GLIBS

25-05-2020
छत्तीसगढ़ में अब तक 55 हजार से अधिक सैंपलों की जांच, रोजाना 3000 से ज्यादा  
रा
11:07pm

रायपुर। कोविड-19 पर नियंत्रण के लिए जांच और इलाज की छत्तीसगढ़ में पुख्ता व्यवस्था की गई है। कोरोना वायरस संक्रमितों की पहचान के लिए जांच का दायरा लगातार बढ़ाया जा रहा है। प्रदेश में स्थापित चार लैबों एम्स, रायपुर के डॉ. भीमराव अंबेडकर स्मृति चिकित्सालय तथा जगदलपुर व रायगढ़ मेडिकल कॉलेज के माध्यम से रोज तीन हजार से अधिक सैंपलों की जांच हो रही है। आरटीपीसीआर जांच के लिए इन चारों लैब में पर्याप्त मात्रा में किट उपलब्ध हैं। रायपुर के लालपुर स्थित लैब में भी ट्रू-नॉट विधि से सैंपलों की जांच की जा रही है। प्रदेश में अब तक 55 हजार से अधिक कोविड-19 संभावितों के सैंपल की जांच हो चुकी है। राजनांदगांव, बिलासपुर और अंबिकापुर के शासकीय मेडिकल कॉलेजों में भी कोरोना वायरस जांच के लिए आईसीएमआर के मानकों के अनुरूप बीएसएल-2 लैब की स्थापना का काम जोरों पर हैं। प्रदेश में कोविड-19 से निपटने की तैयारियां जनवरी माह से ही शुरू कर दी गई थीं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से रायपुर एयरपोर्ट पर विदेश और संक्रमित क्षेत्रों से लौटने वालों की निगरानी फरवरी से ही प्रारंभ कर दी गई थी। वर्तमान में बड़ी संख्या में लौट रहे प्रवासी मजदूरों की स्टेशन में ही आरडी किट से जांचकर क्वारेंटाइन सेंटर्स में भेजा जा रहा है।

क्वारेंटाइन सेंटर्स में श्रमिकों की सेहत की जांचकर कोरोना वायरस संक्रमण के लक्षण वालों के आरटीपीसीआर जांच के लिए सैंपल लिए जा रहे हैं। अभी तक 15 हजार से अधिक प्रवासियों के सैंपलों की आरटीपीसीआर जांच की जा चुकी है। क्वारेंटाइन सेंटर्स में प्रवासी श्रमिकों के लिए पर्याप्त सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं। किसी भी व्यक्ति की कोरोना संक्रमण से मृत्यु नहीं हुई है। कोविड-19 के इलाज के लिए प्रदेश में विशेषीकृत अस्पतालों की स्थापना के साथ ही मौजूदा अस्पतालों का सुदृढ़ीकरण किया जा रहा है। विशेषीकृत अस्पतालों में इसके इलाज के लिए 1760 और अन्य अस्पतालों में 1586 बिस्तरों की व्यवस्था है। प्रदेश के 115 आइसोलेशन सेंटर्स में भी 5515 बिस्तर हैं, जहां कोविड-19 का उपचार किया जा सकता है। इस तरह कुल 8801 बिस्तरों पर अभी इलाज की व्यवस्था है। आवश्यकता पड़ने पर निजी अस्पतालों का भी अधिग्रहण कर इलाज की तैयारी है। राज्य के विभिन्न कोविड अस्पतालों में इलाजरत मरीज पूर्ण रूप से स्वस्थ होकर घर लौट रहे हैं। अब तक 67 लोग इलाज के बाद बिलकुल स्वस्थ हो चुके हैं। अलग-अलग अस्पतालों में अभी 186 मरीजों का उपचार चल रहा है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कोविड-19 के मद्देनजर स्वास्थ्य सेवाओं की मजबूती के लिए सभी जिलों को 25-25 लाख रुपए और प्रत्येक विकासखंड को दस-दस लाख रुपए मुख्यमंत्री राहत कोष से जारी किए हैं। प्रवासी श्रमिकों के लिए गांवों में बनाए गए क्वारेंटाइन सेंटर्स की व्यवस्था राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा जिलों को जारी आपदा राहत निधि तथा ग्राम पंचायतों को दिए गए चौदहवें वित्त आयोग व मूलभूत की राशि से की जा रही है। प्रदेश में अभी 18 हजार 833 क्वारेंटाइन सेंटर्स हैं जिनकी कुल क्षमता छह लाख 90 हजार 922 है। वर्तमान में इन सेंटरों में एक लाख 72 हजार लोग रखे गए हैं। कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए अभी 47 हजार से अधिक लोग होम-क्वारेंटाइन में हैं।

25-05-2020
कांंग्रेस मुख्यमंत्री पर दबाव बनाएं सबूत पेश करके झीरम की जांच को अंजाम तक पहुंचने सहयोग करें : भाजपा 
रा
10:57pm

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता सच्चिदानंद उपासने ने कहा है कि हर बात के लिए भाजपा के सिर पर अपनी नाकामियों का ठीकरा फोड़ने कांग्रेस के नेता आमादा रहते हैं।  कभी वे अपने मुख्यमंत्री पर भी तो यह दबाव बनाएं कि वे सबूत पेश करके झीरम की जांच को अंजाम तक पहुंचने में सहयोग करें। उपासने ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को झीरम पर किए गए वादे की याद दिलाने के बजाए कांग्रेस के नेता पहले मुख्यमंत्री बघेल की याददाश्त को दुरुस्त करें। वे उस कुरते या जैकेट को ढूंढ़ लें,जिसकी जेब में बतौर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष वे झीरम कांड के सबूत लिए फिरते थे। सत्ता में आने के 18 माह बाद भी उन्हें अब उन सबूतों को पेश करना याद नहीं रह गया है। दरअसल प्रदेश सरकार ही झीरम की जांच को बाधित करने पर आमादा रही है। कभी उसे कोर्ट की जांच पर एतराज होता है, तो कभी वह एनआईए की जांच प्रक्रिया से बचने की कोशिश करती है। इससे यह तो साफ होता है कि कांग्रेस और प्रदेश सरकार को झीरम मामले की जांच और शहीदों के परिजनों को न्याय दिलाने से कोई सरोकार नहीं है, बस इस मुद्दे पर प्रलाप कर शहीद नेताओं के परिजनों के आंसुओं पर अपनी सियासत की नाव खेना ही उनका एजेंडा रह गया है। झीरम कांड के समय केंद्र में कांग्रेस की गठबंधन सरकार थी और अब प्रदेश में कांग्रेस की सरकार है, फिर भी मुख्यमंत्री बघेल इस मामले की जांच को अंजाम तक नहीं ले जा सके तो फिर इससे किसका नाकारापन सिद्ध होता है?। प्रदेश के एक मंत्री डॉ.शिव डहरिया की माता की हत्या के मामले में भी सरकार चुप्पी साधे बैठी है। इस मामले की सीबीआई जांच की मांग हुई थी,पर प्रदेश सरकार अपने ही नेताओं को न्याय दिलाने की इच्छाशक्ति से शून्य नजर आ रही है।

25-05-2020
Breaking: रायगढ़ में मिला एक और कोरोना पॉजिटिव, प्रदेश में एक्टिव केस 221
10:36pm

रायगढ़।  जिले में आज एक और कोरोना पॉजिटिव मिला है। पॉजिटिव मरीज मुंबई से आया था। एसपी संतोष कुमार सिंह ने ट्वीट कर जानकारी दी है। मिली जानकारी अनुसार कापू के रतनपुर के क्वरेंटाइन सेन्टर में 25 मई को मुम्बई से आए एक मजदूर युवक का टेस्ट कोविड पॉजिटिव मिला है। जिले में कुल 11 एक्टिव केस हो गए है। वहीं प्रदेश में एक्टिव मरीजों की संख्या 221 हो गई है।

25-05-2020
कलेक्टर ने शहर के 6 वार्ड और 2 गांवों में धारा 144 की लागू, पॉजिटिव मरीज मिलने से बने कंटेंमेंट एरिया
10:20pm

धमतरी। धमतरी में कोरोना के दो पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद कलेक्टर ने शहर के पांच वार्ड व दो गांवों में धारा 144 लागू कर दी है, इन्हें कंटेंमेंट एरिया बनाकर कड़ी जांच की जाएगी। कलेक्टर द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि जिले के धमतरी शहर स्थित बठेना वार्ड एवं स्टेशनपारा में कोरोना वायरस से संकमित दो व्यक्ति पाए जाने के कारण कोरोना वायरस के संकमण से बचाव के लिए धमतरी शहर के बठेना वार्ड, स्टेशनपारा वार्ड, वल्लभ भाई पटेल, सुंदरगंज वार्ड, औद्योगिक वार्ड एवं नवागॉव एवं विकास खंड धमतरी के ग्राम पंचायत खपरी एवं भानपुरी में धारा 144 लागू किया जाना आवश्यक हो गया है। यहां यह भी तथ्य ध्यान में रखने योग्य है कि इस आपात स्थिति में व्यवहारिक तौर पर सभंव नही है कि धमतरी शहर एवं प्रभावित ग्राम पंचायत में निवासरत सभी नागरिकों को नोटिस तामिली करवाई जा सकें। अतः एकपक्षीय कार्यवाही करते हुए दंड प्रक्रिया संहिता 1973 के अंतर्गत धमतरी शहर के बठेना वार्ड, स्टेशनपारा वार्ड, वल्लभ भाई पटेल, सुंदरगंज वार्ड,औद्योगिक वार्ड एवं नवागॉव एवं विकास खंड धमतरी के ग्राम पंचायत खपरी एवं भानपुरी में 25 मई से आगामी आदेश तक धारा 144 लागू किए जाने का आदेश पारित किया जाता है।

25-05-2020
राजपूत क्षत्रिय समाज ने भूपेश बघेल का किया सम्मान, भेंट की तलवार
10:14pm

रायपुर। राजपूत क्षत्रिय समाज ने महाराणा प्रताप जयंती पर सोमवार को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का सम्मान किया। समाज के रहटादाह रायपुर उपसमिति के प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री निवास पहुंचकर सौजन्य मुलाकात की। प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री बघेल का साफा पहनाकर और तलवार भेंट कर सम्मानित किया। प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री को महाराणा प्रताप जनसेवा सम्मान से नवाजा। मुख्यमंत्री बघेल ने सम्मान के लिए आभार व्यक्त किया। उन्होंने महाराणा प्रताप जयंती की बधाई और शुभकामनाएं देते हुए महाराणा प्रताप को साहस और वीरता की प्रतिमूर्ति बताया। उन्होंने कहा कि महाराणा प्रताप का पूरा जीवन प्रेरणादायी है। इस दौरान प्रतिनिधिमंडल में छत्तीसगढ़ राजपूत क्षत्रिय समाज,रहटादाह की रायपुर की उपसमिति रायपुर के अध्यक्ष संपत सिंह ठाकुर,धनंजय सिंह ठाकुर,डॉ.शेरसिंह ठाकुर,महेश्वरसिंह ठाकुर,अलका राजपूत,कुलदीप सिंह और पंकज सिंह ठाकुर शामिल थे।

25-05-2020
कलेक्टर और अधिकारी-कर्मचारियों ने झीरम घाटी के शहीदों को दी श्रद्धांजलि
10:10pm

कोरिया। कलेक्टोरेट कार्यालय में सोमवार को कलेक्टर डोमन सिंह एवं अन्य अधिकारियों व कर्मचारियों ने प्रात 11 बजे दो मिनट का मौन धारण कर 25 मई 2013 को झीरम घाटी में नक्सल हिंसा के शिकार हुए प्रदेश के वरिष्ठ नेताओं, सुरक्षा बलों के जवानों और विगत वर्षो में नक्सल हिंसा के शिकार हुए सभी लोगों को याद कर श्रद्धांजलि अर्पित की। कलेक्टर सिंह ने सभी उपस्थित लोगों को इस अवसर पर शपथ दिलाई कि हम सभी छत्तीसगढ़वासी राज्य में किसी प्रकार की नक्सली हिंसा नहीं होने देंगे और राज्य को पुन शांति का टापू बनाने के लिए हम सब संकल्पित रहेंगे। जिले के सभी शासकीय एवं अर्ध शासकीय कार्यालयों में भी मौन धारण कर श्रद्धांजलि दी गई। इस दौरान डिप्टी कलेक्टर श्यामसुंदर दुबे एवं ज्ञानेन्द्र ठाकुर सहित अन्य अधिकारी व कर्मचारी भी उपस्थित रहे।

 

25-05-2020
सामूहिक दुष्कर्म के मामले में पीड़िता की स्थिति सुधरने का पुलिस को इंतजार
10:05pm

रायपुर/बिलासपुर। शहर के एक हॉस्पिटल में हुई कथित दुष्कर्म की घटना को लेकर पुलिस जांच का मामला अभी भी जस का तस बना हुआ है। पीड़िता के पिता की शिकायत के बाद तत्काल हरकत में आई सिविल लाइन पुलिस तथा पुलिस अधिकारियों की टीम को पीड़िता के होश में और बयान देने की हालत में आने का इंतजार है। पीड़ित युवती के पिता द्वारा सिविल लाइन पुलिस से की गई शिकायत ने एफआईआर का रूप जरूर ले लिया है। लेकिन बहुत से अनसुलझे सवालों का जवाब पुलिस तलाश रही है। और ये जवाब उसे पीड़िता के बयान के बाद ही मिल पाएंगे। अपोलो अस्पताल में भर्ती पीड़िता का उपचार चिकित्सकों के द्वारा किया जा रहा है। उम्मीद की जानी चाहिए कि वह जल्द स्वस्थ होकर अपने साथ हुए कथित दुष्कर्म को लेकर छाई धुंध को अपने बयान से दूर करेगी।

25-05-2020
गुरु अर्जन देव के शहीदी दिवस पर 26 मई को गुरुद्वारा दयालबंद में कीर्तन कथा, यूट्यूब पर सीधा प्रसारण
10:02pm

रायपुर/बिलासपुर। मंगलवार 26 मई को शहीदों के सरताज सिखों के पांचवे गुरु गुरु अर्जन देव का शहीदी दिवस है। शहीदी गुरपुरभ के लिए 40 दिन से गुरूद्वारे से सुखमनी साहिब के पाठ के लाइव प्रसारण के साथ ही समूह संगत द्वारा सुखमनी साहिब के पाठ अपने घर से किए जा रहे हैं। गुरुद्वारा दयालबंद में सुबह 8 से 9 श्रीसहज पाठ की समाप्ति उपरांत कीर्तन कथा किया जाएगा,जिसका लाइव प्रसारण यू टयूब में किया जाएगा। जिस से संगत घर पर रह कर ही अपनी हाजरी लगा सके

25-05-2020
गुरुद्वारा श्रीगुरुसिंह सभा ने सिम्स और पुराना बस स्टैंड में कराया लोगों को भोजन
09:56pm

बिलासपुर। गुरुद्वारा श्रीगुरुसिंह सभा बिलासपुर द्वारा सोमवार को जरूरतमंद लोगो को सिम्स हॉस्पिटल ओल्ड बस स्टैंड एवम् बजरंग बली मंदिर के सामने भोजन कराया गया। इस सेवा में किरन चावला कैरियर प्वाइंट, प्रीतपाल एवं मनजीत सिंह अरोरा शामिल रहे।

 

25-05-2020
अधिकारी कर्मचारियों ने दी झीरम के शहीदों को श्रद्धांजलि
09:46pm

रायपुर/बिलासपुर। झीरम घाटी में नक्सल हिंसा में शहीद हुए वरिष्ठ जनप्रतिनिधियों, सुरक्षा बल के जवानों एवं विगत वर्षों में नक्सल हिंसा में शहीद सभी नागरिकों की स्मृति में आज 25 मई को झीरम श्रद्धांजलि दिवस मनाया गया। कलेक्ट्रेट में अधिकारियों-कर्मचारियों ने 2 मिनट का मौन धारण कर शहीदों को श्रद्धांजलि दी। इस अवसर पर अपर कलेक्टर बीएस उइके,  बीसी साहू एवं अन्य प्रशासनिक अधिकारी सहित कलेक्ट्रेट के कर्मचारी उपस्थित थे। जिला पंचायत कार्यालय में अध्यक्ष अरुण सिंह चौहान की उपस्थिति में झीरम घाटी के शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। इसके अतिरिक्त अन्य शासकीय कार्यालयों में भी शहीदों को नमन करते हुए श्रद्धांजलि दी गई।

 

Please Wait... News Loading