GLIBS

05-04-2020
मध्यप्रदेश: इंदौर के जिस क्षेत्र में स्वास्थ्य टीम पर हुआ था पथराव,वहां से मिले 10 कोविड-19 मरीज
05:24pm

इंदौर। शहर में कोरोना वायरस संक्रमण के 16 नए मामले सामने आए हैं। इसमें से 10 मामले टाटपट्टी बाखल से हैं। यह वही इलाका है,जहां एक अप्रैल को सर्वे के दौरान स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों पर हमला और पथराव किया गया था। इसके साथ ही राज्य में पॉजिटिव मामलों की संख्या बढ़कर 128 हो गई है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी किए गए मेडिकल बुलेटिन के अनुसार, 3 और 4 अप्रैल को भेजे गए सैंपल में से 16 पॉजिटिव मरीज पाए गए हैं। 16 में से 10 लोग इसी टाटपट्टी बाखल इलाके के हैं जहां पर पत्थरबाजी हुई थी। इनमें 5 पुरुष और 5 महिलाएं हैं। पॉजिटिव पाए गए लोगों की उम्र 29 साल से 60 साल तक है।

 

05-04-2020
कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के प्रबंधन में छत्तीसगढ़ टॉप-10 में
05:15pm

रायपुर। नोवेल कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण की रोकथाम और नियंत्रण के प्रबंधन में छत्तीसगढ़ देश के टॉप 10 राज्यों में है। भारत सरकार के केबिनेट सचिव राजीव गौबा की ओर से आज सभी राज्यों के मुख्य सचिव, स्वास्थ्य सचिव, पुलिस महानिदेशक और देश के 730 जिलों के कलेक्टर्स, पुलिस अधीक्षक, आयुक्त नगर निगम, सिविल सर्जन सह अस्पताल अधीक्षक, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के साथ वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से कोविड-19 वायरस की रोकथाम और नियंत्रण की रणनीति के संबंध में विस्तार से समीक्षा की गई। छत्तीसगढ़ के मुख्य सचिव आरपी मण्डल, सचिव स्वास्थ्य निहारिका बारिक सिंह तथा सचिव सामान्य प्रशासन विभाग कमलप्रीत सिंह ने इस वीडियो कांफ्रेसिंग में हिस्सा लिया। मुख्य सचिव आरपी मण्डल ने बताया कि छत्तीसगढ़ प्रदेश में कोविड-19 महामारी के नियंत्रण तथा रोकथाम के लिए भारत सरकार की ओर से जारी गाइड लाइन का पालन किया जा रहा है। छत्तीसगढ़ में अभी तक 1590 लोगों के टेस्ट किए गए है। जिसमें 10 केश पॉजिटिव पाए गए है इसमें 7 को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्यूपेंट (पी.पी.ई.) किट्स पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है।

केबिनेट सचिव द्वारा लॉकडाउन का कड़ाई से पालन किए जाने की आवश्यकता बतायी गई और यदि कोई इसका उल्लंघन करता है तो सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए। तबलीगी जमात मरकज निजामुद्दीन दिल्ली से भारत के विभिन्न राज्यों और जिलों में गए तबलीगी जमात के व्यक्तियों पर ध्यान देने पर जोर दिया गया। कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम एवं ईलाज के लिए अधिक से अधिक संख्या में डेडीकेटेड हॉस्पिटल/यूनिट बनाने के निर्देश भी दिए गए है। क्वारंटिन की सुविधा बढ़ाने तथा सोशल डिस्टेसिंग पर भी जोर दिया गया। भारत सरकार के गृह मंत्रालय की ओर से डिजास्टर मेनेजमेंट एक्ट-2005 के अंतर्गत जारी दिशा-निर्देश का पालन करने के निर्देश दिए गए। केबिनेट सचिव द्वारा इस महामारी के नियंत्रण के लिए 15 दिन और अच्छे से कार्य किए जाने की आश्यकता बतायी गई । कोविड-19 वायरस के संक्रमण की रोकथाम और नियंत्रण के लिए किए गए उपायों में छत्तीसगढ़ देश में टॉप-10 में रहा।

05-04-2020
पहले मुख्यमंत्री, स्वास्थ्य मंत्री को निरीक्षण करने एम्स भेजें, फिर कांग्रेस के लोग नसीहत दें : सुनील सोनी
रा
05:10pm

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष और रायपुर संसदीय क्षेत्र के सांसद सुनील सोनी ने कोरोना वायरस संक्रमण के वैश्विक संकट के दौर में भी कांग्रेस द्वारा की जा रही बयानबाजी को शर्मनाक और निकृष्ट राजनीति का परिचायक बताया है। सुनील सोनी ने कहा कि कांग्रेस के लोग यह नसीहत देने से बाज आएँ कि सांसद के नाते यह दौरा उन्हें दस दिन पहले करना था। जिस कांग्रेस के सत्ताधीश और बयानबाज नेता आज तक एक बार भी एम्स में झाँकने तक नहीं गए हैं, वे किस मुँह से नसीहतें देने का अधिकार रखते हैं? सुनील सोनी ने कहा कि कांग्रेस के सत्ताधीश और दीगर नेता अपने बयानों से कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहे सेवाभावी अधिकारियों और कर्मचारियों का मनोबल तोड़ने में लगे हैं। सांसद सोनी ने कहा कि शनिवार को उनके एम्स निरीक्षण पर कांग्रेस के लोगों के पेट में मरोड़ क्यों उठ रहा है? एक सांसद और एम्स प्रबन्धन का निर्वाचित सदस्य होने के नाते उन्होंने एम्स में कोरोना के खिलाफ जारी लड़ाई में लगे सभी डॉक्टर्स, नर्सेस, अन्य सभी सेवाभावी कर्मचारियों के साथ बैठकर पूरे अभियान की समीक्षा की और कोरोना पर प्रभावी नियंत्रण रखने के लिए एम्स के स्टाफ को बधाई देते हुए उनका मनोबल बढ़ाया। सांसद सोनी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आह्वान का मजाक उड़ाए जाने पर भी कांग्रेस के लोगों पर हमला बोला। सोनी ने कहा कि देश के करोड़ों लोग ताली, थाली और घण्टी बजाकर सेवाभावी लोगों का आभार मान रहे हैं, प्रधानमंत्री के आह्वान पर रविवार की रात दीपक प्रज्जवलित कर नकारात्मकता के अन्धकार को चीर कर सामूहिक शक्ति की सकारात्मक ऊर्जा से भरपूर होंगे जिसमें छत्तीसगढ़ की भागीदारी पूरी तरह होगी।

05-04-2020
कोरोना संक्रमितों 472 नए मामले आए समाने,अब तक 79 की मौत,267 लोग हुए ठीक: स्वास्थ्य मंत्रालय
04:44pm

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस के हालात को लेकर स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने रविवार को संवाददाता सम्मेलन करते हुए बताया कि देश में कल से लेकर आज तक कोरोना वायरस के 472 नए मामले सामने आए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि देश में अब तक 3374 लोग इस खतरनाक वायरस से संक्रमित हो चुके हैं।स्वास्थ्य सचिव ने बताया कि कोरोना वायरस के चलते अब तक देश में 79 लोगों की मौत हो चुकी है। उन्होंने बताया कि कल से लेकर आज तक में कोरोना से 11 लोगों की मौत हुई है। 267 लोग इस वायरस से ठीक हुए है, जिन्हें इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। अग्रवाल ने बताया कि कोरोना वायरस से देश के 274 जिले प्रभावित है। 

 

05-04-2020
जरूरतमंदों तक भोजन पहुंचाने आगे आया आरएसएस, जनता से दान की अपील
04:42pm

रायपुर। कोरोना संक्रमण के दौर में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ जरूरतमंदों को भोजन सामग्री का वितरण किया जा रहा है। संघ ने इस कार्य में सहयोग के लिए जनता से अपील की है। महानगर संघ चालक उमेश अग्रवाल ने कहा कि हम सभी कोरोना जैसी वैश्विक महामारी के प्रकोप से लॉकडाउन के दौर से गुजर रहे हैं। इस भीषण परिस्थिति में हमारे समाज के कुछ परिवार भोजन की व्यवस्था नहीं कर पा रहे है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, रायपुर महानगर ने उन सभी परिवारों को अनाज सामग्री का वितरण यथोचित माध्यम से करने का बीड़ा उठाया है।

इस सेवा कार्य को सफल बनाने के लिए हम सभी मिलकर अपने सामर्थ्य अनुसार आहुति देंगे। इसके लिए प्रत्येक जरूरतमंद परिवार को चावल 5 किलो, दाल 1 किलो, आलू 2 किलो, तेल और नमक दिया जाएगा। एक किट का मूल्य लगभग 400 रुपए होगा। इस सामग्रियों को जागृति मंडल कार्यालय पंडरी पहुंचाया जा सकता है। उमेश अग्रवाल ने कहा कि इसमें धनराशि देकर भी सहयोग किया जा सकता है। डिटेल में उन्होंने Seva Bharti Central bank of India Main branch Raipur A/c:-3809001368 IFSC code :-CBIN0280803 में सहयोग करने की अपील है।

05-04-2020
जीवन बीमा के पालिसीधारकों के लिए खुशखबरी,प्रीमियम पटाने के लिए मिला 30 दिन का और समय
04:28pm

नई दिल्ली। भारतीय बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण (इरडा) ने जीवन बीमा पॉलिसीधारकों को प्रीमियम भुगतान के लिए 30 दिन का और समय दे दिया है। कोरोना वायरस महामारी की वजह से देश में लागू लॉकडाउन के मद्देनजर नियामक ने यह कदम उठाया है। ऐसे जीवन बीमा पॉलिसीधारक जिनके नवीकरण की तारीख मार्च और अप्रैल में पड़ती है, उन्हें प्रीमियम भुगतान के लिए 30 दिन का अतिरिक्त समय दिया गया है।इरडा स्वास्थ्य बीमा पॉलिसियों और तीसरा पक्ष मोटर बीमा के नवीकरण प्रीमियम का भुगतान करने के पहले ही अतिरिक्त समय दे चुका है। जीवन बीमा कंपनियों और जीवन बीमा परिषद ने नियामक से प्रीमियम भुगतान के लिए अतिरिक्त समय देने की मांग की थी। नियामक ने निर्देश जारी कर पॉलिसीधारकों को प्रीमियम भुगतान के लिए 30 दिन का अतिरिक्त समय दिया है।बीमा कंपनियों और परिषद ने इस बात को लेकर चिंता जताई थी कि तीन सप्ताह की राष्ट्रव्यापी लॉक डाउन सामाजिक दूरी बनाए रखने की सलाह के मद्देनजर पॉलिसीधारकों को प्रीमियम के भुगतान में दिक्कत आ रही है। नियामक ने कहा कि जहां यूनिट से जुड़ी पॉलिसियां 31 मई, 2020 तक परिपक्व हो रही हैं और कोष मूल्य का भुगतान एकमुश्त करने की जरूरत है, बीमा कंपनियां संबद्ध प्रावधानों के तहत ‘निपटान विकल्प’ की पेशकश कर सकती हैं।

 

05-04-2020
प्रेमप्रसंग के चलते युवक-युवती की परिजनों ने की हत्या
04:22pm

लखनऊ। राजधानी लखनऊ के सआदतगंज के मंसूरनगर में शनिवार देर रात प्रेम प्रसंग के चलते प्रेमी व प्रेमिका की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मामले में चार लोगों को गिरफ्तार किया है। शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।ऑनर किलिंग की इस वारदात से पूरे इलाके में सनसनी फैल गई है। सआदतगंज के मंसूरनगर निवासी अब्दुल मलिक और सूफिया के बीच काफी दिनों से प्रेम संबंध थे। इसकी जानकारी परिजनों को भी थी। लॉकडाउन में शनिवार देर रात परिजनों ने दोनों को एक साथ देख लिया। इस पर नाराज होकर दोनो की लाठी डंडों से पिटाई कर दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने दोनों को ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया जहां डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।
पुलिस ने इस मामले में चार लोगों को गिरफ्तार किया है। दोहरे हत्याकांड के कारण इलाके में तनाव व्याप्त है।

05-04-2020
मोबाइल एप की मदद से आइसोलेटेड संदिग्धों पर नजर रखेगी जांजगीर पुलिस 
04:22pm

रायपुर। जांजगीर पुलिस ने होम आइसोलेटेड संदिग्धों पर नजर बनाए रखने एक अनोखा इनोवेशन किया है। एसपी पारुल माथुर की गठित जांजगीर पुलिस की टीम ने एक मोबाइल एप्प बनाया है। इसकी मदद से होम आइसोलेटेड संदिग्धों पर नजर रखी जा सकेगी। प्रत्येक घंटे में संदिग्ध को सेल्फी भेजना होगा। वहीं घर से 200 मीटर दूर जाने पर एक एसएमएस अलर्ट होगा। इससे यह पता चलेगा की संदिग्ध अपने स्थान पर है या नहीं। इस तकनीक से लगातार गूगल मैप से ट्रैकिंग की जा सकती है। पुलिस अधीक्षक पारुल माथुर ने कोविड-19 कोरोना वायरस से जिला जांजगीर के निवासियों की सुरक्षा के लिए नवीन पहल की है।

जिले में विदेश अथवा अन्य प्रान्तों से आए हुए लगभग 7000 ऐसे व्यक्ति जिनके की कोरोना वायरस से इन्फेक्टेड होने की संभावना की आशंका है पर नजर रखने सभी थाना प्रभारियों को निर्देश दिया गया है। जो भी  विदेश से अथवा अन्य राज्य से आए हुए व्यक्ति जिन्हें होम आइसोलेटेड किया गया है, लगातार उनके मोबाइल पर एक्टिव किये गए लोकेशन सेटिंग के माध्यम से निगरानी रखी जा रही है ताकि उनके द्वारा किसी प्रकार की उपेक्षा या लापरवाही किये जाने पर तत्काल पुलिस द्वारा कार्यवाही कर क्षेत्र के लोगों के स्वास्थ्य एवं जीवन को संक्रामक रोग से संकटापन्न होने से रोका जा सके।

05-04-2020
मां से झगड़ा करके घर छोड़कर जा रहा था नाबालिग, पुलिस ने बच्चे को परिजनो के सुपुर्द किया
04:16pm

धमतरी। रविवार को एक नाबालिग बालक उम्र करीब 11 वर्ष थाना मगरलोड क्षेत्र के अमलीडीह नाकाबंदी पॉइंट से गुजर रहा था, जिसे ड्यूटी में लगे जवानों ने रोक कर पूछताछ की जिसमें बच्चे ने बताया कि अपनी मां से झगड़ा होने पर नाराज होकर घर व गांव खैरझिटी छोड़कर जा रहा है, तब ड्यूटी में तैनात जवानों ने अमलीडीह के कोटवार से संपर्क कर नाबालिग बालक के पिता धन्नु यादव को बुलाकर बच्चे की उचित देख-रेख करने व कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव संबंधी समझाइश देकर उसे सुपुर्द किया। इस तरह से अमलीडीह नाकाबंदी पॉइंट में तैनात पुलिस कर्मचारी प्रधान आरक्षक मेघराज निषाद, आरक्षक सेवक रंगारी एवं नगर सैनिक राधेश्याम के द्वारा ड्यूटी के दौरान मानवता का परिचय देते हुए नाबालिक बच्चे को उसके परिजन को सुपुर्द किया।

05-04-2020
दो पूर्व राष्ट्रपतियों सहित विपक्षी नेताओं से कोरोना वायरस को लेकर नरेंद्र मोदी ने की चर्चा
04:04pm

नई दिल्ली। कोरोना के खिलाफ देश की जंग जारी है। इसके बुरे प्रभाव से देश को बचाने के लिए पीएम मोदी की सरकार हरसंभव प्रयास कर रही है। पीएम ने यह साबित कर दिया है कि इस संकट की घड़ी में कोई अकेला नहीं है। वो सभी को साथ लेकर चल रहे हैं।. इसी कड़ी में प्रधानमंत्री ने रविवार को 2 पूर्व राष्ट्रपतियों प्रणब मुखर्जी और प्रतिभा पाटिल को फोन किया और कोविड-19 संबंधित मुद्दों पर चर्चा की। उन्होंने 2 पूर्व प्रधानमंत्रियों मनमोहन सिंह और देवेगौड़ा से भी फोन पर कोरोना वायरस को लेकर बातचीत की। इसके अलावा पीएम मोदी ने सोनिया गांधी, मुलायम सिंह, अखिलेश यादव, ममता बनर्जी, नवीन पटनायक, केसीआर, स्टालिन, प्रकाश सिंह बादल जैसे विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं से भी बातचीत की।
इसके अलावा पीएम मोदी इस समस्या पर 8 अप्रैल को सुबह 11 बजे विपक्ष से बात करेंगे। ये बातचीत दोनों सदनों के नेताओं से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होगी। संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी ने बताया कि प्रधानमंत्री आठ अप्रैल को सुबह 11 बजे सदन में उन विभिन्न पार्टियों के नेताओं से बातचीत करेंगे जिनके लोकसभा और राज्यसभा में पांच या इससे अधिक सदस्य हैं।माना जा रहा है कि बैठक के दौरान राष्ट्रव्यापी लॉक डाउन सहित कोरोना वायरस के संकट पर चर्चा होगी। लॉक डाउन के बाद विपक्षी नेताओं के साथ प्रधानमंत्री का यह पहला संवाद है। वह गैर राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) शासित राज्यों सहित सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से संवाद कर चुके हैं।

05-04-2020
असहाय करते हैं पुलिस गाड़ी का इंतजार, एसआई की पहल पर शहरवासियों की नई शुरूआत
03:57pm

डोंगरगढ़। लॉक डाउन में लोगों निसहाय और गरीबों की मदद के लिए स्व:स्फूत आगे आ रहे हैं। डोंगरगढ़ थाने में पदस्थ एसआई इंदिरा वैष्णव बेसहारा लोगों की मदद कर रहीं हैैै। डोंगरगढ़ थाना प्रभारी अलेक्जेंडर किरो ने बताया कि लॉक डाउन की शुरुआत से ही इंदिरा वैष्णव की ओर से असहाय के लिए दोनों समय के भोजन की व्यवस्था की जा रही थी। इसके बाद थाना स्टाफ,एसडीओपी चंद्रेश ठाकुर और एसडीएम अविनाश भोई ने शहर के आम जनता से भी इस ओर पहल करने को कहा। इसके बाद से ही शहर में एक नई पहल हुई और गरीब परिवारों के लिए पुलिस की गाड़ी में भोजन रखकर बंटवाया जा रहा है। एसआई इंदिरा की इस पहल से गरीबों और बेसहारा लोगों को अब पुलिस वाहन का इंतजार रहता है। क्योंकि लॉक डाउन में पुलिस इन असहाय लोगों को भोजन बांट कर मानवता की मिसाल पेश कर ही है। एसआई इंदिरा वैष्णव को महिला दिवस पर पुरस्कृत किया जा चुका है। महिला दिवस पर उनको सम्मानित करते हुए एडीजे विभा पांडेय ने  कहा था कि इंदिरा ने टाइफॉयड होने के बाद भी अपनी ड्यूटी को सर्वप्रथम रखा और डॉक्टर के मना करने के बाद भी केस डायरी ले कर न्यायालय पहुंचीं थीं।

Please Wait... News Loading