GLIBS
योगी आदित्यनाथ की सुरक्षा में बड़ी चूक, खेत में कराई हैलीकाप्टर की लैंडिंग 

कासगंज। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सुरक्षा में एक बड़ी चूक सामने आई है। दरअसल, योगी आदित्यनाथ हैलीकाप्टर से कासगंज के लिए रवाना हुए लेकिन कासगंज में प्रशासन द्वारा मानक के अनुसार हैलीपैड नहीं बनाए जाने के कारण उनका हैलीकाप्टर हैलीपेड में नहीं उतारा जा सका। ऐसे में पायलट ने सूझबूझ दिखाते हुए खेत में हैलीकाप्टर की लैंडिंग कराई। बताया जा रहा है कि प्रशासन ने तय मानक से छाटा हैलीकाप्टर बना दिया था।

सुरक्षा मुख्यालय ने जांच के दिए आदेश 

हैलीपैड सुरक्षा मुख्यालय ने मुख्यमंत्री की सुरक्षा में चूक को देखते हुए जांच के दिए आदेश दिए हैं। बता दें कि मुख्यमंत्री के हेलीपैड के लिए डीएम जगह तय करते हैं और उनके द्वारा तय की गई जगह में पीडब्ल्यू द्वारा हैलीपैड का निर्माण कराया जाता है। सीएम की सुरक्षा में चूक का मामला लखनऊ में पंचम तल से लेकर सुरक्षा°f मुख्यालय और डीजीपी मुख्यालय में हड़कंप मच गया।

5वीं-8वीं का रिजल्ट जारी, लड़कियों ने मारी बाजी  

रायपुर। जिले के 5वीं-8वीं बोर्ड के नतीजे मंगलवार सुबह घोषित कर दिए गए। इस बार भी जिले की बेटियों ने बाजी मारी है। ग्रेडिंग सिस्टम से जारी हुए परिणाम में 8वीं कक्षा में 10.98% बच्चों ने ए ग्रेड, 34.81% बच्चों ने बी ग्रेड 43.68 % बच्चों ने सी ग्रेड और 10.53% बच्चों ने डी ग्रेड हासिल किए हैं। 
वहीं 5वीं की परीक्षा में 19.80% ए ग्रेड, 42.92% बी ग्रेड, 33.45% सी ग्रेड, 9.06% बच्चों ने डी ग्रेड हासिल किए हैं। बता दें कि जिले के अभनपुर, आरंग, धरसींवा और तिल्दा मिलाकर कुल 41 हजार बच्चों ने 8 की परीक्षा में शामिल हुए थे। बता दें कि 9 मई को 10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षाओं के रिजल्ट माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा घोषित किए गए थे, जिसमें शत-प्रतिशत परिणाम सामने आए थे।

पाकिस्तान ने फिर किया सीजफायर का उल्लंघन, एक जवान शहीद

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर के सांबा सेक्टर में पाकिस्तान ने एक बार फिर सीजफायर का उल्लंघन किया है। इस दौरान पाकिस्तान की ओर से की गई फायरिंग में एक बीएसएफ जवान के शहीद होने की खबर है। बता दें कि मई महीनों की शांति के बाद पीएम नरेन्द्र मोदी की जम्मू कश्मीर यात्रा से ठीक चार दिन पहले पाकिस्तान की यह करतूत सामने आई है। जानकारी के अनुसार पाकिस्तानी सैनिकों ने मंगुचक इलाके में स्थित चौकियों पर बीती रात करीब 11 बजे अंधाधुंध गोलीबारी शुरू कर दी। ऐसे में सुरक्षाबलों ने जवाबी फायरिंग करते हुए मुंहतोड़ जवाब दिया। इसी बीच कांस्टेबल देवेंद्र सिंह को गोली लग गई। उन्हें तुरंत अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका।  

जम्मू में हाई अलर्ट 

बता दें कि करीब 24 घंटे पहले ही बीएसएफ के जवानों ने कठुआ जिले के नजदीक हीरानगर सेक्टर में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पांच व्यक्तियों की संदिग्ध गतिविधि देखी थी। इन लोगों के बारे में माना जाता है कि वे आतंकवादी हैं और भारत में प्रवेश की कोशिश कर रहे थे। इसके बाद व्यापक खोज अभियान चलाया गया और जम्मू में हाई अलर्ट घोषित किया गया।  

रोड रेज मामला: नवजोत सिंह सिद्धू पर फैसला आज 

चंडीगढ़। पूर्व क्रिकेटर और पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के रोडरेज मामले में मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट फैसला सुनाएगा। कोर्ट के फैसले का पंजाब की राजनीति पर गहरा प्रभाव पड़ सकता है। इसके परिणाम स्वरूप पंजाब कांग्रेस में बड़ा बदलाव हो सकता है। फिलहाल, फैसले को लेकर पंजाब की राजनीति में हलचल तेज हो गई है वहीं समर्थकों में खामोशी छाई हुई है।

यह है पूरा मामला

1988 में सिद्धू का पटियाला में कार से जाते समय गुरनाम सिंह नामक बुजर्ग व्यक्ति से झगड़ा हो गया। आरोप है कि उनके बीच हाथापाई भी हुई और बाद में गुरनाम सिंह की मौत हो गई। इसके बाद पुलिस ने सिद्धू और उनके दोस्त रुपिंदर सिंह सिद्धू के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज किया। बाद में ट्रायल कोर्ट ने सिद्धू को बरी कर दिया। इसके बाद मामला पंजाब एवं हाईकोर्ट में पहुंचा। 2006 में हाई कोर्ट ने नवजोत सिंह सिद्धू और रुपिंदर सिंह को दोषी करार दिया और तीन साल कैद की सजा सुनाई। उस समय सिद्धू अमृतसर से भाजपा के सांसद थे और उनको लोकसभा की सदस्यता से इस्तीफा देना पड़ा था। सिद्धू ने सुप्रीम कोर्ट में अपील की और सुप्रीम कोर्ट ने सिद्धू की सजा पर अंतरिम रोक लगा दी थी। इसके बाद हुए उपचुनाव में सिद्धू एक बार फिर अमृतसर से सांसद चुने गए।

 

मोदी सरकार में बड़ा फेरबदल, राज्यवर्धन राठौड़ बने नए सूचना मंत्री

नई दिल्ली। केन्द्रीय मंत्रिमंडल में बड़ा फेरबदल किया गया है। केन्द्रीय युवा कार्यक्रम और खेल राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) राज्यवर्धन राठौड़ को सूचना मंत्री का जिम्मा सौंपा गया है। वहीं अरूण जेटली की तबीयत खराब होने के कारण पीयूष गोयल को वित्तमंत्री का अस्थाई जिम्मा सौंपा गया है। दरअसल, पीयूष गोयल को वित्त मंत्रालय का अतिरिक्त कार्यभार सौंपा गया है। 

स्मृति से छीना सूचना मंत्रालय 

स्मृति ईरानी से सूचना मंत्रालय छीन लिया गया है, लेकिन उनके पास कपड़ा मंत्रालय बना रहेगा। इनके अलावा एसएस अहलूवालिया को इलेक्ट्रॉनिक्स राज्य मंत्री बनाया गया है। इससे पहले इलेक्ट्रॉनिक्स मंत्रालय केंद्रीय मंत्री अल्फोंस कनन्नथानम के पास था।  

बंगाल पंचायत चुनाव के दौरान भड़की हिंसा में 13 लोगों की मौत, कई घायल 

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल में पंचायत चुनाव के नामांकन के दिन से शुरू हुई हिंसा में अब तक 13 लोगों की मौत हो जाने की खबर है। बता दें कि राज्य में सोमवार सुबह 7 बजे से मतदान चल रहा था। मतदान शुरू होते ही हिंसा और भी तेज हो गई। बम धमाके, मारपीट, मतदान पेटी जलाने, बैलेट पेपर फेंकने और मारपीट की घटनाएं सामने आई हैं। 24 परगना जिले के कुलताली इलाके में एक टीएमसी कार्यकर्ता आरिफ गाजी की गोली मारकर हत्या की गई।  इस वारदात से इलाके में तनाव देखा जा रहा है।  वहीं 24 परगना के ही साधनपुर में देसी बम फटने से 20 लोग बुरी तरह घायल हो गए। इसके अलावा भी कई जगहों पर सड़क जाम करने समेत बूथ कैप्चरिंग की खबर है।मुर्शिदाबाद में निर्दलीय उम्मीदवार की गोली मारकर हत्या कर देने की भी खबर है। 

20 जिलों में चुनाव

राज्य में 621 जिला परिषदों , 6,157 पंचायत समितियों और 31827 ग्राम पंचायतों में चुनाव हो रहे हैं। 

मतदान के दौरान सुरक्षा में कई प्रदेश के लगभग 1,500 सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया है। 

सुप्रीम कोर्ट का आदेश

बंगाल में काफी विवाद के बाद पंचायत चुनाव हो रहे हैं। सत्ताधारी टीएमसी पर दूसरी पार्टी के उम्मीदवारों को नामांकन से रोकने के आरोप लगने के बाद मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गया था। जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने 10 मई को अपने आदेश में कहा था कि राज्य चुनाव आयोग ऐसे उम्मीदवारों को विजयी घोषित न करे, जहां किसी और पार्टी के उम्मीदवार नामांकन न कर पाए हों। बता दें कि टीएमसी के ऐसे करीब 18 हजार उम्मीदवार हैं। आज वोटिंग के बाद मतगणना 17 मई को होगी।

 

नवाज के बयान से पाक में बवाल, राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद ने बुलाई आपात बैठक

इस्लामाबाद। मुंबई हमले को लेकर पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ द्वारा दिए गए बयान को लेकर पाकिस्तान में बवाल मच गया है। इसे लेकर सोमवार को आनन-फानन में राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद की बैठक बुलाई गई। करीब ढाई घंटे चली इस बैठक में पाक सुरक्षा विभाग के उच्च अधिकारी शामिल रहे। बता दें कि नवाज शरीफ ने हाल ही में अपने एक बयान में कहा था कि मुंबई हमले में पाकिस्तान का ही हाथ था, लेकिन जैसे पाक में इस बयान को लेकर बवाल शुरू हुआ तो वे अपने बयान से पलट गए। 

नवाज ने दी सफाई, कहा-मैंने सवाल किया

नवाज ने सफाई देते हुए कहा कि कहा कि उन्होंने यह स्वीकार नहीं किया है कि मुंबई हमले के पीछे पाकिस्तान का हाथ था। उन्होंने कहा कि मैंने मुंबई हमले पर सवाल किया था जिसका मुझे जवाब मिलना चाहिए था।  नवाज  ने कहा कि किसी भी बात को बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया जाता है, यही कारण है कि दुनिया पाकिस्तान का पक्ष नहीं सुनती है। उन्होंने कहा कि यह सवाल किया जाना बेहद जरूरी है कि आखिर ऐसा क्यों है? शरीफ ने कहा कि मुंबई हमले पर सवाल करने पर मीडिया में उनको देशद्रोही करार दिया जा रहा है।

इमरान खान ने बताया मीर जाफर

इधर,  तहरीक ए इंसाफ पार्टी के मुखिया इमरान खान ने नवाज शरीफ को मॉर्डन मीर जाफर बताया है।  इमरान खान ने अपने ट्वीट में लिखा कि नवाज शरीफ आज के जमाने के मीर जाफर हैं, जिसने निजी फायदे के लिए देश को गुलाम बनाने में अंग्रेजों का साथ दिया। नवाज गलत तरीके से कमाए गए 300 अरब रुपए और विदेशों में अपने बेटे की कंपनियों की खातिर पाकिस्तान के खिलाफ मोदी की भाषा बोल रहे हैं। 

दिल्ली एम्स में हुआ अरुण जेटली का किडनी ट्रांसप्लांट

नई दिल्ली। दिल्ली एम्स में सोमवार को विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम ने  केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली (65) का किडनी ट्रांसप्लांट किया। इसकी जानकारी खुद जेटली ने अपने ट्विटर अकाउंट के जरिए दी है। बता दें कि जेटली को शनिवार को हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। किडनी की बीमारी के कारण जेटली का महीनेभर तक डायलिसिस किया गया। अरुण जेटली ने 6 अप्रैल को ट्वीट में बीमारी के बारे में जानकारी दी थी। जेटली ने ट्वीट में लिखा था कि मुझे किडनी संक्रमण और कुछ समस्या है।  इसका इलाज चल रहा है। डॉक्टरों ने घर के नियंत्रित वातावरण से काम करने की सलाह दी है।

पहले भी हो चुकी है दो सर्जरी

सितंबर 2014 में वजन बढ़ने के कारण जेटली की मैक्स अस्पताल में बैरियाट्रिक सर्जरी हुई थी। इसके बाद कुछ जटिलताओं के चलते उन्हें एम्स में ट्रांसफर किया गया। कुछ साल पहले उनकी हार्ट सर्जरी भी हो चुकी है।

आरक्षण के लिए फिर आंदोलन की राह पर गुर्जर, 167 गांवों की इंटरनेट सेवा बंद

नई दिल्ली। गुर्जर समुदाय एक बार फिर आरक्षण के लिए आंदोलन की राह पर खड़ा हो गया है। जिसके चलते सरकार और रेलवे दोनों अलर्ट हो गए हैं। आंदोलन से निपटने बड़ी संख्या में सुरक्षा बल बुला लिए गए हैं।  वहीं हिंसा का माहौल तैयार न हो इसके लिए 167 गांवों की इंटरनेट सेवा 15 मई के शाम तक बंद कर दी गई है। बता दें कि पिछली बार गुर्जरों के आंदोलन से सरकारी समेत निजी संपत्तियों को खासा नुकसान पहुंचा था इसे ध्यान में रखते हुए प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद हो गया है। 

आज होगी गुर्जर समुदाय और सरकार के बीच बातचीत

खबरों के अनुसार सरकार ने गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के पदाधिकारियों को सोमवार शाम साढ़े पांच बजे सचिवालय में वार्ता के लिए बुलाया है। गुर्जर नेता किरोड़ी सिंह बैंसला ने कहा कि अभी तक राज्य सरकार की तरफ से कोई बात या पक्ष नहीं आया है। गुर्जर समाज आरक्षण की मांग पर आंदोलन शुरू करने जा रहा है। अब समाज के पास कोई विकल्प नहीं है।, हालांकि राज्य सरकार के पास समाधान का विकल्प है।

ऐसा था पिछला आंदोलन 

बता दें कि वर्ष 2007 में 29 मई से 5 जून सात दिन गुर्जरों में आंदोलन किया था। इससे 22 जिले प्रभावित रहे और 38 लोग मारे गए।  इसके बाद 23 मई से 17 जून 2008 तक 27 दिन तक आंदोलन चला। 

22 जिलों के साथ 9 राज्य प्रभावित रहे। 30 से ज्यादा मौतें हुई। फिर गुर्जर आंदोलन 20 दिसंबर 2010 को फिर सुलगा। बयाना में रेल रोकी गई थी। 

21 मई 2015 को कारवाड़ी पीलुकापुरा में रेलवे ट्रैक रोका और इसकी सूचना 13 मई 2015 को ही दी गई। अब तक 72 गुर्जर आंदोलन में मरे। 

सरकारी आंकड़ों पर नजर डाली जाए तो गुर्जर आरक्षण की वजह से अब तक 145 करोड़ रुपए की सरकारी संपत्तियों और राजस्व का नुकसान दर्ज किया गया। 

जबकि आम आदमियों व प्रतिष्ठानों का 13 हजार 500 करोड़ रुपए से ज्यादा का नुकसान हुआ है।

बच्ची के साथ दुष्कर्म व हत्या के आरोपी को मिली फांसी, कोर्ट परिसर में लोगों ने की जमकर पिटाई 

भोपाल। मध्यप्रदेश के इंदौर कोर्ट ने दुधमुंही बच्ची के साथ दरिंदगी करने वाले आरोपी नवीन को सजा ए मौत यानि फांसी की सजा सुनाई है। आरोपी के खिलाफ दुधमुंही बच्ची के अपहरण, ज्यादती और हत्या का आरोप था। जज ने 7 दिन तक सात-सात घंटे सिर्फ इसी केस को सुना और 21 दिन में सुनवाई पूरी होने के बाद 23वें दिन फैसला सुना दिया। 

कोर्ट परिसर में लोगों ने कर दी जमकर पिटाई 

बता दें कि जैसे ही आरोपी को कोर्ट परिसर में लाया गया वहां मौजूद लोगों का उस पर गुस्सा फूट पड़ा और उन्होंने नवीन की जमकर पिटाई कर दी। इससे पहले भी जब आरोपी को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया गया था उस दौरान भी कोर्ट परिसर में मौजूद लोगों ने उसे जमकर पीटा था और बड़ी मुश्किल से पुलिस उसे भीड़ से छुड़ाकर ले गई थी।

यह है पूरा मामला 

इंदौर शहर के राजबाड़ा क्षेत्र में 19 अप्रैल 2018 की रात आरोपी ने शराब लेकर बच्ची की नानी को पिलाने पहुंचा था। मना करने पर आरोपी बोतल फेंककर चला गया था। 20 अप्रैल की तड़के चार बजे वह माता-पिता के पास सोई बच्ची को उठाकर श्रीनाथ पैलेस बिल्डिंग के तलघर में ले गया और उसके साथ दुष्कर्म किया। बाद में उसे ऊपर से फेंक दिया, जिससे बच्ची की मौत हो गई थी।

नया कानून के बाद पहला मामला 

बता दें कि हाल ही में सरकार ने पाक्सो एक्ट में संशोधन कर 12 वर्ष से कम आयु की लड़कियों के साथ बलात्कार जैसी घटना को अंजाम देने वाले दोषी को फांसी की सजा देने का प्रावधान किया है। इस कानून बनने के बाद यह पहला मामला है जिसमें आरोपी को फांसी की सजा सुनाई गई है। 

ओपन स्कूल के छात्र भी दे सकेंगे नीट, 25 वर्ष की आयु सीमा भी बरकरार

नई दिल्ली। दिल्ली हाईकोर्ट ने नेशनल ओपन स्कूल संस्थान (एनआईओएस) से 12वीं पास छात्रों को बड़ी राहत दी है। कोर्ट ने एमबीबीएस पाठ्यक्रम में दाखिले के लिए राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (नीट)-यूजी 2018 संबंधी उस अधिसूचना को खारिज कर दिया है जिसमें ओपन यानि नेशनल ओपन स्कूल संस्थान से 12वीं पास छात्रों को प्रवेश परीक्षा के योग्य नहीं माना गया था। इसके साथ ही कोर्ट ने याचिका में सामान्य वर्ग की आयु सीमा 25 व आरक्षित वर्ग की 30 वर्ष को हटाने के आग्रह को भी मानने से इनकार कर दिया है। 

अन्य परीक्षार्थियों के साथ ही जारी होंगे नतीजे

जस्टिस संजीव खन्ना व जस्टिस चंद्रशेखर की पीठ ने कहा कि ओपन स्कूल के छात्रों को अयोग्य नहीं माना जाएगा। इन छात्रों के प्रवेश परीक्षा के नतीजे भी अन्य परीक्षार्थियों के साथ ही जारी किए जाएंगे। हाईकोर्ट की अन्य पीठ ने छात्रों की याचिका पर सीबीएसई की ओर से जारी 22 जनवरी की अधिसूचना पर 28 फरवरी को रोक लगा दी थी। 

औरंगाबाद में हिंसक झड़प में 1 की मौत, 25 घायल, कई इलाकों में धारा 144 लागू

मुंबई। औरंगाबाद के पुराने इलाके में अवैध पाइप लाइन काटने में भेदभाव को लेकर दो गुटों में शुरू हुआ विवाद हिंसक हो उठा है। इस हिंसा में 1 नागरिक की मौत समेत 25 लोगों के घायल होने की खबर है। यह हिंसा गांधीनगर, राजाबाजार और शाहगंज इलाकों तक फैल गई है। खबरों के अनुसार यह विवाद शुक्रवार रात शुरू हुआ और धीरे-धीरे संप्रादायिक हिंसा में बल गया। विवाद शुरू होते ही दोनों पक्षों की ओर से पत्थरबाजी शुरू हो गई। दोनों गुटों ने उत्पात मचाते हुए कई दुकानों को आग के हवाले कर दिया। फिलहाल पूरे इलाके को छावनी में तब्दील कर धारा 144 लगा दी गई है। दंगाइयों को काबू में करने के लिए पुलिस वालों ने गोलियां भी चलाई जिसमें एक बच्चे के घायल होने की सूचना भी आ रही है।  

उपद्रवियों के खिलाफ होगी कार्रवाई 

पुलिस कमिश्नर और डीसीपी (जोन-वन) विनायक ढाकने के अनुसार पूरे इलाके में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। हिंसा की असल वजह का पता नहीं चल पाया है लेकिन माना जा रहा है कि अवैध पाइप-लाइन काटने में भेदभाव को लेकर यह विवाद शुरू हुआ जो बाद में हिंसक हो उठा। उन्होंने कहा कि उपद्रवियों के खिलाफ कार्रवाई कर गिरफ्तारी की जाएगी। उन्होंने नगारिकों से अफवाहों पर ध्यान नहीं देने की अपील की है।  

Please Wait... News Loading
Visitor No.