GLIBS
दुष्कर्म के आरोपी कथित भाजपा नेता को बचाने कांग्रेसी ने की मदद 

बीजापुर। नाबालिग लड़की के साथ बलात्कार कर उसका वीडियो वायरल करने के आरोपी प्रकाश मलिक को बचाने के मामले में एक सनसनीखेज खबर सामने आई है। खबर है कि बीजापुर के भोपालपटनम में कथित भाजपा नेता को बचाने एक कांग्रेसी नेता ने पीड़ित युवती के माता-पिता को पैसे की पेशकश कर मामला वापस लेने का दबाव बनाया। कांग्रेस नेता के इस प्रस्ताव पर पीड़िता के माता-पिता ने नाराजगी जताई और उसे जमकर खरी-खोटी भी सुनाई। उनका गुस्सा देखकर कांग्रेसी नेता उल्टे पांव वापस लौट गया। फिर उसने मामला तूल पकड़ता देख भाजपा नेता को बीजापुर से बाहर निकालने में मदद भी की। 

इस मामले में पुलिस ने अब तक आरोपी प्रकाश मलिक को गिरफ्तार नहीं किया है। पीड़ित के परिजनों ने जल्द से जल्द आरोपी को गिरफ्तार कर न्याय दिलाने की मांग की है। एक दिन पहले ही कांग्रेस नेत्री व राज्य सभा सांसद छाया वर्मा ने वन मंत्री महेश गागड़ा पर आरोपी को संरक्षण देने का आरोप लगाया था।

विकास नाम की चिड़िया लापता होने की कांग्रेस ने थाने में दर्ज कराई शिकायत

रायगढ़। विकास की चिड़िया को लेकर प्रदेश में राजनीति गरमा रही है। रायगढ़ शहर जिला अध्यक्ष जयंत ठेठवार ने कोतवाली थाने में शिकायत दर्ज कराई है कि विकास नाम की चिड़िया लापता हो गई है उसे खोजा जाए। अपने शिकायत में में जयंत ने कहा है कि मुख्यमंत्री डा.रमन सिंह ने लोगों को सलाह दी है कि विकास किस चिड़िया का नाम है यह कांग्रेस पार्टी से पूछो। कांग्रेस ने पूरे प्रदेश में तलाश करने में पाया कि विकास नाम की चिड़िया लापता हो गई है। एेसे में मामला दर्ज कर विकास नाम की चिड़िया की तलाश की जाए।

 

जब तक बीमे की मांग पूरी नहीं होगी तब तक आंदोलन जारी रहेगा : विनोद तिवारी

रायपुर। नक्सल क्षेत्र में तैनात जवानों का बीमा 1 करोड़ करने की मांग को लेकर युवा जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ ने मुंह पर काली पट्टी बांधकर विरोध जताया है। डॉ. रमन सिंह ने अपने बयान में कहा- मैं नक्सलियों से बात करने तैयार पर उनके टॉप लीडर्स मिलने आए। इस बयान पर कटाक्ष करते हुए युवा जनता कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष विनोद तिवारी ने कहा कि मुख्यमंत्री नक्सली से बात करने तैयार हैं पर जवानों के एक करोड़ बीमे की मांग पर खामोश रहना शर्मनाक है। विनोद तिवारी ने कहा जब तक बीमे की मांग पूरी नहीं हो जाती तब तक मुहिम जारी रहेगी।

बयान के विरोध में युवा जनता कांग्रेस ने सीएम से पूछे सवाल

- नक्सलियों की इतनी चिंता क्यूं?

- शहीद के परिजनों की उपेक्षा क्यूं?

- जवानों का बीमा 1 करोड़ क्यूं नहीं?

- बीमे की मांग करने वाले युवाओं पर थानों में अपराध दर्ज करवाए जा रहे है क्यूं?

- एमपी में शहीद के परिजनों को 1 करोड़ तो छत्तीसगढ़ में नहीं क्यूं?

- 11 चरणों में हो चुका आंदोलन फिर भी सरकार मौन क्यूं?

मरवाही, कोटा, तखतपुर में होगा कांग्रेस का संकल्प शिविर

रायपुर। बिलासपुर संभाग में कांग्रेस का 11 विधानसभा क्षेत्रों में संकल्प शिविर हो चुका हैं। 21 अप्रैल को पेण्ड्रा में मरवाही विधानसभा का संकल्प शिविर होगा . जिसमें अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सचिव और छत्तीसगढ़ के प्रभारी चंदन यादव, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल, कांग्रेस विधायक दल के नेता टीएस सिंहदेव, पूर्व केन्द्रीय राज्य मंत्री चरणदास महंत, प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष रामदयाल उइके, प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री और प्रशिक्षण प्रभारी राजेश तिवारी सहित वरिष्ठ नेता हिस्सा लेंगे। 22 अप्रैल को कोटा विधानसभा क्षेत्र और तखतपुर विधानसभा क्षेत्र का संकल्प प्रशिक्षण शिविर आयोजित होगा।

भूपेश बघेल का दौरा कार्यक्रम

भूपेश बघेल 20 अप्रैल को दोपहर 12 बजे भिलाई से ग्राम कल्लू टोला, जिला राजनांदगांव के लिए प्रस्थान करेंगे। दोपहर 2 बजे कल्लूटोला पहुंचकर वहां आयोजित सामाजिक आदर्श विवाह समारोह में शामिल लेंगे। दोपहर 3 बजे कल्लूटोला से राजनांदगांव के प्रस्थान करेंगे और राजनांदगांव पहुंचकर स्व. विजय पाण्डेय के अंतिम संस्कार में शामिल होंगे। शाम 5 बजे राजनांदगांव से ग्राम तोरला, जिला रायपुर के लिए प्रस्थान करेंगे। शाम 7 बजे तोरला पहुंचकर स्थानीय कार्यक्रम में भाग लेंगे। रात्रि 7.30 बजे तोरला से बलौदाबाजार के लिए प्रस्थान करेंगे तथा रात्रि 9 बजे बलौदाबाजार पहुंचकर जनकराम वर्मा विधायक के पारिवारिक वैवाहिक कार्यक्रम में शामिल होंगे। रात्रि 10 बजे बलौदाबाजार से बिलासपुर के लिए प्रस्थान करेंगे। 

डाॅ. शिवकुमार डहरिया का दौरा कार्यक्रम

डा. शिव डहरिया 20 अप्रैल को शाम 4 बजे रायपुर से ग्राम कागदेही (आरंग) के लिए प्रस्थान करेंगे तथा शाम 5 बजे कागदेही पहुंचकर स्थानीय कार्यक्रम में भाग लेंगे। शाम 7 बजे कागदेही से बलौदाबाजार पहुंचकर स्थानीय कार्यक्रम में भाग लेंगे तथा रात्रि 8 बजे बलौदाबाजार से ग्राम तोरला, जिला रायपुर के लिए प्रस्थान करेंगे एवं तोरला के स्थानीय कार्यक्रम में भाग लेने के बाद रात्रि 11 बजे रायपुर के लिए प्रस्थान करेंगे।

रामदयाल उइके, कार्यकारी अध्यक्ष प्रदेश कांग्रेस कमेटी का दौरा कार्यक्रम

21 अप्रेल शनिवार को प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष रामदयाल उइके सुबह 8 बजे बिलासपुर से मरवाही के लिए प्रस्थान करेंगे। सुबह 11 बजे मरवाही पहुंचकर वहां आयोजित विधानसभा स्तरीय संकल्प शिविर में भाग लेंगे तथा शाम 5 बजे मरवाही से बिलासपुर के लिए प्रस्थान करेंगे तथा रात्रि विश्राम बिलासपुर में करेंगे।  22 अप्रेल रविवार को प्रातः 10.30 बजे बिलासपुर से कोटा के लिए प्रस्थान करेंगे तथा 11 बजे कोटा पहुंचकर कोटा में आयोजित विधानसभा स्तरीय संकल्प शिविर में भाग लेंगे। अपरान्ह 3.30 बजे कोटा से तखतपुर के लिए प्रस्थान करेंगे। शाम 4 बजे तखतपुर में आयोजित विधानसभा स्तरीय संकल्प शिविर में भाग लेंगे तथा शाम 6.30 बजे तखतपुर से बिलासपुर पहुंचकर स्थानीय कार्यक्रम में भाग लेंगे।

शिव और उइके ने कांग्रेस प्रदेश नेतृत्व को दी जानकारी, रद्द हुई कांफ्रेंस 25 अप्रैल को संभावित !

रायपुर। सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष डा. शिव डहरिया औरम को एट्रोसिटी एक्ट के मामले में शुक्रवार को प्रेसवार्ता करना था लेकिन उसी समय राज्यसभा सांसद छाया वर्मा की प्रेसवार्ता कराए जाने से दोनों नेता नाराज हो गए और उन्होंने कांग्रेस मीडिया विभाग के अध्यक्ष शैलेष नितिन त्रिवेदी के खिलाफ जमकर नाराजगी जताई । बताते हैं कि दोनों नेताओं ने इस मामले की जानकारी प्रदेश नेतृत्व को भी दी है। वहीं पार्टी हाईकमान में भी शिकायत करने की तैयारी है। फिलहाल शुक्रवार को रद्द हुई प्रेस वार्ता अब 25 अप्रैल को हो सकती है। इस दौरान वे एट्रोसिटी एक्ट को लेकर पत्रकारों से चर्चा करेंगे। इसके अलावा अनुसूचित जनजाति एवं अनुसूचित जाति के मामले को लेकर राज्य सरकार को घेरने की कोशिश की जाएगी। 

20-04-2018
Exclusive: रेरा में आठ बिल्डरों के खिलाफ शिकायत, होगी बड़ी कार्रवाई

रायपुर। प्रापर्टी डीलर्स और बिल्डरों की मनमानी पर लगाम लगाने रेरा अब बड़ी कार्रवाई करने जा रही है। रेरा में आठ आवेदकों ने प्रापर्टी डीलर्स और बिल्डरों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। इसके तहत रेरा के अफसरों ने सुनवाई शुरू कर दी है, इसमें जल्द कार्रवाई की जाएगी। 

रेरा के संचालक अजय कुमार अग्रवाल ने बताया कि प्रापर्टी डिलर्स और बिल्डरों की मनमानी शुरू हो गई थी इसकी शिकायत और कार्रवाई करने के लिए शासन द्वारा रेरा का गठन किया गया है। इसमें पीड़ित पक्ष दस्तावेज के साथ बिल्डरों की शिकायत कर सकते हैं। दोषी पाए जाने पर बिल्डर और प्रापर्टी डीलर के खिलाफ कार्रवाई और फाईन का प्रवाधान है। रेरा की शुरूआत नहीं होने से पहले बिल्डर और प्रापर्टी डिलर मनमानी करते हुए किसी की भी जमीन को बेच देते थे और किसी भी मकान को बगैर पजेशन बेच देते थे। इससे मकान जमीन लेने वालों को परेशानी हो रही थी। अब इनका सीधे निदान रेरा में होगा। इसमें पीड़ित पक्ष पूरा दस्तावेजों के साथ लिखित शिकायत कर सकते हैं, जिसमें पूरा न्याया मिलेगा। रेरा में अभी तक आठ शिकायतें आ चुकी है और इसकी सुनवाई भी शुरु कर दी गई है, जल्द ही सुनवाई होने पर पीड़ितों को न्याय मिलेगा। 

बिल्डर और प्रापर्टी डीलरों को कराना होगा पंजीयन 

जमीन मकान बेचने वाले प्रपार्टी डीलर और बिल्डरों को पंजीयन करवाकर मकान -जमीन बेचने खरीदने का कारोबार करना होगा। जिनके पास पंजीयन नहीं होगा उनके खिलाफ रेरा नियम एक्ट के तहत शासन कार्रवाई करेगा।

31 मई तक कराना होगा पंजीयन 

बिल्डर और प्रापर्टी डीलरों को रेरा ने 31 मई तक का समय दिया है। 31 मई के बाद रेरा जिन बिल्डर और प्रापर्टी डीलरों ने पंजीयन नहीं करवाया होगा एेसे बिल्डरों और प्रापर्टी डीलरों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। 

रेरा में शिकायत करने लगेगा शुल्क 

रेरा में शिकायत करने वालों को प्रारुप एम के साथ एक हजार रुपए शुल्क जमा करना होगा। शुल्क और फार्म जमा करने के साथ दो व्यक्यिों के नाम और पता भी फार्म में दर्शना होगा।  इसके बाद रेरा में जांच पड़ताल की जाएगी। गड़बड़ी पाए जाने पर कार्रवाई होगी।

कृषि विकास केन्द्र 10-10 गांव गोद लेकर किसानों और युवाओं को दें प्रशिक्षण : डॉ. सिंह

रायपुर। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि कृषि विज्ञान केन्द्रों से अधिक से अधिक किसानों और युवाओं को जोड़कर कृषि और इससे जुड़ी गतिविधियों में प्रशिक्षण दिया जाए। उन्होंने कहा कि प्रत्येक कृषि विज्ञान केन्द्र आस-पास के 10-10 गांवों को गोद ले और वहां किसानों और युवाओं को कृषि, उद्यानिकी, फिशरीज आदि के बारे में प्रशिक्षित करें, इससे कृषि तकनीकों को गांवों तक पहुंचाने में मदद मिलेगी। डॉ. सिंह शुक्रवार को अपने निवास कार्यालय में राज्य योजना आयोग की कृषि टास्क फोर्स स्थाई कार्य समूह की बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। बैठक में किसानों की आय में वृद्धि के लिए कृषि और इससे जुड़े गतिविधियों में बदलाव लाने के लिए राज्य योजना आयोग द्वारा गठित कृषि टास्क फोर्स की स्थाई कार्य समूहों की अनुशंसा का भी प्रस्तुतिकरण किया गया। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि स्काई योजना में 50 लाख परिवारों को स्मार्ट फोन देने जा रहे हैं। इस फोन के जरिए कृषि संबंधी जानकारी के लिए जरूरी एप्लीकेशन तैयार किया जाए। उन्होंने कहा कि स्कूली स्तर पर कृषि के प्रति विद्यार्थियों में आकर्षण बढ़ने के लिए कृषि से जुड़ी बातें और इससे होने वाले फायदे के संबंध स्कूली स्तर पर पहल की जाए जिससे शुरू से ही विद्यार्थियों में कृषि के प्रति जुड़ाव पैदा हो सके। मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों को पंचायतों में ग्राम सभाओं के माध्यम से कृषि से जुड़ी तकनीकों की जानकारी भी दी जा सकती है। उन्होंने कहा कि गांव के पढ़े-लिखे युवाओं को कृषि विज्ञान केन्द्रों के माध्यम से प्रशिक्षित कर मनरेगा में काम उपलब्ध कराया जा सकता है। 

इस अवसर पर बैठक में राज्य योजना आयोग के उपाध्यक्ष  सुनील कुमार अशासकीय सदस्य प्रोफेसर दिनेश मारोथिया सहित कृषि टास्क फोर्स स्थाई कार्य समूह के अध्यक्षों में एसके पाटिल कुलपति इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय रायपुर डॉ. पीके जोशी डायरेक्टर साउथ एशिया इन्टरनेशनल फूड पॉलिसी रिसर्च इंस्टीट्यूट नई दिल्ली, प्रोफेसर सुखपाल सिंह आई.आई.एम. अहमदाबाद, डॉ. व्ही.पी.सिंह सीनियर एडवाइजर फार पालिसी एण्ड डेवलेपमेंट आई.सी.आर.एफ. साउथ एशिया नई दिल्ली, डॉ. विश्व वल्लभ प्रोफेसर एण्ड कोआडिनेटर सी.आर.एम. स्कूल आफ बिजनेस एण्ड ह्यूमन रिसोर्सेस एक्स.एल.आर.आई.जमशेदपुर प्रोफेसर ब्रिज गोपाल कोआर्डिनेटर सेन्टर फार इनलेण्ड वाटर्स इन साउथ एशिया जयपुर और मुख्यमंत्री के विशेष सचिव मुकेश बंसल मौजूद थे। 

 

नाराज कांग्रेस नेताओं को मनाने पहुंची छाया वर्मा

रायपुर। बिना सूचना के प्रेस वार्ता को रद्द करने से नाराज कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष डा. शिव डहरिया और रामदयाल उइके को मनाने के लिए कांग्रेस की राज्यसभा सांसद छाया वर्मा न्यू सर्किट हाऊस पहुंची है। हालांकि इस मामले में कांग्रेस मीडिया विभाग के अध्यक्ष शैलेष नितिन त्रिवेदी ने कहा कि यह महज गलतफहमी की वजह से हुई है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में महिला अत्याचार के मामले में छाया वर्मा को बाईट (बयान) देना था इसके लिए वे मीडिया से रूबरू हो रही थी इस दौरान दोनों नेता कांग्रेस भवन पहुंचे। लेकिन गलतफहमी की वजह से वे बिना पत्रकारों से चर्चा किए कांग्रेस भवन से चले गए। शैलेष नितिन त्रिवेदी ने पूरे मामले में खेद जताया है। लेकिन कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्षों का गुस्सा शांत नहीं हुआ है और वे दोनों कांग्रेस भवन से निकलकर सीधे न्यू सर्किट हाऊस आ गए हैं, उन्हें मनाने के लिए कांग्रेस की राज्यसभा सांसद छाया वर्मा पहुंची है।

फेसबुक में लगेगा बाबा का दरबार, प्रदेश से जुड़े मुद्दों पर होंगे सवाल

रायपुर। नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव शनिवार से फेसबुक में एक नई शुरुआत करने जा रहे है। छत्तीसगढ़ की बात बाबा के साथ नाम से शुरु हो रहे इस नए कार्यक्रम में प्रदेश से जुड़े किसी भी मुद्दों पर चर्चा की जा सकती है। इसके लिए शनिवार का दिन तय किया गया है।  सिंहदेव अब हर शनिवार को फेसबुक पेज पर लाइव रहेंगे। नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव ने अपने फेसबुक पेज में जानकारी शेयर करते हुए लिखा है कि जनता से जुड़ने के लिए एक कदम और बढ़ाते हुए छत्तीसगढ़ की बात बाबा के साथ नामक कार्यक्रम से एक नई शुरुआत कर रहे हैं। इस कार्यक्रम में आप प्रदेश से जुड़े किसी भी मुद्दे पर अपने सवाल हमारे फेसबुक पेज के माध्यम से पूछ सकते हैं। हम आपके प्रश्नों के जवाब के साथ हर सप्ताह शानिवा को हाज़िर रहेंगे।

अंबेडकर अस्पताल के जूनियर डाक्टर अनिश्चित हड़ताल पर, मरीज परेशान

रायपुर। आंबेडकर अस्पताल के जूनियर डाक्टरो ने शुक्रवार से अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरु कर दिया है।  अपनी आठ अलग-अलग मांगों को लेकर जूडो ने आंदोलन कर रहे हैं। पिछले दिनों किडनी वार्ड में डाक्टर के साथ मारपीट व विवाद के बाद से ही डाक्टर काफी आक्रोशित थे, हालांकि उस दौरान ही दोषियों के खिलाफ कार्रवाई ना करने की सूरत में हड़ताल पर जाने का ऐलान कर दिया था, लेकिन कार्रवाई के बाद जूडो का गुस्सा शांत पड़ गया। हालांकि इसी बीच आरोपी को जमानत मिल गयी, जिससे एक बार फिर जूडो का गुस्सा भड़क गया। और अब वो  हड़ताल पर चले गये हैं। इस हड़ताल से इमरजेंसी सेवा शुुरू रहेगी लेकिन बाकी सेवाओं पर असर देखा जा रहा है। अस्पताल पहुंच रहे मरीज स्वास्थ्य सुविधा नहीं मिलने से परेशान है। 

जूडों की प्रमुख मांग

1. आरोपी को जमानत दिये जाने के खिलाफ हाईकोर्ट में अपील करने। 

2. मरीजों के साथ रहने वाले परिजनों की संख्या सुनिश्चित करने। 

3. वार्डों में सुरक्षा गार्ड की तैनाती करने, सभी वार्डों में सीसीटीवी लगाने। 

4. वार्ड में हर वक्त सिक्युरिटी गार्ड के राउंड लगाने। 

5. स्टाफ की कमियों को दूर करने। 

6. अस्पताल परिसर में बने पुलिस चौकी में पुलिस बल तैनात करने और वार्डों में इमरजेंसी हेल्प लाइन देने । 

 

Please Wait... News Loading
Visitor No.