GLIBS
अजीत जोगी ने बहु ऋचा जोगी को बनाया अपने विधानसभा क्षेत्र राजनांदगांव का प्रभारी

रायपुर। छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस के संस्थापक अजीत जोगी दिल्ली से उपचार कराकर लौटने के बाद चुनावी तैयारी में जुट गए हैं। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के गढ़ में सेंध लगाने की जिम्मेदारी अजीत जोगी ने अपने बेटा बहु ऋचा जोगी को सौंपी है। बता दें कि अजीत जोगी राजनादगांव से मुख्यमंत्री के खिलाफ चुनाव लड़ने का एलान  किया है। बताया जा रहा है मुख्यमंत्री के गढ़ में कैसे सेंध लगाया जाए कैसी रणनीति बनाई जाए इसके लिए उन्होंने ऋचा को जिम्मेदारी सौंपी हैं। अजीत जोगी ऋचा को बहु से ज्याद बेटी के रूप में मानते हैं। जोगी ने ऋचा को जिम्मेदारी सौंपते हुए एक पत्र जारी किया है। जोगी द्वेरा लिखे गए पत्र कुछ इस तरह से है.....

मैं आपको मेरे विधानसभा क्षेत्र राजनांदगांव का प्रभारी नियुक्त करता हूं, छत्तीसगढ़ के लोगों की सेवा ही जोगी परिवार का धर्म हैं. 

आशीर्वाद एवं शुभकामनाओं सहित

आपका पापा

ऋचा जोगी को राजनांदगांव के प्रभारी नियुक्त करने के बाद अजीत जोगी ने उन्हें लोगों से जनसंपर्क करने और स्थानीय लोगों से मेल जोल बढ़ाने के लिए कहा है। ऋचा जोगी के कामकाज पर अजीत जोगी स्वयं नजर रखेंगे और वे उन्हें गाइड भी करते रहेंगे। ऋचा जोगी के  राजनांदगांव प्रभरी नियुक्त होने पर राजनांदगांव के छत्तीसगढ़ जनका कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने प्रसन्नता व्यक्त की है। 

बस भाड़ा बढ़ाने अधिसूचना जारी, बसों का किराया भाड़ा बढ़ा 

रायपुर। छत्तीसगढ़ शासन ने बस भाड़ा बढ़ाने अधिसूचना जारी कर दी है। अधिसूचना जारी होने के साथ ही आज से यात्री बसों के किराये की नई दरें लागू कर दी गई है। महंगाई की मार से त्रस्त आमआदमी पर सरकार ने बढ़े किराया का बोझ लाद दिया है। बसों में सफर करने वाले आम आदमी को 18 फीसदी बढ़ा किराया देकर जेब ढीली  करनी होगी। मतलब अब बस संचालक पहले पांच किमी के लिए छह रुपया किराया लेंगे। उसके बाद किराए की दर बढ़ जाएगी। आरटीओ रायपुर ने बसों में नए किराया सूची चस्पा करने का निर्देश बस संचालकों को दिया है। आज से बढ़े किराये की दर से यात्रियों से निर्धारित किराया वसूला जाएगा। 100 किमी की सफर के लिए 15 से 20 रुपए अधिक किराया देना होगा। 

एक नजर चुनिंदा शहरों पर बस भाड़ा वृध्दी पर 

राजनांदगांव पहले 60 रुपए  और अब 71 रुपए

जगदलपुर 259 रुपए  की जगह 305 रुपए

रायगढ़ 210 रुपए  की जगह 248 रुपए 

कोरबा 200 रुपए की जगह 236 रुपए

बिलासपुर 99 रुपए की जगह 117 रुपए

जशपुर 393 रुपए की जगह 463 रुपए

महासमुंद 47 रुपए की जगह 56 रुपए

धमतरी 67 रुपए की जगह 79 रुपए

(नोट: रायपुर से चुनिंदा शहरों की यात्रा का अनुमानित किराया स्लैब, दूरी के आधार पर, किराया साधारण बस के हिसाब से)

बस किराया साधरण, डीलक्स, सुपर डीलक्स, स्लीपर, एसी व नॉन एसी सहित 10 श्रेणीओं में निर्धारित किया गया है, जिसमें साधारण व डीलक्स बसों में 6 रुपए प्रथम 5 किमी के बाद

1, साधरण बस, 1.00 रुपए,

2, साधरण बस , 1.10 रुपए रात्रीकालीन सेवा

3, डीलक्स बस, 1.30 रुपए,

4, डीलक्स बस, 1.40 रुपए, रात्रीकालीन सेवा,

5, डीलक्स  स्लीपर, 1.55 रुपए,

6, डीलक्स अर्ध स्लीपर एसी, 1.90 रुपए

7,डीलक्स स्लीपर एसी, 2.25 रुपए

सुपर डीलक्स बसों का किराया 7 रुपए प्रथम 5 किमी के बाद

8, वोल्वो सुपर डीलक्स एसी, , 2.20 रुपए

9, वोल्वो सुपर डीलक्स अर्ध स्लीपर एसी, , 2.50 रुपए

10, वोल्वो सुपर डीलक्स स्लीपर एसी, , 2.75 रुपए

 

 

 


वेतन विसंगती दूर करने शिक्षक पंचायत बनाएंगे साझा रणनीति

रायपुर। शिक्षाकर्मियों के संविलियन की घोषणा के बाद वर्ग तीन के शिक्षाकर्मियों की नाराजगी बढ़ गई है। इस वर्ग के शिक्षाकर्मी अब अपने ही नेताओं के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। वर्ग तीन के शिक्षाकर्मियों की नाराजगी को दूर करने संयुक्त शिक्षाकर्मी  छत्तीसगढ़ संघ के प्रदेश अध्यक्ष ने शिक्षकर्मी वर्ग तीन के शिक्षकों की वेतन विसंगती दूर करने साझा रणनीति बनाने की बात कहा है। 

संयुक्त शिक्षा कर्मी संघ और  शिक्षक पंचायत-नगरीय निकाय मोर्चा के प्रांतीय संचालक केदार जैन और संघ के महासचिव कार्तिक गायकवाड़ ने बताया कि सहायक शिक्षक पंचायत (शिक्षा कर्मी वर्ग 03) की पदोन्नति और  वेतन विसंगति सुधारने की मांग और  शिक्षक पंचायत संवर्ग की पदोन्नति एवं  क्रमोन्नत वेतनमान की मांग जायज है।

उनकी मांगों को लेकर संयुक्त शिक्षा कर्मी संघ चिंतित है। चूंकि सरकार ने अभी संविलियन की घोषणा कर विभागीय संविलियन की कार्यवाही कर रही है इसलिए वर्तमान परिस्थिति में हम सीधे आंदोलन के पक्ष में नही है।  संघ के नेताओं ने कहाव कि सरकार तक बात पहुंचाने का माध्यम केवल आंदोलन ही नही है, अपितु विधिवत चर्चा, भेंटवार्ता के माध्यम से बात रखी जाएगी।  इस कड़ी में संयुक्त शिक्षा कर्मी संघ के प्रांतीय महामंत्री शिवराज सिंह ठाकुर ने बताया की केंद्रीय कोर कमेटी के निर्णय के अनुसार संघ ने छत्तीसगढ़ शासन के पंचायत मंत्री, शिक्षा मंत्री, भारतीय जनता पार्टी के संगठन प्रमुखों, प्रशासनिक विभागीय प्रमुखों के समक्ष शिक्षा कर्मी वर्ग 03 की वेतन विसंगति,पदोन्नति, क्रमोन्नत वेतन,  अनुकंपा नियुक्ति, एल बी शब्द हटाने, स्थान्तरण आदि मांगो को प्रारंभिक चरण में प्रमुखता के साथ रख चुके  हैं। 

संयुक्त शिक्षा कर्मी संघ ने शिक्षक पंचायत नगरीय निकाय मोर्चा के समस्त प्रांतीय संचालको के साथ समन्वय स्थापित कर मोर्चा के प्रांतीय बैठक कर शिक्षक पंचायत  संवर्ग का संविलियन में रह गई कमियां- वर्ग 03 का वेतन विसंगति, पदोन्नति, क्रमोन्नत वेतन, अनुकंपा नियुक्ति, एल बी शब्द हटाने, स्थानान्तरण जैसे प्रमुख मांगो को मजबूती से शिक्षक पंचायत नगरीय निकाय मोर्चा सामूहिक रूप से प्रत्यक्ष भेंटवार्ता कर  मुख्यमंत्री छत्तीसगढ़ से  उपरोक्त मांगो को पूर्ण कराने का पहल सामूहिक रूप से करेगा। साथ ही वे मुख्यमंत्री के सम्मान भी करेंगे क्योकि सरकार ने शिक्षक पंचायत/नगरीय निकाय संवर्ग के हित में संविलियन रूपी बड़ा निर्णय भी लिया है।

क्रमोन्नत्ति व वेतन विसंगति दूर करने की मांग को लेकर छत्तीसगढ़ शिक्षक महासंघ ने दिया धरना 

रायपुर। छत्तीसगढ़ शिक्षक महासंघ के प्रांतीय आह्वान पर आज प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों में छत्तीसगढ़ शिक्षक महासंघ ने क्रमोन्नति और वेतन विसंगति को दूर करने की मांग को लेकर एक दिवसीय धरना दिया। शिक्षक महासंघ ने सरकार से विसंगति मुक्त संविलियन, संघ ने वरिष्ठता के आधार पर क्रमोन्नत वेतनमान निर्धारित करने के अलावा लंबित अनुकंपा नियुक्ति का निराकरण करे की मांग की है। 

छत्तीसगढ़ शिक्षक महासंघ के प्रांतीय प्रचार प्रमुख मनीष देवांगन ने  प्रेस विज्ञप्ति जारी कर बताया  कि छत्तीसगढ़ शिक्षक महासंघ ने शासन के संविलियन के निर्णय का स्वागत किया है, लेकिन विसंगति दूर ना होने के कारण इस पर निराकरण की मांग की है । महासंघ के प्रांतीय आह्वान पर आज एक दिवसीय सांकेतिक धरना देते हुए मुख्यमंत्री के नाम रायपुर एसडीएम को  ज्ञापन सौंपा।

विधायकों को घेरने निकले आप कार्यकर्ता, पुलिस ने रोका, ज्ञापन सौंपकर मांगा पांच साल का हिसाब 

रायपुर। आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने रविवार को प्रदेश के सभी 90 विधायकों का घेराव करने सड़क पर उतरे। आप कार्यकर्ताओं का आरोप है कि पक्ष और विपक्ष के विधायकों ने पांच साल तक केवल सत्ता का सुख भोगा है, इन लोगों ने जनता के लिए कोई कार्य नहीं किया। 

आप कार्यकर्ता राजधानी के सभी चारों विधायकों का घेराव करने बरसते पानी में सड़क पर उतरे। रायपुर दक्षिण विधानसभा का घेराव करने आप प्रत्याशी मुन्ना बिसेन आप कार्यकर्ताओं के साथ निकले। आप कार्यकर्ताओं को पुलिस ने नगर निगम कार्यालय के सामने रोक लिया। मुन्ना बिसेन के नेतृत्व में आप कार्यकर्ताओं ने तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा। आप प्रत्याशी मुन्ना ने रायपुर दक्षिण के विधायक और कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल से दस सवालों का जवाब मांगा है। आप नेता ने बृजमोहन अग्रवाल से जवाब मांगा है कि वे सुंदर नगर में बन रहे टोल प्लाजा जिसे सुप्रीम कोर्ट ने हटाने का निर्देश दिया है, उस खाली टोल प्लाजा को वे अब तक क्यों नहीं हटवा पाए। आप नेता ने मंत्री से उनके क्षेत्र में तालाबों के घट रहे रकबा को लेकर जवाब मांंगा है। इसके अलावा क्षेत्र में साफ सफाई और गरीबों को आवंटित 

बीएसयूपी मकानों की जर्जर स्थिति को लेकर आप नेता ने मंत्री से जवाब मांगा है। 

आप पार्टी के नेता ने रायपुर दक्षिण विधायक बृजमोहन अग्रवाल पर क्षेत्र की अनदेखी करने का आरोप लगाते हुए क्षेत्र में रुके हुए कार्य को जल्द पूरा करने की मांग की है। मांग पूरी नहीं होने की स्थिति में आप पार्टी के नेता ने विधायकों के घेराव के बाद आंदोलन करने की चेतावनी दी है। इसी तरह आप कार्यकर्ता रायपुर पश्चिम के विधायक राजेश मूणत, रायपुर ग्रामीण सत्यनारायण शर्मा और रायपुर उत्तर विधायक श्रीचंद सुंदरानी का घेराव करने सड़क पर उतरे।

 

कैटरीना को प्रशंसकों ने घेरा, 15 मिनट कार के अंदर फंसी रही

रायपुर। पंडरी इलाके में एक ज्वेलरी शो रूम के उद्घाटन करने पहुंची कैटरीना कैफ को उनके प्रशंसकों ने घेर लिया। इस वजह से वह करीब 15 मीनट तक कार से बाहर नहीं निकल पाई। पुलिस हस्तक्षेप के बाद वह कार से निकलने में कामयाब हो पाई। 

जानकारी के मुताबिक कैटरीना कैफ शनिवार शाम नागपुर में एक कार्यक्रम में शामिल होने के बाद रायपुर पहुंची। यहां वे एक ज्वेलरी शो -रूम का उद्घाटन करने के लिए आई हैं। बता दें कि कैटरीना के प्रशंसकों को उनके रायपुर आने के बारे में जानकारी मिली। शो रूम के बाहर कैटरीना की एक झलक पाने प्रशंसकों की भीड़ उमड़ पड़ी।

कैटरीना के प्रसंसकों को जैसे ही पता चला कैटरीना शो रूम के पास पहुंच गई है। प्रशंसकों की भीड़ सुरक्षा घेरा तोड़ते हुए कैटरीना के कार के नजदीक पहुंच गए। कैटरिना के सुरक्षा के लिए 150 पुलिस कर्मियों की ड्यूटी लगाई गई है। कैटरिना को भीड़ से बचाने पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी। भीड़ को हटाने के लिए पुलिस को हल्का बल प्रयोग करना पड़ा। भीड़ के छंटने के बाद पुलिस कैटरीना को कार से सुरक्षित बाहर निकालकर कड़ी सुरक्षा के बीच शो रूम के अंदर लेकर गई।

Exclusive : आत्मसमर्पित नक्सली दंपत्ति ने Glibs.in से बयां किया अपना दर्द

रायपुर। बीजापुर, बांसागुड़ा के एक आत्मसमर्पित नक्सली दंपत्ति इन दिनों रायपुर एंटी नक्सल आॅपरेशन में एसपीओ के रूप में तैनात हैं। ये वही नक्सली दंपत्ति हैं जो 16 अप्रैल 2010 को ताड़मेटला नक्सली वारदात में शामिल थे। नक्सली दंपत्ति अब हिंसा का रास्ता त्यागकर समाज की मुख्यधारा से जुड़कर सभ्य समाज के बीच जीवनयापन कर रहे हैं। इस दंपत्ति ने Glibs.in से चर्चा करते हुए बताया कि क्यों उन लोगों ने हिंसा का रास्ता त्यागकर समाज की मुख्यधारा से जुड़ना बेहतर समझा। नक्सली दंपत्ति की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए हम उनके नामों का खुलासा नहीं कर रहे हैं, इसलिए उस दंपत्ति का हम बदला हुआ नाम छाप रहे हैं।

बुधारू नाम के इस कृषक परिवार के युवक को वर्ष 2006 मे नक्सली नेता पापा राव ने सलवा जुडूम कैंप से उठाकर अपने दलम में शामिल कर लिया था। इस युवक को नक्सली नेता पापा राव ने अपने सानिध्य में रखकर इंसास और एसएलआर जैसे घातक हथियार चलाने की ट्रेनिंग दी। उसके बाद वह युवक आगे चलकर नक्सली नेता का बॉडीगार्ड बन गया। बता दें कि इस युवक का चाचा अभी भी नक्सली है और नक्सली घटना को अंजाम दे रहा है। इस युवक ने वर्ष 2016 में सरकार की योजनाओं से प्रभावित होकर अपनी पत्नी के साथ आत्मसमर्पण कर दिया।

डराकर ले गए थे नक्सली अपने साथ

बुधारू के मुताबिक सलवा जुड़ूम कैंप को जब खाली कराया गया, उस समय पापा राव ने उसे सुरक्षा बलों द्वारा मारे जाने का भय दिखाकर अपने साथ ले गया था। बुधारू कैंप में ही रहकर पढ़ाई कर रहा था। पापा राव के झांंसे में आकर वह डर गया और उसके साथ चले गया।

असिस्टेंट प्लाटून कमांडर और रमन्ना का सचिव रहा

पापा राव के साथ रहते हुए बुधारू एक वर्ष के भीतर इंसास चलाने के अलावा नक्सली संगठन को कैसे आर्गेनाइज करना है, इससे वह भली-भांति परिचित हो गया। इसके बाद बुधारू को वर्ष 2007 से 2009 के बीच हार्डकोर रमन्ना का सचिव बनाया गया। इसके अलावा उसे फर्स्ट बटालियन कंपनी का असिस्टेंट कमांडर बना दिया गया। असिस्टेंट कमांडर रहते हुए बुधारू ने कई बड़े नक्सली घटनाओं को अंजाम दिया है।

ताड़मेटला घटना में थे शामिल

ताड़मेटला में अप्रेल 2010 में नक्सलियों ने ताड़मेटला में कायराना घटना को अंजाम देते हुए सीआरपीएफ से वाहन को लैंड माइंस से उड़ा दिया था। इस घटना में 76 जवान शहिद हो गए थे। इस घटना में बुधारू भी शामिल था।बुधारू की मानें तो उसने घायल जवानों की रायफल छिनकर उन्हें मार दिया था और जवानों के रायफल और गोलियां छिनने का काम किया था।

इन्हें मिला था घेराव की जिम्मेदारी

बुधारू के मुताबिक लैंड माइंस विस्फोट के बाद वैन में सीआरपीएफ के जवान भाग न पाए, इसके लिए उन्हें घेराव पार्टी की जिम्मेदारी दी गई थी। लैंड माइंस विस्फोट जैसे ही हुआ बुधारू अन्य नक्सलियों के साथ मिलकर सीआरपीएफ वैन को घेर लिया और जवान बच के न जा सके इसके लिए इन लोगों ने उन पर ताबड़तोड़ फायरिंग किया।

ग्रामीणों को सरकारी योजना की जानकारी नहीं

बुधारू के मुताबिक बस्तर के अंधरूनी गांवो में आज भी लोगों को सरकारी योजना के बारे में पूरी तरह से जानकारी नहीं है। इसी बात का नक्सली फायदा उठाते हैं और ग्रामीणों को जनताना सरकार बनाने का सब्जबाग दिखाकर बरगलाने का काम कर रहे हैं। सीधे-साधे ग्रामीण नक्सलियों के बहकावे में आ जाते हैं और उन्हें मुफ्त में राशन सामग्री दे देते हैं। इसके अलावा झांसे में आए ग्रामीण नक्सलियों को पुलिस गतिविधियों के बारे में अनजाने में जानकारी देने का काम करते हैं।

इस वजह से हुआ मोह भंग

बुधारू ने बताया कि वो और उनके साथी पुलिस से बचने मारे-मारे फिर रहे हैं और कथित जनताना सरकार एक दिव्य स्वप्न है। बुधारू के पिता के निधन होने के बाद वह उसका अंतिम संस्कार करने नहीं जा सका। उसके बाद उसकी मां की मौत हो गई, उसमें भी वह जा नहीं पाया। इस वजह से उसका नक्सल गतिविधियों से मन उब गया और वह अपनी पत्नी के साथ आत्मसमर्पण करने का मन बनाया।

नक्सलियों ने कराई थी शादी

बुधारू के मुताबिक वह अपनी पत्नी को तब से जानता है, जब वह 2009 में बटालियन निर्माण के लिए आई थी। उसकी पत्नी भी ताड़मेटला घटना में शामिल रही हैं। बुधारू की पत्नी बटालियन दो की नेतृत्व कर रही थी। बुधारू के मुताबिक 2013 में नक्सलियों की एक मीटिंग में नक्सली नेता हिड़मा के पास शादी करने की इच्छा व्यक्त किया था। इसके बाद हिड़मा ने बटालियन दो  की जिम्मेदारी संभाल रही लड़की से एक सादे समारोह में विवाह कराया।

ऐसे होता है विवाह

बुधारू के मुताबिक कोई भी नक्सली संगठन से चार साल तक जुड़कर काम करते हैं उन्हें शादी करने की अनुमति मिलती है। चाहे वह लड़का हो या लड़की। शादी का प्रस्ताव मिलने के बाद नक्सली नेता एक मीटिंग बुलाते हैं, उसमें प्रस्ताव पास किया जाता है। उसके बाद विवाह योग्य लड़का-लड़की तलाश की जाती है।

जगह बदल-बदल कर रह रहे 

बुधारू के मुताबिक नक्सली उन्हें किसी तरह से नुकसान नहीं पहुंचा सके इसलिए वो पुलिस सुरक्षा में जगह बदल-बदल कर रह रहे हैं। बुधारू गांव में अपने परिजनों और साथियों से मिलने के लिए महिनों में कभी कभार जाते हैं। बुधरू को डर है कि नक्सली उन्हें कभी भी नुकसान पहुंचा सकते हैं। बावजूद इसके वे अपने और अपने समाज की सेवा करने तत्पर हैं और वो अब अपनी पत्नी के साथ समाज की मुख्य धारा से जुड़कर खुश हैं। बुधरू और उसकी पत्नी सरकार और पुलिस से मिले मदद की तारीफ करते नहीं थक रहे

Exclusive : अंतर्राज्यीय कार चोर पुलिस के हत्थे चढ़े 

रायपुर। उत्तर प्रदेश के दो अंतर्राज्यीय कार चोर को क्राइम ब्रांच पुलिस ने गिरफ्तार किया है। दोनों कार चोर चांपा जाने के लिए कार बुक किया था और साइंस सेंटर के पास कार चालक को गुटखा लाने भेजकर कार को ले उड़े थे। पुलिस कार चोरों से पूछताछ कर रही है। 

जानकारी के मुताबिक पुलिस ने जिन दो कार चोरों को पकड़ा है उसमें से एक उत्तर प्रदेश फैजाबाद का है दूसरा बनारस का रहने वाला है। कार के चालक अशोक चौहान ने Glibs.in इन को बताया कि टाटीबंद में दो युवक कार के मालिक हरदीप सिंग से चांपा जाने आर्टिगो कार सीजी 04 एचजी 3380  बुक किया। दोपहर सवा तीन बजे कार विधानसभा थाना क्षेत्र साइंस सेंटर के पास पहुंची। कार सवार युवकों ने कार चालक को सौ रुपए देकर पास के पान ठेले में गुटखा लाने भेज दिया। कार चालक जब गुटखा लेकर आया तो देखा कार और उसमें सवार दोनों युवक कार लेकर फरार हो गए हैं। इसके बाद अशोक ने पुलिस कट्रोल रूम को कॉल कर घटना की जानकारी दी। क्राइम ब्रांच पुलिस ने घेराबंदी कर कार को पलारी के पास घेर लिया। पुलिस को आते देख चोरों ने कार की रफ्तार बढ़ा दिया। इसी बीच कार का एक्सीडेंट हो गया। कार के एक्सीडेंट होने के बाद पुलिस ने दोनों कार चालक को पकड़ लिया। 

तीन साल से खड़े बंगलादेशी विमान को रनवे से हटाया गया 

रायपुर। पिछले तीन साल से  स्वामी विवेकानंद एयरपोर्ट पर खड़ी यूनाइटेड बंगलादेश के विमान का स्थान परिवर्तित कर रनवे के पश्चिम दिशा में कर दिया गया है।  जहां से प्रचालन में कोई व्यवधान नहीं होगा। इस कार्य को 20 जुलाई 2018 को यूनाइटेड बंगलादेश के प्रतिनिधि  इनायत हुसैन, सहायक प्रबंधक (इंजीनियरिंग) एवं  सुभंकर बनर्जी, सहायक महाप्रबंधक,कोलकाता के उपस्थिति में एयर इंडिया के सहयोग से किया गया। 

यह कार्य दोपहर 1:50 को शुरू की गई एवं 2:30 दोपहर समाप्त हो गई।यूनाइटेड बंगलादेश द्वारा खाली किए गए स्थान पर आने वाले चुनाव में छोटे-छोटे विमानों को रखने में सहुलियत होगी। बाद में इसी स्थान पर समानांतर टैक्सी ट्रैक बनाने की भी योजना है। इस कार्य में पूर्ण सहयोग देने के लिए  राकेश सहाय विमानपत्तन निदेशक ने विशेष कर एयर इंडिया को धन्यवाद दिया। इस कार्य के बाद भारतीय विमानत्तन प्राधिकरण बकाया राशि के लिए यूनाइटेड बंगलादेश पर दबाव बनाएगी एवं कंपनी को अपने विमान को शीघ्र वापस ले जाने के लिए कहेगी।  

 बता दें कि बंगलादेश का एक विमान आपात लैंडिंग के बाद से छत्तीसगढ़ के रायपुर स्थित माना एयरपोर्ट पर खड़ा है। तीन साल पहले 7 अगस्त को इस यात्री विमान की उस समय इमरजेंसी लैंडिंग कराई गई थी जब यह विमान ढाका से मस्कट के लिए उडान भर रहा था। तीन साल बीतने के बाद भी इस विमान को वापस ले जाने बंगलादेश ने रूचि नहीं ली। बताया गया है कि इस विमान की लैंडिंग के एवज में किराया 70 लाख रूपए हो चुका है। 

Exclusive : बांग्लादेसी एयरलाइंस के अधिकारी विमान लेने रायपुर आए

रायपुर। राजधानी के स्वामी विवेकानंद एयरपोर्ट में बांग्लादेश की विमान पिछले तीन वर्षों से खड़ी है। डीजीसीए के लगातार पत्र लिखने के बाद भी बांग्लादेसी सरकार विमान को ले जाने के संबंध में कोई जवाब भारत सरकार और डीजीसीए को नहीं दे रही थी। शुक्रवार को बांग्लादेश एयरलाइंस के कुछ अधिकारी विमानको लेने  रायपुर पहुंचे हैं। बांग्लादेश एयरलाइंस के अधिकारियों की अभी तक रायपुर में एयरलाइंस के अधिकारियों से मुलाकात नहीं हुई है।

स्वामी विवेकानंद एयरपोर्ट के निदेशक राकेश सहाय ने ग्लिब्स को बताया कि उन्हें बांग्लादेश एयरलाइंस के अधिकारियों के ाने के बारे में सूचना मिली है, लेकिन वे खबर लिखे जाने तक डायरेक्टर से नहीं मिले हैं। एयरपोर्ट के डायरेक्टर के मुतबिक यहां तीन साल तक विमान लैंड कर रखने  का किराया 60 लाख रुपए तक पहुंच चुका है। बांग्लादेश एयरलाइंस के अधिकारी विमान रखने का किराया देकर विमान को ले जा सकते हैं। 

किराया कम करने हो सकती है बात 

बता दें कि बांग्लादेश एयरलाइंस के अधिकारी विमान को वापस अपने देश ले जाने के लिए किराया भाड़ा कम करने की बात कर सकते हैं। किराया भाड़ा में समझौता नहीं होने की स्थिति में डीजीसीए बांग्लादेसी सरकार को विमान को वापस देने से इंकार कर सकती है।

फेसबुक से दोस्ती के बाद हुआ प्यार, फिर शादी का झांसा देकर किया दुष्कर्म

रायपुर। सोशल मीडिया का नशा वर्तमान पीढ़ी के सिर चढ़कर बोल रहा है।  इसके जरिए से दोस्ती, प्यार ओर धोखा के कई मामले सामने आने के बाद भी लोग लापरवाही बरत रहे हैं।  ऐसा ही एक मामला गंज थाने में सामने आया है। पेशे से डेंटिस्ट युवती ने सीए की पढ़ाई कर रहे एक युवक के खिलाफ शादी करने का प्रलोभन देकर डेढ़ साल से दैहिक शोषण करने की रिपोर्ट दर्ज कराई है। युवती की शिकायत पर पुलिस अपराध दर्ज कर आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया है। 

 

पुलिस के मुताबिक देवेन्द्रनगर निवासी राहुल मित्तल के खिलाफ गायत्री नगर निवासी 28 वर्षीय युवती ने दैहिक शोषण करने का आरोप लगाई है। युवती की  शिकायत के आधार पर पुलिस ने राहुल को गिरफ्तार किया है। युवती अंबेडकर अस्पताल में डेंटिस्ट है। राहुल और युवती एक दूसरे के संपर्क में डेढ़ वर्ष से थे। राहुल और युवती फेसबुक के माध्यम से नवंबर 2017 में एक दूसरे के संपर्क में आए। उसके बाद दोनों के बीच बातचीत चलती रही। इसी बीच दोनों  एक दूसरे को चाहने लगे। युवक ने युवती को शादी का झांसा देकर उसके साथ दैहिक संबंध बनाया, जब युवती ने शादी का दबाव बनाया तो युवक मुकर गया। 

 

Please Wait... News Loading
Visitor No.