्टेप 8- मॉइस्चराइजर: आखिर में चेहरे पर स्किन के हिसाब से मॉइस्चराइजर लगाएं। अगर स्किन ड्राई है तो क्रीमी लोशन और ऑयली या कॉम्बिनेशन है तो कम क्रीम वाले मॉइस्चराइजर का ही यूज करें।

क्लीनअप के फायदे :-

डेड स्किन और धूल-मिट्टी को चेहरे से साफ करता हैै।
चेहरे के साथ-साथ गर्दन को भी साफ करें। 
इससे पोर्स क्लीन और छोटे हो जाते हैं।
ब्लड सकुर्लेशन में होता है सुधार।
रिंकल्स से लड़ने में मदद। 
दाग-धब्बे होते दूर हैं। 
चेहरे का स्ट्रेस होता कम है।

09-05-2019
रमजान स्पेशल : केसर मखाना फिरनी रेसिपी

रायपुर। रमजान में बनाएं स्वादिष्ट केसर मखाना फिरनी रमजान का महीना शुरू हो चुका है। ऐसे में आज हम आपको केसर मखाना फिरनी की रेसिपी बताएंगे, जिसे आप इस दौरान बना सकते हैं। तो चलिए जानते हैं केसर मखाना फिरनी बनाने की रेसिपी।

सामग्री :

केसर - 10-12 धागे 
मखाने - 2 कप
घी - 2 टेबलस्पून
हरी इलायची पाउडर - 1 टीस्पून
चीनी - 2 कप
फुल क्रीम दूध - 1 लीटर
नट्स - 1 मुट्ठी

बनाने की विधि :

- एक बर्तन लेकर उसमें घी गर्म करें।
- इसके बाद इसमें मखाने डालकर क्रिस्पी और हल्का ब्राउन होने तक भूनें। 
- अब इन मखानों को आंच से उतारकर एक बाउल में डालकर ठंडा होने के लिए रख दें।
- मखाने ठंडे हो जाए तो इन्हें एक जिपलॉक बैग में डालकर बेलन की मदद से क्रश कर लें लेकिन इसे ज्यादा बारीक ना पीसें।
- अब दूसरे बर्तन में मीडियम आंच पर दूध उबलने के लिए रख दें।
- दूध में केसर डाल दें और तब तक मीडियम आंच पर उबलने दें जब तक वह गाढ़ा होकर आधा न रह जाए।
- फिर दूध में पिसे हुए मखाने डालें और लगातार चलाते रहे। मखाने मिलाते ही दूध और भी गाढ़ा हो जाएगा।
- अब इसमें हरी इलायची पाउडर और चीनी मिलाकर थोड़ी देर पकाकर गैस बंद कर दें।
- तैयार फिरनी को एक सर्विंग बाउल में निकालें और थोड़ी देर ठंडा होने के लिए रख दें।
- आखिर में इसे कटे हुए नट्स के साथ गार्निश करें।
- लीजिए तैयार है आपकी स्वादिष्ट केसर मखाना फिरनी।

03-05-2019
दूध फटने के बाद फेंके नहीं, जाने फटे दूध के पानी का 7 उपयोग और फायदे

रायपुर। अक्सर दूध को फटने के बाद हम उसके पानी को निकालकर पनीर तो बना लेते हैं, लेकिन एक बड़ी गलती कर जाते हैं। वो बड़ी गलती है कि उसके पानी को हम यूं ही फेंक देते हैं। जबकि ये पानी प्रोटीन से भरपूर और बेहद पौष्टिक होता है। दूध के इस पानी का इस्तेमाल मांसपेशियों में ताकत बढ़ाने, रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में कर सकते हैं। इससे कैंसर और एचआईवी जैसे रोगों से भी बचा जा सकता है। इसके साथ ही ब्लड प्रेशर ठीक करने और हार्टअटैक जैसी बीमारियों से भी ये बेकार सा लगने वाला पानी आपको बचा सकता है। मोटापा घटाने और पेट ठीक रखने के लिए भी ये बेहद कारगर उपाय के रूप में काम आता है। अब आप सोच रहे होंगे कि इतनी सारी खूबियों वाले इस पानी का इस्तेमाल कैसे करें। परेशान बिल्कुल मत होइए हम आपके लिए वही जानकारी लेकर आए हैं।

फटे दूध के पानी के 7 चमत्कारिक उपयोग और फायदे :

त्वचा रहेगी खिली-खिली :

दूध फटने के बाद बचे हुए पानी को ठंडा कर उससे चेहरा धोएं। ऐसा करने से त्वचा मुलायम और टोन्ड बनी रहेगी। इसके अलावा अगर आप बाथटब में नहाते हैं तो उस पानी में दूध फटने के बाद बचे हुए 1 से दो कप पानी को नहाने वाले पानी में मिला लें। इसे इस्तेमाल करने से आपकी त्वचा मुलायम और खिली- खिली बनी रहेगी। 

कंडीशनर से भी ज्यादा कारगर है :

शैम्पू करने से पहले इस पानी से सिर धोएं और फिर उसके बाद शैम्पू करें। बाद में एक बार फिर इस पानी से सिर धोएं और 10 मिनट के लिए उसे ऐसे ही छोड़ दें। बाद में हल्का गुनना पानी से सिर धो लें। 

जूस को पौष्टिक बनाएं यूं :

जूस में फटे दूध से निकले इस पानी को मिलाने के बाद उसे इस्तेमाल कर सकते हैं। ऐसा करने से जूस की पौष्टिकता पहले से ज्यादा बढ़ जाती है और शरीर को प्रोटीन भी मिल पाता है।

रोटियां बनेंगी पौष्टिक और नरम :

आटा गूंथने में भी आप इस पानी का इस्तेमाल कर सकते हैं। इस पानी के इस्तेमाल से जहां एक ओर रोटियां बहुत ही नरम बनेंगी वही वो पौष्टिक भी बहुत होंगी। एक बार ऐसा करके देखिएगा आगे से कभी दूध फटने के बाद इस को भूलकर भी आप फेंकेंगे नहीं।
सब्जी की ग्रेवी होगी हेल्दी :

सब्जी को बनाते वक्त उसकी ग्रेवी में सादा पानी की जगह फटे दूध के पानी का इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे आपकी सब्जी का स्वाद तो बढ़ेगा ही साथ ही वो पौष्टिकता के मामले में भी बेहतरीन होगी।

सूप बनाते वक्त भी काम आएगा ये :

सूप पीने के शौकीन हैं तो इसका इस्तेमाल सूप बनाने में भी कर सकते हैं। इसके इस्तेमाल से प्रोटीन और स्वादिष्ट सूप आपके अपनो को भा जाएगा।

Please Wait... News Loading