GLIBS

02-04-2020
कोरोना की जांच क्यों नहीं चाहते कुछ लोग? क्यों जांच टीम पर हमले हो रहे? कश्मीर की पत्थरबाजी इंदौर कैसे पहुंची?
09:48am

रायपुर/इंदौर। कोरोना की जांच के लिए इंदौर के एक इलाके में गई टीम पर वहां के लोगों ने पथराव किया। जांच टीम को जान बचाकर भागना पड़ा। अकेले इंदौर की यह बात नहीं है। देश में दो और इलाकों में जांच टीम पर हमले हुए हैं उनमें से एक हैदराबाद भी शामिल है। इंदौर और हैदराबाद जैसे विकसित शहर में इस तरह की दकियानूसी घटना होना अच्छे संकेत नहीं है। फिर इंदौर में जिस तरह से जांच टीम पर पथराव हुआ लोगों ने उन पर पत्थर बरसाए और छतों से भी जो पत्थर बरसे वह एक मानसिकता का सबूत है। इस तरह की पत्थरबाजी सिर्फ कश्मीर में और दिल्ली में देखने को मिलती थी। वह इंदौर तक पहुंच गई यह चिंता का विषय है।

आखिर दिक्कत क्या है उस इलाके के लोगों को कोरोना की जांच कराने में? जांच टीम कुछ लोगों का सैंपल लेने गई थी लेकिन उन्हें जान बचाकर वापस भागना पड़ा। इस तरह की हरकत अगर कुछ और जगह होगी तो कैसे देश कोरोना के खिलाफ जंग लड़ पाएगा? कैसे जांच टीम सैंपल लेने जा पाएगी कैसे कोरोना के संक्रमण को रोकने में कामयाबी मिलेगी? जांच टीम को पथराव कर भगा देना तो इस बात का ही सबूत है कि वे लोग कोरोना के खिलाफ लड़ाई में सहयोग नहीं कर रहे हैं और वे नहीं चाहते कि कोरोना की जांच हो। उस पर नियंत्रण लगे या उसका संक्रमण रुके। ऐसे लोगों को देश प्रेमी तो कतई नहीं माना जा सकता। हां उन पर देश के साथ गद्दारी का शक़ जरूर होता है। ऐसे लोगों के खिलाफ तत्काल देशद्रोह का मामला दर्ज कर उनकी गिरफ्तारी की जानी चाहिए ताकि पथराव की बीमारी और दूसरे शहरों में न पहुंचे।
 

02-04-2020
आखिर कहां गायब हो गया है मरकज़ का मौलाना? क्या देश को खतरे में डालने वाले को शरण देना जायज है?
09:36am

दिल्ली/रायपुर। मरकज के मौलाना का अता पता नहीं मिल रहा है। पुलिस के जुर्म दर्ज करते ही मौलाना अचानक कहीं गायब हो गया, पता नहीं उसे जमीन खा गई या आसमान निकल गया। ऐसे समय में जब सारे शहरों की सीमाएं सील है, रेल बंद है, बस बंद है, हवाई जहाज की उड़ाने बंद है, तब मौलाना का इस तरह गायब हो जाना अच्छे संकेत नहीं देता है। सारे न्यूज़ चैनल उसकी तस्वीर और उसके बारे मैं खबर बता चुके हैं।

उस पर दर्ज हुए जुर्म की जानकारी दे चुके हैं, फिर भी कहीं से कोई सुराग ना मिलना और पुलिस की जगह-जगह छापेमारी का बेकार हो जाना इस बात का सुबूत है कि मौलाना को कहीं सुरक्षित ठिकाने पर शरण मिली हुई है। यह बेहद चिंताजनक विषय है और इसे किसी भी सूरत में देश के प्रति प्रेम तो माना ही नहीं जा सकता। देश में कोरोना जैसी घातक बीमारी के खतरे को और बढ़ाने में जिसकी भूमिका पाई गई उसको इस तरह शरण मिलना देश के लिए प्रेम और देश के प्रति चिंता का परिचायक नहीं है। पुलिस जगह-जगह छापे मार रही है। लेकिन उसका इस तरह गायब हो जाना और पुलिस के हाथ नहीं आना बेहद शर्मनाक है और यह कतई पढ़े लिखे और समझदार होने का सबूत भी नहीं है।

01-04-2020
पुलिस परिवार को कोरोना से बचाने सुग्ग्घर योजना का एसपी पटेल ने किया शुभारंभ
10:45pm

गरियाबंद। कोरोना वायरस के डर से जहां एक ओर पूरा भारत घरों में कैद हो गया है वही अपने कर्तव्य को निभाने पुलिस जवान जोखिम भरी ड्यूटी कर रहे हैं क्योंकि रोज सैकड़ों लोगों से मिल रहे हैं इसलिए इन्हें भी करोना संक्रमित होने का खतरा बना हुआ है दूसरी ओर एसपी ने जब देखा कि पुलिस परिवार की महिलाएं सामान लेने 1 किलोमीटर दूर गरियाबंद के दुकानों तक पहुंच रही हैं तो एसपी भोजराम पटेल ने पुलिस परिवारों को राहत पहुंचाने के लिए सुग्गघर योजना का निर्माण मात्र 1 दिन में किया। इसके तहत अब पुलिस लाइन के दो अलग-अलग कालोनियों में मौजूद 200 से अधिक परिवारों में से किसी को भी सामान खरीदने दुकानों तक जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। दो वाहनों में चार चार जवानों की ड्यूटी पुलिस परिवारों तक राशन पहुंचाने के लिए लगाई गई है। यह जवान सुबह सामान की पर्ची लेकर जाएंगे और 2 घंटे के भीतर सामान लाकर सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करते हुए एक एक परिवार को अलग-अलग बुलाकर उनके द्वारा मंगाया गए सामान लाकर देंगे।

गरियाबंद के पुलिस अधीक्षक भोज राम पटेल तथा एडिशनल एसपी सुखनंदन राठौर ने बुधवार को इस योजना का शुभारंभ न्यू पुलिस लाइन कालोनी में किया। अधिकारियों ने सोशल डिस्टेंस के नियमों का पालन करते हुए कालोनी के सभी रहवासियों को बताया कि आज शाम से ही इस योजना का पालन शुरू हो जाएगा। इसमें सुबह आपको सामान की पर्ची देना है और दो घंटे बाद सामान आपके घर के सामने आपको मिलेगा। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक भोज राम पटेल ने 400 से अधिक आरक्षक तथा उनके परिवारों कोरोना वायरस के प्रति जागरुक करते हुए कहा कि ऐसे समय में जब पूरा देश घरों में कैद है पुलिस जवान अपना कर्तव्य निभा रहा है। इसलिए कई प्रकार की सावधानियां आप लोगों को बरतनी होगी। हमारे इन जवानो के प्रयासों से ही कोरोना वायरस से संक्रमित एक भी व्यक्ति गरियाबंद जिले में नहीं मिला है। क्योंकि हमने बाहर के लोगों को यहां प्रवेश प्रतिबंधित कर रखा है। अब हमें यह देखना है कि हमारे परिवार के लोगों को इस से बचाना है। इसके लिए कई जरूरी सावधानियां बरतनी पड़ेगी।

01-04-2020
2 अप्रैल से एम्स में मिलेगी अन्य स्वास्थ्य सेवाएं, समय सूची और नंबर जारी  
10:35pm

रायपुर। भाजपा राष्ट्रीय महासचिव एवं राज्यसभा सांसद सरोज पाण्डेय की पहल पर लॉकडाउन में अन्य रोगों के मरीजों को भी अब एम्स रायपुर में अन्य स्वास्थ्य सुविधाएं मिलेगी। सरोज पाण्डेय ने एम्स रायपुर से कोरोना के अलावा अन्य रोग के मरीजों और आम लोगों को भी स्वास्थ्य सेवाएं देने के लिए चर्चा की। इसके बाद गुरुवार 2 अप्रैल से एम्स रायपुर में टेली ओपीडी की सुविधा शुरू की जा रही है। इसमें हजारों मरीजों को राहत मिलेगी। सभी विभागों की समय सूची और टेलीफोन नंबर भी दिए गए हैं। उन्होंने सभी लोगों से लॉकडाउन का पालन करते हुए स्वास्थ्य संबंधित इन सुविधाओं का लाभ उठाने का निवेदन किया है।

01-04-2020
पुलिस अधीक्षक पहुंचे पुलिस लाइन,आरक्षकों के परिजनों से मिले, बच्चों से की पढ़ाई के संबंध में पूछताछ
10:25pm

गरियाबंद। नवनियुक्त पुलिस अधीक्षक भोजराम पटेल ने बुधवार को पुलिस लाइन पहुंचे। यहां आरक्षकों के परिवार की महिला एवं बच्चों से भेंट कर उन्हें कोरोना वायरस से सुरक्षा के उपाय समझाए। पुलिस अधीक्षक ने कई आरक्षक के परिवारों से घर में जाकर मुलाकात की। साथ ही उनके बच्चे और पत्नियों से व्यक्तिगत चर्चा कर उनकी समस्याओं को समझा और जाना। उन्होंने बच्चों की पढ़ाई लिखाई व अन्य दिक्कतों को लेकर भी प्रश्न किए। आरक्षकों की पत्नियों ने व्यवस्थाओं से संतुष्टि जताई तो वहीं कुछ पुलिस कॉलोनी की महिलाओं ने पेयजल को लेकर दिक्कतें बताई। एसपी भोजराम पटेल ने तत्काल अपने स्टाफ को सारी व्यवस्थाओं को ठीक करने का निर्देश दिया। बच्चों ने गार्डन को अच्छा बनाने की मांग की,जिस पर पुलिस अधीक्षक ने तत्काल अपने अधीनस्थों को निर्देशित किया कि गार्डन की समुचित देखरेख की जाए। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक के साथ अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुखनंदन सिंह राठौर,सूबेदार उमेश राय आदि अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।

01-04-2020
कोरोना की आशंका में जिले से जांच के लिए भेजे गए रायपुर एम्स सैंपल
10:14pm

गरियाबंद। कोरोना वायरस को लेकर प्रशासन गंभीर है। विदेशों से गरियाबंद जिला में पहुंचे 10 लोगों का सैंपल लिए गए। सभी को सख्त हिदायत देते हुए घर में ही रहने को दिया निर्देश शासन प्रशासन ने दिए। कोरोना वायरस की गंभीरता को देखते हुए शासन प्रशासन लगातार इसके लिए विभिन्न तरीकों से उपाय कर रही है। इसी कड़ी में प्रशासन ने यह निर्णय लिया कि 1 फरवरी से जो विदेशों से लौटकर आए हैं उनका सैंपल लिया जाए। बुधवार को विदेशों से लौटकर गरियाबंद जिला पहुंचे 10 विभिन्न लोगों का सैंपल लिए गए। इसमें अमेरिका से 1 व्यक्ति ,कंजाकिस्तान से दो व्यक्ति, सऊदी अरब से एक, लंदन से 4, नेपाल से एक व्यक्ति गरियाबंद जिले पहुंचे है। वही देवभोग के तीन व्यक्ति, गरियाबंद के दो व्यक्ति, राजिम फिंगेश्वर के पांच व्यक्तियों के सैंपल लेकर इसके समुचित जांच व परीक्षण के लिए एम्स रायपुर भेजा गया है। इस संबंध में स्वास्थ्य अधिकारी सीएमओ डॉ.नवरत्न से चर्चा करने पर वे कहते हैं कि शासन के निर्देशानुसार विदेश से लौटे लोगों का सैंपल लेकर भेजा जाना है। इसी कड़ी में गरियाबंद जिले के 10 लोग विदेशों से पहुंचे है,जिनकी सूची प्राप्त हुई है। इन सभी के सैंपल लेकर रायपुर भेजा गया है। उन्होंने कहा कि पहले जो निर्देश था वह 1 मार्च से आए हुए लोगों का सैंपल लेना था। अब 1 फरवरी से जो विदेशों से लौटे हैं उनका सैंपल लिया जाना का निर्देश आया है।

01-04-2020
राज्य वक्फ बोर्ड अध्यक्ष की अपील, घरों में ही नमाज अदा करें
10:11pm

रायपुर। छत्तीसगढ़ राज्य वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष सलाम रिजवी ने समस्त मुस्लिम समाज से अपील की है अपने घरों में ही नमाज अदा करें। आने वाली बड़ी रात (शबे बारात) में भी यह आदेश लागू रहेगा। कब्रस्तान और दरगाहों में भीड़ इकट्ठा न हों इस संबंध में उचित कदम उठाए। मस्जिद, दरगाह, कब्रस्तानों में अनावश्यक प्रवेश की इजाजत न दी जाए। कोविड-19 (कोरोना वायरस) से बचने के लिए अपने-अपने घरों में रहकर फातेहा व इसाले सवाब किया जा सकता है। सलाम रिजवी ने कहा है कि शबे बारात के दिन बाद नमाज ए मगरिब रोजी में बरकत, उम्र की दराजी व दाफए बला के लिए जो नफिल नमाजें छःरकात पढ़ी जाती है। उसे अपने घरों में अदा करें और सूरह यासीन की तिलावत खुद करें। उन्होंने कहा है कि ऐसे अवसर पर अपने घर से निकलकर भीड़ में जाना और संक्रमण को घर लाना आपके परिवार के सदस्यों के लिए घातक हो सकता है। अतः जागरूक बनें, शासन के दिशा-निर्देशों का पालन कर अपनी जिम्मेदारी निभाएं।
छत्तीसगढ़ राज्य वक्फ बोर्ड के सचिव द्वारा सभी मुतवल्ली, सभी प्रशासक मस्जिद, मदरसा, दरगाह, कब्रिस्तान को निर्देशित किया है कि वर्तमान में कोविड-19 (कोरोना वायरस) के संक्रमण की रोकथाम के लिए बोर्ड अध्यक्ष की अपील पर अमल किया जाए। कब्रिस्तान और दरगाहों में भीड़ इकट्ठा न हो इस संबंध में उचित कदम उठाएं। मस्जिद, दरगाह, कब्रिस्तान में अनावश्यक प्रवेश की इजाजत न दी जाए। आम जमातियों को अपने-अपने घरों में नमाजों एवं मगफिरत की दुआ करने की सलाह दें।

 

01-04-2020
कोरोना संकट में मदद के लिए आगे आयी महिलाएं, 5 हजार से अधिक मास्क का किया निर्माण
10:08pm

रायपुर। वन विभाग के अंतर्गत गठित संयुक्त वन प्रबंधन समितियों की महिलाएं भी अब कोरोना महामारी के कारण उत्पन्न इस विषम परिस्थिति में सहायता के लिए आगे आयी हैं। इनके द्वारा वर्तमान में लोगों को मदद पहुंचाने के उद्देश्य से मास्क निर्माण का कार्य निरंतर जारी है। यह मानवीय चेहरा प्रदेश के दूरस्थ वनांचल स्थित फरसगांव वन परिक्षेत्र के पतोड़ा और बड़ेडोंगर वन परिक्षेत्र के मांझीआठगांव के संयुक्त वन प्रबंधन समितियों की महिलाओं में स्पष्ट रूप से दिखाई देने लगा है।

 प्रधान मुख्य वन संरक्षक राकेश चतुर्वेदी ने बताया कि केशकाल वन मण्डल के अंतर्गत इन समितियों के 14 महिलाओं द्वारा अब तक 5 हजार से अधिक मास्क का निर्माण कर लिया गया है। इनके द्वारा मास्क निर्माण का कार्य निरंतर जारी है। चतुर्वेदी ने यह भी बताया कि संयुक्त वन प्रबंधन समिति की महिलाओं को मास्क निर्माण के कार्य में कोई दिक्कत न हो, इसके लिए वन विभाग द्वारा उन्हें आवश्यक सामग्री उपलब्ध करा दी गई है। कोरोना वायरस संक्रमण के माहौल में हर जगह लॉकडाउन की परिस्थितियां निर्मित हुई है। इन परिस्थितिओं में वन और वनवर्धनिक कार्य करने के लिए वन विभाग के अधीनस्थ कर्मचारियों को भी समितियों की महिलाओं द्वारा निर्मित मास्क उपलब्ध कराए जा रहे है। इसके अलावा विभाग द्वारा वन-धन योजना के तहत संचालन किए जा रहे 208 स्व-सहायता समूहों के समस्त सक्रिय सदस्यों दो हजार 80 लोगों को मास्क का वितरण किया जा रहा है। जिससे उन्हें सोशल डिस्टेंसिंग के साथ-साथ लघु वनोपज कार्य संग्रहण तथा प्रसंस्करण कार्य करने के लिए कोई परेशानी न हो।  

इस संबंध में वनमण्डाधिकारी वनमण्डल केशकाल मणिवासगन एस. ने बताया कि वर्तमान में संयुक्त वन प्रबंधन समिति पतोड़ा और मांझीआठगांव की महिलाओं द्वारा निर्मित लगभग 5 हजार मास्क में से 760 नग मास्क अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) कोण्डागांव और स्थानीय मेडिकल दुकानों को मांग के अनुरूप आपूर्ति की जा रही है। उन्होंने यह भी बताया कि केशकाल वनमण्डल के ही अंतर्गत वन-धन केन्द्र प्रभारी समूह मां दंतेश्वरी स्व-सहायता समूह फरसगांव द्वारा भी मास्क का निर्माण कार्य शुरू कर दिया गया है। 

01-04-2020
बिगड़े हैंडपंपो की जानकारी देने के लिए राज्य स्तर पर हेल्प लाइन नंबर जारी
09:53pm

कोंडागांव। कोविड-19 के वैश्विक महामारी रूप लेने के कारण उत्पन्न आपात स्थिति में लॉकडाउन के दौरान ग्रामीणों को पेयजल संकट की दोहरी मार से बचाव के लिए राज्य शासन ने पेयजल को अत्यावश्यक सेवाओं के अंतर्गत रखते हुए इसकी उपलब्धता सम्पूर्ण राज्य में सुनिश्चित करने के निर्देश दे दिए है। साथ ही ग्रामों एवं मजरा टोलों में हैंडपम्पों की स्थिति संबंधी शिकायतों के लिए राज्य स्तर पर टोल फ्री नंबर 18002330008 को जारी किया है। इस के लिए मुख्य अभियन्ता लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग जगदलपुर ने जगदलपुर परिक्षेत्र के अंतर्गत आने वाले कोण्डागांव जिले के सभी विकासखण्डों के लिए हैण्ड पम्पों के बन्द होने की शिकायत करने के लिए हेल्प लाइन नंबर जारी कर दिए है। इसके अनुसार विकासखंड कोण्डागांव एवं माकड़ी के लिए सहायक अभियन्ता डी0सी0नारनोरे (9425575945), उप अभियंता सीएस सोनवानी (7354073209), हैण्डपंप तकनिशियन एनसी मुखर्जी (9752525658), एन.लकड़ा (9406085095), डीके दास (9993239260), कालेन्द्र नायक (9165244322),लोमेष साहू (9754264427), अटल सिंह कोड़ोपी (9752367797), कुशल सिंह गावड़े (7587123041), विकासखण्ड माकड़ी के लिए हैण्ड पंप तकनीशियन केपी राय (9691363396), ए.के साना (9425594145), सी.एस.कंवर (9981176607), राजेन्द्र गोन्नाडे (9981237745) व विकासखण्ड फरसगांव, केशकाल एवं बड़ेराजपुर के सहायक अभियंता विरेन्द्र पाण्डे (9669685088) व उप अभियंता एस.एन.कंवर (8319238900), निभा कोर्राम (9644109484), हैण्ड पंप तकनिशियन वी.के.सलाम (9981258942), एस.के.भुआर्य (9406109811), जे.आर.नेताम (9479256387), जयराम किस्पोट्टा (9479156461), हैरमेन कुजूर (9993203911), महावती नेताम (7587186129),आरती साहू (7049672673) से संपर्क किया जा सकता है।

01-04-2020
40 लीटर महुआ शराब के साथ 6 गिरफ्तार, सभी के खिलाफ 34(2) की कार्रवाई
09:51pm

महासमुन्द। पिथौरा पुलिस थाना प्राभारी कमला पुसाम ने एसडीओपी पुपलेश पात्रे के मार्गदर्शन में बुधवार को अलग-अलग मामलों में 40 लीटर महुआ शराब बरामद कर गिरफ्तार आरोपियों के खिलाफ आबकारी एक्ट की धारा 34 (2) की कार्रवाई कर सभी को रिमाण्ड में जेल भेज दिया है। पिथौरा पुलिस से प्राप्त जानकारी अनुसार ग्राम कोकोभाटा में धर्म सिंह धु्रव 39 साल, रमेश गिरी 39 साल ठाकुर दिया में अवैध रूप से महुआ शराब की बिक्री कर रहे थे। इनके पास से पिथौरा पुलिस ने 10 लीटर महुआ शराब बरामद कर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया। इसके अलावा पिथौरा पुलिस ने ग्राम खुसीपाली में आरोपी दूतो बरिहा 58 साल, बूढे राम 41 साल, आरोपी अशोक भोई 24 साल के पास से 20 लीटर शराब किया। इसके अलावा कोमल पटेल 23 साल के पास से पुलिस ने 10 लीटर महुआ शराब बरामद किया है। गिरफ्तार सभी 6 आरोपियों के पास पिथौरा पुलिस ने 40 लीटर महुआ शराब बरामद कर सभी के खिलाफ 34 (2) की कार्रवाई कर पुलिस रिमाण्ड में जेल भेज दिया है।

Please Wait... News Loading