GLIBS

07-08-2020
फर्जी चेक और एनईएफटी के जरिए महिला ने की ठगी, आई पुलिस की गिरफ्त में

रायगढ़। जिले के कोतवाली पुलिस को एक बड़ी सफलता हाथ लगी है। कोतवाली पुलिस ने महिला ठग को गिरफ्तार किया है,जिसने फर्जी चेक और एनईएफटी की स्क्रीनशॉट के सहारे ज्वेलरी शॉप के दुकानदार से लाखों की ठगी की थी। कोतवाली पुलिस ने इस मामले में 420 के तहत मामला दर्ज किया था। रायगढ़ में केस दर्ज होने के बाद महिला फरार होकर रायपुर चली गई थी। वह बार-बार जगह और मोबाइल नंबर बदल रही थी। महिला को पकड़ने गई पुलिस टीम को काफी मशक्कत करनी पड़ी। आखिरकार 5 दिन की कड़ी मेहनत के बाद आरोपी महिला को गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपी महिला का नाम मृदुबाला रॉय है, जो रायगढ़ गोकुल नगर में रहती है। ठगबाज महिला ने पहले रवि शंकर मार्केट स्थित एजी ज्वेलर्स से लगातार लेन देन जारी रखा। उसके बाद षडयंत्र रचते हुए 1 लाख 30 हजार रुपये का ज्वेलरी ले गई। महिला ने अपने प्लानिंग के तहत तगादा करने पर मोबाइल में फर्जी एनईएफटी बनाई और उसे ज्वेलर्स को दिखाते हुए उसके एकाउंट में आनलाइन रुपये ट्रान्सफर होने का झांसा दिया। साथ ही महिला ने चेक भी ज्वेलर्स को दिया ताकि वह उस पर विश्वास कर सके।

इस तरह चालबाज महिला ने ज्वेलर्स से लगभग 5 लाख रुपये का जेवर ठग लिया। जब ज्वेलर ने बैंक जाकर पता किया तो ऐसा कोई भी ट्रांजैक्शन उसके अकाउंट में नहीं हुआ था। इसके बाद उसे पूरे मामले का पता चला। इस बीच 22 जुलाई को जब ज्वेलर्स और उसका स्टाफ किसी काम से निकले थे। तभी मृदुबाला कोतरारोड की तरफ जाते हुए मिली। इजिस पर ज्वेलर्स ने उसे रोककर रुपये देने की बात कही तो उक्त महिला ने उल्टे ज्वेलर्स को धमकाते हुए कहा कि आज के बाद रुपये के संबंध में कोई बात की तो पुलिस थाने में रेप अटेम्प्ट का रिपोर्ट लिखवा देगी। महिला ने जेल भिजवाने की भी धमकी दी। ऐसे में महिला द्वारा ठगी किए जाने के बाद भी धमकाने से हलाकान ज्वेलर्स ने इसकी लिखित शिकायत थाना कोतवाली में की थी। खबर लिखे जाने तक कोतवाली पुलिस आरोपी महिला कोतवाली में ही थी,जहां उससे पूछताछ की जा रही है और आगे की कार्यवाही जारी है।

 

07-08-2020
जंगल में छोड़ दिया था भैंसों को और हो गया था फरार, दो साल बाद आया गिरफ्त में

राजनांदगांव/गंडई। दो साल से फरार आरोपी को पुलिस ने पकड़ा है। पुलिस ने मिली जानकारी के अनुसार वर्ष 2018 में प्रार्थी चोवाराम ठेठवार निवासी मुंडाटोला ने अपनी 42 भैंस को लावातरा निवासी घासीराम यादव को चार माह के लिए चराने के लिए दिया था। इसके ऐवज में 6000 रुपए रुपए चराने की बात हुई थी। करीबन ढाई माह भैंस को चराने के बाद आरोपी, प्रार्थी को बिना बताये 42 भैसों को जंगल में छोड़ दिया। इसके बाद प्रार्थी जंगल से 17 भैंस को ढूंढ पाया। प्रार्थी चोवाराम की शिकायत पर आरोपी द्वारा 25 भैंस कीमती 6,25,000 रुपए का बेईमानी पूर्वक अफरा-तफरी करना पाये जाने से थाना गंडई में अपराध क्रमांक 26/18 धारा 406 भादवि कायम कर विवेचना में लिया गया था। आरोपी घासीराम यादव विगत दो वर्ष से फरार था, जिसे शुक्रवार को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया है।

 

07-08-2020
Video : पावर प्लांट में चोरी करने वाला युवक हुआ गिरफ्तार, उरगा पुलिस ने की कार्यवाही

कोरबा। जिले के लैंको अमरकंटक पावर प्लांट में चोरी करने वाले युवक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। थानाा उरगा में प्रार्थी सरोज राय की रिपोर्ट पर अपराध कायम कर विवेचना में लिया गया था। विवेचना के दौरान आरोपी विजय पैकरा 20 वर्ष, निवासी ग्राम पहंदा थाना उरगा निवासी को गिरफ्तार किया गया है। आरोपी युवक से लोहे का एंगल 80 किलोग्राम करीबन कीमती 2,000 रू को बरामद कर गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेजा गया है। आरोपी विजय पैकरा से चोरी की एंगल एवं सायकिल जब्त की गई है।

07-08-2020
1 लाख के गांजा के साथ दो आरोपी गिरफ्तार

महासमुन्द। बुंदेली चौकी पुलिस ने मोटर साइकिल में गांजा तस्करी करने वाले दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। इनसे 10 किलो गांजा  आरोपियों से बरामद किया है। इसकी कीमत एक लाख रूपए बताई जा रही है। बुंदेली चौकी प्रभारी विकास शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि मुखबिर से सूचना मिली कि बुंदेली क्षेत्र में कुछ गांजा तस्करों द्वारा गांजा का अवैध परिवहन करने वाले हैं। सूचना पर चौकी प्रभारी ने सादे वर्दी में पुलिस गांजा परिवहन करने वाले रास्ते पर आरोपियों का इंतजार कर रहे थे। इसी दौरान दो व्यक्ति मोटर साइकल में पहुंचे, जिससे पूछताछ करने पर उन्होंने अपना नाम लोकेश्वर धीवर 38 साल निवासी आजाद चौक बुडेरा थाना खरोरा रायपुर, ओमप्रकाश बंजारे 28 साल निवासी ग्राम बाना थाना खरोरा रायपुर बताया। पुलिस की टीम ने दोनों गांजा तस्करों से 10 किलो गांजा एक लाख कीमत और एक मोटर सायकल 70 हजार रुपये जब्त कर उनके खिलाफ 20बी, एनडीपीएस एक्ट कार्रवाई कर जेल भेजा जा रहा है। 

07-08-2020
31 लीटर कच्ची शराब जब्त, आरोपियों के खिलाफ आबकारी एक्ट के तहत कार्रवाई

रायपुर/धमतरी। जिले के कलेक्टर जय प्रकाश मौर्य के निर्देश पर आबकारी अमला ने अवैध मदिरा बेचने वालों के खिलाफ लगातार कार्रवाई की जा रही है। इसी कड़ी में मगरलोड के ग्राम मड़ेली में बेचने की नीयत से बड़े पैमाने पर कच्ची शराब बनाने की सूचना पर आबकारी टीम को मिली। इसके मद्देनजर दल द्वारा शुक्रवार सुबह छापामार कर कमार डेरा मड़ेली निवासी बिहार, रुपौतीन और चिंताराम के आधिपत्य से कुल 31 लीटर हाथ भट्ठी महुआ शराब बरामद किया गया तथा मौके पर 80 किलोग्राम महुआ लाहन को नष्ट किया गया। आबकारी दल द्वारा आरोपियों के विरूद्ध धारा 34(1)(ख), 34(2) तथा 59(क) आब. एक्ट के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर उन्हें ज्यूडिशियल रिमाण्ड पर जेल भेज दिया गया। गौरतलब है कि पंजाब राज्य में नकली शराब के उपभोग से हुई जनहानि के मद्देनजर आबकारी आयुक्त, छत्तीसगढ़ द्वारा अवैध शराब के विनिर्माण/धारण/परिवहन/विक्रय पर कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं।

07-08-2020
आत्महत्या से पहले मां ने की थी डेढ़ वर्ष के मासूम बेटे की हत्या...

रायपुर। राजधानी के राखी थाना क्षेत्र अंतर्गत सेक्टर 29 नया रायपुर में पत्नी ने आत्महत्या से पहले अपने पुत्र को साड़ी के एक छोर से बांधकर उसकी हत्या कर दी। बता दें कि 27 जून को तरुण साहू अपने दोस्त के सामान शिफ्टिंग के लिए रायपुर में था। घर पर उसके ​पिता अंतरयामी साहू, पत्नी नम्रता साहू व पुत्र रुद्रांश साहू थे। शाम 5 बजे लौटने पर मेन गेट की कुंडी बाहर से लगी हुई थी। घर के ऊपर के रूम में तरुण की पत्नी नम्रता साहू व डेढ़ वर्षीय पुत्र रुद्रांश मृत मिले। 

राखी थाना से मिली जानकारी के मुताबिक पोस्टमार्टम रिपोर्ट और घटनास्थल में मिले सबूतों के आधार पर यह पाया गया कि मृतिका नम्रता साहू ने पहले साड़ी के एक छोर से पुत्र रुद्रांश साहू के गले में फांसी का फंदा डालकर खिड़की में साड़ी फंसा कर रुद्रांश को लटका दिया। इसके बाद साड़ी के दूसरे छोर को पंखे में फंसा कर प्लास्टिक की कुर्सी में चढ़कर आत्महत्या कर ली। तरुण को पहले से ही अनुमान था कि उसकी पत्नी ने ही पुत्र की हत्या की होगी। पुलिस ने इस मामले में मृतिका नम्रता साहू के विरुद्ध हत्या का मामला दर्ज किया है।

06-08-2020
नीलगाय का शिकार करने वाले 21 लोग गिरफ्तार

बलरामपुर। बलरामपुर में नीलगाय का शिकार करने वाले 21 लोगों को हिरासत में लिया गया है। उनके पास से नील गाय का मांस भी बरामद हुआ है। प्राप्त जानकारी के अनुसार चांदो वन परिक्षेत्र में वन विभाग ने बड़ी कार्यवाही करते हुए नीलगाय का शिकार करने वाले 21 लोगों को हिरासत में लिया है। हिरासत में लिए गए लोगों के पास से चार भरमार बंदूक भी बरामद हुई है। इसके साथ ही नील गाय का मांस भी बरामद किया गया है सभी आरोपियों को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया गया है।

 

06-08-2020
बदमाशों में पुलिस का खौफ नाममात्र का भी नहीं, देर रात ताबड़तोड़ चाकूबाजी

रायपुर। शहर के राजेन्द्र नगर थाना क्षेत्र में चाकूबाजी की घटना सामने आई है। बता दें कि ऑटो गैरेज संचालक हरीश तांडी पर चार बाइक सवार बदमाशों ने हत्या की नीयत से ताबड़तोड़ हमला कर दिया। हमले में गंभीर रुप से घायल हरीश तांडी को अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। इससे पहले भी शहर में पिछले 3 दिनों में 5 बड़ी चाकूबाजी की घटनाओं घट चुकी है।

 

06-08-2020
बुजुर्ग दम्पति की हत्या के आरोपी 13 साल बाद गिरफ्तार, भवरीडीह नदी में बहाने का है मामला 

कोंडागांव। बुजुर्ग दम्पति की हत्या के 13 साल पुराने मामले में मर्दापाल पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। वर्ष 2007 में आरोपियों ने जमीन विवाद में बुजुर्ग दम्पति की हत्या कर नदी में फेंक दिया था। लंबित प्रकरणों की जांच के दौरान यह केस सामने आया और इसकी परत खुलने लगी। फिलहाल पुलिस ने मामले के दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं अन्य आरोपियों की मौत हो चुकी है।बताया गया कि वर्ष 2007 में दर्ज मर्ग प्रकरण जिसमें अज्ञात व्यक्ति का नर कंकाल भवरीडीह नदी पर मिला था  मामले में फिर से जांच शुरु की गई। साक्ष्यों को संज्ञान में लेकर पुलिस ने हत्या के 13 साल पुराने मामले का खुलासा किया है। पुलिस अधीक्षक कोण्डागांव  सिद्धार्थ तिवारी के निर्देश पर जिले में वर्षों से लंबित मर्ग प्रकरणों के निराकरण के लिए विशेष अभियान चलाया जा रहा है।

थाना मदार्पाल में वर्ष 2007 से लंबित मर्ग प्रकरण में  नवीन वैज्ञानिक साक्ष्यों और चश्मदीद गवाहों के कथनों के आधार पर यह पता चला कि वर्ष 2007 में जमीन विवाद और इमली झाड़ के विवाद को लेकर ग्राम बड़कों के जगाराम सोरी, जुगदेर कोर्राम, रसमेन सोरी, सुकासिंग सोरी और लक्ष्मण सोरी ने मिलकर माह अक्टूबर 2007 में दम्पति लखमू राम और बिनई बाई की हत्या कर शव को ग्राम कोडेनार और चेमा के बीच भंवरडीह नदी में फेक दिया था। प्रारम्भिक जांच में फोरेंसिक साक्ष्य से जब हत्या होने की बात सामने आई तब पुलिस अधीक्षक  सिद्धार्थ तिवारी  ने तत्काल अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक  अनंत कुमार साहू के मार्गदर्शन में और उप पुलिस अधीक्षक दीपक मिश्रा के पर्यवेक्षण में थाना मदार्पाल प्रभारी निरीक्षक रमन उसेंडी के नेतृत्व में विशेष टीम का गठन किया। ग्राम बड़कों पूर्व में मदार्पाल क्षेत्रान्तर्गत आता था जो उस समय धुर नक्सल प्रभावित क्षेत्र था और आरोपी उस समय जनमिलिशिया सदस्य थे और उनका गांव में भय था जिस कारण गाँव के चश्मदीद गवाहों ने चुप्पी साध रखी थी। चूंकि मृतकों के पुत्र और सगे परिजन ग्राम बड़को में निवासरत नहीं थे इस कारण उन्हें वास्तविक घटना का ज्ञान उस समय नही चला और जब अक्टूबर  2007 में घटना के बाद उन्होंने अपने माता पिता से बहुत दिनों से संपर्क न होने पर गांव जाकर पूछताछ की तो उन्हें गुमराह होना पड़ा। तब उनके द्वारा गुम इंसान प्रकरण भी दर्ज कराया गया।

इसकी जांच के दौरान नदी से मिले नर कंकाल और गुम इंसान के विवरण का फोरेंसिक मिलान करवाया गया। वर्तमान में जब पुलिस ने उन्हें हिम्मत दिलाते हुए जांच में मिले साक्ष्यों से अवगत कराया और जब उसी घटना के चश्मदीद गवाहों को उनके सामने लाकर सच सुनवाया तब सारी कड़ियाँ जुड़ती चली गई और पीड़ित परिवार में अपने माता पिता को न्याय दिलाने की आस फिर जग गई। बताया गया कि इसी दौरान 5अगस्त 2020 को ग्राम बड़को में आरोपी सुकासिंग और लक्ष्मण के उपस्थित होने की सूचना मिलने पर थाना प्रभारी मदार्पाल,  रमन उसेण्डी के नेतृत्व में पुलिस टीम तत्काल रवाना हुई। ग्राम बड़को में आरोपी सुकासिंग और लक्ष्मण की घेराबंदी कर पकड़ा गया। पूछताछ की गई तो उन्होंने हत्या करने की घटना को स्वीकार कर मामले का खुलासा किया। इस हत्या के अन्य 3 आरोपी जगाराम सोरी , रसमेन सोरी और जुगदेर की कम उम्र में ही बीमारी के कारण मृत्यु हो गई है और अन्य 2 आरोपियों सुकासिंह और लक्ष्मण को धारा 302, 201, 147,148,149,506 के तहत हिरासत में लेकर न्यायिक रिमांड पर भेज दिया गया है ।

06-08-2020
गबन के साढ़े 3 लाख जमा नहीं करने के मामले में डाकपाल गिरफ्तार, अब न्यायिक रिमांड में 

रायपुर/बालोद। जिले के नेवारीकला गांव के उप डाकघर कार्यालय का डाकपाल सूरज यादव को गिरफ्तार किया है। डाकपाल पर गबन के 3 लाख 50 हजार रुपए जमा नहीं करने का आरोप है। मामले की शिकायत बालोद थाने में दर्ज होने के बाद से ही आरोपी फरार था। लेकिन पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर जेल भेज दिया है।

Please Wait... News Loading