GLIBS

15-06-2019
कबीर जयंती पर होगा पद्मश्री प्रहलाद टिपानिया का गायन
10:22pm

रायपुर। कबीर जयंती के उपलक्ष्य में सोमवार 17 जून को संस्कृति विभाग की ओर से मेडिकल कॉलेज सभागार में कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। शाम 7 बजे से आयोजित इस कार्यक्रम में पद्मश्री प्रहलाद टीपान्या कबीर गायन प्रस्तुत करेंगे।
संस्कृति एवं पुरातत्व के संचालक ने बताया है कि इस अवसर पर संस्कृति मंत्री ताम्रध्वज साहू, नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया के साथ रायपुर सांसद सुनील सोनी, विधायक सत्यनारायण शर्मा, बृजमोहन अग्रवाल, धनेन्द्र साहू, कुलदीप जुनेजा, अनिता योगेन्द्र शर्मा, विकास उपाध्याय और महापौर प्रमोद दुबे विशेष रूप से उपस्थित रहेंगे।

 

15-06-2019
अवैध प्लाॅटिंग के विरुद्ध कार्रवाई शुरू, हटाए गए कम्पोजिट बिल्डिंग के पीछे के अतिक्रमण 
10:21pm

धमतरी। कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी रजत बंसल के निर्देशानुसार अवैध प्लाॅटिंग पर मैदानी कार्रवाई प्रारम्भ कर दी गई है। इसकी शुरूआत रूद्री में कलेक्टोरेट स्थित कम्पोजिट बिल्डिंग के पीछे विकसित हो रही अवैध प्लाॅटिंग को हटाने के साथ हुई। कलेक्टर के निर्देश पर एसडीएम (राजस्व) धमतरी योगिता देवांगन ने तहसीलदार के अमले के साथ उक्त कार्रवाई की। 
उल्लेखनीय है कि कलेक्टर ने धमतरी निवेश क्षेत्र में लगातार हो रही अवैध प्लाॅटिंग को संज्ञान में लेकर इसके विरूद्ध सतत् कार्रवाई करने के निर्देश राजस्व एवं नगर तथा ग्राम निवेश विभाग के अधिकारियों को दिए थे। साथ ही अवैध ढंग से किए जा रहे भूमि विकास पर लगाम कसने संबंधित भूमि धारकों को गत फरवरी माह में सहायक संचालक नगर तथा ग्राम निवेश धमतरी द्वारा नोटिस भी जारी कर 15 दिनों के भीतर जवाब प्रस्तुत करने के लिए निर्देशित किया गया। जारी नोटिस में भूधारकों को संबंधित भूमि को उसकी पूर्वावस्था में प्रत्यावर्तित करने (पुराने स्वरूप में वापस लाने) के लिए भी कहा गया था। इनमें से कतिपय ने जवाब प्रस्तुत किया, जो कि संतोषजनक नहीं पाए गए, वहीं कुछ ने नोटिस का जवाब भी नहीं दिया। इसी तारतम्य में शनिवार को रूद्री स्थित कम्पोजिट बिल्डिंग के पीछे अवैध प्लाॅटिंग को हटाने की कार्रवाई प्रारम्भ की गई। एसडीएम (राजस्व) धमतरी ने बताया कि धमतरी निवेश क्षेत्र में हो रहे अवैध भूमि विकास एवं निर्माण के विरूद्ध आगे भी शासन के नियमानुसार कार्रवाई सतत् जारी रहेगी।

15-06-2019
सीएम की पहल पर किडनी रोग से पीड़ित बालक को इलाज के लिए मिली आर्थिक सहायता
रा
09:59pm

 

कोरबा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर कोरबा जिला मुख्यालय के बुधवारी बस्ती में रहने वाले किडनी के रोग से पीड़ित बच्चे को एक लाख रुपए की आर्थिक सहायता उपलब्ध करा दी गई है। कलेक्टर किरण कौशल ने जिला प्रशासन की तरफ से पचास हजार रूपये और दर्री में पदस्थ सीएसपी शेर बहादुर ने 50 हजार रुपए की सहायता दी है।
बुधवारी बाजार बस्ती में रहने वाले धनेन्द्र गभेल के बेटे मनीष गभेल को छोटी सी उम्र में ही किडनी का रोग होने से उसकी दोनों किडनी खराब हो गई है। बच्चे की किडनी ट्रांसप्लांट किया जाना है। मां अनीता गभेल अपनी एक किडनी बच्चे को देने तैयार है पर ट्रांसप्लांट में लगभग सात लाख का खर्चा है। इतनी बड़ी रकम का इंतजाम करना इस गरीब परिवार के लिए संभव नहीं है इसलिए अपने बच्चे की जिंदगी बचाने आर्थिक सहायता की अपील मां अनिता ने की है।
 समाचार पत्रों तथा सोशल मीडिया में खबर प्रकाशन के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने संवेदनशीलता का परिचय देते हुए इसे संज्ञान में लिया और जिला कलेक्टर को मनीष के इलाज के लिए हर संभव सहायता उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। इसके बाद मनीष को अब तक एक लाख की सहायता शासन-प्रशासन की ओर से मिल गई है। मनीष के इलाज के लिए कटघोरा के एसडीएम अजय राव ने मनीष के घर जाकर जिला प्रशासन की तरफ से 50 हजार रूपये सहायतार्थ मनीष की मां को दिए हैं। दर्री के सीएसपी शेर बहादुर सिंह ने भी परिवार को 50 हजार रूपये की सहायता दी है।
आर्थिक सहायता के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की संवेदनशीलता और उनके निर्देश पर मिली सहायता के लिए मनीष के परिजनों ने मुख्यमंत्री को धन्यवाद ज्ञापित किये हैं। मनीष की मां अनीता ने कहा कि अब उन्हें विश्वास है कि उनके बेटे का इलाज सही ढंग से हो जाएगा। अनीता ने कहा कि जिस प्रदेश में सबकी विशेषकर गरीबों की चिंता करने वाले मुख्यमंत्री हो, उस प्रदेश में कोई मनीष किसी भी बीमार के कारण पैसों की कमी से अब असमय ही काल का ग्रास नहीं बनेगा।

15-06-2019
 बारिश के पानी को सहेजने कोरबा जिले में चलेगा ‘छानी के पानी घर म‘ अभियान
09:53pm

कोरबा। जिले में आगामी मानसून के पहले बरसात का पानी सहेजने की कवायद शुरू हो गई है। जिला कलेक्टर किरण कौशल की पहल पर शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में पहली बार एक साथ बारिश के पानी को बेकार बह जाने से रोकते हुए वापस जमीन में पहुंचाने से वाटर हार्वेस्टिंग प्रणालियों की स्थापना का अभियान चलाया जाएगा। इस ‘छानी के पानी घर म‘ अभियान के तहत जिले में एक साथ लगभग साढ़े पांच हजार भवनों-ईकाइयों पर रेन वाटर हार्वेस्टिंग प्रणाली स्थापना का काम होगा। यह अभियान 20 जून से 25 जून तक चलेगा।
कलेक्टर किरण कौशल ने शनिवार को बताया कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा कलेक्टर्स क्रांफ्रेंस में दिए गए निर्देशों पर अमल करते हुए जिले में सघन अभियान के तहत वर्षा जल के संरक्षण तथा भू-जल स्तर को रीचार्ज करने के लिए रेन वाटर हार्वेस्टिंग प्रणालियों की स्थापना का काम शुरू किया जा रहा है। ‘छानी के पानी घर म‘ अभियान के तहत पांच दिनों में बारिस के पहले जिले के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में बने सरकारी भवनों, औद्योगिक प्रतिष्ठानों के भवनों, शालाओं, अस्पताल भवनों सहित निजी व्यवसायिक भवनों एवं बड़े आवासीय भवनों पर एक साथ वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम का काम होगा जिसे बारिश के पहले पूरा भी कर लिया जाएगा। कलेक्टर श्रीमती कौशल ने बताया कि अभियान में जन भागीदारी का विशेष महत्व होगा तथा उसे ध्यान में रखते हुए जिले के ग्रामीण क्षेत्रों तथा शहरी क्षेत्रों में विशेष जन जागरूकता अभियान भी चलाया जायेगा। ग्रामीण क्षेत्रों में ब्लाक स्तर पर तथा शहरी क्षेत्रों में जोन स्तर पर, इसके लिए 17 जून व 18 जून 2019 को विशेष कार्यशालाएं आयोजित की जायेगी जहां उपस्थित लोगों को रेन वाटर हार्वेस्टिंग की जरूरतों के बारे में बताया जाएगा तथा उसके तकनीकी पहलुओं की भी जानकारी दी जाएगी। कलेक्टर श्रीमती कौशल ने इसके लिए नोडल अधिकारियों का भी मनोनयन कर दिया है। ग्रामीण क्षे़त्रों में अभ्यिान की कमान जिला पंचायत के सीईओ इंद्रजीत सिंह चंद्रवाल और शहरी क्षेत्र की कमान नगर निगम आयुक्त श्री एस.के.दुबे संभालेंगे।
कलेक्टर ने आगे बताया कि 20 जून से 25 जून तक की अवधि में जिले में बहुतायत संख्या में भवनों पर रेन वाटर हार्वेसिटंग का काम एक साथ किया जाएगा। ग्रामीण क्षेत्रों में हर एक ग्राम पंचायत स्तर पर पंचायत भवन, शाला भवन, अस्पताल, बड़े आवासीय भवनों को मिलाकर 12-12 भवनों पर रेन वाटर हार्वेस्टिंग प्रणाली स्थापित की जायेगी। कोरबा जिले की सभी 390 ग्राम पंचायतों में इस तरह कुल 4680 भवनों पर एक साथ वाटर हार्वेस्टिंग प्रणाली स्थापित होगी। शहरी क्षेत्रों में प्रत्येक जोन स्तर पर 100 भवनों में यह काम किया जायेगा। कोरबा नगर निगम के सभी आठ जोनों में शासकीय कार्यालयों के भवनों, स्कूल भवनों, माहाविद्यालय, शासकीय एवं निजी अस्पतालों, बड़े व्यावसायिक एवं आवासीय भवनों को मिलाकर कुल आठ सौ भवनों में रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम स्थापित किए जायेंगे।
कलेक्टर श्रीमती कौशल ने सभी शासकीय अधिकारी, कर्मचारियो, सभी जनप्रतिनिधियों तथा गणमान्य नागरिकों से इस अभियान से जुड़ने तथा जल संरक्षण और भू-जल स्तर के रिचार्ज करने के अभियान को सफल बनाने की भी अपील की है।

15-06-2019
तौल कांटा में नहीं था अधिकृत कर्मचारी, किया सील, ट्राजिट पास जब्त
09:47pm

कोरबा। जिले की कोयला खदानों तथा कोल वाशरियों की राज्य स्तरीय केंद्रीय उड़न दस्ते तथा जिला प्रशासन की टीम द्वारा सघन जांच की जा रही है। उड़न दस्ते में खनिज विभाग के 12, राजस्व विभाग के 17, पर्यावरण संरक्षण विभाग के आधा दर्जन से अधिक अधिकारियों सहित औद्योगिक स्वास्थ्य एवं सुरक्षा विभाग के अधिकारी तथा 100 से अधिक पुलिस अधिकारी-जवान भी शामिल हैं।
जांच दल द्वारा कोल वाशरियों में पर्यावरण मानकों, जल उपयोगिता, दूषित जल प्रबंधन, खनिज नियमों का पालन करने के परिपेक्ष्य में जांच जारी है। कोल वाशरियों को स्वीकृत भण्डारण क्षमता के अनुसार वाशरियों से भण्डारित कोयले की मात्रा का वेरीफिकेशन भी जांच दल द्वारा किया जा रहा है। कोयला ढोने में लगे वाहनों में लोव्हर लोडिंग, मोटर व्हीकल एक्ट के मानकों सहित तिरपाल लगाकर सुरक्षित तरीके से कोयले के परिवहन की भी जांच दल कर रहे हैं। कोल वाशरियों में लगे तौल कांटों की जांच भी की जा रही है।
जांच दस्ते द्वारा शनिवार को दीपका कोयला खदान में भी जांच कार्यवाही की गई है। एसईसीएल द्वारा संचालित इस खदान के तौल कांटा क्रमांक 16 में कंपनी का अधिकृत कर्मचारी अनुपस्थित पाया गया तथा अन्य व्यक्ति द्वारा तौल करते हुए जांच में पाया गया है। इस पर जांच अधिकारियों ने मौके पर उपलब्ध अभिवहन पास (ट्रांजिट पास) को जब्त कर लिया है तथा तौल कांटा घर को भी सील कर दिया गया है।
ग्राम चाकाबुड़ा स्थित कोल वाशरी में जांच के दौरान तोैल कांटा घर से रेलवे साइडिंग तक बिना ट्रांजिट पास के कोयला परिवहन के कारण तौल काटा घर को सील करने की कार्यवाही की गई है। इसी तरह स्वास्तिक पावर कनवेरी में एक नलकूप सील किया गया है। विविध टीमों द्वारा अब तक 52 वाहनों पर कार्यवाही की गई है। यह जांच देर रात तक जारी रहने की संभावना अधिकारियों ने जताई है।

 

15-06-2019
गिरते भू-जल स्तर और पानी के संकट के लिए हम सभी जिम्मेदार : महापौर रेणु अग्रवाल
09:44pm

कोरबा। जल संचयन के लिए तालाबों का अपना महत्व हैं। लगातार गिरते भू-जल स्तर व पानी के संकट के लिए कही न कही हम सभी जिम्मेदार है। तालाबों में पानी रहने से जल स्तर सही रहने का अनुमान लगाया जाता था लेकिन वर्तमान कुछ वर्षो से तालाबे सूखने से यह साफ हो गया है कि धरती के कोख से पानी खाली हो रही हैं। 
उक्त कथन महापौर रेणु अग्रवाल ने शनिवार को वार्ड क्र. 29 के पोड़ीबहार खरमोरा में तालाब के सौदर्यीकरण के भूमिपूजन कार्यक्रम के अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि कहीं। उन्होने कहा कि निगम क्षेत्र में सड़क, बिजली, पानी, साफ-सफाई के साथ-साथ बस्तीवासियों के निस्तारी के लिए तालाबों का सौदर्यीकरण व गहरीकरण के साथ-साथ पचरी निर्माण प्राथमिकता के साथ कराना मेरा उद्देश्य हैं।
महापौर रेणु अग्रवाल के द्वारा कोसाबाड़ी जोन अंतर्गत वार्ड क्र. 29 के माॅ शाकाम्भरी सामुदायिक भवन के पास आयोजित कार्यक्रम के दौरान तालाब सौदर्यीकरण कार्य का विधिवत भूमिपूजन किया गया। भूमिपूजन कार्यक्रम के दौरान महापौर रेणु अग्रवाल ने संबंधित अधिकारियों को उक्त कार्य को समय पर गुणवता के साथ कराने निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि गर्मी के दिनो में तालाब सूख गए है और कभी भी पानी गिर सकता है। ऐसे में उक्त कार्य को शीघ्र की पूरा कराया जाना उचित व सार्थक होगा।
इस दौरान महापौर रेणु अग्रवाल ने चौपाल लगाकर वार्डवासियो से मुलाकात किया जहां लोगों ने सड़क किनारे स्ट्रीट व विद्युत खम्भों की मांग रखी, जिस पर महापोर रेणु अग्रवाल ने जोन प्रभारी सहित संबंधित अधिकारियों को सक्त निर्देश देते हुए कहा कि विद्युत विहीन स्थानों का चयन कर शीघ्र ही विद्युत आपूर्ति, विद्युत खम्भें व स्ट्रीट लाईट व्यवस्था करें।
महापौर रेणु अग्रवाल ने कहा कि उन्होने निगम में पेयजल व्यवस्था, स्ट्रीट लाईट, साफ-सफाई, पहुंच मार्ग, नाली निर्माण, सड़क निर्माण के लिए प्राथमिकता के साथ कार्य किया है। यह कार्य आगे भी जारी रहेगा।
उक्त कार्यक्रम के दौरान जिला अध्यक्ष राजकिशोर प्रसाद, पार्षद प्रदीप जायसवाल, संतोष राठौर, कृष्णा द्विवेदी, देव जायसवाल, अरूण यादव, संजय शाह, भोला सोनी, सपना चौहान, कुसुम द्विवेदी, नफीसा बेगम, लोकराम साहू, सुखी साहू, करमसिंह यादव, श्यामलाल, उपेन्द्र यादव, प्रताप सिंह कंवर, फिरतीन बाई सहित भारी संख्या में वार्डवासी उपस्थित थे।

15-06-2019
दिव्यांग ललिता, जिसने अपने काम से जीता सबका दिल 
09:39pm

कोरबा। मंजिले उनकों मिलती है जिनके सपनों में जान होती है। पंख से कुछ नहीं होता हौसलों से उड़ान होती है। कुछ ऐसे ही हौसलों और साहस की धनी दोनों पैर से दिव्यांग ललिता राठिया अपने गांव में किसी के पहचान की मोहताज नही है। महिला सशक्तिकरण की दिशा में अपने काम की बदौलत आसपास के कई गांवों में अपनी पहचान छोड़ चुकी है। खुद महिला समूह का अध्यक्ष होने के बाद भी अपने ग्राम पंचायत के 34 अन्य महिला समूहों को सक्रिय रखने में भी ललिता का बहुत बड़ी भूमिका है। गरीब परिवार में रहकर भी ललिता ने बारहवी तक पढ़ाई कर ली और टेलरिंग का काम सीखकर सिलाई मशीन के सहारे गांव की महिलाओं, लड़कियों के कपड़े सीलकर अपना खर्च भी निकाल लेती है। यह ललिता की लगन और मेहनत का ही परिणाम है कि गांव में अन्य महिला एवं स्व सहायता समूह होने के बाद भी मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की महत्वाकांक्षी योजना नरवा,गरूवा,घुरवा एवं बाड़ी विकास योजना में काम करने का मौका मिला है। इस योजना से गांव में आर्थिक विकास और आत्म निर्भर की नीव रखी जा सकती है तथा विकास की राह में आगे बढ़ा जा सकता है यह बात ललिता को भलीभांति मालूम है इसलिये वह कहती भी है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री ने नरवा,गरूवा,घुरवा एवं बाड़ी विकास योजना की शुरूवात करके गांव को समृद्धि की राह में जो कदम उठाया है वह काबिल ए तारीफ है। 
कोरबा विकासखंड़ के आदिवासी बाहुल्य ग्राम चिर्रा की जनसंख्या लगभग 17 सौ है। यहा निवास करने वाली ललिता दोनों पैर से बचपन से ही दिव्यांग है। बारहवी तक पढ़ी ललिता राठिया यहा चंद्रमुखी स्व सहायता महिला समूह की अध्यक्ष है। कुल 16 सदस्य है। इस समय नरवा,गरूवा,घुरवा एवं बाड़ी विकास योजना में जुड़कर ललिता अन्य महिलाओं को प्रेरित कर रही है। गांव में बन रहे आदर्श गोठान और चारागाह से किस प्रकार आने वाला कल बेहतर होगा यह भी बता रही है। ललिता ने बताया कि गांव में पशु सखी के रूप में ललिता राठिया, कृषि सखी के रूप में चमेली यादव ने प्रशिक्षण भी प्राप्त कर लिया है। नये गोठान में गांव में इधर-उधर घूमने वाले गायों के अलावा चरवाहों के माध्याम से किसानों के पालतू गायों को रखने का काम किया जा रहा है। यहा चारा एवं पानी तथा छांव की व्यवस्था है। गाय के एक स्थान पर इकट्ठा होने से गोबर का इंतजाम हो जायेगा। इससे आधुनिक खाद भी तैयार होगा। चारागाह में ज्वार तथा नेपियर घास भी लगाई गई है। इसे खाने पर गाय अधिक मात्रा में दूध देती है। ललिता ने बताया कि नरवा,गरूवा,घुरवा एवं बाड़ी विकास योजना से गांव के अनेक लोग रोजगार से जुडे़ंगे। खाद एवं दूध की उपलब्धता सुनिश्चित होने के साथ आमदनी भी बढ़ेगी। 
सिलाई सिखाने के साथ साक्षर बनाने में भी है योगदान 
सिर्फ नरवा,गरूवा,घुरवा एवं बाड़ी विकास योजना में ही ललिता का योगदान नही है। इससे पहले आसपास के दर्जनों गांव की लड़कियों को वह सिलाई का प्रशिक्षण दे चुकी है। दोनों पैर से  निःशक्त होने की वजह से वह इलेक्ट्रानिक सिलाई मशाीन का उपयोग करती है। टेलरिंग में कपड़ों की कटिंग से  लेकर सही तरीके से सिलाई का प्रशिक्षण देकर ललिता ने अन्य कई गांव की लड़कियों को स्व रोजगार से जोड़ने में बड़ा योगदान दिया। पास गांव की सरिता राठिया, रजन्ती,तारा, देवना अनिता,शशी आदि ने जहां सिलाई सीखी वही गांव की ईरा बाई, प्रमिला बाई,महतरीन,रायमोती, साधमती,दिलासो बाई, गिरधन,अंजू साहू सहित अन्य कई महिला है जिसमें से कईयों को अपना नाम भी लिखना नही आता था उन्हें आज नाम लिखना आने के साथ कई शब्दों को पढ़ना भी आता है। ललिता ने महिला सशक्तिकरण के साथ असाक्षर महिलाओं को साक्षर बनाने में भी अपना योगदान दिया।

15-06-2019
चिकित्सा महाविद्यालयों में सुरक्षा कड़ी करने स्वास्थ्य विभाग ने पुलिस अधीक्षकों को लिखा पत्र
09:35pm

 

रायपुर। स्वास्थ्य विभाग ने प्रदेश के सभी चिकित्सा महाविद्यालयों में बेहतर सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए पुलिस अधीक्षकों को पत्र लिखा है। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव के निर्देश पर विभागीय सचिव निहारिका बारिक सिंह ने मेडिकल कॉलेज वाले जिलों रायपुर, बिलासपुर, बस्तर, राजनांदगांव, रायगढ़ और सरगुजा के पुलिस अधीक्षकों को पत्र लिखा है। उन्होंने पुलिस अधीक्षकों को चिकित्सा महाविद्यालयों में स्थापित पुलिस चौकियों में बल की संख्या की समीक्षा करने और जरूरत के अनुसार अतिरिक्त पुलिस बल तैनात करने कहा है। उन्होंने इस संबंध में की गई कार्यवाही से अवगत कराने भी कहा है।
स्वास्थ्य विभाग ने हाल ही में कोलकाता में चिकित्सा महाविद्यालय में जूनियर डॉक्टरों से मारपीट और राज्य के कुछ अस्पतालों में पिछले दिनों जूनियर डॉक्टरों से हुई हाथापाई के मद्देनजर मेडिकल कॉलेजों में सुरक्षा कड़ी करने का आग्रह पुलिस से किया है। चिकित्सा महाविद्यालयों के डॉक्टरों और विद्यार्थियों ने भी इस संबंध में चिंता जाहिर की थी। मेडिकल कॉलेजों में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं एवं प्राध्यापकों की पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था को लेकर विभाग गंभीर है।
स्वास्थ्य विभाग ने पुलिस अधीक्षकों से कहा है कि मेडिकल कॉलेजों में रोज सैकड़ों की संख्या में गंभीर और अति गंभीर मरीज इलाज कराने आते हैं। आपाधापी और तनाव की स्थिति में कई बार मरीजों और डॉक्टरों के बीच अप्रिय स्थिति निर्मित हो जाती है। इस स्थिति से निपटने और इलाज की सुचारू व्यवस्था के लिए मेडिकल कॉलेजों में सुरक्षा के बेहतर इंतजाम जरूरी हैं।

15-06-2019
 ग्रामीणों को साइबर क्राइम और चिटफंड कंपनियों से सजग करने अंजोर रथ पहुंचा मगरलोड
09:25pm

धमतरी। नगर पंचायत मगरलोड के ग्रामीणों के बीच शनिवार को "अंजोर रथ" पहुंचा। अंजोर रथ के माध्यम से लोगों को जागरुक किए जाने के लिए दिखाई जा रही लघु फिल्मों को ग्रामीणों एवं बच्चों द्वारा काफी रूचि लेकर देखा। 
ग्राम मगरलोड में ग्रामीणों के बीच में मगरलोड पुलिस द्वारा चौपाल लगाकर मोबाइल एवं आॅनलाईन से होने वाले धोखाधड़ी से सावधान रहने एवं साइबर क्राइम, चिटफंड कंपनी के झांसा में न आने के संबंध में बताया गया।
प्रोजेक्टर के माध्यम से जागरूकता लाने के लिए लघु फिल्म भी दिखाई गई। जनप्रतिनिधियों एवं ग्रामीणों के द्वारा इस कार्यक्रम की सराहना की जा रही है। पुलिस अधीक्षक ने भी अपने उद्बोधन में कहा कि आप सभी को यातायात के नियमों का पालन करना चाहिए एवं अपराध तथा अपराधियों के प्रति सजग रहना चाहिए। दहेज प्रताड़ना अधिनियम के संबंध में जानकारी दी गई।
धमतरी पुलिस के द्वारा तैयार किया गया ये ‘अंजोर रथ’ 7 जून को मुख्यमंत्री के द्वारा हरी झंडी दिखाकर शुभारंभ किया गया था, जिसके माध्यम से रोज अलग अलग गावों में चौपाल लगाकर  ग्रामीणों को जागरूक किया जा रहा है। इसके माध्यम से लोगों की समस्या अथवा शिकायत का भी  निराकरण इस रथ के माध्यम से किया जा रहा है। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक धमतरी,अनु.अधिकारी पुलिस कुरूद एवं थाना प्रभारी मगरलोड एवं पुलिस अधिकारी, जनप्रतिनिधि एवं डाँ.शारदा ठाकुर बीएमओ, लक्ष्मी नारायण साहू, जिला पंचायत सदस्य प्रतिनिधि श्री हेमंत साहू, मगरलोड ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष राजेश साहू, तोशन साहू, गिरीश साहू महिलाएँ,बच्चे सहित बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे।

15-06-2019
सीएम भूपेश बघेल 17 जून को  जांजगीर-चांपा और बिलासपुर प्रवास पर 
रा
09:16pm

 

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल 17 जून सोमवार को जांजगीर-चांपा और बिलासपुर जिले के दौरे पर रहेंगे। निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार श्री बघेल हेलीकाप्टर द्वारा सुबह 11.20 बजे पुलिस ग्राउंड रायपुर से प्रस्थान कर दोपहर 12 बजे जांजगीर-चांपा जिले के नवागढ़ विकासखंड के अमोरा (महंत) गांव पहुँचेगें वे यहां 1.30 तक चौपाल कार्यक्रम में शामिल होंगे। मुख्यमंत्री 1.30 बजे हेलीकाप्टर द्वारा अमोरा ग्राम से प्रस्थान कर 2 बजे बिलासपुर पहुँचेगे। यहां सर्किट हाउस में 4 बजे तक का समय आरक्षित है। इसके बाद मुख्यमंत्री बिलासपुर के बहतराई में अपरान्ह 4 बजे से 5 बजे तक 9वीं हॉकी इंडिया सब जूनियर पुरूष राष्ट्रीय प्रतियोगिता में शामिल होंगे। मुख्यमंत्री शाम 6 से 7 बजे तक लखीराम अग्रवाल ऑडिटोरियम बिलासपुर में आयोजित कबीर जयंती कार्यक्रम में शामिल होंगे। श्री बघेल शाम 7 बजे कार द्वारा बिलासपुर से रायपुर के लिए प्रस्थान करेंगे।

15-06-2019
खनिज का अवैध परिवहन करते पकड़े गए सात वाहन
09:11pm

 

जगदलपुर। खनिज विभाग द्वारा नेगानार, नगरनार, तारापुर  एंव जगदलपुर मार्ग में वाहनों की औचक जांच के दौरान अवैध खनिज का परिवहन करते हुए पाए जाने पर सात वाहनों को रेत और चूना पत्थर के साथ जब्त कर लिया गया।     
 प्रभारी खनिज अधिकारी द्वारा प्राप्त जानकारी के अनुसार बचेली निवासी वाहन चालक गजलूराम को अपंजीकृत टिप्पर में चूनापत्थर का अवैध परिवहन करते हुए पकड़ा गया। बकावण्ड निवासी वाहन चालक अर्जुन के टिप्पर क्रमाकं सीजी 18एम 3840 को, चोडीमेटावाड़ा निवासी मगलू राम के टिप्पर क्रमांक सीजी-14ए2210, पोटानार निवासी भगचन्द सेठिया के टिप्पर क्रमांक सीजी 17 एच 3909 को चूना पत्थर का अवैध परिवहन करते हुए पकड़ा गया। इसके साथ ही बागनपाल निवासी जोगेन्द्र के टिप्पर क्रमाकं सीजी 17 केएन 8153, टाकरागुड़ा निवासी नरसिम्हा के टिप्पर क्रमांक सीजी 17 एच 3549 , जगदलपुर निवासी गणेश यादव के टिप्पर क्रमांक सीजी 17 केआर 2528 को जगदलपुर में रेत का अवैध परिवहन करते हुए पकड़ा गया।

Please Wait... News Loading