GLIBS
जीएसटी काउंसिल का बड़ा ऐलान, टैक्स फ्री हुआ सैनेटरी नैपकिन

नई दिल्ली। जीएसटी काउंसिल की बैठक में महिलाओं के हित में बड़ा फैसला लिया गया है। काउंसिल ने सेनेटरी नैपकिन पर लगने वाले जीएसटी को पूरी तरह से माफ कर दिया है। वहीं कारोबारियों को भी बड़ी राहत दी गई है। दिल्ली के वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया ने बताया की काउंसिल ने कई महीनों से चली आ रही महिलाओं की मांग को मानते हुए सेनेटरी नैपकिन पर लगने वाले कर को पूरी तरह से माफ कर दिया है। वित्त मंत्री पीयूष गोयल की अध्यक्षता में दिल्ली के विज्ञान भवन में परिष्द की 28वीं बैठक हुई।

इसके अलावा झाडू़, स्टोन, मार्बल, राखी, लकड़ी की मूर्तियों को जीएसटी से बाहर रखा गया है। वहीं फॉस्फेथरिक एसिड, हैंडलूम के अलावा 1000 रुपये तक के फुटवियर को 5 फीसदी के स्लै ब में रखा गया है। बता दें कि पहले 500 रुपये तक के फुटवियर इस स्लैाब में आते हैं। वहीं बांस की फ्लोरिंग पर जीएसटी 18 फीसदी से घटाकर 12 फीसदी किया गया। पेट्रोल में इस्तेमाल होने वाले एथेनॉल पर जीएसटी 18 फीसदी से घटाकर 5 फीसदी किया गया। टीवी फ्रिज वॉशिंग मशीन पर जीएसटी 28 फीसदी से 18 फीसदी किया गया है।

जीएसटी परिषद की पहले की बैठकों में प्राकृतिक गैस को जीएसटी में शामिल करने का मसला उठा था, लेकिन उस समय इस पर कोई फैसला नहीं हो पाया था। उस वक्त गुजरात, आंध्र प्रदेश, उत्तर प्रदेश सहित कुछ राज्यों ने इसे जीएसटी के दायरे से अलग ही रखने की वकालत की थी।वहीं काउंसिल ने कारोबारियों की सुविधा के लिए सिंगल रिटर्न फॉर्म को लागू करने के लिए एक ब्लूप्रिंट तैयार कर लिया है, जिसको चरणबद्ध तरीके से पूरे देश में 6 से 12 महीनों के बीच लागू कर दिया जाएगा

जीएसटी के 80 लाख छोटे करदाताओं को बड़ी राहत वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) परिषद की शनिवार को नई दिल्ली में हुई बैठक में डेढ़ करोड़ से कम टर्नओवर वाले करीब 80 लाख व्यापारियों को बड़ी राहत दी गई है। ऐसे करदाता अब कर का भुगतान तोोप्रति माह करेंगे, मगर इन्हें त्रैमासिक रिटर्न दाखिल करने की सुविधा होगी। ऐसे करदाताओं की संख्या कुल करदाताओं की 93 प्रतिशत है। इन छोटे डीलरों से कुल राजस्व का 16 प्रतिशत की प्राप्ति होती है।

राजधानी में होगा टेनिस अकादमी का निर्माण, पहले अनुपूरक बजट में एक करोड़ रूपए का प्रावधान

रायपुर। टेनिस के खेल को बढ़ावा देने और खिलाड़ियों को प्रशिक्षण देने के लिए छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में राज्य सरकार द्वारा टेनिस अकादमी की स्थापना की जाएगी। इसके लिए अधोसंरचनाओं के निर्माण पर लगभग 13 करोड़ रूपए की लागत अनुमानित है। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने इसके लिए चालू वित्तीय वर्ष 2018-19 के प्रथम अनुपूरक बजट में एक करोड़ रूपए का प्रावधान करने की घोषणा की है।

खेल और युवा कल्याण विभाग के अधिकारियों ने आज यहां बताया कि अकादमी की स्थापना के लिए कार्रवाई शुरू हो गई हैं। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार ने इसके पहले वित्तीय वर्ष 2014-15 में राजधानी रायपुर में हॉकी और तीरंदाजी की खेल अकादमी की स्वीकृति प्रदान की गई थी। इस अकादमी में स्थानीय खिलाड़ियों का प्रशिक्षण शुरू हो गया है। अधिकारियों ने बताया कि राज्य शासन द्वारा हॉकी और तीरंदाजी के प्रशिक्षकों के 15 पद मंजूर किए गए हैं। इन पदों पर भर्ती के बाद खेल अकादमी की बोर्डिंग योजना भी शुरू की जाएगी।

अधिकारियों ने बताया कि इसके अलावा संभागीय मुख्यालय बिलासपुर में लगभग 112 करोड़ रूपए की लागत से राज्य खेल प्रशिक्षण केन्द्र का भी निर्माण किया जा रहा है। इस राशि की प्रशासकीय स्वीकृति जारी कर दी गई है। राज्य खेल प्रशिक्षण केन्द्र में आउटडोर तथा इंडोर स्टेडियमों का निर्माण किया जा रहा है। इस केन्द्र में एथलेटिक ट्रैक, सिंथेटिक सतह के हॉकी मैदान सहित इंडोर खेलों के लिए भी व्यवस्था रहेगी। राज्य खेल प्रशिक्षण केन्द्र बिलासपुर के लिए बजट और पदों की स्वीकृति पहले ही दी जा चुकी है। प्रदेश सरकार द्वारा वर्ष 2017-18 में अपनी खेल नीति जारी कर दी है।

Video: साफ नियत व सही विकास के साथ आगे बढ़ रही भाजपा सरकार : रामविचार नेताम

नई दिल्ली। राज्य सभा मेंगुरुवार को केंद्र सरकार की भ्रष्टाचार निवारण विधेयक 2013 प्रस्तुत किया गया। जिसके समर्थन में छत्तीसगढ़ से राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम भी शामिल हुए।

इस दौरान रामविचार नेताम ने कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि कांग्रेस शासन में जितने भ्रष्टाचार हुए आज इस सदन में किसी से नहीं छुपा है। जिस प्रकार खनन के साथ अनेक क्षेत्र में भ्रष्टाचार हुआ है उसे आज पूरे देश की जनता जानती है। कांग्रेस कहती है कि केन्द्र सरकार ने इन चार सालों में कोई काम नहीं किया शायद इसलिए भाजपा को देश की जनता हर राज्य में लगातार जीत दिला रही है। और मैं कांग्रेस को याद दिलाना चाहूंगा कि नरेंद्र मोदी की नेतृत्व वाली सरकार को चार वर्ष पूर्ण होने को हैं लेकिन आज केंद्र सरकार और एक भी मंत्री पर कोई भी भ्रष्टाचार का आरोप नहीं लगा।

उन्होंने कहा साफ नियत व सही विकास के साथ भाजपा सरकार आगे बढ़ रही है। राफेल डील पर दिए जा रहे बयानो पर नेताम ने कांग्रेस को नसीहत देते हुए कहा कि भाजपा सरकार के आने से पारदर्शिता बढ़ी है। जिसे कांग्रेस नहीं देख पा रही है।

श्री नेताम ने संशोधन बिल पर जानकारी देते हुए बताया कि संशोधित बिल में सजा के प्रावधान न्यूनतम 6 महिने से बढ़ाकर 3 वर्ष अधिकतम 5 वर्ष से बढ़ाकर 7 वर्ष की गई है। साथ ही सरकारी कर्मचारियों द्वारा किए जाने वाले भ्रष्टाचार के रोकने के लिए व्यक्तियों से लेकर वाणिज्य संस्थाओं को प्रावधान के दायरे में लाया जा रहा है। श्री नेताम ने जानकारी दी कि बिल में वाणिज्य संगठनों से जुड़े व्यक्तियों को सरकारी कर्मचारी को घूस देने से रोकने के लिए दिशा निर्देश जारी करने के प्रावधान हैं। तथा पिछले 4 वर्ष में पीसी अधिनियम के तहत मामलों की औसत सुवनाई की अवधि 8 वर्ष से अधिक है जिसमें दो वर्ष को भीतर त्वरित सुनवाई सुनिश्चित करने का प्रस्ताव दिया गया है।

अंत में उन्होंने कहा कि इन सभी संशोधनों से भाजपा सरकार भ्रष्टाचार के विषय में संवेदनशील है यह सिद्ध होता है।

विकास के विभिन्न मुद्दें पर “आप” करेगी विधायक पारस राम राजवाड़े के निवास का घेराव

भटगांव। आम आदमी पार्टी के भटगांव विधानसभा क्षेत्र के सचिव तुलसीदास गुप्ता ने भटगांव विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेस विधायक पारस राम राजवाड़े पर हमला बोला है। पार्टी सचिव गुप्ता ने कहा कि विधायक के कार्यकाल को पांच साल पूरे होने को है। इस पूरे कार्यकाल में विधायक ने क्षेत्र की जनता को धोखे के सिवाय कुछ नहीं दिया।

आम आदमी पार्टी ने विभिन्न मांगों को लेकर विधायक पारस राम राजवाड़े से पांस साल के विकास का भी जवाब मांगा है।

उन्होंने सवाल करते हुए पूछा है कि भटगांव विधानसभा के पहुंच विहीन ग्रामों में अब तक पुल निर्माण क्यों नहीं हुआ। इसका जवाब दें।

विधायक निधि से काम करने के नाम पर घोषणाएं बहुत हुए, किन्तु घोषणाएं सिर्फ घोषणाएं बनकर रह गईं,काम हुए नहीं।

खनिज-संपदा बालू की हो रही अवैध उत्खनन पर कार्रवाई क्यों नहीं कराई गई। उसका मुद्दा विधानसभा में क्यों नहीं उठाया गया। इसका भी जवाब दें।

बिहारपुर चांदनी में कालेज की स्थापना क्यों नहीं कराई गई।

भाजपा सरकार के मुताबिक प्रदेश में सभी जगह बिजली की व्यवस्था है लेकिन मोहरसोप तथा अन्य ग्रामों के ग्रमीण अभी तक बिजली की सुविधाओं के लिए तरस रहे हैं। लेकिन विधायक जी मौन हैं। भटगांव विधानसभा के खस्ताहाल सड़कों पर भी विधायक जी मौन हैं।

विधवा, विकलांग और वृद्धावस्था पेंशन के लिए लोग भटक रहे हैं। लेकिन विधायक जी इस पर भी चुप्पी साधे हुए हैं।

भटगांव विधानसभा में कोयले के अवैध उत्खनन हो रहे हैं इसके रोकथाम के लिए कोई कार्रवाई नहीं हो रही है।

उन्होंने विधायक से सवाल किया कि स्वास्थ्य सुविधाओं का हो रहा बुरा हाल पिछले वर्ष हुई मौत का जबाब दो।

अंत में पार्टी सचिव ने कहा कि  भटगांव विधानसभा क्षेत्र की जनता अपने चुने हुए विधायक माननीय पारस राम जी से यह हिसाब मांगती है। विधायक जी अपने पांच साल में किए विकास का ब्यौरा दें। इन तमाम मांगों व सवालों को लेकर आम आदमी पार्टी 22 जुलाई को विधायक प्रत्याशी डीके सोनी के नेतृत्व में विधायक पारस राम राजवाड़े के निवास स्थान का घेराव करेगी।

सीएसआईडीसी के अध्यक्ष छगनलाल मूंदड़ा ने बाबा रामदेव का किया स्वागत

रायपुर। योग गुरू बाबा रामदेव शुक्रवार को छत्तीसगढ़ दौरे पर रायपुर पहुंचे हैं। इस दौरान उनके आगमन पर सीएसआईडीसी के अध्यक्ष छगनलाल मूंदड़ा के साथ एमडी सुनील मिश्रा ने रामदेव बाबा का स्वागत किया। उन्होंने बाबा रामदेव से राजनांदगाव जिले के ग्राम बिजेतला में पतंजलि द्वारा प्रस्तावित फ़ूड पार्क के अतिशिघ्र प्रारम्भ करने का आग्रह किया। वहीं बाबा रामदेव ने पार्क को शीघ्र प्रारम्भ करने का आश्वासन दिया है।

जनआशीर्वाद यात्रा में विकास के दावों पर कमलनाथ ने शिवराज पर दागे सवाल

भोपाल। मध्यप्रदेश में सीएम शिवराज की जनआशीर्वाद यात्रा जारी है। वे इस यात्रा में अपने विकास की बात के साथ-साथ कांग्रेस सरकार को जमकर कोसते नजर आ रहे हैं। 

इसे लेकर मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी केअध्यक्ष कमलनाथ ने जनआशीर्वाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के विकास के बड़े- बड़े दावों पर सवाल उठाते हुए सरकार से जवाब मांगा है। उन्होंने प्रदेश की जनता से भी आग्रह किया है कि जब सीएम शिवराज जनआशीर्वाद यात्रा में आपके बीच आएं तो उनसे ये सवाल जरूर पूछें। जिससे पिछले 15 वर्ष में भाजपा सरकार के किए विकास की तस्वीर व वास्तविकता आपको खुद स्पष्ट हो जाएगी।

श्री नाथ ने कहा कि शिवराज कहते है उनकी सरकार ने प्रदेश को बीमारु राज्य से बाहर निकाल दिया,विकसित प्रदेश बना दिया। हर क्षेत्र में विकास किया, हर वर्ग का भला किया तो फिर उन्हें इन प्रश्नो का उत्तर जरूर देना चाहिए, जिससे प्रदेशवासियों के सामने सच्चाई सामने आ सके।

सवाल :

1. प्रदेश के ऐसे 10 सरकारी अस्पताल बताइये, जहाँ मरीज़ों को बेहतर चिकित्सा उपलब्ध हो, डॉक्टर सदैव उपलब्ध हों, ग़रीबों को आवश्यक दवाइयाँ समय पर मिलती हों? जहाँ आप या आपके मंत्री इलाज के लिए जाते हों?

2. प्रदेश के ऐसे 10 सरकारी स्कूल बताइये, जहाँ ग़रीब बच्चों को अच्छी शिक्षा मिलती हों। जहां पर्याप्त शिक्षक हो, पीने का स्वच्छ पानी उपलब्ध हो, बिजली हो, खेल मैदान हो, जहां बच्चों का रिज़ल्ट शत प्रतिशत आता हो, जिन्हें हम आदर्श स्कूल कह सके। जहां आपके मंत्रियों के बच्चे पढ़ते हो?

3. प्रदेश के ऐसे 10 इलाक़े बताइये, जहां बहन-बेटियों के लिए सुरक्षित माहौल हो। जहाँ बहन- बेटियों बेख़ौफ़ किसी भी समय घूम सके, जहां छेड़छाड़ की घटनाएँ घटित ना होती हो?

4. प्रदेश के 10 इलाक़े (मंडी) बताइये , जहाँ किसान कह सके कि आपकी सरकार में उनके लिये खेती लाभ का धंधा बन चुकी है। उन्हें उनकी उपज की लागत व सही दाम मिल रहा है। उन्हें भावन्तर योजना आने से फ़ायदा हुआ है। उनकी फ़सलो के दाम इस योजना के बाद बढ़े है?

5. ऐसे 10 इलाक़े बताइये, जहां का युवा कह सके कि शिवराज सरकार आने के बाद उनके रोज़गार के अवसर बढ़े है, उन्हें रोज़गार मिला हो? प्रदेश में औद्योगिक निवेश आया हो, जिससे रोजगार के अवसर बढ़े हों?

6. नर्मदा नदी के 10 तट बताइये, जहां प्रदेशवासी जाकर आपके द्वारा लगाये गये 6.67 करोड़ पौधों में से सैकडो पौधे ही देखकर आ सके?

7. नर्मदा नदी के ऐसे 10 इलाके बताइए, जहाँ अवैध उत्खनन से माँ नर्मदा नदी का आँचल छलनी ना हुआ हो?

 8. ऐसे कोई 10 सरकारी विभाग बताइये, जहां बगैर रिश्वत के जनता के काम समय पर संपन्न होते हैं?जहाँ भ्रष्टाचार व घोटाले ना हुए हों? जहां भ्रष्टाचार को लेकर ‘जीरो टॉलरेंस’ की स्थिति हो?

9. आपके क्षेत्र की ऐसी कोई 10 सड़के बताइए, जिसे आपकी सरकार ने अमेरिका से अच्छी बनवायी हों? जिसे प्रदेशवासी जाकर देखकर प्रदेश में अमेरिका का अहसास कर सके।

10. ऐसे कोई 10 गांव बताइये, जहां किसानो को 24 घंटे बिजली सिंचाई के लिये मिलती हो?

अंत में श्री नाथ ने कहा कि मैं उम्मीद करता हूं मेरे पूछे गए इन सभी सवालों का जवाब मिलेगा। इन सवालों के जवाब मिलने के बाद अगली सवालों की फेहरिस्त भेज उनके जवाब भी मांगूंगा।

चरणदास महंत, नंदकुमार साय सहित कई नेताओं ने रामचंद्र सिंहदेव के निधन पर जताया दुख

रायपुर। छत्तीसगढ़ कांग्रेस कमेटी के चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष व पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ चरणदास महंत और अनुसूचित जनजाति आयोग के राष्ट्रीय अध्यक्ष नन्दकुमार साय ने कोरिया कुमार के नाम से मशहूर प्रदेश के प्रथम वित्त मंत्री रामचंद्र सिंहदेव के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है।

श्री महंत ने कहा कि रामचंद्र सिंहदेव ना सिर्फ एक कुशल व्यक्तित्व के धनी व्यक्ति थे बल्कि एक सफल राजनीतिज्ञ, अर्थ-शास्त्री, लेखक, फोटोग्राफर व सत्यजीत रे के साथ 2 सालों तक लघु फ़िल्म निर्माण का काम करने वाले अद्भुत प्रतिभा के धनी व्यक्ति थे। उन्होंने कहा कि अर्थ-शास्त्र की निपुणता और कुशलता के कारण वह छत्तीसगढ़ के प्रथम वित्त मंत्री बने और कांग्रेस की सरकार में अपने दायित्वों का बखूबी निर्वहन किया। राजनीति में भी उन्होंने जाति धर्म अमीरी गरीबी को परे रखते हुए सबको गले लगाया और सफल राजनीति की एक मिसाल पेश की।

डॉ चरणदास महंत में बड़े ही नम आंखों और भारी हृदय से कहा कि “मैंने उनसे बहुत कुछ सीखा है और वह हमेशा मेरे लिए एक आदर्श की तरह रहेंगे। इसीलिए रामचंद्र सिंहदेव जैसे लोग मरते नहीं बल्कि हमेशा दिलों में जिंदा रहते हुए अमर हो जाते हैं”

वहीं नन्दकुमार साय ने कोरिया रामचन्द्र सिंहदेव के निधन पर शोक ज्ञापित करते हुए कहा कि श्री सिंहदेव राजपरिवार से होते हुए भी वे सरल हृदय व मृदुभाषी थे। उनका सामाजिक व राजनीतिक जीवन निष्कलंक व प्रेरणादायी रहा। उनके निधन से हमारे छत्तीसगढ़ राज्य का जो क्षति हुआ है वह अपूरणीय है।

श्री साय ने सिंहदेव के निधन पर शोक ज्ञापित करते हुए कहा कि  श्री सिंहदेव राजपरिवार से होते हुए भी वे सरल हृदय व मृदुभाषी थे।

रामचंद्र सिंहदेव कोरिया नरेश ही नहीं छत्तीसगढ़ नरेश थे : रामविचार नेताम

छत्तीसगढ़ से राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम ने भी रामचंद्र सिंहदेव के निधन पर गहरा दुख जाहिर किया है। उन्होंने ट्वीट के माध्यम से शोक संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कहा कि पूर्व वित्तमंत्री रामचंद्र सिंहदेव जी का हम सभी को छोड़कर जाना अपूरणीय क्षति है। वास्तव में सिंहदेव कोरिया नरेश ही नहीं छत्तीसगढ़ नरेश थे। जिन्होंने आज के युग में भी राजनीति में अलग मिसाल पेश की,जहाँ केवल ईमानदारी एवं लगनशील की पराकाष्ठा थी। ईश्वर दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करे।

नहीं रहे प्रसिद्ध कवि गोपालदास नीरज, दिल्ली एम्स में ली अंतिम सांस

नई दिल्ली। पिछले कई दिनों से बीमार चल रहे कवि गोपालदास नीरज का निधन हो गया है। बुधवार की शाम को तबियत ज्यादा बिगड़ने पर उन्हें आगरा से दिल्ली के एम्स अस्पताल में भर्ती कराया गया था। यहां उन्हें ट्रामा सेंटर के आईसीयू में भर्ती कराया गया था। गौरतलब है कि 93 साल के महाकवि नीरज आगरा के बल्केश्वर में रहने वाली बेटी कुंदनिका शर्मा के घर आए थे। यहां मंगलवार को सुबह के नाश्ते के बाद तबीयत बिगड़ गई थी।

उन्हें सांस लेने में दिक्कत हुई। इसके बाद उन्हें दीवानी कचहरी के पास स्थित लोटस हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। यहां उन्हें वेंटीलेटर पर रखा गया था। फेफड़ों में संक्रमण से बढ़ती तकलीफ ज्यादा बढ़ने से उन्हें सांस लेने में परेशानी होनी लगी थी। बुधवार को डाक्टरों ने नली डालकर 800 ग्राम मवाद बाहर निकाला था।

इस दौरान ब्लडप्रेशर सामान्य था, पेशाब में भी कोई दिक्कत नहीं हो रही थी। लोगों से मिले भी थे और बातचीत भी की थी। इसकी रिपोर्ट एम्स के चिकित्सकों को भी दी गई थी। इसके बाद वहां के डॉक्टरों उन्हें दिल्ली एम्स में ले जाने की सलाह दी थी।

एम्स प्रबंधन के अनुसार, नीरज को बुधवार रात एम्स ट्रामा सेंटर के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती किया गया था। इस दौरान पल्मोनरी और मेडिसिन विभाग के डॉक्टरों ने उपचार शुरू किया था। उनकी हालत स्थिर बनी हुई थी।

पद्मश्री और पद्मभूषण से सम्मानित 93 वर्षीय नीरज पहले ऐसे व्यक्ति थे, जिन्हें भारत सरकार ने शिक्षा और साहित्य क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने पर दो-दो बार सम्मानित किया था। इटावा निवासी नीरज ने कई बॉलीवुड फिल्मों के लिए गीत भी लिखे थे।

श्रम मंत्री भैयालाल फिर घिरे विवादों में, कुर्सी पर बैठकर किया पूजा पाठ और अनुष्ठान

रायपुर। हमेशा विवादों में घिरे रहने वाले राज्य के श्रम मंत्री भैय्यालाल रजवाड़े एक बार फिर विवादों में घिर गए हैं। दरअसल मंत्री इस बार एक धार्मिक अनुष्ठान में कुर्सी में बैठकर पूजा करते दिख रहे हैं, जबकी पंडित जमीन में बैठकर मंत्रोच्चार कर रहे हैं। यह घटना कोरिया जिले के चिरमिरी  में सरकारी भवन की  भूमि पूजन करने भैय्यालाल रजवाड़े पहुंचे  थे तब की है। 

बता दें कि भैय्यालाल रजवाड़े कुर्सी में बैठकर पूजा करने का यह वीडियो इन दिनों सोशल मीडिया में जमकर वायर हो रहा है। वायरल वीडियो का राजनीतिक गलियारों से लेकर आम लोगों के बीच चर्चा क ा विषय बना हुआ है। वही मंत्री के विरोधी उनके ऊपर तंज कस रहे हैं। जो जानकारी आयी है उसके मुताबिक कोरिया जिले के चिरमिरी वन मंडल के एक कार्यक्रम में  भैयालाल रजवाड़े शामिल होने गए थे। यहां उन्होंने वन विभाग के एक भवन के निर्माण के लिए भूमि पूजन किया। कुर्सी पर बैठकर जब मंत्री पूजा  कर रहे थे, तो उनके चारों ओर मौजूद वन विभाग के कर्मचारी, अधिकारी और स्थानीय ग्रामीण हतप्रभ होकर उन्हें टकटकी लगाए देख रहे थे।  मंत्री होने की वजह से सरकारी कर्मचारी से लेकर ग्रामीण उन्हें कुर्सी में बैठकर पूजा करने टोकने डर रहे थे। 

बताया जा रहा है मंत्री भैयालाल रजवाड़े क्षेत्र में चिरमिरी में हाथियों के द्वारा किए गए नुकसान का जायजा लेने गए थे। तब एक सरकारी भवन के निर्माण के लिए वन मंडल के अधिकारियों ने  मंत्री को भूमि पूजन के लिए आमंत्रित किया था। मंत्री के आने की सहमति  मिलने के बाद अफसरों ने आनन-फानन में पूजा पाठ और अनुष्ठान की सामग्री का बंदोबस्त किया और पूजन  कार्य संपन्न कराने  पंडित  भी आ गए. लेकिन जब वो पूजा पाठ शुरू करते मंत्री ने कर्मचारियों को एक कुर्सी लाने का निर्देश दिया।  कर्मचारियों को इस बात की उम्मीद नहीं थी कि मंत्री जी उस कुर्सी में ही जम जाएंगे।  आमतौर पर पूजा पाठ और अनुष्ठान जमीन पर बैठकर किया जाता है। बता दें कि पूजा पाठ संपन्न कराने मंत्री के लिए  जमीन में बैठने के लिए खास बंदोबस्त भी किया गया था।  उनके लिए एक रेशमी और एक प्लास्टिक की चटाई भी मौके पर रखी गई थी,लेकिन उन्होंने जमीन में बैठने में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई और कुर्सी पर विराजमान हो गए।  हालांकि वीडियो वायरल होने के बाद मंत्री ने अपनी सफाई में कहा है कि पैर के जोड़ों में दर्द होने की वजह से वो जमीन में नहीं बैठ पाते, इस वजह से उन्हें कुर्सी पर बैठना पड़ा। 

रेल प्रबंधक ने 11 कर्मचारियों को सम्मानित किया 

रायपुर। रेल मंडल रायपुर में कार्यरत 11 रेल कर्मचारियों को रेल प्रबंधक कौशल किशोर शर्मा ने उनके बेहतर कार्य के लिए सम्मानित किया। इन कर्मचारियों को रेल फ्रैक्चर को पहचानने, कोच के बैटरी बॉक्स में आग, ब्रेक बाइंडिंग, इंस्युलेटर  टूटने के अलावा ट्राली का ब्रेक बीम का लटकते देखने पर  सजगता व सतर्कता से ठीक  करने तखा सुरक्षा से संबंधित अच्छी जानकारी होने और कार्य के प्रति सजग रहने के लिए नगद राशि और प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया। 

रेल प्रबंधक ने जिन 11 कर्म चारियों को सम्मानित किया है उनके नाम इस प्रकार हैं- लोको पायलट विद्युत बीएमवाइ पी. विनोद कुमार, सहा. लोको पायलट, विद्युत, बी एम वाई ए सुरेश राव, ई एस एम सिगनल दाधापारा अरुण कुमार,  हेल्पर सिगनल हथबंद अश्विनी कुमार, हेल्पर सिगनल बिल्हा दिनेश कुमार यादव, गेटमैन भरत लाल डहेरिया, ट्रैकमैन अजय कुमार यादव, वरिष्ठ टेक्निशियन  एन. पापा राव, के. पी. तिवारी के अलावा टेक्निशियन ग्रेड-3  रामफुल मीना, संजय वर्मा और  हेल्पर के द्वारा कार्य के दौरान सजगता एवं बेहतर सुरक्षा  कार्य के लिए सम्मानित किया गया है।

Please Wait... News Loading
Visitor No.