GLIBS

19-06-2021
हेल्दी और टेस्टी ब्रेकफास्ट में बनाए ब्रेड ढोकला

रायपुर। जल्दी कुछ बनाना हो तो ब्रेड का ढोकला बना सकते हैं। ब्रेड का ढोकला एक आसानी से बनने वाला नाश्ता है, जो आपके लिए हेल्दी और टेस्टी ब्रेकफास्ट साबित होगा।

सामग्री :
सर्विंग: 5
ब्रेड का चूरा एक कप
सूजी एक चौथाई कप
दही आधा कप
बेसन 2 बड़े चम्मच
हरी मिर्च और अदरक का पेस्ट 1 छोटा चम्मच
शक्कर 1 छोटा चम्मच
नमक स्वादानुसार
हल्दी एक चौथाई छोटा चम्मच
इनो 1 छोटा चम्मच
पानी आवश्यकतानुसार
तड़के के लिए तेल एक छोटा चम्मच
राई एक छोटा चम्मच
करी पत्ता 8-10
हरी मिर्च 2

विधि :
-ब्रेड का चूरा सूजी बेसन और दही एक साथ मिला लें।
-इसमें आवश्यकतानुसार पानी डालकर घोल तैयार कर लें।
-तैयार घोल को 5-10 मिनट छोड़ दें।
-अब इसमें नमक हल्दी अदरक हरीमिर्च पेस्ट व शक्कर डालकर अच्छी तरह मिला लें।
-अब इसमें ईनो मिला लें।
-तैयार घोल को तेल लगी प्लेट में डालकर 10 से 15 मिनट के लिए भाप मे पकाएं।
-15 मिनट में छुरी डालकर देखें ढोकला पक्का है या नहीं अगर ना पका हो तो और 5 मिनट के लिए पकाएं।
-पक जाने पर गैस बंद कर दें इसे ठंडा होने दें।
-तड़के के लिए तेल गर्म करें। इसमें राई हरी मिर्च और करी पत्ता डाल दें।
-इस तड़के को ढोकले पर अच्छी तरह फैला दें।
-ब्रेड का ढोकला तैयार है। इसे मनचाहे सॉस चटनी के साथ परोसें।

18-06-2021
टेस्टी और हेल्दी है मैक्सिकन डिश पनीर और साल्सा टोर्टीया रैप, कई सारे चटपटे मसाले डालकर बनता है यह व्यंजन

रायपुर। पनीर और साल्सा टोर्टीया रैप एक स्वादिष्ट और स्वस्थ व्यंजन है। यह एक मैक्सिकन डिश है, जिसमें कई सारे चटपटे मसाले डालकर तैयार किया जाता है। क्रिस्पी टॉर्टिला रैप्स में पनीर और टैंगी साल्सा की स्टफिंग की जाती है। बच्चों से लेकर बड़ों तक सबको यह खूब पसंद आएगा।

सामग्री :
1/2 टी स्पून जीरा
150 ग्राम पनीर
2 टी स्पून अदरक-लहसुन पेस्ट
1/2 टी स्पून मिर्च पाउडर
3 स्प्रिंग अनियन
1/2 टी स्पून हल्दी
स्वादानुसार छोटी हरी मिर्च
20 ग्राम एक्सट्रा वर्ज़न ऑलिव ऑयल
1 नींबू
1/2 टमाटर
1 खीरा
1 प्याज़
1 मूली
1 टोर्टीया
400 (मिली.) दही
1/2 टी स्पून नमक
7 पत्ते पुदीना
स्वादानुसार नमक
स्वादानुसार चाट मसाला

 वि​धि :
पनीर मैरीनेट के लिए -
-जीरा सूखा भून कर पीस लें। एक बाउल में दही, अदरक-लहसुन का पेस्ट, मिर्च पाउडर, हल्दी, नमक, सूखा भुना जीरा, स्प्रिंग प्याज़, हरी मिर्च और थोड़ा एक्सट्रा वर्ज़न ऑलिव ऑयल लें।
-सभी को एक साथ मिला लें और पनीर को मैरिनेड करने के लिए मिक्सचर तैयार कर लें। मिश्रण में टैंगी टेस्ट के लिए थोड़ा-सा नींबू का रस डाल दें।
-150 ग्राम पनीर के पीस काट लें और आराम से मिक्सचर में मैरिनेड करने के लिए डालें।

साल्सा के लिए :
-टमाटर, खीरा, प्याज़, गाज़र और स्प्रिंग अनियन लें और उन्हें काटकर एक बाउ में रख लें। साल्सा बनाने के लिए इसमें एक्सट्रा वर्ज़न ऑलिव ऑयल, नमक, चाट मसाला और पुदीने की पत्ती मिलाएं।

रैप के लिए :
-दो छोटे चम्मच एक्सट्रा वर्ज़न जैतून का तेल पैन में लें और उसे गर्म करें। पनीर को हल्का फ्राइ करें।
-अब एक दूसरा पैन लें और उसमें एकस्ट्रा वर्ज़न ऑलिव ऑयल जालें और कॉर्न टोर्टीला को हल्का रोस्ट करें।
-टोस्ट वाले टोर्टीला में मैरिनेड किए हुए पनीर और साल्सा डालें और धीरे से बंद करें।

14-06-2021
कैल्शियम, पोटेशियम, विटामिन बी कॉम्प्लेक्स से भरपूर ओट्स इडली बनाइए खाइए खिलाइए और तारीफ लूटिए

रायपुर। ओट्स इडली खाने में बहुत ही पौष्टिक होती है। ओट्स में कैल्शियम, पोटेसियम, विटामिन बी -कॉम्प्लेक्स भरपूर मात्रा में होता है। इसे आप चटनी, सॉस या सांबर के साथ सभी को सर्वे करें। सभी इसका सेवन बड़े चाव से करेंगे।

सामग्री :
एक कप ओट्स  
250 ग्राम दही 
सरसों के दाने 
1/2 टीस्पून चना दाल 
1/2 टीस्पून उड़द दाल 
1/2 कप गाजर (कद्दूकस से कसी हुई)  
धनिया, हरीमिर्च (बारीक कटी हुई) 
1 टेबल स्पून तेल
1/2 टीस्पून हल्दी 
नमक (स्वादानुसार) 
1/2 टीस्पून ईनो 

विधि :
-सबसे पहले ओट्स को हल्का भूरा होने तक कड़ाई में गर्म कर लें।
-अब पीसकर इसका पाउडर बना लें,फिर एक पैन में तेल लें और इसमें सरसों के दाने डालकर तड़कने दें।
-अब चना और उड़द दाल को भूरा होने तक भुनें। फिर इसमें कटा हुआ धनिया, हरी मिर्च और गाजर डालकर एक मिनट तक पकने दें।
-अब मिश्रण बनकर तैयार हो गया है। अब इस मिश्रण को ओट्स पाउडर और दही के साथ मिलाएं। इसमें पानी का इस्तेमाल नहीं करना है। हालांकि दही को इच्छानुसार कम या ज्यादा कर सकते हैं।
-अब इडली का मिश्रण भी तैयार हो गया है। फिर ईनो को मिश्रण में मिलकर इसे भाप में पकने के लिए 15 से 20 मिनट तक के लिए रख दें। 
-अब इडली बनकर तैयार हो जाएगी। इसे एक प्लेट में निकालकर सांबर या नारियल की चटनी या फिर प्याज की चटनी के साथ सर्व करें।
 

13-06-2021
बाहर से कुरकुरी और अंदर स्वाद का खजाना, राजकचौरी का क्या कहना, बनाइए खाइए खिलाइए और तारीफ लूटिए

रायपुर। घर पर बनाए राज कचौरी सबको खिलाए। राज कचौरी के अन्दर अनेकों स्वाद भरे होते हैं। बाहर से कचौरी का कुरकुरापन के तो क्या कहने। इसको बनाना काफी आसान है। 

सामग्री :
मैदा – 1 कप
सूजी – 1/4 कप
मूंग या चना – 1 कटोरी (उबले हुए)
उड़द दाल की पकौड़ी (पानी में भीगी हुई) – 1 कटोरी
बेकिंग सोडा – 2 चुटकी
तेल – 1 छोटा चम्मच
पानी- जरूरत अनुसार

फीलिंग के लिए सामग्री :
उबले आलू – 1 कटोरी (कटे हुए)
मीठी चटनी – स्वाद अनुसार
भुना हुआ जीरा – स्वाद अनुसार
काला नमक – स्वाद अनुसार
दही (फैंटा हुआ) – 250 ग्रा
सेव भुजिया – स्वाद अनुसार
लाल मिर्च पाउडर – स्वाद अनुसार
हरी चटनी – स्वाद अनुसार

विधि :
- इसे बनाने के लिए आप सबसे पहले एक बाउल में सूजी, मैदा, बेकिंग सोडा, पानी और डालकर नरम आटा गूंथ लें।
- फिर आटे की छोटी-छोटी लोइयां बनाकर बेलें।
- इसके बाद अब पैन में तेल गर्म करें कचौरी फूलने तक फ्राई करें।
- कचौरी के ठंडा होने पर उसे बीच से फोड़ कर दाल की पकौड़ी डालें।
- इसके बाद फिर आलू, चने, जीरा, नमक, लाल मिर्च, काला नमक, हरी चटनी, मीठी चटनी भरें।
- फिर इसके ऊपर से फेंटे हुए दही और सेव भुजिया से गार्निश करके सर्व करें।

12-06-2021
हेल्दी, टेस्टी और कम्फर्ट फूड है मेंगो राइस, दिन के खाने के लिए लज्जतदार, खाने वाले उंगलियां चाटते रह जाएंगे

रायपुर। मैंगो राइस एक ऐसी आम की डिश है, जिसे आप अपने दिन के खाने के लिए बना सकते हैं। इस रेसिपी में कच्चे आम की वजह से एक हल्का खट्टा स्वाद आता है। यह एक बहुत ही कम्फर्ट फूड है। 

सामग्री :
1 मीडियम साइज का कच्चा आम
3 कप पके हुए चावल
1 छोटा चम्मच बड़ी राई
1 छोटा चम्मच चना दाल
2 छोटा चम्मच लाल मिर्च पाउडर
चुटकीभर हल्दी पाउडर
5-6 करी पत्ते
नमक स्वादानुसार
तेल फ्राई करने के लिए
सजावट के लिए
1 बड़ा चम्मच बारीक कटी हुई धनिया पत्ती

विधि :
- सबसे पहले कच्चे आम को छीलकर छोटे टुकड़ों में काट लें।
- धीमी आंच में एक पैन में तेल गर्म करने के लिए रखें।
- तेल के गर्म होते ही इसमें राई डालें। 
- राई के चटकते ही करी पत्ते, चना दाल, आम के टुकड़े, हल्दी और लाल मिर्च पाउडर डालकर 2 मिनट तक फ्राई करें।
- तय समय के बाद इसमें चावल और नमक अच्छे से मिलाकर कड़छी से चलाते हुए फ्राई कर लें।
- मैंगो मसाला राइस तैयार है।
- बारीक कटी हुई धनिया पत्ती से गार्निश कर रायते और अचार के साथ इसका आनंद ले।

12-06-2021
फिजिकल हेल्थ के साथ-साथ ओरल हाइजीन भी जरूरी, खानपान ठीक न रहा तो होती है दांत मसूड़ो की बीमारियां

रायपुर। फिजिकल हेल्थ को बरकरार रखने के साथ ही ओरल हाइजीन का ख्याल रखना भी जरूरी है। दांतों की परेशानी भी आज के समय में बेहद आम हो चुकी है। इसके कारण दांत दर्द, सूजन और कई दूसरे लक्षण दिखने लगते हैं। दांत में सड़न, कैविटी, संक्रमण और मसूड़े में परेशानी भी हो सकती है। इन परेशानियों से उबरने के लिए अक्सर लोग दवाइयों का सेवन करते हैं, जो खतरनाक हो सकता है। यही कारण है कि दांतों की परेशानी से बचने के लिए सही खानपान बेहद जरूरी है।

11-06-2021
नाश्ता स्पेशल भी होना चाहिए, हेल्दी भी और बच्चों को पसंद भी आए ऐसा तो एक बार इसे ट्राई करके देखिए मजा आ जाएगा

रायपुर। स्पेशल नाश्ता हो या बच्चों को हेल्दी खाना खिलाना, इस परेशानी को दूर करने के लिए आज हम पेश कर रहे हैं राजमा मसाला सैंडविच की रेसिपी। यह खाने में बेहद टेस्टी होते हैं और बनाने में आसान भी। 

सामग्री :
ब्रेड- 6 
बटर- आवश्यकतानुसार
बारीक कटा प्याज- 1 
उबले आलू- 2 
उबला राजमा- 1/2 कप
बारीक कटा अदरक-लहसुन- 2 चम्मच 
हल्दी पाउडर- 1 चम्मच
लाल मिर्च पाउडर- 1 चम्मच
गरम मसाला पाउडर- 1 चम्मच
चाट मसाला पाउडर- 1 चम्मच
नमक- स्वादानुसार
तेल- आवश्यकतानुसार

विधि :
पैन में एक चम्मच तेल गर्म करें और उसमें अदरक-लहसुन को कुछ सेकेंड तक भूनें। अब उस पैन में मैश किया आलू, उबला राजमा, नमक और अन्य सभी मसाले डालें। मध्यम आंच पर मिश्रण को अच्छी तरह से पकाएं और गैस बंद कर दें। जब मिश्रण पूरी तरह से ठंडा हो जाए तो उसमें बारीक कटा प्याज और हरी मिर्च डालकर मिलाएं। ब्रेड स्लाइस के ऊपर यह राजमा वाला मिश्रण डालकर फैलाएं। ऊपर से दूसरा ब्रेड रखें। तीनों सैंडविच इसी तरह से तैयार कर लें। सैंडविच के ऊपर बटर लगाएं। नॉनस्टिक पैन में सैंडविच को दोनों ओर से सुनहरा होने तक सेंकें और सर्व करें।

11-06-2021
कच्ची सब्जियां व सलाद खाना सेहत के लिए फायदेमंद ही नहीं होता ये नुकसान भी पहुंचा सकता है, जानिए क्या और कैसे

रायपुर। कुछ लोग सेहतमंद रहने के लिए कुछ सब्जियों को भी सलाद की तरह कच्चा खाते हैं। हालांकि सलाद और कुछ कच्ची सब्जियां भी स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद है। लेकिन क्या आप जानते हैं कई फल और सब्जियों को कच्चा खाने से आपको नुकसान भी हो सकता है। यहां तक कि आपको कई बीमारियां भी हो सकती है। कई कच्ची सब्जियों और फलों को पचाने में भी बहुत मुश्किल होती है। ऐसे में ये सब्जियां पेट में इंफेक्शन भी पैदा कर देती है।

मशरूम- कुछ लोग सलाद के रूप में कच्चा मशरूम भी खाते हैं। लेकिन ये गलत है। मशरूम को पका कर खाने से भरपूर पोषक तत्व मिलते हैं। इसे आप ग्रिल करके भी खा सकते हैं। ग्रिल की हुई मशरूम में पोटेशियम की मात्रा बढ़ जाती है। आपको मशरुम को अच्छी तरह से धोकर हमेशा पका कर ही खाना चाहिए। 

ग्वार की फलियां- ग्वार की फलियों में अमीनो एसिड होता है, इसलिए इन्हें कच्चा खाने से शरीर में कई तरह के नुकसान हो सकते हैं। आपको कभी भी ग्वार की फलियों को कच्चा नहीं खाना चाहिए।

10-06-2021
आंध्रा का ऑलटाइम फेवरेट नाश्ता सूजी व मूंग दाल से बना रवा पोंगल टेस्टी भी हेल्दी भी

रायपुर। रवा पोंगल आन्ध्रा का बहुत ही प्राचीन नाश्ता है। रवा पोंगल को मसाला चाय के साथ नाश्ते के लिए परोस सकते हैं। रवा पोंगल पौष्टिक और स्वादिष्ट पकवान है जो सूजी और मूंगदाल से बनता है। 
सामग्री :
सर्विंग: 4
1/2 कप : मूंग दाल
1 कप : सूजी
3 कप : गुनगुना पानी
2 तबसप : घी
2 तबसप : तेल
1/4 टीएसपी : राई
1/4 टीएसपी : जीरा
1/4 टीएसपी : काली मिर्च
1/4 टीएसपी : हल्दी
3 से 4 : हरी मिर्ची
1/2 टीएसपी : अदरक बारीख कटी हुई
1/4 कप : गाजर कटी हुई
1/4 कप : मटर
5 से 6 : कड़ी पत्ता
नमक स्वाद अनुसार
2 तबसप : पुदीना के पत्ते कटी हुई
2 तबसप : काजू भुनी हुई

विधि :
-रवा पोंगल बना ने के लिए पहले आप दाल को अच्छे से साफ कर के धो लीजिए और कुकर में उबाल कर रख लीजिए। 
-सूजी को धीमी आँच पर खुशबू आने तक भून कर रख लीजिए। 
-एक कड़ाई को गरम करके इसमें तेल डाल लीजिए। राई, जीरा, काली मिर्ची, कड़ी पत्ता डाल के तडका कर लीजिए। 
-अब इस में कटी हुई गाजर,हरि मिर्ची,पुदीना,अदरक,मटर डाल के भून लीजिए और धीमी आँच पर पका लीजिए। 
-बाद में हल्दी, भुने हुए काजू भी डाल कर मिला लीजिए। 
-अब इस में उबला हुआ दाल और पानी डाल कर मिलाइए और ढक कर उबाल लीजिए। 
-उबाल आने पर आँच धीमी करिए और नमक डाल कर मिलाइए। 
-अब भुनी हुई सूजी को धीरे धीरे डाल ते हुए अच्छे से मिलाइए। सावधान रहें क्योंकि यह बहुत जल्दी लंपता जाता है। 
-थोड़ी ही देर में यह पानी सोख लेगा और घाड़ा हो जाएगा।ऐसा होते ही आँच बंद करके घी डालिए और मिलाइए। एक मिनट के लिए ढक कर रखिए। 
-बाद में एक और बार मिला लीजिए और यह अब परोस ने के लिए तैयार हैं। 
-आप रवा पोंगल को नारियल की चटनी के साथ खा कर उसका आनंद लीजिए।

09-06-2021
अखण्ड सौभाग्य की कामना पूरी करने वाला वट सावित्री व्रत आज, पति की दीर्घायु के लिए वट को बांधते हैं रक्षासूत्र

रायपुर। प्रत्येक वर्ष ज्येष्ठ माह में कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि के दिन वट सावित्री का व्रत किया जाता है। वट सावित्री के दिन वट वृक्ष में सूत बांधने और पूजा करने का विशेष महत्व माना जाता है। कहा जाता है कि वट वृक्ष की जड़ों में ब्रह्मा, तने में भगवान विष्णु और डालियों व पत्तों में भगवान शिव का वास होता है। इसके आलावा धार्मिक मान्यता के अनुसार सावित्री ने अपने पति के प्राणों की रक्षा की थी इस कारण ही अपने पति की दीर्घायु की कामना के साथ रक्षा सूत्र के रूप में वट वृक्ष में सूत बांधा जाता है और पूजा की जाती है। स्त्रियां देवी सावित्री से अखंड सौभाग्य और संतान प्राप्ति की कामना करती हैं।

09-06-2021
रोज-रोज लस्सी मिले वो भी अलग-अलग फ्लेवर की तो क्या कहने और अगर बात हो शाही लस्सी की तो फिर बस वाह-वाह

रायपुर। अलग-अलग फ्लेवर की लस्सी रोज मिले तो ताजगी भी रहेगी और साथ ही साथ स्वाद से भरपूर कुछ नया एहसास भी मिलेगा। तो घर पर बनाइए सबके लिए शाही लस्सी, सबको कहते रह जाएंगे वाह वाह। 

सामग्री :
1/2 कप दही
1 स्कूप वनीला आइसक्रीम
1 टेबल स्पून चीनी
2-3 केसर के रेशे
1/4 कप पानी
1/2 टी स्पून कटे बादाम

 वि​धि :
-दही, चीनी, पानी और वनीला आइसक्रीम लें और इस मिश्रण को ब्लेंड करें।
-एक छोटी कटोरी में केसर को एक चम्मच पानी के साथ भिगो दें।
-लस्सी के बेस को गिलास में डालें और ऊपर से केसर डाल दें। इस मिश्रण को धीरे से मिलाएं।
-ड्राई फ्रूट्स से सजाएं और इसका मजा लें।

09-06-2021
सिर्फ कब्ज निवारक ही नहीं है त्रिफला चूर्ण, आंखों, डायबिटीज, ब्लड प्रेशर व हार्ट की बीमारियों के लिए भी फायदेमंद है

रायपुर। आमतौर पर लोग त्रिफला चूर्ण को कब्ज निवारक के रूप में ही जानते हैं। लेकिन इसके अलावा भी इसका सेवन करने के कई फायदे हैं। यदि आपको किसी भी प्रकार की पेट संबंधी समस्या है तो आपके लिए त्रिफला चूर्ण का सेवन बहुत ही गुणकारी रहेगा। पेट के अलावा भी इसे खाने से कई रोगों में राहत मिलती है। 

त्रिफला चूर्ण के फायदे :

पाचन के लिए त्रिफला के फायदे।
आंखों के लिए त्रिफला के फायदे।
वजन कम करने के लिए त्रिफला चूर्ण के फायदे।
- कब्ज के लिए त्रिफला चूर्ण के फायदे।
- रक्तचाप और स्वस्थ हृदय के लिए।
- डायबिटीज के लिए त्रिफला पाउडर के फायदे।
- रोग-प्रतिरोधक क्षमता के लिए त्रिफला के फायदे।
- वायरल और बैक्टीरियल संक्रमण के लिए त्रिफला के फायदे।

Please Wait... News Loading