GLIBS

19-01-2020
युवक-युवती परिचय सम्मेलन उपयोगी एवं आज की है आवश्यकता : राज्यपाल
08:53pm

रायपुर। राज्यपाल अनुसुईया उइके ने रविवार को भोपाल में आदिवासी सेवा मंडल द्वारा आयोजित 15वें आदिवासी युवक-युवती परिचय सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि पहले लोगों को अपने बेटा-बेटियों की शादी करने के लिए योग्य वर-वधु की तलाश में इधर-उधर भटकना पड़ता था। आदिवासी सेवा मण्डल द्वारा आयोजित इस युवक युवती परिचय सम्मेलन में विवाह योग्य युवक-युवती समाज के सामने आकर अपना परिचय दे रहे हैं। यह आदिवासी सेवा मण्डल का  सराहनीय पहल है। इस तरह के परिचय सम्मेलन उपयोगी और आज की आवश्यकता है। राज्यपाल उइके ने कहा कि संविधान में आदिवासी को दिए विभिन्न अधिकार एवं किए प्रावधानों के बावजूद भी आज हमारा समाज अन्य समाज की अपेक्षा काफी पीछे है। संवैधानिक प्रावधानों के बाद भी सामाजिक एवं राजनीतिक क्षेत्र में आदिवासी समाज अपेक्षाकृत अन्य लोगों से पीछे है। उन्होंने कहा कि आदिवासी समाज के लोगों के साथ विभिन्न क्षेत्रों में पक्षपातपूर्ण व्यवहार किया जाता है। इसे रोकने के लिए हर स्तर पर आवश्यक प्रयास करने की आवश्यकता है।

राज्यपाल उइके ने अपने बचपन का संस्मरण सुनाते हुए कहा कि आदिवासी सेवा मण्डल का यह कार्यक्रम पहले भोपाल के एक छोटे से मैदान में हुआ करता था। उन्होंने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि इस कार्यक्रम का आयोजन अब विशाल रूप ले लिया है, जिसमें विभिन्न प्रदेशों के आदिवासी समाज के लोग शमिल हुए हैं। उन्होंने आदिवासी समाज के विकास में योगदान देने वाले पूर्व विधायक और दादू के नाम से विख्यात योगेन्द्र सिंह बाबा के योगदान का स्मरण किया। इसके साथ ही उन्होंने आदिवासी सेवा मण्डल के कार्य को आगे बढ़ाने वालों को नमन किया। राज्यपाल उइके ने कहा कि आज मेरा यहां आत्मीयता भरा सम्मान किया गया और पहले भी ऐसा ही स्नेह भरा सम्मान किया जाता रहा है। उन्होंने कहा कि आदिवासी समाज से जो सम्मान मुझे मिला है उसे मैं कभी नहीं भूला पाऊंगी। मैं एक गांव के परिवेश में पढ़-लिखकर आज इस मुकाम पर पहुंची हूं जिसकी कभी मैंने कल्पना भी नहीं की थी। इस अवसर पर अजय सिंह, प्रकाश ठाकुर, मनोहर सिंह ठाकुर, चन्दा सर्वटे, अमर सिंह रावत, रामू टेकाम, प्रशासनिक सेवा के अधिकारी और बड़ी संख्या में विभिन्न प्रदेशों से आए आदिवासी समाज के लोग उपस्थित थे।

 

19-01-2020
बेटे की स्थिति गम्भीर बता बीएसएफ के डिप्टी कमांडेट से 85 हजार की ठगी
08:19pm

कांकेर। कोयलीबेड़ा थानांतर्गत बीएसएफ कैंप में पदस्थ डिप्टी कमांडेट से फेसबुक मोबाइल मैसेंजर में मैसेज कर पुत्र की गंभीर स्थिति होनी की बात कहते हुए  85 हजार रूपए की ठगी करने का मामला सामने आया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार राजपाल सिंह 04 बटालियन सीमा सुरक्षा बल कैम्प कोयलीबेड़ा में पदस्थ डिप्टी कमांडेट ने रिपोर्ट दर्ज कराई है कि शनिवार को उनके मोबाइल में फेसबुक मैसेंजर में मैसेज पर अज्ञात व्यक्ति द्वारा उनके पुत्र की स्थिति गंभीर होने का हवाला देते हुए अपोलो में भर्ती होने की बात कहते हुए पैसे की मांग कर 85 हजार रूपए की ठगी कर ली। पुलिस में शिकायत के बाद पुलिस ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ भादवि की धारा 420 के तहत अपराध दर्ज कर जांच में लिया है।

 

19-01-2020
माउंट आइसलैंड में तिरंगा लहराकर याशी जैन ने दिया
08:06pm

रायगढ़। छत्तीसगढ़ और रायगढ़ की गौरव पर्वतारोही याशी जैन नेपाल के माउंट आइसलैंड पीक पर तिरंगा लहराकर शनिवार को पटना बिलासपुर सुपरफास्ट से रायगढ़ लौट आईं । रायगढ रेल्वे स्टेशन पर उनका स्वागत करने बॉक्सिंग कोच अमरदीप, ममता, उमा व कई गणमान्य लोग उपस्थित थे। इस अवसर पर जिन्दल सीओओ दिनेश सराओगी, फिटनेस लाईन हेड तालिव, सुशील रतेरिया नेहा फोम्स, और आकाश शर्मा हाइव न्यूट्रीशन ने फोन पर बधाई दी। याशी जैन ने नेपाल में स्थित पर्वत माउंट आइसलैंड पीक पर 11 जनवरी को  तिरंगा लहराया था। ज्ञातव्य है कि माउंट आइसलैंड पीक की ऊंचाई 6189 मीटर है । वहाँ से उन्होंने "बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ" का बैनर फहरा कर समाज को संदेश दिया कि बेटियों को मौका दें मौत नहीं। आईसलैंड पीक एक डिफिकल्ट पीक माना जाता है जिसे सामान्य पर्वतारोहियों के लिए  रिकमंड नहीं किया जाता है। यह मात्र ट्रेंड और एक्सपीरियंस पर्वतारोहियों के लिए ही रिकमंड किया जाता है। भविष्य की योजनाओं के लिए पर्वतारोही याशी ने एक्सपीरियंस व उत्साहवर्धन हेतु है यह चढ़ाई की और विपरीत परिस्थितियों में हौसला कैसे बनाए रखना है यह सीखा । आइसलैंड पीक से याशी ने जिंदल पैंथर, फिटनेस लाइन जिम, और अपने मम्मी पापा को धन्यवाद दिया और समाज से अपील की कि वह बेटियों को आगे बढ़ने का पूरा मौका दें। 
 

19-01-2020
सड़क मरम्मत कार्य मे लगी वाहन अनियंत्रित होकर पलटी, एक की मौत
08:02pm

कांकेर। अंतागढ़ में चल रहे सड़क मरम्मत का कार्य करने जा रहे 12 कर्मचारियों से भरी वाहन चालक के लापरवाही से पलट गई। जिसमे सवार एक कर्मचारी की मौत हो गई। वहीं पुलिस ने मर्ग कायम कर आरोपी चालक के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार ग्राम कुहचे से सुबह 9 बजे सभी कर्मचारी सड़क मरम्मत के कार्य के लिए जा रहे थे। वाहन क्रमांक सीजी 08 एल 2378 में लगभग 12 की संख्या में कर्मचारी सवार थे। वाहन को चालक गोपी निषाद पिता शिवप्रसाद निवासी चिखलाकसा दल्लीराजहरा चला रहा था। जिसने लापरवाही पूर्वक वाहन चलाते हुए कुहचे नसर्री के पास  अनियंत्रित कर पलटा दिया। जिसमें सामने की सीट पर बैठे सुनील यादव पिता विष्णु प्रसाद यादव निवसी राजनांदगांव के सर पर गंभीर चोट लगी। जिसे तत्काल अस्पताल लाया गया। जहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। वहीं बाकि अन्य कर्मचारियों को कोई चोट नहीं लगी है। पुलिस ने मर्ग कायम कर आरोपी चालक के खिलाफ भादवि की धारा 304 के तहत अपराध दर्ज कर जांच में लिया है।

 

19-01-2020
नागरिकता संसोधन कानून पर कांग्रेस कर रही वोट बैंक की राजनीति : फग्गन सिंह कुलस्ते
रा
07:57pm

कांकेर। केंद्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते छत्तीसगढ़ के दो दिवसीय प्रवास पर कांकेर पहुँचे। जहाँ पहले दिन कांकेर में बीजेपी के जन जागरूकता अभियान रैली में शामिल हुए। इस दौरान बीजेपी कार्यकर्ताओं ने कमल सदन से पुराना बस स्टैण्ड तक तिरंगा रैली निकाल कर बस स्टैण्ड में सभा को संबोधित किया। मीडिया से चर्चा के दौरान केंद्रीय मंत्री ने नागरिक संसोधन कानून पर कांग्रेस सरकार पर हमला करते हुए वोट बैंक की राजनीति करने की बात कहीं है। मीडिया से चर्चा के दौरान उन्होने कहा कि नागरिक संसोधन कानून को लागू कर सरकार ने एक सराहनीय कार्य किया है। जिससे लोगो में खुशी की लहर है। लेकिन कुछ लोग इसका विरोध कर रहे है। इस दौरान कांकेर सांसद मोहन मंडावी, भरत मटियारा, सुमित्रा मारकोले, हलधर साहू आदि शामिल रहे। केंद्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते कांकेर पहुंचे थे। इस दौरान उनसे मिलने के लिए पूर्व केंद्रीय मंत्री  एवं आदिवासी मंत्री अरविंद नेताम भी पहुंचे थे।

जिन्होने फग्गन सिंह का स्वागत किया। इस दौरान दोनो ने लगे मिलकर हंसी ठीठोली भी की। केंद्रीय मंत्री के मीडिया के चर्चा के बाद पूर्व केंद्रीय मंत्री अरविंद नेताम ने इस कानून को देश के घातक बताते हुए कहा कि सरकार का यह कानून आने वाले समय में काफी घातक साबित होने वाला है। बस्तर में इसका प्रभाव ना पड़े एवं आसपास के आदिवासी राज्यों में घुसपैठी ना बढ़े इस पर भी नजर रखी जा रही है। वह आने वाले समस में यहां किसी भी घुसपैठियों को घुसने नहीं देंगे।जिसकी लगातार जानकारी ली जा रही है। यह आने वाले समय में काफी उग्र आंदोलन का रूप से सकता है।


 

19-01-2020
विधायक, महापौर ने बच्चों को पिलाई दो बूंद पोलियो की खुराक
रा
07:49pm

अम्बिकापुर। राष्ट्रीय पल्स पोलियो अभियान के तहत रविवार को जिला मुख्यालय अम्बिकापुर स्थित मातृ एवं शिशु अस्पताल में लुण्ड्रा विधायक डॉ. प्रीतम राम और महापौर डॉ अजय तिर्की के द्वारा 3 वर्षीय बच्चो को दो बूंद पोलियो की खुराक पिलाकर जिले में पल्स पोलियो अभियान की शुरूआत की। इस अवसर पर विधायक प्रतिनिधि बालकृष्ण पाठक, पार्षद शैलेन्द्र सोनी, प्रमोद चौधरी, पूर्णिमा सिंह, सीएमएचओ डॉ पीएस सिसोदिया, डॉ. एसपी कुजूर ने भी मौजूद बच्चों को पोलियों की खुराक पिलाई। इस दौरान छत्तीसगढ़ शासन के स्वाथ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री टीएस सिंहदेव द्वारा मोबाईल के माध्यम से दिए गए संदेश को सुना गया। स्वाथ्य मंत्री ने अपने संदेश में कहा है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने मार्च 2014 में भारत को पोलियों मुक्त घोषित किया है लेकिन पोलियों के ख़तरे को देखते हुए भारत सरकार अभी भी वर्ष में एक बार पल्स पोलियों अभियान चला रही है ताकि भारत मे पोलियो मुक्त की स्थिति बरकरार रहे। उन्होंने राज्य के समस्त अभिभावकों से अपील की कि वे अपने  घर तथा आसपास के 5 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को पोलियो बूथ ले जाकर है पल्स पोलियो की खुराक अवश्य पिलाएं और राष्ट्रीय पल्स पोलियो के कार्य मे सहयोग प्रदान करें।

सीएमएचओ डॉ. पीएस सिसोदिया ने बताया कि पल्स पोलियो अभियान में 67 हजार 562 बालक एवं 62 हजार 363 बालिकाओं को पल्स पोलियो की दो बूंद दवा पिलाई जाएगी। इसके लिए जिले में 525 बूथ एवं 1 हजार 50 टीम गठित की गई है। प्रत्येक बूथ पर 4 वैक्सीनेटर की ड्यूटी लगाई गई है जिनके सुपरविजन के लिए 105 पर्यवेक्षक तैनात किए गए हैं।

रेलवे स्टेशन में पिलाई गई पोलियो की खुराक

रेल्वे स्टेशन अम्बिकापुर में यात्रियो के 0 से5 वर्ष तक के बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाई गई। स्टेशन परिसर में स्टेशन मास्टर राकेश रंजन ने पोलियो ड्राप पिलाकर शुरुआत की।  

 

19-01-2020
त्रिस्तरीय पंचायत आम चुनाव शांतिपूर्ण एवं निष्पक्ष संपन्न कराने के लिए हुई बैठक....
रा
07:08pm

धमतरी। त्रिस्तरीय पंचायत आम चुनाव 2020 शांतिपूर्ण एवं निष्पक्ष संपन्न कराने तथा सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने हेतु पुलिस अधीक्षक बी.पी राजभानु के द्वारा जिले के उपनिरीक्षक व सहायक उपनिरीक्षक स्तर के अधिकारियों को चुनाव संबंधी प्रशिक्षण दिए जाने हेतु निर्देशित किया गया। जिस पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मनीषा ठाकुर रावटे के द्वारा पुलिस कार्यालय धमतरी के सभाकक्ष में उपस्थित उप निरीक्षक एवं सहायक उपनिरीक्षक स्तर के अधिकारियों को चुनाव संबंधी प्रशिक्षण दिया गया। इस दौरान प्रशिक्षण में उपस्थित अधिकारियों को आदर्श आचार संहिता का पालन करने, अपने पेट्रोलिंग क्षेत्र के रूट एवं मतदान केंद्रों के संबंध में जानकारी प्राप्त करने एवं सुरक्षा संबंधी उपायों के बारे में बताकर आवश्यक दिशा निर्देश दिया गया।

 

19-01-2020
CH / NEWS
07:07pm

हुनर की कोई सीमा नहीं होती। प्रतिभा को कोई रोक नहीं सकता। कला की छुपी प्रतिभाओं को सामने लाने का एक अच्छा प्रयास राजधानी रायपुर में हुआ। कला साधना संस्थान की ओर से मैग्नेटो मॉल में इंटर कॉलेज और इंस्टीट्यूट प्रतियोगिता हुई। क्रश आॅन ब्रश के नाम से हुई इस प्रतियोगिता का टॉपिक माय क्रिएशन रखा गया। इसमें प्रतिभागियों के लिए पुरस्कार की भी व्यवस्था की गई थी। थीम रखी गई माय क्रिएशन ताकि जिन लोगों को किसी कारण से मौका नहीं मिल पाया हो वह भी हिस्सा ले सकें। प्रतियोगिता में 20 से 22 कॉलेज के 100 बच्चों ने हिस्सा लिया है। रायपुर ही नहीं अन्य शहरों के कॉलेज से भी प्रतिभागी शामिल हुए।

19-01-2020
भाजपा नेता की नई किताब में दावा, पाकिस्तान में स्वतंत्रता दिवस मनाना चाहते थे महात्मा गाँधी
रा
07:00pm

नई दिल्ली। पूर्व केंद्रीय मंत्री व भाजपा नेता एमजे अकबर की नई किताब में यह दावा किया गया है कि महात्मा गांधी आजादी का पहला दिन यानी 15 अगस्त, 1947 का दिन पाकिस्तान में बिताना चाहते थे। एमजे अकबर ने भारत और पाकिस्तान के बंटवारे पर अपनी नई किताब 'गांधी हिंदुइज्म: द स्ट्रगल अगेन्स्ट जिन्नाह इस्लाम' में यह बातें कही हैं। उन्होंने कहा, 'गांधी बंटवारे और नई अप्राकृति सीमा बनाने के पक्ष में नहीं थे। उन्होंने इसे क्षणिक पागलपन करार दिया था।' इस किताब में विचारधारा और उन व्यक्तित्वों की समीक्षा की है, जिन्होंने बंटवारे को आधार दिया। कई गलतियों की वजह से 1940 से 1947 के बीच सात विस्फोटक वर्षों की राजनीति हुई। किताब के मुताबिक गांधी जी एक सच्चे हिंदू थे, जिनका मानना था कि भारत में हर तरह की सभ्यता फल-फूल सकती है। यहां सभी धर्म आगे बढ़ सकते हैं।

दूसरी तरफ जिन्ना धर्म से ज्यादा राजनीतिक मुस्लिम थे। वह इस्लाम के नाम पर एक समकालिक उपमहाद्वीप बनाने को प्रतिबद्ध थे। उनका यह हौसला ब्रिटेन के साथ हुई डील की वजह से आया था। 1940 में हुई इस डील को 'अगस्त आफर' नाम दिया गया था। गांधी जी की शक्ति वैचारिक प्रतिबद्धता में थी, जिसे अंत में सांप्रदायिक हिंसा ने छीन लिया। इस गतिरोध की कीमत आम लोगों को चुकानी पड़ी, जिन्हें पीढ़ियों तक नहीं भुलाया जा सकता। लेखक के मुताबिक आजादी के बाद गांधी जी की पहली चिंता बंटवारे के प्राथमिक पीड़ितों को लेकर थी यानी अल्पसंख्यक। पाकिस्तान में हिंदू और भारत में मुस्लिम। किताब में लिखा गया है, 'वह पूर्वी पाकिस्तान के नोआखली में रहना चाहते थे। यहां 1946 में हुए दंगों में हिंदुओं को काफी प्रताड़ना झेलनी पड़ी थी। गांधी सांप्रदायिक हिंसा के बाद शांति की उम्मीद को लेकर शंकित थे।' किताब में लिखा गया है कि 31 मई, 1947 को गांधी ने पठान नेता अब्दुल गफ्फार खान से कहा था कि वह उत्तर पश्चिम फ्रंटियर जाना चाहते हैं और आजादी के बाद यहीं रहना चाहते हैं। अब्दुल गफ्फार खान को 'फ्रंटियर गांधी' के नाम से भी जाना जाता था।

किताब में गांधी जी के हवाले से कहा गया है, 'मैं देश के बंटवारे के पक्ष में नहीं हूं। मैं किसी की अनुमति लेने नहीं जा रहा हूं। अगर कोई इस अवहेलना के लिए मुझे मारना चाहता है, तो मार सकता है। मैं हंसते हुए मौत को स्वीकार कर लूंगा। अगर पाकिस्तान बनता है तो मैं वहीं जाना चाहूंगा, घूमना चाहूंगा, वहां रहना चाहूंगा और यह देखना चाहूंगा कि वे मेरे साथ क्या करते हैं।' अकबर ने कहा उस उतार-चढ़ाव भरे माहौल में गांधी जी का यही पक्ष रहा। उन्होंने लिखा, '50 साल से ज्यादा समय तक वह एक ही बात पर अड़े रहे। उनके भजन में सर्वधर्म, सभी जातियों के लिए सद्भाव, सहिष्णुता और एकता को जगह मिली। चाहे दक्षिण अफ्रीका हो या फिर भारत, अपनी आखिरी सांस तक वह बार-बार यह बताते रहे कि उन्हें हिंदू होने पर गर्व है।' वहीं दूसरी तरफ जिन्ना ने अपने व्यक्तित्व को राजनीतिक लक्ष्य हासिल करने के लिहाज से ढाला। छह दशक तक उन्होंने शायद मुस्लिम धर्म का पालन किया हो। 1937 के बाद वह अचानक से अलग इस्लामिक देश की मांग के अगुवा बन गए। 

 

19-01-2020
कांग्रेस सरकार में थम गए विकास के पहिये : मुदलियार
रा
06:55pm

बीजापुर। भाजपा जिला अध्यक्ष् श्रीनिवास राव मुदलियार ने जिले में हो रहे पंचायत चुनाव के बारे में बताते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी सक्रिय रूप से चुनावी मैदान में जुटी है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की झूटी कांग्रेस सरकार के बनते ही ग्राम पंचायतों से लेकर सम्पूर्ण बीजापुर जिले के विकास को रोक कर भाजपा के कार्यकाल के विकास योजनाओं में स्वीकृत राशि को कांग्रेस सरकार ने वापिस बुला कर फिर एक बार साबित किया कि कांग्रेस की नीति व नियत गरीब जनता के प्रति साफ नही है। उसी प्रकार लोक लुभावने वायदे कर कांग्रेस सत्ता में आई पर किये गए चुनाव पूर्व किसी भी वादे को निभा नही पाई किसानों को 2500 समर्थन मूल्य देने की बात कर आज सरकार मुकर गई। रोज नये नये नियमो का हवाला देकर किसानों को अपना मेहनत से उपज किया हुआ फसल धान को खरीदने से वंचित कर तथा किसानों की धान को बेचने से रोका जा रहा है।

 

Please Wait... News Loading