GLIBS

18-02-2020
सोने और चांदी की कीमतों में आया उछाल

नई दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कीमती धातुओं में रही तेजी के बल पर दिल्ली सर्राफा बाजार में मंगलवार को सोना 170 रुपये चमककर 42,450 रुपये प्रति दस ग्राम पहुंच गया। चाँदी 100 रुपये की तेजी लेकर 48,000 रुपये प्रति किलोग्राम बोली गई। लंदन एवं न्यूयॉर्क से मिली जानकारी के अनुसार सोना हाजिर 0.46 प्रतिशत बढ़कर 1,588.02 डॉलर प्रति औंस के भाव बिका। अप्रैल का अमेरिकी सोना वायदा भी 0.27 प्रतिशत चढ़कर 1,587.00 डॉलर प्रति औंस बोला गया। अंतर्राष्ट्रीय बाजार में चांदी हाजिर 0.69 प्रतिशत चमककर 17.89 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गई।

 

18-02-2020
सात दिनों बाद कम हुए पेट्रोल- डीजल के दाम

नई दिल्ली। मंगलवार को लगातार सात दिन बाद पेट्रोल सस्ता हुआ है। वहीं डीजल की कीमत में भी आज गिरावट दर्ज की गई। यानी मंगलवार ग्राहकों को एक लीटर पेट्रोल और डीजल के लिए सोमवार के मुकाबले कम कीमत चुकानी होगी। इससे पहले लगातार सात दिनों तक पेट्रोल की कीमत में कोई बदलाव नहीं हुआ था। वहीं डीजल के दाम में बीते दिनों गिरावट दर्ज की जा रही थी। मंगलवार को दिल्ली, कोलकाता और चेन्नई में एक लीटर पेट्रोल की कीमत पांच पैसे कम हुई है। वहीं मुंबई में यह चार पैसे सस्ता हुआ है। वहीं डीजल की बात करें, तो दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में एक लीटर डीजल पांच पैसे कम हुआ है।

 

18-02-2020
टेलीकॉम उद्योगों को लगने वाला है बड़ा झटका, सुप्रीम कोर्ट ने ख़ारिज की वोडाफ़ोन-आइडिया की याचिका

नई दिल्ली। बढ़ती महंगाई की दर से इन दिनों टेलीफोन कंपनियों को भारी नुकसान का सामना करना पड़ रहा है। वहीं वोडाफ़ोन आइडिया ने लगातार छठी तिमाही में घाटा उठाया है। सुप्रीम कोर्ट ने वोडाफ़ोन आइडिया की वो याचिका ख़ारिज कर दी है, जिसमे कंपनी ने 2500 करोड़ रुपये सोमवार को और शुक्रवार तक 1000 करोड़ रुपये देने की पेशकश की थी। कंपनी ने अपनी याचिका में ये मांग भी की थी कि उसके खिलाफ कोई कड़ी कार्रवाई न की जाए। जस्टिस अरुण मिश्र की अगुवाई वाली बेंच ने वोडाफ़ोन आइडिया की तरफ से पैरवी कर रहे एडवोकेट मुकुल रोहतगी की दलीलें सोमवार को ख़ारिज कर दी। इससे पहले भी सुप्रीम कोर्ट ने वोडाफ़ोन आइडिया को किसी किस्म की राहत देने से इंकार कर दिया था। ये रक़म भले ही सरकारी राजस्व में अतिरिक्त कमाई के तौर पर दर्ज होगी पर ये माना जा रहा है कि पूरे टेलीकॉम उद्योग को इससे बड़ा झटका लगने वाला है।

 

18-02-2020
भारत बना दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाला देश, ब्रिटेन, फ्रांस को छोड़ा पीछे 

नई दिल्ली। भारत ब्रिटेन, फ्रांस को पीछे छोड़कर दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाला देश बन गया है। अमेरिका के शोध संस्थान वर्ल्ड पॉपुलेशन रिव्यू ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि आत्मनिर्भर बनने की पूर्व की नीति से भारत अब आगे बढ़ते हुए एक खुली बाजार वाली अर्थव्यवस्था के रूप में विकसित हो रहा है। रिपोर्ट के अनुसार, सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के मामले में भारत 2940 अरब डॉलर के साथ दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाला देश बन गया है। इस मामले में उसने 2019 में ब्रिटेन तथा फ्रांस को पीछे छोड़ दिया।

ब्रिटेन की अर्थव्यवस्था का आकार 2830 अरब डॉलर है, जबकि फ्रांस का 2710 अरब डॉलर है। क्रय शक्ति समता के आधार पर भारत का जीडीपी 10,510 अरब डॉलर है। यह जापान तथा जर्मनी से आगे है। भारत में अधिक आबादी के कारण प्रति व्यक्ति जीडीपी 2170 डॉलर है। यह अमेरिका में प्रति व्यक्ति 62,794 डॉलर है। हालांकि भारत की वास्तविक जीडीपी वृद्धि दर लगातार तीसरी तिमाही में कमजोर रह सकती है और 7.5 प्रतिशत से घटकर 5 प्रतिशत पर आ सकती है। रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में आर्थिक उदारीकरण 1990 की दशक में शुरू हुआ है। उद्योगों को नियंत्रण मुक्त किया गया और विदेशी व्यापार एवं निवेश पर पर नियंत्रण कम किया है। इसके साथ ही सरकारी कंपनियों का निजीकरण किया गया है।

17-02-2020
सोने और चांदी की कीमतों में नरमी, 233 रुपए फिसला सोना

नई दिल्ली। वैश्विक बाजारों में कमजोरी के संकेतों के बीच बीच दिल्ली सर्राफा बाजार में सोमवार को सोना हाजिर का भाव 233 रुपये की गिरावट के साथ 41,565 रुपए प्रति 10 ग्राम पर आ गया। इससे पहले के कारोबारी सत्र में सोना 41,798 रुपये पर बंद हुआ था।
चांदी भी 157 रुपये फिसलकर 47,170 रुपये प्रति किलोग्राम पर आ गई। पिछले कारोबारी दिवस में चांदी 47,327 रुपये प्रति किलोग्राम पर बंद हुई थी। अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना 1,579 डॉलर प्रति औंस पर नरम चल रहा था जबकि चांदी का भाव 17.74 डॉलर प्रति औंस पर पिछले दिवस के स्तर पर अपरिवर्तित थी। विश्लेषक तपन पटेल ने कहा कि चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग के एक अधिकारी के इस बयान के बाद सोना नरम पड़ गया कि कोरोना वायरस की रोकथाम और इसके मरीजों का उपचार किया जा सकता है। वैश्विक बाजारों में सोना 24 कैरेट के हाजिर सौदे के भाव में 233 रुपये तक की गिरावट आई।

 

 

17-02-2020
शेयर बाजार में मायूसी,गिरावट के साथ बंद हुआ बाजार

मुंबई। तेल एवं गैस और वित्त क्षेत्र की कंपनी के शेयरों में बिकवाली के बीच सेंसेक्स और निफ्टी सोमवार को लगातार गिरावट के साथ बंद हुए। बीएसई का 30 कंपनियों के शेयरों का सूचकांक सेंसेक्स 202.05 अंक यानी 0.49 प्रतिशत घटकर 41,055.69 अंक पर बंद हुआ।
इसी तरह एनएसई निफ्टी 67.75 अंक यानी 0.56 प्रतिशत टूटकर 12,045.80 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स में शामिल 19 कंपनियों के शेयर गिरकर बंद हुए। जबकि 11 कंपनियों के शेयर में तेजी का रुख दिखा। सेंसेक्स में शामिल ओएनजीसी, सन फार्मा, एनटीपीसी, बजाज ऑटो और एचडीएफसी के शेयर गिरकर बंद हुए। टाइटन, नेस्ले, टीसीएस, कोटक बैंक और टाटा स्टील के शेयर में उछाल का रुख देखा गया। एशियाई बाजार मिश्रित रुख के साथ बंद हुए।

 

17-02-2020
कच्चे तेल की कीमत में इजाफा,हुआ 3,729 रुपए प्रति बैरल

नई दिल्ली। हाजिर मांग बढ़ने के कारण सटोरियों ने अपने सौदों के आकार को बढ़ाया,जिससे वायदा कारोबार में कच्चे तेल का भाव सोमवार को 22 रुपए की तेजी के साथ 3,729 रुपए प्रति बैरल हो गया। बाजार विश्लेषकों ने कहा कि कारोबारियों की ओर से अपने सौदों का आकार बढ़ाने के कारण यहां वायदा कारोबार में कच्चा तेल कीमतों में तेजी आई। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज में फरवरी महीने की डिलेवरी वाले कच्चे तेल का भाव 22 रुपये यानी 0.59 प्रतिशत की तेजी के साथ 3,729 रुपए प्रति बैरल हो गया। इसमें 27,498 लॉट के लिए कारोबार हुआ। कच्चा तेल के मार्च महीने में डिलिवरी वाले अनुबंध का भाव आठ रुपए यानी 0.64 प्रतिशत की तेजी के साथ 3,761 रुपये प्रति बैरल हो गया। इसमें 1,677 लॉट के लिये कारोबार हुआ। वैश्विक स्तर पर, न्यूयॉर्क में, वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट कच्चातेल की कीमत 0.15 प्रतिशत की तेजी के साथ 52.13 डॉलर प्रति बैरल हो गया जबकि अंतरराष्ट्रीय मानक माना जाने वाला ब्रेंट क्रूड 0.07 प्रतिशत घटकर 57.28 डॉलर प्रति बैरल रह गया।

 

17-02-2020
कई दिग्गजों को पीछे छोड़ राधाकृष्ण दमानी बने भारत के दूसरे सबसे अमीर शख्स

 

नई दिल्ली। भारत के पहले नंबर पर सबसे अमीर आदमी मुकेश अबानी हैं। अंबानी एशिया के सबसे अमीर व्यक्तियों की सूची में शामिल हैं। डी-मार्ट रिटेल चेन चलाने वाली कंपनी एवेन्यू सुपरमार्केट के संस्थापक राधाकृष्ण दमानी भारत के दूसरे सबसे अमीर शख्स बन गए हैं। दमानी शेयर बाजार के दिग्गज निवेशक भी हैं। उन्होंने शि‍व नाडर, गौतम अडानी जैसे दिग्गजों को पीछे छोड़ दिया है। राधाकृष्ण दमानी की नेटवर्थ डॉलर 17.8 बिलियन (1.27 लाख करोड़ रुपये) है। पहले नंबर पर उनके पड़ोसी मुकेश अबानी हैं, जो की अल्टामाउंट रोड पर ही रहते हैं, जिनका नेटवर्थ 57.4 अरब डॉलर है।
फोर्ब्स रियल टाइम बिलिनियरीज इंडेक्स के मुताबिक पिछले हफ्ते एवेन्यू सुपरमार्केट के शेयर पिछले हफ्ते 5 फीसदी चढ़ गई। इसकी वजह से दमानी का नेटवर्थ बढ़ गया। शनिवार को दमानी का नेटवर्थ 17.8 डॉलर तक पहुंच गया था। उनके बाद अमीर भारतीयों की बात करें तो एचसीएल के नाडर (16.4 अरब डॉलर), उदय कोटक (15 अरब डॉलर) और गौतम अडानी (13.9 अरब डॉलर) का स्थान है।

17-02-2020
भारतीय अर्थव्यवस्था को एक बार फिर लगा झटका, मूडीज ने घटाया GDP ग्रोथ का अनुमान

मुंबई। रेटिंग एजेंसी मूडीज ने जीडीपी का अनुमान 6.6 फीसदी से घटाकर 5.4 फीसदी कर दिया है। साथ ही 2021 में जीडीपी बढ़त के अनुमान को 6.7 फीसदी से घटाकर 5.8 फीसदी कर दिया है। मूडीज के अनुसार, भारतीय अर्थव्यवस्था में स्थिरता आई है और मौजूदा तिमाही में सुधार होने लगा है, लेकिन अब सुधार पहले की अपेक्षा कम रफ्तार से होगा। मूडीज ने माना कि कोरोनावायरस के प्रकोप की वजह से विश्व की अर्थव्यवस्था में इसका बुर असर पड़ा है। साथ ही मूडीज ने कहा कि भारत में अब किसी भी तरह के सुधार को उम्मीद से कम ही है। वहीं रेटिंग एजेंसी फिच ने वित्त वर्ष 2019-20 के लिए विकास दर के 4.6 फीसदी रहने की संभावना जताई है। वहीं 2020-21 के लिए 5.6 फीसदी का संभावना व्यक्त की है। 

 

17-02-2020
भारत में किआ सेल्टोस अब मिल जाएगी सिर्फ 15 दिनों में, वेटिंग पीरियड में आई कमी 

नई दिल्ली। भारत में किआ मोटर्स इंडिया ने अपने सबसे पहले प्रॉडक्ट सेल्टोस को अगस्त 2019 में लॉन्च किया था। लॉन्चिंग के साथ ही यह मिड-साइज एसयूवी भारतीय कार प्रेमियों के बीच हिट हो गई। शुरुआत से ही इस एसयूवी की डिमांड बहुत ज्यादा देखी गई और इसकी बुकिंग का आंकड़ा रिकॉर्ड स्तर पर रहा है। थोड़े समय के भीतर सेल्टोस लंबे समय से इस सेगमेंट की सबसे ज्यादा बिकने वाली और पसंदीदा कार हुंडई क्रेटा को पछाड़कर बिक्री चार्ट में ऊपर पहुंच गई है। इसके अलावा सेल्टोस सभी एसयूवी के बिक्री चार्ज में टॉप पर पहुंच गई। 

बता दें कि साल के पहले महीने में, इसनें 15,000 यूनिट्स की बिक्री के साथ एक नया मुकाम हासिल किया। दक्षिण कोरियाई ऑटोमोबाइल निर्माता ने ग्राहकों की मांगों को पूरा करने के लिए अपने उत्पादन को रफ्तार दी और इस तरह 5-सीटर एसयूवी कार लंबी वेटिंग पीरियड के बाद उपलब्ध हो रही थी। हालांकि अब यह स्थिति बदली हुई सी नजर आ रही है क्योंकि कंपनी के लगभग सभी गाड़ियों पर वेटिंग पीरियड में कमी आई है। सेल्टोस की पूरी सीरीज को तीन पावरट्रेन विकल्पों में रखा गया है। 1.5-लीटर पेट्रोल, 1.5-लीटर डीजल और 1.4-लीटर टर्बोचार्ज्ड पेट्रोल। इन सभी मे BS6 ईंधन उत्सर्जन मानकों वाला इंजन है। साथ ही इनमें 6-स्पीड मैनुअल ट्रांसमिशन स्टैंडर्ड मिलता है। तीनों इंजनों में अलग-अलग ऑटोमैटिक गियरबॉक्स मिलते हैं। पेट्रोल इंजन में 7-स्पीड डीसीटी ट्रांसमिशन मिलता है। 1.5-लीटर डीजल में 6-स्पीड टॉर्क कन्वर्टर AT और पेट्रोल के साथ CVT आता है। GTX ट्रिम्स में 1.4-लीटर टर्बो पेट्रोल यूनिट 140 PS का पावर और 242 Nm का टॉक पैदा करती है। यह सिर्फ 15 दिनों के वेटिंग पीरियड में उपलब्ध है। इसके साथ ही HTE वेरिएंट 1.5-लीटर पेट्रोल की वेटिंग पीरियड भी घटकर 15 दिन हो गई है। 

16-02-2020
50 % तक इक्विटी म्यूचुअल फंड योजनाओं में निवेश घटा      

नई दिल्ली। म्यूचुअल फंड योजनाओं में अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में पिछली तिमाही की तुलना में निवेश 50 प्रतिशत घटकर करीब 12,000 करोड़ रुपये रहा है। इसकी प्रमुख वजह आर्थिक वृद्धि में नरमी और शेयर मूल्यांकन को लेकर निवेशकों की चिंता है। निवेश में यह कमी सभी श्रेणी के इक्विटी फंड में देखी गयी। इसमें बड़ी कंपनियों, माध्यम कंपनियों छोटी कंपनियों के शेयरों और लाभांश से जुड़ी योजनाएं शामिल हैं।

16 फरवरी रविवार को शेयरों में निवेश से जुड़ी म्यूचुअल फंड योजनाओं का कुल निवेश 11,837 करोड़ रुपये रहा जो जुलाई-सितंबर तिमाही में 23,874 करोड़ रुपये था। इससे पहले अप्रैल-जून तिमाही में इस तरह की योजनाओं में निवेश 17,500 करोड़ रुपये था। हालांकि दिसंबर में समाप्त तिमाही में ऐसी म्यूचुअल फंड योजनाओं का परिसंपत्ति आधार छह प्रतिशत बढ़कर 7.7 लाख करोड़ रुपये रहा। शेयर बाजार से जुड़ी म्यूचुअल फंड योजनाओं में कुल निवेश का 30 प्रतिशत से अधिक हिस्सा सीधे बड़ी कंपनियों के शेयरों में निवेश किया गया। समीक्षावधि में इस श्रेणी की योजनाओं में 3,500 करोड़ रुपये निवेश किए गए वहीं मझोली कंपनियों के शेयरों में इस दौरान 2,688 करोड़ रुपये और छोटी कंपनियों के शेयरों में 1,360 करोड़ रुपये निवेश किये गये है।

15-02-2020
दूरसंचार कंपनियों को बकाया चुकाने का मिला आदेश, जानें किस पर है कितना बकाया

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश दूरसंचार सर्किल ने शुक्रवार को सभी दूरसंचार कंपनियों को नोटिस जारी किया है। शुक्रवार को 11.59 बजे तक बकाए का भुगतान करने का दिया आदेश। आदेश में कहा गया कि 'आपको लाइसेंस शुल्क और स्पेक्ट्रम उपयोग शुल्क के एवज में बकाया राशि का भुगतान 14.02.2020 को रात 11.59 से पहले करने का निर्देश दिया जाता है।' हालांकि रात 12 बजे से पहले कोई रकम चुकाई गई या नहीं इस जानकारी के आने का अभी इंतजार है। इसके साथ ही अभी यह भी स्पष्ट नहीं है कि बकाया राशि में से कितने का भुगतान आधी रात तक करने को कहा गया है। सभी 15 यूनिट पर लाइसेंस शुल्क के रूप में 92,642 करोड़ रुपये और स्पेक्ट्रम उपयोग शुल्क के रूप में 55,054 करोड़ रुपये बकाया हैं। कुल मिलाकर इन कंपनियों के ऊपर केंद्र सरकार के 1.47 लाख करोड़ रुपये बकाया हैं।

सर्वोच्च अदालत के आदेश के बाद अचानक से डीओटी ने यह आदेश दिया है। इससे पहले समायोजित सकल राजस्व वसूली के मामले में कंपनियों के खिलाफ सरकार द्वारा कार्रवाई नहीं करने की वजह से सुप्रीम कोर्ट ने फटकार लगाई है। कोर्ट ने टेलीकॉम कंपनियों को 17 मार्च तक बकाया जमा करने का आदेश भी दिया है। उच्चतम न्यायालय ने दूरसंचार विभाग के डेस्क अधिकारी के आदेश पर अफसोस जताया। आदेश में एजीआर मामले में दिए गए फैसले के अनुपालन पर रोक लगाई गई थी। बकाया रकम चुकाने का आदेश सर्किल के संचार लेखा नियंत्रक ने जारी किए हैं। इसके साथ ही अभी यह भी स्पष्ट नहीं है कि बकाया राशि में से कितने का भुगतान आधी रात तक करने को कहा गया है। सभी 15 यूनिट पर लाइसेंस शुल्क के रूप में 92,642 करोड़ रुपये और स्पेक्ट्रम उपयोग शुल्क के रूप में 55,054 करोड़ रुपये बकाया हैं। कुल मिलाकर इन कंपनियों के ऊपर केंद्र सरकार के 1.47 लाख करोड़ रुपये बकाया हैं।

सर्वोच्च अदालत के आदेश के बाद अचानक से डीओटी ने यह आदेश दिया है। इससे पहले समायोजित सकल राजस्व  वसूली के मामले में कंपनियों के खिलाफ सरकार द्वारा कार्रवाई नहीं करने की वजह से सुप्रीम कोर्ट ने फटकार लगाई है। कोर्ट ने टेलीकॉम कंपनियों को 17 मार्च तक बकाया जमा करने का आदेश भी दिया है। उच्चतम न्यायालय ने दूरसंचार विभाग के डेस्क अधिकारी के आदेश पर अफसोस जताया। आदेश में एजीआर मामले में दिए गए फैसले के अनुपालन पर रोक लगाई गई थी। बकाया रकम चुकाने का आदेश सर्किल के संचार लेखा नियंत्रक ने जारी किए हैं। 

इस आदेश से वोडाफोन आइडिया के सबसे ज्यादा प्रभावित होने की आशंका है। वोडाफोन आइडिया पर 53,000 करोड़ रुपये बकाया है। इसमें 24,729 करोड़ रुपये स्पेक्ट्रम बकाया और 28,309 करोड़ रुपये लाइसेंस शुल्क के रूप में बकाया है। कंपनी कह चुकी है कि अगर उसे राहत नहीं मिली तो वह अपना कामकाज बंद कर देगी। भारतीय एयरटेल पर देनदारी करीब 35,586 करोड़ रुपये है। इसमें लाइसेंस शुल्क और स्पेक्ट्रम उपयोग शुल्क शामिल हैं। बाकी बकाया बीएसएनएल/एमटीएनएल और कुछ बंद या दिवालिया हो चुकीं दूरसंचार कंपनियों पर है।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद एयरटेल ने बाकायदा पत्र जारी कर 20 फरवरी तक अपने कुल बकाए में से 10 हजार करोड़ रुपये के भुगतान की बात कही है। कंपनी ने कहा है कि बाकी का पैसा वह सुप्रीम कोर्ट की अगली सुनवाई से पहले देगी। इस आदेश से वोडाफोन आइडिया के सबसे ज्यादा प्रभावित होने की आशंका है। वोडाफोन आइडिया पर 53,000 करोड़ रुपये बकाया है। इसमें 24,729 करोड़ रुपये स्पेक्ट्रम बकाया और 28,309 करोड़ रुपये लाइसेंस शुल्क के रूप में बकाया है। कंपनी कह चुकी है कि अगर उसे राहत नहीं मिली तो वह अपना कामकाज बंद कर देगी।

Please Wait... News Loading