GLIBS
Minor Abuse : मासूम से अनाचार कर फरार आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार

कोण्डागांव। जिले के माकड़ी थाना क्षेत्र अंतर्गत नाबालिग से अनाचार करने वाले आरोपी को पुलिस ने धर दबोचा है। बताया जा रहा है कि, आरोपी अनाचार के बाद जनवरी माह से लगातार पुलिस से बचता फिर रहा था। अंततः पुलिस ने आज सोमवार आरोपी को घेराबंदी कर गिरफ्तार कर लिया।

मिली जानकारी के अनुसार माकड़ी के ग्राम करण्ड़ी निवासी भुनेश्वर बघेल (28) 13 जनवरी को नाबालिग से अनाचार कर फरार हो गया था। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ भारतीय दण्ड विधान की धारा 376 और बालकों का लैंगिक अपराधों से संरक्षण 2012 की धारा 06 के तहत मामला पंजीबद्ध कर आरोपी की तलाश शुरू कर दी थी। इसी कड़ी में तलाश के बाद भुनेश्वर बघेल को आज माकड़ी थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया है।

Dengue : डेंगू से बचाव के लिए जिला प्रशासन ने जारी किए निर्देश

कोण्डागांव। जिला कलेक्टर नीलकण्ठ टीकाम एवं मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के निर्देशानुसार डेंगू बीमारी के रोकथाम एंव नियंत्रण हेतु जिला मुख्यालय कोण्डागांव मे आमजनो के बीच जनजागरण अभियान चलाया जा रहा है इस क्रम मे शहर के डीएनके कॉलोनी एवं बंधा पारा में स्वास्थ्य विभाग एवं नगरपालिका कोंडागांव के अधिकारी कर्मचारियो के द्वारा कुल 345 घरो मे जाकर 257 कूलर एंव 235 फ्रिज की साफ सफाई करवाई गई इसके अलावा लोगो को घर के आस-पास साफ सफाई रखने के लिए पे्ररित किया गया।

टीम द्वारा  भ्रमण के दौरान स्वास्थ्य टीमो को 04 साधारण बुखार के मरीज भी मिले जिसकी जांच करने पर डेंगू एवं मलेरिया को कोई लक्षण नही मिले।  इसके साथ ही विकासखंड फरसगांव के ग्राम जुगानी केम्प में स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा 181 घरो का भ्रमण करके कुल 21 कूलर की सफाई एवं घर के आस-पास टूटे फूटे बर्तनो में पानी जमा न होने देने के लिए ग्रामीणो से अपील की गई। ज्ञात हो कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा डेंगू बीमारी के रोकथाम एवं नियंत्रण व उपचार के संबंध में जिले के समस्त खंड चिकित्सा अधिकारी बी.टी.ईओ, बीपीएम तथा अन्य स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी कर्मचारियों की दिनांक 13.08.2018 को बैठक आहुत करके आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये थे।

इसी तारतम्य में जिला अस्पताल एवं समस्त सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रो मे डेंगू बीमारी के मरीज हेतु पृथक से बेड लगाया गया है एवं उनके उपचार हेतु  चिकित्सक व अन्य स्टाफ की रोस्टर अनुसार अस्पतालों में ड्यूटी लगाई गई हैं। जिला कोंडागांव कलेक्टर नीलकण्ठ टीकाम के मार्ग दर्शन मे  मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा आम नागरिकों से आग्रह किया गया हैं कि लोग कूलर कूलर, टंकी तथा घरों के आसपास पानी जमा होने वाले समस्त वस्तुओं की साफ सफाई रखें तथा सोने के समय मच्छरदानी का उपयोग या मच्छर भगाने के अन्य साधन जैसे मच्छर अगरबत्ती आदि का उपयोग करें इसके अलावां तेज बुखार, सिर दर्द, मांसपेशियों एवं जोड़ों में दर्द, आंखों के पिछले भाग में दर्द होना ,जी मिचलाना उल्टी होना मुंह तथा मसूड़ों में खून आने , त्वचा मे चकत्ते उभरना ,रक्तचाप कम होने संबधी लक्षण होंने पर तत्काल अस्पताल में चिकित्सा अधिकारी से जांच कराने को भी कहा गया है।

Hanging Body : पेड़ से लटकी मिली युवक की लाश, इलाके में हड़कंप

कोण्डागांव। फरसगांव थाना अंतर्गत नगर पंचायत फरसगांव के नयापारा में एक 18 वर्षीय युवक ने अपने ही घर के पेड़ पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचनामा तैयार कर जांच में जुटी है।

 मिली जानकारी के अनुसार फरसगांव निवासी महेंद्र मरकाम(18) रात के वक्त भोजन के बाद अपने नाना के घर सोने जाने बताकर नयापारा के लिए निकल गया। जिसके बाद आज सुबह महेंद्र की लाश घर के पीछे पेड़ पर लटकी मिली। इसकी सूचना परिजनों ने ही फरसगांव पुलिस को दी। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को फंदे से उतारा और पंचनामा तैयार कर पोस्टमार्टम कराकर शव को परिजनों को सौप दिया है। युवक ने आत्महत्या क्यों की इसका खुलासा फिलहाल नहीं हो पाया है।

परिजनों ने बताया की मृतक का 10 वर्ष पहले एक्सिडेंट हुआ था जिसके बाद से उसकी दिमागी हालत ठीक नही थी। कभी कभी वह बेचैन सा रहता था एवं पागलों जैसा हरकत भी किया करता था। इस घटना से मृतक के परिजनो मे शोक का मौहल है। फरसगांव पुलिस द्वारा मर्ग कायम कर घटना की जाँच कर रही है ।

Flood In Karala : केरल बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए आगे आया सर्वसमाज युवा वर्ग

कोंडागांव। केरल में आए प्राकृतिक आपदा की राहत के लिए पूरा देश खड़ा नजर आ रहा है। इसी कड़ी में अपनी जिम्मेदारी निभाते हुए कोंडागांव के सर्व धर्म युवा मंच ने नगरवासियों व नगर के प्रतिष्ठानों से चंदा जमा किया। इसके साथ ही उन्होंने अन्य लोगों से भी बाढ़ पीड़ितों की सहायता करने की अपील की। इन जमा राशि को वे केरल बाढ़ पीड़ितों की राहत के लिए लगाएंगे।

युवाओं ने जानकारी देते हुए बताया कि वे इन जमा राशि को कोंडागांव कलेक्टर के माध्यम से प्रधानमंत्री सहायता कोष में जमा कराया जाएगा।  इस दौरान हैदर बड़गुजर, अजय गुप्ता, नरहरि पटेल, प्रकाश जैन, अंकुर मुखर्जी, आलम, इरफान अली, जमाल बड़गुजर व अन्य युवा शामिल रहे।

Marking Camp : कलेक्टर नीलकंठ ने 308 दिव्यांगों को जारी किया प्रमाण पत्र

कोण्डागांव। जनपद पंचायत केशकाल अन्तर्गत शासकीय उच्चतर माध्यमिक बालक छात्रावास धनोरा में दिव्यांगजनों के स्वास्थ्य परीक्षण, प्रमाणीकरण एवं यूडीआईडी कार्ड के पंजीयन के लिए हितग्राहियों का चिन्हांकन शिविर सम्पन्न हुआ। निशक्तता प्रमाणीकरण शिविर में लक्ष्य से अधिक दिव्यांगजनों ने अपना पंजीयन करवाया और लगभग उनके परिजनों को मिलाकर 1000 लोग शिविर स्थल में उपस्थित हुए।

उल्लेखनीय है कि जिला कलेक्टर नीलकंठ टीकाम के मार्गदर्शन एवं निर्देशानुसार जिले के जनपद पंचायतों/नगरीय निकायों के क्षेत्रान्तर्गत निवासरत दिव्यांगजनों के लिए चिन्हांकन शिविर आयोजित किए जा रहे हैं। इस अवसर जिला कलेक्टर नीलकंठ टीकाम ने कहा कि दिव्यांगजन भी समाज के अभिन्न अंग है और समाज में सम्मान पूर्वक जीवन यापन के अधिकारी है। निःशक्तजनों के सामाजिक पुर्नवास और समुदाय में उनकी भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए वृहद स्वास्थ्य शिविरों का आयोजन किया जा रहा है। उन्हें बाधारहित वातावरण देने का प्रयास करना हम सभी का दायित्व है। इस दौरान कलेक्टर ने दिव्यांगजनों से सीधा संवाद करते हुए उन्हें भरोसा दिलाया कि प्रशासन उनकी भलाई के लिए प्रतिबद्ध है और सभी दिव्यांगजनों को समुचित परामर्श एवं मार्गदर्शन देने के प्रयास निरंतर जारी रहेंगे।

इस अवसर पर स्वास्थ्य एवं समाज विभाग एवं जनपद पंचायत ने सभी व्यक्तियों के लिए परिवहन सुविधा, मध्यान्ह भोजन, पेयजल इत्यादि व्यवस्था की थी। मौके पर कक्षा आठवी में पढ़ने वाले अस्थि बाधित छात्र अरुण मरकाम के सुंदर लेखन को देखकर कलेक्टर नीलकंठ टीकाम ने उसकी विशेष रुप से सराहना करते हुए प्रोत्साहित किया। शिविर में 308 दिव्यांगो का चिन्हांकन, 06 निःशक्तजनों को ट्राईसायकल, 10 श्रवण बाधित हितग्राहियों को श्रवण यंत्र तथा 03 व्यक्तियों को बैसाखी दिए गए।

इस मौके पर एसडीएम केशकाल धनंजय नेताम, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास जी.एस.सोरी, सीईओ जनपद केशकाल आर.बी.ध्रुव, उप संचालक पंचायत जे.पी. सिंह, स्वास्थ्य विभाग एवं समाज कल्याण विभाग के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे।

Dengue Patients : कोण्डागांव में भी डेंगू के 4 मरीज, लीपापोती में जुटा स्वास्थ्य विभाग

कोण्डागांव। डेंगू पूरे प्रदेश में पैर पसार रहा है। लगातार डेंगु के मामले प्रकाश में आने के बाद प्रदेश में डेंगु को महामारी घोषित कर दिया गया है। साथ ही इसके रोकथाम के लिए बेहतर प्रचार-प्रसार, साफ-सफाई आदि के निर्देश दिए जा रहे है। इसी बीच कोण्डागांव जिला में भी डेंगु ने अपनी दस्तक दे दी है। दूसरी ओर स्वास्थ्य विभाग की इस मामले में लिपापोती शुरू हो गई है। स्वास्थ्य विभाग के रिपोर्ट के अनुसार कोण्डागांव में अब तक मात्र 2 डेंगु के मरीज पाए गए है। इतना ही नहीं इन मरीजों को कोण्डागांव में नहीं बल्कि बाहर से लौटकर आने पर हुआ है। जबकि हकीकत कुछ और ही है।

जानकारी अनुसार, कोण्डागांव में 4 से अधिक डेंगु के मरीज पाए गए है, जिनकी जानकारी मिटाने में विभाग जुट गया है। वहीं डेंगु से पाजीटिव पाए गए मरिजों को तत्काल उपचार के लिए जगदलपुर या अन्य हायर सेंटर रिफर कर दिया गया है।

जिला के चिकित्सा विभाग के एक आधिकारिक पत्र अनुसार नगर पालिका कोण्डागांव अंतर्गत आरईएस कालोनी में निवासरत कविता पिल्ले (42) पति सुरेन्द्र पिल्ले और विकास खण्ड फरसगांव अंतर्गत जुगानी कैंप में निवासरत आंगनबाड़ी कार्यकर्ता पुष्पा राय (48) पति गंगाधर राय को डेंगु पाजीटिव है। इस विभागीय पत्र के अनुसार दोनों मरिजों को उपचार के लिए हायर सेंटर जगदलपुर रिफर कर दिया गया है। वहीं कविता पिल्ले के दो बच्चे है, इनमें से छोटी बेटी अंजली जो मात्र 8 वर्ष की है, उसका नाम स्वास्थ्य विभाग ने डेंगु पाजीटिव मरिजों के सूची में शामिल नहीं किया है। अंजली के चाचा हरिश पिल्ले के अनुसार जब अंजली का जिला अस्पताल आरएनटी में जांच करवाया गया तो उसे डेंगु के बजाय किसी और बिमारी से ग्रसित बताया गया था। इसी तरह जिला अस्पताल आरएनटी के लैब में डेंगु के पाजीटिव पाए गए कोण्डागांव भेलवापदर निवासी नंद किशोर ठाकुर (20) का नाम डेंगु मरिजों की सूची से गायब है। नंद किशोर ठाकुर को उपचार के लिए 15 अगस्त के दिन जिला अस्पताल में भर्ती किया गया था, जिसके बाद उसे इसी दिन रिफर कर दिया गया है। इसी तरह अनामिका सिंह (19) पिता जितेंद्र सिंह के नाम को भी इस सूची से दूर रखा गया है। हालाकि अनामिका सिंह को कोण्डागांव जिला के बहार से डेंगु हुआ था और उसका उपचार भी कोण्डागांव के किसी शासकीय अस्पताल में नहीं बलकि निजी अस्पताल से किया गया है।

मिडिया के सवाल के बाद जागा नगर पालिका का सफाई विभाग

डेंगु बिमारी से बचाव और सुरक्षा के बारे में जब हमारे प्रतिनिधि ने कोण्डागांव नगर पालिका के स्वच्छता निरीक्षक भुपेन्द्र सिंह से पूछा कि डेंगु से बचाव के लिए क्या किया गया है, तो उन्हों कह दिया कि अब सफाई किया जाएगा और मुनादी भी आज से शुरू हो जाएगा। जबकि प्रदेश स्तर से विशेष तौर पर डेंगु से निपटने के लिए हिदायत जारी किया जा चुका है। इससे साफ हो जाता है कि, पालिका प्रशासन किस तरह खतरे के लिए तैयार है। खतरे के दस्तक से पहले ही जहां तैयारी हो जानी थी वहीं सवालों से बचने के लिए यहां तैयारी की जा रही है।

कैसे होता है डेंगु, कैसे बचाए खुद को

डेंगु के बारे में जानकारी देते हुए डॉ. सुरज राठौर ने बताया कि, एडिस प्रजाति का मादा मच्छर से डेंगू होता है। ये मच्छर रुके हुए पानी में अपना लारवा डालकर पनपते है। इस मौसम में उन्हे आसानी से लारवा डालने के लिए रूका हुआ पानी मिल जाता है, और वे तेजी से पनपते है, जिससे डेंगू होता है। डेंगु या इस तरह के अन्य बिमारी से बचाव के लिए स्वास्थ्य विभाग आईडीएसपी (इंटिग्रेटेड डिसीस सर्विलेंस प्रोग्राम) प्रतिदिन चलता है, इससें संक्रामक बीमार का रिपोर्टिंग होता है और रिपोर्ट के आधार पर इलाज या जरूरत पड़ने पर कैंप का आयोजन। डेंगु का लक्षण भी अन्य बीमारियों से अलग है, एडिस मच्छर के काटने के बाद 3 से 14 दिन बाद इस असर दिखता है। इसके असर में तेज ठंड बुखार, शरीर व जोड़ो में दर्द, भूख में कमी, सर और आंखों में दर्द होना शामिल है। वहीं गंभीर लक्षण में आंख नाक से खून व लाल धब्बे आना शामिल है। इस बिमारी का उपचार भी सिंटोमेटिक है। इसके लिए स्वस्थ्य केन्द्र में लक्षण अनुसार उपचार किए जाते है।

वर्जन

स्वास्थ्य विभाग के जिला चिकित्सा व स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एसके कनवर के अनुसार कोण्डागांव में अब तक मात्र 3 डेंगु के मरीज पाए गए हैं जिनमें सभी पॉजीटिव पाए गए हैं। मरिजों को तत्काल उपचार के लिए जगदलपुर या अन्य हायर सेंटर रिफर कर दिया गया है।

 

Tribute : राजनीति के भीष्म पितामह वाजपेयी को भाजपा कार्यकर्ताओं ने नम आंखों से दी श्रद्धांजलि

कोण्डागांव। राजनीति के भीष्म पितामह, पूर्व प्रधानमंत्री, भारतरत्न अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर आज फरसगांव मंडल के भाजपा कार्यकर्ताओं ने उनको श्रद्धांजलि अर्पित की इस दौरान अटलजी के छायाचित्र पर पुष्प माला अर्पित कर उनके याद में दो मिनट का मौन धारण कर श्रद्धा सुमन अर्पित की गई। तत्पश्चात सभा में उनके जीवन के बारे में चर्चा करते हुए भारतीय जनता पार्टी की इस अपूरणीय क्षति के लिए शोक व्यक्त किया गया।

सभा में पूर्व जिलाध्यक्ष प्रवीर सिंह बदेशा ने कहा कि पृथक छत्तीससगढ़ राज्य का सपना प्रदेश के महापुरुषों, स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों, राजनीतिज्ञों, बुद्धिजीवियों और छत्तीससगढ़ वासियों ने देखा था। जिसे अटल जी ने छग राज्य बनाकर उन सबका सपना साकार किया। राज्य निर्माण में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी की भूमिका महत्वपूर्ण रही। प्रधानमंत्री आएंगे जाएंगे, मुख्यमंत्री आएंगे जाएंगे, लेकिन यह श्रेय अटल बिहारी बाजपेयी के साथ ही जुड़ा रहेगा कि उन्होंने प्रधानमंत्री रहते हुए छग राज्य निर्माण को मंजूरी दी ।

अगर अटल जी न होते तो शायद कोई छग राज्य स्थापना के बारे में नहीं सोचता। भाजपा के जिला महामंत्री तरूण साना ने कहा कि जब तक छग रहेगा अटल जी का नाम रहेगा, अटल जी के बारे मे जितना कहा जाए उतना कम है। भारतीय राजनीति में ऐसे नेता कभी कभार ही आते हैं। भारतीय राजनीति के पितामह अटल जी सभी दलों, धर्मों, और संप्रदायों के लिए आदर्श रहे।

उक्त शोक सभा में मुख्य रूप से अब्दुल रहमान, तुलसी साहू, प्रदीप पांडेय,  सुरेश जायसवाल, गणेश दुग्गा, एनपी सिंह, राजकुमारी, विश्वनाथ सिकदर, चक्रवर्ती, शिव कुमार नेताम, नारायण तिवारी, प्रशांत पात्र, उपस्थित रहे।

 

 

KSY : 10 अगस्त से 16 अगस्त तक नगर वार्ड में मोबाइल तिहार

कोटा। कोटा ब्लॉक के रतनपुर में  संचार क्रांति योजना के तहत 10 अगस्त से 16 अगस्त तक नगर के वार्डों में पात्र महिलाओं को मोबाइल फोन का वितरण किया जाएगा । इसी के तहत आज के कार्यक्रम में मुख्य अतिथि हर्षिता पांडे महिला आयोग की अध्यक्ष ने महामाया मंदिर परिसर के सूट भवन में  महामाया देवी की पूजा अर्चना कर मोबाइल तिहार का शुभारंभ किया ।

नगर पालिका रतनपुर से मिली जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि नगर में 10 अगस्त से 16 अगस्त तक पात्र हितग्राही महिलाओं को मोबाइल का वितरण किया जाएगा । जहां आज सर्वप्रथम महामाया मंदिर परिसर के सूट भवन में मोबाइल तिहार  आयोजन का कार्यक्रम रखा गया था । जहां पर सर्वप्रथम  मुख्य अतिथि, अध्यक्षता अतिथि और विशिष्ट अतिथि के द्वारा  महामाया देवी की चलचित्र पर पूजा अर्चना  किया गया  उसके बाद अतिथियों को  फूल माला पहनाकर स्वागत किया गया । इसके साथ ही पात्र हितग्राहियों को भी फूल माला पहनाकर स्वागत किया गया ।  जहां पर मुख्य अतिथि हर्षिता पांडे के द्वारा 34 हितग्राहियों को मोबाइल फोन का वितरण  किया गया है । जबकि नगर पालिका क्षेत्र में 13 28 हितग्राहियों को मोबाइल वितरण किया जाना है । इसी के तहत आज 10 अगस्त को मोबाइल तिहार कार्यक्रम में 2 75 महिला पात्र हितग्राहियों को मोबाइल वितरण किया गया है । इस शिविर में  नगर के  1 से 5 वाट की महिलाएं जहां पर उपस्थित होकर  मोबाइल वितरण के कार्यक्रम में शामिल हुई थी ।  जिसमें  छेदिन बाई, सोनी वार्ड क्रमांक 3, सरोज ठाकुर वार्ड क्रमांक 2, कमलाबाई  वार्ड क्रमांक 3 ,के साथ नगर के अन्य वार्ड  के महिला हितग्राहियों को भी  वितरण किया गया है । इस कार्यक्रम के दौरान कई महिलाओं ने महिला आयोग अध्यक्ष के साथ सेल्फी लिया । वही महिला बाल विकास मंत्री रमशीला साहू से बात चित्त की ।

हर्षिता पांडे महिला आयोग अध्यक्ष

बिहाव के बाद जिन महिलाओं को मोबाइल नहीं मिला था । उन्हें सरकार मोबाइल दे रही है । आज छत्तीसगढ़ में 45 हजार महिलाओं को मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह के द्वारा मोबाइल का वितरण किया जाएगा । सभी महिलाएं मुख्यमंत्री रमन सिंह को एक लिफाफे पर 5 रुपये का टिकट और 3 रुपये की राशि भेजें । और मोबाइल मिलने की खुशी जाहिर करते हुए उन्हें बधाई दें । आज  डॉक्टर मुख्यमंत्री रमन सिंह महिलाओं को पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलने के लिए आगे बढ़ा रहे है । महिलाओं के नाम राशन कार्ड मोबाइल तिहार योजना के तहत मोबाइल वितरण उज्जवला गैस योजना का लाभ दे रहे हैं ।

होरी सिंह ठाकुर मुख्य नगरपालिका अधिकारी रतनपुर

नगर में आज संचार क्रांति योजना के तहत 275 मोबाइल महिला हितग्राहियों को बांटा गया है वही 10 अगस्त  से 15 अगस्त तक 1328 मोबाइल का वितरण किया जाएगा ।

भाजपा मंडल अध्यक्ष कन्हैया यादव ने कहां की मोबाइल वितरण संचार क्रांति योजना के तहत निशुल्क वितरण किया जा रहा है जिससे कि सरकार तिहार के रूप में मना रही है रमन सिंह जो मोबाइल महिला नहीं खरीद पा रही थी उनके बारे में देने को सोचा था और आज वितरण मोबाइल तिहार के रूप में हमारे नगर में किया जा रहा है।इस दौरान कोटा राजस्व अनुविभागीय अधिकारी कीर्तिमान सिंह ,मुख्य नगरपालिका अधिकारी होरी सिंह ठाकुर, आशा सूर्यवंशी नगर पालिका अध्यक्ष रतनपुर ,थाना प्रभारी मान सिंह राठिया उपस्थित थे । जबकि इस मोबाइल तिहार वितरण के दौरान काशी राम साहू प्रभारी कोटा ,मोहित जायसवाल उपाध्यक्ष भाजपा बिलासपुर ,शिव मोहन बघेल जिला मंत्री ,घनश्याम रात्रे अ. जा.मो.  जिला अध्यक्ष बिलासपुर ,दुर्गा कश्यप महामंत्री युवा मोर्चा बिलासपुर, कन्हैया यादव मंडल अध्यक्ष रतनपुर, रवि ठाकुर मंडल उपाध्यक्ष रतनपुर, अनिल यादव ,नीतू सिंह  भाजपा महिला मोर्चा मंडल अध्यक्ष ,जयप्रकाश ,अहिल्या ठाकुर ,पुष्पा तिवारी, हकीम मोहम्मद, रविंद्र दूबे, दामोदर सिंह क्षत्री, लव कुश कश्यप,  सुरेश सोनी उपस्थित रहे।

 Hareli Fest : जिले में कल मनाया जाएगा हरेली का पर्व

कोण्डागांव। आषाढ़ कृष्ण अमावस्या के दिन आदिवासी समाज में हरेली का त्योहार धूमधाम से मनाया जाता है।

अमावस्या के दिन मनानें के कारण इसे अमुस तिहार के नाम से भी जाना जाता है। इसी दिन सीजन का नये भाजियों जैसे चरोटा,जिर्रा, धोबा आदि को पेन पुरखों एवं प्रकृति को अर्पित किया जाता है उसके बाद ही मूलनिवासियों समुदाय द्वारा इसे खाया जाता है इसलिए इसे भाजी जोगानी या कुसीर तिंदना पंडूम भी कहा जाता है ।                     

इस दिन किसान अलसुबह अपने घरों तथा खेंतों में भेलवा का टहनी एवं दशमूल के टहनियों तथा झगड़हीन फूल को खोचता है । ऐसा माना जाता है कि यह फसल के लिए रोग प्रतिरोधक होता है । गांव का गायता पशुधन एवं समस्त ग्रामवासियों के लिए वनौषधियों का वितरण करता बदले में गांव वाले उन्हें रोसई एवं शुल्क भेंटकर कृतज्ञता प्रकट करते हैं । सभी किसान इस दिन अपने कृषि उपकरणों एवं औजारों जैसे नागर ,कोपर, टंगिया, बसूला, हसिया ,कुदाड़ी आदि को धोकर, नव निर्मित गेड़ी या डिटोंग को साथ रखकर ,खपरे या साजा पेड़ की छाल में अंगार लेकर धूप का हुमजक देकर, महुये के फूल को भिगोकर उसके रस का तरपण कर ,नये भाजियों को जोगाकर ,मुर्गे का अपने पेन पुरखों को भेंट देकर, एवं बच्चों के द्वारा खेड़ा नाचकर हर्षोल्लास पूर्वक यह पर्व या पंडूम मनाया जाता है ।

सर्व आदिवासी समाज विकास खंड फरसगांव के महासचिव महेश कुमार नाग जी नें अंचल के समस्त लोगों को कुसीर तिंदना पंडूम या हरेली तिहार का बधाई देते हुए सभी की सुख समृद्धि का कामना किया है तथा कहा है कि यह साल का पहला तिहार नहीं है। हमारा नया साल चैत् माह से शुरू होता है। चैत माह में हम मर्रका पोलहना पंडूम या आमाजोगानी तिहार मनाते हैं उसके बाद बीज्जा पंडूम या बीज पुटनी या माटी तिहार मनाते हैं ।इस प्रकार यह हमारा तीसरे नंबर का पर्व या पंडूम है ।

 
Please Wait... News Loading
Visitor No.