GLIBS
कंवर समाज ने छात्रावास के लिए खरीदी जमीन, मुख्यमंत्री ने भवन बनाने दिए 30 लाख 

रायपुर। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने राजनांदगांव में कंवर समाज के बच्चों के लिए छात्रवास निर्माण के लिए तीस लाख रुपए देने की घोषणा की है। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह आज राजनांदगांव जिले के ग्राम रेवाडीह में आयोजित कंवर समाज के कार्यक्रम में शामिल हुए। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री को जानकारी दी गई कि कंवर समाज ने बच्चों के बेहतर शिक्षा के लिए राजनांदगांव में सामाजिक सहयोग से 50 लाख रुपए की राशि इकट्ठी कर छात्रावास के लिए 74 डिसमिल जमीन 50 लाख रुपए में खरीदी है। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कंवर समाज के इस पहल को अनुकरणीय बताते हुए छात्रावास भवन के लिए 30 लाख रुपए प्रदान करने की घोषणा की। डॉ. सिंह ने कहा कि शिक्षित समाज ही नेतृत्व करता है। समाज के लोगों ने शिक्षा को आगे बढ़ाने के लिए जो बड़ी पहल की है उसका मैं स्वागत करता हूं। खर्चीली शादियों से मितव्ययिता की ओर बढ़ने समाज के लोगों ने सामूहिक विवाह को बढ़ावा देने का जो निश्चय किया है वह भी स्वागत योग्य है। मुख्यमंत्री ने कहा कि शादियों में मद्यपान पर प्रतिबंध करने का निर्णय समाज ने लिया है। इसके साथ ही बहुत से प्रगतिशील कार्य समाज के द्वारा किए जा रहे हैं। यह उज्ज्वल भविष्य की राह में बड़ा कदम है। मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन की शुरूआत कंवर समाज के आराध्य दुल्हा देव और महादेव की स्तुति कर की। उन्होंने कहा कि वे अपने हर बड़े कार्य की शुरूआत भोरमदेव की पूजा से करते हैं और भोरमदेव उनका हर संकट हर लेते हैं। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर ग्रामीणों की मांग पर आशा नगर में एप्रोच रोड, मुक्तिधाम निर्माण एवं पुलिया निर्माण की स्वीकृति प्रदान की।

 इस मौके पर गृह, जेल एवं लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री रामसेवक पैकरा ने भी समाज के लोगों को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि शिक्षा को आगे बढ़ाने समाज के लोगों ने पाई-पाई जोड़कर छात्रावास के लिए धन एकत्र किया और आज इसका भूमिपूजन किया गया। शिक्षा के पुनीत कार्य के लिए इस तरह की सामूहिक भागीदारी जुटना बहुत शुभ है। उन्होंने कहा कि शिक्षा ही समाज को प्रकाश की ओर ले जाने वाला साधन है। एकजुट होकर समाज अपने बड़े लक्ष्य प्राप्त कर सकता है। इस मौके पर सांसद अभिषेक सिंह ने कहा कि कंवर समाज द्वारा शिक्षा के लिए बड़ा काम किया जा रहा है। शिक्षा ही किसी समाज के उवल भविष्य का रास्ता प्रशस्त कर सकती है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ प्रदेश बना था तो उस समय यहां केवल 13 हजार प्राथमिक स्कूल थे, अब प्राथमिक स्कूलों की संख्या बढ़कर 36 हजार से अधिक हो गई है। उच्च शिक्षा में भी बड़े काम हुए हैं। अब साल्हेवारा और मानपुर में भी कॉलेज है। श्री सिंह ने कहा कि मैं ओडारबांध गया था यहां 70 साल से मेला लगता है। यहां समाज का युवक-युवती परिचय सम्मेलन भी हो रहा था। लोगों ने सामुदायिक भवन की मांग रखी और एक महीने में ही 20 लाख रुपए का सामुदायिक भवन शासन की ओर से स्वीकृत हो गया। 

मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने सुकुलदैहान में बुनकरों के कार्यों की प्रशंसा 
मुख्यमंत्री सुकुलदैहान और लिटिया गांव में ग्रामीणों से की मुलाकात
अमित शाह की रायबरेली रैली में लगा बड़ा सा पोस्टर, लेकिन PM मोदी की तस्वीर गायब

रायबरेली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के दौरे के बाद बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह शनिवार को रायबरेली के दौरे पर थे। यहां जीआईसी ग्राउंड में सीएम योगी आदित्यनाथ और पार्टी के स्थानीय नेताओं की मौजूदगी में परिवर्तन रैली का आयोजन किया गया, लेकिन रैली के दौरान मंच पर लगे पोस्टर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर नदारद रही। बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह मुख्य अतिथि के रूप में रैली में मौजूद रहे। कार्यक्रम के लिये एक बड़ा मंच बनाया गया था और उसके पीछे एक बड़ा पोस्टर लगा था। इस पोस्टर पर अमित शाह के अलावा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र पांडेय और उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा के अलावा अन्य लोगों के फोटो लगे थे।

मंच पर लगा बड़ा सा पोस्टर

इस पोस्टर पर कांग्रेस के विधानपरिषद सदस्य दिनेश सिंह की तस्वीर भी थी, जो आज ही कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल हुये हैं, लेकिन इस पोस्टर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर नहीं थी। बीजेपी के स्थानीय नेताओं से जब इस बाबत पूछा गया तो उन्होंने पोस्टर से नरेंद्र मोदी की तस्वीर गायब होने की बात पर यह कहते हुये कुछ भी कहने से इनकार किया कि यह एक मानवीय भूल थी, इसका कोई और मतलब न निकाला जाये।

रैली के दौरान शॉर्ट सर्किट से आग

अमित शाह की रैली के दौरान शॉर्ट सर्किट की वजह से आयोजन स्थल पर आग और धुआं फैल गया। इसके बाद रैली में अफरा-तफरी मच गई. जब यह घटना हुई तब मंच पर उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा रैली को संबोधित कर रहे थे. हालांकि बाद में स्थिति को नियंत्रित कर लिया गया।

शत्रुघ्न सिन्‍हा बोले- पार्टी छोड़ने की बात अफवाह, मैं कहीं नहीं जा रहा हूं

पटना। राजधानी के श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल में भाजपा विरोधी दलों के नेताओं का राष्ट्रमंच सम्मेलन में भाजपा सांसद और अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि मेरे द्वारा पार्टी छोड़ने की बात अफवाह है। मैं कहीं नहीं जा रहा हूं। पार्टी में बना हुआ हूं। इसके साथ ही उन्‍होंने तेजस्‍वी की भी तारीफ की। कहा कि वो बिहार के राजनीतिक भविष्य का इकलौता चेहरे हैं। शत्रुघ्‍न सिन्‍हा ने कहा कि ऐसी अफवाहें थीं कि मैं पार्टी छोड़ दूंगा क्योंकि 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में मुझे टिकट नहीं मिलेगा। लेकिन, मैं आज यह साफ कर दे रहा हूं कि मैं यहीं रहने वाला हूं और कहीं भी नहीं जा रहा हूं।' बिहारी बाबू कहे जाने वाले भाजपा सांसद सह अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा ने यशवंत सिन्हा के भाजपा छोड़ने और दलगत नीति से संन्यास लेने के एलान पर उनकी भी तारफी की और कहा कि यशवंत सिन्हा ने राजनीति में त्याग-बलिदान दिया है। यशवंत सिन्हा का यह कदम सराहनीय है। बता दें कि पटना के एसकेएम हॉल में आज भाजपा से नाराज और विपक्षी नेताओं का राष्ट्रमंच पर जमावड़ा लगा था जिसमें देश के विभिन्न हिस्से से आए कई नेताओं ने शिरकत की।  इस सम्मेलन में कांग्रेस नेता रेणुका चौधरी ने कहा कि बिहार के लोग सामान्य लोग नहीं हैं। बिहार बलिदान की भूमि है। देश में महिलाएं घर से बाहर नहीं निकल रही हैं। देश की बेटी-बहु के साथ बलात्कार हो रहा है और सरकार खामोश बैठी है।

BJP सांसद का आरोप- ईसाई मिशनरी के इशारे पर काम करते हैं सोनिया और राहुल

बलिया। जज लोया की मौत की जांच पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद से ही बीजेपी और कांग्रेस में सियासी वार जारी है। एक तरफ जहां कांग्रेस का कहना है कि जज लोया की मौत का मामला काफी गंभीर है, मामले की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए. वहीं बीजेपी का कहना है कि जज लोया केस में कांग्रेस पार्टी के झूठे प्रोपेगेंडा की पोल खुल गई है। यूपी के बलिया से बीजेपी सांसद भरत सिंह ने विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा कि सोनिया गांधी, राहुल गांधी और कांग्रेस पार्टी ईसाई मिशनरी के इशारे पर काम कर रही है।

0 देश की जनता से माफी मांगें राहुल गांधी

भरत सिंह ने कहा कि जज लोया मामले में कांग्रेस पार्टी ने ईसाई मिशनरी के इशारे पर ही सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी। ईसाई मिशनरी ही कांग्रेस पार्टी को नियंत्रित करती है। बीजेपी सांसद ने कहा कि ईसाई मिशनरी से देश की एकता को खतरा है। सांसद भरत सिंह ने कहा कि राहुल गांधी को देश की जनता से और मीडिया से माफी मांगनी चाहिए।

गौरतलब है कि बीजेपी ने चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग मामले पर भी कांग्रेस पार्टी पर हमला बोला। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने शुक्रवार को कहा कि कांग्रेस और उसके सहयोगी महाभियोग का राजनीतिक इस्तेमाल कर रहे हैं। वित्तमंत्री ने कहा कि जज लोया केस में कांग्रेस पार्टी के झूठे प्रोपेगेंडा की पोल खुल गई है और उसी का बदला लेने के लिए यह महाभियोग प्रस्ताव लाया गया है। एक जज के खिलाफ इसे लाकर अन्य जजों को यह संदेश देने की कोशिश की जा रही है कि अगर तुम हमसे सहमत नहीं हो तो बदला लेने के लिए 50 सांसद काफी हैं।

छत्तीसगढ़ में अंत्योदय है विकास का मूल मंत्र : डॉ. रमन सिंह 

रायपुर। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह जिला मुख्यालय राजनांदगांव में आयोजित वक्फ कार्यशाला और अल्पसंख्यक सम्मेलन में शामिल हुए। उन्होंने यहां पद्मश्री गोविंदराम निर्मलकर आॅडिटोरियम में सम्मेलन के दौरान शहरी वक्फ संपत्तियों का विकास योजना के अंतर्गत आवासीय परिसर निर्माण के लिए स्वीकृत राशि के वितरण का शुभारंभ किया और गोल बाजार जामा मस्जिद राजनांदगांव के मुतवल्ली कमेटी को आवासीय परिसर के निर्माण के लिए स्वीकृत 75 लाख रूपए का चेक वितरित किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने राजधानी रायपुर में शीघ्र ही हज भवन का निर्माण कराने के लिए आश्वस्त किया। शहरी वक्फ संपत्तियों का विकास योजना के अंतर्गत वर्तमान में छत्तीसगढ़ राज्य वक्फ बोर्ड को छ: निर्माण कार्यों के लिए तीन करोड़ 48 लाख रूपए की राशि स्वीकृत की।  मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि अंत्योदय को ही छत्तीसगढ़ में विकास का आधार मना गया है। इसके तहत समाज के अंतिम व्यक्ति के कल्याण पर जोर दिया जा रहा है। उनकी बेहतर शिक्षा तथा स्वास्थ्य और कौशल विकास के लिए सरकार द्वारा अनेक कार्यक्रम चलाए जा रहे है। जिससे कमजोर तथा पिछड़े सहित समाज के हर वर्ग के लोगों का उत्थान हो। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने कहा कि छत्तीसगढ़ में हर तरफ विकास की लहर है। यहां विकास ही विकास और शांति के साथ विकास की अच्छी खासियत है। यह विकास राज्य में सामाजिक समरसता, सौहर्द्रता और आपसी भाई चारा से ही फलीभूत हो रहा है। जिसका उदाहरण देश के अन्य राज्यों में भी दिया जाता है। उन्होंने कहा कि यहां सभी समाज के लोग आपस में मिल-जुल कर रहते हैं। इसी सट्टावना तथा आपसी भाईचारा से छत्तीसगढ़ के विकास को और मजबूती मिल रही है।

शासन की मंशा है कि विकास से कोई भी वर्ग और समाज अछूता न रहे : अभिषेक

सम्मेलन को सांसद अभिषेक सिंह ने संबोधित करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ के सरकार द्वारा लोगों की बेहतरी के लिए हर संभव पहल की जा रही है। शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ समाज के अंतिम छोर तक पहुंचाया जा रहा है। इसमें शासन की मंशा है कि विकास से कोई भी वर्ग और समाज अछूता न रहे। सांसद सिंह ने वक्फ संपत्तियों के विकास योजना का उल्लेख किया और मुस्लिम समुदाय के लोगों के हित में इसका बेहतर से बेहतर उपयोग करने के लिए कहा। इस अवसर पर छत्तीसगढ़ राज्य वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष मो. सलीम अशरफी ने भी सम्मेलन को संबोधित किया। उन्होंने बताया कि वक्फ की खाली पड़ी जमीनों पर अस्पताल, स्कूल भवन, सामुदायिक भवन आदि निर्माण कार्यों के लिए सरकार द्वारा बिना ब्याज की राशि ऋण के रूप स्वीकृत किए जा रहे हैं। इसके तहत वर्तमान में राज्य वक्फ बोर्ड को छ: विभिन्न निर्माण कार्यों के लिए तीन करोड़ 48 लाख रूपए की राशि स्वीकृत है। इनमें हनफी मस्जिद गोलबाजार राजनांदगांव के अलावा अंजुमन इस्लाहुल मुस्लिेमीन वक्फ जामा मस्जिद कमेटी अंबिकापुर को 75 लाख रूपए, सुन्नीजामा मस्जिद बलौदाबाजार को 3 कार्यों के लिए एक करोड़ 32 लाख रूपए तथा अंजुमन इस्लामियन कमेटी धमतरी को 66 लाख रूपए स्वीकृत है। उन्होंने इसके लिए शासन के प्रति आभार भी जताया।

कार्यक्रम में ये रहे उपस्थित

इस अवसर पर बीस सूत्रीय कार्यक्रम क्रियान्वयन समिति के उपाध्यक्ष खूबचंद पारख, महापौर मधुसूदन यादव, छत्तीसगढ़ राज्य समाज कल्याण बोर्ड की अध्यक्ष शोभा सोनी, छत्तीसगढ़ राज्य भण्डार गृह निगम के अध्यक्ष नीलू शर्मा, छत्तीसगढ़ उर्दू अकादमी के अध्यक्ष अकरम कुरैशी, विधायक डोंगरगढ़ सरोजनी बंजारे, जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक के अध्यक्ष सचिन बघेल, राजगामी संपदा न्यास के अध्यक्ष रमेश पटेल, नगर निगम के सभापति शिव वर्मा, पूर्व विधायक कोमल जंघेल, समाज सेवी बहादुर अली, डॉ. एसए फारूकी के अलावा कलेक्टर भीम सिंह सहित जनप्रतिनिधि एवं समाज के पदाधिकारीगण उपस्थित थे।

 

Please Wait... News Loading
Visitor No.