GLIBS
Subrata Sahu : मतदाता सूची में नाम जुड़वाने आज अंतिम दिन, सूची का प्रकाशन 27 सितंबर को होगा- सुब्रत साहू

रायपुर। आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर बन रहे मतदाता सूची में नाम जुड़वाने आज अंतिम दिन है। 27 सितंबर को सूची का अंतिम प्रकाशन किया जाएगा। यह जानकारी देते हुए मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सुब्रत साहू ने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग नई दिल्ली के निर्धारित कार्यक्रम अनुसार राज्य के शत प्रतिशत मतदाताओं के नाम मतदाताओं की सूची में जोड़ने, अपात्रों के नाम विलोपित करने और 24 नामों को संशोधित करने के लिए मतदाता सूची का संक्षिप्त पुनरीक्षण किया जा रहा है। जिन मतदाताओं की उम्र एक जनवरी 2018 से 18 वर्ष हो गई है या किसी पात्र नागरिक का नाम अभी तक मतदाता सूची में दर्ज नहीं है। ऐसे नागरिकों के लिए 21 अगस्त 2018 नाम जुड़वाने के लिए अंतिम अवसर होगा बता दें कि इसी पुन: निरीक्षण में आधार पर 27 सितंबर 2018 के मतदाता सूची का अंतिम प्रकाशन किया जाएगा। यही मतदाता सूची इस निर्वाचन में मताधिकार प्रदान करेगी। यदि कोई पात्र मतदाता अपना आवेदन उक्त तिथि तक प्रस्तुत ना करें तो भी नामांकन का अंतिम तिथि वह अपना नाम जोड़ें जाने के लिए आॅनलाइन आवेदन एन वी एस पी डॉट इन पर कर सकता है। 

श्री साहू ने बताया कि नाम जोड़ने पात्र नागरिक प्रारूप 6 में आवेदन अभिहित अधिकारी को प्रस्तुत करें। ऐसे में मतदाता जिनकी मृत्यु हो चुकी है या अन्यंत्र स्थानांतरित हो गए हैं, ऐसे नाम मतदाता सूची से हटाने के लिए प्रपत्र साथ प्रस्तुत करें। मतदाता सूची में अंकित प्रवेश के संशोधन हेतु प्रपत्र प्रस्तुत करें इसके अलावा एक ही विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में 1 मतदान केंद्रों के क्षेत्र में दूसरे मतदान केंद्र के क्षेत्र में निवासरत मतदाता अपने क्षेत्र की मतदाता सूची में नाम सम्मिलित किए जाने के लिए प्रारूप 8 क्रमांक में आवेदन पत्र अभिहित अधिकारी को प्रस्तुत कर सकते हैं।

CH / NEWS
12:33pm

रायपुर। राज्य में भाजपा की सरकार होने के बाद भी भाजपा पार्षद अपने वार्ड में हुकुमत नहीं चल रहा है। भाजपा पार्षद बीते तीन साल से नाली और सड़क के लिए बिरगांव के महापौर और आयुक्त को पत्र लिख चुके हैं। बावजूद तीन साल में पक्की सड़क तक नहीं बनी, जनता से पीड़ित पार्षद अपनी समस्या कलेक्टर ओपी चौधरी से मिलकर समस्या बताया।  कलेक्टर चौधरी ने आश्वासन देते हुए नाली-सड़क निर्माण करवाने की बात की है। 
 

CH / NEWS
12:24pm

भिलाई समेत रायपुर में डेंगू से 24 मौत हो चुकी है, लेकिन नगर निगम और स्वास्थ्य विभाग के अफसरों ने ध्यान नहीं दे रहे हैं। जबकि शहर के खाली प्लाट में बारिश की पानी भर गया है, इसे निकालने के लिए किसी प्रकार से व्यवस्था नहीं की है। जबकि आज रायपुर के महापौर प्रमोद दुबे डेंगू को लेकर शहर का निरीक्षण भी किया है। 
 

Fraud Case : डीकेएस अस्पताल में नौकरी दिलाने के नाम पर बेरोजगारों से ठगी

रायपुर। रायपुर के दाऊ कल्याण सिंह अस्पताल में भर्ती के नाम पर बेरोजगारों के साथ ठगी का मामला सामने आया है। इसकी शिकायत कांग्रेस चिकित्सा प्रकोष्ठ प्रदेश अध्यक्ष डॉ राकेश गुप्ता मिली है। उन्होंने मंगलवार दोपहर 12 बजे कांग्रेस और चिकित्सा प्रकोष्ठ के साथ अस्पताल पहुंचकर प्रदर्शन करने की बात कही है।

कांग्रेस चिकित्सा प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष डॉक्टर राकेश गुप्ता ने बताया कि डीकेएस अस्पताल में भर्ती के नाम पर फर्जीवाड़ा किया जा रहा है। बेरोजगारों को नौकरी दिलाने का झांसा देकर उन्हें सन 2014 में भी संविदा भर्ती निकाली गई थी। इस दौरान वार्ड बाय, डॉक्टर, चपरासी, स्टाफ नर्स, पैरामेडिकल टेक्निकल समेत विभिन्न पदों की 700 भर्ती निकाली गई थी। लेकिन अस्पताल प्रबंधन द्वारा यह भर्ती रद्द कर 2017 में एक बार फिर से 700 लोगों की दोबारा भर्ती निकाली गई। इस दौरान डॉक्टर स्टाफ नर्स, पैरामेडिकल फार्मासिस्ट, चपरासी, वार्ड स्वीपर समेत विभिन्न पदों की भर्ती निकाली गई। लेकिन इन भर्तियों पर अब तक किसी प्रकार भर्ती प्रक्रिया शुरू नहीं की गई है।

वहीं दाऊ कल्याण सिंह हॉस्पिटल में चोरी छिपे डेली विजेश में भर्ती की जा रही है। भर्ती करने वालों को आईडी कार्ड और अपॉइंटमेंट लेटर भी दिया जा रहा है। जबकि 700 लोगों से  2014 और 2017 में आवेदन मंगाकर संविदा भर्ती करने प्रक्रिया अपनाई गई थी। 2014 में 7000 लोगों ने आवेदन भी किया था लेकिन उस भर्ती को रद्द कर दिया गया। आवेदन करने वालों से DD के नाम पर 3:00 ₹300 लिया गया था। वही 2017 में 10000 लोगों ने आवेदन किया इसमें भी 3:00 ₹300 का DD मांगा गया था। भर्ती के नाम पर दाऊ कल्याण सिंह हॉस्पिटल में बेरोजगारों के साथ ठगी किया जा रहा है। इस पूरे मामले को लेकर कांग्रेस चिकित्सा प्रकोष्ठ और कांग्रेस पार्टी द्वारा मंगलवार दोपहर 12:00 बजे डीकेएस हॉस्पिटल का घेराव कर प्रदर्शन किया जाएगा।

Atal Bihari Vajpayee : राज्य के पावन नदियों में विर्जित की जाएगी अटल बिहारी वाजपेई की अस्थियां

रायपुर। भारत रत्न, छत्तीसगढ़ राज्य के निमार्ता, पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थी कलश को छत्तीसगढ़ के पावन नदियों में विसर्जित की जाएगी। अस्थी विसर्जित करने के लिए के लिए भारतीय जनता पार्टी के एकात्म परिसर में भाजपा नेताओं की आवश्यक बैठक हुई। बैठक में नेताओं को अलग-अलग जिम्मेदारी सौंपी गई। 

बता दें कि श्री बाजपेयी की अस्थी कलश 22 अगस्त को दिल्ली से रायपुर लाई जाएगी। पूर्व प्रधानमंत्री के अस्थी को लेने के लिए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष धरमलाल कौशिक दिल्ली के लिए रवाना हो गए हैं। दिल्ली से अस्थी कलश लाने के बाद अंतिम दर्शन के लिए कलेक्टोरेट स्थित टाउन हाल में रखा जाएगा। अंतिम दर्शन कार्यक्रम के बाद सभी जिलों के पावन नदियों में अस्थी को विजर्जित करने दिए जाएंगे। उक्त जानकारी पूर्व महापौर सुनील सोनी ने दी। आज की बैठक में भाजपा के जिलाध्यक्ष राजीव अग्रवाल, विधायक श्रीचंद सुंदरानी,  आरडीए अध्यक्ष संजय श्रीवास्तव समेत निगम मंडल और प्रदेश स्तरीय नेता शामिल थे। 

Raipur Railway : रायपुर रेल मंडल ने लगाया एंबुश, बगैर टिकट यात्रा कर रहे लोगों से वसूले 21 हजार 

रायपुर। रायपुर रेल मंडल ने आज एंबुश लगाकर बगैर टिकट यात्रा कर रहे लोगों से 21 हजार 195 रुपए जुर्माना वसूल किया।  मंडल वाणिज्य प्रबंधक आदित्य गुप्ता के नेतृत्व में एंबुश टिकट चेकिंग अभियान में 5 वाणिज्य निरीक्षक, 11 टीटीई स्टॉफ एवं 8 आरपीएफ स्टॉफ भी शामिल थे। इस दौरान मरोदा एवं भिलाई पॉवर हाउस स्टेशन में सुबह 6 बजे से दोपहर 2 बजे तक 78815/78816  रायपुर-भानुप्रतापपुर-रायपुर  डेमू,  78826/78827 दुर्ग-दल्लीराजहरा -दुर्ग डेमू, 18425 पुरी-दुर्ग एक्सप्रेस, 15159 सारनाथ एक्सप्रेस, 68707 रायपुर-दुर्ग मेमू पैसेंजर एवं लोकल, एक्सप्रेस ट्रेनो में सघन टिकिट जांच की गई । 

इस टिकट जांच अभियान में कुल 73 मामलों से बतौर जुर्माना21,195 रुपए वसूला गया जिसमें बिना टिकट के 68 मामलों (ए केस)  से 20695, बिना बुक सामान  के 4 मामलों (सी केस) से 400 रुपए, एवं स्टेशन परिसर में कचड़ा फैलाने वाले 1 मामलों (ई केस) से 100 रुपए शामिल हैं।

Illegal possession : नगर निगम के अंबेडकर भवन में संस्कार भारती का कब्जा, कलेक्टर से शिकायत 

रायपुर। सिविल लाइन के अंबेडकर भवन में पिछले दो साल से संस्कार भारती नाम के एक संस्था का कब्जा है। सार्वजनिक उपयोग खासकर शादी-ब्याह व अन्य मांगलिक आयोजनों के लिए इस भवन का निर्माण किया गया था। संस्था का कब्जा होने के बाद इसे किराए पर नहीं दिया जा रहा है। सोमवार को कलेक्टर जनदर्शन में छत्तीसगढ़ उत्कल समाज ने कलेक्टर ओपी चौधरी को ज्ञापन सौंपकर इसकी शिकायत की। इसी वजह से दो साल से इस भवन को शादी, छट्टी, समेत समाजिक कार्या के लिए नहीं दिया जा रहा है। जबकि नगर निगम द्वारा इस भवन को समाजिक कार्य के लिए कम दाम पर दिया जाता रहा है। लेकिन नगर निगम जोन आयुक्त द्वारा इस भवन को संस्कार भारती को दे दिया गया है और उनके द्वारा यह भवन का निर्माण हो रहा है। 

छत्तीसगढ़ उत्कल समाज के सदस्य हरिबंधु नायक ने बताया कि विगत दो साल से सिविल लाइन के अंबेडकर भवन में नगर निगम द्वारा किराए पर नहीं दिया जा रहा है। अब सिविल लाइन और आस-पास के रहवासियों को समाजिक कार्य करने के लिए काफी परेशानी हो रही है। जब भी नगर निगम जोन कार्यालय जाकर बुक कराने जाते हैं, तो कहा जाता है कि मरम्मत कार्य चल रहा है, इस वजह से बुकिंग नहीं हो रहा है। वहीं शादी समारोह, जन्मदिन, छट्टी, शोकाकुल कार्यक्रम के लिए दूसरे भवन को लेना पड़ रहा है, जो गरीब परिवार के बजट से बाहर है। एक सप्ताह के भीतर भवन शुरू नहीं किया गया तो उत्कल समाज ने उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है।

 Insurance: 120 गांवों के हजारों किसानों को नहीं मिला बीमा का लाभ, अफसर बोले- जिन्होंने आवेदन किया उसे ही मिला लाभ

रायपुर। धमधा ब्लाक के नारधा और लिमतरा में सोसायटी क्षेत्र के 120 गांवों के किसानों को फसल बर्बाद होने के बाद भी बीमा का लाभ नहीं मिला। इससे नाराज किसानों ने बैठक लेकर शासन-प्रशासन के खिलाफ हल्ला बोलने का निर्णय लिया है। छत्तीसगढ़ प्रगतिशील किसान संगठन के संयोजक राजकुमार गुप्त ने  किसानों ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के प्रति असंतोष व्यक्त जाहिर की। उन्होंने बताया कि पिछले साल दुर्ग जिला के धमधा ब्लाक में सूखे का सबसे अधिक प्रभाव था और फसल को व्यापक क्षति हुई हैं।

कई गांव के किसानों ने सरकार को धान भी नहीं बेचा था इसके बावजूद ब्लाक के 196 गांव में से 120 गांव के किसान बीमा की राशि से वंचित रह गए हैं। इसके लिए शासन से मिलकर बात किया गया बावजूद बीमा राशि नहीं मिली। छत्तीसगढ़ प्रगतिशील किसान संगठन के नेताओं नें किसानों को बताया कि बीमा कंपनी के साथ किए गए करार में सरकार की चूक का खामियाजा भुगत रहे हैं। किसान, मानक पैदावार का निर्धारण चावल के रूप में किया गया था लेकिन करार पत्र में इसका स्पष्ट उल्लेख नहीं किया गया, जिसके कारण फसल कम होने के बाद भी किसानों को बीमा से वंचित होना पड़ा है।

किसान संगठन के नेताओं ने किसानों में फसल बीमा योजना के प्रति अज्ञानता और जागरूकता की कमी को भी इसके लिए जिम्मेदार ठहराया। फसल बीमा योजना की बारीकियां किसानों को बताते हुए किसान संगठन के नेताओं ने कहा कि जब तक निर्धारित उपज में वृद्धि नहीं होता है तब तक किसानों को बीमा योजना का लाभ मिलने की संभावना कम है, फसल कटाई प्रयोग को बीमा योजना का सबसे महत्वपूर्ण चरण बताते हुए कहा कि ऐसा 

करते समय किसानों को विशेष सतर्कता बरतने की जरूरत है कि वास्तविक उपज की गणना सही फसल के लिए सही खेत के फसल काटकर और पूरी तरह सूखाकर ही किया जाना चाहिए। किसानों के इस सवाल पर कि जिन किसानों को सूखा राहत की राशि मिली है उन्हें भी बीमा राशि नहीं मिली है। पूरे मामले को लेकर जब कृषि सचिव सुनील कुजूर से बात किया गया तो उन्होंने बताया कि शासन की योजनाओं का लाभ पात्र व्यक्तियों को दिया गया है। जिन्होंने आवेदन किया है सभी को मिला है, जो वंचित है वह मिलकर बात कर सकते हैं। 

Video : आज यदि कमल है तो उसका कारण अटल है :  सीएम डॉ रमन

रायपुर। साइंस कॉलेज स्थित पं.दीनदयाल उपाध्याय ऑडिटोरियम में आयोजित शोक सभा में भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं ने पूर्व प्रधानमंत्री और भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि अर्पित की। इस अवसर पर अटल बिहारी वाजपेयी की छत्तीसगढ़ से जुड़ी स्मृतियों की फोटो प्रदर्शनी भी लगाई गई।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि अटल जी सबके दिलों में थे। दुनिया की राजीनीति में अटल सबसे पहले ऐसे नेता थे जिनकी लोक प्रियता का ग्राफ कभी घटा नहीं। मौत 9 साल तक घबराई हुई थी जिसे इतने लोग प्यार करते है उसे ले जाऊं तो ले जाऊं कैसे। उन्होंने कहा हर बीजेपी कार्यकर्ता अटल जी को देखकर राजनीति में आने का फैसले लिए है। मंच में जितने मंत्री नेता बैठे हैं अटल जी सबकी प्रेरणा थे।

प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना से अटल को गांव-गांव याद किया जाएगा। इसकी शुरुआत उन्ही ने की थी, आज 50 हज़ार किलोमीटर तक जो गांव-गांव सड़क  बन पाया है वह अटल जी की गांवों के विकास में सबसे बड़ी पहल थी। एक राज्य के निर्माण के लिए बड़ा संघर्ष लगता है, अटल जी ने एक नहीं बल्कि तीन राज्यों का निर्माण किया। सीएम रमन ने कहा मैं जी भर जिया कूच से क्यों डरे...ये तो छोटी सी कूच है। अटल जी जैसे हज़ारों अटल इस देश में जन्म लेंगे। आज यदि कमल है तो उसका कारण अटल है।

उन्होंने आगे कहा कि अटल जी जैसा नेता देश विदेश में नहीं हुआ है। अटल बिहारी सर्वमान्य नेता रहे हैं। भाजपाध्यक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि जनसंघ और देश को अटल जी ने संभाला। उन्होंने हमें सफलता का मूलमंत्र दिया। श्रद्धांजलि देने मंत्री मंडल के सदस्य समेत भाजपा के वरिष्ठ नेता और कार्यकर्ता मौजूद थे।

 

BJP : भाजपाईयों ने दी अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि

रायपर। साइंस कॉलेज स्थित पं.दीनदयाल उपाध्यायआॅडिटोरियम में आयोजित शोक सभा में भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं ने पूर्व प्रधानमंत्री और भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि अर्पित की। इस अवसर पर अटल बिहारी वाजपेयी की छत्तीसगढ़ से जुड़ी स्मृतियों की फोटो प्रदर्शनी भी लगाई गई।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि अटल जी जैसा नेता देश विदेश में नहीं हुआ है। अटल बिहारी सर्वमान्य नेता रहे हैं। भाजपाध्यक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि जनसंघ और देश को अटल जी ने संभाना। उन्होंने हमें सफलता का मूलमंत्र दिया। श्रद्धांजलि देने मंत्री मंडल के सदस्य समेत भाजपा के वरिष्ठ नेता और कार्यकर्ता मौजूद हैं। 

 

Please Wait... News Loading
Visitor No.