GLIBS

27-02-2020
लगातार पांच दिनों से बाजार में गिरावट दर्ज, आज भी लाल निशान पर शेयर बाजार

नई दिल्ली। शेयर बाजार गुरुवार को लाल निशान पर खुला। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 157.83 अंक यानी 0.40 फीसदी की गिरावट के बाद 39,731.13 के स्तर पर खुला। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 39.90 अंक यानी 0.34 फीसदी की गिरावट के बाद 11,638.60 के स्तर पर खुला। कोरोना वायरस की फैलने के चलते वैश्विक बाजार में गिरावट का दौर जारी है। इसकी वजह से निवेशक बाजार से पैसा निकाल रहे हैं। लगातार पांच दिनों से बाजार में गिरावट दर्ज की जा रही है। बड़े शेयर बाजार गुरुवार को यस बैंक, अडाणी पोर्ट्स, हीरो मोटोकॉर्प, हिंदुस्तान यूनिलीवर, डॉक्टर रेड्डी, जी लिमिटेड, नेस्ले इंडिया, इंडसइंड बैंक और एनटीपीसी के शेयर हरे निशान पर खुले। वहीं जेएसडब्ल्यू स्टील, टाटा मोटर्स, सिप्ला, इंफ्राटेल, वेदांता लिमिटेड, गेल, टेक महिंद्रा, भारती एयरटेल और यूपीएल लाल निशान पर खुले। सेक्टोरियल इंडेक्स पीएसयू बैंक के अतिरिक्त सभी सेक्टर्स लाल निशान पर खुले। इनमें आईटी, फार्मा, प्राइवेट बैंक, ऑटो, रियल्टी, मीडिया, एफएमसीजी और मेटल शामिल हैं। प्री ओपन के दौरान सुबह 9:11 बजे शेयर मार्केट सपाट स्तर पर था। सेंसेक्स 58.84 अंक यानी 0.15 फीसदी की बढ़त के बाद 39,947.80 के स्तर पर था, वहीं निफ्टी 17.25 अंक यानी 0.15 फीसदी की गिरावट के बाद 11,661.25 के स्तर पर था।

27-02-2020
सहकारी बैंक तीन बड़ी योजनाओं में कम ब्याज पर कर्ज देंगे, उद्योगों को होगा लाभ  

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने गैर अनुसूचित शहरी और जिला केंद्रीय सहकारी बैंकों को तीन बड़ी योजनाओं में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों को वित्तीय मदद मुहैया कराने के लिए शामिल किया है। इसमें क्रेडिट गारंटी फंड ट्रस्ट, क्रेडिट लिंक्ड कैपिटल सब्सिडी स्कीम और ब्याज छूट जैसी योजनाएं शामिल है। बता दें कि केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने बताया कि इस क्षेत्र को कर्ज देने में एनबीएफसी की भागीदारी अभी 13 फीसदी है। अगर गैर अनुसूचित शहरी और जिला केंद्रीय सहकारी बैंकों को भी इसमें शामिल किया जाता है, तो योजना की पहुंच और बढ़ जाएगी। दूरदराज के इलाकों में छोटे उद्योगों को काफी लाभ मिलेगा। इस कदम से एक तरफ तो कर्जदाताओं में प्रतिस्पर्धा बढ़ेगी और वित्तीय क्षेत्र में समानता आएगी, दूसरी ओर ग्राहकों के सामने भी अपनी सुविधा और पहुंच के अनुरूप कर्ज लेने के ज्यादा विकल्प होंगे।

26-02-2020
सोने-चांदी के दामों में आई गिरावट, जानिए आज के ताजा दाम

नई दिल्ली। सोने के भाव में बुधवार को गिरावट आई है। एमसीएक्स एक्सचेंज पर अप्रैल 2020 का सोने का वायदा भाव बुधवार सुबह 0.7 फीसदी यानी 300 रुपए की गिरावट के बाद 42,485 रुपए प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया। मंगलवार को भी सोने के वायदा भाव में गिरावट आई थी। जबकि इससे पहले पांच दिनों से इसमें उछाल दर्ज किया जा रहा था। पांच दिनों में सोने का वायदा भाव 3,000 रुपए प्रति 10 ग्राम बढ़कर 43,788 के स्तर पर पहुंच गया था, जो कि इसका उच्चतम स्तर था। डॉलर के मुकाबले रुपए के मजबूत होने से यह सस्ता हुआ है। एमसीएक्स एक्सचेंज पर चांदी के वायदा भाव में कमी दर्ज की गई है। आज एक किलोग्राम चांदी 1.2 फीसदी गिरकर 47,020 रुपए पर पहुंच गई।
बुधवार को वैश्विक बाजार में भी सोने की कीमत में बढ़त देखी गई है। वैश्विक बाजार में सोना 0.5 फीसदी बढ़ा है। इसके बाद यह 1,688.66 डॉलर से बढ़कर 1,643.49 डॉलर पर पहुंच गया है। चांदी का दाम 0.6 फीसदी बढ़कर 18.09 डॉलर प्रति पर पहुंच गया है।

 

26-02-2020
गिरावट के साथ खुला शेयर बाजार, डॉलर के मुकाबले रुपया हुआ मजबूत

नई दिल्ली। शेयर बाजार बुधवार को लाल निशान पर खुला है। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 385.17 अंक यानी 0.96 फीसदी की गिरावट के बाद 39,896.03 के स्तर पर खुला है। वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 84.55 अंक यानी 0.72 फीसदी की गिरावट के बाद 11,713.35 के स्तर पर खुला। बड़े शेयरों की बात करें, तो आज बीपीसीएल, नेस्ले इंडिया, डॉक्टर रेड्डी और हिंदुस्तान यूनिलीवर हरे निशान पर खुले। वहीं जेएसडब्ल्यू स्टील, टाटा मोटर्स, सिप्ला, टाटा स्टील, इंफ्राटेल, एचडीएफसी, वेदांता लिमिटेड, इंडसइंड बैंक और मारुति लाल निशान पर खुले है। सेक्टोरियल इंडेक्स पर नजर डालें, तो आज सभी सेक्टर्स लाल निशान पर खुले। इनमें आईटी, फार्मा, प्राइवेट बैंक, ऑटो, रियल्टी, मीडिया, एफएमसीजी, मेटल और पीएसयू बैंक शामिल हैं।
प्री ओपन के दौरान सुबह 9:12 बजे शेयर मार्केट लाल निशान पर था। सेंसेक्स 86.31 अंक यानी 0.21 फीसदी की गिरावट के बाद 40,194.89 के स्तर पर था। वहीं निफ्टी 59.35 अंक यानी 0.50 फीसदी की गिरावट के बाद 11,738.55 के स्तर पर था। डॉलर के मुकाबले आज रुपया 13 पैसे की बढ़त के बाद 71.75 के स्तर पर खुला। पिछले कारोबारी दिन डॉलर के मुकाबले रुपया 71.88 के स्तर पर बंद हुआ था।

 

 

25-02-2020
बढ़त के बाद सोने के दाम में आई गिरावट,चांदी की चमक भी पड़ी फीकी

मुंबई। सोने की कीमतों में मंगलवार को इस साल की सबसे बड़ी गिरावट दर्ज की गई। सर्राफा बाजार में सोने और चांदी की कीमतों में कमी दर्ज की गई। मंगलवार को सोने का भाव 954 रुपए गिर गया। वहीं चांदी की चमक भी फीकी पड़ गई। आज चांदी के दाम 80 रुपये प्रति किलोग्राम घट गए। सोमवार को सोने की कीमत 44 हजार पार कर गई थी। मंगलवार को दिल्ली सर्राफा बाजार में सोने का दाम 44,503 रुपये से घटकर 43,549 रुपये प्रति 10 ग्राम हो गया। इस साल सोने के भाव में यह सबसे बड़ी गिरावट है। वही चांदी की कीमत 50,070 रुपये से गिरकर 49,990 रुपये प्रति किलोग्राम हो गई। एनालिस्ट तपन पटेल ने बताया कि ग्लोबल मार्केट में कीमतों में कमी और रुपये में मजबूत से घरेलू बाजार में सोने का भाव टूटा है।
वही अंतर्राष्ट्रीय बाजार में सोने की कीमत 1,648 डॉलर प्रति औंस और चांदी का भाव 18.40 डॉलर प्रति औंस रहा।

 

 

25-02-2020
शेयर बाजार में गिरावट जारी, सेंसेक्स 82 अंक टूटा, निफ्टी नीचे फिसला

मुंबई। शेयर बाजारों में मंगलवार को गिरावट का आलम रहा। बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स 82 अंक टूट गया। बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स दिन में कारोबार के दौरान 300 अंक तक ऊपर-नीचे होने के बाद अंत में 82.03 अंक या 0.20 प्रतिशत के नुकसान से 40,281.20 अंक पर बंद हुआ। इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 31.50 अंक या 0.27 प्रतिशत के नुकसान से 11,797.90 अंक पर आ गया।

शेयर बाजारों के अस्थायी आंकड़ों के अनुसार विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने सोमवार को शुद्ध रूप से 1,160.90 करोड़ रुपये के शेयर बेचे। अन्य एशियाई बाजारों में चीन का शंघाई कम्पोजिट, जापान का निक्की नुकसान में रहे। वहीं दक्षिण कोरिया का कॉस्पी और हांगकांग का हैंगसेंग लाभ में रहे। शुरुआती कारोबार में यूरोपीय बाजार नुकसान में चल रहे थे। इस बीच, ब्रेंट कच्चा तेल वायदा 0.16 प्रतिशत के नुकसान से 55.68 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया। अंतर बैंक विदेशी विनिमय बाजार में दिन में कारोबार के दौरान डॉलर के मुकाबले रुपया नौ पैसे की बढ़त के साथ 71.86 रुपये प्रति डॉलर पर था। निवेशक कोरोना वायरस के वैश्विक अर्थव्यवस्था पर पड़ने वाले प्रभावों को लेकर चिंतित हैं, जिससे बाजार में उतार-चढ़ाव बना हुआ है। 

 

25-02-2020
1 मार्च से लॉटरी पर लगेगा 28 प्रतिशत जीएसटी, पूरे देश में लागू होगी एकल दर

नई दिल्‍ली। लॉटरी उद्योगों  पर 1 मार्च, 2020 से एक समान 28 प्रतिशत की दर से माल एवं सेवा कर (जीएसटी) लागू होगा। एक नोटिफ‍िकेशन के मुताबिक यह जीएसटी दर राज्‍य द्वारा संचालित और अधिकृत लॉटरी पर एक मार्च से लागू होगी। वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण की अध्‍यक्षता वाली जीएसटी परिषद ने पिछले साल दिसंबर में लॉटरी पर जीएसटी की दर बढ़ाने के साथ ही साथ पूरे देश में एकल दर लागू करने का निर्णय लिया था। लॉटरी के टिकट को खरीदने वाले खरीदारों को अब एक मार्च से 28 प्रतिशत की दर से जीएसटी देना होगा। राजस्‍व विभाग द्वारा जारी नोटिफ‍िकेशन के मुताबिक,लॉटरी टिकट पर जीएसटी दर को संशोधित कर 14 प्रतिशत किया गया है और 14 प्रतिशत शुल्‍क राज्‍यों द्वारा वसूला जाएगा। इसके परिणामस्‍वरूप लॉटरी पर कुल जीएसटी बढ़कर 28 प्रतिशत हो जाएगा। वर्तमान में राज्‍य सरकार की एजेंसियों द्वारा संचालित लॉटरी पर 12 प्रतिशत की दर से जीएसटी लगता है, जबकि राज्‍य-अधिकृत लॉटरी पर 28 प्रतिशत की दर से टैक्‍स लगता है। लॉटरी उद्योग ने लॉटरी पर एक समान टैक्‍स लगाने की मांग की थी। इस पर विचार करने और जीएसटी रेट का सुझाव देने के लिए एक मंत्री समूह का गठन किया गया था। महाराष्‍ट्र के वित्‍त मंत्री सुधीर मुगंटीवार की अध्‍यक्षता में बने आठ-सदस्‍यीय समूह ने यह सुझाव दिया कि लॉटरी पर या तो 18 प्रतिशत या फ‍िर 28 प्रतिशत की दर से एक समान जीएसटी लगाया जाना चाहिए। इसके बाद जीएसटी परिषद ने दिसंबर में लॉटरी पर 28 प्रतिशत की दर से जीएसटी लगाने के पक्ष में निर्णय लिया है।

24-02-2020
शेयर बाजार में मायूसी, गिरावट के साथ बंद हुआ सेंसेक्स, निफ्टी भी लुढ़का

मुंबई। शेयर बाजार में सप्ताह के पहले दिन मायूसी रही। सुबह शेयर बाजार गिरावट के साथ खुला और शाम को कारोबार के बाद गिरावट के साथ बंद हुआ। सोमवार को सेंसेक्स 806.89 अंकों की गिरावट के साथ 40,363.23 पर बंद हुआ है। जबकि निफ्टी 251.45 अंक गिरकर 11,832 के स्तर पर बंद हुआ है। सेंसेक्स आज 497 अंकों की गिरावट के साथ 40673 के स्तर पर खुला। जबकि निफ्टी में 146 अंकों की गिरावट दर्ज की गई और यह 11935 तक पहुंच गया। आज के कारोबार में निफ्टी के सभी 50 शेयरों और सेंसेक्स के सभी 30 शेयरों में बिकवाली देखने को मिली। वहीं बैंक निफ्टी के सभी 12 शेयरों में गिरावट हावी रही। बीएसई और एनएसई के सभी सेक्टर इंडेक्स गिरावट के साथ बंद हुए है। दिग्गज शेयरों के साथ ही मिड और स्मॉल कैप इंडेक्स भी 1 फीसदी से ज्यादा टूटकर बंद हुए हैं।

आज के कारोबार में मेटल इंडेक्स में 4.5 साल की बड़ी गिरावट देखने को मिली। निफ्टी का मेटल इंडेक्स आज 5.36 फीसदी टूटकर बंद हुआ, जबकि ऑटो इंडेक्स 3.51 फीसदी की गिरावट के साथ 4 महीने के निचले स्तर पर बंद हुआ है।

 

 

24-02-2020
सत्य नडेला ने कहा,भारतीय सीईओ को समावेशी प्रौद्योगिकी क्षमता विकसित करने की जरूरत

मुंबई। माइक्रोसॉफ्ट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) सत्य नडेला ने भारतीय उद्योग जगत के दिग्गजों से समावेशी प्रौद्योगिकी क्षमता का निर्माण करने को कहा है। तीन दिन की भारत यात्रा पर आए नडेला ने सोमवार को माइक्रोसॉफ्ट के 'फ्यूचर डीकोडेड सीईओ सम्मेलन' को संबोधित करते हुए कहा,'भारतीय मुख्य कार्यकारी अधिकारियों को अपनी प्रौद्योगिकी क्षमता विकसित करनी चाहिए। साथ ही उन्हें यह सुनिश्चित करना चाहिए कि समाधान समावेशी हों।' उन्होंने कहा कि पिछले दशक के दौरान 'एग्रीगेटर' उभरे हैं, लेकिन यह काफी नहीं है। नडेला ने कहा कि हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि डिजिटल बदलाव उत्पादकता बढ़ाने वाला हो। उन्होंने कहा कि भारत में 72 प्रतिशत सॉफ्टवेयर इंजीनियरों की नौकरियों प्रौद्योगिकी उद्योग से बाहर हैं। इसी कार्यक्रम को संबोधित करते हुए टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एवं प्रबंध निदेशक राजेश गोपीनाथन ने कहा कि प्रौद्योगिकी में बदलाव के लिए कंपनी आंतरिक प्रतिभाओं को प्रशिक्षित करने को प्राथमिकता देती है। उन्होंने कहा कि कंपनी में हमारा प्रयास होता है कि अच्छी प्रतिभाओं को रोका जाए और इसके लिए हमें बाहर से लोग नहीं ढूंढने पड़ें।

 

24-02-2020
सरकार ने किया निर्यात कोटा का नए सिरे से आवंटन,60 लाख टन चीनी निर्यात की मंजूरी

नई दिल्ली। सरकार ने अधिकतम स्वीकार्य निर्यात कोटा (एमएईक्यू) योजना के तहत 2019-20 के मौजूदा विपणन वर्ष के लिए 6,50,000 टन चीनी कोटा का नए सिरे से आवंटन किया है। इस कोटा का इस्तेमाल नहीं हो पाया था। खाद्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने सोमवार को यह जानकारी दी। सरकार ने चालू साल के लिए कोटा के तहत 60 लाख टन चीनी निर्यात की मंजूरी दी थी। अधिशेष चीनी की स्थिति से निपटने को यह कदम उठाया गया था।
खाद्य मंत्रालय में संयुक्त सचिव सुबोध सिंह ने कहा कि कुछ मिलें इस साल अपने निर्यात कोटा को पूरा नहीं कर सकी हैं। वहीं कुछ मिलों ने 2,50,000 टन के निर्यात कोटा को छोड़ दिया है। सिंह ने कहा, 'हमने एक फॉर्मूले के आधार पर समूचे कोटा को समायोजित किया है। कुल 6,50,000 टन के निर्यात कोटा का नए सिरे से आवंटन किया गया है।'

सिंह ने यहां एथेनॉल पर आयोजित एक कार्यक्रम के मौके पर संवाददाताओं से अलग से बातचीत में कहा कि ऊंची वैश्विक मांग से चालू विपणन वर्ष (अक्टूबर-सितंबर) के दौरान चीनी का कुल निर्यात 50 लाख टन पर पहुंच सकता है। भारत ने 2018-19 के विपणन वर्ष में 50 लाख टन के अनिवार्य कोटा पर 38 लाख टन चीनी का निर्यात किया था।

अधिकारी ने कहा कि इस साल देश का कुल चीनी उत्पादन 2.7 करोड़ टन रह सकता है। इससे पिछले दो वर्ष के दौरान चीनी का उत्पादन 3.3 करोड़ टन रहा था। अभी तक मिलें 1.6 से 1.7 करोड़ टन चीनी का उत्पादन कर चुकी हैं। इस साल पेट्रोल में एथेनॉल के मिश्रण के बारे में सिंह ने कहा कि हम पांच प्रतिशत यानी 1.9 अरब लीटर के स्तर को हासिल कर पाएंगे। हालांकि, इसके लिए नीति 10 प्रतिशत की है। सिंह ने कहा,‘इस साल इसे हासिल करना मुश्किल होगा क्योंकि महाराष्ट्र में गन्ने का उत्पादन काफी घट गया है। हालांकि, हम पांच प्रतिशत को हासिल कर पाएंगे।’देश में अभी एथेनॉल का उत्पादन 355 करोड़ लीटर है। हालांकि,पेट्रोलियम विपणन कंपनियों (ओएमसी) की जरूरत 511 करोड़ लीटर की है।

 

 

24-02-2020
भारत जल्द दुनिया की शीर्ष तीन अर्थव्यवस्थाओं में होगा शुमार : मुकेश अंबानी

मुंबई। रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने कहा है कि भारत एक 'प्रमुख डिजिटल समाज' बनने की ओर अग्रसर है। इसके साथ ही उन्होंने विश्वास जताया कि जल्द भारत दुनिया की शीर्ष तीन अर्थव्यवस्थाओं में शुमार होगा। माइक्रोसॉफ्ट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) सत्य नडेला की भारत यात्रा के मौके पर सोमवार को आयोजित 'फ्यूचर डिकोडेड सीईओ सम्मेलन' को संबोधित करते हुए अंबानी ने कहा कि इस बड़े बदलाव में मोबाइल नेटवर्क का फैलाव प्रमुख भूमिका निभा रहा है। यह पहले की तुलना में अधिक तेजी से काम कर रहा है।

मुकेश अंबानी ने कहा,'इसकी शुरुआत 2014 में प्रधानमंत्री के डिजिटल भारत के दृष्टिकोण के साथ हुई थी। 38 करोड़ लोग अब जियो की 4जी प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल कर रहे हैं।' उन्होंने कहा कि जियो से पहले डेटा की रफ्तार 256 केबीपीएस थी। जियो के बाद यह 21 एमबीपीएस तक पहुंच गई है। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की भारत यात्रा का उल्लेख करते हुए अंबानी ने कहा कि आज उन्हें जो भारत दिखाई देगा, वह उनके पूर्ववर्तियों जिम्मी कार्टर, बिल क्लिंटन या बराक ओबामा ने जैसा भारत देखा है उससे भिन्न होगा। अंबानी ने कहा कि मोबाइल'कनेक्टिविटी' एक बड़ा बदलाव है। रिलायंस इंडस्ट्रीज के प्रमुख ने कहा,'मेरे मन में इस बात को लेकर कोई संदेह नहीं है कि हम दुनिया की शीर्ष तीन अर्थव्यवस्थाओं में होंगे।' उन्होंने कहा कि इसमें सिर्फ इस बात पर बहस की गुंजाइश है कि यह पांच साल में होगा या दस साल में। उन्होंने कहा कि भारत में हमारे पास एक प्रमुख डिजिटल समाज बनने का अवसर है। अंबानी ने नडेला की ओर इशारा करते हुए कहा कि अगली पीढ़ी काफी अलग भारत देखेगी। यह उस भारत से भिन्न होगा जिसमें आप और हम पले बढ़े हैं। 

 

Please Wait... News Loading