GLIBS

22-07-2019
मध्यप्रदेश में आप पदाधिकारियों का सामूहिक इस्तीफा
रा
11:23am


भोपाल। मध्यप्रदेश में आम आदमी पार्टी (आप) के संगठन को खत्म करने प्रयास के विरोध में पार्टी के प्रदेश पदाधिकारियों ने सामूहिक रुप से इस्तीफा दे दिया है। पार्टी के प्रदेश पदाधिकारियों की कल यहां इस संबंध में एक बैठक हुई, जिसमें पार्टी के प्रदेश प्रभारी गोपाल राय पर पार्टी के प्रदेश संगठन को कमजोर करने के प्रयास का आरोप लगाया गया। बैठक में चर्चा उपरांत इस कार्रवाई के विरोध में आप की राज्य कार्यकारिणी के लगभग सभी पदाधिकारियों ने पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल को एक पत्र लिखकर अपने सभी पदों से इस्तीफा दे दिया।

इस्तीफा देने वालों में प्रदेश अध्यक्ष आलोक अग्रवाल, प्रदेश संगठन सचिव भोपाल जोन प्रभारी अमित भटनागर, प्रदेश उपाध्यक्ष रानी अग्रवाल, संगठन सचिवझ्रइंदौर जोन प्रभारी युवराज सिंह, संगठन सचिवझ्रबुंदेलखंड जोन प्रभारी इन्द्र विक्रम सिंह, संगठन सचिव-उज्जैन जोन प्रभारी इफ्तिखार अहमद खान, संगठन सचिव-ग्वालियर जोन प्रभारी सोमिल शर्मा, प्रदेश सचिव जीतेन्द्र चौरसिया, प्रदेश कोषाध्यक्ष प्रकाश डीकोस्टा शामिल हैं। इसके अलावा प्रदेश के अधिकांश संगठन मंत्रियों ने भी इस्तीफा दे दिया है।

22-07-2019
स्वाद के साथ सेहत का भी ध्यान रखती हैं अंकुरित दालें  
जी
11:20am

नई दिल्ली। दालें किसी भी प्रकार की हो इन्हें अंकुरित करके खाने का अपना ही मजा है। दालों में प्रोटीन, काबोर्हाइड्रेट, विटेमिन-ए और बी पाया जाता है लेकिन अंकुरित होने के बाद इनकी पोषक वैल्यू कई गुना और बढ़ जाती है, इन दानों में विटामिन-सी भी उत्पन्न हो जाता है। विटामिन सी हमारे शरीर की एक बहुत बड़ी आवश्यकता है। अंकुरित हो कर ये दाने फाइबर से भरपूर, पाचक और पोषक हो जाते है। 

तो चलिए जानते हैं अंकुरित दाल बनाने की विधि :

—सबसे पहले अपनी मनपसंद दालों को रात भर पानी में भिगोकर रख दें।
—सुबह उठकर दाल का पानी निकालकर, दाल को छननी में मलमल के कपड़े के साथ ढककर रख दें।
—2 से 3 दिनों के लिए दाल ऐसी ही पड़ी रहने दे, कपड़े को दिन में दो बार बदलते रहें।
—जब दाल अंकुरित हो जाए तो प्रेशर कुकर में 2 से 3 सीटी आने तक दाल पकने दें, साथ में आधा कप पानी भी डाल दें।
—आपकी अंकुरित दाल बनकर तैयार है। इसे नमक-मिर्च डालकर या फिर प्याज, टमाटर, हरी मिर्च और नींबू डालकर इसकी चटपटी चाट बनाकर खाएं।

22-07-2019
सुने मकान से जेवरात और नगदी चोरी
11:11am

रायपुर। गुढ़ियारी थाना इलाके के मुर्राभट्टी स्थित सुने मकान से सोने चांदी के जेवरात और नगदी चोरी का मामला सामने आया है। शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। आगे की कार्रवाई की जा रही है। नया तालाब मुर्राभट्टी निवासी संतोष अग्रवाल ने मामले में शिकायत की है। संतोष ने पुलिस को बताया कि 13 जुलाई से उनका परिवार रायपुर से बाहर मकान को ताला लगाकर गया था।

इस दौरान अज्ञात आरोपी सुने मकान में दीवार फांदकर अंदर घुसा। कमरे का ताला तोड़कर चोर अंदर घुसा और अलमारी से सोने चांदी के जेवरात सहित 40000 रुपए नगद चोरी कर ले गया। घर लौटने पर सारा सामान बिखरा पड़ा था। मामले की जानकारी पुलिस को दी गई। गुढ़ियारी थाना पुलिस ने मामले में धारा 457, 380 के तहत अपराध कायम किया है। आगे की कार्रवाई की जा रही है।

22-07-2019
जंगल में मिला अज्ञात युवक का शव, हत्या कि आशंका, जांच में जुटी पुलिस
11:07am

सुरजपुर। जिले के चंदौरा थाना अन्तर्गत घाटपेंडारी जंगल में एक युवक के शव मिलने से सनसनी फैल गई है। मिली जानकारी के मुताबिक रविवार दोपहर ग्रामीणों घटना की सूचना चंदौरा पुलिस को दी। सूचना पर चंदौरा पुलिस घटना स्थल पहुंच कर शव को शिनाख्त कराने में जुटी। वही जानकारी पर सूरजपुर एएसपी भी मौके पर पहुंचे और घटना के तफ्तीश में जुट गए। पुलिस के द्वारा अज्ञात युवक के शव के शरीर पर चोट के निशान के आधार पर हत्या की आशंका जाहिर किया गया है।

22-07-2019
नरवा, गरवा, घुरवा, बारी योजना से राज्य के ग्रामीण अर्थव्यवस्था में क्रांतिकारी परिवर्तन आएगा : छाया वर्मा
10:54am

रायपुर। राज्यसभा में कृषि संबंधी एक गैर सरकारी विधेयक पर चर्चा करते हुये राज्यसभा सदस्य छाया वर्मा ने राज्य की महत्वकांक्षी परियोजना नरवा, गरवा, घुरवा, बारी का उल्लेख करते हुये कहा कि यह योजना राज्य के ग्रामीण अर्थव्यवस्था में क्रांतिकारी परिवर्तन लाएगा। देश की सभी राज्य सरकारों को इस योजना को लागू करना चाहिए। केन्द्र सरकार भी इस योजना को अंगीकार करें। राज्यसभा सदस्य छाया वर्मा के उद्बोधन के बाद कृषि राज्यमंत्री पुरूषोत्तम रूपाला ने भी नरवा, गरूवा, घुरवा, बारी योजना की तारीफ करते हुए कहा कि ऐसी योजनाओं को केन्द्र सरकार पूरा प्रश्रय देगी। देश में किसान और कृषि की बदहाली की चर्चा करते हुये राज्यसभा सदस्य छाया वर्मा ने कहा कि सभी राज्यों में देश में अंधाधुंध औद्योगीकरण हुआ है, जिससे खेती योग्य भूमि कम होती गई और जो बड़े-बड़े उद्योगपति थे, वे कृषि भूमि पर कब्जा करते गए और हमारी कृषि योग्य भूमि सभी राज्यों में कम होती गई, यह बहुत चिंता का विषय है और इसमें सरकार को नियम बनाना चाहिये कि कृषि भूमि उद्योगपतियों को न दें, तभी हमारे किसान सिंचित होंगे, तभी हमारे किसान खुशहाल होंगे। सरकार कहती है कि फसल की कीमत दुगुनी करेंगे और यह बजट में भी आया है।

कैसे दुगुनी करेंगेड़ उसके बारे में कहीं कोई उल्लेख नहीं है। आप तो आए-दिन पेट्रोल की कीमत, डीजल की कीमत बड़ा देते है। कृषि में जो औजार उपयोग में आते है, उनकी कीमत आपने दुगुनी कर दी है, रासायनिक खाद की कीमत महंगी कर दी है। जिस समय किसानों को रासायनिक खाद की आवश्यकता होती है, उस समय वह मिलती नहीं है। उस समय खाद की कालाबाजारी होती है। मैं सरकार से जानना चाहती हूं कि क्या सरकार राशन कार्ड पर कम कीमत पर डीजल और पेट्रोल उपलब्ध कराएगी क्योंकि तभी किसान खुशहाल होंगे, नहीं तो महंगी कीमत पर किसान की फसल दुगुनी करने की बात कर रहे है। क्या भूमिहीन किसान की मंझोले किसान की या बड़े किसान की? किस किसान की फसल दुगुनी होगी, मुझे उसकी जानकारी चाहिये। किसानों की फसल बीमा योजना के बारे में मैं कहना चाहूंगी कि आपकी जो फसल बीमा योजना है, वह राफेल घोटाले से भी बड़ा घोटाला है।

एक पत्रकार है-साईंनाथ, जिनका कहना है कि किसानों की फसल बीमा योजना के अंतर्गत किसानों ने जो पैसा जमा किया, वह 66 हजार करोड़ रहा। आपने हर जिले को 173 करोड़ रूपए किसानों को देने के लिये उपलब्ध कराए, जबकि बीमा कंपनियों से केवल 30 करोड़ रूपए ही किसानों को मिल पाए तो 143 करोड़ रूपए फसल बीमा करने वाले बीमा एजेंटों के पास, बैंकों के पास, अडानी के पास जमा रहे- जो किसानों का पैसा था। तो आपकी फसल बीमा योजना पूरी तरह से फैलर योजना है, यह किसानों के लिये बहुत घातक योजना है। किसान जब बीमा कराने जाते हैं तो वे इस बात को सही तरीके  से समझ नहीं पाए। ''प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधिझ्झ् के अंतर्गत आपने 6,000 रूपए देने का वायदा किया, जिसके अंतर्गत 2,000 रूपएकी पहली किश्त 3 करोड़,36 लाख किसानों को मिली, लेकिन आपने दूसरी किश्त में उसे कम करके 2 करोड़ 96 लाख कर दिया और 2,70,000 हजार किसानों को बैंक ब्यौरे और जमीन ब्यौरे में विसंगति के कारण न तो पहली किश्त मिल पायी और न ही दूसरी किश्त मिल पायी। किसानों की दशा और दिशा सुधारने का कोई नामो-निशान आपकी योजना में दिखायी नहीं देता। किसान हताश है, निराश है, उन्हें इस योजना का लाभ सही तरीके से नहीं मिल पा रहा है। 

छत्तीसगढ़ कांग्रेस की सरकार में हमारे मुख्यमंत्री जी एक योजना लाए हैं जिसका नाम हैं-नरवा, घुरवा, गरवा, बारी, एला बचाना हे संगवारी। नरवा मतलब नाला, नाले में छोटे-छोटे स्टॉप डेम बनाने पानी संचित होगा और उस पानी को किसानों को देंगे। घुरवा मतलब गोबर और घर के दूसरे कचरे को एक जगह संचित करके उससे कम्पोस्ट खाद बनाकर उसे खेती में उपयोग किया जाएगा-यह घुरवा हुआ। गरवा मतलब गोठान। अभी कल ही हमारे सांसद गाय के बारे में बता रहे थे कि गाय पूरी फसल को चर जाती है। इसके लिये हमारी सरकार ने गोठान उपलब्ध कराए हैं और वह हर ग्राम पंचायत में गोठान बना रही है। होता क्या है कि हम फसल बचाने के लिये खेत को कांटों की तार से घेरते हैं, लेकिन अगर हम गांव में गोठान बनाकर गाय को एक जगह संरक्षित करें तो उससे फायदा होगा। धान की हारवेस्टिंग से कटिंग होती है, मनरेगा के माध्यम से उस पैरा को जो पैरा हम खेत में छोड़ देते है, उस पेरा का गाय के चरने के लिए, गाय के खाने के लिए वहां पर रखे और उस गौठान में पानी की व्यवस्था कराएॅ जिससे गाय की एक जगह रखकर बहुत अच्छी कामपोस्ट खाद बन सकती है, ऐसा करके हम गाय को संरक्षित कर सकते है, उसकी सेवा कर सकते है। जब मनरेगा के माध्यम से यह काम होगा तो हर ग्राम पंचायत के चार-पांच से लेकर आठ-दस लड़को को मजदूरी मिलेगी काम मिलेगा यह 'गरवाझ् हुआ।

चौथा है 'बाड़ीझ्-'बाड़ीझ् का मतलब किचन गार्डन नहीं है। आज हम देख रहे है कि ग्रामीण अर्थव्यवस्था में अंधाधुंध पेड़ों की कटाई हो रही है। चाहे वह सड़क चौड़ीकरण के नाम से हो चाहे उद्योग लगाने के नाम से हो या अन्य कारण से हो आज हमारे पेड़ कट रहे है जंगल कट रहे है पिछले 15 वर्षों में छत्तीसगढ़ में इतने अधिक जंगलों की कटाई हुई कि अब जंगली जानवर हमारे घरों में आ रहे है हाथी आ रहे है, बंदर आ रहे है- हमने जंगल काटकर उनका घर उजाड़ दिया तो अब वे हमारे घरों में आ रहे है। जो भी गांव की खाली जगह है, छोटी-छोटी जगह है, उसमें हमारी सरकार सब्जी-भाजी के बीज और दूसरे खाद्य पदार्थो के बीज छिड़क रही है।

उससे जंगली जानवर चाहे व भालू हो, चाहे वह बंदर हो, चाहे वह हाथी हो, वे उस स्थान में ही रहेंगे। वे हमारे गांव में घुसकर हमारी फसलों को नुकसान नही पहुंचाएंगे। तो यह नरवा, घुरवा, गरवा, और बाड़ी एक योजना है और आप चाहे तो इसको मैं और विस्तार से लिखित रूप में भी दे सकती हूं। हमारी सरकार में एक क्विंटल धान का सर्मथन मूल्य 2500 रुपए रखा है, जो भारत के किसी भी राज्य में नहीं है। सही मायने मे अगर आप किसानों का हित चाहते है और किसानों के साथ न्याय करना चाहते है, तो आपको धान के सर्मथन मूल्य को ब?ाना होगा। किसानों के लिए कृषि ही उनकी शक्ति है, कृषि ही उनकी भक्ति है, कृषि ही निंद्रा है और कृषि ही उनका जागरण है। किसान पूरे दिन, पूरे समय, पूरी उम्र खेती में ही अपना जीवन व्यतीत करता है। अगर उसके साथ अन्याय होगा, उसके साथ न्याय नही करेंगे तो यह पूरी बेईमानी होगी। जब देश का किसान खुशहाल होगा, ते सब चीजे समृद्ध होगी, देश समृद्ध होगा, व्यापार फलेगा-फूलेगा, उद्योग फलेगा-फूलेगा क्योकि वहीं से तो हमे पैसा मिलता है। अगर किसान को आप दुखी रखेंगे, तो हमारा देश कभी खुशहाल नहीं हो सकता हैं।

22-07-2019
अज्ञात व्यक्तियों द्वारा बछड़े के कुछ हिस्से को काटकर चमड़ा ले जाया गया, क्षेत्र में आक्रोश
10:51am

सूरजपुर। प्रतापपुर के ग्राम पंचायत सरहरी में अज्ञात व्यक्तियों द्वारा एक बछड़े का शरीर के कुछ हिस्से का चमड़े को काटकर ले जाया गया है, जिससे गांव सहित पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गई है तथा लोगों में घटना को लेकर भारी आक्रोश है। पुलिस कुछ लोगों को अपने कस्टडी में लेकर पूछताछ कर रही है।

22-07-2019
हापुड़ में भीषण सड़क हादसे में नौ बरातियों की मृृत्यु, 18 घायल
10:47am

हापुड़। उत्तर प्रदेश में हापुड़ जिले के हाफिजपुर क्षेत्र में हुए भीषण सड़क हादसे में नौ बारातियों की मृत्यु हो गई जबकि 18 घायल हो गये। मृतकों में अधिकांश बच्चे हैंं। पुलिस सूत्रों ने सोमवार को यहां यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि धौलाना क्षेत्र के सालेपुर कोटला निवासी मेहरबान की पुत्री गुलफशा की रविवार को शादी थी। मेरठ जिले के नंगला गांव से बारात आई थी। शादी के बाद बारातियों को लेकर देर रात करीब 11 बजे पिकअप वाहन में सवार बाराती वापस गांव लौट रहे थे। बुलंदशहर मार्ग पर सादिकपुर गांव के पास तेज रफ्तार कैंटर ने उनके वाहन को टक्कर मार दी।

टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि पिकअप वाहन पलट गया और नौ लोगों की मौके पर ही मृत्यु हो गई जबकि 18 लोग घायल हो गये। हादसे के बाद कैंटर चालक फरार हो गया। उन्होंने बताया कि सूचना पर पुलिस बल के साथ अधिकारी मौके पर पहुंचे । उन्होंने बताया कि घायलों को हापुड़ के अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। घायलों में कुछ की हालत गंभीर है। हादसा इतना भीषण था कि कई शव सड़क पर ही पड़े थे ।

22-07-2019
बस्तर के चित्रकोट में सम्पन्न हुआ ‘युवा दृष्टि प्रशिक्षण शिविर 2019’
रा
10:36am

रायपुर। प्रदेश युवा कांग्रेस द्वारा बस्तर संभाग के युवा कांग्रेस के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को एक दिवसीय प्रशिक्षण चित्रकोट में दिया गया। यह प्रशिक्षण शिविर का नाम ‘युवा दृष्टि 2019’ रखा गया। इस शिविर में युवा कांग्रेस संगठन से जुड़ कर जनता की सेवा करने और संगठन को मजबूती प्रदान करने और चुनावी प्रशिक्षण भी  इस शिविर में अतिथियों द्वारा दिया गया। छत्तीसगढ़ प्रदेश युवा कांग्रेस के प्रवक्ता शेख मुशीर ने बताया यह आयोजन बस्तर संभाग के आदिवासी युवा साथियों को प्रशिक्षित करने के उद्देश्य से प्रदेश अध्यक्ष पूर्णचंद कोको पाढ़ी के अपील पर चित्रकोट में आयोजित हुआ। इस प्रशिक्षण शिविर में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मोहन मरकाम ने युवा कांग्रेस को पार्टी की रीढ़ की हड्डी बताते हुए युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को महत्व देने की बात कही। आगे युवाओं को संबोधित करते हुए सांसद दीपक बैज ने युवाओं को चुनावी मैनेजमेंट के बारे में बताया।

मंत्री कवासी लखमा ने जनता से युवाओं को जुड़ने और जनहित के कार्य करने की बात कही। विशेष रूप से उपस्थित युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रभारी कृष्णा अल्लावरु ने आदिवासी युवाओं को उनके अधिकारों की जानकारी देते हुये बस्तर में जनता के हित के कार्यों को कराने और संगठन को मजबूत करने के टिप्स दिये। युवाओं को प्रदेश अध्यक्ष पूर्णचंद कोको पाढ़ी ने एकजुट होकर संगठन मजबूत करने की बात कही। जगदलपुर के विधायक रेखचन्द जैन, विधायक विक्रम मंडावी, विधायक चन्दन कश्यप द राजीव शर्मा,हरीश कवासी,दीपक कर्मा, मलकित सिंह गैन्दु,विनोद तिवारी,हेमु उपाध्याय ने भी युवाओं को संबोधित किया। इस ‘युवा दृष्टि 2019’ प्रशिक्षण शिविर में बस्तर संभाग के सभी पदाधिकारियों और कार्यकतार्ओं ने हिस्सा लिया।

22-07-2019
दूसरे राज्यों से अवैध शराब तस्करी करते दो गिरफ्तार
10:25am

पेंड्रा। आबकारी विभाग को दूसरे राज्य से लाई जा रही अवैध शराब को पकड़ने में बड़ी सफलता हासिल हुई है। मामला गौरेला थाना अंतर्गत गांव गोरखपुर का है। जहां पर बीती रात लगभग 10 बजे अवैध शराब के साथ दो व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया। दरअसल बिलासपुर आबकारी विभाग को छत्तीसगढ़ मध्य प्रदेश की सीमा से लगे गांवों में अवैध शराब की बिक्री की लगातार शिकायतें मिल रही थी। इन क्षेत्रों में मध्य प्रदेश से अवैध शराब छत्तीसगढ़ लाकर बेचा जा रहा था, जिसके चलते आबकारी टीम हरकत में आई और पेंड्रा वृत्त के साथ संयुक्त कार्रवाई करते हुए गोरखपुर से दो व्यक्तियों को महुआ और मध्य प्रदेश से लायी जा रही अंग्रेजी शराब के साथ आरोपियों को गिरफ्तार किया।

निरीक्षक धीरज कनौजिया ने बताया कि लगातार मध्यप्रदेश से छत्तीसगढ़ अवैध रूप से शराब लाकर के बेचने की शिकायत मिल रही थी जिस कारण संयुक्त कार्यवाही करते हुए दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। वहीं केवची में भी मध्य प्रदेश से आने वाली वाहनों की सघन जांच के साथ होटल ढाबों में भी अवैध शराब बिक्री के संबंध में तलाशी ली गई है। वही उन्होंने बताया की आगे भी अवैध शराब को लेकर कार्यवाही जारी रहेगी।

22-07-2019
कुमारस्वामी की अग्निपरीक्षा आज, विधानसभा में हासिल करना होगा विश्वास मत
रा
09:38am

बंगलूरू। सियासी संकट में घिरी कांग्रेस-जदएस गठबंधन की राज्य सरकार की किस्मत का फैसला सोमवार को होगा, जब विधानसभा में विश्वास मत पर वोटिंग होगी। इससे पहले, राज्यपाल वजूभाई वाला ने मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी को पत्र लिखकर दो बार फ्लोर टेस्ट कराने को कहा था, लेकिन शुक्रवार को वोटिंग नहीं हो सकी थी। इसके बाद स्पीकर केआर रमेश कुमार ने विधानसभा की कार्यवाही सोमवार तक स्थगित कर दी थी। हालांकि सूत्रों का कहना है कि सरकार विश्वास प्रस्ताव पर चर्चा को लंबा खींचने की कोशिश करेगी, क्योंकि उसे सुप्रीम कोर्ट से कुछ राहत मिलने की उम्मीद है। मुख्यमंत्री कुमारस्वामी और कांग्रेस नेता दिनेश गुंडू राव ने शुक्रवार को ही सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर 17 जुलाई के फैसले पर स्पष्टीकरण की मांग की थी। 

वहीं, सीएम ने राज्यपाल को सरकार को निर्देश देने से रोकने का अनुरोध भी शीर्ष अदालत से किया है। उम्मीद है कि सुप्रीम कोर्ट सोमवार को ही दोनों याचिकाओं पर सुनवाई करेगा। इस बीच, सत्ता पक्ष और विपक्ष ने विश्वास मत को लेकर अपने-अपने दावे किए हैं। कांग्रेस नेता एचके पाटिल ने जहां विश्वास मत जीतने का विश्वास जताया है, वहीं भाजपा नेता बीएस येदियुरप्पा का दावा है कि सरकार बहुमत साबित नहीं कर पाएगी। 

भाजपा और कांग्रेस ने बनाई रणनीति 
विश्वास मत से पहले रविवार को कांग्रेस और भाजपा के शीर्ष नेताओं ने बंगलूरू में बैठक की। भाजपा विधायक दल की बैठक रमादा होटल में हुई, जबकि कांग्रेस नेताओं ने ताज विवांता में रणनीति तैयार की। इस बीच, जदएस नेता जीटी देवेगौड़ा, एसआर महेश और सीएस पुट्टाराजा ने पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धरमैया से मुलाकात की। 

22-07-2019
आज सावन का पहला सोमवार, शिवालयों में विशेष तैयारी
09:33am

नई दिल्ली। पवित्र श्रावण मास का आज प्रथम सोमवार है। पूरा देश शिवमय हो चला है। शिव आस्था के प्रमुख केंद्रों पर रविवार को ही देश-दुनिया से भक्तों का जुटना प्रारंभ हो गया था। अमरनाथ, केदारनाथ, नीलकंठ महादेव, काशी विश्वनाथ, बाबा बैद्यनाथ, महाकाल और ओंकारेश्वर सहित देशभर मेंशिवालयों की रौनक देखते बन रही है।

बाबा बैद्यनाथ : सवा लाख भक्त करेंगे जलाभिषेक
देश-विदेश के कोने-कोने से देवघर, झारखंड में बाबा बैद्यनाथ का जलाभिषेक करने के लिए लाखों शिवभक्त जुट गए हैं। शिवभक्तों के स्वागत में बाबा नगरी पूरी तरह से तैयार है। उम्मीद है कि आज सवा लाख से अधिक भक्तों कोबाबा की पूजा-अर्चना करने का सौभाग्य मिलेगा। श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए देवघर ही नहीं देश के कई हिस्सों से यहां आकर सेवा देने वाले शिवभक्त भी पुख्ता तैयारी कर उनके स्वागत के लिए पलकें बिछाए हैं। बिहार के सुल्तानगंज से उत्तरवाहिनी गंगा से जल लेकर आने वाले कांवड़ियों को 150 किमी यात्रापथ में हर सुविधा दी गई है।

ज्योतिर्लिंग महाकालेश्वर मंदिर, उज्जैन : आज पहली सवारी
परंपरानुसार श्रावण के हर सोमवार और भादौ मास के दो सोमवार को राजाधिराज भगवान शिव पालकी में सवार होकर प्रजाजनों का हाल जानने निकलते हैं। इस साल श्रावण मास की पहली सवारी आज शाम चार बजे निकलेगी। हजारों आस्थावान अपने राजा की एक झलक पाने के लिए लालायित रहेंगे। महाकालपुरी में श्रावण के उल्लास के बीच देवाधिदेव भगवान भोलेनाथ के आंगन में भक्तों का रेला लगना शुरू हो गया है। पवित्र मास के पहले रविवार को तड़के भगवान महाकाल को भस्मी चढ़ते देखने के लिए सैकड़ों श्रद्धालु पहुंचे। सुबह 11 बजे तक करीब 9 हजार श्रद्धालुओं ने अवंतिकानाथ के दर्शन कर लिए थे। सुबह अभिषेक-पूजन के बाद विशेष श्रृंगार हुआ। फिर भगवान को भस्मी अर्पित की गई। यह अद्भुत दृश्य को देखते ही मंदिर परिसर जय श्री महाकाल.. के जयघोष से गूंज उठा। 26 अगस्त को शाही सवारी का विशेष आयोजन होगा।

अमरनाथ : आज 70 हजार भक्त करेंगे बाबा बफार्नी के दर्शन
समुद्र तल से 3,888 मीटर ऊंचाई पर स्थित बाबा बफार्नी की पवित्र गुफा में हिमलिंग के दर्शनों के लिए हर कोई लालायित रहता है। अमरनाथ यात्रा हो और सावन का पहला सोमवार तो बहुत कम श्रद्धालुओं को दर्शनों का सौभाग्य मिलता है। इस दिन अमरनाथ की पवित्र गुफा में भी विशेष पूजा होती है। श्रद्धालुओं का प्रयास रहता है कि सावन के पहले सोमवार को ही बाबा बफार्नी के दर्शन हों। इस बार अच्छी बात यह है कि यात्रा के बीस दिन बाद भी बाबा बफार्नी पवित्र गुफा में विराजमान होकर श्रद्धालुओं को दर्शन दे रहे हैं। मौसम अनुकूल होने के कारण श्रद्धालुओं को भी कोई परेशानी नहीं हो रही है। सोमवार को भी मौसम ठीक रहने की संभावना जताई गई है। श्रीनगर के शंकराचार्य मंदिर में भी विशेष तैयारियां की जा रही हैं। यह कश्मीर घाटी का सबसे पुराना शिव मंदिर है। इस मंदिर में भी सावन के महीने में दर्शन करने वालों की भीड़ होती है। इन सभी मंदिरों में तैयारियां चल रही हैं।

केदारनाथ धाम : ब्रहमकमल करेंगे अर्पित
केदारनाथ मंदिर में सावन के पहले सोमवार पर विशेष दर्शनों को भक्तों का जुटना पहले ही शुरू हो चुका था। श्रावण मास में भोले के भक्त उच्च हिमालय क्षेत्र में पाए जाने वाले ब्रह्मकमल फूल लाकर चढ़ाते हैं। इस पुष्प को भक्त करीब पंद्रह हजार फीट की ऊंचाई पर हिमालयी क्षेत्र से लेकर आते हैं। पौराणिक काल से यह परंपरा चली आ रही है। मंदिर समिति के कार्याधिकारी एमपी जमलोकी बताते हैं कि श्रावण मास में केदारनाथ मंदिर में विशेष पूजाएं होती हैं। समिति यहां शिव कथा का आयोजन भी कर रही है।

ओंकारेश्र्वर : ओंकार के दर्शन के लिए उमड़ रही आस्था
मप्र के खंडवा में ओंकार पर्वत पर नर्मदा किनारे स्थित ओंकारेश्र्वर ज्योतिर्लिंग के दर्शनों को देशभर से श्रद्धालु पहुंच रहे हैं। ज्योतिर्लिंग भगवान ओंकारेश्र्वर और ममलेश्र्वर के दर्शन के साथ ही नर्मदा स्नान कर भक्तधन्य हो रहे हैं। रविवार सुबह से ही ओंकारेश्र्वर मंदिर में भक्तों की कतार लग गई थी। करीब एक घंटे में ओंकारेश्र्वर मंदिर में भक्तों को दर्शन हुए। भक्तों को ज्योतिर्लिंग पर सीधे जल, फूल, बिल्व पत्र नहीं चढ़ाने दिया जा रहा है। पंडितों द्वारा इसे अर्पित कराए जाने की व्यवस्था है।

श्रीनीलकंठ महादेव : आज जुटेंगे एक लाख श्रद्धालु
पौड़ी जिले के यमकेश्र्वर प्रखंड में मणिकूट पर्वत की तलहटी पर स्थित नीलकंठ महादेव मंदिर स्थित है। श्रावण मास की कावड़ यात्रा में यहां प्रतिवर्ष लाखों की संख्या में श्रद्धालु पहुंचते हैं। इस वर्ष भी कावड़ यात्रा को लेकर विशेष तैयारियां की गई हैं। मंदिर समिति को सोमवार के जलाभिषेक के लिए यहां करीब एक लाख से अधिक कांवड़ियों के पहुंचने की उम्मीद है। जिसके लिए सुरक्षा प्रबंधन भी किए गए हैं। आसपास के स्कूलों में अवकाश घोषित किया गया है।

हरिद्वार : सज गई धर्मनगरी
चहुंओर बम-बम भोले के जयकारे गूंज रहे हैं। शिवालयों की साज सज्जा देखते ही बन रही है। दक्षनगरी में भी तैयारियों जोरों पर है। धार्मिक मान्यता के अनुसार भोले शंकर श्रावण मास में अपनी ससुराल दक्षनगरी कनखल में विराजते हैं। इसलिए हरिद्वार में सावन का महत्व और बढ़ जाता है। दक्षेश्र्वर महादेव मंदिर में भी श्रावण के पहले सोमवार पर जलाभिषेक को विशेष तैयारियां की गई हैं। इधर, हरकी पैड़ी स्थित ब्रह्मकुंड से कांवड़ यात्री जल भरकर अपने घरों को लौट रहे हैं। अब तक 25 लाख कांवड़ यात्री जल लेकर जा चुके हैं।

22-07-2019
चंद्रयान-2 का काउंटडाउन शुरू, आज दोपहर 2.43 पर लॉन्चिंग, श्रीहरिकोटा में सारी तैयारी पूरी
वि
09:27am

नई दिल्ली। चंद्रयान-2 की उल्टी गिनती रविवार शाम 6.43 से शुरू हो गई है 22 जुलाई को दोपहर 2.43 बजे इसे लॉन्च किया जाएगा श्रीहरिकोटा के सतीश धवन स्पेस सेंटर से इसे छोड़ा जाएगा इस रॉकेट की लंबाई 44 मीटर लंबा और वजन 640 टन है। चांद पर जाने वाले भारत के चंद्रयान-2 का काउंटडाउन शुरू हो गया है। इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गनाइजेशन (करफड) के चीफ के सिवन ने इसकी पुष्टि की। उन्होंने कहा कि चंद्रमा पर भेजे जाने वाले भारत के दूसरे यान की रविवार शाम को उल्टी गिनती 6.43 बजे से शुरू हो गई। पहले चंद्रयान-2 को 15 जुलाई को लॉन्च किया जाना था। चंद्रयान में लिक्विड कोर स्टेज पर ईंधन भरने का काम पूरा हो गया है। लेकिन लॉन्चिंग से एक घंटे पहले इसमें तकनीकी खराबी का पता चलने के बाद इसे रोक दिया गया. अब 22 जुलाई को दोपहर 2.43 बजे इसे लॉन्च किया जाएगा. इसरो ने बताया कि जियोसिंक्रोनस सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल मार्क -3 (जीएसएलवी मार्क-3) में आई तकनीकी खराबी को ठीक कर लिया गया है। चंद्रयान-2 भारत का दूसरा सबसे महत्वाकांक्षी चंद्र मिशन है। इसे श्रीहरिकोटा के सतीश धवन स्पेस सेंटर से भारी-भरकम रॉकेट जियोसिन्क्रोनस सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल-मार्क 3 (जीएसएलवी एमके 3) से लॉन्च किया जाएगा।

जीएसएलवी को 'बाहुबली' के नाम से भी पुकारा जाता है। यह रॉकेट 44 मीटर लंबा और 640 टन वजनी है। इसमें 3.8 टन का चंद्रयान रखा गया है। पृथ्वी और चांद की दूसरी करीब 3.844 किलोमीटर है। उड़ान के कुछ ही मिनटों बाद 375 करोड़ रुपये का जीएसएलवी-मार्क-3 रॉकेट 603 करोड़ रुपये के चंद्रयान-2 को पृथ्वी की कक्षा में स्थापित करेगा। वहां के चांद की यात्रा शुरू होगी। चंद्रयान-2 में लैंडर विक्रम और रोवर प्रज्ञान चांद तक जाएंगे। लैंडर विक्रम सितंबर या अक्टूबर में चांद पर पहुंचेगा और इसके बाद वहां प्रज्ञान काम शुरू करेगा। उल्टी गिनती के दौरान रॉकेट और अंतरिक्ष यान की प्रणालियां जांच से गुजरेंगी और रॉकेट इंजनों में ईंधन भरा जाएगा। अब तक इसरो ने 3 जीएसएलवी-एमके 3 रॉकेट भेजे हैं। पहला रॉकेट 18 दिसंबर 2014 को, दूसरा 5 फरवरी 2017 को और तीसरा 14 नवंबर 2018 को भेजा गया। जीएसएलवी-एमके 3 का इस्तेमाल भारत के मानव अंतरिक्ष मिशन के लिए किया जाएगा, जो वर्ष 2022 के लिए तय है।

Please Wait... News Loading