GLIBS

22-10-2019
आज देश में बैंकिंग सेवाएं ठप, एसबीआई के ग्राहकों पर रहेगा आंशिक असर

नई दिल्ली। आज देश में बैंकिंग सेवाएं ठप रहेंगी। सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के विलय और जमा राशि पर ब्याज दर घटने के विरोध में ऑल इंडिया बैंक इंप्लॉइज एसोसिएशन व बैंक इंप्लॉइज फेडरेशन ऑफ इंडिया जैसी कुछ कर्मचारी यूनियनों ने मंगलवार को देशव्यापी हड़ताल का आह्वान किया है। हालांकि, अधिकारी और निजी क्षेत्र के बैंक हड़ताल में शामिल नहीं होंगे। ज्यादातर बैंकों ने अपने ग्राहकों को इस संबंध में पहले ही सूचित कर दिया है। देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया के ग्राहकों को इस हड़ताल का ज्‍यादा असर नहीं पड़ेगा। बैंक के मुताबिक जो कर्मचारी संगठन हड़ताल में शामिल हैं उसमें एसबीआई के कर्मचारियों की सदस्‍यता काफी कम है। भारतीय स्टेट बैंक सहित ज्यादातर बैंकों ने अपने ग्राहकों को हड़ताल और उसके प्रभाव के बारे में पहले ही सूचित कर दिया है। एसबीआई ने पिछले सप्ताह शेयर बाजारों को भेजी सूचना में कहा, ‘इस हड़ताल में शामिल कर्मचारी यूनियन में हमारे बैंक कर्मचारियों की सदस्यता संख्या काफी कम है। ऐसे में हड़ताल से बैंक के कामकाज पर असर काफी सीमित रहेगा।’ सार्वजनिक क्षेत्र के एक अन्य बैंक सिंडिकेट बैंक ने कहा, ‘प्रस्तावित हड़ताल को लेकर बैंक ने अपनी शाखाओं में सामान्य कामकाज के लिए आवश्यक कदम उठाए हैं। हालांकि, हड़ताल होने की स्थिति में बैंक शाखाओं-कार्यालयों का कामकाज प्रभावित हो सकता है।’ भारतीय मजदूर संघ से सम्बद्ध नेशनल ऑर्गनाइजेशन ऑफ बैंक वर्कर्स और नेशनल ऑर्गनाइजेशन ऑफ ऑफिसर्स तथा इनसे जुड़ी बैंक यूनियंस ने बताया है कि वह 22 अक्टूबर को प्रस्तावित बैंक हड़ताल में शामिल नहीं हैं। समूचे बैंक उद्योग की 9 यूनियनों में से केवल दो यूनियनों ने ही इस हड़ताल का आह्वान किया है। पिछले महीने बैंक अधिकारियों की यूनियनों ने 26-27 सितंबर को दो दिन की हड़ताल की घोषणा की थी। लेकिन सरकार के हस्तक्षेप के बाद हड़ताल को वापस ले लिया गया था। बता दें कि इस हफ्ते धनतेरस और दिवाली का त्योहार है। इसके कारण 26, 27, 28, 29 अक्टूबर को लगातार चार दिन बैंक की छुट्टी रहने वाली है। ऐसा महीने के चौथे शनिवार और दिवाली की छुट्टियों के चलते होगा। 

18-10-2019
एसबीआई ने लॉन्च की कांटैक्टलेस पेमेंट सर्विस, अब खाताधारक मोबाइल से कर सकेंगे पेमेंट

नई दिल्ली। फेस्टिव सीजन को देखते हुए एसबीआई ने अपने कस्टमर्स को तोहफा दिया है। बैंक ने ''एसबीआई कार्ड पे'' पेमेंट सर्विस शुरू करने की घोषणा की है। इसके जरिए बिना कार्ड को हाथ लगाए और पिन डाले मोबाइल से पेमेंट किया जा सकता है। इस फीचर को होस्ट कार्ड एम्यूलेशन के साथ पेश किया गया है। इसके जरिए यूजर्स कांटैक्टलेस पेमेंट कर सकते हैं। कांटैक्टलेस पेमेंट से मतलब ये है कि यूजर्स प्वाइंट ऑफ सेल्स (पीओएस) मशीनों पर कार्ड को हाथ लगाए बिना मोबाइल पर सिर्फ एक टैप के जरिए पेमेंट कर सकेंगे। इसके लिए किसी तरह के कोई पिन डालने की जरूरत भी नहीं होगी।

ऐसे होगा भुगतान

ये एसबीआई द्वारा शुरू की गई अपनी तरह की पहली सेवा है जिसमें एक एप के जरिए क्रेडिट कार्ड अकाउंट और कांटैक्टलेस पेमेंट को मैनेज किया जा सकता है। एसबीआई कार्ड पे एप के जरिए नियर फील्ड कम्युनिकेशंन पर टैप कर कस्टमर्स पेमेंट कर सकेंगे। ये सर्विस एसबीआई कार्ड एप का हिस्सा है

ट्रांजेक्शन लिमिट भी सेट कर सकेंगे कस्टमर्स

एसबीआई कार्ड में कस्टमर्स अपने हिसाब से ट्रांजेक्शन लिमिट भी सेट कर सकेंगे। एक बार में 2,000 रुपये तक और दिनभर में 10 हजार रुपये तक पेमेंट के ऑप्शन मिलेंगे। एसबीआई कार्ड पे का इस्तेमाल करने के लिए यूजर्स को एसबीआई कार्ड मोबाइल एप पर अपना कार्ड रजिस्टर कराना होगा। इसके बाद यूजर्स अपने फोन को अनलॉक कर पेमेंट कर सकेंगे।

एंड्रॉएड के इस वर्जन को करेगी सपोर्ट

ये सर्विस वीजा प्लेटफॉर्म पर आधारित है और एंड्रॉएड ओएस किटकैट वर्जन 4.4 के साथ किसी भी एंड्रॉएड फोन पर इस्तेमाल की जा सकती है।

 

18-10-2019
त्यौहार के सीजन में मारुती का नया धमाका, ढाई लाख में ख़रीदे स्विफ्ट और डेढ़ लाख में वैगनआर

नई दिल्ली। इन दिनों देश भर में फेस्टिव सीजन भी बहार छाई हुई है। ऑटो कंपनियां अपनी गाड़ियों पर सबसे अच्छे डिस्काउंट ऑफर कर ही हैं जहां एक तरफ नई कारों को खरीदने के लिए शो-रूम में लोगों का शो-रूम में आना-जाना लगा हुआ है। तो वही सेकंड हैंड गाड़ियों के खरीदारों की भी कोई कमी नहीं है। जो कार कंपनियां सेकंड हैंड गाड़ियों में डील करती हैं वो भी बेस्ट प्राइस ऑफर कर रही हैं। इस फेस्टिव सीजन आप भी कम कीमत में एक सेकंड हैंड कार खरीदने का मन  बना रहे हैं तो इस रिपोर्ट को जरूर देखें।    
मारुति की स्विफ्ट देश में सबसे पॉपुलर कारों में से एक है इसलिए पुरानी होकर भी इसकी मांग कम नहीं होती क्योंकि यह सदाबहार कार है। अगर आप कम कीमत में एक सेकंड हैंड स्विफ्ट खरीदने की सोच रहे हैं तो मारुति सुजुकी ट्रू वैल्यू पर आपको स्विफ्ट मिल जाएगी, जिसकी शुरूआती कीमत 2.50 लाख रुपये होगी। लेकिन जल्दी कीजिये क्योंकि ट्रू वैल्यू पर स्विफ्ट की सिर्फ 87 यूनिट्स ही बची हैं। इसके अलावा 1.75 लाख रुपये में वैगनआर खरीदने का मौका मिल रहा है। इस कार की कुल 135 यूनिट्स ही बची हैं। अगर आप पुरानी सेलेरियो को 2.30 लाख रुपये की शुरूआती कीमत में खरीद सकते हैं, इस कार की 54 यूनिट्स बची हैं। अगर आपका बजट थोड़ा कम है तो आप सिर्फ 1.50 लाख की शुरूआती कीमत में आप अल्टो खरीद सकते हैं लेकिन इसकी यूनिट सिर्फ 127 बची हैं।

सेकंड है शो-रूम में बलेनो भी आई

मारुति की प्रीमियम हैचबैक कार बलेनो भी ट्रू-वैल्यू पर मिल जाएगी लेकिन कीमत आपको डीलरशिप से ही पता चल पायेगी। पुरानी कारों के AltoK10 भी आपको मिल जाएगी। मारुति इन पुरानी गाड़ियों पर एक साल की वारंटी और 3 सर्विस फ्री दे रही है।  

सेकंड हैंड कारों के लिए यहां भी नजरें जमायें

ट्रू-वैल्यू के अलावा आप हुंडई, टाटा मोटर्स, महिंद्रा, ओएलएक्स, क्विकर, दिल्ली के लाजपत नगर और करोल बाद जैसे बड़े बाजारों में संपर्क कर सकते हैं। लेकिन ध्यान रहे कोई भी सेकंडहैंड कार लेने से पहले उसकी पूरी जांच कर लें। सभी डाक्यूमेंट्स सही है या नहीं इस बात की भी तस्सली करना बेहद जरूरी होता है। आप चाहें तो अपने साथ किसी मैकेनिक को अपने साथ लेकर जाएं। जब तक तस्सली न हो तब तक किसी भी प्रकार की कोई डील फाइनल न करें।  अगर आप ट्रू-वैल्यू के जरिये भी कार खरीद रहे हैं तब भी आप कार और पेपर्स को ठीक से चैक करें किसी भी प्रकार की गड़बड़ी की आशंका होने पर डील न करें। 

 

15-10-2019
दिवाली, धनतेरस से पहले सोना 200 रुपए चढ़ा, चांदी 450 रुपए मजबूत

नई दिल्ली। दिवाली और धनतेरस से पहले जेवराती मांग आने से दिल्ली सर्राफा बाजार में सोना मंगलवार को 200 रुपये चमककर 39,570 रुपये प्रति 10 ग्राम पर और चाँदी 450 रुपये की छलांग लगाकर करीब एक सप्ताह के उच्चतम स्तर 47,100 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच गई। विदेशों में दोनों कीमती धातुओं में रही मामूली गिरावट का असर स्थानीय बाजार पर नहीं दिखा। लंदन एवं न्यूयॉर्क से मिली जानकारी के अनुसार, सोना हाजिर 0.1 प्रतिशत लुढ़ककर 1,490.70 डॉलर प्रति औंस रह गया। दिसंबर का अमेरिकी सोना वायदा 1.20 डॉलर चढ़कर 1,498.80 डॉलर प्रति औंस बोला गया।
बाजार विश्लेषकों ने बताया कि ब्रेक्जिट पर इस सप्ताह के अंत में होने वाली बैठक से पहले निवेशकों की सतर्कता के कारण आज सोने में मामूली गिरावट देखी गई। गुरुवार और शुक्रवार को ब्रिटेन और यूरोपीय संघ के बीच होने वाली बैठक में यह तय होगा कि ब्रिटेन यूरोपीय संघ से बिना किसी समझौते के बाहर होगा या उनके बीच कोई समझौता होगा। अंतरराष्ट्रीय बाजार में चांदी हाजिर भी 0.2 प्रतिशत लुढ़ककर 17.61 डॉलर प्रति औंस पर आ गई।

14-10-2019
आईआरसीटीसी ने स्टॉक मार्केट में की धमाकेदार एंट्री, निवेशक हुए मालामाल

नई दिल्ली। भारतीय रेलवे खानपान और पर्यटन निगम (आईआरसीटीसी) ने स्टॉक मार्केट पर सोमवार को धमाकेदार एंट्री की है। आईआरसीटीसी का शेयर 644 पर लिस्ट हुआ जबकि इसका इशू 320 रुपये प्रति शेयर पर जारी किया गया था। इसकी कीमत शेयर बाजार में 691 रुपये तक पहुंच गई। इसके आईपीओ को जितनी जबरदस्त प्रतिक्रिया मिली थी उसको देखते हुए इस बात की उम्मीद थी कि इसके निवेशकों को इससे फायदा होगा।

इतना था टारगेट

आईआरसीटीसी का आईपीओ भी निवेशकों के बीच हिट रहा। ये 3.64 गुना सब्सक्राइब हुआ। सरकार ऑफर के तहत 10 रुपये अंकित मूल्य के 2,01,60,000 शेयर ऑफर किए हैं। इमसें से 1,60,000 शेयर कर्मचारियों के लिए आरक्षित है। सरकार इस IPO के जरिए 635-645 करोड़ रुपये जुटाने का टारगेट रखा है।

आईआरसीटीसी का आईपीओ 30 सितंबर से 3 अक्टूबर तक के लिए खुला था जिसमें प्रति शेयर आधार मूल्य 315 से 320 रुपये रखा गया। आईआरसीटीसी रेलवे की इकाई है और इसमें 99.99 प्रतिशत हिस्सेदारी सरकार की है।  IRCTC के IPO में निवेश करने के लिए 3 अक्टूबर तक का ही समय है। इसके कुल 16 करोड़ शेयर में से दो करोड़ एक लाख 60 हजार की ब्रिकी का प्रस्ताव था जिनमें एक लाख 60 हजार कंपनी के कर्मचारियों के लिए आरक्षित थे। शेष दो करोड़ शेयर आम निवेशक खरीद सकेंगे जो कंपनी के कुल शेयर का 12.5 प्रतिशत है।

13-10-2019
कहीं इस बैंक में तो नहीं आपका खाता, यहां भी हुआ है घोटाला

मुंबई। हाल ही में भारतीय रिजर्व बैंक ने पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक पर छह महीने का प्रतिबंध लगा दिया था। अब देश के एक और को-ऑपरेटिव बैंक पर इसका खतरा मंडरा रहा है। ऐसा इसलिए क्योंकि पीएमसी के बाद अब इस बैंक में भी घोटाला सामने आया है। इस बैंक का नाम है शिवाजीराव भोसले सहकारी बैंक। शिवाजीराव भोसले सहकारी बैंक के कामकाज में गंभीर अनियमितताओं का खुलासा हुआ है। इसके मद्देनजर बैंक के निदेशक मडंल को भी बर्खास्त कर दिया है, जिसके बाद प्रशासक की नियुक्ति की गई है। बता दें कि बैंक के प्रमोटर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता और महाराष्ट्र विधान परिषद के सदस्य अनिल शिवाजीराव भोसले हैं।

मामले में बैंकों के खाताधारकों के मामलों को बढ़ाने वाले ग्रुप के सदस्य मिहिर थाटे ने कहा कि फर्जी कर्जदारों को 300 करोड़ रुपए का कर्ज वितरित करने की वजह से यह मुसीबत आई है। इसकी वजह से बैंक के करीब एक लाख खाताधारकों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। खाताधारक बैंक से अपने पैसे नहीं निकाल पा रहे हैं। सहकारिता आयुक्त सतीश सोने ने आदेश जारी कर कहा है कि अप्रैल 2019 में आरबीआई द्वारा एक स्पेशल जांच की गई थी। जांच के दौरान बैंक के कामकाज में भारी अनियमितताएं पाई गईं थीं। आदेश में यह भी कहा गया था कि निदेशक मंडल के स्थान पर उप-जिला रजिस्ट्रार नारायण आघव को प्रशासक नियुक्त किया गया है। 

11-10-2019
ऑयल टैंकर में मिसाइल अटैक, बढ़ सकती है पेट्रोल की कीमत

मुंबई। शुक्रवार की सुबह हुए एक बड़े धमाके के बाद ईरानी तेल टैंकर में आग लग गई। रिपोट्र्स के मुताबिक, ऑयल टैंकर में मिसाइल अटैक के बाद आग लगी। धमाका सऊदी अरब के समुद्र तट के पास हुआ है। जब धमाका हुआ तो ईरानी जहाज सऊदी के तटीय शहर जेद्दाह से 97 किलोमीटर की दूरी पर था। इस खबर के आते ही अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल की कीमतों में जोरदार तेजी आई है। ब्रेंट क्रूड के दाम 58 डॉलर प्रति बैरल से बढ़कर 60 डॉलर प्रति बैरल के ऊपर निकल गए है। इस पर एक्सपट्र्स का कहना है कि इसका असर भारतीय जैसे कच्चा तेल इंपोर्ट करने वाले देशों पर भी होगा। अगले कुछ दिनों में पेट्रोल की कीमतें 2 रुपये तक बढ़ सकती हैं।

बता दें कि भारत अपनी जरूरत का 80 फीसदी से ज्यादा क्रूड इंपोर्ट करता है। तेल कंपनियां पिछले 15 दिनों में क्रूड की औसत कीमत और रुपया-डॉलर एक्सचेंज रेट के आधार पर हर रोज पेट्रोल-डीजल के रेट तय करती हैं। क्रूड इंपोर्ट महंगा होने की वजह से कंपनियां पेट्रोल-डीजल के रेट बढ़ाती है। रिपोर्ट के मुताबिक अगर तनाव और बढ़ता है तो कच्चे तेल के दाम 5-6 डॉलर तक बढ़ सकते हैं। अगर कच्चा तेल 66-68 डॉलर प्रति बैरल के स्तर पर पहुंचता है तो देश में पेट्रोल के दाम 2 रुपये तक बढ़ सकते है। क्रूड महंगा होने से पेट्रोल के दाम तो बढ़ेंगे ही, साथ ही टायर बनाने वाली कंपनी व प्लास्टिक कंपनियों की लागत भी बढ़ जाएगी।

 

10-10-2019
राजधानी में शरद पूर्णिमा को गरबा, धूम्रपान निषेध का देंगे संदेश

रायपुर। पल्लवी हर्बल केयर द्वारा 13 अक्टूबर को ललित महल रायपुर में रास गरबा का आयोजन किया जा रहा है। इस दौरान विभिन्न हर्बल प्रोडक्ट भी लांच किए जाएंगे। आयोजक पल्लवी मनुदेव गौड़ा ने बताया कि इस आयोजन में धूम्रपान निषेध का संदेश दिया जाएगा। डियर जिंदगी ब्रांड के बैनर तले आयुर्वेदिक सोप, स्क्रब आदि की लॉन्चिंग कर इसकी शुरुआत राजधानी रायपुर से की जा रही है। उन्होंने बताया कि इस आयोजन में कई आकर्षक पुरस्कार रखे गए है। पूरा आयोजन शांतिमय माहौल में होगा। कार्यक्रम में प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सहित मंत्री, विधायक भी शामिल होंगे। पूर्णिमा के दिन होने वाले इस कार्यक्रम में विशेष तौर पर गरबा करने आने वालों को खीर वितरित की जाएगी। आयोजन पूरी तरह से नि:शुल्क है। 

 

10-10-2019
अनिल अंबानी के बेटों की रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर एंट्री, जानिए क्या मिली जिम्मेदारी...

नई दिल्ली। अनिल अंबानी के नेतृत्व वाली रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर (आरइन्फ्रा) में उनके दोनों बेटों अनमोल और अन्शुल को निदेशक के तौर पर कंपनी के बोर्ड में शामिल किया। कंपनी ने बोर्ड में स्वतंत्र निदेशक के रूप में लेफ्टिनेंट जनरल (सेवानिवृत्त) सैयद अता हसनैन को भी नियुक्त किया है। यह जानकारी कंपनी ने बयान जारी कर दी। अनमोल रिलायंस कैपिटल में कार्यकारी निदेशक रहे हैं और अगस्त 2016 में इसके बोर्ड में शामिल होने के बाद से वित्तीय सेवाओं के कारोबार की देखरेख कर रहे हैं। अंशुल इस साल जनवरी में कंपनी से जुड़े और रिलायंस इंफ्रा के सभी अभियानों में सक्रिय रूप से शामिल रहे हैं। वह समूह के अध्यक्ष और कार्यकारी निदेशक और सीईओ पुनीत गर्ग के साथ काम कर रहे हैं। कंपनी के प्रवक्ता ने कहा कि हाल में संपन्न वार्षिक आम बैठक में शेयर धारकों की ओर से जताई गई इच्छा के अनुरूप अनमोल और अन्शुल को कंपनी के बोर्ड में लाने का फैसला किया गया। शेयरधारकों ने प्रबंधन से कंपनी के बोर्ड में इनके जरिये युवा पीढ़ी को मौका देने की मांग की थी।

09-10-2019
सोने-चांदी की कीमतों में उछाल, सोना 39 हजार के पार, चांदी में तेजी

नई दिल्ली। सोने और चांदी के भाव में दशहरे के बाद तेजी आई है। बुधवार को दिल्ली सराफा बाजार में सोना 315 रुपये महंगा होकर 39,325 रुपए प्रति 10 ग्राम बोला गया। मजबूत मांग के चलते चांदी भी 1,010 रुपये महंगी होकर 47,330 रुपये प्रति किलोग्राम बोली गई। बता दें कि दशहरा के मौके पर मंगलवार को शेयर बाजार बंद था। एचडीएफसी सिक्योरिटीज के वरिष्ठ विश्लेषक तपन पटेल ने कहा कि अमेरिका-चीन के बीच व्यापार वार्ता और आर्थिक वृद्धि की चिंताओं के बीच अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोने की हाजिर कीमत बढ़कर 1,507 डॉलर पर पहुंच गई। सोमवार को सोना 39,010 रुपये प्रति 10 ग्राम के भाव रहा था। सोने में यह तेजी व्यापार वार्ता में बनी चिंताओं और आर्थिक वृद्धि के आंकड़ों के कारण देखी गई। यहां यह बताना लाजिमी होगा कि यूएसए और चीनी कंपनियों को ब्लेक लिस्ट और चीनी अधिकारियों का विजा प्रतिबंधित करने की घोषणा का निवेशकों पर प्रभाव पड़ा है।

08-10-2019
तेज हुई व्यापारिक जंग, अमेरिका ने किया चीन की 28 संस्थाओं को ब्लैक लिस्ट

 नई दिल्ली। अमेरिकी वाणिज्य मंत्रालय ने चीन के अशांत शिनजियांग क्षेत्र में उइगर मुसलमानों और अन्य अल्पसंख्यकों को निशाना बनाने तथा उनके साथ दुर्व्यवहार करने के मामले में चीन की 28 संस्थाओं को ब्लैक लिस्ट में डाला दिया। अमेरिका के वाणिज्य मंत्री विल्बर रोस ने इस फैसले की घोषणा की। इससे ये संस्थाएं अब अमेरिकी सामान नहीं खरीद पाएंगी। माना जा रहा है कि इससे दोनों देशों के बीच व्यापारिक जंग और तेज होने जा रही है। रॉस ने कहा कि अमेरिका ‘चीन के भीतर जातीय अल्पसंख्यकों के क्रूर दमन को बर्दाश्त नहीं करता है और ना ही करेगा।’ अमेरिकी फेडरल रजिस्टर में अद्यतन की गई जानकारी के अनुसार काली सूची में डाली कई संस्थाओं में वीडियो निगरानी कम्पनी ‘हिकविजन’, कृत्रिम मेधा कम्पनियां ‘मेग्वी टेक्नोलॉजी’ और ‘सेंस टाइम’ शामिल हैं।
एशियन इकॉनोमिक सेंटर फॉर स्ट्रेटेजिक एंड इंटरनेशनल स्टडीज के वरिष्ठ सलाहकार मैथ्यू गुडमैन ने कहा, ‘मुझे लगता है कि इस सप्ताह यह चर्चाओं को जटिल बनाने वाला है। समय चीनियों के लिए चिंताजनक होने वाला है। द वॉल स्ट्रीट जनरल में छपी एक खबर के मुताबिक ब्लैक लिस्ट में जिन संस्थानों को शामिल किया गया है उनमें हिकविजन के अलावा मेगवी टेक्नोलॉजी, सेंस टाइम ग्रुप लिमिटेड शामिल हैं। जानकारी के मुताबिक अमेरिका चीनी कंपनी डाहुआ टेक्नोलॉजी कंपनी, जियामी मिया पिको सूचना कंपनी, यितु टेक्नोलॉजीज एंड यिक्सिन साइंस एंड टेक्नोलॉजी कंपनी, कॉमर्स डिपार्टमेंट के साथ-साथ झिंजियांग पब्लिक सिक्योरिटी ब्यूरो और 19 मातहत संस्थाओं इस सूची में शामिल करेगा। एक दस्तावेज में कहा गया कि नई नीतियों को इस सप्ताह के आखिर तक प्रभावी रूप से लागू किया जाएगा।।

 

07-10-2019
गहराया आर्थिक मंदी का संकट , ये बैंक कर रहा कर्मचारियों की छंटनी...

नई दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर छाई आर्थिक सुस्ती का असर अब रोजगार पर भी दिखने लगा है। दिग्गज अंतरराष्ट्रीय बैंक एचएसबीसी 10 हजार और लोगों की छंटनी करने जा रहा है। कुछ ही सप्ताह पहले ही बैंक ने कमजोर वैश्विक आउटलुक का हवाला देते हुए 4 हजार लोगों को नौकरी से निकालने की घोषणा की थी। बैंक के सीईओ ने भी पद छोड़ दिया था। नौकरी से निकाले जाने वालों में अधिकतर मोटी तनख्वाह पाने वाले कर्मचारी हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक बैंक को घटती ब्याज दर, ब्रेक्जिट और लंबा खिंच रहे ट्रेड वार से निपटने में मु्श्किल हो रही है। बैंक के नए प्रमुख नोएल क्विन खर्च घटाने के लिए नई मुहिम चला रहे हैं। इसी मुहिम के तहत 10 हजार और लोगों को नौकरी से निकाला जाएगा। नौकरी से निकाले जाने वालों में अधिकतर मौटी तनख्वाह पाने वाले कर्मचारी हैं। बैंक का मुख्यालय लंदन में है। एक सूत्र ने कहा कि हम कई साल से यह जानते हैं कि हमें खर्च के मोर्चे पर कुछ करने की जरूरत है और कर्मचारियों का वेतन खर्च का सबसे बड़ा हिस्सा है। अब हम इस कठिन फैसले को ले रहे हैं। सवाल यह है कि जब एशिया के कुछ हिस्सों में दहाई अंकों में विकास दर्ज की जा रही है, तो यूरोप में इतने अधिक लोग क्यों काम कर रहे हैं। बैंक ने पिछले महीने सीईओ जॉन फ्लिंट के पद छोड़ने की घोषणा की थी। फ्लिंट 18 महीने ही पद पर रहे। बैंक ने हालांकि उनके पद छोड़ने के फैसले का कारण नहीं बताया। उसी समय बैंक ने कहा था कि वह अंतरराष्ट्रीय श्रम बल में से दो फीसदी यानी 4,000 कर्मचारियों को नौकरी से निकालेगा, जिनमें अधिकतर प्रबंधन से जुड़े थे। पहली छमाही में बैंक ने शुद्ध लाभ में 18.6 फीसदी बढ़ोतरी दर्ज की है। तीसरी तिमाही के नतीजे बैंक इसी महीने घोषित करने वाला है।

Please Wait... News Loading