GLIBS

19-06-2019
महिंद्रा के यात्री वाहन होंगे 36 हजार तक महंगे

मुंबई। वाहन बनाने वाली प्रमुख कंपनी महिंद्रा एंड महिंद्रा ने यात्री वाहनों के लिए सुरक्षा मानक एआईएस 145 को लागू किये जाने के मद्देनजर एक जुलाई से अपने सभी यात्री वाहनाें की कीमतों में 36 हजार रुपये तक की बढोतरी करने की घोषणा की है।
कंपनी ने बुधवार को यहां जारी बयान में कहा कि सुरक्षा मानक एआईएस 145 को लागू किये जाने की वजह से वाहनों की कीमतों में बढोतरी करनी पड़ी है। यह सुरक्षा मानक एक जुलाई से प्रभावी हो रहा है जिसमें ड्राइवर एयरबैग, ड्राइवर और आगे बैठने वाले दूसरे व्यक्ति के लिए सीट बेल्ट रिमाइंडर, रियर पार्किंग सेंसर और ओवर स्पीड अलर्ट जैसे फीचर सभी यात्री वाहन में लगाने होंगे।
उसने कहा कि स्कोर्पियो, बोलेरो, टीयूवी 300 और केयूटी 100 एनएक्सटी की कीमतों में अधिक बढोतरी होगी जबकि एक्सयूवी 500 और मराजो की कीमतों में तुलनात्मक रूप से कम वृद्धि होगी।

 

 

19-06-2019
चुनिंदा खाद्य तेल में तेजी, चीनी गुड़ स्थिर, दाल दलहन मिश्रित

नई दिल्ली।अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जिंसों की कीमतों में घटबढ़ के बीच दिल्ली थोक जिंस बाजार में मंगलवार को चुनिंदा खाद्य तेलों की कीमतों में तेजी रही। इस दौरान दाल दलहन में मिश्रित रूख देखा गया जबकि चीनी , गुड़ स्थिर रहा। 
तेल-तिलहन : अंतर्राष्ट्रीय बाजारों में मलेशिया के बुरसा मलेशिया डेरिवेटिव एक्सचेंज में पाम ऑयल का अगस्त वायदा 2,008 रिंगिट प्रति टन पर स्थिर रहा। जुलाई का पाम ऑयल वायदा भी 0.01 सेंट फिसलकर 28.01 सेंट प्रति पौंड बोला गया। 
स्थानीय बाजार में आवक और उठाव में संतुलन रहने के बीच सरसों तेल और मूँगफली तेल में 73-73 रुपये प्रति क्विंटल की तेजी रही। सूरजमुखी तेल, सोया तेल, पाम ऑयल और वनस्पति में टिकाव रहा।

 

19-06-2019
भारतीय रेलवे में 'प्राइवेटाइजेशन' की दस्तक! प्राइवेट ऑपरेटर दौड़ाएंगे ट्रेन

नई दिल्ली। बेहतर सुविधाओं के नाम पर भारतीय रेलवे जल्द ही प्राइवेट प्लेयर को आमंत्रित करने वाली है। सूत्रों के मुताबिक, रेलवे मंत्रालय की योजना है कि देश के टूरिस्ट स्पॉट को जोड़ती या फिर जिस रूट पर यात्री संख्या कम है, वहां IRCTC के जरिये ट्रेन चलाने के लिए प्राइवेट प्लेयर को आमंत्रित किया जा सकता है। इसके लिए रेलवे कुछ ट्रेन IRCTC को देगा और बदले में उसे IRCTC भुगतान करेगी। आईआरसीटीसी बिडिंग प्रक्रिया के जरिये ट्रेन चलाने के लिए प्राइवेट प्लेयर या ऑपरेटर को आमंत्रित करेगी। देश के टूरिस्ट रूट पर या यात्री संख्या के लिहाज से कम दबाव वाले रूट पर प्राइवेट ऑपरेटर चलाए जाने की योजना है। सरकार का तर्क है कि प्राइवेट ऑपरेटर यात्रियों को अच्छी और विश्व-स्तरीय सुविधाएं देंगे जो भारतीय रेलवे के लिए भी अच्छा होगा।
चरणबद्ध तरीके से आगे बढ़ेगा रेलवे
भारतीय रेल (Indian railway) के दशा सुधारने के मकसद से रेल मंत्रालय ये बड़ा फैसला करने की तैयारी में हैं जहां गाड़ियों की सेवाएं अब निजी क्षेत्र को सौंपी जा सकती है। माना जा रहा है कि भारतीय रेलवे में प्रीमियम ट्रेनों की निजी भागीदारी को चरणबद्ध तरीके से आगे बढ़ाया जाएगा। शुरुआत में राजधानी और उसके बाद शताब्दी ट्रेनों को एक-एक करके टेंडर के जरिए निजी कंपनियों को सौंपा जाएगा, लेकिन इसकी रूपरेखा क्या होगी ये अभी तय किया जाना बाकी है। इसको लेकर अगले सौ दिनों का एक टार्गेट भी फिक्स किया गया है, जिसमें प्रीमियम ट्रेनों को चलाने का परमिट निजी कंपनियों को देने की योजना है। सिर्फ यात्री गाड़ियां ही नहीं बल्कि माल गाड़ियों में भी प्राइवेट भागीदारी बढ़ाने के लिए बड़े कदम उठाए जा सकते हैं। ट्रेनों को निजी हाथों में सौंपने के पीछे तर्क ये है कि इससे प्रीमियम ट्रेनों की यात्री सुविधाओं में इजाफा होगा। इस तरह से रेलवे के कमर्शियल ऑपरेशन में निजी क्षेत्र बेहतर सुविधाएं प्रदान करेगा।
प्रीमियम ट्रेनें प्रॉफिट में चल रही हैं
रेलवे के सूत्रों के मुताबिक, राजधानी और शताब्दी जैसी प्रीमियम ट्रेनें प्रॉफिट में चल रही हैं लिहाजा ऐसी ट्रेनों के ऑपरेशन का काम प्राइवेट कंपनियां लेने में ज्यादा इच्छुक होंगी। रेल मंत्रालय का फोकस है कि निजी क्षेत्र की भागीदारी बढ़ाने के लिए प्रीमियम ट्रेनों को चलाने का परमिट जल्द से जल्द निजी हाथों में सौंपा जाए। प्रीमियम ट्रेनों को निजी हाथों में सौंपने के लिए रेल मंत्रालय को अभी पूरी योजना बनानी है। रेलवे के सूत्रों के मुताबिक मालगाड़ियों और उनके वैगन में निजी क्षेत्र की भागीदारी को बढ़ाया जाएगा. इससे रेलवे का मकसद डबल स्टैक कंटेनर्स के लिए नए रेल रूट खोलना, इसके अलावा माल गाड़ियों की स्पीड को बढ़ाए जाने पर है।

 

19-06-2019
कल होगी NCLT  में जेट एयरवेज मामले की सुनवाई, एयरलाइन पर 36000 करोड़ रुपये का कर्ज

नई दिल्ली। आखिरकार जेट एयरवेज के उबरने की सारी उम्मीदें खत्म हो गईं, SBI के नेतृत्व में 26 बैंकों के कंसोर्टियम ने अपने कर्ज के भुगतान के लिए IBC के तहत  NCLT का दरवाजा खटखटाया , NCLT में इस मामले की पहली सुनवाई 20 जून को सुबह 11.30 बजे होगी। इससे पहले जेट एयरवेज के दो ऑपरेशनल क्रेडिटर्स पहले ही NCLT पहुंच चुके हैं। इस मामले की भी कल सुनवाई होगी। इनमें से एक क्रेडिटर की तरफ से जेट एयरवेज के खिलाफ एक अन्य मामला नीदरलैंड के कोर्ट में भी चल रहा है। बता दें, एयरलाइन पर करीब 8500 करोड़ रुपेय का कर्ज है। 17 अप्रैल से इसका ऑपरेशन बंद है।

जेट पर कर्मचारियों के 3000 करोड़ रुपये बकाया हैं


ऑपरेशन बंद होने के बाद बैंकों की तरफ से एक कार्यकारी कमेटी का गठन किया गया था। इसका गठन एयरलाइन को चलती हालत में बेचकर या निवेशक जुटाकर कर्ज को चुकाने के मकसद से किया गया था। बैंकों की तरफ से कई बार कोशिश की गई, लेकिन जेट एयरवेज को निवेशक नहीं मिले। बता दें, एयरलाइन पर बैंकों के कर्ज के अलावा माल और सेवाएं देने वालों का 10 हजार करोड़ रुपये और कर्मचारियों के वेतन का 3000 करोड़ रुपये का बकाया है। जेट एयरवेज के कर्मचारियों की संख्या 23,000 थी। पिछले कुछ सालों से जेट एयरवेज को काफी नुकसान हुआ। कंपनी का नुकसान करीब 13 हजार करोड़ रुपये पर पहुंच चुका था। बैंकों और अन्य कर्ज को मिला दें तो एयरलाइन पर कुल कर्ज करीब 36000 करोड़ रुपये का है।
 

जेट के बेड़े में अब केवल 16 विमान हैं

बेड़े में विमानों की बात की जाए, तो जेट एयरवेज के पास मात्र 16 विमान हैं जिनका मूल्य 5,000 करोड़ रुपये है। एयरलाइन के बेड़े में शेष 123 विमान पट्टे पर थे। भुगतान नहीं होने की वजह से इनका पंजीकरण रद्द हो चुका है और इन्हें वापस लिया जा चुका है। बंबई शेयर बाजार में मंगलवार को जेट एयरवेज का शेयर 41 प्रतिशत टूटकर 40.45 रुपये पर आ गया। दिन में कारोबार के दौरान एक समय यह 52.78 प्रतिशत के नुकसान से 32.25 रुपये पर आ गया था।

 

18-06-2019
सोना हुआ महंगा, 33,720 रुपए के आकड़े को छुआ, चांदी में भी 130 रुपए की तेजी

नई दिल्ली। सर्राफा बाजार में कीमती धातु में उछाल देखी गई। मंगलवार को दिल्ली सर्राफा बाजार में सोना 100 रुपए की तेजी के साथ 33,720 रुपए प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया। सर्राफा कारोबारियों के संगठन आल इंडिया सर्राफा एसोसिएशन ने कहा कि औद्योगिक इकाइयों और सिक्का निर्माताओं के उठाव बढ़ने से चांदी भी 130 रुपये की तेजी के साथ 38,220 रुपये प्रति किलोग्राम पर बोली गई। बाजार सूत्रों ने कहा कि सकारात्मक वैश्विक बाजार और स्थानीय आभूषण कारोबारियों की मांग के समर्थन से सर्राफा कीमतों में तेजी आई। न्यूयॉर्क में सोना और चांदी के भाव तेजी के साथ 1,344.90 डॉलर प्रति औंस और 14.96 डॉलर प्रति औंस पर चल रहे थे।
दिल्ली सर्राफा बाजार में 99.9 और 99.5 प्रतिशत की शुद्धता वाले सोने के भाव 100-100 रुपये की तेजी के साथ क्रमश: 33,720 और 33,550 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुए। चांदी हाजिर 130 रुपए बढ़कर 38,220 प्रति किलोग्राम और साप्ताहिक डिलीवरी 140 रुपए बढ़कर 37,256 रुपए प्रति किलोग्राम पर बंद हुई। 

 

18-06-2019
शेयर बाजार में थमा गिरावट का दौर, सेंसेक्स 86 अंक चढ़ा

मुंबई। शेयर बाजार मंगलवार को रौनक रही। सेंसेक्स आज बढ़त के साथ बंद हुआ। शेयर बाजार में चार कारोबारी सत्रों से चली आ रही गिरावट का सिलसिला आज थमा। इससे निवेशकों में हर्ष का माहौल रहा। शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स कारोबार के दौरान करीब 300 अंक ऊपर नीचे होने के बाद अंत में 85.55 अंक या 0.22 प्रतिशत की बढ़त के साथ 39,046.34 अंक पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 19.35 अंक या 0.17 प्रतिशत की बढ़त के साथ 11,691.50 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स की कंपनियों में वेदांता, कोल इंडिया, आईसीआईसीआई बैंक, पावरग्रिड, एचसीएल टेक और बजाज फाइनेंस के शेयर 2.65 प्रतिशत तक चढ़ गए। शेयर बाजार के सूत्रों के अनुसार कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट तथा रुपये के मजबूत होने से शेयर बाजार में सुधार हुआ।

 

18-06-2019
बिकवाली से बाजार में हाहाकार, सेंसेक्स 39,000 के नीचे बंद

मुंबई। लोकसभा चुनाव के नतीजों के बाद भारतीय शेयर बाजार को जो ऐतिहासिक तेजी मिली थी उस पर अब ब्रेक लग गया है। दरअसल, बीते कुछ दिनों से सेसेंक्स और निफ्टी में लगातार गिरावट देखने को मिल रही है। इसका नतीजा यह हुआ है कि सोमवार को सेंसेक्स 39 हजार के नीचे आ गया। वहीं निफ्टी भी 11 हजार 700 के नीचे लुढ़क गया। कारोबार के अंत में बाजार में चौतरफा बिकवाली के चलते सेंसेक्स 491 अंक टूटकर 39000 के नीचे 38961 के स्तर पर बंद हुआ। वहीं निफ्टी भी करीब 151 अंक टूटकर 11700 के नीचे 11672 के स्तर पर बंद हुआ।

किन शेयरों का क्या हाल
सेंसेक्स पर कारोबार के अंत में टाटा स्टील के शेयर 5 फीसदी से अधिक टूट गए तो वहीं वेदांता, टाटा मोटर्स, एक्सिस बैंक, एयरटेल और रिलायंस के शेयर भी 2 फीसदी से अधिक गिरावट के साथ बंद हुए। इसके अलावा ओएनजीसी, सनफार्मा, मारुति, एलएंडटी और महिंद्रा के शेयर भी 1 फीसदी से अधिक लुढ़क गए।

बता दें कि शुक्रवार को सेंसेक्स 289 अंक की गिरावट के साथ 39,452 अंक पर और निफ्टी 90 अंक की गिरावट के साथ 11,850 अंक के स्तर से गिरकर 11,823 के स्तर पर पर बंद हुआ। इस बीच, सोमवार को रुपये की शुरूआत सपाट हुई। रुपया बिना किसी बदलाव के 69.80 के स्तर पर खुला। डॉलर के मुकाबले रुपया शुक्रवार के कारोबारी सत्र में 29 पैसे टूटकर 69.80 के स्तर पर बंद हुआ था।

क्या है वजह
दरअसल, ट्रेड वॉर की आशंका बढ़ने की वजह से निवेशकों में एक डर का माहौल है। इस वजह से निवेशक अपने शेयर बेच रहे हैं और भारतीय शेयर बाजार में गिरावट का दौर देखने को मिल रहा है। बता दें कि अमेरिका और चीन के बीच आर्थिक मोर्चे पर तनाव बढ़ता जा रहा है। वहीं भारत की ओर से अमेरिकी उत्पादों पर एडिशनल कस्टम ड्यूटी लगाने का फैसला किया गया है। इस सूची में भारत ने 29 उत्पादों को जोड़ा है। इसमें कई खाद्य सामग्री शामिल है।

 

18-06-2019
अब अनिल अंबानी अरबपतियों के क्लब से बाहर

नई दिल्ली। आरकॉम के मालिक अनिल अंबानी अरबपतियों के क्लब से बाहर हो गए हैं। उनकी संपत्ति 42 अरब डॉलर (2933 अरब रुपये) से घटकर अब महज 0.5 अरब डॉलर (34 अरब रुपये) रह गई है। ब्लूमबर्ग के मुताबिक, उनकी पूंजी सिर्फ 765 करोड़ रुपये रह गई है।

अनिल अंबानी 2008 में दुनिया के छठवें सबसे अमीर शख्स थे, लेकिन पिछले 11 सालों मे संपत्ति लगातार नीचे आती गई और अब उनका कारोबार महज 3651 करोड़ रुपये का रह गया है। इसमें भी काफी संपत्ति उन्होंने गिरवी रखी है।

अनिल की अगुवाई वाले द रिलायंस ग्रुप की पूंजी चार माह पहले आठ हजार करोड़ रुपये आंकी गई थी। मार्च 2018 में रिलायंस ग्रुप कंपनियों का कुल कर्ज 1.7 लाख करोड़ रुपये थे। उन्होंने 14 माह में 35 हजार करोड़ रुपये चुकाने का दावा किया है।

17-06-2019
पत्रकारों को अधिकाधिक संख्या में मिलनी चाहिए अधिमान्यता : मुख्यमंत्री  बघेल 

बिलासपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि प्रदेश के पत्रकारों को अधिकाधिक संख्या में अधिमान्यता मिलनी चाहिए। मुख्यमंत्री बघेल ने पत्रकारों की मांगों पर गंभीरता से निर्णय लेने की बात कही। 
मुख्यमंत्री बघेल आज बिलासपुर प्रेस क्लब की नयी कार्यकारिणी के शपथ ग्रहण समारोह में उद्बोधन दे रहे थे। सीएम बघेल ने कहा कि चूंकि छत्तीसगढ़ के अनेक हिस्से नक्सल प्रभावित हैं और ग्रामीण क्षेत्रों में भी अनेक पत्रकार निष्ठाभाव से काम कर रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में कहीं भी बीमारी फैलती है, जंगल में आग लगती है, इसकी जानकारी हमें सबसे पहले मीडिया से ही मिलती है। मगर यह सूचना सामने लाने वाले पत्रकारों के पास अधिमान्यता नहीं है। जब उनके ऊपर कोई समस्या आती है तो बचाव के लिए उनके पास कोई प्रमाण नहीं होता है। हमारा मानना है कि अधिक संख्या में पत्रकारों को अधिमान्यता मिलनी चाहिए।  बिलासपुर प्रेस क्लब की ओर से रखी गई मांगों पर बघेल ने कहा कि रियायती आवास के लिए नियमों का परीक्षण किया जाएगा।  सीएम बघेल ने बताया कि अब पत्रकार सम्मान निधि योजना के तहत सेवानिवृत्त पत्रकारों को पांच हजार रुपए के स्थान पर 10 हजार रुपए प्रति माह पेंशन के रूप में सम्मान राशि दी जाएगी। पहले यह प्रावधान पांच वर्ष के लिए था, जिसे अब आजीवन प्रदान किया जाएगा। इसके अतिरिक्त पत्रकार कल्याण कोष के तहत चिकित्सा सुविधा के लिए पूर्व में 50 हजार रुपए तक अधिकतम स्वीकृति दी जाती थी, जिसे बढ़ाकर अब दो लाख रुपए कर दिए गए हैं। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष धरम लाल कौशिक ने कहा कि संविधान के तीन स्तंभों न्यायपालिका, कार्यपालिका और विधायिका के अलावा मीडिया चौथा स्तंभ है। सभी मिलकर कार्य करेंगे तो छत्तीसगढ़ को हम नई ऊंचाई तक पहुंचाएंगे। लोरमी विधायक धर्मजीत सिंह ठाकुर ने भी कार्यक्रम को सम्बोधित किया। स्वागत उद्घबोधन बिलासपुर प्रेस क्लब अध्यक्ष  तिलक राज सलूजा ने दिया। कार्यक्रम में तखतपुर विधायक रश्मि सिंह, नगरी-सिहावा विधायक लक्ष्मी ध्रुव, पाली-तानाखार विधायक मोहित केरकेट्टा, महापौर किशोर राय आदि भी विशेष रूप से उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने  सलूजा सहित बिलासपुर प्रेस क्लब की कार्यकारिणी के सदस्यों को शपथ दिलाई। इनमें उपाध्यक्ष मनीष शर्मा, सचिव वीरेन्द्र गहवई, कोषाध्यक्ष रमन दुबे, सह-सचिव उमेश मौर्य तथा कार्यकारिणी सदस्य सूरज वैष्णव शामिल थे। 

 

17-06-2019
यूको बैंक ने किया यशोवर्धन बिड़ला को डिफाल्टर घोषित

मुंबई। यूको बैंक ने यशोवर्धन बिड़ला को विलफुल डिफॉल्टर घोषित कर दिया है। उनकी कंपनी बिड़ला सूर्या लिमिटेड पर बैंक के 67.55 करोड़ रुपये बकाया है। न्यूज एजेंसी ने सोमवार को यह जानकारी दी। एसबीआई, पीएनबी और बैंक आॅफ इंडिया के कंसोर्शियम के साथ यूको बैंक ने बिड़ला सूर्या को लोन दिया था। बिड़ला सूर्या लिमिटेड में यशोवर्धन बिड़ला डायरेक्टर हैं। वे यश बिड़ला ग्रुप के चेयरमैन भी हैं।

यूको बैंक ने किया यशोवर्धन बिड़ला को डिफाल्टर घोषित

यूको बैंक की ओर से जारी सार्वजनिक नोटिस के मुताबिक बैंक की मुंबई स्थित नरीमन प्वाइंट कॉरर्पोरेट ब्रांच से बिड़ला सूर्या को 100 करोड़ रुपये की क्रेडिट लिमिट दी गई थी। इसमें से 67 करोड़ रुपये और उसका ब्याज नहीं चुकाने की वजह से बैंक ने 3 जून 2013 को कर्ज एनपीए घोषित कर दिया था। बैंक के कई नोटिस मिलने के बावजूद कंपनी ने कर्ज नहीं चुकाया। बैंक ने अब कंपनी के डायरेक्टर, प्रमोटर और गारंटरों को विलफुल डिफॉल्टर घोषित कर दिया है। आरबीआई के निर्देशों के मुताबिक विलफुल डिफॉल्टर को बैंकों या वित्तीय संस्थानों की ओर से कोई कर्ज नहीं दिया जाता। कंपनी पर 5 साल तक नए उद्यम लाने पर रोक लग जाती है। कंपनी और डायरेक्टर्स के खिलाफ कर्जदाता आपराधिक कार्रवाई भी शुरू कर सकता है।

यशोवर्धन के परदादा ने यूको बैंक की स्थापना की थी

घनश्याम दास बिड़ला यूको बैंक के फाउंडर थे। उन्होंने 1943 में कोलकाता में बैंक की स्थापना की थी। वे यशोवर्धन बिड़ला के परदादा रामेश्वर दास बिड़ला के भाई थे। 1969 में सरकार ने यूको बैंक का अधिग्रहण कर लिया था। यूको बैंक ने 665 विलफुल डिफॉल्टर्स की लिस्ट जारी की है। इनमें जूम डेवलपर्स (309.50 करोड़ रुपए), फर्स्ट लीजिंग कंपनी आॅफ इंडिया (142.94 करोड़ रुपए), मोजर बेयर इंडिया (122.15 करोड़ रुपए) और सूर्या विनायक इंडस्ट्रीज (107.81 करोड़ रुपए) शामिल हैं।

15-06-2019
कनाडा के बाजारों में मिलेंगे भांग मिक्स फूड प्रोडक्ट्स और ड्रिंक्स, इस वजह से लिया गया फैसला

ओटावा। कनाडा में दिसंबर 2019 से भांग मिश्रित खाद्य पादार्थों की वैध तरीके से बाजारों में बिक्री शुरू हो जाएगी। हालांकि सरकार ने शुक्रवार की अपनी घोषणा में कहा कि बच्चों को इनसे दूर रखने के लक्ष्य से उसने गमीबेयर्स और लॉलीपॉप जैसी चीजों में भांग के इस्तेमाल को मंजूरी नहीं दी है।

भांग के उपयोग को किया गया वैध घोषित

गौरतलब है कि कनाडा ने पिछले ही साल एक कानून बनाकर भांग के उपयोग को वैध घोषित कर दिया था। उसके बाद पारित यह नया कानून 17 अक्टूबर से प्रभावी होगा। यह कानून भांग के सत और शरीर में लगाने वाले मल्हम पर भी लागू होगा। अधिकारियों ने मीडिया को बताया कि इन नए उत्पादों के मध्य दिसंबर से पहले बाजार में आने की संभावना नहीं है। यह उद्योग नया है। इसे खड़े होने और उपभोक्ताओं के हिसाब से विकसित होने में कुछ वक्त लगेगा।

क्यों सरकार की ओर से लिया गया यह फैसला?

कनाडा सरकार में भांग से जुड़े सभी मामलों के प्रभारी बिल ब्लेयर ने एक बयान में कहा कि संशोधित कानून का लक्ष्य खाने योग्य भांग, भांग के सत और भांग से बनने वाले मल्हम आदि से जन स्वास्थ्य को होने वाले खतरे को कम करना और कनाडा में इन उत्पादों के मौजूदा अवैध बाजार को खत्म करना है। नए कानून के तहत कनाडा ने प्रत्येक खाद्य और पेय पदार्थ तथा सत और मल्हम आदि में भांग की मात्रा तय कर दी है।

15-06-2019
डोनाल्ड ट्रंप की बेटी इवांका ट्रंप ने 2018 में कमाए 13.5 करोड़ डॉलर

न्यूयॉर्क। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की बेटी इवांका ट्रंप और दामाद जेरेड कुश्नर की 2018 में आमदनी करीब 13.5 करोड़ डॉलर की रही। ट्रंप प्रशासन में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे पति-पत्नी ने यह कमाई रियल एस्टेट, शेयर, बांड आदी से की है। वित्तीय जानकारी के अनुसार, वाशिंगटन डीसी में ओवल ऑफिस (राष्ट्रपति कार्यालय) के पास स्थित पारिवारिक होटल में इवांका की हिस्सेदारी से उन्हें 2018 में 39.5 लाख डॉलर कर कमाई हुई है। 2017 में भी होटल से होने वाली उनकी आमदनी कुछ इसी के आसपास थी।

विदेशी राजनयिकों और लॉबिस्ट का यह पसंदीदा होटल फिलहाल दो मुकदमों का सामना कर रहा है। मुकदमों के अनुसार, राष्ट्रपति ट्रंप संवैधानिक नियमों का उल्लंघन कर रहे हैं, जिसके तहत किसी भी विदेशी सरकार से राष्ट्रपति कोई भुगतान नहीं ले सकता है।
बैग, जूते और तमाम अन्य चीजें बेचने वाली कंपनी इवांका ट्रंप होल्डिंग से उनकी कमाई करीब 10 लाख डॉलर की हुई है जो 2017 के मुकाबले कम से कम 50 लाख डॉलर कम है। इवांका ने पिछले साल कहा था कि वह अपनी कंपनी बंद करने की सोच रही हैं ताकि व्हाइट हाउस में अपने पिता के साथ काम पर पूरा ध्यान दे सकें।

Please Wait... News Loading