GLIBS

19-09-2020
ट्रक में छिपा कर ला रहे थे शराब, चेकिंग के दौरान पकड़े गए 2 तस्कर, जब्त की 504 पेटी मदिरा  
10:54pm

महासमुन्द। साइबर सेल ने जिले में अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई करते हुए मध्यप्रदेश की 504 पेटी अवैध देशी और विदेशी शराब के साथ 2 अंतरराज्यीय तस्करों को गिरफ्तार करने में सफलता पाई हैं। पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल ठाकुर, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मेघा टेम्भूरकर ने बताया कि जिले के समस्त थाना,चौकी प्रभारियों को दीगर प्रान्त से आने वाली अवैध शराब मादक पदार्थ पर अंकुश लाने व अवैध शराब बिक्री पर कड़ी कार्यवाही करने निर्देशित किया था। इसके तहत थाना,चौकी प्रभारी व साइबर सेल की टीम दीगर प्रांतों से शराब अवैध मादक पदार्थ रूप से बिक्री संदिग्ध आरोपियों पर नजर रखी हुई थी कि पुलिस अधीक्षक को सूचना मिली कि मध्यप्रदेश से अवैध शराब को महासमुंद में लाकर खपाने वाले है। पुलिस अधीक्षक द्वारा साइबर सेल की टीम एवं थाना प्रभारी तुमगांव को अवैध शराब एवं तस्करों को पकड़ने साइबर सेल की टीम जिले के संदेही शराब तस्करों के गतिविधियों पर विगत दिनों से नजर रखकर मुखबिर के माध्यम से सूचना एकत्रित कर रही थी कि सूचना मिली कि मध्यप्रदेश निर्मित भारी मात्रा में शराब रात्रि में महासमुंद आने वाली है। साइबर सेल की टीम सरायपाली से महासमुंद एवं महासमुंद से कोमाखान तक के संभावित जगहों पर बल तैनात कर दो-तीन दिनों से लगातार दिन व रात में अवैध शराब तस्करी की पता तलाश करने में लगी हुई थी। अंततः साइबर सेल की टीम को राजस्थान पासिंग एक ट्रक क्रमांक महासमुंद में इंटर करते दिखाई दिया। टीम को संदेह हुआ और बिना समय व्यतीत किये उनका पीछा कराना प्रारंभ किया। ट्रक तुमगांव की ओर जा रही थी। टीम उनका पीछा करते गई, ट्रक आगे जाकर एनएच 53 में एक ढ़ाबा के पास रोका गया। वाहन को रोककर चेक करने पर ट्रक में दो व्यक्ति बैठे मिले। इन्होंने अपना नाम देवी सिंग राजपूत उम्र 48 वर्ष निवासी जिला राजसमन्व (राजस्थान) और दूसरे ने अपना मोहनलाल उम्र 60 वर्ष निवासी जिला मंदसौर मध्यप्रदेश बताया। ट्रक को चेक करने पर ट्रक के आगे पीछे सफेद बोरी में चुन्नी खल्ली एवं बीच में कार्टून भरा दिखा मिला। ट्रक को बारिकी से चेक करने पर 399 पेटी मशाला, 50 पेटी देशी प्लेन, 47 पेटी लंदन प्राइड, 8 पेटी आफिसर च्वाइस कुल 504 पेटी अंग्रेजी, देशी अवैध शराब मध्यप्रदेश निर्मित शराब कीमती 30 लाख मिला। उक्त शराब से संबंध में पूछताछ करने पर मध्यप्रदेश से महासमुंद जिले के बसना,सरायपाली क्षेत्र में खपाने के लिए लाया जा बताया गया। आरोपियों के विरूद्ध धारा 34(2) आबकारी अधिनियम के तहत कार्यवाही की जा रही है। 

19-09-2020
Breaking : प्रदेश में गत दो दिनों की तुलना में आज कम आए केस, रायपुर से 780 मरीज मिले, 19 की मौत
10:43pm

रायपुर। प्रदेश में कोरोना की रफ्तार में गत दो दिनों की तुलना में कुछ लगाम जरूर लगी है, लेकिन रायपुर में रफ्तार बरकरार है। प्रदेश में दो दिनों से मिल से 38 सौ से अधिक केस के बाद शनिवार को 2617 कोरोना पॉजिटिव मरीजों की पहचान हुई है। 1176 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया है और 513 मरीजों ने होम आइसोलेशन कम्पलीट किया है। 19 मरीजों की मौत हुई है। प्रदेश में एक्टिव केस 37489 पहुंच चुके हैं। 664 मरीजों की मौत हुई है। स्वास्थ्य विभाग ने रात 10:15 बजे की स्थिति में मेडिकल बुलेटिन जारी की है। आज रायपुर जिले से 780 मरीजों की पहचान हुई है। इसी तरह दुर्ग  से 323, राजनांदगांव से 196, महासमुंद से 184, धमतरी व रायगढ़ से 116-116, सुकमा से 110, दंतेवाड़ा से 106, बालोद से 98, बिलासपुर से 97, सरगुजा से 72, मुंगेली से 60, जांजगीर-चांपा से 57, गरियाबंद से 53, कोरबा से 37, बस्तर से 36, नारायणपुर से 33, सूरजपुर से 31, बलरामपुर से 30, बलौदाबाजार से 25, बेमेतरा से 21, कोरिया से 17, कबीरधाम से 15, अन्य राज्य से 4 मरीज मिले है। मेडिकल बुलेटिन देखने क्लिक करे   

 
 

19-09-2020
अंबिकापुर नगरीय निकाय 21 से 28 सितंबर तक कंटेनमेंट जोन घोषित,जिले की सीमाएं रहेगी सील
10:32pm

अंबिकापुर। नगर पालिक निगम अम्बिकापुर के सम्पूर्ण क्षेत्र को कलेक्टर संजीव कुमार झा ने कंटेनमेंट जोन घोषित किया है। कंटेनमेंट जोन में 21 सितंबर रात 9 बजे से 28 सितम्बर रात्रि 12 बजे तक की अवधि में दंड प्रक्रिया संहिता, 1973 की धारा 144 लागू रहेगी। जारी आदेशानुसार उपरोक्त दर्शित अवधि में सरगुजा जिले की सभी सीमाएं पूर्णतः सील रहेगी। उपरोक्त अवधि में केवल मेडिकल दुकानों को अपने निर्धारित समय में खुलने की अनुमति होगी। मरीज एवं मेडिकल दुकान संचालन दवाओं की होम डिलिवरी व्यवस्था को प्राथमिकता देंगे। पेट्रोल पंप संचालकों द्वारा केवल शासकीय वाहनों व शासकीय कार्य  में प्रयुक्त वाहन, मेडिकल इमरजेन्सी से संबंधित निजी वाहन एवं एम्बुलेंस तथा एलपीजी परिवहन कार्य में प्रयुक्त वाहनों को ही पीओएल प्रदान किया जाएगा। अन्य सभी वाहनों के लिए पीओएल प्रदान करना पर्णतः प्रतिबंधित रहेगा।

केन्द्रीय, शासकीय, अर्द्धशासकीय, निजी कार्यालय बंद रहेगें
दुग्ध पार्लर व वितरण की समयावधि प्रातः 6 बजे से प्रातः 8 बजे तक एवं संध्या 5 बजे से शाम 7 बजे तक ही होगी। साथ ही यह स्पष्ट किया जाता है कि दुग्ध व्यवसाय के लिए कोई भी दुकान एवं पार्लर नही खोले जायेंगे। केवल दुकान एवं पार्लर के सामने फिजिकल डिस्टेंसिंग एवं मास्क संबंधी निर्देशों का पालन करते हुए उपरोक्त समयावधि में केवल दुग्ध विक्रय की अनुमति होगी। पैट शॉप एवं एक्वेरियम को केवल पशुओं को पशुचारा देने के लिए प्रातः 6 बजे से प्रातः 8 बजे तक एवं संध्या 5 बजे से 6.30 बजे तक शॉप खोलने की अनुमति होगी। एलपीजी गैस सिलेन्डर की एजेसिंयों केवल टेलीफोनिक या ऑनलाइन ऑर्डर लेंगे तथा ग्राहकों को सिलेन्डरों की घर पहुंच सेवा उपलब्ध करायेंगे। औद्योगिक संस्थानों एवं निर्माण इकाईयों को अपने कैम्पस के भीतर मजदूरों को रखकर व अन्य आवश्यक व्यवस्था करते हुए उद्योगों के संचालन व निर्माण कार्यों की अनुमति होगी। उक्त अवधि के दौरान सम्पूर्ण नगर पालिक निगम क्षेत्र अंतर्गत संचालित समस्त शराब दुकाने बंद रहेंगी। सभी धार्मिक, सांस्कृतिक एवं पर्यटन स्थल आम जनता के लिए पूर्णतः बंद रहेंगे। उपरोक्त अवधि में नगर निगम अम्बिकापुर क्षेत्र अन्तर्गत सभी केन्द्रीय, शासकीय, अर्द्धशासकीय एवं निजी कार्यालय बंद रहेगें। सभी प्रकार की सभी, जुलूस, आयोजन आदि प्रतिबंधित रहेगें। होम आईसोलेशन में रह रहे कोविड़ पॉजिटिव मरीजों को भोजन की समस्या उत्पन्न होने पर कोविड़ केयर सेंटर आवश्यकतानुसार भेजा जाएगा। आपात स्थिति में मोबाइल नंबर 7999647868, 9770527199, 9340764699, 9340711176 में आवश्यकतानुसार सम्पर्क किया जा सकता है।

4 पहिया वाहनों में ड्राइवर सहित अधिकतम 3 लोग जा सकेंगे
कोविड़ संक्रमण के रोकथाम के लिए नगर निगम अम्बिकापुर में समस्त कार्य जैसे कांटेक्ट ट्रेसिंग, एक्टिव सर्विलांस, होम आइसोलेशन, दवाई, वितरण आदि पूर्वानुसार चलते रहेंगे। इन कार्य में संलग्न सभी शासकीय कर्मचारियों की उपस्थिति पूर्वानुसार अनिवार्य होगी। कोविड केयर सेन्टर से डिस्चार्ज होने वाले मरीजों के परिवहन में संलग्न वाहन पूर्वानुसार पूर्वानुसार संचालित रहेंगे। अपरिहर्य परिस्थितियों में नगर निगम अम्बिकापुर से अन्यत्र जाने वाले यात्रियों को ई-पास के माध्यम से पूर्व अनुमति लिया जाना अनिवार्य होगा।
आपात स्थिति में यात्रा के दौरान 4 पहिया वाहनों में ड्राइवर सहित अधिकतम 3 एवं दो पहिया वाहन में केवल 2 व्यक्तियों को यात्रा की अनुमति होगी। इस निर्देश का उपल्लंघन किए जाने पर 15 दिवस के लिए वाहन जब्त करते हुए चालानी व अन्य कानूनी कार्यवाही की जाएगी। मीडियाकर्मी यथासंभव वर्क फ्राम होम द्वारा कार्य संपादित करेगें। अत्यावश्यक स्थिति में कार्य के लिए बाहर निकलने पर अपना आई-कार्ड साथ रखेगें तथा फिजिकल डिस्टेंसिंग एवं मास्क संबंधी निर्देशों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करेगें। यह आदेश पुलिस महानिरीक्षक कार्यालु, कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक, अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक,  नगर पुलिस अधीक्षक,  मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय एवं उनके अधीनस्थ समस्त कार्यालय, अनुविभागीय दण्डाधिकारी, तहसील, थाना एवं पुलिस चौंकी पर लागू नही होगा। इसके अतिरिक्त कानून व्यवस्था एवं स्वास्थ्य सेवा से संबंधित पदाधिकारी एवं कर्मी, बिजली, पेयजल आपूर्ति एवं नरगपालिका सेवाएं,जिसमें सफाई, सिवरेज एवं कचरे का डिस्पोजल इत्यादि भी शामिल है तथा अग्निशमन सेवाएं। इन शासकीय कार्यालयों में उपरोक्त अवधि में आम जनता का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा। उपरोक्त बिन्दुओं को छोड़कर नगर पालिक निगम अम्बिकापुर में समस्त गतिविधियों पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगी। आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति एवं प्रतिष्ठानों पर भारतीय दण्ड संहिता 1860 की धारा 188 तथा अन्य सुसंगत विधि अनुसार कड़ी कार्यवाही की जाएगी।

 

19-09-2020
व्यवस्था पर ध्यान दीजिए साहब,आखिर जमा करने तो निकलना होगा फिर, क्या संक्रमण का खतरा नहीं ?
10:15pm

रायपुर। कान इधर से पकड़ों या उधर से बात तो एक ही होती है। यह शायद पं.रविशंकर विश्वविद्यालय के कुलसचिव भूल रहे हैं। गत दिनों ही परीक्षार्थियों की उमड़ी भीड़ के कारण आयुक्त उच्च शिक्षा की नाराजगी के बाद उन्होंने उत्तरपुस्तिका वितरण पर रोक लगाई थी। अब जो नई व्यवस्था परीक्षा की और उसके बाद उत्तर पुस्तिकाएं जमा करने की है, वह अभी भी खतरनाक है। विकल्प दिया जाना था, बगैर भीड़ किए यदि महाविद्यालय उत्तर पुस्तिकाएं ले सकते हो तो लेने की व्यवस्था करते। कॉलेजों में एक ड्राप बॉक्स की व्यवस्था होनी चाहिए, जिसमें बच्चे आकर अपना लिफाफा डाल सकें।
बता दें कि परीक्षार्थियों को अपनी उत्तर पुस्तिकाएं स्पीड पोस्ट के माध्यम से भेजने कहा गया है। अब बात फिर वही आती है कि हर जगह बड़े डाकघर नहीं है और जहां है वहां इतनी जगह नहीं की बच्चों की भीड़ ना लगे। स्थिति वही बनेगी ही,यदि लगभग 2500 बच्चे पांच दिन में ही स्पीड पोस्ट के लिए ऐसे डाकघरों में आते हैं तो औसतन हर दिन 500 लोग केवल इसी काम के लिए इकट्ठा होंगे। मतलब कॉलेज में भीड़ ना होकर डाकघर में हो जाएगी।
इस बात पर भी ध्यान देना होगा कि क्या सही समय पर बच्चों की उत्तर पुस्तिकाएं पहुंच पाएगी। डाक विभाग तो इतनी बड़ी संख्या में स्पीड पोस्ट कर पाने में असमर्थता व्यक्त करेगा। ग्रामीण अंचल में जो डाकघर है वो कम समय तक ही स्पीड पोस्ट का समय देते हैं। क्या इस पर सोचने की आवश्यकता नहीं! अब 21 सितंबर से 28 सितंबर तक रायपुर और बिलासपुर जिले में लॉक डाउन होने के कारण छात्र डाकघर  कैसे जा पाएंगे? ऐसे में क्या ऑनलाइन ही बच्चों से उत्तर पुस्तिकाओं को मंगाना उचित नहीं। लॉक डाउन की अवधि में वृद्धि भी हो सकती है। इस संबध में डाक विभाग पर आश्रित होने के बजाए व्यवहारिक निर्णय होना चाहिए ताकि छात्रों को बाहर निकलने से संक्रमण का खतरा न रहे।

 

19-09-2020
जिले में आज 65 नए कोरोना मरीजों की पहचान, 20 स्वस्थ...
10:09pm

धमतरी। कोरोना का कहर जारी है। जिले में शनिवार को 65 नए कोरोना पॉजिटिव मरीजों की पहचान हुई है। इसमें बच्चे से लेकर बुजुर्ग तक शामिल है। वहीं शुक्रवार की रात 40 नए संक्रमित मरीजों की पहचान की गई थी। जिला मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ डी.के तुर्रे ने बताया कि धमतरी शहर में आज 21 संक्रमित मरीज मिले है जिसमें गुजराती कॉलोनी से 1, हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी से 2, सिहावा रोड से 1, कोष्टापारा से 2, बनियापारा से 4 ,सदर बाजार से 2, विवेकानंद नगर से 1, पोस्ट ऑफिस वार्ड से 1, टिकरापारा से 1, रेलवे कॉलोनी से 1, मराठा पारा से 4 व 1 धमतरी से संक्रमित मरीजों की पहचान की गई है।

धमतरी ग्रामीण
गुजरा बीएमओ डॉ वंदना व्यास ने बताया कि आज 13 संक्रमित मरीजों की पहचान की गई है जिसमें से पोटीयाडीह से 1, अर्जुनी सीएसईबी से 2, गोपालपुरी से 3,ढीमरटीकुर से 1,अर्जुनी से 1, संबलपुर से 2, बेन्द्रानवागांव से 2, उसलापुर से 1 संक्रमित मरीजों की पहचान की गई है। 


कुरुद
कुरूद बीएमओ यूएस नवरत्न ने बताया कि आज कुरूद ब्लाक में 24 संक्रमित मिले हैं।जिसमे कुरूद से 9, कोटगांव से 1, गोजी से 2, चरोटा से 1, बोरझरा से 1, गागरा से 1, चर्रा से 1, लोहारपथरा से 1, बगौद से 1, सेमरा से 1, जीजामगांव से 1 एवं 4 अन्य जगह से संक्रमित मरीजों की पहचान की गई है। 

मगरलोड
मगरलोड बीएमओ शारदा ठाकुर ने बताया कि आज ब्लॉक से 2 संक्रमित मिले हैं जिसमें हसदा से 2 एक ही परिवार से संक्रमित की पहचान की गई है।


नगरी
नगरी के बीएमओ ने बताया कि आज नगरी ब्लॉक में 06 संक्रमित मिले है। 
जिले में अब तक मिले कुल संक्रमितों की संख्या 1497 हो चुकी है,जिसमें से एक्टिव केस की संख्या 837 है। धमतरी कोविड-19 अस्पताल में 60 मरीजों का उपचार किया जा रहा है। वहीं 20 लोगो को स्वस्थ्य होने के बाद डिस्चार्ज किया गया है,कुल 639 लोगों को डिस्चार्ज किया जा चुका है।

19-09-2020
रोटरी क्लब ऑफ़ रायपुर ग्रेटर के अध्यक्ष डॉ. एसके शर्मा का निधन
09:53pm

रायपुर। रोटरी क्लब ऑफ़ रायपुर ग्रेटर के अध्यक्ष डॉ. एसके शर्मा का शनिवार को एम्स रायपुर में निधन हो गया है। परसो ही उनकी कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट नेगेटिव आई थी। वे पिछले 13 दिनों से कोविड के कारण एम्स में वेंटिलेटर पर थे। आज सुबह तबियत ख़राब हो गई थी और  हार्ट अटैक आने से उनका निधन हो गया। उनका निधन रोटरी क्लब के लिए अपूरणीय क्षति है। वे अत्यंत ही बहुत मृदुभाषी, मिलनसार व सबके लिए सुलभ सहज थे। ज्ञात हो कि डॉ एस.के. शर्मा सफल व्यवसायी तथा समाजसेवी के रूप में प्रतिष्ठित थे। रोटरी क्लब ऑफ़ रायपुर ग्रेटर के उपाध्यक्ष ऋषि गुप्ता, सचिव अमित अग्रवाल, सहसचिव रविकांत यादव, के. पाणिग्रही, मुनीश सग्गर, सुशील बड़वानी, रंजन नथानी, योगेश बेरीवाल, हरजीत हुरा, किशोर जादवानी, पंकज चोपड़ा, विवेक रंजन गुप्ता, बसंत अग्रवाल, नवीन गोयल, राजेंद्र सुराना, विजय गर्ग, संकल्प वरवंडकर, शिरीष शर्मा, राहुल जाधव, राजेश चौरसिया, राज दुबे, राकेश दुबे, राजू राठी, अजय तिवारी, रितेश जिंदल, प्रीतपाल अरोरा, आलोक महावार, विनय अग्रवाल, मिथलेश बुरमारकर, सतीश मैत्री, राजेश लुनिया, तरुण अग्रवाल, जसप्रीत सिंह, आशीष अहलुवालिआ, मनीष अग्रवाल, ओम अग्रवाल एवं क्लब के अन्य पदाधिकारी की ओर श्रद्धांजलि दी गई। 

19-09-2020
किसानों की चिंता है तो हरेक फसल का ज्यादा से ज्यादा समर्थन मूल्य घोषित करे मोदी सरकार : राजेंद्र साहू    
रा
09:32pm

दुर्ग। प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री राजेंद्र साहू ने केंद्र सरकार के कृषि विधेयक को किसान विरोधी बताते हुए कहा है कि इससे देश के लाखों किसानों को जबर्दस्त आर्थिक नुकसान होगा। राजेंद्र ने कहा कि यह विधेयक किसान विरोधी होने के साथ-साथ जनविरोधी भी है। कृषि विधेयक से कार्पोरेट घराने मुनाफा कमाएंगे जबकि किसान एग्रीमेंट के जाल में फंस जाएंगे। किसानों को उनकी फसल का उचित मूल्य तक नहीं मिल पाएगा। राजेंद्र साहू ने कहा कि इस विधेयक के लागू होने पर कार्पोरेट घराने किसानों से एग्रीमेंट करेंगे। किसानों की फसल या उपज खरीदकर पूंजीपति घराने जमाखोरी करेंगे। भरपूर भंडारण करने के बाद कालाबाजारी भी करेंगे और मुनाफा कमाएंगे। कार्पोरेट घरानों के शिकंजे में आने से किसानों को अपनी खेती की जमीन से भी वंचित होना पड़ सकता है। उन्होंने कहा कि सहकारी समितियां और कृषि उपज मंडी किसानों को संबल प्रदान करते हैं। केंद्र सरकार के विधेयक से सहकारी समिति संस्था और मंडी व्यवस्था धीरे-धीरे समाप्त हो जाएगी। कृषि विधेयक के आने से सहकारी समितियों के माध्यम से बीज-खाद खरीदी और नगद ऋण लेने की व्यवस्था के साथ समर्थन मूल्य पर फसल खरीदी व्यवस्था पर प्रतिकूल असर पड़ेगा। राजेंद्र साहू ने कहा कि अगर मोदी सरकार को वास्तव में किसानों की फिक्र है और किसानों को सही मायनों में लाभ पहुंचाना चाहते हैं तो किसानों की हर फसल का समर्थन मूल्य ज्यादा से ज्यादा बढ़ाने का साहसिक फैसला करें। पूरे देश में किसानों की हर फसल की खरीदी बढ़े हुए समर्थन मूल्य पर करने से संबंधित विधेयक लाएं। केंद्र सरकार किसान विरोधी कृषि विधेयक लाकर किसानों और देशवासियों पर कुठाराघात करने वाले फैसले लेना बंद करे।

 

 

Please Wait... News Loading