GLIBS

10-05-2020
मई महीने के दूसरे रविवार को ही क्यों मनाया जाता है मदर्स डे, आईए जानते है...

नई दिल्ली। मई महीने में दूसरे हफ्ते के रविवार को मदर्स डे के तौर पर मनाया जाता है। मां के लिए कोई एक दिन नहीं होता है, वो अलग बात है कि एक खास दिन को मां के नाम निश्चित कर दिया गया है। इस वर्ष ये खास दिन 10 मई यानी आज मनाया जा रहा है। अपनी हर तकलीफें एक तरफ कर बच्चों की हर खुशी का ध्यान रखने वाली मां के साथ इस खास दिन को बिताना चाहिए। मदर्स डे लोगों को अपनी भावनाओं को जाहिर करने का मौका देता है। ज्यादातर देशों में मई के दूसरे रविवार को मदर्स डे मनाया जाता है। लेकिन कई देशों में इस खास डे को अलग-अलग तारीखों पर भी मनाया जाता है। आज हम आपको इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि इस खास दिन की शुरुआत कैसे हुई?

ऐसे हुई मदर्स डे की शुरुआत :

मदर्स डे को लेकर कई मान्यताएं हैं। कुछ का मानना है कि मदर्स डे के इस खास दिन की शुरुआत अमेरिका से हुई थी। वर्जिनिया में एना जार्विस नाम की महिला ने मदर्स डे की शुरुआत की। कहा जाता है कि एना अपनी मां से बहुत प्यार करती थी और उनसे बहुत प्रेरित थी। उन्होंने कभी शादी नहीं की और मां का निधन हो जाने के बाद उनके प्रति सम्मान दिखाने के लिए इस खास दिन की शुरुआत की। ईसाई समुदाय के लोग इस दिन को वर्जिन मेरी का दिन मानते हैं। यूरोप और ब्रिटेन में मदरिंग संडे भी मनाया जाता है। मां का सभी के जीवन में योगदान अतुलनीय है। फिर चाहे उसे ऑफिस और घर दोनों जगह में संतुलन क्यों ना बैठना पड़ा हो, मां ने कभी भी अपनी जिम्मेदारियों से मुंह नहीं मोड़ा है। 9 मई 1914 को अमेरिकी प्रेसिडेंट वुड्रो विल्सन ने एक कानून पारित किया था। इस कानून में लिखा था कि मई के दूसरे रविवार को मदर्स डे मनाया जाएगा। इसी के बाद से भारत समेत कई देशों में ये खास दिन मई के दूसरे रविवार को मनाया जाने लगा। तो इस मदर्स डे के खास मौके पर अपनी मां के साथ समय बिताएं, वो सब करें जो व्यस्त होने के कारण आप नहीं कर पाते और मां को खास तोहफे देकर जरूर खुश करें।

08-05-2020
इस गर्मी में लें ठंडी-ठंडी होम मेड कुल्फी का मजा, ऐसे बनाएं...

नई दिल्ली। गर्मी के सीजन में होम मेड कुल्फी से बढ़िया डेजर्ट कुछ हो ही नहीं सकती है। मगर लॉक डाउन की वजह से आप बाजार से तो कुल्फी मंगवा नहीं सकते। ऐसे में आज हम आपको घर पर ही टेस्टी दूध वाली कुल्फी बनाने की रेसिपी बताएंगे।

दूध कुल्फी की रेसिपी
सामग्री:
दूध-4 पैकेट
इलायची पाउडर - 1 चम्मच
चीनी - 2 कप
सूखे मेवे - गार्निश के लिए

कुल्फी बनाने की विधि

—  सबसे पहले पैन में 4 पैकेट दूध को धीमी आंच पर पकाएं। इसे बीच-बीच में चलाते रहे ताकि दूध तलवे से ना लगे।
—  फिर इसमें 1 चम्मच इलायची पाउडर और 2 कप चीनी डालकर अच्छे से मिलाएं।
—  जब तक दूध 1/3 ना रह जाए इसे उबालते रहें।
—  अब दूध को कुल्फी कप या मटले में डालें।
—  इसे 8-9 घंटे तक फ्रिज में सेट होने के लिए रख दें।
—  लीजिए आपकी दूध कुल्फी बनाकर तैयार है।


मावा कुल्फी रेसिपी

सामग्री :
खोया/मावा - 3 टेबलस्पून
फुल क्रीम दूध - 1/3 लीटर
कॉर्नफ्लोर - 1 टीस्पून
चीनी - 2 टीस्पून
इलायची पाउडर - 1/3 टीस्पून
पानी - 1/4 कप
पिस्ता - 1 टेबलस्पून
बादाम - 1 टेबलस्पून
सूखे मेवे - गार्निश के लिए

कुल्फी बनाने की विधि

—  सबसे पहले एक बर्तन में दूध को धीमी आंच पर पकाएं। इसे तब तक पकाएं जब तक यह गाढ़ा न हो जाए।
—  चम्मच की मदद से बर्तन के चारों ओर लगे दूध को छुड़ाते रहें, ताकि यह बर्तन में न चिपके।
—  पानी में कॉर्नफ्लोर डालकर स्मूद पेस्ट बनाएं और दूध में मिक्स करें।
—  अब मिश्रण में चीनी, बादाम, पिस्ता, खोया और इलायची पाउडर डालकर करीब 5 मिनट तक पकाएं। दूध को बीच-बीच में चलाते रहें, ताकि वो बर्तन के तलवे से ना लगे।
—  अब गैस बंद करके मिश्रण को ठंडा होने दें।
—  आखिर में कुल्फी के सांचे में डालकर सूखे मेवे डालें और सेट होने के लिए फ्रीजर में रखें।
—  लीजिए आपकी कुल्फी तैयार है।

15-03-2020
बालों को घना, सुंदर और स्वस्थ बनाने में फायदेमंद हैं कपूर, ऐसे करें इस्तेमाल...

नई दिल्ली। कपूर का उपयोग अक्सर लोग पूजा करने के लिए करते हैं। मगर पूजा के साथ यह और भी कई चीजों के इस्तेमाल में काम आता है। इसका बालों पर लगाने से बालों से संबंधित कई समस्याओं से राहत मिलती है। कपूर में एंटी-फंगल, एंटी-इंफ्लामेट्री, एंटी-बैक्टीरियल गुण होने से बालों को घना,सुंदर और स्वस्थ बनाने में फायदेमंद है। इसमें किसी भी तरह का कोई केमिकल न होने से इसे यूज करने से कोई साइड इफेक्ट होने का खतरा नहीं होता है।

तो चलिए जानते है कपूर हमारे बालों के लिए कैसे बेस्ट है लेकिन उससे पहले जानते है इसे इस्तेमाल करने का तरीका...

 
कैसे करें इस्तेमाल
सबसे पहले 2-3 कपूर को पीस कर उसका पाउडर बना लें। उसके बाद अपने मनपसंद तेल को हल्का गर्म कर उसमें कपूर को मिक्स करें। तैयार मिक्सचर को अपने बालों पर हल्के हाथों से लगाएं। 5-10 मिनट तक मसाज करें। अपने बालों पर तेल को लगभग 1 घंटे या पूरी रात लगा रहने दें। सुबह बालों को माइल्ड शैंपू से धो लें।


डैंड्रफ से दिलाएं छुटकारा
बढ़ते प्रदूषण और बालों की अच्छे से केयर न करने से सबसे ज्यादा डैंड्रफ की परेशानी का सामना करना पड़ता है। ऐेसे में इससे छुटकारा पाने के लिए कपूर का इस्तेमाल करना बेस्ट ऑप्शन है। इसमें एंटी-फंगल, एंटी-इंफ्लामेटरी गुण पाएं जाते है। ऐसे में इसे बालों पर लगाने सक रूसी की परेशानी से राहत मिलती है।

बालों से जूं की समस्या से दिलाएं राहत
अक्सर बच्चों में कई दिनों तक सिर न धोने के कारण जुएं पड़ जाती है। ऐसे में कपूर को पिघलाकर उसमें नारियल का तेल मिक्स कर कुछ दिन लगाने से बालों में जूंए दूर होने में मदद मिलती है।


बालों का झड़ना रोके
कपूर को किसी भी तेल में मिलाकर लगाने से बालों का झड़ना बंद होता है। इसे लगाने समय हल्के हाथों से मसाज करनी चाहिए। ऐसे में हफ्ते में 2 बार या बाल धोने से पहले इसका इस्तेमाल करने से बाल घने, सुंदर, लंबा और बाउंसी होते हैं।

सिल्की व शाइनी
कपूर बालों में नेचुरली शाइन जगाने का काम करता है। कपूर को पीस कर उसमें जैतून का तेल मिलाकर लगाने से बाल सिल्की और सॉफ्ट होते हैं।

 

14-03-2020
मॉश्चराइजर से स्किन को रोका जा सकता है बेजान और रूखे होने से, आजमाएं यह टिप्स

नई दिल्ली। बदलते मौसम के प्रभाव से स्किन पर दाग-धब्बे, झाइयों, झुर्रियों आदि परेशानियों का सामना करना पड़ता है। ऐसे में शरीर के साथ स्किन का भी अच्छे से ध्यान रखना बेहद जरूरी होता है। इसके अलावा स्किन के ड्राई होने की समस्या की परेशानी होती है। ऐसे में स्किन रूखी-बेजान नजर आने लगती है। इससे बचने के लिए रोजाना बॉडी को मॉश्चराइज करना जरूरी है।

तो चलिए जानते कुछ स्किन केयर टिप्स के बारे में :

कौन सा म़ॉश्चराइज करें इस्तेमाल
अच्छी त्वचा के लिए नियमों में किसी लोशन तथा मॉश्चराइजर का इस्तेमाल शामिल करना चाहिए। एक ऐसा लोशन चुनें,जिसमें बहुत सारे विटामिन्स हो। लोशन ऐसा भी हो जो तेल के बिना हो। आपके रोम छिद्रों को खराब करने वाला न हो। एक्सपर्ट्स के मुताबिक कोई भी लोशन या ब्यूटी प्रॉडक्ट खरीदने से पहले उसका टेस्ट कर लेना चाहिए। बात अगर विटामिन्स की करें तो विटामिन ए, विटामिन बी 5 त्वचा की मजबूती बढ़ाने के साथ नमी बरकरार रखने में मदद करते है। विटामिन सी और विटामिन ई डेड स्किन सैल्स को रिपेयर करने में फायदेमंद होता है। इसके साथ ही त्वचा को हानि पहुंचाने से रोकता है।

कब करें मॉइश्चराइजर?
इसके इस्तेमाल करने का सबसे सही समय नहाने,शेव करने या स्क्रबिंग करने के बाद का माना जाता है। इसे दिन में 2 बार यूज किया जाना चाहिए। यह रिपेयरिंग में मदद करती है। आपके चेहरे, कानों, गर्दन तथा छाती की स्किन मौसमी बदलावों के प्रति संवेदनशील होती है। ये जगह शरीर के इन्य हिस्सों के मुकाबले अधिक तेजी से कोशिकाओं को या त्वचा की परत को झाड़ते हैं। इसलिए खुद को रिपेयर करने के लिए उन्हें मॉश्चराइजर की जरूरत होती है। इसके सात ही लोशन लगाने के समय की जाने वाली मसाज भी ब्लड सर्कुलेशन तथा नई कोशिकाएं बनाने में मदद करती हैं।

स्किन की देखरेख के टिप्स...
अधिक पानी पिएं :
रोजाना कम से कम 8 गिलास पानी का सेवन करें। माइल्ड क्लींजर का इस्तेमाल करें
जिस क्लींजर का आप इस्तेमाल करती हैं, वह सौम्य और खूशबू के बिना होनी चाहिए।

बाहर जाने से पहले लगाएं सनस्क्रीन :
अपनी स्किन की सुरक्षा से ज्यादा कुछ भी नहीं होता है। ऐसे में सूरज की हानिकारक यूवी किरणों से बचने के लिए घर से बाहर जाने से पहले सनस्क्रीन जरूर लगाएं। लिप बाम लगाएं जब भी होंठ सूखने की परेशानी हो लिप बाम लगाए। इससे इन्हें मॉश्चर मिलेगा। इसके साथ ही होंठों के कटने- फटने की परेशानी से बचा जा सकता है। अपने हाथों पर अधिक ध्यान दें। बॉडी के बाकी हिस्से के मुकाबले आपके हाथों पर वातावरण का अधिक प्रभाव पड़ता है। ऐसे में हाथ ज्यादा शुष्क दिखाई और महसूस होते है। इसलिए आप जितनी बार भी हाथ धोएं उतनी बार ही हाथों पर क्रीम लगाएं।

 

05-03-2020
स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है ज्वार की रोटी, वजन कम करने में मिलती है मदद

नई दिल्ली। हर कोई चाहता है कि वह हैल्दी खाना खाएं और स्वस्थ रहें। ऐसे में आज हम आपके लिए लाएं हैं ज्वार की रोटी जो आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद है। आइए जानते हैं ज्वार रोटी बनाने की विधि...

ज्वार रोटी बनाने की सामग्री :
पानी- 1 कप
सफेद तिल- 1 टेबलस्पून
काले तिल- 1 टेबलस्पून
नमक- स्वादानुसार
देसी घी- 1 टेबलस्पून

ज्वार रोटी बनाने की विधि :

- सबसे पहले पानी में नमक मिलाकर गैस गर्म करने के लिए रखें।
- एक उबाल आने के बाद इसमें ज्वार का आटा डालें।
- अब इसे 2 मिनट के लिए ढककर गैस की धीमी आंच पर पकाएं।
- पकने के बाद इसे प्लेट में निकाल लें।
- ठंडा होने के बाद इसमें सफेद काले तिल, घी डालें।
- इसमें थोड़ा-थोड़ा पानी डालकर इसका आटा गूंथ लें।
- अब तैयार आटे की लोइयां बनाएं और बेल लें।
- इसके बाद एक पैन को गैस पर रखें।
- एक-एक कर सभी रोटियां सेंक लें।
- आप चाहे तो रोटी बनाते समय घी का इस्तेमाल भी कर सकते है।

आपकी ज्वार की रोटियां बन कर तैयार है। आप इसे अदरक, लहसुन, मूंगफली, हरी मिर्च और नमक से तैयार चटनी के साथ खा सकते है।

यह खाने में टेस्टी होने के साथ हैल्थ के लिए काफी फायदेमंद है। आपको बता दें ज्वार की एक रोटी में सिर्फ 38 कैलोरी पाई जाती है, जिससे वजन कंट्रोल में रहने में मदद मिलती है।

02-03-2020
चेहरे के अनचाहे बालों से पाना है छुटकारा तो अपना सकते हैं ये घरेलू उपाय...

नई दिल्ली। फेशियल हेयर या चेहरे के बालों से हर कोई छुटकारा पाना चाहता है। वैक्सिंग और थ्रेडिंग से इन्हें हटाया तो जा सकता है,लेकिन कुछ समय बाद ये फिर वापस आ जाते हैं। लंबे समय तक इन्हें दूर रखने के लिए घरेलू और प्राकृतिक नुस्खे ही ज्यादा कारगर होते हैं और तो और इन उपायों से इनका ग्रोथ भी काफी कम हो जाता है।

चंदन का उबटन

चेहरे से बालों को हटाने के लिए चंदन का उबटन सबसे प्रभावी है। इन्हें घर पर ही आसानी से बनाकर उपयोग में लाया जा सकता है। ज्यादातर चीजें आपको अपनी रसोई में ही मिल जाएंगी।

संतरे के छिलके

चंदन पाउडर,संतरे के छिलके का पाउडर,हरे मूंग का पाउडर, गुलाब जल और नींबू का रस लेकर इन्हें साथ में मिलाकर इनका एक मिश्रण या पेस्ट बना लें। इसे अपने चेहरे पर लगाए, 15 मिनट तक इसे चेहरे पर रहने दें, सूखने दें और फिर अंगुलियों से धीरे-धीरे गोल घुमाते हुए मालिश करते हुए इसे हटा लें।

वैक्स बनाएं

500 ग्राम दानेदार चीनी, नींबू का रस, पट्टियां या स्ट्रिप्स और बटर नाइफ या छुरी। सबसे पहले चीनी में नींबू का रस मिलाएं। इन्हें अच्छे से मिलाकर एक पतीले में तब तक गरम करें, जब तक कि चीनी का रंग गाढ़ा न हो जाए। आंच से उतारकर इसमें ग्लिसरीन मिलाएं। इसे किसी हिट प्रूफ कंटेनर में स्टोर करें। इस मिश्रण को होंठ के ऊपर, ठोड़ी पर लगाएं और पट्टी की मदद से इसे खींचकर निकाल लें।

ओट्स और कलौंजी स्क्रब

स्किम्ड मिल्क या कच्चा दूध,कलौंजी के बीज,शहद और ओट्स पाउडर। सबसे पहले कलौंजी को पहले दूध में भिगो दें,दस मिनट तक इसे ऐसे ही छोड़ दें,जिससे कलौंजी के बीज मुलायम हो जाएं। इसमें ओट्स पाउडर और शहद मिलाएं। चेहरे पर इसे लगाएं,सूखने दें, हल्के हाथों से गोल-गोल मालिश करें और इस मास्क को हटा लें। इसे हफ्ते में एक बार किया जा सकता है। ये सारे ही उपाय बेहद आसान और प्रभावी हैं और चूंकि ये प्राकृतिक हैं, इसलिए चेहरे पर इनका कोई हानिकारक प्रभाव भी नहीं है।

23-02-2020
अगर आपको भी खाने में पसंद है साबूदाना पापड़ तो घर पर यूं करें झटपट तैयार...

नई दिल्ली। आज हम आपको बताने जा रहेे है साबूदाने के पापड़ बनाने की विधि, जिसे आप घर पर ही झटपट तैयार कर सकते हैं। तो चलिए जानते है साबूदाना पापड़ बनाने की रेसिपी...

साबूदाना पापड़ बनाने की सामग्री :
साबूदाना – 2 कप (छोटे आकार के)
पानी – 10 कप
नमक – स्वादानुसार
जीरा – 2 टेबलस्पून
लाल मिर्च पाउडर -1 टेबलस्पून

साबूदाना पापड़ घोल विधि :
- सबसे पहले साबूदाने को धो कर उसे एक बाउल दोगुने पानी डालकर 2 घंटे के लिए भिगो कर रखें।
- एक बर्तन में 6 कप पानी डालकर उबालें।
- एक उबाल आने के बाद उसमें भीगा हुआ साबूदाना, नमक, जीरा, लाल मिर्च डालें।
- साबूदाना को साथ-साथ चम्मच से चलाते हुए पकाएं, ताकि वह तले में न लगे।
- जब साबूदाना का घोल गाढ़ा हो जाए ‌‌‌‌‌गैस बंद कर दें।
- ध्यान दें, घोल को पकने में आधा घंटा लग जाता हैं।

पापड़ बनाने की विधि :
- सबसे पहले किसी साफ जगह पर चादर बिछा कर उस के ऊपर पोलिथिन शीट रखें।
- अब घोल ठंडा होने के बाद पोलिथिन शीट पर एक बड़ा चम्मच भर कर साबूदाना घोल डाल कर अच्छे से फैलाए।
- इसी तरह एक इंच की दूरी रखते हुए सारे घोल से पापड़ तैयार कर लें।
- इसके बाद 4-5 घंटे के बाद सभी पापड़ को पलटते रहें।
- 2-3 दिन की धूप में सूखाए।
- सूखने के बाद इन्हें तल कर खाइए और बचे हुये पापड़ कन्टेनर में भरकर रख लें।

आप चाहे तो नमकीन साबूदाना पापड़ की जगह इसमें 4 टेबलस्पून चीनी मिलाकर घोल तैयार कर इसके मीठे साबूदाना पापड़ भी बना सकते हैं।
 

20-02-2020
महाशिवरात्रि व्रत के साथ सेहत का भी रखें ख्याल, नहीं पड़ेंगे बीमार

नई दिल्ली। इस बार महाशिवरात्रि कल यानि शुक्रवार को है और बहुत से लोग इस दिन उपवास रहते हैं। लोग अपनी-अपनी श्रद्धा के अनुसार व्रत रखते हैं। कोई फल तो कुछ भक्त केवल पानी पीकर ही व्रत रखते हैं। मगर व्रत के साथ-साथ अपनी सेहत को नजरअंदाज करना सही नहीं है। एक्सपर्ट के मुताबिक व्रत रखना सेहत के लिए अच्छा है लेकिन सही तरीके से। चलिए आज हम आपको कुछ टिप्स देते हैं,जिससे आप व्रत के साथ-साथ अपनी सेहत का भी ध्यान रख सकते हैं।

सबसे जरूरी बात :
शिवरात्रि का व्रत फलाहारी होता है इसलिए पूरा दिन भूखा रहने से बचे। दिन में फल या ड्राई फ्रूट्स खाती रहें। व्रत में आप खाना नहीं खा सकते लेकिन सुबह दूध या फलों का जूस जरूर पीएं, ताकि दिनभर पेट भरा रहे। भूखे पेट रहने से शरीर थका,सिर में भारीपन व जी घबराने जैसी समस्याएं हो सकती हैं।

भरपूर पीएं पानी :

बॉडी को हाइड्रेट रखने के लिए दिनभर में कम से कम 8-9 गिलास पानी जरूर पीएं। इससे मेटबॉलिज्म भी बूस्ट होगा और शरीर में दिनभर एनर्जी भी रहेगी।

ज्यादा व्यायाम न करें :

ज्यादा व्यायाम आपके लिए हानिकारक हो सकता है इसलिए सुबह योग या हल्की-फुल्की एक्सरसाइज ही करें। व्रत रखने से पहले भक्तों को खुद को मेंटली तैयार कर लेना चाहिए।

चाय का ना करें सेवन :

अगर आपको थकान या कमजोरी महसूस हो तो चाय की बजाए फलों का जूस पीएं। खाली पेट चाय पीने से गैस्ट्रिक हो सकती हैं। हालांकि आप चाहें तो दिन में एक बार चाय पी सकती हैं।

नारियल पानी का सेवन :

एंटीऑक्सीडेंट्स,अमीनो एसिड,विटामिन्स,कैल्शियम और आयरन से भरपूर होने के कारण नारियल पानी का सेवन आपके लिए फायदेमंद होगा।

 

16-02-2020
पूर्व दिशा में सिर रखकर सोना स्वास्थ्य के लिए होता है फायदेमंद

रायपुर। हमारे स्वास्थ्य के लिए नींद उतनी ही जरूरी है, जितना कि भोजन करना। अगर सही तरीके से नींद ली जाए तो शरीर के लिए और ज्यादा फायदेमंद होगी। हम बात करेंगे किस दिशा में सिर रखकर सोना चाहिए। वास्तु शास्त्र के अनुसार पूर्व दिशा में सिर रखकर सोना अच्छा रहता है, जबकि पश्चिम दिशा में सिर रखकर कभी नहीं सोना चाहिए। पूर्व दिशा में सिर, यानि पश्चिम दिशा में पैर करके सोना स्वास्थ्य के लिहाज से अच्छा होता है। क्योंकि सूरज पूर्व दिशा की ओर से निकलता है और इसकी सबसे पहली किरण पूर्व दिशा में ही देखने को मिलती है। इसीलिए इस दिशा में सिर रखकर सोने से सुबह की पहली किरण आपके सिर पर आती है और आपके अंदर नई ऊर्जा का संचार होता है। जबकि इस दिशा में पैर करके सोने से आपके मस्तिष्क तक उचित ऊर्जा नहीं पहुंच पाती है।

 

16-02-2020
बच्चों के टिफिन के लिए जल्द तैयार कर सकते हैं टेस्टी एंड हैल्दी ओट्स पराठा, बनाना है बेहद आसान...

नई दिल्ली । बच्चों के टिफिन में कुछ स्पेशल देना है तो ट्राई करें टेस्टी एंड हैल्दी ओट्स पराठा।  आप इसे झटपट तैयार भी कर सकते हैं। तो चलिए जानते इस आसान सी डिश को बनाने की रेसिपी..

सामग्री :
गेहूं का आटा- 2 कप
ओट्स- 1 कप
नमक- स्‍वादानुसार
तेल- आवशयकतानुसार
लाल मिर्च पाउडर- 1/2 टीस्पून
अमचूर पाउडर- 1/2 टीस्पून
कसूरी मेथी- 1 टीस्पून


विधि :
- सबसे पहले एक बाउल में आटा, 1 टेबलस्पून तेल, नमक और पानी डालकर मिलाए और आटा गूंद लें।
- अभ एक अलग बाउल में ओट्स को गुनगुने पानी में थोड़ी देर भिगोने के बाद छान कर अलग रख लें।
- अब ओट्स में नमक, अमचूर, कसूरी मेथी और मिर्च पाउडर डाल कर मिलाए।
- तैयार आटे की छोटी-छोटी लोइयां बनाकर उसमें ओट्स के मिश्रण को भरकर आटे को अच्‍छी तरह से बंद करके पराठा बेल लें।
- गैस की धीमी फ्लैम में 1 नॉन स्‍टिक पैन गर्म होने के लिए रखें।
- इसमें थोड़े से तेल को गर्म करें और पराठे को सुनहरा भूरा होने तक सेंक लें।
- इसी तरह बाकी के सारे सभी पराठे बना लें।
आपको हैल्दी एंड टेस्टी ओट्स पराठे बन कर तैयार है। आप इसे दही, अचार या चटनी के साथ सर्व करें।

 

09-02-2020
संडे को अगर खाना चाहते हैं कुछ स्पेशल तो ट्राई करेें पिज्जा आमलेट, बनाना है बेहद आसान...

नई दिल्ली। बच्चों के स्वाद और सेहत लिए बेस्ट है पिज्जा आमलेट और आप इसे घर पर ही बहुत आसानी से तैयार कर सकते हैं। तो चलिए जानते हैं पिज्जा आमलेट बनाने की रेसिपी...

सामग्री :
अंडे- 3
नमक- स्वादानुसार
काली मिर्च- स्वादानुसार
लाल मिर्च- 1/2 टीस्पून
ओरेगेना- 1 टीस्पून
प्याज- 1 (बारीक कटा हुआ)
लाल-पीली शिमला मिर्च- 1/2 कटोरी ( बारीक कटी हुई)
ऑयल- आवश्यकतानुसार
ब्रेड स्लाइस- 4
पिज्जा सॉस- 2 टेबलस्पून
चीज- 1/2 कटोरी (कसा हुआ)


विधि :
— सबसे पहले एक बाउल में अंडा तोड़कर उसे फेंट लें।
— अब इसमें नमक, काली मिर्च, लाल मिर्च पाउडर और ओरेगेनो डाल कर अच्छे से मिक्स करें।
— एक पैन में तेल डाल कर गर्म होने के लिए रखें।
— तैयार मिश्रण को अंडे के साथ मिला कर इसे नॉन स्टिक तवे पर फ्राई कर लें।
— अब इस पर ऊपर से चीज डालें।
— इसके बाद पिज्जा आमलेट को पलट कर दूसरी तरफ से भी सेंक लें।
— अब इसके ऊपर ब्रेड स्लाइस रखें।
— इसे दोनों साइड से सेंकने के बाद पिज्जा सॉस और फ्राई की हुई सब्जियों से सजाएं।
— ऊपर से और चीज डालें।
— गैस बंद करके 1-2 मिनट के लिए चीज पिघल जाने के लिए इसे ढक दें।
— आपका पिज्जा आमलेट बनकर तैयार है इसे स्लाइस में काट कर गर्मा-गर्म सर्व करें।

06-02-2020
बच्चों से लेकर बड़ों तक हर किसी को पसंद आएगी ये क्रिस्पी और चटपटी चायनीज भेल, बनाना है बेहद आसान

नई दिल्ली। यूं तो आपने कई तरह की भेल खाई होगी पर अगर कुछ अलग तरह के भेल खाना चाहते है तो आप चटपटी चायनीज भेल ट्राई कर सकते है। शाम के नाश्ते में ये चटपटी भेल बच्चों से लेकर बड़ों तक हर किसी को बेहद पसंद आती है और इसे आसानी से बना सकते है। तो चलिए जानते है क्रिस्पी और चटपटी चायनीज भेल बनाने की रेसिपी...

चायनीज भेल बनाने की सामग्री :
नूडल्स - 100 ग्राम
गाजर -1
शिमला मिर्च - 1
पत्ता गोभी - 1 कप
टोमैटो सॉस - 2 टेबलस्पून
ऑयल - 1 टेबलस्पून
हरा धनिया - 2 टेबलस्पून
हरी मिर्च - 2
चाट मसाला - 1/2 टीस्पून
नमक - स्वादानुसार
ऑयल- फ्राई करने के लिए

चायनीज भेल बनाने की विधि :
- सबसे पहले नूडल्स को उबालने के लिए एक बड़े और गहरे बर्तन में पानी गर्म करें।
- इसमें 1/2 टेबलस्पून नमक और 1 टेबलस्पून ऑयल डालें।
- जब पानी उबलने लग जाए तो उसमें नूडल्स डालें और 10 मिनट तक उबालने दें।
- निश्चित समय के बाद नूडल्स को एक छलनी से छान कर अलग कर लें।
- एक बाउल में गाजर, शिमला मिर्च, पत्ता गोभी को लंबाई में काट लें।
- अब एक कटोरी में हरा धनिया और हरी मिर्च को बारीक काट कर अलग रख दें।
- एक कढ़ाई में तेज आंच पर तेल गर्म करें।
- इसमें नूडल्स डाल कर हल्का भूरा होने तक फ्राई कर लें।
- अब एक पैन में ऑयल डालकर गर्म करें। गैस की फ्लेम तेज रखें।
- इसमें सारी कटी हुए सब्जियां और नमक डालकर लगातार चलाते हुए क्रिस्पी होने तक पकाएं।
- जब सब्जियां अच्छे से भून जाए तो इसमें टोमैटो केचप और चाट मसाला डालकर अच्छे से मिक्स करें।
-  अब भेल बनाने के लिए एक बड़ा बाउल लें।    
- इसमें सारी सब्जियां, हरा धनिया और हरी मिर्च डालकर मिक्स कर लें।
- तैयार है आपकी टेस्टी, क्रिस्पी और चटपटी चायनीज भेल।

Please Wait... News Loading